Tuesday, 23 November 2021

व्यासी जल विद्युत परियोजना को ऊर्जाकृत करने के परियोजना के आवश्यक कार्य लगभग पूर्ण हुए

देहरादूना। महाप्रबन्धक (जनपद) व्यासी परियोजना डाकपत्थर सुनील कुमार जोशी ने अवगत कराया है कि व्यासी जल विद्युत परियोजना को ऊर्जाकृत करने हेतु परियोजना के आवश्यक कार्य लगभग पूर्ण हो गये है और परियोजना की संरचनाओं, गेट एवं मंशीनों आदि की टेंस्टिग हेतु परियोजना के जलाशय को 28 नवम्बर 2021 को भरा जाना प्रस्तावित है। उन्होंने बताया कि परियोजना के संचालन हेतु जलाशय में अधिकतम जल स्तर 631.50 मी0 एवं न्यूनतम जल स्तर 626.00 मी0 रखना होगा। परियोजना के जलाशय क्षेत्र में तहसील कालसी का राजस्व ग्राम लोहारी तल 624 मी0 से 630 मी0 तल के मध्य स्थित होने के कारण पूर्ण डूब क्षेत्र में आ रहा है। डूब क्षेत्र में आ रही ग्राम लोहारी, विहार, बिन्हार व कन्डिरियान की प्रभावित कुल 8.761 हे0 भूमि का विशेष भूमि अध्याप्ति अधिकारी के आदेश संख्या 1974 से 1990 के द्वारा अधिग्रहण कर प्रतिकर का भुगतान भी कर दिया गया। पूर्व अधिग्रहीत भूमि 8.761 हे0 के सापेक्ष शासनादेश 13 जनवरी 2016 के अनुपालन में देय अनुग्रह सहायता का भुगतान ग्राम लोहारी वासियों द्वारा इनकी “भूमि के बदले भूमि” की मांग के चलते नहीं लिया गया है। उन्होंने कहा कि पूर्व अधिग्रहीत भूमि 8.761 हे0 के सापेक्ष देय अनुग्रह सहायता अनुदान भारत सरकार के “भूमि अर्जन पुनर्वासन और पुनव्यवर्स्थापन में उचित प्रतिकर और पारदर्शिता अधिकार अधिनियम 2013 के अनुसार ग्राम लोहारी की अवशेष भूमि जो कि पूर्व अधिग्रहण के समय छुट गयी थी एंव परिसम्पत्तियों आदि का मूल्यांकन अधिनियम 2013 की धारा 29 के अनुसार कर दिया गया है। तथा पुनर्वास अधिकारी, लखवाड-व्यासी बॉध परियोजना डाकपत्थर/उपजिलाधिकारी विकासनगर द्वारा अधिनियम की धारा 21 के क्रम में हितबद्ध व्यक्तियों के सूचनार्थ, “परिसम्पत्तियों के रकबे,/स्वामित्व एवं मूल्यांकन” आदि का विवरण स्थानीय समाचार पत्रों में 15 नवम्बर 2021 को प्रकाशित कर हितबद्ध व्यक्तियों से परिसम्पत्तियों के रकबे/ स्वामित्व एवं मूल्यंाकन आदि पर 14 दिसम्बर 2021 तक आपत्तियां आमन्त्रित की गई है। उन्होंने अवगत कराया कि लोहारी ग्राम वासियों को खादर स्थित धैरा कालोनी की भूमि पर विस्थापित किया जाना प्रस्तावित है। उक्त भूमि राजस्व अभिलेखों में “धैरा कालोनी यमुना स्कीम” सिंचाई विभाग के नाम दर्ज है। उक्त भूमि को यूजेवीएन लिमिटेड को हस्तान्तरित की प्रक्रिया शासन स्तर पर गतिमान है। उन्होंने कहा कि परियोजना को ऊर्जाकृत करने एवं राष्ट्र को समर्पित करने से पूर्व परियोजना की संरचनाओं, आदि को टेस्ट करने हेतु परियोजना के जलाशय को 28 नवम्बर 2021 से 620.00 मी0 के तल भरा जाना प्रस्तावित है जलाशय को 620.00 मी0 के तल तक भरने पर ग्राम लोहारी की परिसम्पत्तियों को कोई क्षति नहीं होगी। ग्राम लोहारी का पुनर्स्थापन करने के उपरान्त जलाशय का जलस्तर 620.00 मी0 तल से बढ़ाकर परियोजना को ऊर्जाकृत कर राष्ट्र को समर्पित किया जायेगा।

युवाओं का भविष्य कांग्रेस में ही सुरक्षितः जोशीे

देहरादून। प्रदेश कांग्रेस के महामंत्री नवीन जोशी ने कहा कि युवाओं का भविष्य कांग्रेस में ही सुरक्षित है कांग्रेस युवाओं को सपने नहीं बेचती बल्कि उनको रोजगार से जोड़ती है नवीन जोशी ने आज यह बात कैंट विधानसभा के अपने कैंप कार्यालय में युवाओं को कांग्रेस की सदस्यता ग्रहण कराने के अवसर पर कही जोशी ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी ने युवाओं को सिर्फ छलने का काम किया और चुनाव में युवाओं का इस्तेमाल सिर्फ चुनाव जीतने के लिए किया लेकिन इस बार ऐसा नहीं होगा। कैंट विधानसभा का युवा पूरे कैंट विधानसभा में बदलाव लाकर अपना बदला लेगा जोशी ने कहा कि आज पूरे प्रदेश के अंदर विकास कार्य पूर्ण रूप से ठप हो चुका है लेकिन भारतीय जनता पार्टी चुनाव मोड पर आ चुकी है उसका ध्यान प्रदेश के विकास की ओर नहीं है और नहीं युवाओं को रोजगार से जोड़ने के लिए उन्होंने कोई नीति बनाई जिसका खामियाजा भारतीय जनता पार्टी को 2022 में सत्ता गवांकर भुगतना पड़ेगा जोशी ने कहा कि हम पूरे कैंट विधानसभा के अंदर सदस्यता अभियान चलाकर 30,000 युवाओं को कांग्रेस से जोड़ने का काम करेंगे उन्होंने कहा कि यह समय बदलाव का है प्रदेश का युवा अपने को ठगा महसूस कर रहे हैं उन्होंने युवाओं को भरोसा दिलाते हुए कहा कि जब प्रदेश के अंदर कांग्रेस की सरकार आएगी तो सबसे पहले कांग्रेस सरकार युवाओं को रोजगार से जोड़ने का काम करेगी इस अवसर पर कैंट विधानसभा के दर्जनों युवाओं ने कांग्रेस मैं विश्वास व्यक्त करते हुए कांग्रेस की सदस्यता ग्रहण करी इस अवसर पर अखिल भारतीय पंचायत परिषद के संयोजक वह पूर्व राज्य मंत्री मनीष कुमार नागपाल ने युवाओं का कांग्रेस परिवार में माला पहनाकर स्वागत किया उन्होंने कहा कि यह समय भारतीय जनता पार्टी से उनके साडे 4 साल के कामों का हिसाब मांगने का है क्योंकि भारतीय जनता पार्टी की सरकार में कुछ भी ऐसा काम नहीं हुआ जिसको हम भारतीय जनता पार्टी की उपलब्धि कह सकें उन्होंने युवाओं का आह्वान करते हुए कहा कि आज सभी युवा यह संकल्प लें कि आने वाले चुनाव में हम भारतीय जनता पार्टी को बाहर का रास्ता दिखा कर युवाओं को रोजगार से जोड़ने का संकल्प लेंगे। इस अवसर पर कांग्रेस नेता ट्विंकल अरोरा, पायल बहन के सी त्रिपाठी, मंजू त्रिपाठी, विक्की नायक, अनुराग चकोतरा, मनोज तालियांन, फिरोज मोंटी, रहमान अली, कबीर मलिक, विनय कुमार, चुन्नू कुमार, हिमांशु, आरव जोशी, मनीष जोशी, शुभम जोशी व शुभम रावत आदि मुख्य रूप से उपस्थित थे ।

दून के पैडमैन जय शर्मा ने चलाया रिकॉर्ड-सेटिंग 10 लाख सेनेटरी पैड वितरण अभियान

देहरादूना। मासिक धर्म की स्वच्छता के बारे में जागरूकता फैलाने और पीरियड्स के बारे में वर्जना को मिटाने के लिए, देहरादून स्थित एनजीओ जस्ट ओपन योरसेल्फ (जॉय) के संस्थापक जय शर्मा उत्तराखंड में एक रिकॉर्ड-सेटिंग सैनिटरी पैड वितरण अभियान चला रहे हैं। उत्तराखंड के श्पैडमैनश् जय द्वारा सैनिटरी पैड का वितरण इस साल अप्रैल में दूसरी कोविड-19 लहर के दौरान आरम्भ हुआ था, और इसका उद्देश्य वंचितों को 10 लाख सैनिटरी नैपकिन वितरित करना है। सेनेटरी पैड वितरण अभियान के बारे में बोलते हुए, जॉय के संस्थापक, जय शर्मा ने कहा, “भारत के कई हिस्सों में मासिक धर्म अभी भी वर्जित है। माता-पिता शायद ही कभी बच्चों के साथ मासिक धर्म की स्वच्छता पर चर्चा करते हैं क्योंकि उनमें से 70ः इसे एक गंदा विषय मानते हैं। आज के आधुनिक युग में भी लैंगिक समानता, गरीबी, मानवीय संकट और विषाक्त विश्वास मासिक धर्म को अभाव और कलंक के चरण में बदल सकते हैं और एक महिला के स्वास्थ्य को प्रभावित कर सकते हैं। सेनेटरी नैपकिन का इस्तेमाल मासिक धर्म स्वच्छता की दिशा में प्राथमिक कदम है। हमारी ओर से यह वितरण अभियान मासिक धर्म के प्रति जागरूकता फैलाने की दिशा में प्रयास करेगा और पीरियड्स के दौरान सेनेटरी पैड इस्तेमाल करने की अनिवार्यता के बारे में जानकारी देने में मदद करेगा। आगे बताते हुए, जय ने कहा, “हमें न केवल आपात स्थिति वे संकटों में बल्कि नियमित तौर पर मासिक धर्म स्वच्छता पर जागरूकता फैलाने के लिए निरंतर संघर्ष करने की आवश्यकता है। हमारा यह अभियान एक बेहद आवश्यक अंतर लाने की दिशा में एक ठोस व्युत्पत्ति होगी। हम सैनिटरी पैड का उपयोग करने के बारे में जागरूकता फ़ैलाने के लिए सदैव तत्पर हैं, और इस पहल के माध्यम से, हम उत्तराखंड की लगभग 10 लाख वंचित महिलाओं को सशक्त बनाने का लक्ष्य रखते हैं। जय के नेतृत्व में जस्ट ओपन योरसेल्फ की टीम ने अप्रैल में कोरोनावायरस की दूसरी लहर के दौरान सैनिटरी पैड के वितरण की शुरुआत करी थी।

15 दिसम्बर तक स्वरोजगार योजनाओं के तहत लोन के निर्धारित लक्ष्य को पूर्ण किया जायः सीएम

देहरादूना। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने मंगलवार को सचिवालय में स्वरोजगार योजनाओं की प्रगति बैठक लेते हुए अधिकारियों को निर्देश दिये कि इस वर्ष विभिन्न योजनाओं के तहत जो लोन देने का लक्ष्य रखा गया है, उस लक्ष्य को 15 दिसम्बर 2021 तक पूर्ण किया जाय। संबंधित विभागीय अधिकारी एवं बैंकर्स आपसी समन्वय स्थापित कर हर हाल में लक्ष्य पूर्ण करें। उन्होंने सभी जिलाधिकारियों को निर्देश दिये कि विभिन्न योजनाओं के तहत जो लोन दिये जा रहे हैं, उनकी प्रत्येक सप्ताह प्रगति समीक्षा की जाय। मुख्यमंत्री ने कहा कि केन्द्र एवं राज्य सरकार द्वारा चलाई जा रही विभिन्न जन कल्याणकारी योजनाओं की विभिन्न माध्यमों से लोगों को जानकारी दी जाए। विभिन्न योजनाओं के तहत जो लोन दिये जा रहे हैं, उनकी आम जन को जानकारी हो। इसके लिए जिलाधिकारियों एवं बैंक के अधिकारियों द्वारा अभियान चलाया जाय। एक ही जगह पर लोगों की लोन की समस्या का समाधान हो, जिला स्तरीय अधिकारी एवं बैंक के अधिकारी कैंपों के माध्यम से जन समस्याओं का समाधान करें। मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को निर्देश दिये कि 15 दिसम्बर 2021 तक निर्धारित लक्ष्य पूर्ण करने के साथ ही जिन योजनाओं में अधिक आवेदन प्राप्त हो रहे हैं, लक्ष्य से अधिक लोन स्वीकृत करने के लिए प्रयास किये जाए। अनावश्यक आपत्तियां लगाने वालों पर सख्त कार्रवाई भी की जाय। बैंकों द्वारा आवेदन प्राप्त होने के एक सप्ताह के अन्दर लोन की सम्पूर्ण कार्यवाही की जाए। यह सुनिश्चित किया जाए कि योजनाओं का लाभ लोगों को समय पर मिले। अनावश्यक रूप से कार्यालयों के चक्कर न लगाना पड़े। मुख्यमंत्री ने बैठक में अधिकारियों को निर्देश दिये कि मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना के तहत बढ़ाये गये लक्ष्य को भी समय पर पूर्ण कर लें। मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना के तहत लोन स्वीकृति की स्थिति पर निगरानी के लिए जिलाधिकारी निरन्तर बैंकर्स के साथ समन्वय स्थापित करें। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने एनआरएलएम, वीर चन्द्र सिंह गढ़वाली स्वरोजगार योजना, होम स्टे, स्पेशल कम्पोनेंट प्लान, प्रधानमंत्री मुद्रा योजना, एन.यू.एल.एम, प्रधानमंत्री रोजगार सृजन प्रोग्राम, स्टैण्ड अप इण्डिया, पीएम स्वनिधि, मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना की प्रगति की समीक्षा की। बैठक में अपर मुख्य सचिव आनन्द बर्द्धन, प्रमुख सचिव एल. फैनई, सचिव अमित नेगी, शैलेश बगोली, एस. ए. मुरूगेशन, राज्य स्तरीय बैंकर्स समिति के वरिष्ठ अधिकारी, वर्चुअल माध्यम से सभी जिलाधिकारी एवं बैंकर्स उपस्थित थे।

निःशुल्क चिकित्सा शिविर में 76 रोगियों की स्वास्थ्य जाँच की गई

देहरादूना। कैलाश हॉस्पिटल के तत्वावधान में गुरुद्वारा धमावाला में निःशुल्क चिकित्सा शिविर का आयोजन किया गया जिसमें 76 रोगियों ने जाँच करवा कर डॉ. नवाद अली, फिजिशियन से उचित परामर्श प्राप्त किया। कैलाश हॉस्पिटल एवं ह्रदय संस्थान द्वारा निःशुल्क चिकित्सा शिविर का आयोजन गुरुद्वारा धामावाला में आयोजित किया गया, जिसमें रोगियों ने ई सी जी, ब्लड शुगर, ब्लड प्रेशर आदि का चौक अप करवा कर प्रसिद्ध डॉ. नवाद अली का परामर्श प्राप्त किया स इस अवसर पर कैलाश हॉस्पिटल के डॉ. नवाद अली एवं स्टॉफ जीशान, शिल्पी, आर पी चमोली एवं अल्का द्वारा रोगियों के चौक अप में सहयोग किया। इस अवसर पर विशेष रूप से गुरुद्वारा प्रधान मनमोहन सिंह, सचिव सतनाम सिंह, सुरेन्दर सिंह, जसपाल सिंह, भूपाल सिंह, भजन सिंह आदि उपस्थित थे।

