Monday, 26 December 2022

मसूरी विंटर लाइन कार्निवल का सीएम ने किया शुभारंभ

देहरादून। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने सोमवार को मसूरी विंटर लाइन कार्निवल 2022 का शुभारंभ किया। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने विंटर लाइन कार्निवाल में आयोजित सांस्कृतिक कार्यक्रमों का अवलोकन किया। उन्होंने स्थानीय कलाकारों द्वारा प्रस्तुत कार्यक्रमों की सराहना की तथा लोक कलाकारों का उत्साहवर्धन किया। मसूरीवासियों को मसूरी विंटर लाइन कार्निवल 2022 के आयोजन की बधाई देते हुए मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि नैसर्गिक सौंदर्य से पूरित देवभूमि उत्तराखण्ड का प्रत्येक क्षेत्र एक विशेष प्रकार की ऊर्जा लिए हुए है। नए वर्ष के आगमन के साथ मसूरी विंटर लाइन कार्निवल का आयोजन देश-विदेश के पर्यटकों तथा विभिन्न राज्यों से आए लोक कलाकारों आदि के लिए आकर्षण का केंद्र बन गया है। मुख्यमंत्री श्री धामी ने कहा कि विश्व प्रसिद्ध मसूरी का यह विंटर कार्निवाल पर्यटन व लोक संस्कृति का अनूठा संगम है। उन्होंने कहा कि मसूरी विंटर कार्निवाल उत्तराखंडवासियों के लिए ही नहीं बल्कि उत्तराखंड आए सभी पर्यटकों के लिए भी विशेष आकर्षण का केंद्र है। विंटर कार्निवाल के माध्यम से राज्य के कलाकारों को अपनी प्रतिभा प्रस्तुत करने का भी सुनहरा अवसर प्राप्त हो रहा है। देश-विदेश से आए प्रसिद्ध कलाकार भी अपनी प्रस्तुतियों के माध्यम से इसे और भी अधिक मनोहारी बनाने का काम कर रहे हैं। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि हम सभी के लिए गौरव की बात है कि पहाड़ों की रानी मसूरी ने विश्व पर्यटन के मानचित्र पर अपनी एक विशिष्ट पहचान स्थापित की है। प्रतिवर्ष लाखों पर्यटक मसूरी की ओर रुख करते हैं। सर्दियों में भी चांदी सी चमकती बर्फ का आनंद लेने के लिए अनेकों सैलानी मसूरी के आस-पास बड़ी संख्या में उमड़ते हैं। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के नेतृत्व में उत्तराखंड आध्यात्मिक केंद्र के रूप में और अधिक सशक्त हुआ है। प्रधानमंत्री जी के मार्गदर्शन में उत्तराखण्ड की डबल इंजन की सरकार उत्तराखण्ड में पर्यटन विकास के लिए प्रतिबद्धता के साथ कार्य कर रही है। प्रधानमंत्री जी ने 21वीं सदी का तीसरा दशक उत्तराखंड का बताया है जिसमें राज्य के पर्यटन व सांस्कृतिक महोत्सवो की महत्वपूर्ण भूमिका होगी द्य हम पर्यटन तथा पर्यटक दोनों को बेहतर सुविधाएं प्रदान करने के लिए नित नई योजनाओं को लागू कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि प्रसन्नता है कि विंटर कार्निवाल जैसे कार्यक्रम सरकार के ष्पर्यटन विकास के अभियानष् को सफल बनाने में अपना अमूल्य योगदान दे रहे हैं।मुख्यमंत्री ने कहा कि आशा है कि देश विदेश से आए पर्यटक देवभूमि उत्तराखण्ड के इस महोत्सव की आनंदित स्मृतियों को अपने साथ लेकर जाएंगे। इस अवसर पर जिलाधिकारी देहरादून सोनिका, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक देहरादून, अन्य वरिष्ठ अधिकारी, जनप्रतिनिधि, बड़ी संख्या में स्थानीय लोग तथा पर्यटक उपस्थित थे।

विंटर लाइन कार्निवाल में माउंटेन बाइक रैली व पैराग्लाइडिंग शो का होगा आयोजन

देहरादून। विंटर लाइन कार्निवाल का सोमवार से आगाज हो गया है। इसी उपलक्ष्य में कॉर्निवाल के दूसरे दिन मंगलवार को उत्तराखण्ड पर्यटन विकास परिषद (यूटीडीबी) व पहाड़ी पैडलर के सयोग से माउंटेन बाईक रैली का आयोजन किया जा रहा है। जिसको माननीय मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी, मुख्यमंत्री आवास से प्रातः 7रू30 बजे हरी झण्डी दिखाकर रवाना करेंगे। माउंटेन बाईक रैली की शुरूआत मुख्यमंत्री आवास से शुरू होकर किंक्रेग, पिक्चर पैलेस, मॉल रोड़ मसूरी होते हुए गॉधी चौक पर समाप्त होगी। विंटर लाइन कॉर्निवाल अध्यक्ष, जिलाधिकारी सोनिका ने बताया कि माउंटेन बाई रैली के माध्यम से राज्य को स्वच्छ पर्यावरण व पॉलीथिन मुक्त कराने का संदेश देना है। उन्होंने बताया कि इस बाईक रैली में लगभग 80 माउंटेन बाइकर्स प्रतिभाग करेंगेे। इसके अलावा विंटर लाइन कार्निवाल में पैराग्लिाईडिंग व पैरा मोटर आदि एरो स्पोटर्स आयोजित किये जा रहे हैं। विंटर कॉर्निवाल में पैराग्लाईडिंग के लिए पूरे भारत वर्ष से आये हुए पायलटों ने लोगों में पैराग्लाईडिंग के प्रति जागरूकता बढ़ाने और सुरक्षा के लिए पैराग्लाईडिंग डिमोस्ट्रेशन किया जायेगा। वहीं जार्ज एवरेस्ट से हिमालय दर्शन के लिए आरंभ की गयी हैली सेवा विंटर लाइन कार्निवाल में आकर्षण का मुख्य केन्द्र रहेगी। इस पांच दिवसीय विंटर लाइन कॉर्निवाल में वोकल फॉर लोकल मिशन के तहत स्थानीय उत्पादों जैसे लोककलाओं, लोक व्यंजनों, लोक संगीत व लोक साहित्य को बढ़ावा दिया जायेगा। इस कॉर्निवाल में राज्य की नामचीन हस्तियों से लेकर देश भर व बॉलीवुड की हस्तियां विभिन्न कार्यक्रमों के उपलक्ष्य में शामिल होंगी।

जनसुनवाई कार्यक्रम में डीएम ने सुनीं शिकायतें, 108 शिकायतें हुई दर्ज

देहरादून। जिलाधिकारी सोनिका की अध्यक्षता में ऋषिपर्णा सभागार कलेक्टेªट में जनसुनवाई का आयोजन किया गया। जनसुनवाई में 108 शिकायतें प्राप्त हुई, जिनमें अधिकतर शिकायतें भूमि विवाद, अवैध कब्जे से सम्बन्धित प्राप्त हुई इसके अतिरिक्त मनरेगा जॉब कार्ड का फर्जीवाड़ा, विद्युत पोल शिफ्टिंग, आपसी विवाद, धमकी, भारी वाहनों से क्षतिग्रस्त हो रही सड़क, विद्युत कनेक्शन, नाली खुलवाने आदि शिकायतें प्राप्त हुई। जिलाधिकारी ने जनसुनवाई में प्राप्त हो रही शिकायतों को त्वरित निस्तारण के निर्देश दिए। जिलाधिकारी ने केदारवाला में आयोजित चौपाल में विद्युत कनेक्शन दिलाने हेतु फरियादी फुरकाना तथा विद्युत पोल शिफ्ट करने की शिकायत पर उन्होंने विद्युत विभाग के अधिकारियों को आवश्यक कार्यवाही करने के निर्देश दिए। इसी प्रकार बालुवाला के दिव्यांग पंकज पुत्र अमीर चन्द्र तथा ऋषिकेश के मनोहर लाल अरोड़ा को व्हील चेयर दिलाने हेतु जिला समाज कल्याण अधिकारी को निर्देशित किया। जिलाधिकारी ने मनरेगा फर्जी कार्ड की शिकायतों पर मुख्य विकास अधिकारी को जांच करने के निर्देश दिए। तथा गलज्वाड़ी एवं बिष्ट गांव में ग्राम समाज की भूमि पर अवैध कब्जों की शिकायत पर उप जिलाधिकारी मसूरी एवं उप जिलाधिकारी सदर को आवश्यक कार्यवाही करने के निर्देश दिए। जिलाधिकारी ने निर्देश दिए कि सीएम हेल्पलाइन पर प्राप्त हो रही शिकायतों को संज्ञान में लेते हुए निस्तारण करें तथा शिकायतकर्ता से भी दूरभाष पर वार्ता करते हुए अवगत करा दें। उन्होंने सभी एल1 अधिकारियों को कड़े निर्देश दिए कि कोई भी शिकायत लंबित न रहे। जनुसनवाई में मुख्य विकास अधिकारी झरना कमठान, संयुक्त मजिस्ट्रेट वरूणा अग्रवाल,अपर मुख्य नगर अधिकारी नगर निगम जगदीश लाल, जिला विकास अधिकारी सुशील मोहन डोभाल, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ0 मनोज कुमार उप्रेती, सहायक निदेशक सूचना बी.सी नेगी, जिला समाज कल्याण अधिकारी गोर्वधन सिंह सहित विद्युत, पेयजल, जल संस्थान, लोनिवि, सिंचाई आदि संबंधित विभागों के अधिकारी उपस्थित रहे।

