Tuesday, 22 November 2022

गोवा अंतर्राष्ट्रीय फिल्म फेस्टिवल में उत्तराखंड स्टेट फोकस सेमिनार का आयोजन

गोवा/देहरादून। 53वंे अन्तर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव में मंगलवार को नॉलेज सीरीज का आयोजन किया गया। नॉलेज सीरीज में उत्तराखंड में फ़िल्म शूटिंग को लेकर चर्चा की गई। कार्यक्रम शुरू होने से पहले विशेष प्रमुख सचिव सूचना अभिनव कुमार ने उत्तराखंड की पारंपरिक पहाड़ी टोपी और अंग वस्त्र भेंट कर चर्चा में प्रतिभाग कर रहे विषय विशेषज्ञों का स्वागत किया। इस अवसर पर अध्यक्ष केंद्रीय फ़िल्म प्रमाणन बोर्ड प्रसून जोशी, प्रवेश साहनी, संस्थापक इंडिया टेक वन प्रोडक्शन, विशेष प्रमुख सचिव सूचना उत्तराखंड सरकार अभिनव कुमार सिंह मुख्य वक्ता के तौर पर उपस्थित रहे, जबकि सुश्री लोहिता सुजीत, सीनियर डॉयरेक्टर कॉपी राइट-डिजिटल इकॉनमी मोशन पिक्चर असोसिएशन द्वारा संचालन किया गया। मुख्य वक्ता के तौर पर अध्यक्ष केंद्रीय फ़िल्म प्रमाणन बोर्ड प्रसून जोशी ने कहा कि उत्तराखंड में शूटिंग के लिये अनुकूल माहौल है। उन्होंने कहा कि इस क्षेत्र में युवाओं को दिशा देने के साथ ही सिनेमोग्राफी, स्क्रिप्ट लेखन के साथ ही अन्य फिल्म कलाओं में भी आगे बढ़ना है। उन्होंने कहा कि फिल्म निर्माताओं को यह देखने के साथ कि वे उत्तराखंड में क्या कर सकते हैं, यह भी देखें कि उत्तराखंड के कलाकार और अन्य लोग फ़िल्म उद्योग में क्या योगदान दे सकते हैं। श्री जोशी ने कहा कि उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी उत्तराखंड को फ़िल्म डेस्टिनेशन के रूप में विकसित करने के लिए कार्य कर रहे है। उन्होंने कहा कि उत्तराखंड का संगीत, कला, एयर, संस्कृति सबसे अलग है। प्रवेश साहनी, संस्थापक इंडिया टेक वन प्रोडक्शन ने कहा कि सभी राज्यों को विदेशी फिल्म निर्माताओं को आकर्षित करने के लिए अधिक प्रयास करने होंगे। फ़िल्म निर्माण में इंफ्रास्ट्रक्चर पर विशेष ध्यान देने की जरूरत है। विशेष प्रमुख सचिव सूचना अभिनव कुमार बताया कि मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी के निर्देश पर फ़िल्म नीति में काफी संशोधन किए जा रहे है। मुख्यमंत्री श्री धामी उत्तराखंड में फ़िल्म निर्माण को युवाओं के रोजगार से जोड़ना चाहते हैं। फिल्म सिटी की स्थापना की दिशा में कार्य शुरु किया गया है। फिल्म सिटी चयन के लिए उपयुक्त भूमि की तलाश हेतु जिलाधिकारियों को पत्र लिखा गया है। फ़िल्म निर्माता और निर्देशकों को हर संभव सहायता दी जा रही है। राज्य में नई फिल्म लोकेशन, क्षेत्रीय फिल्मों को बढ़ावा देने और फिल्म और क्रिएटिव आर्ट संस्थान विकसित करने पर भी सरकार का विशेष फोकस है। उन्होंने कहा कि गढ़वाली कुमाऊनी सहित उत्तराखंड की क्षेत्रीय बोली भाषा में फिल्म निर्माण को प्रोत्साहन देना सर्वाेच्च प्राथमिकता है। सेशन में उपस्थित दर्शकों में कई फिल्म निर्माताओं ने उत्तराखंड में फिल्म शूटिंग और नीति पर विशेष प्रमुख सचिव अभिनव कुमार से कई प्रश्न पूछे। कुछ प्रश्न नेशनल पार्क में वन विभाग की अनुमतियों को लेकर भी थे जिस पर विशेष प्रमुख सचिव ने नीति की व्यवस्था के बारे में बताया। कुछ प्रश्न फिल्म सिटी और स्थानीय फ़िल्म संस्थान को लेकर थे। विशेष प्रमुख सचिव ने सभी प्रश्नों का उत्तर देते हुए कहा कि सरकार सभी सकारात्मक सुझावों का स्वागत करती है। इस अवसर पर उप निदेशक/नोडल अधिकारी उत्तराखण्ड फिल्म विकास परिषद डॉ. नितिन उपाध्याय भी उपस्थित थे।

कैम्पटी क्षेत्र के सुनियोजित विकास को इसे नगरपंचायत बनाया जाएगाः सीएम धामी

देहरादून। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने मंगलवार को कैम्पटी में खेलकूद एवं सांस्कृतिक मेले में प्रतिभाग किया। मुख्यमंत्री ने कैम्पटी में लगने वाले इस मेले के लिए 02 लाख रुपए का अनुदान देने की घोषणा की। उन्होंने कहा कि कैम्पटी क्षेत्र के सुनियोजित विकास के लिए इसे नगर पंचायत बनाने की दिशा में प्रयास किए जाएंगे। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि मेलों की सांस्कृतिक धरोहरों को बचाए रखने में महत्वपूर्ण भूमिका होती है। उत्तराखण्ड में गौचर एवं जौलजीवी मेला अंतर्राष्ट्रीय महत्व के मेले हैं। कैम्पटी क्षेत्र पर्यटन की दृष्टि से महत्वपूर्ण क्षेत्र है। राज्य में पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए राज्य सरकार द्वारा निरंतर प्रयास किए जा रहे हैं। बागवानी एवं जल विद्युत परियोजनाओं के क्षेत्र में भी राज्य में अनेक संभावनाएं हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि उत्तराखण्ड को 2025 तक देश के श्रेष्ठ राज्यों की श्रेणी में लाने के लिए राज्य सरकार प्रयासरत है। सभी प्रदेशवासियों के सहयोग से उत्तराखण्ड को हर क्षेत्र में अग्रणी राज्य बनाया जायेगा। उन्होंने कहा कि लाल बहादुर शास्त्री अकादमी में आयोजित चिंतन शिविर में उत्तराखंड को देश का अग्रणी राज्य बनाने की दिशा में मंथन चल रहा है। अधिकारियों को इसके लिए सुनियोजित योजना बनाने के लिए कहा गया है। अन्य राज्यों में जो अच्छे कार्य हो रहे हैं, अधिकारियों को निर्देश दिए गए हैं कि उत्तराखण्ड की भौगोलिक परिस्थितियों के हिसाब से ऐसे कुछ कार्यों को राज्य में बेस्ट प्रैक्टिस के रूप में अपनाया जाय। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में देश हर क्षेत्र में तेजी से प्रगति कर रहा है। वैश्विक स्तर पर भारत का मान, सम्मान एवं स्वाभिमान बढ़ा है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बाबा केदार की भूमि से कहा कि 21वीं सदी का तीसरा दशक उत्तराखंड का दशक होगा। इस बार चारधाम यात्रा में लगभग 50 लाख से अधिक श्रद्धालुओं ने दर्शन किए। इस अवसर पर विधायक प्रीतम सिंह पंवार, क्रीडा समारोह के अध्यक्ष वीरेन्द्र सिंह पंवार, मसूरी के पूर्व नगर पालिका अध्यक्ष मनमोहन सिंह मल, ब्लॉक प्रमुख जौनपुर सीता रावत, क्रीडा समिति के संयोजक राजेश नौटियाल, जिलाधिकारी टिहरी सौरभ गहरवार, एसएसपी नवनीत सिंह भुल्लर एवं अन्य गणमान्य उपस्थित थे।

टीएचडीसीआईएल ने राइज इन प्रदर्शनी गाजियाबाद में स्टाल का किया प्रदर्शन

ऋषिकेश,गढ़ संवेदना न्यूज। टीएचडीसी इंडिया लिमिटेड द्वारा 22 से 24 नवंबर तक गाज़ियाबाद, उत्तर प्रदेश में आज़ादी का अमृत महोत्सव के अंतर्गत आयोजित राईज इन उत्तर प्रदेश प्रदर्शनी भाग लिया गया। उक्त प्रदशनी में टीएचडीसीआईएल के केन्द्रीय संचार विभाग, ऋषिकेश द्वारा एक आकर्षक स्टाल प्रदर्शित किया गया। टीएचडीसीआईएल भारत की अग्रणी विद्युत उत्पादन कंपनियों में से एक है। टिहरी बांध एवं एचपीपी (1000मेगावाट), कोटेश्वर एचईपी(400 मेगावाट), गुजरात के पाटन में 50 मेगावाट एवं द्वारका में 63 मेगावाट की पवन विद्युत परियोजनाओं, उत्तर प्रदेश के झांसी में 24 मेगावाट की ढुकवां लघु जल विद्युत परियोजना एवं कासरगॉड केरल में 50 मेगावाट की सौर परियोजना के साथ टीएचडीसीआईएल की कुल संस्थापित क्षमता 1587 मेगावाट हो गई है।

डी.पी.एल. कप विजेता ऊर्जा पावर पैंथर्स की टीम ने की खेल मंत्री से मुलाकात

देहरादून,गढ़ संवेदना न्यूज। डिपार्टमेंटल क्रिकेट डेवलपमेंट कमेटी ऑफ उत्तराखंड द्वारा आयोजित प्रथम डिपार्टमेंटल प्रीमियर लीग के विजेता ऊर्जा पावर पैंथर्स की टीम ने आज खेल मंत्री रेखा आर्य से शिष्टाचार भेंट कर प्रतियोगिता के आयोजन में उनके सहयोग हेतु आभार प्रकट किया। इस अवसर पर खेल मंत्री रेखा आर्य ने पावर पैंथर्स की टीम को प्रथम डीपीएल कप जीतने पर बधाई एवं शुभकामनाएं दी। साथ ही रेखा आर्य ने यह आश्वासन भी दिया कि भविष्य में इस प्रकार के आयोजनों में उनके स्तर से हर संभव सहायता दी जाएगी। इस अवसर पर ऊर्जा पावर पैंथर्स की टीम के सदस्यों ने खेल मंत्री को भरोसा दिलाया कि वे उत्तराखंड की नई पीढ़ी को खेलों के क्षेत्र में और आगे बढ़ाने एवं छिपी हुई प्रतिभाओं को तराशने में खेल विभाग का हर संभव सहयोग करेंगे। खेल मंत्री से भेंट करने वालों में ऊर्जा पावर पैंथर्स क्रिकेट टीम के कप्तान किरण सिंह, विमल डबराल, मुकेश कुमार, दीपक मधवाल, गौरव घिल्डियाल दारा, रवि बृजमोहन आदि शामिल थे।

हरीश रावत की हरिद्वार जोड़ो यात्रा भाजपा के लिए खतरे की घंटीः धीरेंद्र प्रताप

देहरादून, गढ़ संवेदना न्यूज। उत्तराखंड कांग्रेस के उपाध्यक्ष धीरेंद्र प्रताप ने कहा है कि आज से हरिद्वार में उदलहेड़ी से उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत के नेतृत्व में हुई भारत जोड़ो हरिद्वार जिंदाबाद यात्रा भाजपा के लिए खतरे की घंटी है है। धीरेंद्र प्रताप जो आज कांग्रेस अध्यक्ष करण माहरा, नेता प्रतिपक्ष यशपाल आर्य कांग्रेस के राष्ट्रीय सचिव काजी निजामुद्दीन विधायक विजय जाति ,ममता राकेश, अनुपमा रावत, रवि बहादुर, फुरकान अहमद, विजय सारस्वत, नवीन जोशी, हाजी राव मुन्ना राजीव चौधरी मकबूल कुरेशी पीके अग्रवाल आदि नेताओं के साथ इस यात्रा में शरीक हुए कहा कि जिस तरह से भारी भीड़ इस यात्रा में जुटी और रास्ते में जगह-जगह गांव में इस यात्रा का जनता द्वारा स्वागत हुआ उसे स्पष्ट है जनता भाजपा राज से आजिज आ चुकी है और जब भी चुनाव होंगे भाजपा का राज्य से सूपड़ा साफ हो जाएगा। धीरेंद्र प्रताप ने कहा हरीश रावत आज भी जनता के आकर्षण के केंद्र बने हुए हैं उन्होंने कल देहरादून में कांग्रेस नेता प्रीतम सिंह की यात्रा को भी ऐतिहासिक बताया और कहा कांग्रेस की राज्य भर में लहर चल रही है और लोकसभा चुनाव भाजपा के लिए बाटरलू साबित होंगे।