लेखाकार भर्ती परीक्षा की अनियमितता के विरोध में उक्रांद का धरना

देहरादूना। उत्तराखंड अधीनस्थ सेवा चयन आयोग द्वारा सहायक लेखाकार परीक्षा में बरती गई अनियमितताओं एवं परीक्षा को रद्द कर परीक्षा पुनरू आयोजित कराने के संबंध में उत्तराखंड क्रांति दल के कार्यकर्ताओं ने आज देहरादून गांधी पार्क मे धरना दिया और उपवास किया। इसके अलावा उत्तराखंड क्रांति दल के कार्यकर्ता अन्न जल त्याग कर धरने पर बैठे यूपीसीएल पिटकुल के अभ्यर्थियों का रिजल्ट जारी करने के समर्थन मे भी धरने मे शामिल हूए 12 से 14 सितंबर के मध्य उत्तराखंड अधीनस्थ सेवा चयन आयोग द्वारा सहायक लेखा की परीक्षा ऑनलाईन के माध्यम से 6 शिफ्टों में संपन्न कराई गई, इसमें काफी विसंगतियां देखने को मिली। पेपर को एजेंसी द्वारा अंग्रेजी से हिंदी में गूगल अनुवाद किया गया, जिस कारण हिंदी माध्यम के अभ्यार्थियों को कई प्रश्न समझ में नहीं आ पाए तथा अंग्रेजी से हिंदी अनुवाद के कारण अंग्रेजी तथा हिंदी में भिन्न-भिन्न उत्तर दिए गए और प्रश्नों को पहेली के रूप में पूछा गया जो पूर्व में कराई गई परीक्षाओं के अनुरूप नहीं थे। इस कारण सामान्य वाणिज्य में स्नातक अभ्यार्थी न्यूनतम अंक प्राप्त नहीं कर पाए। यूकेडी ने मुख्यमंत्री को पत्र भेज कर मांग की है कि सहायक लेखाकार परीक्षा को अभ्यार्थियों के हित को दृष्टिगत रखते हुए रद्द की जाए तथा इस परीक्षा को ऑफ लाईन के माध्यम से 3 माह के अंतर्गत एवं एक शिफ्ट में आयोजित किए जाने हेतु भी आदेश पारित कर दिए जायें। यदि सरकार ने इस पर कार्यवाही नहीं की तो उत्तराखंड क्रांति जन आंदोलन शुरू करेगा। उपवास और धरना-प्रदर्शन मे मेरे साथ यूकेडी के केंद्रीय संगठन सचिव अनिल डोभाल, युवा मोर्चा पूर्व जिलाध्यक्ष सीमा रावत, कैप्टन सविता श्रीवास्तव, जबर सिंह पावेल, संजीव शर्मा,मुकेश कठैत, यतेंद्र खंतवाल सहित सहायक लेखाकार भर्ती परीक्षा के दर्जनों अभ्यर्थी आदि शामिल थे।

कैंट विधानसभा क्षेत्र में रविंद्र आनंद को मिल रहा लोगों का साथ’

देहरादूना। कैंट विधानसभा में आम आदमी पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता रविंद्र सिंह आनंद की ओर से चलाए जा रहे जनसंपर्क अभियान में मिल रहा जतना का भरपूर सहयोग। आम आदमी पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता रविंद्र सिह आनंद ने आज अपने समर्थकों के साथ इंजीनियर एंक्लेव, शास्त्रीनगर खाला आदि क्षेत्रों में जनसंपर्क किया। उन्होंने बताया कि उन्हें सभी जगह पर जनता का भरपूर सहयोग मिल रहा है। लोग इस वक्त भाजपा एवं कांग्रेस दोनों ही पार्टियों से त्रस्त है और तीसरा विकल्प ढूंढ रहे है। इस वक्त लोगों की सबसे बड़ी समस्या महंगाई है जिस कारण उन्हें घर चलाना भी मुश्किल हो रखा है। बिजली की बढ़े दरें, पानी के बिल, प्राइवेट स्कूलों की फीस सभी केे कारण इस वक्त लोगों के घरों के बजट गड़बड़ा रखें है। वहीं दूसरी ओर शास्त्री नगर में बरसातों के दिन घरों में पानी भरने की समस्या को भी लोगों ने रविंद्र से सांझा किया रविंद्र ने लोगों को यह दिलासा दिलाया कि यदि आम आदमी पार्टी की सरकार बनती है तो शास्त्री नगर में पानी भरने की समस्या का स्थाई समाधान निकाला जाएगा क्योंकि आम आदमी पार्टी काम की राजनीति करती है। उन्होंने आगे कहा कि ऐसे हालात में जब वे लोगों से मिल रहे है तो लोग उनकी पार्टी सेे बहुत सी उम्मीदें लगा रहे है और उसे तीसरे विकल्प के रूप में देख रहे है। जनसंपर्क करने वालों में जितेंद्र, विशाल बंसल, ललित शर्मा, नवीन चौहान, जसवंत सिंह नेगी आदि मौजूद रहे।

मुख्यमंत्री ने विभिन्न विकास कार्यों के लिए प्रदान की वित्तीय स्वीकृति

देहरादून। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने विभिन्न विकास कार्यों हेतु वित्तीय स्वीकृति प्रदान की है। मुख्यमंत्री ने विधानसभा क्षेत्र पुरोला के अन्तर्गत मठ लमकोठी मोटर मार्ग के कि.मी. 02 से 5 तक विस्तार कार्य हेतु रूपये 76.78 लाख, विधानसभा क्षेत्र पिथौरागढ़ के अन्तर्गत विभिन्न 02 निर्माण कार्यों हेतु रूपये 38.76 लाख, विधानसभा क्षेत्र घनसाली के अन्तर्गत विभिन्न 02 निर्माण कार्यों हेतु रूपये 148.40 लाख, विधानसभा क्षेत्र घनसाली के अन्तर्गत रानीगढ़ लैणी-बुढ़वा-सौड मोटर मार्ग का पी0सी0 द्वारा डामरीकरण हेतु रूपये 389.22 लाख की प्रशासकीय एवं वित्तीय स्वीकृति प्रदान की गई है। मुख्यमंत्री ने इसी क्रम में विधानसभा क्षेत्र कपकोट के अन्तर्गत गैंरखेत से लखमरा तक मोटर मार्ग के नवनिर्माण हेतु रूपये 122.90 लाख, विधानसभा क्षेत्र रूड़की के अन्तर्गत विभिन्न 02 मोटर मार्गों हेतु रूपये 392.38 लाख, विधानसभा क्षेत्र धर्मपुर के अन्तर्गत वार्ड सं0-89 के मार्ग एवं नाली का निर्माण हेतु रूपये 241.93 लाख, विधानसभा क्षेत्र रायपुर के अन्तर्गत वार्ड संख्या- 66 के आंतरिक क्षतिग्रस्त मार्गों पर इण्टरलॉकिंग टाईल्स द्वारा निर्माण कार्य हेतु 76.40 लाख की प्रशासकीय एवं वित्तीय स्वीकृति प्रदान की गई है। इसी के साथ मुख्यमंत्री ने विधानसभा क्षेत्र लैंसडाउन के अन्तर्गत पाली बैण्ड से पाली गांव तक हल्का वाहन मार्ग से मोटर मार्ग में परिवर्तन एवं मोटर मार्ग का विस्तार हेतु रूपये 50.17 लाख, विधानसभा क्षेत्र लैंसडाउन के ही विभिन्न 05 निर्माण कार्यों हेतु रूपये 233.97 लाख, विधानसभा क्षेत्र थराली के अन्तर्गत बांजबगड़-तेलना मोटर मार्ग के कि.मी. 9 का हल्का वाहन मार्ग से मोटर मार्ग में परिवर्तन एवं किमी0 10, 11 एवं 12 तक नवनिर्माण कार्य हेतु रूपये 192.86 लाख तथा विधानसभा क्षेत्र सहसपुर के अन्तर्गत ग्रीन सिटी कॉलोनी, बाजाली एन्क्लेव, कृष्ण विहार तथा डी0एस0पी0 चौक से आंतरिक मार्गों का निर्माण कार्य हेतु रूपये 265.33 लाख की प्रशासकीय एवं वित्तीय स्वीकृति प्रदान की गई है।

आपदा प्रभावितों के सहायतार्थ 22.5 करोड़ का चेक मंत्री धन सिंह रावत को प्रदान किया

देहरादूना। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी की वर्चुअल उपस्थिति में केन्द्रीय ऊर्जा मंत्री आर. के. सिंह द्वारा मंगलवार को श्रम शक्ति भवन, नई दिल्ली में उत्तराखण्ड में आपदा प्रभावितों के सहायतार्थ सी.एस.आर. के अंतर्गत 7 पॉवर पीएसयू के सौजन्य से संकलित कुल रू 22.5 करोड़ का चेक आपदा प्रबंधन मंत्री डॉ. धन सिंह रावत को प्रदान किया गया। इस अवसर पर केन्द्रीय ऊर्जा राज्य मंत्री कृष्ण पाल गुर्जर भी मौजूद थे। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कार्यक्रम में सचिवालय से वर्चुअल प्रतिभाग कर इस राज्य को प्रदान की गई सहायता के लिए केन्द्रीय ऊर्जा मंत्री आर. के. सिंह का आभार व्यक्त किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि अक्टूबर में अतिवृष्टि से उत्तराखण्ड को काफी नुकसान हुआ था। इस आपदा से निपटने के लिए केन्द्र सरकार से राज्य को पूरा सहयोग मिला। इसके लिए उन्होंने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह एवं ऊर्जा मंत्री आर. के सिंह का आभार व्यक्त किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि केन्द्र से हमें 03 हेलीकॉप्टर मिले जिसकी वजह से हम 500 से अधिक लोगों की जान बचा पाये। मुख्यमंत्री ने कहा कि आपदा की दृष्टि से उत्तराखण्ड संवेदनशील राज्य है। हिमालयी राज्य होने के कारण उत्तराखण्ड की भौगोलिक परिस्थितियां अलग हैं। उन्होंने कहा कि उतराखण्ड को ऊर्जा प्रदेश के रूप में अग्रणी राज्य बनाने हेतु प्रयास किये जा रहे हैं, जिसके लिए केन्द्रीय ऊर्जा मंत्री आर. के. सिंह का पूरा सहयोग मिल रहा है। इसके लिए उन्होंने आर. के. सिंह का आभार भी व्यक्त किया। केन्द्रीय ऊर्जा मंत्री आर. के. सिंह ने कहा कि उत्तराखण्ड पूरे देश के लिए पूजनीय राज्य है। इस राज्य का अलग महत्व है। श्री बद्रीनाथ, श्री केदारनाथ, गंगोत्री एवं यमुनोत्री आस्था के प्रमुख केन्द्र हैं। उत्तराखण्ड के विकास के लिए जो हो सकता है, सब किया जायेगा। आपदा प्रबंधन मंत्री डॉ. धन सिंह रावत ने कहा कि उत्तराखण्ड में आपदा प्रबंधन के लिए केन्द्र सराकर द्वारा राज्य को हर संभव सहयोग दिया गया। इसके लिए उन्होंने केन्द्र सरकार का आभार व्यक्त किया। आपदा प्रभावितों के लिए दी गई इस सहायता के लिए उन्होंने केन्द्रीय ऊर्जा मंत्री का आभार व्यक्त किया। उत्तराखण्ड में आपदा प्रभावितों के सहायतार्थ सी.एस.आर. के अंतर्गत 7 पॉवर पीएसयू द्वारा संकलित कुल 22.5 करोड़ रू की धनराशि का जो चेक प्रदान किया गया। उसमें एनटीपीसी द्वारा 8 करोड़ रू, आरईसी द्वारा 5 करोड़ रू., पीएफसी द्वारा 4 करोड़ रू., पीजीसीआईएल द्वारा 3.5 करोड़ रू., एनएचपीसी द्वारा 01 करोड़ रू. टीएचडीसी द्वारा 0.5 करोड़ रू.एवं एसजीवीएन द्वारा 0.5 करोड़ रू की धनराशि का सहयोग प्रदान किया गया है। इस अवसर पर सचिव अमित नेगी, एस.ए मुरुगेशन एवं अपर सचिव सोनिका भी उपस्थित थे।

एसजेवीएन के अध्यक्ष ने किया 1320 मेगावाट की बक्सर ताप संयंत्र की दूसरी इकाई के कार्यों का शुभारंभ

देहरादूना। एसजेवीएन के अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक नन्द लाल शर्मा ने वर्चुअल माध्यम से (2 Û 660) 1320 मेगावाट के बक्सर ताप विद्युत संयंत्र की दूसरी इकाई के कार्यों का शुभारंभ किया। इस अवसर पर परियोजना स्थल पर निदेशक (विद्युत), सुशील कुमार शर्मा तथा एसजेवीएन थर्मल प्रा. लिमिटेड (एसटीपीएल) के सीईओ संजीव सूद अन्य वरिष्ठ अधिकारियों सहित उपस्थित रहे। इस अवसर पर नन्द लाल शर्मा ने कहा कि भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा 1320 मेगावाट के बक्सर थर्मल पावर प्लांट की आधारशिला 9 मार्च 2019 को रखी गई। श्री शर्मा ने यह भी बताया कि माननीय केंद्रीय विद्युत तथा एनआरई मंत्री आर. के. सिंह द्वारा परियोजना प्रगति की निरंतर मॉनीटरिंग की जा रही है। उन्होंने सभी हितधारकों को निर्धारित समय सीमा से पहले परियोजना को कमीशन करने के लिए उत्साहपूर्वक कड़ी मेहनत करने का आह्वान किया। उन्होंने आगे अवगत करवाया कि इस संयंत्र में दो इकाइयाँ है तथा पहली इकाई पर 50 प्रतिशत से अधिक कार्य पूरा कर लिया गया है । अल्ट्रा सूपर क्रिटिकल प्रौद्योगिकी के साथ 1320 मेगावाट (2Û660 मेगावाट) के बक्सूर थर्मल विद्युत संयंत्र को एसजेवीएन थर्मल प्रा. लि. (एसजेवीएन लिमिटेड की एक पूर्ण स्वामित्व वाली अधीनस्थ कंपनी) द्वारा कार्यान्वित किया जा रहा है। संयंत्र में लगभग 11,000 करोड़ रुपए का निवेश शामिल है। कमीशन होने पर संयंत्र 9828 मिलियन यूनिट का विद्युत उत्पादन करेगा। उन्होंने भारत के माननीय प्रधानमंत्री द्वारा निर्धारित ‘’24Û7 पॉवर टू ऑल’’ के लक्ष्य में योगदान करने पर जोर दिया। उन्होंने कहा कि संयंत्र के साथ संबद्ध प्रत्येक व्यक्ति को संयंत्र की प्रथम ईकाई की जून, 2023 तथा द्वितीय इकाई की जनवरी,2024 तक कमीशनिंग की दिशा में सामंजस्यपूर्ण कार्य करना है। एसजेवीएन की वर्तमान स्थापित क्षमता 2016.51 मेगावाट है तथा इस समय कंपनी का पोर्टफोलियो 11000 मेगावाट से अधिक है तथा वर्ष 2023 तक 5000 मेगावाट, 2030 तक 12000 मेगावाट एवं 2040 तक 25000 मेगावाट विद्युत उत्पादन करने के लिए प्रतिबद्ध है। एसजेवीएन ने ऊर्जा उत्पादन के विभिन्न क्षेत्रों में अपनी उपस्थिति दर्ज की है, जिसमें जलविद्युत, पवन, सौर तथा ताप विद्युत शामिल हैं। कंपनी की ऊर्जा ट्रांसमिशन के क्षेत्र में भी मौजूदगी है।

रिफ्लेक्सोलॉजी (पैरों की थेरपी) के लिए प्रशिक्षण कैम्प होंगे आयोजितः महाराज

देहरादूना। चार धाम यात्रा और 15 चयनित ट्रेकिंग ट्रैक्शन सेंटर के पास रोजगार के अवसर सृजित करने के उद्देश्य से उत्तराखंड पर्यटन विकास बोर्ड (यूटीडीबी) की ओर से उत्तरकाशी में एक महीने और रुद्रप्रयाग में 15 दिनों तक रिफ्लेक्सोलॉजी (पैरों की थेरपी) के लिए प्रशिक्षण सत्र का आयोजन किया जाएगा। निःशुल्क प्रशिक्षण कार्यक्रम माता वैष्णो देवी श्राइन बोर्ड जम्मू, कटरा के चार विशेषज्ञों की अध्यक्षता में आयोजित किया जाएगा। उक्त बात प्रदेश के पर्यटन, लोक निर्माण, सिंचाई, धर्मस्व एवं संस्कृति मंत्री सतपाल महाराज ने अपने कैंप कार्यालय सुभाष रोड़ पर मंगलवार को आयोजित एक पत्रकार वार्ता के दौरान जानकारी देते हुए कही। प्रदेश के पर्यटन, लोक निर्माण, सिंचाई, धर्मस्व एवं संस्कृति मंत्री सतपाल महाराज ने अपने कैंप कार्यालय सुभाष रोड़ पर मंगलवार को पर्यटन विभाग द्वारा चार धाम यात्रा और 15 चयनित ट्रेकिंग ट्रैक्शन सेंटर के पास रोजगार के अवसर सृजित करने के उद्देश्य से उत्तरकाशी में एक महीने और रुद्रप्रयाग में 15 दिनों तक रिफ्लेक्सोलॉजी (पैरों की थेरपी) के लिए प्रशिक्षण सत्र का आयोजन के विषय में जानकारी देते हुए बताया कि दोनों जगह होने वाले प्रशिक्षण कार्यक्रम में करीब 70 से अधिक लोग हिस्सा लेंगे। प्रशिक्षण कार्यक्रम 23 नवंबर से शुरू किया जाएगा। प्रशिक्षण कार्यक्रम के संबंध में जानकारी देते हुए पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज ने कहा, ‘रिफ्लेक्सोलॉजी (पैरों की मसाज) हमारी प्राचीन चिकित्सा है। रिफ्लेक्सोलॉजी एक प्रकार की वैकल्पिक चिकित्सा है, जो भारत साहित अन्य एशियाई देशों में काफी प्रचलित है। उन्हांेने कहा कि रिफ्लेक्सोलॉजी एक ऐसी थ्योरी पर काम करती है जो शरीर के अंगों और तंत्रों से जुड़ी होती है। शरीर के कुछ अंगों पर दबाव देने से शरीर को कई तरह के फायदे होते हैं। रिफ्लेक्सोलॉजी चिकित्सा विधि में बिना तेल या लोशन का इस्तेमाल किये अंगूठे, अंगुली और हस्त तकनीक द्वारा पैर और हाथ पर दबाव डाला जाता है। श्री महाराज ने कहा कि पैरों की मसाज करने से तनाव काफी कम हो जाता है। यह चिकित्सा ऊर्जा के प्रवाह को सुनिश्चित करता है और व्यक्ति को शांति और आराम मिलता है। कई लोग बीमारी के शारीरिक लक्षणों, जैसे कि सिरदर्द, थकान और अनिद्रा के साथ मदद करने के लिए रिफ्लेक्सोलॉजी उपचार की तलाश करते हैं। यह भी कहा जाता है कि इस 2,000 साल पुरानी मालिश चिकित्सा का ज्ञान और तकनीक बौद्ध भिक्षुओं के गुप्त रहस्य थे। जिन्हें जीवित रखा गया और पीढ़ियों से पारित किया गया। पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज ने कहा कि यह प्रशिक्षण निश्चित रूप से चार धाम और अन्य स्थानों पर जाने वाले हमारे तीर्थयात्रियों के लिए मददगार साबित होगा। इसके साथ ही स्थानीय लोगों के लिए रोजगार के द्वार भी खुलेंगे। प्रशिक्षित फुट थेरेपिस्ट रिफ्लेक्सोलॉजी के लिए 150 से 300 रुपये लेते हैं और प्रति दिन 1000 से 1500 रुपये तक कमा सकते हैं। इतना ही नहीं इससे तीर्थयात्रियों/पर्यटकों/ट्रेकरों को देवभूमि उत्तराखंड के पहाड़ों पर चलते हुए बहुत राहत भी मिलेगी। दुनिया भर में बड़ी संख्या में रिफ्लेक्सोलॉजिस्ट इस तरह की सुविधा दे रहे हैं। इस मौके पर वरिष्ठ राज्य आंदोलनकारी सुशीला बलूनी एवं उत्तराखंड पर्यटन विकास परिषद के एसीईओ अश्वनी पुण्डीर आदि उपस्थित थे।