29 दिसंबर से होगा राज्यस्तरीय खेल महाकुंभ का शुभारंभ

देहरादून। प्रदेश में आगामी 29 दिसम्बर को राज्य स्तरीय खेल महाकुंभ का आयोजन किया जाएगा जो कि रायपुर स्थित महाराणा प्रताप स्पोर्ट्स कॉलेज में आयोजित होगा। राज्यस्तरीय खेल महाकुंभ में प्रदेश के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी बतौर मुख्य अतिथि शामिल होंगे। सचिवालय स्थित मीडिया सेंटर में प्रेस वार्ता करते हुए खेल मंत्री रेखा आर्या ने कहा कि न्याय पंचायत स्तर से शुरू हुआ यह खेल महाकुंभ ब्लॉक स्तर और फिर जिला स्तर से होते हुए अब राज्यस्तर पर आयोजित होने जा रहा है। इस महाकुंभ में लगभग तीन लाख 75 हज़ार प्रतिभावान खिलाड़ियों ने अभी तक प्रतिभाग किया है। खेल मंत्री रेखा आर्या ने कहा कि हमारा उद्देश्य है कि हम आने वाले 38 वे राष्ट्रीय खेलो के साथ ही अंतरराष्ट्रीय स्तर के लिए अपने खिलाड़ियों को तैयार करें। आज हमारे राज्य से बड़ी संख्या में प्रतिभावान खिलाड़ी कई खेलो में प्रतिभाग करने के साथ देश के साथ प्रदेश का नाम रोशन कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि हमारी कोशिश है कि हम अपने खिलाड़ियों को बेहतर अवसर प्रदान करने के साथ उन्हें 38वे राष्ट्रीय खेलों के लिए तैयार करें। खेल मंत्री ने बताया कि खेल महाकुम्भ 2022 के अन्तर्गत न्याय पंचायत, विकासखण्ड, जनपद स्तर पर अंडर-14, अंडर- 17. अण्डर-21 बालक-बालिका वर्ग में एथलेटिक्स, कबड्डी, खो-खो, वालीबाल, फुटबाल, हैण्डबाल, बास्केटबाल, जूडो, ताईक्वांडो, बाक्सिंग, कराटे, बैडमिंटन, टेबिल टेनिस, हॉकी, योगा एवं मलखम्ब खेलकूद प्रतियोगिताओं का आयोजन किये जाने के साथ जनपद स्तर पर सीधे 17-21 आयुवर्ग में पैन्टॉथलॉन (दौड़, लम्बीकूद, ऊंचीकूद, चिनअप/रस्सी कूद, बाल श्रो) एवं राज्य स्तर पर सीधे दिव्यांगजन की एथलेटिक्स एवं बैडमिंटन की प्रतियोगिताओं का आयोजन किया जाएगा। विशेष प्रमुख सचिव खेल अभिनव कुमार ने बताया कि 662 न्याय पंचायत स्तर पर दिनांक 1 अक्टूबर 2022 से 15 अक्टूबर 2022 के मध्य एथलेटिक्स, कबड्डी, खो-खो एवं वालीबाल की प्रतियोगिताएं आयोजित की गई। 95 ब्लॉक स्तर पर एथेलेटिक्स, कबड्डी,खो -खो,बालीवाल तथा सीधे ब्लॉक स्तर पर आयोजित फुटबाल एवं बैडमिंटन की प्रतियोगिताए आयोजित की गई। 13 जनपद स्तर पर एथलेटिक्स, कबड्डी, खो-खो बालीबाल, फुटबाल,बैडमिंटन तथा टेबिल टेनिस, हैण्डबाल, बास्केटबाल, जूडो, बाक्सिंग, ताईक्वांडो, कराटे की सीधी आयोजित प्रतियोगिताओं में खिलाड़ियों द्वारा प्रतिभाग किया गया। राज्य स्तर पर अण्डर-14, 17, 21 आयु वर्ग में बालक-बालिकाओं की एथलेटिक्स, कबड्डी, खो-खो, वालीबाल, फुटबाल, हैण्डबाल, बास्केटबाल, जूडो. त्रताईक्वांडो, बाक्सिंग, कराटे, बैडमिंटन, टेबिल टेनिस, हॉकी, योगा एवं मलखम्ब खेल विधाओं में प्रतियोगिताओं का आयोजन किया जाएगा। उक्त के अतिरिक्त 17-21 आयुवर्ग में पैन्टॉथलॉन (दौड़, लम्बीकूद, ऊंची कूद, चिनअप/रस्सी कूद, बाल थो) एवं दिव्यांगजन की एथलेटिक्स एवं बैडमिंटन की प्रतियोगिताओं का आयोजन भी किया जा रहा है। इस प्रकार अब तक कुल 217569 बालक एवं 155559 बालिकाओं सहित कुल 373128 खिलाड़ियों द्वारा प्रतिभाग किया जा चुका है तथा लगभग 8000 खिलाड़ियों द्वारा राज्य स्तर पर प्रतिभाग किया जाना है। वर्ष 2021 में आयोजित खेल महाकुम्भ में लगभग 2.25 लाख खिलाड़ियों द्वारा प्रतिभाग किया गया था। खेल महाकुम्भ के सुअवसर पर खेल विभाग द्वारा अन्तर्राष्ट्रीय प्रतियोगिताओं में पदक विजेता एवं प्रतिभाग करने वाले खिलाड़ियों एवं प्रशिक्षकों को नकद पुरस्कार देकर सम्मानित भी किया जाएगा। साथ ही इस दौरान मुख्यमंत्री जी द्वारा महाराणा प्रताप स्पोर्टस कालेज परिसर में राष्ट्रीय खेल की शूटिंग प्रतियोगिता के आयोजन हेतु रु0 31.18 करोड़ की लागत से नवनिर्मित शूटिंग रेंज का लोकार्पण भी किया जाएगा। राज्य स्तर पर होने जा रहे इस आयोजन में 13 जनपदों की 13 टीमें भाग लेंगी जिसमे 14 खेल होंगे। राज्य स्तर पर यह आयोजन जिले से जिले की टीमों के मध्य होंगे। खेल मंत्री रेखा आर्या ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा खेलों व खिलाड़ियों को बढ़ावा देने के लिए खेल नीति लागू की गई है। खेल नीति में खिलाड़ियों के उन्नयन, खेल प्रतिभाओं को तलाशने, निखारने व उभारने, खेलों के प्रति रुचि बढ़ाने, खिलाड़ियों के नियोजन, सामान्य आहार के साथ-साथ बेहतर डाइट की व्यवस्था, खिलाड़ियों के लिए रोज़गार के अवसर तथा सम्बंधित पूर्ण सुविधाएं प्रदान करने का प्रावधान किया गया है।

अंकिता भण्डारी हत्याकाण्ड की सीबीआई जॉच एवं वीआईपी के नाम के खुलासे को लेकर कांग्रेस ने किया धरना-प्रदर्शन

देहरादून। उत्तराखण्ड कांग्रेस द्वारा पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत के नेतृत्व में देहरादून के गांधी पार्क में अंकिता भण्डारी हत्याकाण्ड में सीबीआई जॉच एवं वीआईपी के नाम के खुलासे की मांग को लेकर दो दिवसीय (24 घण्टे)े का धरना प्रदर्शन किया गया। धरने में भारी संख्या में कार्यकर्ता एकत्रित हुए। अंकित हम शर्मिदा हैं तेरे कातिल जिन्दा हैं, सीबीआई की जॉच कराओं अंकिता को न्याय दिलाओ, वीआईपी का नाम बताओं, इत्यादी नारों से गांधी पार्क परिसर गुजांएमान हो उठा। उपस्थित लोगो में अंकिता हत्याकांड के तीन महिने बीत जाने के बावजूद भी वीआईपी के नाम का खुलासा न होने के कारण भारी आक्रोश देखने को मिला। आम जन राज्य सरकार द्वारा गठित एसआईटी की जॉच से असंतुष्ट दिखी। धरने के दौरान मीडिया बन्धुओं से बातचीत में पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कहा कि भाजपा सरकार में उत्तराखण्ड राज्य की कानून व्यवस्था ध्वस्त हो चुकी है। रावत ने भाजपा सरकार को आढे़ हाथों लेते हुए कहा कि भाजपा सरकार में राज्य की कानून व्यवस्था लचर अवस्था में पहुॅच गयी है। आये दिन महिलाओं पर अत्याचार की घटनाएं घटित हो रही है। यमकेश्वर ब्लॉक के वंननतरा रिर्जाेट में घटित अंकिता हत्याकांड जैसी विभत्स घटना से उत्तराखंड राष्ट्रीय पटल पर शर्मसार हो गया है। पौडी जिले की बेटी अंकिता भण्डारी जो मात्र अपनी मौत से 15 दिन पहले भाजपा सरकार में राज्य मंत्री रहे डॉ विनोद आर्य के रिजोर्ट में रिसेपसनिस्ट के पद पर नौकरी में लगायी गयी थी उसका विनोद आर्य के बेटे पुलकित आर्य ने मानसिक उत्पीडन किया तथा किसी वीआईपी को एकस्ट्रा सर्विस देने के लिए दबाव डाला। राज खुलने के डर से अंकिता को चीला नहर फेंक दिया जिस घटना को सुनकर हर किसी की रूह कांप गयी और घटना के तीन माह बीत जाने के बाद भी उत्तराखण्ड की सरकार और पुलिस प्रशासन मामले की लीपापोती में जुटे हैं। रावत ने अंदेशा जताया कि कहीं न कहीं जिस वीआईपी को बचाने का ऐढीचोटी का जोर लगाया जा रहा वो इतना बडा नाम है कि उसका खुलासा करने से भाजपा को बेनकाब होने का डर है। रावत ने कहा कि बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ का नारा देने वाली भाजपा सरकार में महिलाओं पर अत्याचार की घटनायें लगातार बढती जा रही हैं। भाजपा सरकार में अपराधियों को संरक्षण दिया जा रहा है। भाजपा नेता के बिना अनुमति के चल रहे रिजार्ट में राज्य की बेटी अंकिता भण्डारी के साथ हुई जघन्य अपराध की घटना इसका जीता जागता उदाहरण है। रावत ने कहा कि आज उत्तराखण्ड की बेटियां अपने ही राज्य में सुरक्षित नही है? रावत ने कहा कि अंकिता हत्याकाण्ड में बहुत सारे सवाल उलझे हुए हैं बहुत से ऐसे सवाल हैं जो अनुउत्तरित हैं। जैसे रिजोर्ट में बुलडोजर किसके आदेशों से चलाया गया, क्यों चलाया गया, रिजोर्ट को सील क्यों नही किया गया, रिजोर्ट में पुलिस प्रशासन की मौजुदगी में दो बार आग कैसे लग गयी। क्या इस लापरवाही के लिए किसी की जिम्मेदारी और जवाबदेही तय की गयी? उन्होनें कहा कि जबसे भाजपा सत्ता में आई है तब से राज्य की कानून व्यवस्था अपने निम्न स्तर पर पहुॅच चुकी है। भाजपा सरकार में न तो बच्चियॉ सुरक्षित हैं और न महिलाएं। पिछले छः माह के अन्दर राज्य में महिलाओं के साथ घटित घटनाएॅ इसका प्रमाण हैं। उन्होनें कहा कि राज्य के मैदानी जनपद ही नही अपितु पर्वतीय जनपदों में भी महिलाएं अपने को असुरक्षित महसूस कर रही हैं। रावत ने कहा कि बेटी पढाओं-बेटी बचाओं का नारा केवल भाजपा का चुनावी जुमला बनकर रह गया है। उन्होनें कहा कि उत्तराखण्ड राज्य निर्माण आन्दोलन में यहां की महिलाओं का अतुलनीय योगदान रहा है तथा आन्दोलन में कई आन्दोलनकारियों ने अपने प्राणों की आहुति तक दे दी थी। परन्तु आज जिस प्रकार भाजपा की सरकार में महिलाओं आये दिन बलात्कार एवं हत्या जैसे जघन्य अपराधों का शिकार हो रही हैं उससे पूरा उत्तराखण्ड अपने को शर्मशार महसूस कर रहा है। उन्होनें सरकार से मांग की है कि अंकिता भण्डारी प्रकरण के दोषियों के खिलाफ कठोर से कठोर कार्रवाई की जाए इस पूरे प्रकरण की सीबीआई जॉच मा0 उच्च न्यायालय के न्यायधीश की निगरानी में हों ताकि वीआईपी का नाम उजागर हो सके और सत्य सबके सामने आ सके। धरने में पूर्व सांसद प्रदीप टम्टा, पूर्व मंत्री गोविन्द सिंह कुंजवाल, हीरा सिंह बिष्ट, मंत्री प्रसाद नैथानी, संगठन महामंत्री विजय सारस्वत, राजपाल खरोला, सतपाल ब्रहमचारी, सीपीआई समर भण्डारी, एस0एस0 पांगती, प्रकाश थपलियाल, पूर्व विधायक ओम गोपाल, सुरेन्द्र अग्रवाल, महानगर अध्यक्ष जसविन्दर सिंह गोगी, पूरन सिंह रावत, विरेन्द्र पोखरियाल, मुख्य प्रवक्ता गरिमा दसौनी, मीडिया सलाहकार अमरजीत सिंह, ,एस0सी0विभाग अध्यक्ष दर्शन लाल, प्रदेश प्रवक्ता शीशपाल सिंह बिष्ट, नीरज त्यागी, नवनीत सती, ऋषिकेश महन्त विनय सारस्वत, श्याम सिंह चौहान, हरिद्वार जिलाध्यक्ष राजीव चौधरी, पार्षद ऋषिकेश मनीष शर्मा, सुरेन्द्र रांगड, महेन्द्र सिंह नेगी गुरूजी, सेवादल प्रदेश अध्यक्ष हेमा पुरोहित, सुशील राठी, आशा मनोरमा डोबरियाल, शान्ति रावत, प्रशान्त भैंसोडा, संग्राम पुण्डिर, लक्ष्मण नेगी, ओमप्रकाश सती, विरेन्द्र पंवार, चौ.सतवीर, राव अफाक, संजय सैनी, विरेन्द्र कण्डारी, राजेन्द्र राणा, शकील मंसूर, नजमा खान, महावीर रावत, धर्म सिंह पंवार, चौ0 करतार सिंह, पूर्व पार्षद सुनील जयसवाल, राकेश नेगी, मनीष नागपाल, कमल रावत, चन्द्रकला नेगी, पुष्पा पंवार, सरोज देवराडी, आशा टम्टा, अम्बीका चौहान, रितेश क्षेत्री आदि शामिल रहे।