Monday, 21 November 2022

राजमिस्त्री की पीट-पीटकर हत्या, तीन के खिलाफ मामला दर्ज

हरिद्वार। मकान बनाने के पैसे मांगने पर रुड़की तहसील में तैनात एक पटवारी, उसके भाई और बेटे ने राजमिस्त्री को कमरे में बंद कर बुरी तरह पीटा। घायल होने पर राजमिस्त्री की हालत बिगड़ गई। मजदूरों की सूचना पर स्वजन ने राजमिस्त्री को गंभीर हालत में अस्पताल पहुंचाया, जहां डाक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। राजमिस्त्री के चाचा की शिकायत पर पुलिस ने पटवारी सहित तीनों आरोपितों के खिलाफ गैर इरादतन हत्या का मुकदमा दर्ज किया है। जांच कर आरोपितों की तलाश शुरू कर दी गई है। पिरान कलियर के गुम्मावाला माजरी गांव निवासी गुलशेर राजमिस्त्री का काम करता था। कुछ दिन पहले गुलशेर ने रुड़की तहसील में तैनात पटवारी धर्मेंद्र यादव के मकान का कार्य सुभाषनगर ज्वालापुर में ठेके पर लिया था। आरोप है कि काफी काम होने के बावजूद पटवारी पैसे नहीं दे रहा था, जिसे लेकर गुलशेर काफी दिनों से परेशान था। बीती नौ नवंबर को गुलशेर रोजाना की तरह मजदूरों के साथ काम करने पटवारी धर्मेंद्र के घर गया था। दोपहर में मजदूरों ने गुलशेर के चाचा अब्बास को फोन कर बताया कि पैसे मांगने पर धर्मेंद्र, उसके बेटे और भाई ने गुलशेर को कमरे में बंद कर पिटाई की है। आनन-फानन में गुलशेर के स्वजन सुभाषनगर पहुंचे और अधमरी हालत में उसे अस्पताल पहुंचाया, वहां डाक्टरों ने गुलशेर को मृत घोषित कर दिया। पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम भी कराया था। रिपोर्ट आने पर पिटाई के चलते मौत की बात सामने आई। ज्वालापुर कोतवाली प्रभारी आरके सकलानी ने बताया कि राजमिस्त्री गुलशेर के चाचा अब्बास की तहरीर पर पटवारी धर्मेंद्र यादव व उसके बेटे और भाई दोनों अज्ञात के खिलाफ गैर इरादतन हत्या का मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। छानबीन कर जल्द ही आरोपितों को गिरफ्तार किया जाएगा। राजमिस्त्री को कमरे में बंद कर बेरहमी से पीटने के बाद जब उसकी हालत बिगड़ गई तो आरोपित घबरा गए। फंसने के डर से उन्होंने साक्ष्य मिटाने का प्रयास किया। पुलिस जब मौके पर पहुंची तो देखा कि सीसीटीवी कैमरा हटा दिया गया था। बाकी सच्चाई पोस्टमार्टम रिपोर्ट में सामने आ गई। ज्वालापुर कोतवाली प्रभारी आरके सकलानी ने इसकी पुष्टि करते हुए बताया कि पीएम रिपोर्ट में पिटाई के चोटों के कारण मौत की बात सामने आई है।

बार काउंसिल के पदाधिकारियों ने की सीएम धामी से भेंट

देहरादून। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी से सोमवार को मुख्यमंत्री कैम्प कार्यालय में बार काउंसिल ऑफ उत्तराखंड के पदाधिकारियों ने भेंट की। इस अवसर पर उन्होंने बार काउंसिल के लिए कार्यालय एवं प्रदेश के वकीलों के लिए वेलफेयर स्कीम के लिए मांग पत्र दिया। मुख्यमंत्री ने कहा की इन मांगों पर सरकार द्वारा हर संभव सहयोग दिया जायेगा।बार काउंसिल ऑफ उत्तराखण्ड के पदाधिकारियों द्वारा हाईकोर्ट के हल्द्वानी शिफ्टिंग पर कैबिनेट की सहमति की सराहना भी की गई। इस अवसर पर बार काउंसिल ऑफ उत्तराखण्ड के अध्यक्ष मनमोहन लांबा, सदस्य योगेन्द्र तोमर, चंद्रशेखर तिवारी, सुरेन्द्र पुंडीर एवं राजबीर बिष्ट उपस्थित थे।

जनसुनवाई कार्यक्रम में डीएम ने सुनीं जन शिकायतें, 82 शिकायतें हुई दर्ज

देहरादून। जिलाधिकारी सोनिका की अध्यक्षता में ऋषिपर्णा सभागार कलेक्ट्रेट में जनसुनवाई का आयोजन किया गया। जनसुनवाई में 82 शिकायतें प्राप्त हुईं, जिनमें अधिकतर शिकायत भूमि एवं अतिक्रमण सम्बन्धी प्राप्त हुई। इसके अतिरिक्त पेंशन, रोजगार दिलाने, भरण पोषण, सड़क मरम्मत, वित्तीय धोखाधड़ी, पैनल्टी माफ कराने, सड़क निर्माण, नाली निर्माण एवं सफाई, नालियों में गोबर डाले जाने, आपसी विवाद, प्रधानमंत्री आवास योजना के अन्तर्गत मकान दिलवाने, विद्यालय एवं आंगनबाडी़ केन्द्र का निर्माण आदि शिकायतें प्राप्त हुई। जनसुनवाई में जिलाधिकारी ने समस्त उप जिलाधिकारियों एवं तहसीलदारों को अपने स्तर भूमि स्सम्बन्धी शिकायतों/समस्याओं की समीक्षा करते हुए निराकरण करने के निर्देश दिए। साथ क्षेत्र अवैध गतिविधियों की शिकायतों पर त्वरित कार्यवाही करने के निर्देश समस्त उप जिलाधिकारियों एवं पुलिस के अधिकारियों को दिए। उन्होंनें सम्बन्धित समस्त विभागों के अधिकारियों को निर्देशित किया जनसुनवाई में प्राप्त हो रही शिकायतों का प्राथमिकता से निराकरण करे तथा अपने स्तर पर निराकरण की समीक्षा करते हुए शिकायतकर्ता को भी अवगत कराए। सड़क निर्माण, नाली निर्माण के शिकायत पर लोक निर्माण विभाग एवं नगर-निगम को त्वरित कार्यवाही करने को निर्देशित किया। जिलाधिकारी ने नदी नालों पर अतिक्रमण किये जाने की शिकायतों पर त्वरित कार्यवाही करते हुए अवैध अतिक्रमण चिन्हित कर ध्वस्त किए जाने के निर्देश दिए। आज जनसुनवाई में शिकायतकर्ता द्वारिका रावत तपोवन द्वारा भरण पोषण भत्ता दिलवाये जाने, मुन्तहा जहीद तिमली विकासनगर में भूमि अतिक्रमण, सुन्दरलाल जोशी जगतपुर खादर भूमि दाखिला खारिज न होने, दिव्यांग मोहन लाल अरोड़ा हरिपुर ऋषिकेश द्वारा रोजगार दिलाने, मनोहर सिंह तोमर कारगी द्वारा नगर निगम के नाले से अतिक्रमण हटाने, आशीष ग्राम बादामवाला विकासनगर द्वारा ग्राम समाज की भूमि से अतिक्रमण किये जाने, सीपीएम के प्रतिनिधियों द्वारा साभावाला विकासनगर विकासनगर में भूमाफियाओं द्वारा सरकारी भूमि पर अतिक्रमण किए जाने की शिकायत की गई। इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी झरना कमठान, नगर मजिस्ट्रेट कुश्म चौहान, पुलिस अधीक्षक क्राइम मिथिलेश, निदेशक ग्राम्य विकास अभिकरण आर सी तिवारी, जिला विकास अधिकारी सुशील मोहन डोभाल, अधि0अभि0 सिंचाई राजेश लांबा, अधि0अभि लो.नि.वि डी.सी नौटियाल, सहायक निदेशक सूचना बी.सी नेगी, जिला कार्यक्रम अधिकारी बाल विकास अखिलेश मिश्रा, सहित विद्युत, पेयजल निगम, जल संस्थान, समाज कल्याण, खाद्य विभाग सहित सम्बन्धित विभागों के अधिकारी उपस्थित रहे तथा समस्त उप जिलाधिकारी वर्चुअल माध्यम से जुड़े रहे।

महाराज ने तीन दिन में अपने विधानसभा क्षेत्र को दी 36 करोड की योजनाओं की सौगात

सतपुली (पौड़ी)। प्रदेश सरकार शीतकालीन पर्यटन को बढ़ावा देने का हर संभव प्रयास कर रही है। टूरिज्म के क्षेत्र में उत्तराखंड को बेस्ट टूरिज्म का अवार्ड मिला है जो कि हमारे लिए गर्व की बात है। इस वर्ष चार धाम यात्रा पर 46 लाख से अधिक यात्री उत्तराखंड आये। कोरोना काल जो भी घटा हुआ था उसकी भरपाई लगभग हो चुकी है। उक्त बात प्रदेश के लोक निर्माण, पर्यटन, सिंचाई, पंचायतीराज, ग्रामीण निर्माण, जलागम, धर्मस्व एवं संस्कृति मंत्री और चौबट्टाखाल विधायक सतपाल महाराज ने अपने विधानसभा क्षेत्र भ्रमण के तीसरे दिन सोमवार को राजकीय इंटर कॉलेज, सतपुली और राजकीय इंटर कॉलेज रीठाखाल में आयोजित कार्यक्रमों में लोगों को संबोधित करते हुए कहा कही। इसमें 3 दिन के विधानसभा क्षेत्र प्रवास के दौरान उन्होंने लगभग 36 करोड की लागत की योजनाओं की सौगात अपने क्षेत्र को दी। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार शीतकालीन पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए उत्तराखंड के खानपान के साथ-साथ होमस्टे को बढ़ावा देने का प्रयास कर रही है ताकि अधिक से अधिक पर्यटक यहां आ सकें। प्रदेश के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी चाहते हैं कि हमारी पंचायतें मजबूत हो इसके लिए हम जिला पंचायत अध्यक्ष और क्षेत्र पंचायत प्रमुख का प्रत्यक्ष चुनाव के लिए कार्य कर रहे हैं ताकि भ्रष्टाचार और खरीद-फरोख्त को खत्म किया जा सके। श्री महाराज ने कहा कि कोरोना काल में हम सभी प्रभावित हुए हैं। लोग सोचते थे कि इसका इलाज संभव हो पाएगा या नहीं? लेकिन प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के प्रयासों से देश में कोरोना वैक्सीन तैयार की गई जिससे सभी का इलाज संभव हो पाया। इतना ही नहीं हमने अन्य गरीब देशों को भी अपने यहां निर्मित कोरोना वैक्सीन मुफ्त पहुंचा कर उनकी मदद की। पहले कभी जब इस प्रकार की महामारी हमारे देश में हुआ करती थी तो उसकी वैक्सीन विदेशों से आने में 7- 8 साल लग जाते थे लेकिन प्रधानमंत्री मोदी जी ने कोरोना वैक्सीन को भारत में तैयार करवा कर देश के लोगों के साथ-साथ दुनिया के देशों को भी वैक्सीन उपलब्ध करवाई, जो कि हमारे लिए गर्व की बात है। कैबिनेट मंत्री और चौबट्टाखाल विधायक सतपाल महाराज ने कार्यक्रम के दौरान सोमवार को 1282.45 लाख की धनराशि की योजनायें अपने क्षेत्र को दी उन्होने सतपुली में 352.53 लाख की लागत से बनने वाली बहुप्रतीक्षित कार पार्किंग और 281.06 लाख की धनराशि से निर्मित होने वाले बहुमंजिला शॉपिंग कॉपलेक्स व सभागार का शिलान्यास किया तो वहीं दूसरी ओर व्यास घाट में 476.57 लाख की लागत से बनने वाले 40 शय्याओं वाले पर्यटक आवास गृह जैसी बड़ी योजनाओं का शिलान्यास किया। उन्होंने चौमासूधार में 109.66 लाख लिफ्ट निर्माण योजना का लोकार्पण करने के अलावा राजकीय इंटर कॉलेज रीठाखाल में 62.63 लाख की लागत के साइंस लैब आर्ट एंड क्राफ्ट रूम का शिलान्यास भी किया। इस अवसर पर भाजपा युवा मोर्चा प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य सुयश रावत, नव नियुक्त जिला अध्यक्ष सुषमा रावत, मण्डल अध्यक्ष बृजमोहन, सतपुली नगर पंचायत अध्यक्ष अंजना वर्मा, वरिष्ठ भाजपा नेता वेद प्रकाश वर्मा, बबीता रावत, ऐकेश्वर भाजपा मंडल अध्यक्ष सत्यराज सिंह, उपेन्द्र नेगी, युवा मोर्चा अध्यक्ष यशराज, महिला मोर्चा मंडल अध्यक्ष शकुन्तला, दिगम्बर रावत, अशोक बुडाकोटी, राजेन्द्र रावत, विनोद घिल्डियाल, विद्यालय के प्रधानाचार्य हेम चन्द्र केष्टवाल, भा.ज.पा. के शक्ति केन्द्र संयोजक सुरेन्द्र सिंह रावत, जगदम्बा ध्यानी, देवेन्द्र, सतीश, भारत सिंह, श्रीमदत्त कुकरेती, चिरंजीविलाल, वरिष्ठ भा.ज.पा. नेता अनिल समस्त जनप्रतिनिधी, प्रधान, क्षेत्र पंचायत सदस्य भाजपा के कार्यकर्ता उपस्थित रहे।

पुनर्विचार याचिका की मंजूरी पर भाजपा ने जताया एलजी का आभार

देहरादून। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र भट्ट ने छावला प्रकरण को लेकर सुप्रीम कोर्ट में पुनर्विचार याचिका की मंजूरी देने के लिए दिल्ली के उप राज्यपाल का आभार व्यक्त किया है। उन्होंने उम्मीद जताते हुए कहा, इस पुनिर्विचार याचिका व केंद्रीय गृह मंत्रालय से समन्वय बनाते हुए मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के प्रयासों के बाद उत्तराखंड की बेटी के दोषियों को कठोरतम सजा दिलाने का मार्ग अधिक प्रशस्त हुआ है। उन्होंने राष्ट्रीय मीडिया प्रमुख राज्यसभा सांसद अनिल बलूनी के प्रयास को भी सरहानीय बताते हुए कहा कि पीड़िता के माता पिता के साथ उप राज्यपाल को मिलकर सही स्थिति से अवगत करने पर उनका प्रयास फलीभूत हुआ। प्रदेश अध्यक्ष ने इस दुखद प्रकरण को लेकर हुई कार्यवाही पर जारी अपने बयान में पुनर्विचार याचिका स्वीकार करने के साथ ही इस केस में सोलिसेटर जनरल तुषार मेहता व अपर सोलिसेटर जनरल ऐश्वर्या भाटी की नियुक्ति के लिए दिल्ली के उपराज्यपाल विनय सक्सेना का धन्यवाद किया है। उन्होंने उम्मीद जताई, पीड़ित पक्ष की तरफ से पैरवी करने वाली टीम में सुप्रीम कोर्ट के वरिष्ठतम वकीलों के शामिल होने से पिछले निर्णय में सामने आई खामियों को दूर करने में मदद मिलेगी द्य इस प्रकरण में सीएम धामी ने जिस तत्परता से केंद्रीय गृह राज्य मंत्री व पैरवी करने वाली वकीलों की टीम से बातचीत कर राज्य की बेटी को न्याय दिलाने की कोशिशों को तेज किया है वह काबिले तारीफ है द्य उन्होने कहा पीड़िता के परिजनों से मुलाक़ात कर ढाढ़स बंधाना एवं इस केस को लेकर पल पल की मॉनिटरिंग करना भाजपा सरकार की संवेदनशीलता को दर्शाता है द्य उन्होने भरोसा दिलाते हुए कहा कि पीड़िता को न्याय व दोषियों को सजा दिलाने की मुहिम में भाजपा सरकार व संगठन कोई कोर कसर नहीं छोड़ने वाले है।