हर घर भाजपा, घर-घर भाजपा अभियान के तहत जनसंपर्क में जुटे भाजपा नेता

देहरादूना। हर घर भाजपा, घर-घर भाजपा अभियान के तहत भाजपा कार्यकर्ता इन दिनों घर-घर जाकर लोगों से संपर्क कर प्रदेश और केंद्र सरकार की उपलब्धियों को बता रहे हैं। लगभग 1 माह से चल रहे इस अभियान में भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ कार्यकर्ता और नेता इस अभियान का नेतृत्व कर रहे हैं। धर्मपुर विधानसभा क्षेत्र में भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता बीर सिंह पंवार के नेतृत्व में कार्यकर्ताओं ने मोहब्बेवाला क्षेत्र में लोगों से जनसंपर्क किया। इस दौरान भाजपा नेता बीर सिंह पंवार ने लोगों से भाजपा के पक्ष में मतदान करने की अपील की। उन्होंने इस दौरान राज्य और केंद्र सरकार की उपलब्धियों को भी जनता के बीच में रखा। वहीं डोईवाला विधानसभा क्षेत्र में पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत, बृज भूषण गैरोला और सौरभ थपलियाल भी इस अभियान के तहत क्षेत्र में जनसंपर्क कर रहे हैं। जबकि कैंट विधानसभा क्षेत्र में महापौर सुनील उनियाल गामा हर घर भाजपा, घर-घर भाजपा अभियान को आम जन तक पहुंचाने में लगे हुए हैं। महापौर जनता के बीच में सरकार की उपलब्धियों को विस्तार से बता रहे हैं। राजपुर विधानसभा क्षेत्र में क्षेत्रीय विधायक खजान दास, मंडल अध्यक्ष विजय थापा और विशाल गुप्ता के नेतृत्व में कार्यकर्ता घर-घर जाकर संपर्क कर रहे हैं।

Monday, 15 November 2021

पैथोलॉजी दिवस मनाया गया

देहरादून। आईएपीएम उत्तराखंड चौप्टर और पैथोलॉजी विभाग दून मेडिकल कॉलेज की ेओर से पैथोलॉजी दिवस मनाया गया। पैथोलॉजी में समकालीन बदलाव एवं उनके महत्व पर वक्ताओं ने अपनी बात रखी। मुख्य अतिथि एचएनबी मेडिकल विवि के कुलपति प्रोफेसर हेमचन्द्र पाण्डेय और दून मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य डा. आशुतोष सयाना ने कहा कि चिकित्सा विज्ञान में पैथालॉजी का अहम योगदान है। एम्स से आए प्रोफेसर संजीव किशोर, एसजीआरआर से आई प्रोफेसर सीमा आचार्य, एचआईएमएस से आईं प्रोफेसर अनुराधा कुसुम ने पैथोलॉजी में आए बदलाव पर व्याख्यान दिया। पैथोलॉजी के एचओडी प्रो. नवीन चंद्र थपलियाल ने सभी का आभार जताया और विभाग में दी जा रही सुविधाओं की जानकारी दी। इस दौरान एमबीबीएस के छात्रों के बीच कई प्रशनोत्तरी समेत कई प्रतियोगिताएं आयोजित की गई। इस दौरान गायनी एचओडी डा. चित्रा जोशी, डा. नीलिमा बहल आदि मौजूद रहे।

राजाजी टाइगर रिजर्व पर्यटकों के लिए खोला गया

देहरादून। राजाजी टाइगर रिजर्व को सोमवार को पर्यटकों के लिए दोबारा खोल दिया गया। राजाजी टाइगर रिजर्व के चीला,मोतीचूर, रानीपुर, मोहंड और आशारोड़ी के गेट पर्यटकों के लिए खोल दिए गए हैं। इस मौके पर टाइगर रिजर्व प्रशासन की ओर से सभी गेट पर कार्यक्रमों का आयोजन किया गया। यह पहली बार है जब आशारोड़ी गेट से पार्क पर्यटकों के लिए खोला गया है। अब पर्यटक यहां से भी प्रवेश ले सकेंगे। दि लचस्प पहलू यह रहा कि पहले ही दिन बड़ी संख्या में पर्यटक चीला, मोतीचूर, मोहंड व आशारोड़ी गेट पर सफारी करने पहुंचे। टाइगर रिजर्व प्रशासन के अधिकारियों और कर्मचारियों की ओर से पर्यटकों को टाइगर रिजर्व के बारे में जानकारी देने के साथ ही रिजर्व में रहने वाले पक्षियों और वन्यजीवों के बारे में भी विस्तार से बताया गया। दूसरी ओर राजाजी को पर्यटकों के लिए खोले जाने को लेकर के बाद अधिकारियों कर्मचारियों ने भी राहत की सांस ली। इससे पहले राजाजी टाइगर रिजर्व को एक अक्टूबर को ही पर्यटकों के लिए खोल दिया गया था। इतना ही नहीं मुख्य वन्यजीव प्रतिपालक के निर्देश पर राजाजी टाइगर रिजर्व के क्रिटिकल टाइगर हैबिटेट जोन में दो सफारी ट्रैक बनाकर वहां भी पर्यटकों के लिए सफारी शुरू कर दी गई। लेकिन मामला उस समय पेचीदा हो गया, जब टाइगर रिजर्व को 15 नवंबर से पहले पर्यटकों के लिए खोले जाने और क्रिटिकल टाइगर हैबिटेट जोन में सफारी कराए जाने को वन्यजीव संरक्षण अधिनियम के प्रावधानों के विपरीत बताते हुए नेशनल टाइगर कंजर्वेशन अथॉरिटी (एनटीसीए) में याचिका दाखिल कर दी। याचिका पर सुनवाई करते हुए एनटीसीए ने मुख्य वन्यजीव प्रतिपालक को टाइगर रिजर्व को तत्काल बंद करने का आदेश जारी करते हुए निर्धारित तिथि 15 नवंबर से ही पर्यटकों के लिए पार्क के गेट खोले जाने की बात कही। एनटीसीए के निर्देश पर न सिर्फ गेट बंद कर दिए गए, वरन सफारी पर भी रोक लगा दी गई थी। लेकिन अब एनटीसीए की ओर से हरी झंडी मिलने के बाद टाइगर रिजर्व को दोबारा पर्यटकों के लिए खोल दिया गया है। टाइगर रिजर्व निदेशक डीके सिंह ने बताया कि फिलहाल टाइगर रिजर्व के पांच गेट पर्यटकों के लिए खोले गए हैं। यहां 49 प्रजातियों के वन्यजीवों के साथ ही 328 प्रजातियों के पक्षी पाए जाते हैं।

प्रदेश में सात नए कोरोना संक्रमित मिले

देहरादून। उत्तराखंड में सोमवार को सात कोरोना संक्रमित मिले हैं, जबकि 11 मरीज स्वस्थ हुए हैं। अब कुल संक्रमितों का आंकड़ा 344050 पहुंच गया है। स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक सोमवार को तीन जिलों में 11 लोग कोरोना संक्रमित पाए गए। देहरादून जिले में सबसे अधिक चार संक्रमित मिले हैं। वहीं हरिद्वार में एक और नैनीताल जिले में दो संक्रमित मरीज मिले हैं। बीते 24 घंटे में किसी भी कोरोना मरीज की मौत नहीं हुई है। जबकि 11 मरीजों को ठीक होने के बाद घर भेजा गया है। इन्हें मिलाकर 330315 मरीज स्वस्थ हो चुके हैं। वर्तमान में 173 सक्रिय मरीजों का इलाज चल रहा है। प्रदेश की रिकवरी दर 96.01 प्रतिशत और संक्रमण दर 0.9 प्रतिशत दर्ज की गई है। उत्तराखंड महोत्सव के तहत कोरोना टीकाकरण का आंकड़ा बढ़ाने के लिए शुरू किया गया टीकाकरण महाअभियान निर्धारित लक्ष्य से आधे पर ही सिमट गया। हालांकि, जिला प्रशासन का कहना है कि शत प्रतिशत टीकाकरण शीघ्र पूरा किया जाएगा। जिला प्रशासन की ओर से उत्तराखंड महोत्सव पर आठ नवंबर से टीकाकरण महाअभियान शुरू किया गया था। यह टीकाकरण महाअभियान 14 नवंबर तक जनपद भर में चला। अभियान के दौरान हर दिन डेढ़ सौ से लेकर पौने दो सौ तक कोरोना टीकाकरण केंद्र बनाए जाते थे। जिसमें प्रत्येक दिन का 15 हजार का लक्ष्य कोरोना टीकाकरण का रखा गया था। सात दिन का लक्ष्य एक लाख पांच हजार निर्धारित किया गया था। ताकि कोरोना की प्रथम डोज से वंचित लोगों के साथ ही दूसरी डोज भी अधिक से अधिक लोगों को लगाई जा सके। मगर 15 हजार का लक्ष्य सप्ताह के एक भी दिन पूरा नहीं हो सका। स्वास्थ्य विभाग से मिले आंकड़ों के अनुसार उत्तराखंड महोत्सव में 56 हजार लोगों को ही टीकाकरण किया जा सका है। ऐसे में अपने एक लाख पांच हजार के टारगेट से स्वास्थ्य विभाग 49 हजार टीकों से पीछे रह गया है। हालांकि, स्वास्थ्य का कहना है कि अभियान के दौरान टीकाकरण का आंकड़ा बढ़ा है, क्योंकि सामान्य दिनों में पांच हजार के आसपास ही औसतन टीकाकरण हो पा रहा था।

कांग्रेस नेता सलमान खुर्शीद के बंगले पर प्रदर्शनकारियों ने लगाई आग, किया पथराव

नैनीताल। रामगढ़ में कांग्रेस नेता सलमान खुर्शीद के बंगले पर सोमवार को कुछ प्रदर्शनकारियों ने आगजनी और पथराव कर दिया। आग से खुर्शीद के बंगले का दरवाजा जल गया और कई खिंडकियों के कांच भी टूटे। छह राउंड हवाई फायरिंग का आरोप भी केयर टेकर ने लगाया है। केयर टेकरों के मुताबिक आगजनी और पथराव करने वाले भाजपा कार्यकर्ता थे। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सलमान खुर्शीद की नई किताब में कथित तौर पर हिंदुत्व की तुलना आतंकवादी संगठनों से करने पर भाजपा कार्यकर्ता उनके खिलाफ लगातार प्रदर्शन कर रहे हैं। सोमवार को भाजपा रामगढ़ मंडल ने भी नैनीताल में रामगढ़ स्थित खुर्शीद के बंगले के बाहर पुतला दहन कार्यक्रम रखा था। बताया जा रहा है प्रदर्शनकारी दिन में करीब 1 बजे उनके बंगले के परिसर में पुतला दहन के लिए पहुंचे। वहां तैनात के केयर टेकरों ने इसका विरोध किया लेकिन प्रदर्शनकारी नहीं माने और परिसर में ही पुतला जला दिया। इससे विवाद बढ़ गया और इसी बीच कुछ अराजक तत्वों ने पुतले की आग से ही बंगले का दरवाजा भी जलाकर पथराव भी शुरू कर दिया। सलमान खुर्शीद ने हमले के बाद कहा मैंने (अपनी किताब में) कहा है कि जो लोग इस तरह का काम करते हैं हिंदू धर्म के नहीं हैं। हिंदू धर्म खूबसूरत धर्म है और इसने देश को अच्छी संस्कृति दी है। मुझे इस पर गर्व है। यह हमला मुझ पर नहीं हिंदू धर्म पर है। आरोप है कि पुतला दहन करने आए प्रदर्शनकारियों ने केयर टेकर के परिवार व यहां काम करने वाली स्थानीय महिलाओं से गाली गलौच की। इसके बाद ही वहां स्थिति बिगड़ी। इससे केयर टेकरों के परिवार भी नाराज हो गए और प्रदर्शनकारियों पर बरसने लगे। इसके बाद ही घर पर पथराव हुआ और घर के भीतर आग लगा दी गई। बीजेपी के रामगढ़ मंडल अध्यक्ष कुंदन चिलवाल ने कहा, हमारे कार्यकर्ताओं ने घर में आग नहीं लगाई है। वहां मौजूद महिलाएं कार्यकर्ताओं से अनावश्यक बहस कर रही थीं। इस पर हमने कार्यकर्ताओं को वहां से जाने के लिए कह दिया था। हमारे जाने के बाद यह घटनाक्रम हुआ है। हम तो खुद वापस आए और आग को बुझाने में सहयोग किया है। नैनीताल की एसएसपी प्रीति प्रियदर्शनी ने कहा कि मामले की जांच की जा रही है। अभी वहां स्थिति सामान्य है। एहतियात के तौर पर पुलिस टीम भेज दी गई है। अभी हमें कोई लिखित शिकायत नहीं मिली है। जांच के बाद जो भी दोषी होंगे उनके खिलाफ सख्त कार्यवाई की जाएगी। नैनीताल के भोवाली पुलिस थाने के प्रभारी भूपिंदर सिंह धोनी ने कहा कि सलमान खुर्शीद के घर पर तोड़फोड़ की घटना में 20 लोगें के खिलाफ केस दर्ज किया गया है। इनमें एक राकेश कपिल और 19 अज्ञात है। उन्होंने कहा कि खुर्शीद के घर के केयर टेकर सुंदर राम की शिकायत पर केस दर्ज किया गया है। उन्होंने बताया कि आरोपियों के खिलाफ आईपीसी की विभिन्न धाराओं में केस दर्ज किया गया है।

