मुख्य सचिव को सेवा विस्तार दिया जाना दुर्भाग्यपूर्णः मोर्चा, सरकार मामले में करें पुनर्विचार

-प्रदेश में काबिल अफसरों की भरमार -मुख्य सचिव का कार्यकाल रहा है अव्यवस्थाओं भरा -पत्रावलियां रास्ते में ही तोड़ती रही दम -अधिकारियों में खौफ नहीं मुख्य सचिव का -सरकार मामले में करे पुनर्विचार
विकासनगर। जन संघर्ष मोर्चा अध्यक्ष एवं जीएमवीएन के पूर्व उपाध्यक्ष रघुनाथ सिंह नेगी ने कहा कि सरकार द्वारा कल मुख्य सचिव श्री एस.एस. संधू को 6 माह का सेवा विस्तार दिया गया है, जोकि प्रदेश के काबिल अफसरों पर कुठाराघात है। नेगी ने कहा कि मुख्य सचिव का कार्यकाल एवं उनकी कार्यशैली बहुत ही निराशाजनक रहीय यहां तक कि अधिकारियों में इनका कोई खौफ नहीं रहा, जिस कारण पत्रावलियां एक पटल से दूसरे पटल पर पहुंचने में दम तोड़ती रही तथा लोगों को सही समय पर न्याय मिलना तो दूर, पत्रावलियां ढूंढे नहीं मिल पाई। कई मामलों में उच्चाधिकारियों के निर्देश के बाद भी मातहत अधिकारियों ने रिपोर्ट आख्या तक उपलब्ध नहीं कराई। कई पत्रावलियां रास्ते में ही गुम हो गई, जिसकी वजह से सरकार की छवि को भी दाग लगा। उक्त के अतिरिक्त मुख्य सचिव की लचर कार्यशैली की वजह से अधिकारियों ने काम पर ध्यान देना बंद कर दिया। मोर्चा सरकार से मांग करता है कि सेवा विस्तार मामले में पुनर्विचार करंे, जिससे किसी काबिल अफसर की नियुक्ति का मामला प्रशस्त हो सके एवं जनता को न्याय मिल सकें।

Popular posts from this blog

नेशनल एचीवर रिकॉग्नेशन फोरम ने विशिष्ट प्रतिभाओं को किया सम्मानित

व्यंजन प्रतियोगिता में पूजा, टाई एंड डाई में सोनाक्षी और रंगोली में काजल रहीं विजेता

शिक्षा अधिकारियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराने को एसएसपी को भेजा पत्र, DG शिक्षा से की विभागीय कार्रवाई की मांग