उत्तराखंड टैलेंट हंट के विजेताओं को किया गया सम्मानित

देहरादून। उत्तराखंड टैलेंट हंट के विजेताओं को मोमेंटो और सर्टिफिकेट देकर सम्मानित किया गया। प्रतियोगिता दो ग्रुप में कराई गई थी जिसमें 10 प्रतिभागियों को विभिन्न कैटेगरी में सम्मानित किया गया जिसमें से एक ग्रुप भी था। सम्मान कार्यक्रम चकराता रोड स्थित गिगल्स क्लब में आयोजित किया गया जिसमें कार्यक्रम की जज रही रक्षीमा तोमर, आचार्य वर्षा माटा , मुक्तेश होंडा एवं क्लब की ओनर नेहा छेत्री ने सभी प्रतिभागियों को मोमेंटो एवं सर्टिफिकेट देकर उनको विजेता घोषित किया। विजेताओं में सिंगिंग में निकुंज ध्यानी , आयशा खान, डांसिंग में अभिनव थापा, धानी शर्मा, एक्टिंग में प्रतीक कुमार, साहिल भारती, पोएट्री में प्रियांश, किंशूक एवं सीनियर ग्रुप की डांसिंग में यशिका जैन आदि मौजूद रहे । जानकारी देते हुए आयोजक समिति से मौके पर मौजूद प्रिया गुलाटी ने कहा कि देहरादून इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल के दौरान आयोजित उत्तराखंड टैलेंट हंट में चुने गए सभी विजेताओं को सर्टिफिकेट एवं मोमेंटो देकर यहां पर सम्मानित किया गया है जिससे कि सभी प्रतिभागियों व विजेताओं में किसी भी प्रकार का कन्फ्यूजन ना रहे। वहीं दूसरी और उन्होंने एक बात स्पष्ट की कार्यक्रम के आयोजकों द्वारा किसी भी प्रतिभागी से एंट्री फीस आदि नहीं ली गई थी। पूरा कार्यक्रम निशुल्क आयोजित किया गया था।

सनातन धर्म का पर्याय है ब्राह्मण समाजः ओपी वशिष्ठ

देहरादून। नगर की एक दर्जन ब्राह्मण संस्थाओं के संयुक्त मंच ब्राह्मण समाज महासंघ की बंजारावाला में हुई मासिक बैठक में महासंघ के संरक्षक पंडित ओ.पी. वशिष्ठ ने कुछ सनातन विरोधियों द्वारा विदेशी ताकतों के इशारे पर चलाए जा रहे धर्मांतरण पर चिंता व्यक्त करते हुए कहा कि आज देश में हिंदू धर्मावलंबियों का प्रतिशत घटकर 70 प्रतिशत रह गया है। देश को राजनेता वोट की तुष्टिकरण के तहत अनुसूचित जाति, जनजाति, अगड़े, पिछड़ों बांट कर देश को तोड़ने में लगे हैं। इस अभियान में सनातन धर्म के पर्याय ब्राह्मण समाज को निशाने पर लिए हुए हैं। निरंतर हर क्षेत्र में ब्राह्मण समाज को बाहर करने की साजिश जारी हैं। ऐसी दशा में ब्राह्मणों को देश में अपनी राजनीतिक पार्टी के गठन का निर्णय लेना पड़ रहा है। हाल ही में गलोबल ब्राह्मण हेल्प डेस्क के संस्थापक श्री गिरिप्रसाद शर्मा, जी द्वारा हैदराबाद के ब्राह्मण भवन में नई राजनीतिक पार्टी ष्भारतीय समाज पार्टीष् लांच की गई है, जो आंध्रा व तेलंगाना के ब्राह्मणों के हितों को सुरक्षित करने की दिशा में चुनाव में अपने प्रत्याशी उतारेगी। देश भर के ब्राह्मणों के साथ उत्तराखंड के ब्राह्मण समाज महासंघ का नैतिक समर्थन रहेगा। बैठक में महासंघ के सभी घटक दलो ने नए ब्राह्मण राजनेतिक संगठन (बसपा) का स्वागत किया तथा तेलंगाना के ब्राह्मणों के इस प्रयास की सराहना की। महासंघ के महामंत्री शशि शर्मा ने ब्राह्मणों को अपनी पहचान कायम करने पर बल देते हुए कहा कि हमें अपने समाज के प्रति दायित्वों का बोध होना चाहिए। आज सनातन को बचाने के लिए फिर से ब्राह्मण समाज पर दायित्व खड़ा हो गया है। समाज के सभी वर्गों को साथ लेकर मतांतरण करने वालों को कड़ा जवाब देना पड़ेगा। वरिष्ठ उपाध्यक्ष पंडित थानेश्वर उपाध्याय ने जन्म दिन, मैरिज एनवरसरी आदि में पाश्चात्य संस्कृति से अपने परिवार व बच्चों को बचाने की अपील की। वरिष्ठ ब्राह्मण नेता पंडित सोमदत्त शर्मा ने कहा कि आज एकता व संख्याबल से ही अपने अधिकारों को हासिल कर सकते हैं। झुकती है दुनिया, झुकाने वाला चाहिए। बैठक की अध्यक्षता पंडित थानेश्वर उपाध्याय ने तथा संचालन डा. वी डी शर्मा ने किया। बैठक में विभिन्न घटक संगठनों के प्रतिनिधियों अरुण कुमार शर्मा, राजेश शर्मा, हरिकृष्ण शर्मा, बी एम शर्मा, उदयभान शर्मा, राजेंद्र शर्मा, सूर्यप्रकाश भट्ट, राजेंद्र व्यास, मनमोहन शर्मा, रूपचंद शर्मा, रामप्रसाद उपाध्याय, पुरुषोत्तम गौतम आदि उपस्थित थे। बैठक में महासंघ के विभिन्न प्रकोष्ठों के गठन के संकल्प व शांतिपाठ के साथ बैठक का समापन हुआ।

सुरेश चन्द जैन की स्मृति में चिकित्सा शिविर का हुआ आयोजन

देहरादून। यूनेस्को क्लब दून वेली सेन्ट्रल देहरादून एवं उत्तराखण्ड जैन समाज जैन रत्न स्व. सुरेश चन्द जैन की स्मृति में निःशुल्क चिकित्सा शिविर का आयोजन जैन धर्मशाला गांधी रोड में किया गया। इस कार्यक्रम के मुख्य अतिथि अतिथि कैबिनेट मंत्री गणेश जोशी, विशिष्ट अतिथि विधायक खजान दास, विधायक सविता कपूर व अनूप कपूर रहे। शिविर के अध्यक्ष डा. एन. एल अमोली ने बताया कि कार्यक्रम गिरनार पीठाधीश पूज्य कर्मयोगी क्षुल्लकरत्न समर्पण सागर जी महाराज के पावन सानिध्य में हुआ। कार्यक्रम में यूनेस्को क्लब के अध्यक्ष डा. मुकेश धबलानिया, सचिव पंकज जैन, कोषाध्यक्ष डा. तरूण मित्तल, एवम उनके सुपुत्र लाकेश जैन, डा. राकेश मित्तल, डा. मुकेश गोयल, संजीव मैदीरत्ता, ई. अविनाश मनचंदा, राजीव सच्चर, एडवोकेट विवेक जैन व यूनेस्को के अनेक सदस्य व उत्तराखण्ड जैन समाज के अध्यक्ष सुखमाल चन्द जैन, सुधीर जैन, डा. संजीव जैन, विनोद जैन अध्यक्ष जैन समाज, राजेश जैन मंत्री जैन समाज, सुनील जैन अध्यक्ष जैन धर्मशाला, संदीप जैन मंत्री जैन धर्मशाला व जैन समाज के अन्य सदस्य इस कार्यक्रम में उपस्थित रहे। इस कैम्प में शहर के जाने माने 15 चिकित्सकों ने अपनी सेवाएं दी। शिविर में देखे गये रोगियों का परीक्षण सम्बन्धित चिकित्सक द्वारा अपने क्लीनिक पर 7 दिन तक एक बार निःशुल्क किया जायेगा। सभी प्रकार की रक्त जांच, एक्स-रे, अल्ट्रासाउड व स्केन आदि सभी प्रकार की जांचों पर 50 प्रतिशत की छूट दी गई है। जरूरतमंदांे को व्हील चेयर, बैसाखी, चश्में आदि निःशुल्क दिये गये। कैम्प में मरीजो की निःशुल्क जांच की गई। जरूरतमंद लोगों को कंबल वितरण भी किया गया। इस अवसर पर कैबिनेट मंत्री गणेश जोशी, विधायक राजपुर खजान दास, कैंट विधायक सविता कपूर ने कहा कि लोकेश जो सुरेश चंद जैन के सुपुत्र है उनके द्वारा उनकी स्मृति में जो कार्य किए जा रहे हैं वह अपने पिता के पद चिन्हों पर चलकर वही कार्य कर रहे हैं जिसके लिए हम उनको बधाई और साधुवाद देते हैं। अपने पिता द्वारा पूर्व में किए गए कार्य करके वही कार्य करना यह आजकल की पीढ़ी में बहुत कम देखा जाता है ऐसा कहा जा सकता है कि वह आज भी अपने पिता को इन कार्यों के द्वारा अपने जीवन में उनके साये को महसूस कर रहे हैं। आशा ही नहीं उम्मीद है कि भविष्य में उनके पद चिन्हों पर चलकर लोकेश जैन भी गौरव जैन भी अपनी वही जगह बनाएंगे और मिसाल कायम करेंगे। इस अवसर पर उत्तराखंड जैन समाज के महामंत्री एवम उनके सुपुत्र लोकेश जैन ने कहा कि यह हमारा कर्तव्य है कि हम उनके पद चिन्हों पर चले और उनको हमेशा अपने जीवन में आशीर्वाद के रूप में कार्य करते रहेंगे। इस अवसर पर भारतीय जैन मिलन के राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष नरेश चंद जैन, आशीष जैन, मधु सचिन जैन, सचिन जैन, गौरव जैन, मंडल अध्यक्ष विशाल गुप्ता, अनिल वर्मा आदि लोग मौजूद रहे।

यूकेडी महिला प्रकोष्ठ की कार्यकारिणी घोषित, मधु उपाध्यक्ष व सविता कोषाध्यक्ष बनी

देहरादून। उत्तराखंड क्रांति दल महिला प्रकोष्ठ के अधिवेशन में प्रकोष्ठ की केंद्रीय कार्यकारिणी की घोषणा की गई। मधु सेमवाल को केंद्रीय महिला प्रकोष्ठ का उपाध्यक्ष बनाया गया तथा सविता श्रीवास्तव को कोषाध्यक्ष बनाया गया है। साथ ही सरोज रावत और मीना थपलियाल को केंद्रीय संगठन मंत्री का पद दिया गया है और नीलम लखेड़ा केंद्रीय मीडिया प्रभारी बनी हैं। इसके अलावा रेनू नवानी को विधि प्रकोष्ठ का जिलाध्यक्ष बनाया गया है तथा शोभा काला को शिक्षा प्रकोष्ठ का जिलाध्यक्ष तथा मेघा खंखरियाल को स्वास्थ्य प्रकोष्ठ का जिलाध्यक्ष का दायित्व दिया गया है। लाजवंती को मसूरी विधानसभा का प्रभारी बनाया गया है और सुनैना लखेड़ा को रायपुर विधानसभा का प्रभारी बनाया गया है। सरस्वती बडोला को चौबट्टाखाल तथा रंजना गैरोला को घनसाली विधानसभा का प्रभारी बनाया गया है। सुशीला पटवाल को जिला देहरादून राज्य आंदोलनकारी कल्याण समिति का जिलाध्यक्ष बनाया गया है। मंजू रावत को देहरादून का जिला प्रचार सचिव बनाया गया है। नीलम थपलियाल को बालावाला मंडल के अध्यक्ष का दायित्व दिया गया है। इसके साथ ही एक दर्जन महिलाओं को उत्तराखंड क्रांति दल की सदस्यता भी दिलाई गई इससे पहले सभी महिला प्रकोष्ठ की कार्यकर्ताओं ने उत्तराखंड क्रांति दल के केंद्रीय अध्यक्ष सुलोचना ईष्टवाल और उपाध्यक्ष उत्तरा पंत बहुगुणा का फूल मालाएं और बुके देकर स्वागत किया। अपने संबोधन में उत्तराखंड महिला मोर्चा की अध्यक्ष सुलोचना ईष्टवाल ने कहा कि यह राज्य मातृशक्ति के संघर्ष और बलिदान की बदौलत प्राप्त हुआ है और अब इस राज्य को संवारने का काम भी मातृशक्ति को अपने हाथों में लेना होगा। यूकेडी के केंद्रीय उपाध्यक्ष उत्तरा बहुगुणा ने कहा कि फिलहाल नगर पालिका और नगर निकायों में संगठन को मजबूत करने के साथ ही जल्दी ही कुछ महिलाओं को वार्ड में दायित्व दिए जाएंगे। कार्यक्रम का संचालन उत्तराखंड क्रांति दल की महामंत्री मीनाक्षी घिल्डियाल ने किया।  कार्यक्रम की अध्यक्षता उत्तराखंड क्रांति दल के कार्यकारी अध्यक्ष एपी जुयाल ने की। जुयाल ने कहा कि आने वाली सदी महिलाओं की है इसलिए आधी आबादी को सम्मान के साथ जीवन यापन करने के लिए उत्तराखंड क्रांति दल को ही संघर्ष करना होगा। इस अवसर पर उत्तराखंड क्रांति दल के शशि नौटियाल, सरिता रावत, मंजू बड़थ्वाल, मनीषा थपलियाल, रचना थपलियाल, पुष्पा ज़ख्मोला, आरती सती, कौशल्या रावत, कलावती नेगी, बसंती, भावना, योगिता, सुनीता, विमला भट्ट, गुड्डी देवी, रोशनी चंदेल, मीनाक्षी घिल्डियाल, रिंकी कुकरेती, पिंकी पुंडीर, आशा पुंडीर, रीना उनियाल, दिव्या चौहान, लक्ष्मी कपरुवान, उमा खंडूरी, शांति भट्ट दर्जनों पदाधिकारी तथा कार्यकर्ता मौजूद थे।