कांग्रेस राज में नो वर्क विद आउट कमीशन का रहा चलनः नडढा

चमोली। उत्तराखंड दौरे पर आए भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा ने कहा कि वन रैंक, वन पेंशन का मामला 1972 से चला आ रहा था लेकिन 2014 तक यह लागू नहीं हुआ। इस दौरान कांग्रेस की सरकारों ने लगातार फौजी भाइयों को बरगलाया गया, उन्हें गुमराह किया गया और उनकी देशभक्ति का मजाक उड़ाया गया। जब कांग्रेस की यूपीए सरकार की विदाई का वक्त आया तो उन्होंने वन रैंक, वन पेंशन के लिए महज 500 करोड़ रुपये का प्रावधान कर खानापूर्ति कर दी। जब केंद्र में नरेन्द्र मोदी की सरकार आई तो वन रैंक, वन पेंशन लागू किया गया। अब तक हमारी सरकार ने इस योजना के तहत 42 हजार करोड़ रुपये दिए हैं। लगभग 20 लाख भूतपूर्व सैनिकों ने अब तक इस योजना का लाभ उठाया है और उत्तराखंड में भी लगभग 1.16 लाख भूतपूर्व सैनिक लाभान्वित हुए हैं। 2014 से पहले कांग्रेस की सरकारों ने रक्षा के साजो-समान की कोई खरीदी नहीं हुई, रक्षा क्षेत्र में आधुनिकीकरण के कोई प्रयास नहीं किये गए। कांग्रेस की सरकार में एक रक्षा मंत्री ऐसे आये जिन्होंने कहा कि कोई फैसला नहीं करना भी एक फैसला होता है। हर रक्षा सौदे में कमीशन कांग्रेस सरकार की पहचान बन गई। कांग्रेस और कमीशन एक ही सिक्के के दो पहलू हैं। जहां कांग्रेस, वहां कमीशन और जहां भाजपा, जहां एनडीए वहां मिशन। आज 36 राफेल का बेड़ा वायुसेना की रीढ़ बन रहा है, अपाचे, चिनूक, सर्फेस टू एयर मिसाइल, होवित्जर तोपें, आर्टिलरी गन, बुलेट प्रूफ जैकेट, एके 203 गन - किसी चीज की कोई कमी नहीं है। भारत अब बुलेट प्रूफ जैकेट्स का निर्यात कर रहा है। उन्होंने कहा कि रक्षा क्षेत्र में एफडीआई की सीमा को 74ः तक बढ़ाया गया है, कोओर्डिनेशन डिपार्टमेंट ऑफ़ एडमिनिस्ट्रेशन व चीफ ऑफ़ डिफेन्स स्टाफ पद का सृजन किया गया है, इंसरजेंसी में लगभग 66ः की कमी आई है, सिविल कैजुअल्टी में 79ः और सिक्योरिटी कैजुअल्टी में 23ः की कमी आई है। प्रोडक्शन के लिए उत्तर प्रदेश और तमिलनाडु में दो डिफेंस कॉरिडोर बनाये गए हैं। विपक्ष पर हमला करते हुए माननीय राष्ट्रीय अध्यक्ष ने उत्तराखंड की जनता का आह्वान करते हुए कहा कि उत्तराखंड की जनता ने मिशन वाले को आगे बढ़ाने और कमीशन वालों को घर बैठाने का मन बना लिया है। उन्होंने कांग्रेस पर कटाक्ष करते हुए कहा कि कांग्रेस की सरकारों में जब अथिकारी विकास के लिए टिप्पणी वाला नोट आगे बढ़ाते थे तो मंत्री रुपये वाला नोट समझने लगते थे क्योंकि नो वर्क विदाउट नोट, नो वर्क विदाउट कमीशन इनका पर्याय बन चुका था। लंबी अवधि तक कांग्रेस के कारण देश को नुकसान सहना पड़ा। आज भी जहां-जहाँ कांग्रेस की सरकारें हैं, वे भ्रष्टाचार में आकंठ डूबी हुई हैं। आज भी कांग्रेस की सरकारों के घपले-घोटाले ही सामने आते रहते हैं। राजस्थान में किस कदर भ्रष्टाचार अपनी चरम सीमा पर है और महाअघाड़ी सरकार में किस तरह महाराष्ट्र में लूट का खेल चल रहा है, इससे पूरे देश की जनता वाकिफ है। यदि उत्तराखंड को आगे बढ़ाना है तो हमें भारतीय जनता पार्टी को एक बार पुनः प्रचंड बहुमत से विजयी बनाना होगा। डबल इंजन की सरकार में ही उत्तराखंड का विकास हो सकता है।

संस्कृति एवं पर्यावरण संरक्षण का संदेश देता है इगास लोक पर्वः अग्रवाल

ऋषिकेशा। जोगीवाला माफी एवं चक जोगीवाला ग्राम सभाओं के महिला मंगल एवं नवयुवक मंगल दल के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित प्रथम इगास कार्यक्रम के अवसर पर मुख्य अतिथि के रूप में विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल ने कहा है कि यह लोक पर्व लोक मान्यताओं से जुड़ा हुआ है और इस प्रकार के कार्यक्रम प्रत्येक वर्ष व्यापक स्तर पर आयोजित किए जाने चाहिए स उन्होंने कार्यक्रम में उपस्थित सभी लोगों को इगास पर्व की शुभकामनाएं दी। चक जोगीवाला स्थित नव दुर्गा मंदिर के परिसर में आयोजित लोक पर्व इगास महोत्सव के अवसर पर विधानसभा अध्यक्ष सहित स्थानीय लोगों ने हर्षाेल्लास के साथ भैलो खेला एवं पारंपरिक लोक गीतों पर जमकर झूमे।महोत्सव का विशेष आकर्षण युवक मंगल दल एवं महिला मंगल द्वारा तैयार किए गए गढ़वाली व्यंजन का लोगों ने जमकर आनंद लिया। इस बीच महिला मंगल दल एवं युवक मंगल दल द्वारा गढ़वाली सांस्कृतिक कार्यक्रम भी प्रस्तुत किए गए। श्री अग्रवाल ने कहा है कि इगास लोक पर्व एवं संस्कृति के संरक्षण का संदेश देता है। उन्होंने कहा कि यह पर्व हमारे पूर्वजों की धरोहर व पर्वतीय संस्कृति की विरासत है।हमें अपने लोकपर्वाे व संस्कृति को संरक्षित रखने की आवश्यकता है। इस अवसर पर श्री अग्रवाल ने कहा की इगास पर्व का संदेश स्पष्ट है कि इस दिन सहयोगियों के प्रति कृतज्ञता प्रकट करना,वंचितों के आंचल में भी हर्ष-उल्लास व पकवान-मिष्ठान्न सुनिश्चित करना और इससे भी बढ़कर यह अंधकार को दूर करने के लिए अंत तक प्रयास करना है। उन्होंने कहा कि ईगास पर्व पर भैलो खेलने की परंपरा है। भैलो को अंधेरे में उजाले का प्रतीक माना जाता है। इस अवसर पर डोईवाला के ब्लॉक प्रमुख भगवान सिंह पोखरियाल, ग्राम प्रधान सोबन सिंह केंतुरा, रविंद्र राणा, प्रधान चमन पोखरियाल, देवेंद्र नेगी, भगवान सिंह महर, कमलदीप कौर, अमर खत्री, उत्तरा कलूडा, चमन पोखरियाल, महिला मंगल दल की अध्यक्ष सुशीला देवी, सुनीता जेटुड़ी, युवक मंगल दल के प्रमोद रावत, जगमोहन सिंह विजय जुगरान, विजय बिष्ट, अरुण बडोनी, राजेंद्र पांडे, विजेंद्र मोघा, राजवीर रावत, सहित अन्य लोग उपस्थित थे।

महाजनसंपर्क अभियान के तहत आप की नीतियों के बारे में बताया

देहरादूना। आम आदमी पार्टी राजपुर रोड विधानसभा मे प्रदेश उपाध्यक्ष विशाल चौधरी के नेतृत्व मे चल रहे महाजनसंपर्क अभियान के दूसरे दिन राजपुर विधानसभा भ्रमण कर जनता को आप की नीतियों के बारे मे बताकर वोट की अपील की। अभियान के अंतर्गत आज धामावाला वार्ड मे क्षेत्रीय जनता से जनसंपर्क कर उन्हें उत्तराखण्ड की जनता के हित मे जारी केजरीवाल जी की दो गारंटियों के विषय मे बताया गया, साथ ही दिल्ली सरकार द्वारा आम आदमी को दी जा रही अभूतपूर्व सुधिवाओं के संबंध मे भी जनता को बताया गया। इस अवसर पर क्षेत्र मे वास कर रहे विभिन्न सामाजिक संगठनों के पदाधिकारियों से आगामी विधानसभा चुनाव मे आम आदमी पार्टी के पक्ष मे वोट देने की अपील गई। इस अवसर पर प्रदेश उपाध्यक्ष विशाल चौधरी को स्थानीय लोगो ने अपनी समस्याओ से अवगत कराया, उन्होंने बताया कि भाजपा शासित नगर निगम द्वारा संडे बाजार को बंद कर हमारी रोजी रोटी छीनने का कार्य किया गया। एक ओर रोजगार के नाम पर सरकार द्वारा जनता को गुमराह किया जा रहा है वही जो लोग अपने निजी कार्याे से अपने परिवार की आजीविका चला रहे थे उनका हक भी छिन लिया गया। इस अवसर पर प्रदेश उपाध्यक्ष, विशाल चौधरी, सुनीता बिष्ट, ऊषा शर्मा जी, पूर्व जिला संगठन मंत्री राजेन्द्र सिंह जी, युथ विगं विधानसभा अध्यक्षा रेनु कटारिया, महिला मोर्चा अध्यक्षा राजबीरी शर्मा, विशाल शर्मा ,रोशनी रावत आदि कार्यकर्ता उपस्थित रहे।

डीएम ने ली पी.सी.पी.एन.डी.टी. जिला सलाहकार समिति की बैठक

देहरादूना। जिलाधिकारी/समुचित प्राधिकारी जनपद पी.सी.पी.एन.डी.टी. सलाहकार समिति डॉ आर राजेश कुमार की अध्यक्षता में जिलाधिकारी कैम्प कार्यालय में पी.सी.पी.एन.डी.टी. जिला सलाहकार समिति की बैठक आयोजित की गई। बैठक में समिति के सदस्यों द्वारा अल्ट्रासाउण्ड मशीन व सीटी स्कैन मशीन के क्रय करने, केन्द्रों के पंजीकरण व उसके नवीनीकरण, अल्ट्रासाउण्ड मशीन में कार्य करने की अनुमति, पुरानी मशीनों को निष्प्रोज्य करने केन्द्रों में स्थापित अल्ट्रासाउण्ड व सीटी स्कैन मशीनों को पंजीकरण फार्म बी में दर्ज करने, पंजीकरण के निरीक्षण व निरस्तीकरण इत्यादि के सम्बन्ध में व्यापक विचार-विमर्श करते हुए तद्नुसार निर्णय लिए गए। बैठक में 4 केन्द्रों में अल्ट्रासाउण्ड एवं सीटी स्कैन मशीन क्रय करने की अनुमति प्रदान की गई। 13 केन्द्रों के पंजीकरण के नवीनीकरण के आवेदनों के सम्बन्ध में 12 केन्द्रों के पंजीकरण का नवीनीकरण की संस्तुति की गई, जबकि डॉ सूक्ष्म भण्डारी हास्पिटल कैनाल रोड विकासनगर के सम्बन्ध में राज्य स्तरीय समिति के परामर्श के फलस्वरूप अग्रिम निर्णय लेने के जिलाधिकारी ने समिति के सदस्यों को निर्देश दिए। 11 केन्द्रों के प्राप्त नवीन पंजीकरण के ऐसे आवेदनों जिनका मौका मुआयना किया जा चुका है के नवीन पंजीकरण की संस्तुति की गई। 13 केन्द्रों में चिकित्साधिकारियों को अल्ट्रासाउण्ड मशीन में कार्य करने की अनुमति प्रदान की गेई। डॉ तेजस्वी कामरा द्वारा पुरानी सील मशीन को निष्प्रोज्य करने की अनुमति दिए जाने के सम्बन्ध में जिलाधिकारी ने समिति को निर्देशित किया कि बॉयोमेडिकल वेस्ट मैनेजमेंट अधिनियम के प्राविधानों के अन्तर्गत समस्त औपचारिकताओं का पालन करते हुए प्रोसिडिंग की वीडियोग्राफी और पर्याप्त रिकार्ड रखते हुए मानका अनुसार अग्रिम कार्यवाही सम्पादित की जाए। 8 केन्द्रों में स्थापित नई अल्ट्रासाउण्ड मशीन एवं सीटी स्कैन मशीन को पंजीकरण फार्म-बी में दर्ज करने का अनुमोदन किया गया। 3 केन्द्रों में महन्त इन्दिरेश हॉस्पिटल, सुरी डायग्नोस्टिक एवं हिमालयन हॉस्पिटल में अल्ट्रासाउण्ड मशीन के सम्बन्ध में मानको का उचित पालन करते हुए डेमो की अनुमति प्रदान की गई। 3 केन्द्रों को अल्ट्रासाउण्ड एवं सीटी स्कैन मशीन को अन्य केन्द्र में स्थान्तरित करने के आवेदन के क्रम में अनुमति प्रदान की गई, जिनमें आहुजा पैथोलॉजी एण्ड इमेजिंग सेन्टर एस्लेहॉल की अल्ट्रासाउण्ड एवं सीटी स्कैन मशीन को नये केन्द्र 85 ए हरिद्वार रोड बाईपास में, मन्नत डायग्नोस्टिक सेन्टर पुष्कर मन्दिर रोड ऋषिकेश को जी.जी. आई.सी आदर्शग्राम देहरादून में मार्ग में तथा हैप्पी वैली वैटस के केन्द्र सुभाष रोड में स्थापित अल्ट्रासाउण्ड मशीन में राजपुर रोड निहल बहल चौक में स्थापित केन्द्र पर स्थानान्तरित करने की अनुमति समिति द्वारा प्रदान की गई। इसी प्रकार पराशरर्स पैथोलॉजी एण्ड इमेजिंग सेन्टर स्पेशल विकग प्रेमनगर पंजीकरण निरस्त करने के आवेदन पर विचार करते हुए केन्द्र का पंजीकरण निरस्त करने की संस्तुति प्रदान की गयी। जिलाधिकारी ने इस दौरान समिति के सदस्यों को निर्देशित किया कि अल्ट्रासाउण्ड और सीटी स्कैन मशीनों के क्रय करने, उनको अनंयत्र केन्द्रों पर स्थानान्तरित करने, सम्बन्धित चिकित्सकों की योग्यता के अनुसार केन्द्रों और मशीनों पर कार्य करने इत्यादि के सम्बन्ध में समय-समय पर भौतिक निरीक्षण किया जाए तथा अल्ट्रासाउण्ड एवं सीटी स्कैन मशीन के किसी भी तरह के दुरूपयोग की संभावना को रोका जाए। उन्होंने स्वयं के स्तर पर औचक निरीक्षण के साथ-साथ विश्वसनीय सूत्रों के माध्यम से अल्ट्रासाउण्उ मशीनों व सीटी स्कैन मशीनके दुरूपयोग के सम्बन्धी प्राप्त होने वाली सूचनाओं पर गंभीर संज्ञान लेते हुए टीम के माध्यम से मौके पर निरीक्षण करने के निर्देश देते हुए कहा कि पीसीपीएनडीटी के मानकों का उल्लंघन पाये जाने पर पीसीपीएनडीटी के प्राविधनों के अनुरूप सख्त कार्यवाही करें। इस दौरान बैठक में मुख्य चिकित्साधिकारी/ जिला नोडल अधिकारी पी.सी.पी.एन.डी.टी डॉ मनोज कुमार उप्रेती, जिला कार्यक्रम अधिकारी मुख्य चिकित्साधिकारी कार्यालय डॉ वन्दना सेमवाल, डॉ चित्रा जोशी, डॉ सुबोध नौटियाल, डॉ जे.पी नौटियाल, शासकीय अधिवक्ता अपराध जे.पी रतूड़ी, जिला कार्यक्रम समन्वयक पी.सी.पी.एन.डी.टी ममता बहुगुणा, दिनेश चन्द्र पाण्डेय, सामाजिक कार्यकर्ति कमला जायसवाल आदि समिति के सदस्य उपस्थित थे।