स्वावलंबी भारत अभियान उत्तराखंड के तहत संघ कार्यालय विकासनगर में आयोजित की गई बैठक

देहरादून। स्वावलंबी भारत अभियान उत्तराखंड के तहत संघ कार्यालय विकासनगर में कार्यक्रम आयोजित किया गया। कार्यक्रम में विभिन्न वक्ताओं द्वारा उत्तराखंड में रोजगार एवं स्वरोजगार को बढ़ाने के बारे में बताया गया। कार्यक्रम में अभियान के जिला संयोजक संदीप श्रीवास्तव जी ने बैठक की प्रस्तावना रखी। प्रांत सह संयोजिका डॉ दिव्या नेगी घई ने मां तुलसा जी के महत्व के बारे में चर्चा की एवं डिजिटल प्लेटफॉर्म के संदर्भ में बैठक में आए लोगों को अवगत कराया, वहीं स्वावलंबी भारत अभियान की प्रांत महिला समन्वयक प्रीेति शुक्ला ने अभियान के प्रथम चरण से लेकर चतुर्थ चरण तक की विस्तार से चर्चा की। प्रांत समन्वयक दरवान सरियाल ने जिला सर्जन केंद्र एवं अभियान को कैसे उत्तराखंड में गति दे सके इस संदर्भ में चर्चा की। कार्यक्रम में वक्ताओं ने विस्तार से स्वावलंबी भारत अभियान के बारे में बताया, उन्होंने बताया कि स्वावलंबी भारत अभियान, भारत में रोजगार और स्वरोजगार के अवसर पैदा करने हेतु ठोस कदम उठाने के लिए एक महत्वपूर्ण सामूहिक पहल है, जिसे आर्थिक, सामाजिक और राजनीतिक क्षेत्र में काम कर रहे राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के 18 संगठनों द्वारा प्रारम्भ किया गया है। भले ही भारत को आज विष्व का सबसे युवा राष्ट्र माना जाता है, लेकिन इसके बावजूद भारत के आर्थिक विकास के लिए बेरोजगारी सबसे बड़ी चुनौती है। उन्होंने कहां उत्तराखंड के पास कौशल विकास, नवाचार, अनुसंधान और विकास के माध्यम से एक ऐसा वातावरण बनाना हैं जिससें हमारे उत्तराखंड में रोजगार और स्वरोजगार के अवसर पैदा हो। अब समय आ गया है जहां उत्तराखंड के युवा अपनी क्षमता का उपयोग कर न केवल अपने लिए बल्कि दूसरों के लिए भी, ग्रामीण और शहरी दोनों क्षेत्रों में रोजगार पैदा करने में सक्षम हों। हमारा लक्ष्य उत्तराखंड के प्रत्येक नागरिक को गरीबी रेखा से ऊपर लाना, प्रत्येक हाथ को काम प्रदान करना और उत्तराखंड को एक समृद्ध राज्य बनाना है, जहां उत्तराखंड के प्रत्येक नागरिक को आर्थिक विकास का लाभ मिले। स्वावलंबी भारत अभियान के तहत श्री गोवर्धन सरस्वती विद्या मंदिर, धर्मपुर में देहरादून के जिला रोजगार सृजन केंद्र का उद्घाटन पहले ही हो चुका है। आगे विकासनगर में भी एक रोजगार सृजन केंद्र खोलने का प्रस्ताव है। विकासनगर से बिशेंद्र शर्मा ने यह बैठक आयोजित की एवं अभियान से जुड़े चंदोला जी ने भारत के स्वर्णिम इतिहास की याद दिलाते हुए, युवाओं को इस अभियान से जोड़ने का आह्वान किया।

श्रीनगर विस क्षेत्र के चार दिवसीय दौरे पर कैबिनेट मंत्री डा. धन सिंह रावत

 
देहरादून। सूबे के कैबिनेट मंत्री डॉ0 धन सिंह रावत श्रीनगर विधानसभा क्षेत्र के चार दिवसीय दौरे पर हैं। डॉ0 रावत अपने भ्रमण के दौरान क्षेत्र के विभिन्न स्कूलों, महाविद्यालयों, चिकित्सा इकाईयों व हेल्थ एंड वेलनेस सेंटरों का औचक निरीक्षण करेंगे। इस दौरान वह विधानसभा क्षेत्र की शिक्षा व्यवस्था व स्वास्थ्य सेवाओं की स्थिति भी परखेंगे। इसके अलावा डॉ0 रावत क्षेत्र में विभिन्न विकासपरक योजनाओं का लोकार्पण एवं शिलान्यास करेंगे। अपने विधानभा क्षेत्र भ्रमण की शुरूआत उन्होंने कोटद्वार विधानसभा क्षेत्र से की जहां उन्होंने विभिन्न चिकित्सा इकाईयों का निरीक्षण किया। वहीं भ्रमण के दूसरे दिन डॉ0 रावत ने श्रीनगर विधानसभा क्षेत्र के तलैया, मेलधार, उल्याणी एवं उफरैंखाल में विभिन्न योजनाओं का लोकार्पण एवं शिलान्यास किया साथ ही मेलधार, लिंग्डूया, भेडगांव तल्ला एवं भरनों के ग्रामीणों को सांस्कृतिक सामग्री वितरित की। डॉ0 रावत ने इस दौरान सभी लोगों से कोरोना संक्रमण की बढ़ती आशंका को देखते हुये सतर्क रहने की अपील भी की। श्रीनगर विधानसभा क्षेत्र भ्रमण के दौरान कैबिनेट मंत्री डॉ0 धन सिंह रावत ने मीडिया को जारी एक बयान में बताया कि वह कोटद्वार विधानसभा क्षेत्र सहित अपने विधानसभा क्षेत्र के चार दिवसीय दौरे पर हैं। अपने दौरे के दौरान वह विभिन्न शिक्षण संस्थानों, चिकित्सा इकाईयों व हेल्थ एंड वेलनेस सेंटरों की व्यवस्थाओं का जायजा लेंगे। डॉ0 रावत मंगलवार को श्रीनगर विधानसभा क्षेत्र के सेरामाण्डे में पीएमजीएसवाई गणतखाल-डडोली तल्ली से सेरामाण्डे गांव की सड़क का शिलान्यास करेंगे साथ ही इस सड़क पर निर्माणाधीन पुल का निरीक्षण भी करेंगे। इसके पश्चात डॉ0 रावत राजकीय इंटर कॉलेज बूंगीधार में भौतिक विज्ञान, जीव विज्ञान प्रयोगशाला एवं शौचालय का शिलान्यास करेंगे, साथ ही प्राथमिक विद्यालय मन्यारगांव के मरम्मत कार्यों का शिलान्यास, प्राथमिक विद्यालय मनसारी, किमवाड़ी एवं पीपलकोट सहित उच्चचर माध्यमिक विद्यालय मन्यारगांव, पापतोली का शिलान्यास करेंगे। इसके अलावा वह जूनियर हाईस्कूल भनरखाल एवं प्राथमिक विद्यालय स्यूंसाल के शौचालय निर्माण का भी शिलान्यास करेंगे। कार्यक्रम के दौरान डॉ0 रावत विद्यालय प्रांगण में ही भिक्यासैंण-देघाट-बूंगीधार-महलचौरी-बछुआवाण-चौखुटिया मोटर मार्ग के अंतर्गत किये गये निर्माण कार्यों का लोकार्पण करेंगे, इसके अलावा थलीसैंण के अंतर्गत बूंगीधार से स्यूंसाल सम्पर्क मोटर मार्ग एवं लोनिवि बूंगीधार में अतिथि कक्षा-कक्ष का लोकार्पण करेंगे। बूंगीधार में डॉ0 रावत द्वारा पीएम आवास योजना के तहत लाभार्थियों को ‘आवास स्वीकृति पत्र’ तथा पं0 दीनदयाल किसान कल्याण योजना के तहत किसानों को चौक वितरित किये जायेंगे। मैखोली में कैबिनेट मंत्री डॉ0 रावत राजकीय प्राथमिक विद्यालय के मरम्मत एवं सौन्दर्यीकरण कार्यां का शिलान्यास करेंगे, वहीं पीठसैंण पहुंच कर नेताजी सुभाष चन्द्र बोस आवासीय विद्यालय के छात्रावास, पेयजल योजना, वीर चन्द्र सिंह गढ़वाली स्मारक की सुरक्षा दीवार का शिलान्यास करेंगे। इसके उपरांत वह रणगांव में रणगांव-भैलासैंण मोटर मार्ग के विस्तारीकरण का शिलान्यास एवं घूरी में ग्रामवासियों को सांस्कृतिक सामग्री वितरित करेंगे। बुधवार को डॉ0 रावत कैन्यूर में राष्ट्रीय राजमार्ग-121 से कैन्यूर गांव तक मोटर मार्ग के डामरीकरण का लोकार्पण करेंगे। इसके पश्चात वह राजकीय इंटर कॉलेज थलीसैंण में राजकीय प्राथमिक विद्यालय कफल्ड, घूरी एवं जल्लू के मरम्मत एवं सौंन्दर्यीकरण कार्यों का शिलान्यास करेंगे। इसके अलावा वह पंडित दीनदयाल किसान कल्याण योजना के तहत किसानों को चौक एवं प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत लाभार्थियों को आवास स्वीकृति पत्र वितरित करेंगे। इससे पूर्व आज डॉ0 रावत ने राजकीय महाविद्यालय उफरैंखाल में क्षेत्र की विभिन्न योजनाओं का शिलान्यास एवं लोकार्पण कर स्थानीय लोगों की मांगों को पूरा किया।

प्रदेशभर में सभी चिकित्सा इकाइयों में कोविड-19 की तैयारियों को लेकर 27 दिसंबर को की जाएगी मॉक ड्रिल

देहरादून। कोविड-19 के नए वैरीअंट के विश्व के कुछ देशों में बढ़ते प्रभाव के दृष्टिगत उत्तराखंड राज्य मे समय बद तैयारियां की जा रही है। हालांकि वर्तमान तक इस नए वैरीअंट को लेकर भारतवर्ष में किसी भी प्रकार की खतरे की आशंका नहीं जताई गई है, भारत सरकार के दिशा निर्देशों के अनुसार उत्तराखंड राज्य में 27 दिसंबर को समस्त चिकित्सा इकाइयों में कोविड-19 प्रबंधन की चाक-चौबंद व्यवस्था के लिए मॉक ड्रिल का आयोजन किया जा रहा है। इस मॉक ड्रिल के सफल आयोजन के दृष्टिगत सचिव चिकित्सा स्वास्थ्य एवं चिकित्सा शिक्षा डॉ आर राजेश कुमार द्वारा आज सभी मुख्य चिकित्सा अधिकारियों एवं चिकित्सा अधीक्षकों के साथ वर्चुअल माध्यम से बैठक की गई व सभी को कोविड-19 के समुचित प्रबंधन के लिए चिकित्सा इकाइयों को दुरुस्त रखने के निर्देश दिए गए। इस मॉक ड्रिल के अंतर्गत सभी मुख्य चिकित्सा अधिकारियों को अपने अधीनस्थ अधिकारियों को एक एक चिकित्सा इकाई में मॉक ड्रिल किए जाने के लिए नामित किए जाने हेतु निर्देशित किया गया । समस्त मुख्य चिकित्सा अधिकारियों को इस मॉक ड्रिल की कड़ी समीक्षा किए जाने के लिए निर्देशित किया गया। राज्य स्तर से भी उच्च अधिकारियों को चयनित चिकित्सा इकाइयों में प्रतिभा किए जाने हेतु नामित किए जाने के लिए महानिदेशक चिकित्सा शिक्षा को निर्देशित किया गया।