मुख्यमंत्री ने भक्तदर्शन की पुत्री मीरा चौहान को सम्मानित किया तथा भक्तदर्शन स्नातकोत्तर महाविद्यालय की स्मारिका का विमोचन भी किया।

सीएम भक्तदर्शन राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय के स्वर्ण जयंती समारोह में हुए शामिल -महाविद्यालय में एम.ए व एम.एस.सी के लिए दो पृथक पीजी ब्लॉक का निर्माण किया जाएगा
देहरादून। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने जयहरीखाल के भक्तदर्शन राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय के स्वर्ण जयंती समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में प्रतिभाग किया। इस अवसर पर उन्होंने महान विभूति भक्तदर्शन जी को श्रद्धांजलि अर्पित की। मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर घोषणा की कि भक्तदर्शन स्नातकोत्तर महाविद्यालय में एम.ए तथा एम.एस.सी हेतु दो पृथक पीजी ब्लॉक का निर्माण किया जाएगा। एम.एस.सी. में भौतिक विज्ञान व गणित तथा एम.ए. में संस्कृत, अंग्रेजी व भूगोल के विभिन्न संकाय खोलने हेतु चरणबद्ध तरीके से आकलन कराकर उसी अनुरूप कार्य किया जाएगा। महाविद्यालय स्वरोजगारपरक कौशल विकास पाठ्यक्रम प्रारंभ किया जाएगा। विकासखंड नैनीडांडा और जयहरीखाल में मिनी स्टेडियम बनाया जायेगा। उन्होंने महाविद्यालय के छात्रा हॉस्टल की चारदीवारी के निर्माण हेतु जिलाधिकारी को निर्देशित किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि विकासखंड जयहरीखाल के चिनबो तथा नैनीडांडा के आशोबाखली में वाटरफॉल निर्माण, ज़यहरीखाल ब्लाक के अंतर्गत अमटोला पंपिंग योजना की स्वीकृति प्रदान की जायेगी। नैनीडांडा के गुड्डूगड़ी में पर्यटन स्थल विकसित किया जायेगा। नैनीडांडा तथा रिखणीखाल विकासखंड के अंतर्गत कुमालडीडांडा, बरेही, पीपली, शिलांग, खदरासी, करतिया, तिमाईसैंण, डमालता, बगेडा, रीखेडा आदि में सिंचाई नेहरों के पुनरऊद्वार का कार्य किया जायेगा। द्वारीखाल में सिंगटाली नामक स्थान पर गंगा नदी पर पुल निर्माण एवं विधानसभा क्षेत्र यम्केश्वर में केंद्रीय विद्यालय निर्माण का प्रस्ताव भारत सरकार को भेजा जाएगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि भक्तदर्शन जी का भारतीय स्वतंत्रता तथा उत्तराखंड राज्य के हित में महत्वपूर्ण भूमिका रही। उन्होंने कहा कि भक्तदर्शन महाविद्यालय ने कुशल मानव संसाधन देने का कार्य किया। इस महाविद्यालय से पढ़े बहुत से लोग आज राजनीति, सेना, पुलिस, प्रशासन आदि क्षेत्रों में अपनी सेवाएं दे रहे हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में आज भारत की पहचान एक समर्थ और शक्तिशाली भारत के रूप में बनी है। राज्य सरकार भी जीरो पेंडेंसी की नीति पर कार्य रही है। सरलीकरण, समाधान, निस्तारण एवं संतुष्टि के मंत्र पर कार्य किए जा रहे हैं। युवाओं को रोजगार एवं स्वरोजगार से जोड़ने के निरंतर प्रयास किए जा रहे हैं। भर्ती प्रक्रियाओं में तेजी लाई गई है। इस अवसर पर विधायक दिलीप सिंह रावत, रेनू बिष्ट, जिलाधिकारी डॉ. आशीष चौहान, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक श्वेता चौबे, मुख्य विकास अधिकारी अपूर्वा पांडे, ब्लॉक प्रमुख महेंद्र राणा, दीपक भंडारी, प्रशांत कुमार, नगरपालिका अध्यक्ष दुगड्डा भावना चौहान एवं संबंधित अधिकारी उपस्थित थे।

मानव-वन्यजीव संघर्ष रोकने को प्रभावी समाधानों के क्रियान्वयन करने के जलागम को दिए निर्देश

देहरादून। अपर मुख्य सचिव आनन्दवर्धन ने मानव-वन्यजीव संघर्ष को समाप्त करने हेतु पायलट प्रोजेक्ट के तहत 5 गांवों को चिह्न्ति कर प्रभावी समाधानों के क्रियान्वयन को आरम्भ करने के निर्देश जलागम विभाग को दिए हैं। एसीएस ने मानव-वन्यजीव संघर्षांे को नियंत्रित करने हेतु सरकारी प्रयासों के साथ ही सामुदायिक भागीदारी, ग्राम पंचायतों की भूमिका तथा स्थानीय लोगों के सहयोग को भी सुनिश्चित करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने मानव-वन्यजीव संघर्ष प्रभावित क्षेत्रों और गांवो में माइक्रो प्लान पर गंभीरता से कार्य करने के निर्देश दिए हैं। इसके साथ ही एसीएस ने प्रोजेक्ट के तहत राजाजी-कार्बेट लैण्डस्कैप के आस-पास के ग्रामीण क्षेत्रों में मानव-वन्यजीव संघर्ष के पैटर्न का अध्ययन करने तथा क्षेत्र में मानव-वन्यजीव संघर्ष के प्रति स्थानीय लोगों के रूझान व धारणाओं तथा सामाजिक-आर्थिक प्रभावों का डॉक्यूमेंटेशन करने के भी निर्देश दिए हैं। अपर मुख्य सचिव जलागम प्रबन्धन एवं कृषि उत्पादन आयुक्त आनन्दवर्धन ने सोमवार को सचिवालय में राज्य में मानव-वन्यजीव संघर्ष को नियंत्रित करने के सम्बन्ध में जलागम, भारतीय वन्य जीव संस्थान के वैज्ञानिकों एवं कंसलटेंट्स के साथ बैठक की। एसीएस ने लोगों को जंगली जानवरों के हमलों से सतर्क करने हेतु अर्ली वार्निंग सिस्टम विकसित करने के निर्देश दिए हैं। बैठक में मानव-वन्यजीव संघर्ष की बढ़ती घटनाओं के पीछे गांवों से पलायन के कारण कम आबादी घनत्व, एलपीजी सिलेण्डरों की त्वरित आपूर्ति सेवा का अभाव, सड़कों में लाइटों का कार्य न करना, पालतू पशुओं की लम्बी अवधि तक चराई, गांवों की खाली एवं बंजर जमीनों पर लेन्टाना, बिच्छू घास, काला घास, गाजर घास के उगने से जंगली जानवरों को छुपने की जगह मिलना जैसे कारणों के समाधानों पर भी चर्चा की गई। भारतीय वन्य जीव संस्थान के वैज्ञानिकों तथा जलागम के अधिकारियों ने जानकारी दी कि मानव-वन्य जीवन संघर्ष को नियंत्रित करने हेतु एक प्रोजेक्ट अल्मोड़ा, देहरादून, हरिद्वार, नैनीताल तथा पौड़ी गढ़वाल में संचालित किया जाएगा। फिलहाल यह प्रोजेक्ट पौड़ी गढ़वाल जनपद के कुछ क्षेत्रों जिसमें कार्बेट तथा राजाजी टाइगर रिजर्व भी सम्मिलित है, में क्रियान्वित किया जा रहा है। इस प्रोजेक्ट के तहत सर्वाधिक मानव-वन्यजीव संघर्षाे वाले गांवो जिनमें 17 से अधिक मानव-वन्यजीव संघर्ष की घटनाएं हुई है, की पहचान की गई है। इन 15 गांवों में गोहरी फोरेस्ट रेंज में स्थित गंगाभोगपुर गांव, लाल ढांग फोरेस्ट रेंज में स्थित किमसर, देवराना, धारकोट, अमोला, तचिया, रामजीवाला, केस्था, गुमा, कांडी, दुगड्डा में स्थित किमुसेरा, सैलानी, पुलिण्डा, दुराताल तथा लैंसडाउन की सीमा में कलेथ गांव हैं। भारतीय वन्य जीव संस्थान, देहरादून के वैज्ञानिकों ने जानकारी दी कि फसलों को नुकसान पहुंचाने हेतु जंगली सूअर तथा भालू मुख्यतः उत्तरदायी है। मानव-वन्यजीव संघर्ष से प्रभावित जिन गाँवो में सर्वे किया गया उन्होंने गेंहू का उत्पादन बन्द कर दिया है। ग्रामीणों ने मंडुआ, हल्दी तथा मिर्चाे का उत्पादन आरम्भ कर दिया है ताकि अनुमान लगाया जा सके कि क्या इन फसलों के उत्पादन से कुछ अन्तर पडे़गा। 50 प्रतिशत गांवों में सभी मौसमों में 60-80 प्रतिशत फसलें वन्यजीवों द्वारा नष्ट की जा रही है। 100 प्रतिशत ग्रामीणों ने माना कि यदि वन्यजीवों द्वारा फसलें नष्ट न की जाती तो कृषि कार्य उनके लिए लाभकारी होता। प्रभावित गांवों के कुल कृषिक्षेत्र का 50 प्रतिशत क्षेत्र खाली पड़ा है। बैठक में परियोजना निदेशक जलागम नवीन सिंह बरफाल, उपनिदेशक डा0 एस के सिंह, डा0 डी एस रावत, स्टेट टैक्नीकनल कोर्डिनेटर डा0 जे सी पाण्डेय, भारतीय वन्य जीव संस्थान देहरादून के वैज्ञानिक डा0 के रमेश, सीनियर टैक्नीकल ऑफिसर डा0 मनोज कुमार अग्रवाल, रिसर्च इन्टर्न श्रुति, तोमाली मण्डल, कंसलटेंट विकास वत्स तथा अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे। -----------------------------------

Sunday, 20 November 2022

तुलाज इंस्टीट्यूट ने ग्लोबल एजुकेशन एंड कॉर्पाेरेट लीडरशिप अवार्ड्स की की मेजबानी

-वित्त मंत्री डॉ. प्रेमचंद अग्रवाल ने वितरित किए पुरस्कार देहरादून (गढ़ संवेदना)। तुलाज़ इंस्टिट्यूट ने आज कॉलेज परिसर में ग्लोबल एजुकेशन एंड कॉर्पाेरेट लीडरशिप अवार्ड्स 2022 का आयोजन किया। इस अवसर पर मुख्य अतिथि के रूप में उत्तराखंड सरकार के वित्त मंत्री डॉ. प्रेमचंद अग्रवाल मौजूद रहे। कार्यक्रम की शुरुआत मुख्य अतिथि डॉ. प्रेमचंद अग्रवाल, लाइफ वे टेक इंडिया के सीईओ और निदेशक सुनील कुमार, तुलाज़ ग्रुप के उपाध्यक्ष रौनक जैन और डॉ. निरंजन लाल द्वारा दीप प्रज्वलन समारोह के साथ हुई। कार्यक्रम के दौरान विश्वविद्यालयों, कॉलेजों, कोचिंग संस्थानों, स्टार्ट-अप्स, उद्यमियों, उद्योगों और कॉरपोरेट्स सहित कुल 58 व्यक्तियों और हितधारकों को सम्मानित किया गया। मोउमिता घोष को सर्वश्रेष्ठ शिक्षाविद का पुरस्कार दिया गया, तुलाज़ इंस्टिट्यूट को सर्वश्रेष्ठ इंजीनियरिंग कॉलेज के पुरस्कार से नवाज़ा गया, बी.के. शर्मा को सर्वश्रेष्ठ शिक्षक का पुरस्कार प्राप्त हुआ, डॉ. कुंवर सिंह वैसला को इनोवेटिव रिसर्चर ऑफ द ईयर का अवार्ड प्रदान किया गया, और इमैनुएल गेब्रियल को एक्सटेंशन एक्टिविटी कोआर्डिनेशन का पुरस्कार प्रदान किया गया। कार्यक्रम के दौरान प्रोफेसर डॉ. डी पी कोठारी को भारत की ओर से लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड प्राप्त हुआ, रानू इस्कंदर को इंडोनेशिया की नेगेरी सेमारंग यूनिवर्सिटी की ओर से बेस्ट वोकेशनल एजुकेशन अवार्ड मिला, जेरेसोम इलुकोर को पूर्वी अफ्रीका में युगांडा से बेस्ट प्रिंसिपल ऑफ द ईयर का अवॉर्ड मिला, डॉ. आनंद नय्यर को ड्यू टैन यूनिवर्सिटी, वियतनाम की ओर से सर्वश्रेष्ठ वरिष्ठ वैज्ञानिक का पुरस्कार मिला, और मुकेश मदानन को ढोफर विश्वविद्यालय, ओमान की ओर से इनोवेटिव रिसर्चर अवार्ड से नवाज़ा गया। दर्शकों को संबोधित करते हुए, मुख्य अतिथि डॉ. प्रेमचंद अग्रवाल ने सभी पुरस्कार विजेताओं को बधाई दी और सभी उम्र के लोगों के जीवन में शिक्षा के महत्व पर ध्यान केंद्रित किया। उन्होंने इस तरह के प्रतिष्ठित पुरस्कार समारोह की मेजबानी के लिए जीईसीएल, लाइफ वे टेक इंडिया और तुलाज इंस्टीट्यूट को धन्यवाद दिया। लाइफ वे टेक इंडिया के सीईओ और निदेशक सुनील कुमार ने भी पुरस्कार विजेताओं को बधाई दी और उन्हें भविष्य में इस तरह के और सम्मान हासिल करने के लिए कड़ी मेहनत करने के लिए प्रेरित किया। इस अवसर पर बोलते हुए, तुलाज़ ग्रुप के उपाध्यक्ष, रौनक जैन ने कहा, हम तुलाज़ इंस्टिट्यूट में ग्लोबल एजुकेशन एंड कॉर्पाेरेट लीडरशिप अवार्ड्स 2022 की मेजबानी करके बेहद खुश हैं। यह पुरस्कार समारोह अंतरराष्ट्रीय, राष्ट्रीय, क्षेत्रीय और स्थानीय स्तर पर प्रगति के अवसर पैदा करने के लिए दुनिया भर में कॉर्पाेरेट और शिक्षा के क्षेत्र में हितधारकों के लिए एक शानदार अवसर प्रदान करेगा। मैं आज यहां मौजूद सभी पुरस्कार विजेताओं को उनकी उपलब्धियों के लिए बधाई देता हूँ। जीईसीएल अवार्ड्स एक खुला मंच है जो शैक्षिक, वित्तीय, आर्थिक और प्रबंधन के मुद्दों में अपनी नेतृत्व रणनीतियों और अंतर्दृष्टि को साझा करने के लिए भारत के कुछ बुद्धिजीवियों को एक साथ लाता है। इस अवसर पर डॉ. निशांत सक्सेना, डॉ. रनित किशोर, डॉ. सुनील सेमवाल, और डॉ. त्रिपुरेश जोशी भी उपस्थित रहे।

