ठंड कू बढ़दू प्रकोप, इनू करा बचाव

देहरादून। ठंड लगातार बढ़णी छ। ठंड सी बचाव की खातिर शरीर तैं पूरी तरह सी गर्म कपड़ों से ढकिक रखा। खासकर कान, गला, नाक अर हाथ व पैरों तैं कवर कर ल्यावा। घर सी भैर मास्क पहनी तैं निकला। सर्दी मां प्यास कम लगदी, ये वास्ता लोग कम पाणी पेंदन, लेकिन यू गलत छ, सर्दियों मां खूब पाणी पिनू चैंद, गर्म पाणी प्यावा। शरीर तैं गर्म रखण तैं सिर्फ चाय ही नी, बल्कि लैमन टी, ग्रीन टी, ब्लैक टी या सूप कू सेवन करा। ये सी गला कू इंफेक्शन दूर होंद अर जुकाम-खांसी मां आराम मिलदू। .ठंड सी बचण तैं विटामिन सी कू खूब सेवन करा। ये सी इम्यूनिटी मजबूत होंद अर ठंड कू असर भी कम होंदू। डाइट मां संतरा, नींबू, मौसमी अर आंवला तैं शामिल करा। ठंड सी त्वचा अर बाल भी प्रभावित होंदन, ठंड मां त्वचा रूखी अर बेजान ह्वै जांद, इना मां त्वचा पर मॉइश्चर कू इस्तेमाल करा, बालों तैं भी हल्कू तेल लगैक रखा। अगर सर्द हवा सी हाथ-पैर ज्यादा ठंडा ह्वैगीन त रगड़ना का बजाय पैरों तैं थोड़ी देर गर्म पाणी मा रखा। अगर हाथ-पैरों कू रंग कालू ह्वैगी त तुरंत डॉक्टर सी सलाह लिनी चैंद। सर्दियों मा हल्दी वालू गर्म दूध पिन्यू चैंद अर रात मा च्वनप्राश खांयू चैंद, ये सी तुरंत शरीर मां गर्मी औंदी अर इम्यूनिटी भी मजबूत होंदी। शरीर मां गर्माहट ल्योण तैं तुलसी, लौंग, अदरक अर काली मिर्च सी बणी चाए प्यावा। ये सी शरीर मा तुरंत गर्मी औंदी अर सर्दी जुकाम भी दूर रैहलू। ठंड मां बच्चों कू व बुजुर्गू कू विशेष ध्यान रखण की जरूरत छ।

Popular posts from this blog

व्यंजन प्रतियोगिता में पूजा, टाई एंड डाई में सोनाक्षी और रंगोली में काजल रहीं विजेता

नेशनल एचीवर रिकॉग्नेशन फोरम ने विशिष्ट प्रतिभाओं को किया सम्मानित

शिक्षा अधिकारियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराने को एसएसपी को भेजा पत्र, DG शिक्षा से की विभागीय कार्रवाई की मांग