नये मतदाताओं को शतप्रतिशत् मतदाता सूची में शामिल करने के डीएम ने दिए निर्देश

देहरादूना। जिलाधिकारी डॉ आर राजेश कुमार द्वारा समस्त उप जिलाधिकारियों और सम्बन्धित विभागों के अधिकारियों के साथ मतदाता सूची में नये मतदाताओं को शामिल करने और लोगों को निर्वाचन के सम्बन्ध में अधिकाधिक जागरूक करने के सम्बन्ध में वीडियोकान्फ्रेसिंग के माध्यम से बैठक आयोजित की गई और नये मतदाताओं को शत् प्रतिशत् मतदाता सूची में शामिल करने के निर्देश दिए गए। जिलाधिकारी ने सभी उप जिलाधिकारियों और तहसीलदारों से मतदाता सूची में नये मतदाताओं विशेषकर 18 से 19 वर्ष की आयु वर्ग के युवक/युवतियों को शामिल करवाने से सम्बन्धित बनाये गए प्लान और उसके प्रभावी क्रियान्वयन तथा शामिल किए गए नये मतदाताओं की जानकारी प्राप्त करते हुए कार्य की की तेजी से प्रगति बढाने के निर्देश दिए। उन्होंने 18 से 19 वर्ष की आयु के लोगों पर विशेष फोकस रखते हुए जनपद के समस्त सरकारी/गैर सरकारी विश्वविद्यालयों, महाविद्यालयों, पॉलिटैक्निक व आईटीआई जेसे तकनीकि संस्थानों, उच्च तकनीकी संस्थानों, मेडिकल संस्थानों, लॉ कालेजों तथा बारवीं कक्षा के ऐसे विद्यार्थियों जिनकी आयु 01 जनवरी 2022 को 18 वर्ष की पूर्ण हो रही हो, सभी को मतदाता सूची में शामिल करने क लिए 16,17व 18 नवम्बर को तीन दिनों में विशेष व्यापक अभियान चलाने के निर्देश दिए। उन्होंने सभी उप जिलाधिकारियों को निर्देशित किया कि इन तीन दिनों में समस्त बीएलओ सम्बधित विद्यालय/संस्थानों में विजिट करेंगे तथा कालेज/संस्थान के प्रधानाचार्य/प्रबन्धकों के समन्वय से मतदाता बनने योग्य आयु पूर्ण कर चुके सभी विद्यार्थियों का फार्म 6 भरवायें तथा लोगों को मतदाता सूची में शामिल करने के लिए जनजागरूकता अभियान भी चलाएं। उन्होंने कहा उपरोक्त तीन दिवसों के विशेष अभियान के पश्चात भी बीएलओ अपने-अपने क्षेत्रों में अथवा डोर-टू-डोर अभियान के माध्यम से नये मतदाताआंें का फार्म-6 भरवायें। इसके साथ ही जिलाधिकारी ने जिला कार्यक्रम अधिकारी बाल विकास को भी निर्देशित किया कि वे भी बाल विकास अधिकारियों व सुपर वाईजरों के समन्वय से लोगों को मतदाता सूची में शामिल करने के लिए जागरूक करें और फार्म 6 भरवायें तथा उन्होंने शिक्षा विभाग को भी सम्बन्धित बीएलओ के समन्वय से कालेज/तकनीकी संस्थानों में अध्ययनरत् छात्र/छात्राओं को भी फार्म-6 भरवानें हेतु प्रेरित करने को कहा। जिलाधिकारी ने सभी उप जिलाधिकारियों को निर्देशित किया कि जिन नये मतदाताओं के फार्म-6 भरें जाएंगे उसकी साथ-साथ निर्वाचन सम्बन्धी एप्प में डाटा एन्ट्री भी करते जाए। उन्होंने नये बनाये गए पोलिग बूथों के क्रमांक व नाम का गरूडा एप्प में अंकन करने के भी निर्देश दिए ताकि पोलिंग बूथ की पहचान एवं उसकी पंहुच सहज हो। जनपद में 18-19 वर्ष की आयु के ऐसे युवक/युवतियों जिनको मतदाता सूची में शामिल किया जाना है की कुल संख्या लगभग 59045 है, जिनमें विधानसभा क्षेत्र 15-चकराता (अनुसूचित जनजाति) में 5465, 16-विकासनगर में 5332, 17-सहसपुर में 6093, 18-धर्मपुर में 5975, 19-रायपुर में 5560, 20-राजपुर (अनुसूचित जाति) में 6239, 21- देहरादून कैन्ट मंें 6385, 22-मसूरी में 6130, 23-डोईवाला में 5423 तथा 24- ऋषिकेश में 6443 नये मतदाताओं को निर्वाचक नामावली में जोड़े जाने का लक्ष्य है। जिलाधिकारी ने सभी उप जिलाधिकारियों के साथ ही बाल विकास विभाग, शिक्षा विभाग और सेवायोजन विभाग के अधिकारियों को नये मतदाताओं को मतदाता सूची में शामिल करने हेतु फार्म-6 भरवाने के लिए लगातार व्यापक अभियान चलाते रहने के निर्देश दिए। उन्होंने मुख्य विकास अधिकारी एवं अपर जिलाधिकारी प्रशासन तथा अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व को मतदाता सूची में शामिल किये जाने वाली लोगों की प्रतिदिन का विवरण प्राप्त करने और इस अभियान की मॉनिटिरिंग करने के भी निर्देश दिए।

एचडीएफसी बैंक ने “मुंह बंद रखो“ अभियान का दूसरा संस्करण किया लॉन्च

देहरादून। 2020 में अपने मुंह बंद रखो अभियान की जबरदस्त सफलता के बाद, एचडीएफसी बैंक लिमिटेड ने आज अंतरराष्ट्रीय धोखाधड़ी जागरूकता सप्ताह 2021 के समर्थन में दूसरे संस्करण के शुभारंभ की घोषणा की। इस पहल के माध्यम से बैंक का लक्ष्य सभी प्रकार की धोखाधड़ी के बारे में लोगों में जागरूकता को बढ़ाना और उनकी रोकथाम सुनिश्चित करने के लिए अपना मुंह बंद रखने का महत्व बताना है। बैंक अगले 4 महीनों में देश भर में 2,000 से अधिक कार्यशालाओं (वर्कशॉप्स) का आयोजन करेगा ताकि ग्राहकों को यह समझने में मदद मिल सके कि वे वित्तीय धोखाधड़ी से खुद को कैसे सुरक्षित रख सकते हैं। अभियान ग्राहकों को याद दिलाता है कि ऐसी कई स्थितियां हैं जिनमें जानकारी का खुलासा नहीं करना बेहतर है, खासकर जब बैंकिंग विवरण की बात आती है, ऐसे समय में किसी के इस बारे में पूछने पर अपना मुंह बंद रखें। युवा वर्ग पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है, जहां बैंक वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालयों और कॉलेजों को लक्षित करेगा, ताकि किशोरों और युवाओं को शुरुआत से ही इस संबंध में जागरूक किया जा सके। फोन, एसएमएस, ईमेल और सोशल मीडिया पर अज्ञात लिंक पर क्लिक न करने, कार्ड विवरण साझा करने, सीवीवी, समाप्ति तिथि, ओटीपी नेट बैंकिंग /मोबाइल बैंकिंग लॉगिन आईडी और पासवर्ड जैसे सरल कदमों का पालन करके आम जनता को अपना पैसा सुरक्षित रखने में काफी हद तक व्यापक मदद मिल सकती है। आज आयोजित एक वर्चुअल कार्यक्रम में, “मुंह बंद रखो“ अभियान को डॉ. के. राजेश्वर राव (आईएएस), विशेष सचिव, नीति आयोग द्वारा लॉन्च किया गया। कार्यक्रम में सेवानिवृत्त लेफ्टिनेंट जनरल डॉ. राजेश पंत, नेशनल साइबर सिक्योरिटी कोऑर्डिनेटर, भारत सरकार और शशिधर जगदीशन, एमडी और सीईओ, एचडीएफसी बैंक भी उपस्थित थे।

केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के समक्ष ग्रीन बोनस सहित विशेष पैकेज की मांग रखी

देहरादूना। कैबिनेट मंत्री सुबोध उनियाल ने सोमवार को सचिवालय में केन्द्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के साथ उत्तराखण्ड राज्य के हितों को लेकर व्यापक प्रस्ताव रखे। अन्य राज्यों के मुख्यमंत्रियों/मंत्रियों के साथ हुए वीडियो कांफ्रेंसिंग बैठक में कैबिनेट मंत्री सुबोध उनियाल ने उत्तराखण्ड की विशेष भोगोलिक परिस्थितियों/वनाच्छिदत एवं आपदाग्रस्त राज्य के लिये ग्रीन बोनस सहित विशेष पैकेज की मांग रखी। कैबिनेट मंत्री सुबोध उनियाल ने कहा कि नीति आयोग द्वारा प्रकाशित एसडीजी 2020 रिपोर्ट के अनुसार उत्तराखण्ड की रैंक बेहतर होकर अब तीसरी हो गयी है जो कि वर्ष 2019 की रिपोर्ट के अनुसार दसवीं थी। नीति आयोग की रिपोर्ट इण्डिया इनोवेशन इण्डेक्स-2020 के अनुसार दस पर्वतीय राज्यों में उत्तराखण्ड की रैंक दूसरी है। उन्होंने कहा कि जल संसाधन/जल विद्युत उत्पादन के क्षेत्र में उत्तराखण्ड में जल विद्युत उत्पादन की अपार सम्भावनायें हैं। जल विद्युत परियोजनाऐं ऊर्जा सुरक्षा, सौर एवं पवन ऊर्जा के बेलेन्सिंग ग्रिड सुरक्षा हेतु अति आवश्यक भी हैं। विभिन्न पर्यावरणीय कारणों के फलस्वरूप गंगा एवं उसकी सहायक नदियों में वर्ष 2013 से 4084 मे0वा० की जल विद्युत परियोजनाओं पर कार्य स्थगित है। विकल्प के तौर पर राज्य के अन्य दुर्गम क्षेत्रों यथा शारदा एवं काली नदी बेसिन में जल विद्युत परियोजनाओं का विकास किया जाये तो अधिक लागत एवं टैरिफ का सामना करना पड़ रहा है। उन्होंने दुर्गम क्षेत्रों में जल विद्युत परियोजनाओं के विकास हेतु कुल रू0 2000 करोड़ (रूपये 500 करोड़ प्रतिवर्ष 4 वर्षों तक) की वीजीएफ (टपंइपसपजल ळंच थ्नदकपदह) प्रदान किये जाने का अनुरोध भी केन्द्रीय वित्त मंत्री से किया।कैबिनेट मंत्री श्री उनियाल ने कहा कि 06 राज्यों से सम्बन्धित 300 मेगावाट की महत्वपूर्ण लखवाड़ बहुउद्देशीय परियोजना हेतु समस्त तकनीकी स्वीकृतियां प्राप्त हो चुकी हैं। परन्तु निर्माण कार्य प्रारम्भ करने हेतु भारत सरकार की आर्थिक मामलों की कैबिनेट समिति द्वारा स्वीकृति प्रदान किया जाना प्रतीक्षित है। उन्होंने कहा कि 660 मे0वा० की किशाऊ परियोजना उत्तराखण्ड राज्य के जनपद देहरादून एवं हिमाचल प्रदेश के जनपद सिरमौर में टोंस नदी पर एक जल भंडारण योजना है। राज्य सरकार द्वारा किये गये अनुरोध को सम्मिलित करते हुए परियोजना से लाभान्वित राज्यों के मध्य अनुबन्ध हस्ताक्षरित कराये जाने का अनुरोध मैं भारत सरकार से इस अवसर पर करना चाहूंगा। कैबिनेट मंत्री सुबोध उनियाल ने रोड कनेक्टिवीटी के सम्बन्ध में कहा कि वर्तमान मानकों से प्राप्त धनराशि आपदा से बुरी तरह क्षतिग्रस्त सड़कों की मरम्मत हेतु पर्याप्त नहीं हैं। अतः आपदा से क्षतिग्रस्त सड़कों के निर्माण हेतु रू० 500 करोड़ प्रतिवर्ष की धनराशि का प्रावधान भारत सरकार से निवेदित है। उन्होंने कहा कि ट्रैफिक दबाव बढ़ने के कारण सड़कों की सामान्य मरम्मत प्रभावी नहीं हो रही है। पर्वतीय क्षेत्रों में सड़कों का निर्माण अधिकतर पुस्तों का निर्माण कर लिया जाता है जिस कारण सड़कों के तमदमूंस के साथ-साथ रिटेनिंग वॉल का भी रिनेवल आवश्यक होता है जिस कारण इस कार्य हेतु अधिक धनराशि भारत सरकार से निवेदित है। उन्होंने उद्योग के क्षेत्र में कहा कि उत्तराखण्ड राज्य की बेहतरीन कानून व शांति व्यवस्था एवं अनुकूल औद्योगिक वातावरण के फलस्वरूप राज्य सरकार की समावेशी योजनाओं यथा मुख्यमंत्री स्वरोजगार नैनो योजना व मेगा इंडस्ट्रियल पॉलिसी के कारण छोटे निवेशकों से लेकर सभी बड़े निवेशक राज्य में निवेश हेतु आकर्षित हो रहे हैं तथा ऑटोमोबाइल व फार्मा सेक्टर की काफी प्रबल सम्भावना हैं। लैंडलाक्ड राज्य होने व राज्य का 70 प्रतिशत भू-भाग पर्वतीय क्षेत्र होने के बावजूद उत्तराखण्ड से रू0 16000 करोड़ का निर्यात हो रहा है। कैबिनेट मंत्री सुबोध उनियाल ने पर्यटन के क्षेत्र में कहा कि उत्तराखण्ड राज्य में धार्मिक पर्यटन, साहसिक पर्यटन गतिविधियों, माउण्टेनियेरिंग, ट्रैकिंग, स्कीईंग आदि क्षेत्रों में विकास की प्रबल सम्भावनायें हैं। इसके लिये राज्य सरकार द्वारा कुछ प्रस्ताव तैयार करके भारत सरकार को प्रस्तुत किये गये हैं, जैसे रूऋषिकेश को आइकोनिक पर्यटन स्थल बनाने हेतु रू0 500 करोड़ का प्रस्ताव, ऋषिकेश में ही इण्टरनेशनल कन्वेंशन सेण्टर बनाने हेतु रू0 592 करोड़ का प्रस्ताव, टिहरी को लेक सिटी के तौर पर विकसित करने हेतु रू0 1000 करोड़ का प्रस्ताव तथा विभिन्न रोप-वे परियोजनाओं हेतु रू० 6349 करोड़ का प्रस्ताव शामिल है। इन सभी परियोजनाओं पर शीघ्र स्वीकृति निवेदित है।

भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जे.पी. नड्डा ने चमोली में शहीद सम्मान यात्रा का किया शुभारम्भ