Thursday, 22 December 2022

उत्तराखंड में स्वरोजगार विकसित करना एवं किसानों की आय में बढ़ोतरी करना हमारा लक्ष्यः जगदीश भट्ट

देहरादून, गढ़ संवेदना न्यूज
। उत्तराखंड जन विकास सहकारी समिति के माध्यम से दिल्ली में आयोजित हो रहे महाकौथिग मेले में उत्तराखंड के किसानों ने अपना स्टॉल लगाया। महाकौथिग मेले का आयोजन नोएडा सेक्टर 21 के स्टेडियम में किया गया है। इस मेले के माध्यम से उत्तराखंड के उत्पादों को राष्ट्रीय स्तर पर पहचान दिलाना है। उत्तराखंड जन विकास सहकारी समिति के संस्थापक जगदीश भट्ट ने इस मेले के माध्यम से अपने समिति से जुड़े हुए किसानों को लाभान्वित कर रहे हैं एवं उन सभी किसानों को राष्ट्रीय स्तर पर आयोजित हो रहे मेलों में उनके उत्पाद को प्रदर्शित एवं बेचने के लिए प्रेरित कर रहे हैं। टिहरी, उत्तरकाशी, रुद्रप्रयाग एवं विकास नगर के किसानों ने उत्तराखंड जन विकास सहकारी समिति के माध्यम से इस मेले में अपने उत्पाद को प्रदर्शित किया एवं लाभान्वित हो रहे हैं। समिति के माध्यम से उत्तराखंड के उत्पादों में मुख्य रूप से मंडुआ, गहत, राजमा, झंगोरा, भटवानी, जख्या, चौलाई , अदरक, हल्दी, अरबी एवं विभिन्न प्रकार के आचार को स्टॉल पर रखा गया है एवं इन सभी उत्पादों को मेले में आए हुए लोगों बहुत पसंद कर रहे हैं। जगदीश भट्ट ने उत्तराखंड जन विकास सहकारी समिति के माध्यम से उत्तराखंड बचाओ आंदोलन का भी आगाज कर रहे हैं। जगदीश भट्ट ने कहा उत्तराखंड बचाओ आंदोलन हमारे तरफ से एक इनीशिएटिव्स है जिसके माध्यम से हम उत्तराखंड के लोगों को आत्मनिर्भर बनाना चाहते हैं, उत्तराखंड के लोग पलायन एवं बेरोजगारी का दर्द जो शह रहे हैं हम उन सभी पलायन हो रहें लोगों को इस उत्तराखंड जन विकास सहकारी समिति के माध्यम से स्वरोजगार देना चाहते हैं एवं उत्तराखंड में जो किसान अपने उत्पादों को नहीं बेच पा रहे हैं उनको हम एक राष्ट्रीय स्तर का मार्केट भी मुहैया करा रहे हैं। हमारे समिति का यह पूरा विश्वास है कि आने वाले दिनों में हम उत्तराखंड के किसानों के आय में काफी बढ़ोतरी करेंगे वही जो किसान अपना स्वरोजगार करना चाह रहे हैं उन्हें भी हम फेडरेशन ऑफ उत्तराखंड एंटरप्रेन्योर्स के माध्यम से जोड़ेंगे तथा उनके लिए आवश्यकता अनुसार गोट फार्मिंग, डेयरी उद्योग, मछली पालन, मसाले की खेती के साथ-साथ अन्य व्यवसायिक खेती को बढ़ावा देने के लिए उचित ट्रेनिंग प्रोग्राम शुरू करेंगे एवं उत्तराखंड के एंटरप्रेन्योर्स को हम एक राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर मौका देंगे जहां पर वे अपने आइडिया को प्रजेंट कर अंतर्राष्ट्रीय एवं राष्ट्रीय स्तर के इन्वेस्टर्स को आकर्षित कर सकते हैं। उत्तराखंड जन विकास सहकारी समिति के सहयोगी संस्था हिमालयन एग्रो इस मेले में उत्तराखंड के सभी उत्पादों को एक राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर मार्केटिंग मुहैया करा रहा है वही अंतर्राष्ट्रीय आईटी क्रपनी ’न्यूजेन आईटी सर्विसेस’ इस उत्तराखंड जन विकास सहकारी समिति के इस इनीशिएटिव्स को मदद कर रही है। महाकौथिग मेले में उत्तराखंड जन विकास सहकारी समिति की ओर से संस्थापक जगदीश भट्ट के साथ-साथ तारा दत्त भट्ट, ओमकार सिंह कोली, सुमित थपलियाल, विकास कुमार, प्रेम जोशी, हरीश खुल्बे, दीपा रावत एवं लीलाधर पांडे मौजूद रहे।

स्वास्थ्य सचिव ने कोविड-19 के संबंध में जारी किए दिशा-निर्देश

देहरादून। स्वास्थ्य सचिव डॉ. आर. राजेष कुमार द्वारा आज सचिवालय स्थित अपने कार्यालय से प्रदेष में सभी 13 जनपदों के मुख्य चिकित्साधिकारियों के साथ वर्चुवल माध्यम से कोविड-19 तथा उत्तराखण्ड स्वास्थ्य रोजगार सृजन कार्यक्रम की तैयारी के सम्बंध में समीक्षा की गई। सचिव स्वास्थ्य द्वारा कोविड-19 की समीक्षा करते हुए यह बताया कि वर्तमान में विष्व के कई देषों यथा जापान, संयुक्त राज्य अमेरिका, कोरिया गणराज्य, ब्राजील और चीन में कोविड-19 रोगियों की संख्या में वृद्धि दर्ज की गई है। कोविड-19 महामारी अभी भी दुनिया भर में एक सार्वजनिक स्वास्थ्य चुनौती बनी हुई है। बैठक में स्वास्थ्य सचिव डॉ0 आर0 राजेष कुमार द्वारा बताया गया कि कोविड-19 वायरस के स्वरूप में निरंतर परिवर्तन होता रहता है एवं समय-समय पर नये वैरियंट एक जन स्वास्थ्य समस्या के रूप में परिलक्षित होते रहते हैं, अतः मौजूदा वेरिएंट की निगरानी करना महत्वपूर्ण है। इसी क्रम में कोविड-19 के संदिग्ध और पुष्ट मामलों को शीघ्र चिन्हित करने, आईसोलेषन, परीक्षण एवं प्रबंधन हेतु भारत सरकार द्वारा जून 2022 में Operational Guideline for Revised Surveillance Strategy in context of Covid-19 जारी की गाईडलाईन के अनुरूप सभी जिलाधिकारी एवं मुख्य चिकित्सा अधिकारी अपने अपने जनपदों में कोविड-19 वैरिएंट सम्बंधित बचाव एवं नियंत्रण की तैयारी करना सुनिष्चित करें। साथ ही आम जन से भी यह अपील की है कि किसी भी प्रकार से घबराने की आवष्कता नहीं है और समय-समय पर सरकार द्वारा दिये जाने वाले दिषानिर्देषों का पालन करें। बैठक में अपर सचिव स्वास्थ्य अमनदीप कौर, डॉ0 सरोज नैथानी निदेषक, राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिषन, डॉ0 विनीता शाह निदेषक, स्वास्थ्य महानिदेषालय, डॉ0 षिखा जंगपांगी, निदेषक स्वास्थ्य महानिदेषालय, डॉ0 मनोज उप्रेजी, मुख्य चिकित्साधिकारी देहरादून, डॉ0 अजय कुमार नगरकर डॉ0 पंकज कुमार, डॉ0 तुहीन सहित स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी/कर्मचारी उपस्थित थे।

Saturday, 17 December 2022

मसूरी विंटरलाइन कार्निवाल की तैयारियां जोरों पर

देहरादून। जिलाधिकारी सोनिका के निर्देशन में मसूरी विंटरलाईन कार्निवाल की तैयारियां जोरों पर है। उप जिलाधिकारी मसूरी शैलेंद्र सिंह नेगी ने अवगत कराया है कि विंटरलाइन कार्निवाल को लेकर बड़े स्तर पर तैयारी की जा रही है। मसूरी विंटरलाइन कार्निवल का 26 दिसम्बर 2022 को माननीय मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी जी द्वारा किया जाएगा। कार्निवाल 26 दिसम्बर से 30 दिसंबर 2022 तक चलेगा। इस बार मसूरी विंटर कार्निवल को भव्य बनाने के लिए में कई खास कार्यक्रमों को जगह दी गई है जिससे उत्तराखंड का पर्यटन का विकास तेजी से हो। उप जिलाधिकारी शैलेंद्र नेगी ने बताया कि इस बार कार्निवाल में डे एंड नाइट अलग-अलग कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे, जिनमें कवि सम्मेलन, सांस्कृतिक कार्यक्रम, लोक गीत और कलाकार भी अपनी प्रस्तुति देंगे। कार्निवाल में उत्तराखंड की स्थानीय कला और संस्कृति को लेकर खास कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे है। कार्निवाल में नेपाली और गोरखा समाज के लोगो के द्वारा भी विशेष कार्यक्रमों की प्रस्तुति दी जाएगी। कार्निवाल में उत्तराखंड के मशहूर लोक गायक पद्मश्री प्रीतम भरतवाण, नरेंद्र सिंह नेगी, मीना राणा, रेशमा शाह सहित कई कलाकार प्रस्तुति दे रहे है। वह मशहूर गायिका शिकायना मुखिया भी अपने गीतों के सुरों को बिखेरेगी। वह बॉलीवुड के कलाकार भी अपनी प्रस्तुति देंगे। 26 दिसंबर सर्वे ग्राउंड लंढौर से दोपहर एक बजे शोभायात्रा शुरू होकर चार बजे लाइब्रेरी चौक पर समापन होगी। कार्निवाल में अभिनेता टॉम आल्टर की स्मृति में 21 किमी हाफ मैराथन, पर्यटकों के लिए नेचर वॉक, बर्ड वाचिंग, स्केटिंग, जूडो-कराटे, बच्चों के लिए गेम्स, फैंसी ड्रेस प्रतियोगिता, 200 साल पुराने इतिहास की फोटो प्रदर्शनी, नुक्कड़ नाटक का आयोजन होंगे। वही इस बार उत्तराखंड की संस्कृति पर आधारित फैसन शौे मुख्य आकर्शण का केन्द्र रहेगा। रात्रि के कार्यक्रम मसूरी के नवनिर्मित टाउन हॉल में आयोजित किये जायेगे, जिसमें पद्मश्री बसंती बिष्ट की जागर की प्रस्तुति, लोक नाटक वीरभड़ माधो सिंह भंडारी का मंचन, उत्तराखंडी रामछौल नाइट, कव्वाली नाइट और मैजिक शो आयोजन होगा। हास्य एवं व्यंग्य कार्यक्रम होगा। प्रीतम भरतवाण और नरेन्द्र सिंह नेगी लोक संस्कृति की प्रस्तुति देंगे। 28 से 30 दिसंबर तक फूड फेस्टिवल होगा। इसमें पहाड़ी व्यंजन के स्टाल्स लगाए जाएंगे। 29 दिसंबर को चर्चित शेफ प्रतिभाग करेंगे। इस बार आईटीबीपी और सीआरपीएफ के जावान मसूरी के मुख्य चौक पर अपने बैंड और देशभक्ति के कार्यक्रम प्रस्तुत करेगे। उप जिलाधिकारी मसूरी ने बताया कि मसूरी विंटर लाइन कार्निवाल को लेकर सभी तैयारी पूर्ण हो चुकी है। मसूरी के जार्ज एवरेस्ट में भी विभिन्न कार्यक्रम आयोजित किये जा रहे है जो सभी श्रोताओं को आकर्षित करेगें।