टीएचडीसी इंडिया की अमिलिया कोल माइन परियोजना के लिए टेलीमेडिसीन सुविधा का ऑन लाइन माध्यम से उद्घाटन

ऋषिकेश (गढ़ संवेदना);राजीव विश्नोई, अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक, टीएचडीसी इंडिया लिमिटेड ने जे. बेहेरा, निदेशक (वित्त) की उपस्थिति में ऑन लाइन माध्यम से निरामय स्वास्थ्य केंद्र, ऋषिकेश में अमिलिया कोल माइन परियोजना हेतु टेलीमेडिसीन सुविधा का उद्घाटन किया गया | इस अवसर पर वीर सिंह, मुख्य महाप्रबंधक (मा. सं. एवं प्रशा), ए. के. शर्मा, मुख्य महाप्रबंधक (अमिलिया कॉल माइन परियोजना), डॉ. विभा चौधरी, मुख्य चिकित्सा अधिकारी (निरामय स्वास्थ्य केंद्र), विमल दुर्गापाल, वरि. प्रबंधक (मा. सं.-अमिलिया कॉल माइन परियोजना) व अन्य अधिकारी व कर्मचारी वर्चुअल माध्यम से उपस्थित रहे| उल्लेखनीय है कि इस सुविधा का लक्ष्य अमिलिया कॉल माइन परियोजना में कार्यरत अधिकारियों व कर्मचारियों को गुणवत्तापूर्ण चिकित्सा सेवाएं प्रधान करना है | टीएचडीसीआईएल भारत की अग्रणी विद्युत उत्पादन कंपनियों में से एक है । टिहरी बांध एवं एचपीपी (1000 मेगावाट), कोटेश्वर एचईपी(400 मेगावाट), गुजरात के पाटन में 50 मेगावाट एवं द्वारका में 63 मेगावाट की पवन विद्युत परियोजनाओं, उत्तर प्रदेश के झांसी में 24 मेगावाट की ढुकवां लघु जल विद्युत परियोजना एवं कासरगॉड केरल में 50 मेगावाट की सौर परियोजना के साथ टीएचडीसीआईएल की कुल संस्थापित क्षमता 1587 मेगावाट हो गई है ।

आकाश बायजूस की राष्ट्रीय छात्रवृत्ति परीक्षा एएनटीएचई में देहरादून में 19029 छात्रों ने लिया हिस्सा

आकाश बायजूस की राष्ट्रीय छात्रवृत्ति परीक्षा एएनटीएचई में देहरादून में 19029 छात्रों ने लिया हिस्सा
देहरादून (गढ़ संवेदना) । परीक्षाओं की तैयारी कराने के मामले में राष्ट्रीय स्तर पर अग्रणी आकाश बायजूस की वार्षिक छात्रवृत्ति परीक्षा के 13वें संस्करण आकाश नेशनल टैलेंट हंट एक्जाम (एएनटीएचई) 2022 में देहरादून शहर के 19029 छात्रों ने हिस्स लिया। इस बार इस परीक्षा के लिए देशभर से 25 लाख छात्रों ने रजिस्ट्रेशन कराया था, जो 2010 में एएनटीएचई की शुरुआत से अब तक सर्वाधिक है। एएनटीएचई 2022 का आयोजन देश के 24 राज्यों एवं केंद्रशासित प्रदेशों में ऑनलाइन माध्यम से 5 से 13 नवंबर, 2022 तक और ऑफलाइन माध्यम से 6 से 13 नवंबर के बीच किया गया। एएनटीएचई के पिछले संस्करणों की तरह ही इस बार भी सभी श्रेणियों में सर्वश्रेष्ठ पांच छात्रों को अपने एक अभिभावक के साथ नासा की ट्रिप का मौका मिलेगा। टॉप रैंक वाले छात्रों को 2 लाख रुपये तक का नकद पुरस्कार भी मिलेगा। परीक्षा कुल 90 अंकों की थी, जिसमें छात्रों की कक्षा एवं स्ट्रीम के अनुरूप 35 बहुविकल्पीय प्रश्न पूछे गए। 7वीं से 9वीं कक्षा के छात्रों के लिए फिजिक्स, केमिस्ट्री, बायोलॉजी, मैथ और मेंटल एबिलिटी से प्रश्न पूछे गए। मेडिकल की तैयारी के इच्छुक 10वीं कक्षा के छात्रों की परीक्षा में फिजिक्स, केमिस्ट्री, बायोलॉजी एवं मेंटल एबिलिटी के प्रश्न थे। इसी कक्षा में इंजीनियरिंग की तैयारी के इच्छुक छात्रों से फिजिक्स, केमिस्ट्री, मैथ और मेंटल एबिलिटी के प्रश्न पूछे गए। इसी तरह 11वीं एवं 12वीं में नीट का लक्ष्य लेकर चल रहे छात्रों से फिजिक्स, केमिस्ट्री, बॉटनी एवं जूलोजी के और इंजीनियरिंग की तैयारी का लक्ष्य लेकर चल रहे छात्रों से फिजिक्स, केमिस्ट्री और मैथ के प्रश्न पूछे गए। 10वीं से 12वीं कक्षा के लिए एएनटीएचई 2022 का परिणाम 27 नवंबर को और 7वीं से 9वीं कक्षा के लिए परिणाम 29 नवंबर को जारी किए जाएंगे। एएनटीएचई 2022 को लेकर आकाश बायजूस के मैनेजिंग डायरेक्टर श्री आकाश चौधरी ने कहा, ‘हम देशभर से मिल रही प्रतिक्रिया से उत्साहित हैं। कोचिंग से मेडिकल कॉलेज सीट पाने या आईआईटी, एनआईटी व अन्य केंद्रीय कॉलेज में प्रवेश की राह आसान हो जाती है। हमारा लक्ष्य है कि देश के किसी भी कोने के सक्षम छात्र को हमारी श्रेष्ठ कोचिंग से जुड़ने का मौका मिले। एएनटीएचई के माध्यम से नीट एवं जेईई की तैयारी के इच्छुक छात्रों को आगे आने का मौका मिलता है।‘

Friday, 18 November 2022

सचिवालय कूच में प्रीतम का न्योता कांग्रेस के लिए मंथन का विषयः चौहान

देहरादून। भाजपा ने कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष पूर्व नेता प्रतिपक्ष प्रीतम सिंह द्वारा सचिवालय कूच पर सवाल उठाते हुए कहा कि अगर, उन्होंने सच मे भाजपा को भी कूच मे आमंत्रित किया है तो यह कांग्रेस के लिए मंथन का विषय है। पार्टी के प्रदेश मीडिया प्रभारी मनवीर सिंह चैहान ने कहा कि कांग्रेस मे अलग अलग रैली, धरना प्रदर्शन की होड़ लगी है और यह सरासर गुटबाजी से जुड़ा मामला है। ऐसे मे कांग्रेसी नेता जन मुद्दों पर बाहर निकल रहे है या अपनी ब्रांडिंग कर रहे है यह सोचने का विषय है। चैहान ने कहा कि उनके कार्यक्रम मे प्रदेश अध्यक्ष माहरा, नेता प्रतिपक्ष यशपाल आर्य और हरीश रावत के नदारद रहने की भी खबर आ रही है। अब अपनों का साथ न मिलने की वजह से उन्हे संख्या बल की चिंता सता रही है और ऐसा पहले भी आयोजित कार्यक्रमों मे भी होता रहा है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस को एकजुट होकर पहले मुद्दों पर आपस मे रायसुमारी करनी चाहिए। चैहान ने कहा कि जिन मुद्दों पर पूर्व अध्यक्ष सचिवालय कूच कर रहे है उनमे पेपर लीक मामले मे सरकार नकल माफिया की कमर तोड़ने की दिशा मे कार्य कर रही है। अंकिता के हत्यारे सलाखों के पीछे है। वही बेरोजगारों के लिए रोजगार के अवसर खुले है तो प्रदेश मे कानून का राज है। चैहान ने प्रदेश अध्यक्ष करन माहरा के धर्मांतरंण को लेकर दिये बयान पर कहा कि कांग्रेस की प्रतिक्रिया स्वाभाविक है। कांग्रेस तुष्टिकरण की पोषक और समर्थक रही है, इसलिए उससे ऐसी उम्मीद नही की जा सकती है। उन्होंने कहा कि देवभूमि मे इस तरह की घटनाओं पर विराम लगाने के लिए मजबूत कानून की जरूरत महसूस की जाती रही है और इसलिए मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी की केबिनेट द्वारा उठाया यह कदम स्वागत योग्य है।

फसल बीमा, किसान क्रेडिट कार्ड व अन्य योजनाओं के क्रियान्वयन में प्रगति बढ़ाने के निर्देश दिए

देहरादून। जिलाधिकारी सोनिका की अध्यक्षता में ऋषिपर्णा सभागार कलेक्ट्रेट में प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के संबंध में बैठक आयोजित की गई। जिलाधिकारी ने फसल बीमा एवं किसान क्रेडिट कार्ड सहित अन्य जनकल्याणकारी योजनाओं के क्रियान्वयन हेतु संबंधित विभागों एवं बैंकों को प्रगति बढ़ाने के निर्देश दिए। साथ ही मुख्य विकास अधिकारी को निर्देश दिए कि जो बैंक किसान क्रेडिट कार्ड एवं सरकार की जनकल्याणकारी योजनाओं के क्रियान्वयन में प्रगति नहीं बढ़ा रहे है को नोटिस प्रेषित करने के निर्देश दिए। साथ ही लीड बैंक प्रबंधक को प्रतिदिन समीक्षा करने के भी निर्देश दिए। उन्होंने इसके लिए जिला प्रशासन द्वारा लगाए जा रहे बहुउद्देशीय शिविरों में प्रतिभाग करते हुए पात्रों को जनकल्याणकारी योजनाओं से लाभान्वित करें। उन्होंने मुख्य विकास अधिकारी को रेखीय विभागों एवं बैंकों की प्रत्येक सप्ताह समन्वय बैठक लें। साथ ही बैंकों को अभियान चलाकर लक्ष्य पूर्ण करने के निर्देश दिए। बैठक में मुख्य विकास अधिकारी झरना कमठान, अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व के.के मिश्रा, मुख्य कृषि अधिकारी लतिका सिंह, क्षेत्रीय प्रबंधक लीड बैंक कुलवीर सिंह पांगती सहित उद्यान, एग्रीकल्चर इंश्योरेंस कम्पनी के प्रतिनिधि एवं विभिन्न बैंकों के प्रतिनिधि उपस्थित रहे।