देहरादून। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी एवं भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जे.पी. नड्डा ने सोमवार को सवाड़ चमोली में सैन्यधाम निर्माण हेतु आयोजित शहीद सम्मान यात्रा का शुभारम्भ किया। इस अवसर पर सवाड़ में शहीद स्मारक पर शहीदों को श्रद्धांजलि दी गई। शहीदों की स्मृति में दो मिनट का मौन भी रखा गया। कार्यक्रम के दौरान शहीदों के परिजनों को सम्मानित भी किया गया। इस अवसर पर केन्द्रीय रक्षा राज्य मंत्री अजय भट्ट, कैबिनेट मंत्री गणेश जोशी, भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष/विधायक मदन कौशिक भी उपस्थित थे। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि मेरा सौभाग्य है कि मुझे सवाड़ की वीरों की इस धरती को नमन करने का सौभाग्य प्राप्त हुआ है। प्रथम विश्वयुद्ध हो, द्वितीय विश्व युद्ध हो, पेशावर कांड हो, देश की आजादी की लड़ाई हो या आजादी के बाद के युद्ध हों। इस धरती के वीरों ने अग्रिम पंक्ति में रहकर अपना कौशल दिखाया है और अपना सर्वाेच्च बलिदान दिया है। आज भी इस घाटी के नौजवानों से पूछा जाए कि आप जीवन में क्या करना चाहते हो तो उनका जवाब सेना में जाकर भारत माता की सेवा करना होता है। मुख्यमंत्री ने कहा कि ये वीरों की वीरता ही है जो ये सुनिश्चित करती है कि कोई भी राष्ट्र शान्तिपूर्वक अपनी उन्नति के मार्ग में अग्रसर हो। ये हमारे देश के लिए गौरव की बात है कि हमारे देश के वीर सैनिकों ने आजादी के बाद हुये हर संघर्ष में अप्रतिम शौर्य का परिचय दिया। मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारी सेना का मूल रूप से एक ही घोषवाक्य रहा है ’’राष्ट्र प्रथम’’ और इसके लिए जवान अपना सर्वस्व अर्पित करने को हमेशा तैयार रहते हैं। उत्तराखंड की देवभूमि ने लाखों वीर सैनिक इस देश को दिये हैं, जिन्होंने अपने अदम्य साहस से दिखा दिया कि देवभूमि ना केवल समस्त विश्व को शान्ति का मार्ग दिखा सकती है, वरन शौर्य और वीरता को भी प्रदर्शित कर सकती है। मुख्यमंत्री ने कहा कि पूर्व सैनिक का पुत्र होने के नाते मेरे लिए ये गर्व का विषय है कि मैं आप सबके समक्ष वीर सैनिकों को समर्पित इस कार्यक्रम में उपस्थित हूं। मैंने सैनिक की वीरता तो बाल्यकाल से देखी ही है, उनके परिजनों का संघर्ष भी देखा है। उस मां-बाप का दर्द देखा है, जिसका बेटा सीमा पर देश की आन-बान के लिए लड़ रहा है। उस पत्नी के आंखों के आंसू देखे हैं जो पति के आने की राह जोहते-जोहते कब बीमार हो जाती है, पता ही नही चलता। उन बच्चों की सिसकती हुई किलकारियों को सुना है जो अपने पिता से गले मिलने को व्याकुल हों। कितना संघर्ष है एक सैनिक के जीवन में, परन्तु इसके बावजूद वो दृढ़ता पूर्वक अपने देश के स्वाभिमान को बचाने के लिए हमेशा तत्पर रहता है। मुख्यमंत्री ने कहा कि सैनिकों के प्रति केन्द्र एवं राज्य सरकार का समर्पण किसी से छिपा नहीं है। अटल जी का शासन रहा हो या वर्तमान में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का शासन हो, देश के लिए प्राण न्यौछावर करने वाले वीर सैनिकों व उनके परिवारों को उनका सही हक मिले इसके लिए हर संभव प्रयास किये गये हैं। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में देश मजबूती से आगे बढ़ रहा है। सेना का मनोबल अभूतपूर्व रूप से बढ़ा है। सेना को निर्णय लेने की पूरी छूट है। उन्होंने कहा कि पराक्रम सदैव हमारी सेना के भीतर भरा हुआ था। मगर उस पराक्रम का सम्मान, सैनिकों के जीवन में बदलाव और उनके लिए संवेदनशील होकर निर्णय लेने का काम प्रधानमंत्री ने किया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि केन्द्र और राज्य सरकार का प्रयास है कि हम शहीदों के अभूतपूर्व योगदान को हमेशा याद रखें। इसके लिए उत्तराखंड की वीरभूमि में एक सैन्य धाम का निर्माण किया जा रहा है। सभी 13 जनपदों के शहीद सैनिकों के घर-आंगन की मिट्टी लाकर उसे सैन्य धाम के निर्माण में शामिल कर उनके बलिदान से आगामी पीढ़ियों को प्रेरणा प्रदान करने का कार्य करेंगे। केन्द्र एवं राज्य सरकार द्वारा सैनिकों और पूर्व सैनिकों के हित में कई योजनाएं चलाई जा रही हैं। वन रैंक, वन पेंशन की मांग वर्ष लंबे समय से थी, लेकिन इस पर ध्यान सिर्फ मोदी सरकार ने दिया, क्योंकि वे एक सैनिक का दर्द समझते ही नहीं हैं, बल्कि उसे दूर करने की कोशिश भी करते हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार अंत्योदय के अपने अंतिम लक्ष्य को अवश्य पूरा करगी। 2025 तक उत्तराखंड को भारत का अग्रणी राज्य बनाया जायेगा। भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जे. पी. नड्डा ने कहा कि मुझे इगास पर्व पर सवाड़ में सैनिक सम्मान यात्रा की शुरूआत करने का सौभाग्य मिला है। इस भूमि के वीर जवानों ने विभिन्न संग्रामों में अपने आप को समर्पित किया। उन शहीदों को नमन जिन्होंने देश के लिए अपना सर्वस्व अर्पित किया। यह धरती क्रांति की धरती है। इस धरती ने उत्तराखण्ड एवं देश में ही नहीं, बल्कि दुनिया में अपना नाम स्थापित किया है। उन्होंने कहा कि उत्तराखण्ड देवभूमि एवं वीरभूमि है। आज एक लाख 15 हजार उत्तराखण्ड के जवान देश सेवा में लगे हैं। 05 लाख सैनिक परिवार उत्तराखण्ड में हैं। इस भूमि से एक परमवीर चक्र, 06 अशोक चक्र,13 महावीर चक्र प्राप्तकर्ता उत्तराखण्ड की भूमि से है। इस देवभूमि एवं वीरभूमि से देश के अनेक उच्च पदों पर कार्यरत है। केन्द्रीय रक्षा राज्य मंत्री अजय भट्ट ने कहा कि मैं इस वीरभूमि को नमन करता हूं। आज हमारे प्रदेश से हर दूसरे परिवार का सदस्य देश सेवा के लिए सेना में भर्ती है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में देश प्रगति की ओर अग्रसर है। सैनिक कल्याण मंत्री गणेश जोशी ने कहा कि वीर शहीदों के सम्मान में राज्य सरकार देहरादून में भव्य सैन्य धाम बनाने जा रही है। इस सैन्य धाम का शिलान्यास के लिए प्रत्येक शहीद के घर-आंगन से पवित्र मिट्टी को कलश में एकत्र कर सम्मान के साथ देहरादून लाया जाएगा। उन्होंने बताया कि जिले में ब्लाक वाइज शहीद सैन्य समारोह आयोजित किए जाएंगे। जिसमें 15 नवंबर को देवाल और थराली ब्लाक का सम्मान कार्यक्रम शहीद स्मारक सवाड़ में शुभारंभ किया गया है। राज्य के सभी 13 जिलों मे यह यात्रा चलेगी। इस दौरान सभी शहीदों के परिवारों को जनपद एवं ब्लाक स्तर पर ताम्रपत्र भेंट कर सार्वजनिक समारोह में सम्मानित भी किया जाएगा। इस अवसर पर विधायक महेन्द्र भट्ट, मुन्नी देवी शाह, चमोली के भाजपा जिलाध्यक्ष रघुवीर सिंह बिष्ट, जिलाधिकारी चमोली हिमांशु खुराना, शहीद जवानों के परिजन एवं स्थानीय जनता उपस्थित थी।

स्पीकर अग्रवाल ने किया पेयजल योजना का शिलान्यास

ऋषिकेश। विश्व बैंक पोषित पेरी अर्बन पेयजल योजना ऋषिकेश विधानसभा क्षेत्र के अंतर्गत ग्रामीण क्षेत्रों में 44 करोड रुपए की लागत से उत्तराखंड जल संस्थान द्वारा पेयजल योजना का कार्य किया जा रहा है जिसके अंतर्गत जोन नंबर पांच के अंतर्गत शिवाजी नगर पेयजल योजना के कार्य का शिलान्यास विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल ने आज शिवाजी नगर में किया। इस अवसर पर श्री अग्रवाल ने कहा है कि शिवाजी नगर पेयजल योजना बहुप्रतीक्षित योजनाएं है, शुद्ध पेयजल आपूर्ति पर्याप्त रूप से मिल सके इसलिए शिवाजी नगर मे एक विशाल नलकूप का निर्माण किया जाएगा जबकि शिवाजी नगर के अंतर्गत 18 किलोमीटर पाइप लाइन बिछाई जानी है, साथ ही यहां की आबादी को देखते हुए 8 लाख लीटर के जलाशय का निर्माण भी किया जाएगा। श्री अग्रवाल ने कहा है कि योजना 30 वर्षों की कार्य योजना एवं जनसंख्या घनत्व की वृद्धि के अनुसार तैयार की गई है ताकि लोगों को लंबे समय से शुद्ध पेयजल आपूर्ति पर्याप्त रूप से प्राप्त हो सकें। पेयजल योजना के शिलान्यास अवसर पर श्री अग्रवाल ने कहा है कि पेयजल आपूर्ति के लिए किसी भी प्रकार की परेशानी नहीं होगी ₹ 44 करोड़ की योजना से ऋषिकेश के ग्रामीण क्षेत्रों में पेयजल आपूर्ति का कार्य गतिमान है। जिससे हर घर को नल और हर घर में पर्याप्त रूप से जल प्राप्त हो सके। श्री अग्रवाल ने ऋषिकेश विधानसभा क्षेत्र के अंतर्गत कराए जा रहे विभिन्न विकास के कार्यों का उल्लेख करते हुए कहा है कि प्रत्येक क्षेत्र में विकास की योजनाएं संचालित की जा रही है जिससे स्थानीय लोग लाभान्वित हो रहे हैं। इस अवसर पर स्थानीय लोगों ने पेयजल योजना का शिलान्यास करने पर विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल का पुष्प माला पहनाकर स्वागत किया। इस अवसर पर साइट इंजीनियर मनोज डबराल, पार्षद जयेस राणा, रविंद्र राणा, मुन्नी राजपूत, लक्ष्मी चौहान, कुसुम रावत, लखपति देवी, सचिन अग्रवाल, किशन सिंह नेगी, विक्रम राय, रणजीत कुमार, त्रिलोक सिंह परमार, अजय कुमार, गोलू सिंह, नंदलाल आदि सहित अनेक लोग उपस्थित थे।

दो दिवसीय दौरे पर मंगलवार को उत्तराखंड पहुंचेंगे दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया

देहरादून। दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया अपने दो दिवसीय दौरे पर मंगलवार को उत्तराखंड पहुंचेंग। वे देहरादून और उत्तरकाशी में अलग-अलग कार्यक्रमों में शिरकत करेंगे। प्रदेश कार्यालय में एक प्रेसवार्ता को संबोधित करते हुए आप पार्टी की प्रदेश प्रवक्ता उमा सिसोदिया ने कहा कि मनीष सिसोदिया 16 नवंबर को देहरादून पहुंचकर देवभूमि बिजनेस डायलॉग में व्यापारियों के साथ 12 बजे दोपहर में होटल पेसिफिक में मीटिंग करेंगे। मीटिंग के बाद उनका कल का कार्यक्रम उत्तरकाशी जाने का है, जहां वो देहरादून में मीटिंग के बाद देर शाम को उत्तरकाशी पहुंचेंगे। मनीष सिसोदिया का रात्रि प्रवास उत्तरकाशी में रहेगा और अगले दिन 17 नवंबर को वो उत्तरकाशी में सुबह 10 बजे नेहरू पर्वतारोहण संस्थान में जाएंगे, जहां वो पर्वतारोहण से जुड़ी चीजों से रूबरू होंगे। इसके बाद नेहरू पर्वतारोहण संस्थान से वे सीधे शौर्य स्थल उत्तरकाशी पहुंचेंगे जहां वो शहीदों को अपने श्रद्धासुमन अर्पित करेंगे। इसके बाद उत्तरकाशी में उनका कार्यक्रम एक विशाल रैली में शामिल होने का है। जहां वे ज्ञानसु टनल से विश्वनाथ मंदिर तक रोड शो में हिस्सा लेंगे। इसके बाद मनीष सिसोदिया काशी विश्वनाथ मंदिर में बाबा विश्वनाथ के दर्शन कर उनका आशीर्वाद लेंगे। विश्वनाथ मंदिर के दर्शन के बाद मनीष सिसोदिया उत्तरकाशी में रामलीला मैदान में विशाल जनसभा को संबोधित करेंगे जिसके लिए पार्टी कार्यकर्ताओं में जबरदस्त उत्साह है और इसके लिए पार्टी कार्यकर्ता अपनी पूरी तैयारी कर चुके हैं। उत्तरकाशी में जनसभा के बाद मनीष उत्तरकाशी से वापस सडक मार्ग से होते हुए नरेंद्रनगर पहुंचेंगे, जहां खादी विलेज नरेंद्रनगर में थोड़ी देर रुकने के बाद वो जौलीग्रांट पुहंचेंगे और वहां से वापस दिल्ली रवाना होंगे।

उत्तराखंड की लोककला ऐपण के संरक्षण व संवर्धन को साझे प्रयासों की जरूरत

देहरादून। सांस्कृतिक नगरी अल्मोड़ा की बेटी मनोरमा सुयाल मुक्ति देश भर में बिखरे ऐपण कलाकारों को एक जुट कर उनकी प्रतिभा को सामने लाने का काम कर रही हैं। ऑनलाइन माध्यम से ऐसे कलाकारों के साथ पाक्षिक बैठक कर साझा प्रयास शुरू किए जा रहे हैं। अर्थ सोसाइटी के नवोन्मेषी प्रोजेक्ट के तहत ऐपण वाइब्स ग्रुप के माध्यम से उत्तराखण्ड की लोक कला के संवर्धन,संरक्षण और आजीविका के साथ उत्तराखण्ड की पहचान बनाने के लिए काम किया जाएगा। यह मीटिंग आनलाइन गूगल मीट ऐप द्वारा की गई जिसमें पिथौरागढ़ से कविता खड़ायत, नैनीताल से दीपिका बिष्ट व दिप्ती बोरा,खटीमा से गीतिका नेगी हरियाणा से लता बिष्ट , चंडीगढ़ से हर्षिता बिष्ट, बागेश्वर से नीमा कोरंगा हल्द्वानी से वंदना जोशी दिल्ली से रितु रावत, गुड़गाव से यामिनी पांडे, हरिद्वार से संजीवनी कांडपाल, अल्मोड़ा से इन्द्रा अधिकारी, पंजाब से कमला करायत,देहरादून से उमा रावत ने विचार प्रकट किए। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि अर्थ सोसाइटी के मुख्य सलाहकार हेमचन्द्र बहुगुणा रहे और कार्यक्रम का संचालन मनोरमा सुयाल द्वारा किया गया। ग्रामीण एवम शहरी गृहणियों को साथ लेकर उनकी छिपी प्रतिभा को आजीविका का माध्यम बनाने के साथ साथ उत्तराखण्ड के परम्परागत ज्ञान और विलुप्त होती परम्पराओं का डाक्यूमेंटशन किया जाएगा। ऐपण वाइब्स के माध्यम से नई पीढ़ी को परंपरागत ज्ञान से रूबरू करवाने के लिए नियमित प्रतियोगिताएँ भी आयोजित की जाएंगी साथ ही जनजातीय समाजों के परम्परागत ज्ञान पर विकासात्मक शोध पर पर संस्था द्वारा प्रयास किये जायेंगे।

पीठासीन अधिकारी सम्मेलन में शिरकत करेंगे स्पीकर अग्रवाल

देहरादून। उत्तराखंड विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल हिमाचल प्रदेश की राजधानी शिमला में 17 नवंबर से आयोजित होने वाले 82वें भारत के पीठासीन अधिकारी सम्मेलन में शिरकत करेंगे। विधानसभा अध्यक्ष ने बताया कि पीठासीन अधिकारियों का सम्मेलन हिमाचल प्रदेश की राजधानी शिमला में 17 और 18 नवंबर को आयोजित हो रहा है जिसमें लोकतांत्रिक संस्थाओं के कामकाज को पारदर्शी एवं मजबूत बनाने के बारे में चर्चा की जायेगी। श्री अग्रवाल ने कहा कि 1921 में पीठासीन अधिकारियों की पहली बैठक शिमला में हुई थी और इस खास अवसर के 100 साल पूरा होने पर शिमला में ही पीठासीन अधिकारियों का 82वां सम्मेलन आयोजित किया जा रहा है। इसकी शुरूआत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी करेंगे तथा हिमाचल प्रदेश के राज्यपाल इसका समापन करेंगे। उन्होंने बताया की इस सम्मेलन में लोकसभा अध्यक्ष, राज्यसभा के सभापति, राज्यों की विधानसभाओं के अध्यक्ष, विधान परिषदों के सभापति सहित अन्य गणमान्य लोग शामिल होंगे।

बदरीनाथ धाम के कपाट बंद होने की प्रक्रिया शुरु, 16 नवंबर से आयोजित होंगी पंच पूजाएं

देहरादून/बदरीनाथ। विश्व प्रसिद्ध बदरीनाथ धाम के कपाट बंद होने की प्रक्रिया के अंतर्गत 16 नवंबर से भगवान श्री बदरीनाथ जी की पंच पूजाएं शुरू हो जायेंगी। उत्तराखंड चारधाम देवस्थानम प्रबंधन बोर्ड के मीडिया प्रभारी डा. हरीश गौड़ ने बताया कि मंगलवार से भगवान बदरीविशाल जी की पंच पूजाएं शुरू हो जायेगी। 16 नवंबर को श्री गणेश भगवान की पूजा एवं कपाट बंद होंगे। 17 नवंबर श्री आदि केदारेश्वर जी के कपाट बंद हो जायेंगे। 18 नवंबर को खडग पुस्तक पूजन होगा। इस दिन से वेद ऋचाओं का पाठ बंद हो जायेगा। 19 नवंबर को मां लक्ष्मी जी की पूजा एवं आव्हान होगा। 20 नवंबर को शाम 6 बजकर 45 मिनट पर श्री बदरीनाथ मंदिर के कपाट शीतकाल हेतु बंद हो जायेंगे। कपाट बंद होने के बाद 21 नवंबर को प्रातरू आदि गुरु शंकराचार्य जी की पवित्र गद्दी रावल जी सहित श्री उद्धव जी, श्री कुबेर जी योग -ध्यान बदरी पांडुकेश्वर पहुंचेंगे।श्री उद्धव जी एवं श्री कुबेर जी योग-ध्यान बदरी पांडुकेश्वर में विराजमान हो जायेंगे। 22 नवंबर को आदि गुरु शंकराचार्य जी की गद्दी एवं रावल जी श्री नृसिंह मंदिर जोशीमठ पहुंचेगे। योग बदरी पांडुकेश्वर एवं श्री नृसिंह बदरी जोशीमठ में शीतकालीन पूजाएं शुरू हो जायेंगी। ऋषिकेश स्थित चारधाम यात्रा बस टर्मिनल पर सभी विभागों यथा चिकित्सा, पुलिस, परिवहन,यात्रा प्रशासन संगठन, पर्यटन‌, देवस्थानम बोर्ड,नगरनिगम के हेल्प डेस्क/यात्री पूछताछ काउंटर अभी भी कार्यरत हैं हरिद्वार एवं ऋषिकेश यात्रा बस अड्डे से तीर्थयात्री श्री बदरीनाथ धाम रवाना हो रहे है। श्री बदरीनाएं ब्यवस्थायें सुचारू हैं। श्री केदारनाथ भगवान की पंचमुखी उत्सव मूर्ति 6 नवंबर को कपाट बंद होने के बाद विगत सोमवार 8 नवंबर को पंचकेदार शीतकालीन गद्दीस्थल श्री ओंकारेश्वर मंदिर उखीमठ में स्थापित होते ही भगवान केदारनाथ जी की शीतकालीन पूजाएं शुरू हुई।कपाट बंद होने के बाद परंपरागत रूप श्री गंगोत्री धाम की शीतकालीन पूजाएं गद्दीस्थल मुखबा( मुखीमठ) तथा श्री यमुना जी की शीतकालीन पूजाएं खरसाली (खुशीमठ) में संपन्न हो रही हैं।उत्तराखंड चार धाम श्री बदरीनाथ, श्री केदारनाथ, श्री गंगोत्री, श्री यमुनोत्री में कपाट बंद होने के बाद शीतकालीन गद्दी स्थलों में छ माह शीतकालीन पूजाएं होती हैं। आज तक चार लाख पिचासी हजार से अधिक तीर्थयात्री उत्तराखंड चारधाम दर्शन को पहुंच गये हैं। श्री केदारनाथ धाम सहित श्री गंगोत्री-यमुनोत्री जी के कपाट शीतकाल हेतु बंद हो गये है द्वितीय केदार श्री मद्महेश्वर के कपाट 22 नवंबर को शीतकाल हेतु बंद होंगे‌ 25 नवंबर को मद्महेश्वर मेला आयोजित होगा। ----------------------------------------------------