जिला स्तरीय कराटे प्रतियोगिता 25 दिसंबर को

िहरी। 25 दिसम्बर को प्रातः 9.30 बजे से नगर पालिका परिषद नरेन्द्रनगर के टाउन हॉल नरेन्द्रनगर में विभिन्न आयु वर्ग में (अन्डर 10 वर्ष, अन्डर-10-11, अन्डर-12-13, अन्डर-14-15, अन्डर- 16-18, अन्डर-20) बालक/बालिकाओं की जिला स्तरीय कराटे (काता एवं कुमिते) प्रतियोगिता का आयोजन किया जायेगा। इस आशय की जानकारी देते हुए जिला क्रीड़ा अधिकारी टिहरी गढवाल संजीव कुमार पौरी ने बताया कि जिला प्रशासन टिहरी गढवाल के मार्ग दर्शन में जिला खेल कार्यालय नरेन्द्रनगर टिहरी गढवाल द्वारा यह प्रतियोगिता आयोजित की जा रही है। प्रतियोगिता में प्रतिभाग करने वाले इच्छुक खिलाडियों को जन्म तिथि प्रमाण पत्र की छायाप्रति, आधार कार्ड की छायाप्रति तथा विद्यालय निर्गत टीम की सूची अभिलेख साथ लाने होंगे। उन्होंने कहा कि खेल विभाग टिहरी गढवाल द्वारा विभागीय मानकानुसार प्रतियोगिता में प्रतिभाग करने वाले खिलाडियों को बस से आने-जाने का यात्रा भत्ता, अनुसांगिक व्यय, भोजन व्यवस्था, आवास व्यवस्था, विभागीय मानकानुसार विजेता एवं उप विजेता खिलाडियों को आकर्षक पुरूस्कार की सुविधा प्रदान की जायेगी।

एडीएम ने ली ‘‘सुरक्षित भोजन एवं स्वस्थ आहार‘‘ के संबंध में बैठक

टिहरी। अपर जिलाधिकारी टिहरी गढ़वाल रामजी शरण शर्मा की अध्यक्षता में जिला सभागार नई टिहरी में ‘‘सुरक्षित भोजन एवं स्वस्थ आहार‘‘ के संबंध मंे बैठक आयोजित की गई। बैठक में खाद्य संरक्षा एवं मानक अधिनियम 2006 के अधीन ‘‘सुरक्षित भोजन एवं स्वस्थ आहार‘‘ के संबंध मंे समिति के सदस्यों के समक्ष चर्चा की गई। अपर जिलाधिकारी द्वारा खाद्य अभिहित अधिकारी को निर्देशित किया गया कि फूड सेफ्टी टेªेनिंग के तहत कुछ भोजन माताओं को मास्टर ट्रेनर के रूप में ट्रेनिंग देकर अन्य सभी भोजन माताओं को भी ट्रेनिंग देना सुनिश्चित करें। बाल विकास विभाग को निर्देशित किया कि भोजन माताओं की ट्रेनिंग हेतु ब्लॉक वाइज रोस्टर बनाकर सूची खाद्य अभिहित अधिकारी को उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें। खाद्य अभिहित अधिकारी को निर्देशित किया गया कि पैकड फूड की भी नियमित सैमलिंग करते रहें। स्वयं सहायता समूह की महिलाओं को भी ट्रेनिंग देने को कहा गया। व्यापार संघ एवं होटल व्यवसायियों को आंतरिक बैठक करने को कहा गया। खाद्य अभिहित अधिकारी एम.एन. जोशी द्वारा प्रस्तुतीकरण के माध्यम से भारतीय खाद्य संरक्षा एवं मानक प्राधिकरण के निर्देशों के क्रम में विभाग द्वारा किये गये विशेष अभियान के तहत नमूना संग्रह कार्य, सर्विलांस नमूना संग्रहण, जन-जागरूकता एवं प्रशिक्षण कार्यक्रम आदि के बारे में विस्तार से जानकारी दी गई। बताया कि जनपद में लगातार विभाग द्वारा खाद्य संरक्षा मानक अधिनियिम, विनिमय, नई गाईडलाइन के अनुसार कारोबार कर्ताओं को जागरूक किया जा रहा है। वर्ष 2022-23 में अब तक व्यापार संघों के साथ 08 जागरूकता कार्यक्रम किये जा चुके हैं, जिसमें लगभग 390 खाद्य कारोबार कर्ताओं द्वारा प्रतिभाग किया गया। त्न्ब्व् ;त्मचनतचवेम नेमक बववपदह वपसद्ध के संबंध में उन्होंने बताया कि उपयोग किए गए खाना पकाने के तेल का पुनः उपयोग करने के दौरान तेल के कई गुण बदल जाते हैं, बार-बार तलने पर टोटल पोलर कंपाउंड (ज्च्ब्) बनता है। इन यौगिकों की विषाक्तता कई बीमारियों से जुड़ी हुई है। कहा कि उपभोक्ता स्वास्थ्य की सुरक्षा के लिए एफएसएसएआई ने टीपीसी के लिए 25 प्रतिशत की सीमा निर्धारित की है, सभी खाद्य व्यवसाय संचालकों को तलने के दौरान तेल की गुणवत्ता की निगरानी करने की आवश्यकता होती है। कहा कि रूको के तहत खाने के तेल को तीन बार से अधिक उपयोग न करें। अब तक जिले ने 48 खाद्य व्यवसाय संचालकों से कुल 1671 लीटर इस्तेमाल किया हुआ खाना पकाने का तेल एकत्र किया है। एफडीए टिहरी गढ़वाल खाद्य व्यवसाय संचालकों के लिए रूको के संबंध में जागरूकता कार्यक्रम भी आयोजित करता रहा है। बैठक मंे समिति के सदस्यों द्वारा अपने-अपने सुझाव भी दिये गये। इसके साथ ही स्लॉट हाउस के संबंध मंे भी चर्चा की गई। बैठक में सीएमओ डॉ. संजय जैन, सीएओ अभिलाषा भट्ट, जीएम डीआईसी महेश प्रकाश, डीएसओ अरूण वर्मा, डीईओ बेसिक वी.के. ढौंडियाल, डीपीओ शाहिब हुसैन सहित समिति के अन्य सदस्य उपस्थित रहे।

नैतिकता की सीख दूसरो को देने के बजाय कांग्रेसी घर से पहल क्यों नहीं करतेः चौहान

देहरादून। विस भर्ती मामले मे कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व सीएम हरीश रावत के बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए भाजपा ने कड़ा पलटवार करते हुए कहा की नैतिकता का पैमाना कांग्रेस का दूसरों के मामले मे क्यों है। बेहतर होता कि कांग्रेस इसे घर से शुरू करती। पार्टी के प्रदेश मीडिया प्रभारी मनवीर सिंह चौहान ने कहा कि विधान सभा मे उनके कार्यकाल मे उन्ही के लेफ्टिनेंट माने जाने वाले गोविंद सिंह कुंजवाल को लेकर उनकी क्या राय है? रावत एक और यह कहते रहे है कि उन्होंने उस समय नियुक्ति को लेकर तत्कालीन अध्यक्ष को सावधान किया और बाद मे उनके पक्ष मे उतर गए। भाजपा ने बिना काल खंड देखे जाँच की और दूध का दूध और पानी का पानी किया तो अब कांग्रेस इस पर सवाल उठाने लगी है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस को मंथन करना होगा कि वह पहले सही थी या अब सही है। चौहान ने कहा कि कांग्रेस दुविधा की स्थिति मे है और सुप्रीम कोर्ट से मामला खारिज होने के बाद न तो फैसले का स्वागत कर पा रही है और न ही भ्रष्टाचार के खिलाफ सरकार की मुहिम को अच्छा बता पा रही है। उन्होंने कहा कि भाजपा ने नैतिकता का पालन करते हुए मामले की निष्पक्ष जाँच करायी और नतीजा सामने है। अब नैतिकता की मिशाल कांग्रेस को पेश करनी है। जिन्होंने भ्रष्टाचार को फैलाया और जिन्होंने देखकर आँखे मूंद ली उन पर कार्यवाही करें। चौहान ने कहा कि कांग्रेस तो भ्रष्टाचार के बाद भी उपदेशक बन जाती है। पूर्व विस अध्यक्ष कुंजवाल आज भी स्वीकार नही करते कि उन्होंने गलत किया और वह इसे विशेषाधिकार बताते रहे है। वहीं पूर्व सीएम घपले घोटालों पर आँखे बन्द करते रहे और जब पकड़े गए तो इसे विपक्ष की साजिश करार दे दिया। उन्होंने कहा कि कांग्रेस को एक राय होकर उन नेताओं के खिलाफ कार्यवाही के लिए नैतिकता के आधार पर रायसुमारी करनी चाहिए, जिससे एक अच्छी परंपरा बन सके।

मंत्री गणेश जोशी ने एग्रीकल्चरल मार्केटिंग बोर्ड के चेयरमैन का पदभार ग्रहण किया

देहरादून। कृषि एवं कृषक कल्याण मंत्री, उत्तराखंड सरकार गणेश जोशी ने आज शनिवार को नई दिल्ली में नेशनल काउंसिल ऑफ स्टेट द्वारा एग्रीकल्चरल मार्केटिंग बोर्ड्स के चेयरमैन के रूप में पदभार ग्रहण किया गया। पदभार ग्रहण करने के बाद गणेश जोशी ने प्रेस प्रतिनिधियों से अनौपचारिक वार्ता करते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह को धन्यवाद देते हुए कहा कि एक कार्यकर्ता को इतनी महत्वपूर्ण जिम्मेदारी दी गई है। उनका संकल्प है कि वे इस जिम्मेदारी पर खरा उतरेंगे। उन्होंने कहा कि किसानों को उनकी पैदावार का सही दाम मिले, सीधे किसानों से उपज ले कर खरीदना ये हमारी जिम्मेदारी होगी। उनका संकल्प है कि किसानों की आय दुगनी करने के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के संकल्प को पूरा करने की दिशा में वे कार्य करेंगे। उन्होंने कहा कि पहाड़ों में कैश क्रॉप को प्रोत्साहन दिया जा रहा है। उन्होंने मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि प्रदेश में एप्पल एवं कीवी मिशन के माध्यम से राज्य में सेब, कीवी तथा चाय आदि के क्षेत्र में पहचान बनाने के प्रयास किये जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि मंडियों को हाईटेक करने का काम किया जायेगा, एक छत के नीचे सभी मंडियों को लाने का कार्य किया जायेगा जिस से किसानों को भटकना नहीं पड़ेगा।

एमकेपी कालेज सोसाइटी के पदाधिकारियों ने सीएम से की भेंट

देहरादून। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी से शनिवार को मुख्यमंत्री कैम्प कार्यालय में महादेवी कन्या पाठशाला कालेज सोसाइटी के तत्वावधान में संस्था के अन्तर्गत संचालित समस्त संस्थाओं की प्रबन्ध समिति के पदाधिकारियों एवं शिक्षिकाओं के एक प्रतिनिधिमंडल ने भेंट की। उन्होंने उत्तराखंड की सरकारी नौकरियों में राज्य की महिलाओं के लिए 30 प्रतिशत आरक्षण का विधेयक उत्तराखंड विधानसभा से पारित करवाने के लिए अभिनंदन पत्र सौंप कर मुख्यमंत्री का आभार व्यक्त किया। महादेवी कन्या पाठशाला कालेज के सचिव जितेन्द्र सिंह नेगी ने कहा कि मुख्यमंत्री के नेतृत्व में उत्तराखंड सरकार ने राज्य में सरकारी नौकरियों को 30 प्रतिशत आरक्षण देकर एक ऐतिहासिक निर्णय लिया है। इससे महिला सशक्तीकरण एवं महिला उत्थान का भी मार्ग प्रशस्त हुआ है। इस अवसर पर महादेवी कन्या पाठशाला कालेज के प्रतिनिधिमण्डल में शासक सभा के सदस्य व पूर्व राज्य आंदोलनकारी रवीन्द्र जुगरान, प्रबन्ध समिति के पदाधिकारी प्रवीण कुमार जैन, शोभित मांगलिक, कुलदीप नेगी, महादेवी इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नालाजी की उपनिदेशिक गीता चौहान, विभागाध्यक्षा डा. भावना सिंधवानी, वन्दना चौधरी, सुमित कौर, शक्ति सिंह बड़वाल, सुषमा गोयल, वरिष्ठ प्रवक्ता डा० सीमा रस्तोगी सम्मिलित थे।