समाज कल्याण मंत्री ने स्वीकृत राशि के सापेक्ष कम व्यय पर नाराजगी जताई

देहरादून। समाज कल्याण मंत्री चन्दन राम दास ने राज्य में अनुसूचित जाति तथा अनुसूचित जनजाति के लिए समाज कल्याण विभाग द्वारा चलाई जा रही योजनाओं में 19 प्रतिशत धनराशि एससीएसपी के लिए तथा 3 प्रतिशत धनराशि टीएसपी के लिए निर्धारण के संबंध में समीक्षा बैठक की। मंत्री ने वीर चन्द्र सिंह गढ़वाली सभागार में समीक्षा करते हुए जारी स्वीकृत राशि के सापेक्ष कम व्यय पर नाराजगी जताते हुए खर्च की सीमा बढ़ाने के निर्देश दिये। उन्होंने विभागीय बजट जारी करने में विलम्ब न करते हुए कहा कि जिस योजना मद में बजट जारी हुआ है उसे उसी मद में व्यय किया जाय। उन्होंने एससीएसपी तथा टीएसपी धनराशि के दुरपयोग होने पर सख्त कार्यवाही के निर्देश दिये। मंत्री ने कहा कि इस मद से हम गरीबों की सीधे तौर पर मदद कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि जिला सेक्टर और केन्द्र सेक्टर मद की अलग से समीक्षा की जाय। उन्होंने कहा कि लाभार्थियों के चयन में पारदर्शिता लानी होगी तथा आवश्यकतानुसार भवन, स्कूल, शौचालय, लाईब्रेरी, अस्पताल आदि बनााने होंगे। मंत्री ने कहा कि बजट व्यय करने के उपरान्त उपयोगिता प्रमाण पत्र तत्काल विभाग को भेजा जाय ताकि अगली किश्त जारी की जा सके। उन्होंने अधिकारियों द्वारा अधूरी सूचना लाने पर नाराजगी जताते हुए कहा कि हमें अनुसूचित जाति उपयोजना और अनुसूचित जनजाति उपयोजना पर विशेष जोर देना होगा। मंत्री ने अधिकारियों को चेतावनी देते हुए कहा कि आज की बैठक में अनुपस्थित अधिकारियों पर सख्त कार्यवाही की जायेगी तथा आगामी बैठक में सभी विभागीय अधिकारियों को अनिवार्य रूप से पूर्ण जानकारी के साथ उपस्थित होने के निर्देश दिये। विभागीय अधिकारियों ने बताया कि कृषि विभाग द्वारा एससीएसपी के लिए जारी स्वीकृतियां 1338.49 लाख रूपये रही जिसमें 938.95 लाख रूपये व्यय किये गये जोकि बजट के सापेक्ष 14.16ः रहा। कृषि विभाग द्वारा टीएसपी के लिए जारी स्वीकृतियां 464.84 लाख रूपये रही जिसमें 317.57 लाख रूपये व्यय किये गये जोकि बजट के सापेक्ष 28.05ः रहा। पशुपालन विभाग द्वारा एससीएसपी के लिए जारी स्वीकृतियां 952.96 लाख रूपये रही जिसमें 582.70 लाख रूपये व्यय किये गये जोकि बजट के सापेक्ष 39.44ः रहा। पशुपालन विभाग द्वारा टीएसपी के लिए जारी स्वीकृतियां 149.87 लाख रूपये रही जिसमें 95.00 लाख रूपये व्यय किये गये जोकि बजट के सापेक्ष 16.45ः रहा। वन विभाग द्वारा एससीएसपी के लिए जारी स्वीकृतियां 1093.75 लाख रूपये रही जिसमें 834.40 लाख रूपये व्यय किये गये जोकि बजट के सापेक्ष 43.06ः रहा। वन विभाग द्वारा टीएसपी के लिए जारी स्वीकृतियां 127.28 लाख रूपये रही जिसमें 19.96 लाख रूपये व्यय किये गये जोकि बजट के सापेक्ष 18.86ः रहा। पीडब्ल्यूडी विभाग द्वारा एससीएसपी के लिए जारी स्वीकृतियां 2103.14 लाख रूपये रही जिसमें 969.54 लाख रूपये व्यय किये गये जोकि बजट के सापेक्ष 32.32ः रहा। पीडब्ल्यूडी विभाग द्वारा टीएसपी के लिए जारी स्वीकृतियां 1613.92 लाख रूपये रही जिसमें 1321.34 लाख रूपये व्यय किये गये जोकि बजट के सापेक्ष 33.55ः रहा। इस अवसर पर बैठक में प्रमुख सचिव नियोजन एल. फनई, सचिव अरविन्द ह्यांकी, निदेशक जनजाति संजय सिंह टोलिया तथा अन्य विभागीय अधिकारी उपस्थित रहे।

बैंकों को विभिन्न योजनाओं के तहत दिसंबर तक ऋणों के लक्ष्य को 75 प्रतिशत प्राप्त करने के निर्देश दिए

देहरादून। अपर मुख्य सचिव वित्त आनन्दवर्धन ने गुरुवार को सचिवालय में राज्य स्तरीय बैंकर्स समिति की 83वीं बैठक की अध्यक्षता के दौरान दिसम्बर माह के अन्त तक सभी बैंकों द्वारा विभिन्न योजनाओं के तहत वितरित किए जाने वाले ऋणों के लक्ष्य को 75 प्रतिशत तक प्राप्त करने के निर्देश दिए हैं। इसके साथ ही उन्होंने पीएम स्वनिधि के तहत प्राप्त ऋण आवेदनों का 30 नवम्बर तक निस्तारण का लक्ष्य बैंकों को दिया है। अपर मुख्य सचिव ने केन्द्र एवं राज्य सरकार की एमएसएमई से सम्बन्धित ऋण योजनाओं में ओपरलेपिंग का परीक्षण कराकर रिपोर्ट भेजने के निर्देश भी दिए हैं। एसीएस ने सभी बैंकों को सरकार प्रयोजित ऋण योजनाओं के तहत निर्धारित लक्ष्यों को प्राप्त करने तथा बैंक शाखाओं में लंबित ऋण आवेदन पत्रों के त्वरित निस्तारण, स्वयं सहायता समूहों का क्रेडिट लिंकेज बढ़ाने, विभिन्न सरकारी विभागों को निजी बैंकों को भी स्पेशल कॉम्पानेन्ट प्लान के तहत ऋण आवेदन भेजने, बैंक सखी, कॉमन सर्विस सेन्टर, राशन विक्रेताओं, स्वयं सहायता समूहों के सदस्यों को भी बी. सी. ( बैंक कॉरोस्पॉन्डेट) के कार्य प्रदान करने, बैंकों को राज्य के दूर दराज के पर्वतीय क्षेत्रों में नई शाखाएं खोलकर राज्य में वित्तीय समावेशन को प्रोत्साहित करने के निर्देश दिए हैं। बैठक में जानकारी दी गई कि प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम, पीएम स्वनिधि योजना, मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना एवं मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना नैनो में ऑवरलेपिंग की स्थिति प्रदर्शित हो रही है। बैंकों में एनपीए की वृद्धि को रोकने तथा बैंकिंग को सस्टेनबल बनाने हेतु सभी संबंधित विभागों से सहयोग एवं सार्थक प्रयास की अपेक्षा की गई है। बैठक में बैंकों से स्थानीय स्तर पर प्रशासन से समन्वय स्थापित करते हुए एनपीए कम करने के प्रयास करने तथा तहसील से आर. सी. (रिकवरी सर्टिफिकेट) का मिलान करते हुए ऋण राशि की वसूली हेतु अमीनों का सहयोग प्राप्त करने का आग्रह किया गया है। भारत सरकार द्वारा उत्तराखण्ड में 103 गांव जो कि 05 कि0मी0 परिधि के अंतर्गत बैंकिंग सेवाओं से आच्छादित नहीं है, की सूची जिला सहकारी बैंक को इस आशय से प्रेषित की गयी है कि वे इन गांवों में शाखा खोलने की संभावनाओं का अध्ययन करेंगे। भारत सरकार द्वारा पीएमजेडीवाई, पीएमएसबीवाई तथा पीएमजेजेबीवाई जैसी सामाजिक सुरक्षा योजनाओं के तहत राज्य के ग्रामीण क्षेत्रों में अधिकाधिक खाताधारकों को आच्छादित किए जाने के भी निर्देश मिले हैं। इस दिशा में राज्य में 3159504 खाताधारकों को पीएमजेडीवाई, 2385330 खाताधारकों को प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना, 595833 खाताधारकों को प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना, 507324 खाताधारकों को अटल पेंशन योजना से जोड़ा गया है। उत्तराखण्ड में 100 प्रतिशत डिजिटल पेमेंट ईको सिस्टम को प्रोत्साहित करने की दिशा में अल्मोड़ा तथा चमोली जिले आगे चल रहे हैं। अल्मोड़ा में 99 प्रतिशत तथा चमोली में 84 प्रतिशत बचत खाते डिजिटली आच्छादित हो चुके हैं। डिजिटाइजेशन के तहत रुपे कार्ड, आधार इनएबल्ड एवं इन्टरनेट कनेक्टीविटी को प्रोत्साहित किया जा रहा है। राज्य में अगले चरण में 1238 गांवों में फॉर जी टॉवर स्थापित किए जा रहे हैं। राज्य के सभी जिलों की खसरा खतौनी भू-लेख पोर्टल पर दर्ज कर दी गयी है। अल्मोड़ा तथा पौड़ी गढ़वाल दो जिलों में भूमि का नक्शा बनाने कार्य पूर्ण हो चुका है। अवशेष जिलों में कार्य प्रगति पर है। बैठक में सचिव कृषि बी वी आर सी पुरूषोतम, अपर सचिव सी रविशंकर, क्षेत्रीय निदेशक आरबीआई लता विश्वनाथन, एसएलबीसी संयोजक दिग्बिजय सिंह रावत तथा शासन के वरिष्ठ अधिकारी व बैंक अधिकारी उपस्थित थे।

त्रिस्तरीय पंचायतों के रिक्त पदों के उप चुनाव का कार्यक्रम घोषित होते ही आचार संहिता प्रभावी

देहरादून। जिला मजिस्ट्रेट, जिला निर्वाचन अधिकारी सोनिका ने अवगत कराया है कि राज्य निर्वाचन आयोग, उत्तराखण्ड देहरादून की अधिसूचना 16 नवम्बर के द्वारा त्रिस्तरीय पंचायतों के सदस्य, प्रधान ग्राम पंचायत, सदस्य क्षेत्र पंचायत तथा सदस्य जिला पंचायत के पदों, स्थानों पर नामांकन न होने के कारण अथवा अन्य कारणों से रिक्त पदों, स्थानों के उप निर्वाचन 2022 का कार्यक्रम अधिसूचित किया गया है। राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा जनपद के सम्बन्धित समस्त निर्वाचन क्षेत्रों में निर्वाचन घोषणा की तिथि से मतगणना समाप्ति तक आदर्श आचार संहिता प्रभावी रहेगी। राज्य निर्वाचन आयोग, उत्तराखण्ड देहरादून की अधिसूचना 16 नवम्बर 2022 तक विभिन्न प्रकार से रिक्त हुये पदों, स्थानों जो किसी न्यायालय के स्थगन आदेश से बाधित न हो पर निर्वाचन कराया जाना है,आयोग निर्धारित समय सारणी के अनुसार उप निर्वाचन सम्पन्न कराए जाएंगे। नाम निर्देशन पत्र जमा करने का दिनांक व समय 21 नवम्बर 2022 एवं 22 नवम्बर 2022 (पूर्वान्ह 10.00 बजे से अपरान्ह 05.00 बजे तक), नाम निर्देशन पत्रों की जांच का दिनांक व समय 23.नवम्बर 2022 (पूर्वान्ह 10.00 बजे से कार्य की समाप्ति तक ), नाम वापसी हेतु दिनांक व समय 24 नवम्बर 2022 (पूर्वान्ह 10.00 बजे से अपरान्ह 03.00 बजे तक), निर्वाचन प्रतीक आवंटन का दिनांक व समय 25 नवमबर 2022 (पूर्वान्ह 10.00 बजे से कार्य की समाप्ति तक), मतदान का दिनांक व समय 03 दिसम्बर 2022को (पूर्वान्ह08.00 बजे से अपरान्ह 05.00 बजे तक) मतगणना का दिनांक व समय 05. दिसम्बर 2022 (पूर्वान्ह 08.00 बजे से कार्य की समाप्ति तक )। उप निर्वाचनों में वही निर्वाचन प्रक्रिया अपनायी जायेगी जो आयोग द्वार निर्धारित एवं निर्देशित है। नामांकन पत्र दाखिल करने, उनकी जांच करने व नाम वापसी तथा निर्वाचन प्रतीक आवंटन का कार्य सम्बन्धित क्षेत्र पंचायत (विकासखण्ड) मुख्यालय पर होगा। मतों की गणना सम्बन्धित क्षेत्र पंचायत (विकासखण्ड) के मुख्यालय पर की जायेगी तथा परिणाम भी क्षेत्र पंचायत मुख्यालय पर ही घोषित किया जायेगा। रिटर्निंग एवं सहायक रिटर्निंग अधिकारियों की नियुक्ति करते हुए निर्वाचन प्रक्रिया सम्पादित करने के निर्देश दिए। नियुक्त रिटर्निंग अधिकारियों में विकासखण्ड चकराता हेतु रिटर्निंग अधिकारी शक्ति सिंह खण्ड विकास अधिकारी चकराता, सहायक रिटर्निंग अधिकारी देवी प्रसाद चमोली सहायक लेखाकार, अशोक नैथानी एडीओ काॅपरेटिव विकासखण्ड चकराता, विकासखण्ड कालसी हेतु रिटर्निंग अधिकारी उर्मिला विष्ट खण्ड विकास अधिकारी कालसी, सहायक रिटर्निंग अधिकारी संदीप नेगी ए0डी0ओ0 समाज कल्याण अधिकारी, संजय असवाल लेखाकार सांख्यकी विकासखण्ड कालसी, विकासखण्ड विकासनगर हेतु रिटर्निंग अधिकारी आतिया परवेज खान खण्ड विकास अधिकारी विकासनगर, सहायक रिटर्निंग अधिकारी पूजा पाल ए0डी0ओ0 विकासखण्ड विकासनगर, मुन्नी शाह ए0डी0ओ0 संख्याकी विकासखण्ड विकासनगर, विकासखण्ड सहसपुर हेतु रिटर्निंग अधिकारी सोनम गुप्त खण्ड विकास अधिकारी सहसपुर, सहायक रिटर्निंग अधिकारी आनन्द सिंह ए0डी0ओ0 काॅपरेटिव, आशीष बहुगुणा ए0डी0ओ0 काॅपरेटिव ग्राम्य विकास विकासखण्ड सहसपुर, विकासखण्ड रायपुर हेतु रिटर्निंग अधिकारी चक्रधर सेमवाल खण्ड विकास अधिकारी रायपुर, सहायक रिटर्निंग अधिकारी शक्ति प्रसाद भट्ट ए0डी0ओ0 ग्राम्य विकास विकासखण्ड रायपुर, मीनाक्षी उपाध्याय सहायक समाज कल्याण अधिकारी विकासखण्ड रायपुर, विकासखण्ड डोईवाला हेतु रिटर्निंग अधिकारी जगत सिंह खण्ड विकास अधिकारी डोईवाला, सहायक रिटर्निंग अधिकारी महेश प्रताप सिंह ए0डी0ओ0 समाज कल्याण विकासखण्ड डोईवाला, जीत कुंवर सिंह ए0डी0ओ0 ग्राम्य विकास विकासखण्ड डोईवाला है।