टॉपर्स को सम्मानित करने के लिए देहरादून में रोड शो का किया आयोजन

देहरादून। आकाश एजुकेशनल सर्विसेज ने परीक्षा तैयारी सेवाओं में अग्रणी ने एनईईटी 2021 के अपने असाधारण परिणामों का जश्न मनाने और प्रदर्शन करने के लिए आज एक रोड शो का आयोजन किया। जिसमें आकाश के 3 छात्रों ने 720/720 के साथ एआईआर 1 हासिल किया है। रोड शो में देहरादून सिटी टॉपर सचिन डागुर, एआईआर 490 सहित उत्तराखंड के अन्य अचीवर्स मौजूद थे।

सनटेक रियल्टी ने दूसरी तिमाही और पहली छमाही के वित्तीय परिणामों की घोषणा की

देहरादून। मुंबई के लक्ज़री रियल एस्टेट डेवलपर, सनटेक रियल्टी लिमिटेड ने वित्त-वर्ष 22 की दूसरी तिमाही और पहली छमाही के लिए अपने वित्तीय परिणामों की घोषणा की। सनटेक रियल्टी लिमिटेड के अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक, कमल खेतान ने वित्त-वर्ष 22 की दूसरी तिमाही के दौरान कारोबार के प्रदर्शन पर टिप्पणी करते हुए कहा बिक्री के लिए तैयार की गई जबरदस्त रणनीति और ब्रांड की शानदार तरीके से वापसी की वजह से हमारे विभिन्न सब-ब्रांड्स तथा प्राइसिंग स्पेक्ट्रम को शानदार सफलता प्राप्त हुई है, जो हमें अपने प्री-सेल्स को मजबूत तरीके से बढ़ाने में सक्षम बनाता है। इसके साथ-साथ, हम सभी स्तरों पर अपने निर्माण कार्य को पूरा करने पर ध्यान केंद्रित कर रहे हैं, जिसने हमारी बिक्री के साथ-साथ कलेक्शन की गति को और बढ़ा दिया है।” वर्तमान में उद्योग जगत में बेहतरीन गुणवत्ता वाली और अच्छी तरह से फंडिंग प्राप्त करने वाले रियल एस्टेट कंपनियों के पक्ष में बाजार के समेकन की प्रवृत्ति बरकरार है, सनटेक इस प्रवृत्ति के प्रमुख लाभार्थियों में से एक रहा है, जिससे कंपनी बेहतरीन रिटर्न के अवसरों के साथ अपने बिजनेस पोर्टफोलियो के विस्तार में सक्षम हुई है। साल 2020 में कोविड-19 की पहली लहर के बाद से, सनटेक डडत् क्षेत्र में अत्यधिक मूल्य-वृद्धि वाली परियोजनाओं का अधिग्रहण करने वाली सबसे बड़ी कंपनियों में से एक रहा है- और यह प्रवृत्ति आज भी कायम है। हमने वसई, वसिंद, बोरीवली, कल्याण और पेन की 5 परियोजनाओं में 23 मिलियन वर्ग फुट से अधिक क्षेत्र का अधिग्रहण किया है। हम भवन-निर्माण एवं विकास के क्षेत्र में अपनी सर्वश्रेष्ठ क्षमता का उपयोग करेंगे, साथ ही हम इन सभी माइक्रो मार्केट में ऐतिहासिक प्रगति के लिए अपनी ओर से हर संभव प्रयास करेंगे।

सड़कों के निर्माण के लिए विधायक निधि से 15 लाख रु. देने की घोषणा की

ऋषिकेश। ऋषिकेश विधानसभा क्षेत्र के अंतर्गत ग्राम सभा रायवाला में क्षेत्रीय विधायक व विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल ने जनता मिलन कार्यक्रम में शिरकत की। इस दौरान श्री अग्रवाल ने क्षेत्र में विभिन्न आंतरिक सड़क मार्गों के निर्माण के लिए अपनी विधायक निधि से 15 लाख रुपए देने की घोषणा की साथ ही श्री अग्रवाल ने कहा कि क्षेत्र में प्रकाश पथ व्यवस्था को व्यवस्थित करने के लिए 50 स्ट्रीट लाइट भी लगाई जाएगी। ग्राम सभा रायवाला में आयोजित कार्यक्रम के दौरान रायवाला के स्थानीय लोगों द्वारा विधानसभा अध्यक्ष का पुष्प मालाओं से जोरदार स्वागत किया गया।इस अवसर पर क्षेत्र की जनता द्वारा विधानसभा अध्यक्ष द्वारा कराए जा रहे अभूतपूर्व कार्यों के लिए आभार व्यक्त किया गया। वहीं स्थानीय लोगों द्वारा क्षेत्र की सड़क निर्माण एवं मार्गाे में प्रकाश व्यवस्था को उचित करने के लिए अपनी बात भी विधानसभा अध्यक्ष के समक्ष रखी।जिसका संज्ञान लेते हुए विधानसभा अध्यक्ष ने अपनी विधायक निधि से क्षेत्र की विभिन्न आंतरिक सड़क निर्माण के लिए 15 लाख रुपये देने की घोषणा की साथ ही ग्रामसभा को 50 स्ट्रीट लाइट देने की भी बात कही। इस अवसर पर विधान सभा अध्यक्ष ने कहा की कि जनता के आशीर्वाद से उन्हें अपनी पूरी क्षमता से सेवा करने की शक्ति और प्रेरणा मिलती है। उन्होंने कहा कि जनता और क्षेत्र की उन्नति एवं विकास के लिए संकल्प, समर्पण और सेवा के मार्ग को अपने जीवन का मूल मंत्र मानते हुए हरसंभव प्रयास कर रहे हैं।विधानसभा अध्यक्ष ने कहा कि विकास एक सतत चलने वाली प्रक्रिया है जो कार्य अभी शेष रह गए हैं उन्हें भी पूर्ण किया जाएगा। इस दौरान श्री अग्रवाल ने रायवाला क्षेत्र में उनके द्वारा किए गए विकास कार्यों को भी गिनाया। इस अवसर पर रायवाला के ग्राम प्रधान सागर गिरी, भाजपा के मंडल अध्यक्ष गणेश रावत, जयनंद ड़िमरी, राजेश जुगलान, गीता नेगी, निकिता चौहान, प्रदुमन पांडे, प्रधान सोबन कैंतूरा, प्रधान चंद्रमोहन पोखरियाल, विनोद नेगी, संदीप पोखरियाल, प्रमिला, प्रिया आदि लोग उपस्थित थे।

भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा का दून पहुंचने पर सीएम व मंत्रियों ने किया स्वागत

देहरादून। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने सहस्त्रधारा हैलीपैड पर भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जे.पी. नड्डा के उत्तराखण्ड आगमन पर स्वागत किया। इस अवसर पर केन्द्रीय रक्षा राज्य मंत्री अजय भट्ट, कैबिनेट मंत्री सुबोध उनियाल, बंशीधर भगत, डॉ. धन सिंह रावत, भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष/ विधायक मदन कौशिक, विधायक गणों एवं पार्टी पदाधिकारियों ने भी भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष का स्वागत किया।

मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने मतदाता जागरूकता सचल वाहनों को किया रवाना

देहरादून। मुख्य निर्वाचन अधिकारी सौजन्या ने सोमवार को सचिवालय में मतदाता जागरूकता के लिये मतदाता जागरूकता सचल वाहनों (वोटर अवेयरनेस वैन) को रवाना किया। मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि इस अभियान का मुख्य उद्देश्य युवा मतदाताओं और महिला मतदाताओं को वोटर लिस्ट के पंजीकरण हेतु प्रेषित करना है। इस विषय में जानकारी देते हुए मुख्य निर्वाचन अधिकारी सौजन्या ने बताया कि विधान सभा के आगामी सामान्य निर्वाचन के दृष्टिगत वर्तमान में गतिमान विधान सभा निर्वाचक नामावली का 01.01.2022 की अर्हता तिथि के आधार पर विशेष संक्षिप्त पुनरीक्षण कार्यक्रम के व्यापक प्रचार प्रसार हेतु गढ़वाल एवं कुमायूँ मण्डल के लिए एक-एक वोटर अवेयरनेस वैन को देहरादून से रवाना किया गया। सौजन्या ने विस्तार से जागरूकता रथों के रूट की जानकारी भी मीडिया को दी। गढ़वाल मण्डल में दिनांक 15 नवंबर, 2021 को देहरादून, विकासनगर एवं चकराता, दिनांक 16 नवंबर, 2021 को त्यूनी, पुरोला और बड़कोट, दिनांक 17 नवंबर, 2021 को उत्तरकाशी, टिहरी और घनसाली, दिनांक 18 नवंबर, 2021 को तिलवाड़ा, अगस्तयामूनी एवं ऊखीमठ, दिनांक 19 नवंबर, 2021 को रूद्रप्रयाग, गौचर और कर्णप्रयाग, दिनांक 20 नवंबर, 2021 को श्रीनगर, पौड़ी और सतपुली, दिनांक 21 नवंबर, 2021 को लैन्सडॉन, कोटद्वार और हरिद्वार, दिनांक 22 नवंबर, 2021 को बहादाराबाद, लक्सर और रूड़की में वैन द्वारा जागरूकता कार्यक्रम किया जाएगा। कुमाऊं मण्डल में दिनांक 15 नवंबर, 2021 को देहरादून एवं जसपुर, दिनांक 16 नवंबर, 2021 को काशीपुर, बाजपुर, गदरपुर, एवं रूद्रपुर, 17 नवंबर, 2021 को किच्छा, सितारगंज, नानकमत्ता, खटीमा एवं बनबसा, दिनांक 18 नवंबर, 2021 को टनकपुर, चंपावत एवं लोहाघाट, दिनांक 19 नवंबर, 2021 को पिथौरागढ़, डीडीहाट एवं थल, दिनांक 20 नवंबर, 2021 को चौकोली, बागेश्वर, कौसानी एवं सोमेश्वर, दिनांक 21 नवंबर, 2021 को द्वाराहाट, रानीखेत एवं अल्मोड़ा, दिनांक 22 नवंबर, 2021 को मुक्तेश्वर, नैनीताल एवं हल्द्वानी में जागरूकता कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा। उन्होंने बताया कि उक्त वैन के साथ नुक्कड़ नाटक टीम, स्वीप सामग्री तथा पब्लिक एड्रेस सिस्टम रहेगा। जनपदों की स्वीप टीम द्वारा नुक्कड़ नाटक टीम के साथ मिलकर क्षेत्र के युवा एवं महिला मतदाता केन्द्रित मतदाता जागरूकता कार्यक्रम आयोजित किया जायेगा। पहला जागरूकता नुक्कड़ नाटक का प्रदर्शन कलाकारों ने सचिवालय परिसर में किया जिसकी मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने सराहना की। इस अवसर पर संयुक्त मुख्य निर्वाचन अधिकारी प्रताप शाह, उप मुख्य निर्वाचन अधिकारी जितेन्द्र, सहायक मुख्य निर्वाचन अधिकारी मस्तू दास, स्वीप नोडल मो0 असलम, स्वीप कॉडिर्नेटर सुजाता उपस्थित थे।

Monday, 8 November 2021

ऑन्कालॉजी में आयुष्मान यानी नाउम्मीदी के भंवर में एक नई उम्मीद

देहरादून। कैंसर को अधिकांश मौकों पर असाध्य माना जाता रहा है। उसकी घातकता और तीव्रता जीवन के अवसरों को अन्य की अपेक्षा काफी हद तक कम कर देती है। लेकिन ऑन्कालॉजी में जब से आयुष्मान की दखल हुई, इस जानलेवा ब्याधि को भी साधा जाने लगा है। प्रदेश में अभी तक 27112 लाभार्थी ऑन्कालॉजी में मुफ्त उपचार ले चुके हैं। इस ब्याधि को साधने में अब 50 करोड़ से अधिक खर्च किए जा चुके हैं। पचास करोड़ यानी आधा अरब। देखा जाए तो किसी योजना पर खर्च का यह आंकड़ा कोई छोटा आंकड़ा नहीं होता। लेकिन कोई राशि जब जिंदगी बचाने में खर्च की जाती है तो वहां आंकड़ों की जगह जिंदगी की अहमियत आगे हो जाती है। और खर्चा जब कैंसर जैसे असाध्य समझे जाने वाली ब्याधि को थामने पर हुआ हो तो लाभार्थियों के साथ ही जन मानस भी बगैर व्यवस्था की पीठ थपथपाए नहीं रहेगा। दूर न जाकर अपने आसपास नजर दौड़ाई जाए, तो प्रदेश में ऐसे उदाहरण भी कम नहीं होंगे जब कैंसर जैसी जानलेवा व कष्टप्रद ब्याधि हो जाने पर अच्छी खासी इनकम वाले परिवारों के भी हाथ खड़े हो जाते रहे। धारणा यह रहती थी कि बीमार का हाल तो संभलने से रहा, और बेहिसाब का जो भी खर्च होगा वह पैसा पानी में बहाने जैसा है। समय की प्रगति के साथ आन्कॉलॉजी में हुई प्रगति ने इस असाध्य को काफी हद तक साध लिया है। लेकिन ऑन्कोलॉजी के खर्चीले उपचार को सामान्य व्यक्ति तो वहन नहीं कर सकता था। घर का मुखिया इलाज पर पैसा खर्च करे या फिर परिवार का भरण पोषण करे। यह बड़ी समस्या नहीं थी बल्कि हर किसी प्रभावित के सामने सबसे बड़ी समस्या थी। अब सुखद यह है कि आयुश्मान कार्ड के जरिए लोग खर्चीली बीमारी का भी पूरी निश्चिंतता के साथ उपचार ले रहे हैं। अब ब्याधि धारक के साथ ही पूरा परिवार ही तनाव मुक्त है। अभी तक 27112 लाभार्थी ऑन्कालॉजी में मुफ्त उपचार ले चुके हैं। इस ब्याधि को साधने में अब 50 करोड़ से अधिक खर्च किए जा चुके हैं। आयुष्मान लाभार्थियों का कहना है कि बीमारी का कष्ट अपनी जगह है, लेकिन उसके साथ में जो कभी उठाए जा सकने वाले खर्च का भी तनाव हो जाए तो जिंदगी के दिनों का और कम हो जाना स्वाभाविक सी बात हो जाती है। वह कहते हैं कि भला हो आयुष्मान योजना के नियंताओं और इसके संचालकोें का, जिससे हमें जानलेवा ब्याधि से लड़कर फिर से जीने का हौसला मिला है। इसी तरह से रूद्रपयाग जनपद के जखोली निवासी बचन सिंह, पुष्पा, पौड़ी के ओमप्रकाश, हरिद्वार से फरहा, देहरादून से जावेद अंसारी कहते हैं कि आयुष्मान योजना रही तो ही वह अपने मरीज का उपचार करा पाए। आयुष्मान की बदौलत कोई स्वयं तो किसी के परिजन ने मुफ्त में उपचार लिया है। लाभार्थी अस्पताल की व्यवस्थाओं की भी जमकर प्रसंशा करते हैं। वह इसलिए भी क्योंकि योजना के अंतर्गत सूचीबद्ध अस्पताल में राज्य स्वास्थ्य प्राधिकरण उत्तराखंड की ओर से आयुष्मान मित्र को यह जिम्मेदारी भी सौंपी गई है कि किसी भी लाभार्थी को कोई परेषानी नहीं होनी चाहिए। इसके लिए बाकायदा उसकी जबाबदेही तक तय की गई है। इस सुगमता के लिए लाभार्थी योजना के साथ ही एसएचए का भी आभार जताना नहीं भूलते, और पुनर्जीवन से बड़ी खुशी तो कोई हो ही नहीं सकती।