एचडीएफसी बैंक ने खोली 100 नई शाखाएं

देहरादून। एचडीएफसी बैंक ने घोषणा की कि उसने पूरे भारत में 100 नई शाखाएं खोली हैं। नई शाखाएं 15 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में फैले 83 शहरों व कस्बों में खोली गईं। इनमें से लगभग 50 प्रतिशत शाखाएं अर्ध-शहरी और ग्रामीण भौगोलिक क्षेत्रों में हैं। नई शाखाओं को बैंक के एमडी और सीईओ शशिधर जगदीशन द्वारा डिजिटल रूप से लॉन्च किया गया। इस अवसर पर वरिष्ठ बैंक अधिकारी भी उपस्थित थे। नई शाखाओं पर टिप्पणी करते हुए अरविंद वोहरा, ग्रुप हेड रिटेल ब्रांच बैंकिंग, एचडीएफसी बैंक ने कहा कि हम भौतिक शाखा इकाइयों और डिजिटल बैंकिंग सेवाओं के संयोजन के माध्यम से अपने ग्राहकों की सेवा करने के लिए प्रतिबद्ध हैं। हम और अधिक शाखाएं खोलना जारी रखेंगे। आने वाले महीनों में देश भर में गुणवत्तापूर्ण बैंकिंग उत्पाद और सेवाएं उपलब्ध कराएंगे।ष् बैंक ने चालू वित्त वर्ष में 425 खुदरा शाखाएं और चार डिजिटल बैंकिंग इकाइयां खोली हैं। 15 दिसंबर, 2022 के अंत तक, बैंक के वितरण नेटवर्क में 3,279 शहरों व कस्बों में 6,762 खुदरा शाखाएं, चार डिजिटल बैंकिंग इकाइयां और 17,076 एटीएम शामिल थे। उम्मीद है कि एचडीएफसी बैंक के विस्तारित वितरण नेटवर्क से इसके व्यवसायों में वृद्धि को समर्थन मिलेगा और बैंक को देश भर में अपने ग्राहकों की सेवा करने में मदद मिलेगी। 2021 में, एचडीएफसी बैंक ने विकास की अगली लहर को शक्ति देने के लिए प्रोजेक्ट फ्यूचर रेडी के तहत संगठनात्मक परिवर्तनों का अनावरण किया था। बैंक तीन प्रमुख क्षेत्रों (ए) बिजनेस वर्टिकल्स, (बी) डिलीवरी चौनल्स, और (सी) टेक्नोलॉजी व डिजिटल में अपनी निष्पादन शक्ति को मजबूत करना जारी रखे हुए है। अपने शाखा नेटवर्क के निरंतर विस्तार से बैंक ग्राहक खंडों में अवसरों को भुनाने में सक्षम होगा।

पहाड़ी खाने की रेसेपी पर आधारित पुस्तक का सीएम ने किया विमोचन

देहरादून। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने शनिवार को मुख्यमंत्री कैम्प कार्यालय में पहाड़ी खाने की रेसेपी पर आधारित पुस्तक का विमोचन किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि स्थानीय उत्पादों एवं व्यंजनों को बढ़ावा देने की दिशा में यह सराहनीय प्रयास है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने वोकल फॉर लोकल की जो बात कही है। उस दिशा में यह एक अच्छा प्रयास है। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री ने सभी से अपनी यात्रा व्यय की 5 प्रतिशत धनराशि स्थानीय उत्पादों के क्रय पर व्यय करने की बात कही है। पुस्तक की लेखिका स्मृति हरि एवं आशु जैन ने कहा कि इस पुस्तक में उत्तराखण्ड के स्थानीय व्यंजनो के बारे में जानकारी दी गई है। अन्य देशों के लोगों को भी उत्तराखण्ड के स्थानीय व्यंजनों के बारे में जानकारी हो इसलिए यह पुस्तक अंग्रजी में लिखी गई है। उन्होंने कहा कि पुस्तक के माध्यम से उत्तराखण्ड के मोटे अनाजों एवं जैविक उत्पादों को बढ़ावा देने का प्रयास किया गया है।

जनता मिलन कार्यक्रम में सीएम धामी ने सुनीं लोगों की शिकायतें

देहरादून। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने शनिवार को मुख्यमंत्री आवास स्थित मुख्य सेवक सदन में आयोजित जनता मिलन कार्यक्रम में बड़ी संख्या में आए लोगों की शिकायतों और समस्याओं को सुना और मौके पर ही अधिकारियों को उनके निस्तारण के निर्देश दिये। मुख्यमंत्री ने कहा कि जनता दर्शन कार्यक्रम में प्राप्त सभी जन शिकायतों की मॉनिटरिंग मुख्यमंत्री कार्यालय से की जाएगी। अधिकारी पूरी गंभीरता से सभी शिकायतों का निस्तारण समयबद्धता से करें। मुख्यमंत्री ने एक-एक कर सभी की शिकायतों को पूरी गंभीरता से सुना। उन्होंने संबंधित अधिकारियों को जन समस्याओं और शिकायतों का निस्तारण सुनिश्चित करने के निर्देश दिये। मुख्यमंत्री ने कहा कि जो भी शिकायतें प्राप्त हुई हैं, उन्हें यथाशीघ्र सबंधित विभागों को भेजा जाए।

आरजीआईसीएल ने रिलायंस हेल्थ इन्फिनिटी पॉलिसी पेश की

हल्द्वानी। भारत की लीडिंग प्राइवेट जनरल बीमा कंपनियों में से एक, रिलायंस जनरल इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड (आरजीआईसीएल) ने अपनी तरह का पहला प्रीमियम स्वास्थ्य बीमा उत्पाद-रिलायंस हेल्थ इन्फिनिटी पॉलिसी लॉन्च किया, जो प्रदान करती है असीमित लाभ। यह अनोखा प्रोडक्ट 5 करोड़ तक की उच्च बीमा राशि, मोरग्लोबल कवर, मैटरनिटी कवर, ओपीडी कवर, बीमित राशि की असीमित वापसी, और 15 प्लस उपयोगी ऐड-ऑन लाभों जैसी बेहतर सुविधाओं के साथ आता है। यह भारत के पहले क्रेडिट स्कोर आधारित छूट और प्रीमियम पर बीएमआई-आधारित छूट की पेशकश करके ग्राहकों को वित्तीय और शारीरिक रूप से फिट होने के लिए सम्मानित भी करता है। इस टॉप-ऑफ़-द-लाइन उत्पाद के लॉन्च के साथ, रिलायंस जनरल इंश्योरेंस का उद्देश्य आज की आकांक्षाओं की विकसित और विशिष्ट चिकित्सा आवश्यकताओं और प्राथमिकताओं को संबोधित करना है, ग्राहक चाहे संपन्न हो या संभ्रांत जोखिम से बचने वाले और जागरूक हैं और अधिकतम सुरक्षा के लिए अपनी स्वास्थ्य नीति में अनंत लाभ चाहते हैं। लॉन्च के बारे में उत्साहित, रिलायंस जनरल इंश्योरेंस के मुख्य कार्यकारी अधिकारी, राकेश जैन ने कहा कि आज, एक बुनियादी स्वास्थ्य योजना किसी की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए पर्याप्त नहीं है। जो लोग जोखिम से बचना चाहते हैं और बढ़ती चिकित्सा मुद्रास्फीति और आधुनिक उपचारों की उपलब्धता के बारे में जानते हैं, वे ऐसी पॉलिसी का विकल्प चुनना चाहेंगे जो असीमित वापसी के साथ उच्च बीमा राशि, चिकित्सा उपकरण कवर, नियोजित वैश्विक उपचार जैसे विश्व स्तरीय लाभों के साथ अनंत सुरक्षा प्रदान करती हो। रिलायंस हेल्थ इन्फिनिटी पॉलिसी के साथ, हम अपने ग्राहकों को उनकी सुरक्षा और मन की शांति को अधिकतम करने के लिए सर्वश्रेष्ठ-इन-क्लास सुविधाओं और असीमित लाभों के साथ सशक्त बनाना चाहते हैं। रिलायंस हेल्थ इन्फिनिटी पॉलिसी के मोर लाभ विकल्प - मोरग्लोबल, मोरकवर और मोरटाइम - ग्राहकों को बिना किसी समझौते और परेशानी के अपनी स्वास्थ्य बीमा आवश्यकताओं को पूरा करने में सक्षम बनाता है। उदाहरण के लिए, मोरग्लोबल कवर, जो ग्लोबट्रोटर्स के लिए उपयुक्त है, एयर एंबुलेंस और ओपीडी सुविधाओं के साथ-साथ विदेश में आपातकालीन और नियोजित चिकित्सा उपचार प्रदान करता है। मोरकवर लाभ ग्राहकों को बीमित राशि का 30 प्रतिशत तक अतिरिक्त कवरेज’ देता है जिससे समग्र कवरेज में वृद्धि होती है।

सीएम ने किया अन्तर्विभागीय बैडमिंटन प्रतियोगिता का शुभारंभ

देहरादून। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने शनिवार को परेड ग्राउंड, देहरादून में उत्तराखंड सचिवालय बैडमिंटन क्लब द्वारा आयोजित अन्तर्विभागीय बैडमिंटन प्रतियोगिता का शुभारंभ किया। इस दौरान मुख्यमंत्री ने स्वयं भी बैडमिंटन खेल खिलाड़ियों का हांसला बढ़ाया। यह बैडमिंटन प्रतियोगिता 17 से 19 दिसम्बर तक चलेगा। जिसमें प्रदेश की 25 टीमें भाग ले रही हैं। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि सचिवालय बैडमिंटन क्लब द्वारा शानदार प्रतियोगिता का आयोजन किया जा रहा है। इस प्रकार की प्रतियोगिता से कार्मिकों को साथ खेलने एवं एक दूसरे को समझने का मौका मिलता है। विभिन्न विभागों के बीच में होने वाली इस बैडमिंटन प्रतियोगिता से विभागों में आपस में समन्वय बढ़ेगा। विभागीय कार्यों के साथ खेल को भी बढ़ावा देने का यह सराहनीय प्रयास है। खेल भावना अपने कार्यों के प्रति अनुशासन के लिए भी प्रेरित करती है। मुख्यमंत्री ने कहा कि आज भारत के खिलाड़ी वैश्विक स्तर पर विभिन्न खेल प्रतियोगिताओं में शानदार प्रदर्शन कर रहे हैं। राज्य की नई खेल नीति में खिलाड़ियों को हर संभव सुविधा देने के प्रयास किये गये हैं। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि उत्तराखंड के पास प्रकृति प्रदत्त सब कुछ है। उत्तराखण्ड का प्राकृति सौन्दर्य सबको आकर्षित करता है। अपने प्राकृतिक संसाधनों के सही उपयोग से हमें उत्तराखण्ड को देश का अग्रणी राज्य बनाना है। राज्य के समग्र विकास के लिए सभी की सहभागिता अति महत्वपूर्ण है। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य के समग्र विकास के लिए मसूरी में 03 दिन के चिंतन शिविर का आयोजन किया गया। मुख्यमंत्री ने कहा कि जल्द ही वे सचिवालय के अनुभागों के अधिकारियों के साथ भी बैठक करेंगे। मेयर सुनील उनियाल गामा ने कहा कि मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के नेतृत्व में राज्य सरकार लगातार खेलों को बढ़ावा देने का कार्य कर रही है। सरकार ने हमेशा खिलाड़ियों को प्रोत्साहित करने का कार्य किया है। मुख्यमंत्री जी का स्वच्छ दून, सुंदर दून का जो संकल्प है, उसे हम सभी को आपस में समन्वय एवं सहभागिता से धरातल में उतारना है। इस अवसर पर बैडमिंटन खिलाड़ी पुनीता नागलिया, उत्तराखंड सचिवालय बैडमिंटन क्लब के अध्यक्ष पन्ना लाल शुक्ला, उपाध्यक्ष महावीर सिंह चौहान, महासचिव प्रमोद कुमार, उप निदेशक खेल श्री धर्मेन्द्र भट्ट, जिला क्रीडा अधिकारी शबाली गुरुंग, जे.पी मैखुरी,सचिवालय बैडमिंटन संघ के अन्य पदाधिकारी एवं विभिन्न विभागों के खिलाड़ी उपस्थित थे।