सीएम ने गढ़वाली फिल्म ‘‘प्रधानी‘‘ का मुहूर्त शॉट दिया, फिल्म का पोस्टर किया लांच

देहरादून। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने गुरूवार को मुख्यमंत्री कैम्प कार्यालय में गढ़वाली फिल्म ‘‘प्रधानी‘‘ का मुहूर्त शॉट दिया एवं फिल्म के पोस्टर को लॉच किया। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने इस फिल्म के निर्माता-निर्देशक अशोक चैहान एवं अन्य कलाकारों को शुभकामनाएं दी। फिल्म के लेखक-निर्माता-निर्देशक अशोक चैहान ने कहा कि इस फिल्म का फिल्मांकन पौड़ी के किमसार क्षेत्र, टिहरी व देहरादून के अनेक स्थानों पर किया जायेगा। फिल्म में मुख्य कलाकार घनानन्द गगोडिया, सतेश्वरी भट्ट, पन्नू गुसाई, रमेश रावत, प्रशान्त, मिनी उनियाल, शिवानी भण्डारी, गौरव गैरोला, चन्द्रवीर गायत्री आदि हैं।

ग्राम पंचायतों के सुनियोजित विकास के लिए ‘मुख्यमंत्री चैपाल’ शुरू की जाएगी

देहरादून। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि उत्तराखण्ड के ऐसे गांव जो भारत के प्रथम गांव हैं, उनके सुनियोजित विकास के लिए ‘‘मुख्यमंत्री प्रथम ग्राम समेकित विकास योजना’’ शुरू की जायेगी। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी ने माणा में आयोजित कार्यक्रम में सीमाओं पर स्थित गांवों को अंतिम गांव की बजाय प्रथम गांव कहा था। ये गांव देश के प्रथम गांव के साथ प्रहरी भी हैं। हमारी पहली प्राथमिकता इन गांवों का सुनियोजित विकास होना चाहिए। गांवों में स्वच्छता के लिए ‘मुख्यमंत्री पर्यावरण मित्र’ योजना शुरू की जायेगी। जिसमें प्रत्येक गांव में एक पर्यावरण मित्र (स्वच्छक) की तैनाती की जायेगी। ग्राम पंचायतों के सुनियोजित विकास के लिए ‘मुख्यमंत्री चैपाल’ शुरू की जायेगी। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी स्वयं किसी गांव में जाकर चैपाल में प्रतिभाग करेंगे। “मुख्य सेवक चैपाल“ में मुख्यमंत्री रात्रि विश्राम भी करेंगे। सचिवालय में पंचायती राज विभाग की समीक्षा के दौरान मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारे गांवों में धार्मिक, सांस्कृतिक, ऐतिहासिक आधार पर कुछ दिवस वहां के लिए विशेष महत्व के होते हैं। मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को निर्देश दिये कि गांवों में इन विशेष दिवसों को चिन्हित कर उत्साह के साथ कार्यक्रम आयोजित किये जाएं। ग्राम सभा का स्थापना दिवस उत्सव के रूप में मनाया जाएगा। इनमें उन गांवों के बाहर रहने वाले प्रवासी लोगों को प्रतिभाग करने के लिए विशेष रूप से प्रेरित किया जाए। उच्चाधिकारी भी इनमें प्रतिभाग करें। ग्राम पंचायतों का सुनियोजित विकास हो इसके लिए चैपाल लगाई जाए। चैपाल में जनप्रतिनिधियों को भी आमंत्रित किया जाए एवं अधिकारी भी चैपालों में प्रतिभाग करें। इसके लिए ग्राम सभावार रोस्टर भी बनाया जाए। स्थानीय ग्रामीणों द्वारा इन चैपालों दिये जाने वाले सुझावों को शीर्ष प्राथमिकता देते हुए गांवों के विकास की कार्ययोजना तैयार की जाए। मुख्यमंत्री ने कहा कि असली भारत गांवों में बसता है। राज्य के समग्र विकास के लिए गांवों के विकास पर विशेष ध्यान दिया जाए। मुख्यमंत्री ने कहा कि गांवों के विकास के लिए किसी गांव में एक कैबिनेट बैठक भी आयोजित की जाए, जिसमें गांवों के विकास से संबंधित प्रस्ताव हों। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने बैठक में अधिकारियों को निर्देश दिये कि 2025 में उत्तराखण्ड राज्य स्थापना की रजत जयंती मनायेगा। तब तक गांवों को आदर्श ग्राम बनाने की दिशा में क्या प्रभावी प्रयास किये जा सकते हैं, इस पर विशेष ध्यान दिया जाए। इसके लिए हर गांवों के लिए मास्टर प्लान बनाया जाए। अल्पकालिक एवं दीर्घकालिक लक्ष्य निर्धारित किये जाएं। मुख्यमंत्री ने कहा कि केंद्र एवं राज्य सरकार द्वारा चलाई जा रही जनकल्याणकारी योजनाओं का आम जन तक विभिन्न माध्यमों से व्यापक स्तर पर प्रचार-प्रसार किया जाए। सरकार की नई योजनाओं की आम जन को जानकारी हो इसके लिए गांवों में योजनाओं की जानकारी के लिए बोर्ड लगाये जायें। सभी विभाग अपने स्तर से भी सरकार की योजनाओं को जन-जन तक पहुंचाएं। मुख्यमंत्री ने कहा कि विकास से संबंधित अन्य राज्यों की बेस्ट प्रैक्टिसेस को अपनाया जा सकता है। कैबिनेट मंत्री सतपाल महाराज ने कहा कि गांवों में लोगों की आर्थिकी को बढ़ाने के लिए प्रभावी प्रयास किये जाएं। ग्राम प्रधानों को आपदा निधि के लिए दस-दस हजार रूपये की निधि प्रदान करने की व्यवस्था की जाए। गांवों में चाल-खाल बनाने की दिशा में भी ध्यान दिया जाए। बैठक में अपर मुख्य सचिव राधा रतूड़ी, सचिव नितेश झा, निदेशक पंचायतीराज बंशीधर तिवारी, अपर सचिव ओंकार सिंह एवं पंचायतीराज विभाग के अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

Sunday, 6 November 2022

#DG सूचना बंशीधर तिवारी ने दिया पत्रकारों का डाटा बेस तैयार कराने का आश्वासन

-उत्तरांचल प्रेस क्लब ने किया सूचना महानिदेशक का स्वागत देहरादून, (गढ़ संवेदना)। सूचना एवं लोक संपर्क विभाग के महानिदेशक बंशीधर तिवारी का आज उत्तरांचल प्रेस क्लब कार्यालय में क्लब कार्यकारिणी की ओर से स्वागत किया गया। यूपीयू के सम्मेलन में शामिल होने के पश्चात पहली बार क्लब कार्यालय पहुंचने पर क्लब पदाधिकारियों ने उन्हें पुष्प गुच्च, डायरेक्ट्री व स्मृति चिह्न भेंट किया। इस मौके पर क्लब पदाधिकारियों व वरिष्ठ पत्रकारों की महानिदेशक के साथ पत्रकारों के विभिन्न मुद्दों पर विस्तृत चर्चा हुई। क्लब अध्यक्ष जितेंद्र अंथवाल, महामंत्री ओपी बेंजवाल, संयुक्त मंत्री दिनेश कुकरेती, पूर्व अध्यक्ष भूपेंद्र कंडारी, वरिष्ठ पत्रकार सतीश शर्मा, विकास गुसाईं, शूरवीर भंडारी व राजीव थपलियाल ने पत्रकारों के बीमा, पेंशन व मान्यता से जुड़े मुद्दों पर विस्तृत चर्चा की। क्लब अध्यक्ष जितेंद्र अंथवाल ने मध्य प्रदेश सरकार की पत्रकारों के लिए 20 लाख रुपये की बीमा योजना का उदाहरण देते हुए इसी तर्ज पर उत्तराखंड में भी सभी पत्रकारों के लिए अंशदान आधारित जीवन बीमा योजना आरंभ करने, प्रदेश भर में सक्रिय सभी पत्रकारों का डाटा बेस तैयार करने, मान्यता को संस्थान आधारित बनाने के बजाय उत्तराखंड में फील्ड अथवा डेस्क पर 10 वर्ष सक्रिय पत्रकारिता करने वाले सभी पत्रकारों को मान्यता देने हेतु नीति बनाने का आग्रह किया। महानिदेशक बंशीधर तिवारी ने बीमा समेत इन तीनों मामलों में समुचित कार्रवाई करने का आश्वासन दिया। क्लब महामंत्री ओपी बेंजवाल ने क्लब भवन निर्माण संबंधी मामले में शासन स्तर से बरते जा रहे विलंब पर रोष व्यक्त करते हुए इस संबंध में शीघ्र सभी बाधाएं दूर करते हुए कार्यारंभ कराने का आग्रह किया। साथ ही उन्हें अवगत कराया गया कि जल्द कार्रवाई न होने की स्थिति में पांच वर्ष पूर्व लगा तत्कालीन सरकार का शिलान्यास पट दिसंबर माह के दूसरे पखवाड़े में क्लब परिसर से उखाड़ कर सचिवालय के बाहर स्थापित कर दिया जाएगा। सदस्य विकास गुसाईं ने पत्रकारों के लिए भी अटल आयुष्मान योजना में राज्य कर्मचारियों की भांति अंशदान आधारित गोल्डन कार्ड सरीखी स्वास्थ्य सुविधा प्रदान करने पर जोर दिया। महानिदेशक ने क्लब भवन निर्माण का मामला जल्द निस्तारित कर देने और स्वास्थ्य सुविधा के मामले में भी उचित कदम उठाने का भरोसा दिलाया। इस मौके पर पूर्व अध्यक्ष नवीन थलेड़ी, विकास धूलिया, दर्शन सिंह रावत, कार्यकारिणी सदस्य राजेश बड़थ्वाल, पत्रकार रवि नेगी भी मौजूद रहे।

कांग्रेस सात नवंबर को माणा से भारत जोड़ो यात्रा शुरू करेगी

-14 से 19 नवंबर के बीच पूरे प्रदेश में यात्राएं निकाली जाएंगी -राज्य के धार्मिक स्थलों से मिट्टी व जल एकत्र कर राहुल गांधी को सौंपेंगे कांग्रेसी देहरादून। उत्तराखंड में कांग्रेस सात नवंबर को चमोली के सीमांत गांव माणा से भारत जोड़ो यात्रा शुरू करेगी। 14 से 19 नवंबर के बीच पूरे प्रदेश में यात्राएं निकाली जाएंगी। राज्य के विभिन्न धार्मिक स्थलों से मिट्टी और जल एकत्र कर कांग्रेस नेता राहुल गांधी को सौंपेंगे। साथ ही राहुल की यात्रा में अब आने वाले राज्यों में जगह जगह इस जल और मिट्टी के साथ पौधे भी रोपे जाएंगे। राज्य में यात्रा के दौरान राहुल द्वारा उठाए जा रहे राष्ट्रीय मुद्दों के साथ ही स्थानीय मुद्दे भर्ती घोटाला, अंकिता भंडारी हत्याकांड, कानून व्यवस्था समेत सभी ज्वलंत मुद्दों को जनता के सामने रखा जाएगा। कांग्रेस ने पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी द्वारा निकाली जा रही भारत जोड़ो यात्रा को बल देने के लिए स्थानीय स्तर पर भी याताएं निकालने का कार्यक्रम तय कर दिया है। कुमाऊं मंडल के बाद आज शनिवार को प्रदेश प्रभारी देवेंद्र यादव और प्रदेश अध्यक्ष करन माहरा ने गढ़वाल मंडल के कांग्रेस नेताओं और विधायकों के साथ यात्रा की तैयारियों को अंतिम रूप दिया। मीडिया से बातचीत में यादव ने बताया कि यात्रा भगवान बदरीनाथ के आशीर्वाद लेकर सात नवंबर को सुबह सात बजे माणा गांव से शुरू होगी। पूरे प्रदेश में विभिन्न स्थानों से विभिन्न चरणों में यात्राएं निकाली जाएंगी। पार्टी के वरिष्ठ नेता इनमें शामिल रहेंगे। यात्राओं के दौरान प्रत्येक धार्मिक स्थल का जल और मिट्टी भी एकत्र की जाएगी। प्रदेश अध्यक्ष माहरा ने कहा कि आज दो चरणों में सभी ब्लॉक,नगर जिला अध्यक्ष, विभिन्न प्रकोष्ठ, विभाग अध्यक्ष व विधायकों व शीर्ष नेताओं के साथ यात्रा की तैयारियों पर विस्तार से चर्चा की गई है। यात्रा के दौरान कांग्रेस केंद्र और प्रदेश सरकार की जनविरेाधी नीतियों को जनता के सामने रखेगी। महंगाई, बेरोजगारी, भ्रष्टाचार, सांप्रदायिकता प्रमुख मुद्दे होंगे। इसके साथ ही राज्य के स्थानीय मुद्दों को भी प्रमुखता से उठाया जाएगा।

अधिकारी कर्मचारी शिक्षक समन्वय समिति के सदस्यों ने सीएम के समक्ष रखीं अपनी सममस्याएं