सड़क निर्माण के लिए 4 लाख रु देने की घोषणा की

ऋषिकेश। नगर निगम ऋषिकेश के अंतर्गत शिवाजी नगर वार्ड में आज जनता मिलन कार्यक्रम के दौरान उत्तराखंड विधानसभा अध्यक्ष ने आंतरिक सड़क मार्गों के निर्माण के लिए अपनी विधायक निधि से 4 लाख रुपए देने की घोषणा की। इस अवसर पर विधानसभा अध्यक्ष ने क्षेत्र की विभिन्न समस्याओं को भी सुना वहीं श्री अग्रवाल ने सरकार द्वारा संचालित योजनाओं से भी क्षेत्रवासियों को अवगत किया। शिवाजी नगर वार्ड के अंतर्गत आयोजित कार्यक्रम के दौरान क्षेत्रवासियों द्वारा विधानसभा अध्यक्ष का जोरदार स्वागत किया गया। इस अवसर पर विधानसभा अध्यक्ष ने कार्यक्रम में मौजूद बुजुर्ग महिला एवं पुरुषों का माल्यार्पण कर सम्मानित किया। कार्यक्रम में मौजूद लोगों को संबोधित करते हुए विधानसभा अध्यक्ष ने कहा कि शिवाजी नगर वार्ड में सड़कों, बिजली, पानी सहित अन्य व्यवस्थाओं को सुदृढ़ किये जाने के लिए उनके द्वारा कई विकास कार्य किए गए हैं। इस अवसर पर विधानसभा अध्यक्ष ने क्षेत्रवासियों की विभिन्न समस्याओं को भी सुना, मौके पर ही संबंधित विभाग के अधिकारियों से वार्ता कर समस्याओं का निवारण भी किया। विधानसभा अध्यक्ष ने कहा कि उनके द्वारा क्षेत्र में लगातार विकास के कार्य करवाए गए एवं जो कार्य शेष रह गए हैं उन्हें निश्चित रूप से पूर्ण किया जाएगा। इस अवसर पर विधानसभा अध्यक्ष ने केंद्र सरकार एवं राज्य सरकार की विभिन्न जन उपयोगी योजनाओं का लाभ पंक्ति में खड़े अंतिम व्यक्ति तक पहुंच सके इसके लिए सभी को जागरूक होने के लिए कहा। इस अवसर पर महंत धर्मदास गुरुजी, मंडल अध्यक्ष अरविंद चौधरी, मंडल महामंत्री युवा मोर्चा रंजीत सिंह, पार्षद एवं महामंत्री सुंदरी कंडवाल, विजय शुक्ला, बिंदु गुप्ता, अशोक गुप्ता, पूर्व मंडल अध्यक्ष रमेश चंद्र शर्मा, निर्मला उनियाल, मुन्नी राजपूत, पुनीता भंडारी, गंगा शरण यादव, सुशील शर्मा, विक्की सैनी, चंदेश्वर सैनी सहित अन्य लोग उपस्थित थे।

लालकृष्ण आडवाणी के 94वें जन्मदिवस पर 94 लोगों को मास्क व सैनिटाइजर बांटे

ऋषिकेश। देश के पूर्व उपप्रधानमंत्री व सबसे अनुभवी राजनीतिज्ञों में शुमार लालकृष्ण आडवाणी के 94वें जन्मदिवस पर उत्तराखंड विधानसभा अध्यक्ष ने बैराज स्थित कैंप कार्यालय में 94 लोगों को कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए मास्क एवं सैनिटाइजर वितरित किए।उन्होंने लालकृष्ण आडवाणी के स्वस्थ और दीर्घायु जीवन की कामना की। विधानसभा अध्यक्ष ने कहा कि आडवाणी जी ने विभिन्न पदों पर उत्कृष्ट कार्य किया और अपने कार्यों से देश का गौरव बढ़ाया। उनका अनुभव हम सभी को सहित आने वाली पीढ़ियों को प्रेरणा देता रहेगा। श्री अग्रवाल ने कहा की विद्वान, कुशल राजनेता और सर्वाधिक सम्मानित नेताओं में से एक लाल कृष्ण आडवाणी जी के विशिष्ट योगदान को भारत हमेशा याद रखेगा।आडवाणी जी को जन्मदिन की बधाई देते हुए श्री अग्रवाल ने कहा कि उन्होंने भाजपा को आकार देने और मजबूत बनाने के लिए कई दशकों तक कठिन संघर्ष किया। इस अवसर पर जिला पंचायत सदस्य दिव्या बेलवाल, विश्व हिंदू परिषद के पूर्व प्रचारक चिंतामणि, मंडल अध्यक्ष दिनेश सती, महिला मोर्चा के उपाध्यक्ष माधवी गुप्ता, शंभू पासवान, उर्मिला त्रिवेदी, हेमलता चौहान, प्रधान सोबन सिंह केंतुरा, प्रधान अनिल कुमार, अनीता तिवारी, कविता साह, समा पवार सहित अन्य लोग उपस्थित थे।

बाबा केदार की पंचमुखी उत्सव मूर्ति ओंकारेश्वर मंदिर उखीमठ पहुंची

रूद्रप्रयाग/देहरादून। केदारनाथ भगवान की पंचमुखी उत्सव मूर्ति/डोली विभिन्न स्थानों से श्रृद्धालुओं को आशीष देते हुए शीतकालीन गद्दीस्थल श्री ओंकारेश्वर मंदिर उखीमठ पहुंची। जहां डोली का भब्य स्वागत हुआ।इसी के साथ पंचकेदार गद्दी स्थल में शीतकालीन पूजाएं शुरू हो गयी। उल्लेखनीय है कि विगत 5 नवंबर को देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी केदारनाथ दर्शन को पहुंचे‌। शीतकाल हेतु श्री केदारनाथ धाम के कपाट बंद हुए इसी दिन पंचमुखी उत्सव डोली ने पहले पड़ाव रामपुर हेतु प्रस्थान किया कल श्री विश्वनाथ मंदिर गुप्तकाशी प्रवास रहा। आज डोली श्री ओंकारेश्वर मंदिर उखीमठ पहुंची। इस अवसर पर पुजारी बागेश लिंग, रावल श्री भीमाशंकर जी के प्रतिनिधि केदार लिंग, गंगाधर लिंग, शिवशंकर लिंग सहित डोली प्रभारी अरविंद शुक्ला, पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष चंडी प्रसाद भट्ट,दर्जाधारी अजेंद्र अजय एवं देवस्थानम बोर्ड के अधिकारी- कर्मचारी क्रमश सहायक अभियंता गिरीश देवली, आरसी तिवारी, राजकुमार नौटियाल, यदुवीर पुष्पवान, विपिन कुमार, पुप्कर सिंह रावत, प्रेम सिंह रावत , देवी प्रसाद तिवारी,विजय लक्ष्मी पुष्पवान,पूनम राणा,उषा भट्ट, एवं बड़ी संख्या में श्रद्धालुजन, तीर्थ पुरोहित स्थानीय पंचगाई प्रतिनिधि मौजूद रहे। देवस्थानम बोर्ड के मीडिया प्रभारी डा.हरीश गौड़ ने बताया कि श्री केदारनाथ भगवान की पंचमुखी डोली के शीतकालीन गद्दी स्थल श्री ओंकारेश्वर मंदिर उखीमठ में विराजमान होते ही भगवान केदारनाथ जी की शीतकालीन पूजा भी शुरू हो गयी है। इसी तरह तृतीय केदार तुंगनाथ जी की शीतकालीन पूजा शीतकालीन गद्दीस्थल श्री मार्कंडेय मंदिर मक्कूमठ में संचालित हो रही है द्वितीय केदार श्री मद्महेश्वर जी के कपाट 22नवंबर को बंद हो जायेंगे। श्री मद्महेश्वर जी की उत्सव डोली 25 नवंबर को श्री ओंकारेश्वर मंदिर उखीमठ पहुंचेगी। परंपरागत रूप से इसी दिन श्री मद्महेश्वर मेला आयोजित होता है। शीतकाल हेतुश्री केदारनाथ धाम, श्री गंगोत्री श्री यमुनोत्री धाम के कपाट बंद हो चुके है जबकि श्री बदरीनाथ धाम के कपाट 20 नवंबर को बंद हो जायेंगे। अभी तक चार लाख पैसठ हजार से अधिक तीर्थयात्री चारधाम पहुंच गये है।

बातें कम-काम ज्यादा’ गीत का सीएम पुष्कर सिंह धामी ने किया विमोचन

देहरादून। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने सोमवार को मुख्यमंत्री आवास में ‘‘बातें कम-काम ज्यादा’’ गीत का विमोचन किया। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी की कार्यशैली, व्यवहार, आचार-विचार, युवा जोश, सकारात्मक सोच एवं उनके द्वारा किये जा रहे विकास कार्यों पर आधारित गीत ‘‘बातें कम-काम ज्यादा’’ को यू-ट्यूब पर लॉंन्च किया गया। मुख्यमंत्री ने कहा कि इस गीत के माध्यम से सरकार द्वारा किये जा रहे विभिन्न कार्यों एवं समाज के हर वर्ग को ध्यान में रखकर जो प्रयास किये जा रहे हैं, इनका समावेश कर गीत के रूप में प्रस्तुत करने का सराहनीय प्रयास किया गया है। हिन्दी भाषा में तैयार किये गये इस गीत की निर्माता सावित्री बसेड़ा, निर्देशक डी.एस. बिष्ट व रिकॉर्डिंग/मास्टरिंग/मिक्सिंग का कार्य पवन गुसांई द्वारा किया गया है। इस गीत में संगीत राकेश भट्ट द्वारा दिया गया है तथा भूपेन्द्र बसेड़ा, मनोज सिंह सामन्त, भगत मेहता, सोनम एवं राजलक्ष्मी एवं अन्य साथी कलाकारों द्वारा इस गीत को संयुक्त रूप से स्वर प्रदान किया गया है। गीत के विमोचन के अवसर विधायक देशराज कर्णवाल, गीत से जुड़े हुये बी.बी. इंटरटेनमेंट की टीम एवं गीत निर्माण में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाले कलाकार उपस्थित थे।

गंगा टास्क फोर्स की मशाल यात्रा त्रिवेणी घाट पहुंची

ऋषिकेश। गंगा टास्क फोर्स की मशाल यात्रा आज तीर्थ नगरी के त्रिवेणी घाट पर पहुंची। जहां पर कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि उत्तराखंड विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल सहित उपस्थित लोगों ने गंगा मशाल का भव्य स्वागत किया।नमामि गंगे अभियान के तहत गंगा की स्वच्छता के प्रति लोगों को जागरूक करने के लिए मशाल यात्रा निकाली जा रही है, प्रादेशिक सेना की एक बटालियन मशाल को लेकर गंगा के 23 तटीय क्षेत्रों की यात्रा कर रही है। 3 नवंबर को दिल्ली में गंगा उत्सव कार्यक्रम समापन के उपरांत केंद्रीय कानून एवं न्याय मंत्री किरण रिजिजू ने गंगा मशाल यात्रा को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया था। गंगा के धार्मिक महत्व वाले 23 तटीय क्षेत्रों में मशाल यात्रा का पड़ाव निर्धारित किया गया है जिसके चलते आज गंगा मशाल यात्रा ऋषिकेश के त्रिवेणी घाट पर पहुंची है। त्रिवेणी घाट पर आयोजित मशाल यात्रा कार्यक्रम के दौरान उत्तराखंड विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल ने दीप प्रज्वलित कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया।मशाल यात्रा के दौरान मेरी गंगा मेरी शान का नारा उद्घोषित होता रहा। इस अवसर पर विधानसभा अध्यक्ष ने कहा कि मशाल यात्रा से गंगा की स्वच्छता एवं निर्मलता को बनाए रखने के लिए जागरूक किए जाने का सबसे अच्छा तरीका है। श्री अग्रवाल ने कहा की गंगा भारत में पवित्र मानी जाती है तथा इसकी उपासना माँ और देवी के रूप में की जाती है। उन्होंने कहा कि गंगा, पर्यावरण तथा संस्कृति का संरक्षण हमारे देश के विकास के लिए आधार स्तंभ है।कहा कि हमारे जीवन में गंगा की पवित्रता सर्वाेपरि है। यह शिक्षा देती है कि हमारा मस्तिष्क, वचन और कर्म गंगा जल की तरह पवित्र होने चाहिए। श्री अग्रवाल ने कहा की गंगा को केवल एक नदी के रूप में देखना उचित नहीं होगा। गंगा भारतीय संस्कृति की जीवन रेखा है तथा आध्यात्मिकता और श्रद्धा की वाहक है। गंगा को स्वच्छ रखना, पर्यावरण संरक्षण करना और अपनी संस्कृति को समृद्ध बनाना केवल सरकार का कर्तव्य नहीं है, बल्कि सभी नागरिकों की निजी जिम्मेदारी है। इस सोच को देशव्यापी स्तर पर अपनाया जाना चाहिए और फैलाना चाहिए। इस अवसर पर जिला विकास अधिकारी सुशील डोभाल, लेफ्टिनेंट कर्नल के ए प्रभु, मेजर एलएन जोशी, नमामि गंगा के उप निदेशक सुनील कुमार, पर्यावरणविद विनोद शुक्ला, सूबेदार सर्वेश तिवारी, सूबेदार शिवेन सिंह, गंगा सभा ऋषिकेश के राहुल शर्मा, राजीव थपलियाल, नायक क्रांति सिंह सहित अन्य लोग उपस्थित थे।

मुख्यमंत्री से मिले गायक दलेर मेहंदी

देहरादूना। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी से सोमवार को मुख्यमंत्री आवास में गायक दलेर मेहंदी ने भेंट की। मुख्यमंत्री ने दलेर मेंहदी को युवाओं का प्रेरणा स्रोत बताते हुए कहा कि उनकी गायकी समाज में जन जागरण के साथ ही सामाजिक सद्भाव को भी बढ़ावा देने का कार्य करती है। उन्होंने मेहंदी को शॉल भेंट कर सम्मानित भी किया। दलेर मेंहदी ने हेमकुंड साहिब को रोपवे से जोड़े जाने की योजना के लिये प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी एवं मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी का आभार व्यक्त किया। गायक दलेर मेहंदी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने हमारे दसवें गुरु गुरु गोविन्द सिंह’ की तपस्थली ’हेमकुंड साहेब’ को रोपवे से जोड़े जाने की बहुत बड़ी घोषणा की है जो मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के सहयोग से ही संभव हो पाया है। उन्होंने इसके लिए पूरे सिक्ख समाज की ओर से प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी का दिल से आभार प्रकट किया। दलेर मेहंदी ने गुरू नानक महाराज से प्रधानमंत्री एवं मुख्यमंत्री की अच्छी सेहत और लम्बी उम्र प्रदान करने की भी प्रार्थना की। उन्होंने कहा कि इन दोनों के द्वारा यह बड़ा पुण्य का काम हुआ है। रोपवे शुरू होने से हेमकुंड साहिब की यात्रा और सुगम हो जाएगी। हमारे बच्चों, बुजुर्गों एवं असहाय व्यक्तियों को इसका विशेष लाभ मिलेगा और वे सुगमता से हेमकुंड साहिब की यात्रा कर सकेंगे।

पर्यटन मंत्री ने की साहसिक शिखर सम्मेलन की तैयारियों की समीक्षा

देहरादून। उत्तराखंड में साहसिक पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए रामनगर में दिसंबर माह में होने वाले साहसिक शिखर सम्मेलन की तैयारियों की पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज ने सोमवार को गढ़ी कैंट स्थित उत्तराखंड पर्यटन विकास परिषद (यूटीडीबी) के सभागार में विभागीय अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की। पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज ने कहा कि इस आयोजन में साहसिक पर्यटन से जुड़े स्थानीय हितधारकों को भी आमंत्रित किया जाएगा। पर्यटन समिट के आयोजन से भीमताल, ऋषिकेश, रामनगर, उत्तरकाशी, चमोली, पिथौरागढ़ समेत अन्य साहसिक पर्यटन गंतव्यों के हित धारकों और टूर ऑपरेटर्स को फायदा मिलेगा। उन्होंने कहा कि सरकार का मकसद साहसिक पर्यटन के क्षेत्र में अवस्थापना विकास पर जोर देते हुए स्थानीय युवाओं को आर्थिक रूप से मजबूती प्रदान करना है। उन्होंने राफ्टिंग, पैराग्लाइडिंग, माउंटनेयरिग, ट्रैकिंग समेत अन्य क्षेत्रों से जुड़ी संस्थाओं से समिट में शिरकत करने का आह्वान किया।

Featured Post

टिकट न मिलेन पर भाजपा नेताओं पर लगाया दगाबाजी का आरोप

देहरादून। उत्तराखंड विधानसभा चुनाव के लिए टिकट बंटवारे में भाजपा ने 10 नेताओं के टिकट काटे हैं। उनमें से कुछ ने बगावत कर दी है। कर्णप्रयाग व...