अनुसूचित जनजाति व अल्पसंख्यक मोर्चे सहित भाजपा ने किये 5 मोर्चाे के पदाधिकारी घोषित किए

देहरादून। भाजपा ने अनुसूचित जन जाति और अल्प संख्यक मोर्चा सहित 5 मोर्चाे की प्रदेश पदाधिकारी घोषित कर दिये है। प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र भट्ट के निर्देश पर अनुसूचित जन जाति मोर्चा, अल्प संख्यक मोर्चा, किसान मोर्चा, अनुसूचित जाति मोर्चा तथा महिला मोर्चा के प्रदेश पदाधिकारियों की घोषणा कर दी गयी है।

सीएम ने वॉलीबॉल खिलाड़ियों के साथ प्रातः काल भ्रमण किया

देहरादून। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने शनिवार को अंबेडकर स्टेडियम, देहरादून में देश के अंतर्राष्ट्रीय वॉलीबॉल खिलाड़ियों के साथ प्रातः काल भ्रमण किया। इस अवसर पर वाई सुब्बा राव, विनोद नेगी, मनदीप सिंह, देवेन्द्र बिष्ट समेत सभी खिलाड़ियों से खेल और खिलाड़ियों से जुड़े विभिन्न विषयों पर चर्चा की तथा सरकार द्वारा हरसंभव सहयोग का आश्वासन दिया। इस दौरान मुख्यमंत्री ने बाबू शर्मा टी स्टॉल पर चाय के साथ ही स्थानीय लोगों से मिलकर सरकार द्वारा किए जा रहे विकास कार्यों पर उनका फीडबैक भी लिया।

पंचायत चुनाव में 2019 से पूर्व वालों पर लागू नहीं होगा दो बच्चों वाला नियम

देहरादून/टिहरी। त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव लड़ने वाले जनप्रतिनिधि जिनके दो से अधिक बच्चे हैं उनके लिए राहत की खबर है। ऐसे सभी पात्र व्यक्ति पंचायत चुनाव लड़ सकते हैं जिनके 25 जुलाई 2019 से पूर्व दो से अधिक बच्चे हैं। उक्त बात प्रदेश के पंचायतीराज, ग्रामीण निर्माण, पर्यटन, लोक निर्माण, सिंचाई, जलागम, धर्मस्य एवं संस्कृति मंत्री सतपाल महाराज ने अपने गढ़वाल भ्रमण के सातवें दिन शनिवार को जनपद मुख्यालय सभागार में विभिन्न विकास योजनाओं का शिलान्यास एवं लोकार्पण करते करते हुए कही। उन्होंने कहा कि त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव लड़ने वाले ऐसे सभी पात्र व्यक्तियों जिनके 25 जुलाई 2019 से पहले दो से अधिक बच्चे हैं उनके चुनाव लड़ने पर अब दो बच्चों की अनिवार्यता को समाप्त कर दिया गया है। इस अवसर पर कैबिनेट मंत्री सतपाल महाराज ने कहा कि टिहरी बांध प्रभावित परिवारों की मुआवजे एवं पुनर्वास संबंधी लंबे समय से चल रही मांगों को लेकर हम लगातार प्रयासरत रहे है। पुनर्वास विभाग के पास पुनर्वास हेतु भूमि का अभाव होने के कारण हमारी सरकार द्वारा भारत सरकार के ऊर्जा मंत्री को प्रभावित व्यक्तियों के पुनर्वास की समस्या के निदान हेतु प्रस्ताव रखा गया था जिस पर ऊर्जा सचिव एवं टीएचडीसी और पुनर्वास निदेशालय के अधिकारियों की बैठकों के पश्चात और मेरे स्वयं के द्वारा इस कार्य को प्राथमिकता से किए जाने के परिणाम स्वरूप टिहरी बांध प्रभावित परिवारों को की पुनर्वास संबंधी समस्याओं का काफी हद तक निराकरण हुआ है। उन्होंने कहा कि पारसी क्षति नीति के तहत प्रभावित परिवारों को अब तक 40 करोड से अधिक की धनराशि मुआवजे के रूप में दी जा चुकी है जबकि अन्य प्रभावित ग्रामों के पात्र व्यक्तियों को भी शीघ्र मुआवजा दिये जाने के अलावा उनकी पुनर्वास संबंधी समस्याओं का समाधान किया जाएगा। सिंचाई मंत्री सतपाल महाराज के प्रयासों के परिणाम स्वरूप टिहरी बांध परियोजना के प्रभावित परिवारों को पार्श्विक क्षति नीति के तहत लंबे समय के इंतजार के पश्चात मुआवजे की 295,533,737.00 की धनराशि के चौक और भूखंड के पट्टो का आवंटित किया गया। सिंचाई मंत्री सतपाल महाराज के प्रयासों के परिणाम स्वरूप शनिवार को नंदगांव के 20 पात्र व्यक्तियों को 46,565,555.00, की धनराशि, गडोली के 39 पात्र व्यक्तियों को 127,811,557.00 की धनराशि और खाण्ड धारमण्डल के 41 पात्र व्यक्तियों को 121,156,625 करोड़ की धनराशि सहित कुल 295,533,737.00 की धनराशि के चौक वितरित करने के साथ-साथ रौलाकोट के 113 पात्र व्यक्तियों को भूखंड पट्टों का आवंटन किया गया।

मंत्री महाराज ने टिहरी को दी 1289.82 लाख की सौगात

देहरादून/टिहरी गढ़वाल। प्रदेश के पंचायतीराज, ग्रामीण निर्माण, पर्यटन, लोक निर्माण, सिंचाई, जलागम, धर्मस्य एवं संस्कृति मंत्री सतपाल महाराज ने जिला मुख्यालय सभागार में 13 करोड की विकास योजनाओं का लोकार्पण एवं शिलान्यास करने के साथ-साथ टिहरी बांध प्रभावित परिवारों के पात्र 100 लोगों को 29 करोड़ 55 लाख 33 हजार 7 सौ 37 रुपये की धनराशि के चेक एवं रौलाकोट के 113 पात्र व्यक्तियों को भूखंड आवंटन पत्र वितरित किए। मंत्री सतपाल महाराज ने जनपद में लोक निर्माण, लघु सिंचाई एवं पंचायती राज विभाग की जिन विकास योजनाओं का शिलान्यास एवं लोकार्पण किया उनमें मुख्यमंत्री घोषणा के तहत 432.12 लाख की धनराशि से नरेंद्र नगर, मुनीकीरेती की विभिन्न सड़कों के पुनर्निर्माण कार्य का शिलान्यास करने के अलावा राज्य योजना के अंतर्गत प्रतापनगर में उत्तरकाशी, लम्बगांव, घनसाली, तिलवाडा (एनएच 15) के 567.50 लाख की धनराशि से किये गये लम्बगांव-कोटालगांव-चमियाला मोटर मार्ग के नवीनीकरण के कार्य, विकासखंड भिलंगना में 49.86 लाख की लागत के डाबरा बैण्ड से गौजियाणा मोटर मार्ग में पी.सी. द्वारा डामरीकरण कार्य, 98.54 लाख की धनराशि से लम्बगांव-कोटालगांव-चमियाला से चंगोरा गांव हेतु मोटर मार्ग के पी.सी. द्वारा डामरीकरण के कार्य के साथ-साथ विकासखंड देवप्रयाग के दूयली और विकासखंड भिलंगना के सैन्दुल में लघु सिंचाई विभाग द्वारा 21.80 लाख की लागत से निर्मित सोलर पंपों का लोकार्पण करने के अलावा पंचायती राज विभाग के राष्ट्रीय ग्राम स्वराज अभियान के अंतर्गत जनपद के कीर्तिनगर विकासखंड में ग्राम पंचायत बडोला में 20 लाख की लागत के पंचायत भवन, ग्राम पंचायत कफना में 20 लाख की धनराशि से प्रस्तावित पंचायत भवनों के निर्माण कार्य, विकासखंड जौनपुर के ग्राम पंचायत घण्डियाला में 20 लाख के पंचायत भवन, विकासखंड थौलधार के ग्राम पंचायत पगारी में 20 लाख के पंचायत भवन, विकासखंड प्रतापनगर की ग्राम पंचायत काण्डा में 20 लाख और ग्राम पंचायत नकोट में 20 लाख की लागत से बनने वाले पंचायत भावनों के शिलान्यास सहित कुल 1289.82 लाख की धनराशि के विकास कार्यों का लोकार्पण और शिलान्यास किया गया। लोकार्पण, शिलान्यास एवं चेक वितरण कार्यक्रम के दौरान टिहरी विधायक किशोर उपाध्याय, धनोल्टी विधायक प्रीतम सिंह, जिला पंचायत अध्यक्ष सोना सजवाण, भाजपा जिलाध्यक्ष राजेश नौटियाल, पूर्व जिलाध्यक्ष विनोद रतूडी, खेम सिंह चौहान, ब्लॉक प्रमुख राजेन्द्र भण्डारी, मीना खाली, शिवानी बिष्ट, बसुमति घणाता, सीता देवी, प्रतापनगर ब्लॉक प्रमुख प्रदीप रमोला, भाजपा जिला महामंत्री उदय रावत एवं राजेन्द्र जुयाल, दिनेश डोभाल, जगदम्बा रतूड़ी, शीशराम थपलियाल, रामकुमार कठैल सहित अनेक अधिकारी उपस्थित थे।