देहरादून। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी से शनिवार को मुख्यमंत्री आवास में उत्तराखण्ड अधिकारी कर्मचारी शिक्षक समन्वय समिति के सदस्यों ने भेंट कर उन्हें अपनी समस्याओं से अवगत कराया। इस अवसर पर शासन के उच्चाधिकारियों के साथ विभिन्न कर्मचारी संगठनों के प्रतिनिधि उपस्थित रहे। मुख्यमंत्री के समक्ष समन्वय समिति द्वारा प्रस्तुत मांगों पर बिन्दुवार चर्चा हुई। मुख्यमंत्री ने कर्मचारी संगठनों की विभिन्न मांगों पर समितियों का गठन कर समयबद्ध तरीके से कर्मचारियों की समस्याओं के निराकरण के निर्देश दिये। साथ ही कहा कि इन समितियों में कर्मचारी संगठनों के प्रतिनिधि भी शामिल किये जाएं। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि कर्मचारी संगठनों की विभिन्न समस्याओं का सकारात्मक ढ़ंग से समाधान किया जायेगा। उन्होंने कहा कि किसी भी समस्या का समाधान आपसी बातचीत से ही संभव है। हमें आन्दोलन या हड़ताल की सोच को बदलकर आपसी सहमति से ही समस्याओं का समाधान पर ध्यान देना चाहिए, यह राज्य हम सबका है। राज्य के विकास की हमारी किसी एक ही नही बल्कि सामुहिक यात्रा है। कर्मचारियों के हित में राज्य सरकार द्वारा अनेक निर्णय लिये गये हैं। भविष्य में भी उनकी जायज मांगों का उचित समाधान निकाला जायेगा। उन्होंने कहा कि हमारा प्रयास समास्याओं का सरलीकरण के साथ समाधान करने का है, हम सब मिलकर चलेंगे तो समस्याओं का समाधान उचित ढ़ंग से हो सकेगा। मुख्यमंत्री ने सभी का आह्वान किया कि हम सबकों राज्य हित के बारे में भी सोचना होगा, अभी वेतन एवं पेंशन की मद में होने वाला व्यय हमारी आय से अधिक ही है। जबकि जीएसटी से मिलने वाली छूट समाप्त होने से लगभग 5 हजार करोड़ का नुकसान राज्य को उठाना पड़ेगा। उन्होंने कहा कि भविष्य में हमारा प्रदेश बेहतर ढ़ंग से चले हम और अधिक नौकरी देने वाले बने इसके लिये हमारा प्रयास आय के संसाधनों में वृद्धि का है, राज्य में निवेश के संसाधन बढ़ाने का है। पर्यटन हमारी आर्थिकी का आधार है इस दिशा में अवस्थापना सुविधाओं के विकास पर ध्यान दिया जा रहा है। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी का राज्य के प्रति विशेष लगाव होने के कारण प्रदेश में सड़क, रेल, स्वास्थ्य रोप वे आदि की योजनाओं पर तेजी से कार्य किया जा रहा है। प्रधानमंत्री ने इस दशक को उत्तराखण्ड का दशक बताया है। इस दशक में हमें राज्य को विकास की नई उचाईयों पर ले जाना है, राज्य के आय के संसाधनों में वृद्धि के लिये अधिकारी कर्मचारी संगठनों के भी सुझाव लिये जायेंगे। हमें राज्य हित में आय के संसाधनों को बढ़ाने की सोच पैदा करनी होगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में स्थान्तरण के सम्बन्ध में प्रभावी नीति तैयार की जायेगी इसके लिये अन्य राज्यों की व्यवस्थाओं के साथ कार्मिक संगठनों से भी सुझाव लिये जायेंगे। हमारी नीति ऐसी बने ताकि कार्मिकों को स्थान्तरण के लिये सिफारिश न करनी पड़े। उन्होंने कहा कि कार्मिकों की पदोन्नति समय पर हो विभाग में रिक्त पदों को समयबद्धता के साथ भरा जाय इसके लिये निर्देश जारी किये गये हैं साथ ही विभागाध्यक्षों को भी कर्मचारियों की समस्याओं के त्वरित समाधान के निर्देश दिये गये हैं। मुख्यमंत्री से भेंट के बाद कर्मचारी समन्वय समिति के सदस्य अपनी समस्याओं के समाधान के प्रति आश्वस्त नजर आये तथा सभी ने मुख्यमंत्री का आभार भी व्यक्त किया। इस अवसर पर अपर मुख्य सचिव राधा रतूड़ी, आनन्द बर्द्धन, प्रमुख सचिव आर.के.सुधांशु, सचिव शैलेश बगोली, आर.राजेश कुमार, अपर सचिव अरूणेन्द्र सिंह चौहान, गंगा राम तथा समन्वय समिति के सदस्यों में प्रताप सिंह पंवार, अरूण पाण्डे, एम एम चौहान, शक्ति प्रसाद भट्ट, पूर्णानन्द नौटियाल, विक्रम सिंह नेगी, नाजिम सिद्धीकी, दिनेश गुंसाई आदि उपस्थित थे।

30 रुपये नहीं देने से नाराज नशेड़ी ने लाठी-डंडों से पीटकर व्यापारी को मौत के घाट उतारा

पिथौरागढ़। पिथौरागढ़ जिले के तहसील क्षेत्र के सानदेव घोरपट्टा कस्बे में 30 रुपये नहीं देने से नाराज एक नशेड़ी युवक ने खौफनाक खूनी खेल खेला। रुपये नहीं देने से नाराज नशेड़ी युवक ने व्यापारी की लाठी-डंडों से पीटकर हत्या कर दी। बीच-बचाव के लिए आयी पत्नी को भी मारपीट कर जख्मी कर दिया। सूचना पर पहुंची राजस्व पुलिस ने हत्या का मुकदमा दर्ज कर आरोपी युवक को गिरफ्तार कर लिया है। तहसील मुख्यालय से करीब पांच किलोमीटर दूरी पर स्थित सानदेव घोरपट्टा में ननपापो निवासी प्रह्लाद सिंह (55) पुत्र धनराज सिंह की अपनी दुकान और होटल है। प्रहलाद सिंह का परिवार भी इसी मकान में रहता है। शुक्रवार देर शाम करीब साढ़े सात बजे अटलगांव निवासी 35 वर्षीय सोहन लाल पुत्र गणेश राम उनकी दुकान पर पहुंचा। आरोप है कि उसने दुकानदार से 30 रुपये की मांग की। दुकानदार ने उसे रुपये देने से इनकार कर दिया। आरोप है कि इससे गुस्साए सोहन लाल ने पास में पड़े डंडे से प्रह्लाद पर ताबड़तोड़ हमला कर दिया। बीच-बचाव करने पहुंची प्रहलाद की पत्नी कलावती देवी को भी गंभीर रूप से घायल कर दिया। प्रह्लाद की पत्नी के सिर, पीठ, हाथ-पैर में गंभीर चोट आई है। स्थानीय लोग प्रह्लाद को गंभीर अवस्था में सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र लेकर पहुंचे। यहां चिकित्सकों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। वहीं घायल पत्नी का भी अस्पताल में उपचार चल रहा है। सीएचसी में प्राथमिक उपचार के बाद घायल महिला को जिला अस्पताल रेफर कर दिया गया। डॉक्टरों के मुताबिक कलावती देवी की हालत अब खतरे से बाहर है। प्रह्लाद के भाई महिपाल सिंह की तहरीर पर राजस्व पुलिस ने मामले में हत्या का मुकदमा दर्ज कर आरोपी सोहन को गिरफ्तार कर लिया है। बताया जा रहा है कि सोहन मानसिक तौर पर अस्वस्थ है। शनिवार को व्यापारी के शव का पोस्टमार्टम किया गया।

राज्य स्थापना दिवस पर भ्रष्टाचार के खिलाफ यूकेडी करेगी प्रदर्शन

देहरादून। नौ नवम्बर को उत्तराखंड स्थापना दिवस के अवसर मे यूकेडी के सभी कार्यकर्ता अपने अपने जिला एवं नगर मुख्यालय में रैली या जुलूस की शक्ल में सभी सदस्यों के साथ जाकर जिलाधिकारी/उप जिलाधिकारी/नगर मजिस्ट्रेट/तहसीलदार कार्यालय में जमा होकर नारेबाजी करेंगे। इसके साथ ही उत्तराखंड के वर्तमान जंगल रज सरीखे घटनाक्रम (अंकिता जघन्य हत्याकांड, पूर्व एवं वर्तमान विधानसभा अध्यक्षों द्वारा अपने पद के दुरुपयोग करने संबंधित कृत्य) की सीबीआई जांच करने हेतु ज्ञापन महामहिम राष्ट्रपति के नाम प्रेषित करेंगे। यूकेडी के केंद्रीय मीडिया प्रभारी शिवप्रसाद सेमवाल ने कहा कि दल के केंद्रीय अध्यक्ष काशी सिंह ऐरी ने पार्टी के सभी केंद्रीय व जिला स्तरीय पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं को निर्देश जारी कर दिये गये हैं। यूकेडी नेता शिवप्रसाद सेमवाल ने कहा कि सरकार भ्रष्टाचार के खिलाफ कार्रवाई करने मे नाकाम साबित हुई है। सरकार के खिलाफ चौतरफा आक्रोश है। सेमवाल ने कहा कि यह सरकार ओल्ड पेंशन स्कीम से लेकर गोल्डन कार्ड तक का मसला हल करने मे नाकाम साबित हुई है। यह सरकार कर्मचारी विरोधी है। भर्ती घोटालों के जिम्मेदारों के खिलाफ भी सरकार बचा रही है। यही कारण है कि सभी आरोपी लोअर कोर्ट से ही जमानत पा जा रहे हैं। सरकार बेरोजगार विरोधी है। अंकिता, ममता बहुगुणा और केदार भंडारी हत्याकांड को लेकर भी सेमवाल ने सरकार के खिलाफ आक्रोश व्यक्त करते सरकार को महिला विरोधी करार दिया। इन सभी अराजकता के खिलाफ नौ नवम्बर को सभी जगह यूकेडी कार्यकर्ता विरोध प्रदर्शन करेंगे और ज्ञापन देंगे।

स्मार्ट सिटी के रुके हुए कार्यों को जल्द पूर्ण करवाया जाएः पंकज मेसोन

देहरादून (गढ़ संवेदनाा)। #दून वैली महानगर उद्योग व्यापार मण्डल देहरादून के मुख्यालय में एक बैठक आहूत हुई जिसमे व्यापार मंडल के पध्धिकारी गण उपस्थित रहे और स्मार्ट सिटी से जुड़े हुए कई मुद्दों पर चर्चा की। इस बैठक में सबसे एहम मुद्दा दुकानों के जो छज्जे प्रशासन द्वारा 2 साल पहले तोड़े गए थे उनका निर्माण कार्य अभी तक नही हो पाया है जिससे व्यापारी वर्ग को आए दिन धूप और बरसात को झेलना पढ़ता है जिससे व्यापारी का सामान खराब होता है। दुकानों में छज्जे ना होने के कारण ना तो वह अपनी दुकान का नाम बोर्ड पर प्रकाशित कर पा रहा है जिससे ग्राहकों को भी असुविधा का समान करना पढ़ रहा हैं। समाचार पत्रों के माध्यम से यह भी ज्ञात हुआ है की बाजार की दुकानों के छज्जों का टेंडर पास हो चुका हैं परंतु अभी तक छज्जों का निर्माण कार्य शुरू नहीं हुआ हैं। पूर्व में यह भी तय हुआ था कि पहले बाजार के चार स्थानों पर अलग अलग जगह पर छज्जों के सैंपल तैयार कर बाजार में व्यापारियों को दिखाया जाएगा लेकिन अभी तक यह कार्य शुरू ही नही हो पाया जिससे दुकानदार छज्जे ना होने की वजह से बहुत रोश में हैं। संरक्षक सुशील अग्रवाल द्वारा कहा गया की बिजली के खंभों को हटाने का एवम बिजली के सभी कार्यों को पूरा करने का जो निर्धारित समय दिया गया था वह कार्य निर्धारित समय पूरा होने पर भी स्मार्ट सिटी द्वारा अभी तक पूरा नहीं किया गया हैं। अध्यक्ष पंकज मैसोन द्वारा कहा गया की घंटा घर से लेकर दर्शानी गेट तक जितने भी गली मोहल्ले पलटन बाजार धामावाला एव दर्शनी गेट की नालियों से जुड़े हुए है वह जल्द से जल्द जोड़े जाएं ताकि जो गंदा पानी सड़को पर आ रहा है उससे व्यापारियों एवम ग्राहकों को बहुत जाएदा परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। साथ ही उनके द्वारा कहा गया की घंटा घर से लेकर जो कोतवाली तक फुट पाथ बनने हैं उसका भी जल्द से जल्द निर्माण कार्य पूर्ण किया जाए। साथ ही दुकानों के छज्जों का निर्माण कार्ये भी जल्द से जल्द निर्धारित अवधि में किया जाए। महामंत्री पंकज दीदान द्वारा कहा गया कि स्मार्ट सिटी द्वारा जो टाइल्स पलटन बाजार में लगाई गई थी वह बहुत जगह से टूट चुकी हैं और डक्ट के उपर जो ढक्कन लगे हुए हैं वह भी क्षतिग्रस्त हो चुके हैं कृपया इसका जल्द से जल्द पुनः निर्माण किया जाए। युवा अध्यक्ष मनन आनंद द्वारा कहा गया की स्मार्ट सिटी द्वारा जो बाजारों में सीसीटीवी कैमरे लगाए जाने थे उसका कार्य भी जल्द से जल्द प्रारंभ किया जाए क्योंकि बाजारों में हो रही अप्रिय घटनाओं पर भी नजर रखी जा सके। युवा महामंत्री दिव्य सेठी द्वारा अवगत करवाया गया की इस सब कार्यवाही के लिए सोमवार को दून वैली महानगर उद्योग व्यापार मंडल अध्यक्ष पंकज मैसोन अपने व्यापारियों के साथ जिलाधिकारी को 12.30 बजे कचहरी परिसर में इन सब विषयो पर ज्ञापन सौंपेंगे।

Featured Post

A viable alternative to joint replacement: Dr. Gaurav Sanjay

Dehradun. India and International book records holder Dr. Gaurav Sanjay is well known young orthopaedic surgeon has presented a clinical s...