प्रदेश के सभी जिलों में 413 परीक्षा केन्द्र स्थापित

रविवार को पुलिस आरक्षी/पी०ए०सी०/आई०आर०बी०/अग्निशामक परीक्षा का होगा आयोजन -प्रदेश के सभी जिलों में 413 परीक्षा केन्द्र स्थापित -परीक्षा का आयोजन समय प्रातः 11ः00 बजे से अपराह्न 01ः00 बजे -पूर्वाह्न 09ः30 बजे से परीक्षा केन्द्र पहुँचना सुनिश्चित करेंगे अभ्यर्थी -परीक्षा के दौरान जनपदों के सम्बन्धित क्षेत्रों में लागू रहेगी सी.आर.पी.सी. की धारा 144 देहरादून। अध्यक्ष उत्तराखण्ड लोक सेवा आयोग डॉ० राकेश कुमार, पूर्व आई.ए.एस. द्वारा रविवार 18 दिसम्बर, 2022 को होने वाली आयोग की एक बड़ी परीक्षा पुलिस आरक्षी/पी०ए०सी०/आई०आर०बी०/अग्निशामक परीक्षा की जानकारी देते हुए अवगत कराया है कि अभ्यर्थियों की सुविधार्थ उक्त परीक्षा हेतु उत्तराखण्ड राज्य के सभी जिलों में 413 परीक्षा केन्द्र स्थापित किये गये हैं तथा सर्दी के मौसम को देखते हुए परीक्षा का आयोजन समय प्रातः 11ः00 बजे से अपराह्न 01ः00 बजे निर्धारित किया गया है। डॉ0 कुमार द्वारा यह भी अवगत कराया गया है कि परीक्षा को शुचितापूर्वक आयोजित करने के दृष्टिगत आयोग द्वारा विशेष सतर्कता बरती जाएगी, जिसके अन्तर्गत पहली बार सभी परीक्षा केन्द्रों के प्रवेश द्वार पर महिला एवं पुरुष अभ्यर्थियों की प्रवेश पत्र के साथ पृथक-2 वीडियोग्राफी कराई जाएगी तथा प्रवेश-पत्र न दिखाने की दशा में उन्हें परीक्षा केन्द्र में प्रवेश करने की अनुमति नहीं दी जाएगी। परीक्षा हॉल में प्रवेश करने हेतु प्रवेश पत्र के साथ आवेदन पत्र में उल्लिखित फोटो पहचान-पत्र की प्रति साथ लाना होगा। यदि प्रवेश पत्र पर अभ्यर्थी का फोटो/हस्ताक्षर मुद्रित नहीं है या अस्पष्ट है, तो परीक्षा केन्द्र पर्यवेक्षक को दो फोटो एवं फोटो पहचान-पत्र के साथ रिपोर्ट करना होगा। अभ्यर्थियों से यह भी अपेक्षा की गई है कि असुविधा से बचने के लिए वह पूर्वाह्न 09ः30 बजे से परीक्षा केन्द्र पहुँचना सुनिश्चित करेंगे। परीक्षा केन्द्रों पर अभ्यर्थियों द्वारा प्रविष्टियां अंकित करने के लिए नीला/काला बॉल प्वाइंट पेन लेकर जाना है, पैंसिल के उपयोग की अनुमति नहीं है। किसी भी प्रकार के इलैक्ट्रोनिक एवं संचार उपकरणों जैसे मोबाइल, पेजर, कैलकुलेटर, ब्लूटूथ डिवाइस, ईयरफोन, घड़ियां इत्यादि को परीक्षा केन्द्र पर लाना/उपयोग में लाया जाना प्रतिबंधित कर दिया गया है, जिसके उल्लंघन पर कड़ी कार्रवाई की जा सकती है। परीक्षा के दौरान शांति व्यवस्था बनाए रखने हेतु जनपदों के सम्बन्धित क्षेत्रों में सी.आर.पी.सी. की धारा 144 लागू रहेगी। आयोग द्वारा नकल आदि की रोकथाम के लिए यह सुनिश्चित किया जा रहा है कि प्रत्येक परीक्षा केन्द्र पर तैनात पुलिस बल द्वारा थ्तपेापदह की कार्यवाही की जाएगी तथा दोषियों के खिलाफ आई.पी.सी. की धाराओं के अन्तर्गत कठोर कार्यवाही की जाएगी। इस सम्बन्ध में सभी जनपदों के जिलाधिकारियों एवं पुलिस अधीक्षकों/वरिष्ठ पुलिस अधीक्षकों द्वारा आवश्यक कार्यवाही सुनिश्चित की जाएगी।

धामी ने मुख्यमंत्री आवास परिसर में ट्यूलिप की 13 प्रजातियों का रोपण किया

देहरादून। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने शनिवार को मुख्यमंत्री आवास परिसर में ट्यूलिप की 13 प्रजातियों का रोपण किया गया। जिसमें बैंगनी एवं काले रंग के ट्यूलिप की प्रजाति भी शामिल है। पिछले साल मुख्यमंत्री आवास परिसर में ट्यूलिप की 07 प्रजातियों का रोपण किया गया था। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने उद्यान प्रभारी दीपक पुरोहित से मौन पालन की जानकारी भी ली। उन्होंने कहा कि मौनपालन को और अधिक बढ़ावा दिया जाए। उद्यान प्रभारी दीपक पुरोहित ने जानकारी दी कि पिथौरागढ़ में वर्ष 2017 में बनाये गये ट्यूलिप गार्डन बनाया गया, जिसे लोगों ने काफी पसंद किया। इस बार मुख्यमंत्री आवास परिसर में अलग से पुष्प वाटिका बनाई जा रही है।

भाजपा ने पाक विदेश मंत्री के खिलाफ किया प्रदर्शन, फूंका पुतला

देहरादून। भाजपा ने पीएम को लेकर पाक विदेश मंत्री की अपमानजनक टिप्पणी के विरोध में प्रदेशभर में जबरदस्त प्रदर्शन कर पुतला फूंका। इस अवसर पर प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र भट्ट ने कहा आतंकवाद की शरणस्थली पाकिस्तान को अब दुनिया से खैरात भी मिलनी बंद हो गयी है तभी बोखलाहट में वह विश्व मे सर्वाधिक लोकप्रिय नेता नरेंद्र मोदी जी को लेकर घटिया बयानबाजी पर उतर आए हैं। प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र भट्ट के निर्देश पर आज सभी जनपदों में बड़ी संख्या में पार्टी कार्यकर्ता पाक विदेश मंत्री बिलावल भुट्टो द्वारा यूएनओ में पीएम मोदी पर दिए अपमानजनक बयान के खिलाफ सड़कों पर उतरे। इसी क्रम में राजधानी देहरादून में बीजेपी महानगर कार्यालय से घंटाघर चौक तक आक्रोश रैली निकालकर बिलावल भुट्टो का पुतला फूंका । इस दौरान बीजेपी पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं ने बिलावल भुट्टो मुर्दाबाद के ज़ोरदार नारे के साथ पाकिस्तान सरकार से माफी मांगने की मांग की। इस दौरान प्रदेश अध्यक्ष श्री महेंद्र भट्ट ने कहा, आज पाकिस्तान के आतंकी चेहरे को भारत दुनिया के सामने बेनकाब कर चुका है यही वजह है कि कोई देश उसके साथ नही है और दुनिया से मिलने वाली सभी मदद बंद होने से वह कंगाली की कगार पर है। बौखलाहट में अपनी हदे पार कर रहे है पाकिस्तान के विदेश मंत्री बिलावल भुट्टो को तत्काल उनकी सरकार को बर्खास्त करना चाहिए। उन्होंने कहा कि विश्व के सबसे लोकप्रिय नेता श्री नरेंद्र मोदी के इस अपमान से देशवासियों व भाजपा कार्यकर्ताओ में बेहद रोष है जिसका प्रकटीकरण आक्रोश रैली के माध्यम से किया गया है। इस रैली में कैबिनेट मंत्री प्रेमचंद अग्रवाल, मेयर सुनील उनियाल गामा, राजपुर विधायक खजान दास, पुनीत मित्तल, देवेंद्र भसीन, नेहा जोशी, महानगर अध्यक्ष सिद्धार्थ अग्रवाल, जोगेंद्र पुंडीर, सुनीता विद्यार्थी समेत बड़ी संख्या में पार्टी पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं ने भाग लिया।

Friday, 16 December 2022

फॉर्च्यून होटल्स पहुंचा कुमाऊँ के हल्द्वानी

  हल्द्वानी। आईटीसी होटल ग्रुप के सदस्य फॉर्च्यून होटल्स ने फॉर्च्यून वॉकवे मॉल हल्द्वानी की ओपनिंग की घोषणा की है, यह शहर में इस सेगमेन्ट में पहला ब्राण्डेड होटल है और उत्तराखण्ड की फॉर्च्यून होटल चेन की तीसरी प्रॉपर्टी है। शुक्रवार को लांच हुए, हल्द्वानी की हाई स्ट्रीट पर प्रीमियम मॉल पर स्थित इस स्टाइलिश होटल में शानदार कमरे और स्यूट हैं, जहां से हिमालय के पहाड़ों के खूबसूरत प्राकृतिक नज़ारे और नीचे की सड़क दिखाई देती है। खूबसूरती से डिज़ाइन की गई लॉबी, रिलेक्सिंग स्पा, सभी सुविधाओं से युक्त फिटनैस सेंटर, क्लब लाउंज और अन्य आधुनिक सुविधाओं के साथ यह होटल अपने मेहमानों को आधुनिक एवं आरामदायक अनुभव प्रदान करता है। होटल के रेस्टोरेन्ट में स्वादिष्ट व्यंजनों और पेय पदार्थों का लुत्फ़ उठा सकते हैं। होटल सितारगंज के ओद्यौगिक हब के नज़दीक स्थित है और नैनीताल से मात्र 35 किलोमीटर की दूरी पर है। ऐसे में फॉर्च्यून वॉकवे मॉल हल्द्वानी छुट्टी एवं काम के सिलसिले में आने वाले वाले मेहमानों के लिए बेहतरीन गंतव्य है। यहां हवाई, रेल और सड़क मार्ग द्वारा आसानी से पहुंचा जा सकता है। होटल काठगोदाम से 2.6 किलोमीटर और पंत नगर हवाई अड्डे से लगभग 35 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। शुक्रवार को प्रेसवार्ता के दौरान समीर एमसी, मैनेजिंग डायरेक्टर, फॉर्च्यून होटल्स ने कहा, ‘‘फॉर्च्यून होटल्स हमेशा से अपने मेहमानों की उम्मीदों पर खरे उतरते रहे है। हल्द्वानी में नए होटल की ओपनिंग के साथ हम एक और नए बाज़ार में विस्तार करने जा रहे हैं, जहां हम शहर के निवासियों और नए एवं मौजूदा मेहमानों को बेजोड़ अनुभव प्रदान करेंगे। हल्द्वानी में इस नए होटल के लॉन्च के साथ हमने एक बार फिर से विकास के पथ पर बढ़ते हुए भारत के तीसरे स्तर के शहर में प्रवेश किया है। इस शहर में हमारे विकास की अपार संभावनाएं हैं, हम अपने विस्तार के लक्ष्यों को हासिल करने की दिशा में लगातार आगे बढ़ रहे हैं। फॉर्च्यून वॉकवे मॉल काम एवं छुट्टी के सिलसिले में आने वाले मेहमानों के लिए बेहतरीन स्थान हैं हमें उम्मीद है कि इस नई प्रॉपर्टी के साथ हम हमेशा की तरह अपने मेहमानों को शानदार हॉस्पिटेलिटी का अनुभव प्रदान करेंगे।’’

आईआईटी जोधपुर ने एनर्जी मटीरियल्स एवं डिवाइसेज़ पर राष्ट्रीय सम्मेलन का किया आयोजन

देहरादून। भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान जोधपुर ने को एनर्जी मटीरियल्स एवं डिवाइसेज़ पर राष्ट्रीय सम्मेलन (ई-एमएडी 2022) का शुभारंभ किया। तीन दिन का यह आयोजन शिक्षा और उद्योग जगत के राष्ट्रीय और स्थानीय विशेषज्ञों के लिए संवाद का अभूतपूर्व अवसर है। साथ ही, यह सम्मेलन अक्षय ऊर्जा उत्पादन के लिए नई मटीरियल डिजाइन करने की चुनौतियों के समाधान पर प्रकाश डालेगा। इन्हीं चुनौतियों को दूर करने और जरूरतों को पूरा करने के लक्ष्य से आईआईटी जोधपुर ने 16-18 दिसंबर, 2022 तक एनर्जी मटीरियल्स एवं डिवाइसेज़ पर राष्ट्रीय सम्मेलन का यह आयोजन किया है। इसमें शिक्षा संस्थानों, अनुसंधान प्रयोगशालाओं और विभिन्न उद्योगों के लगभग 100 से अधिक प्रतिभागियों की भागीदारी अपेक्षित है। सम्मेलन की मुख्य वक्ता सीएसआईआर महानिदेशक और डीएसआईआर सचिव डॉ. एन कलाइसेल्वी जी हांेगी और प्रोफेसर आर आर सोंडे आईआईटी दिल्ली, गेस्ट ऑफ ऑनर होंगे। आयोजन में मौजूद विभिन्न आईआईटी और अन्य वैज्ञानिक संगठनों के अन्य प्रतिष्ठित वक्ता अपने व्याख्यान से इसकी गरिमा बढ़ाएंगे। अनुसंधान के प्रभाव और ईएमएडी 2022 सम्मेलन के महत्व के बारे में बात करते हुए, डीजी-सीएसआईआर डॉ. एन कलैसेल्वी ने कहा, “आज के दौर में प्रौद्योगिकियां अल्पकालिक हैं लेकिन लिथियम दीर्घकालिक है। हम सभी को अपने शोध के प्रभाव से ग्रामीण, शहरी और राष्ट्रीय विकास पर बल देना चाहिए। बढ़ते हुए कार्बन फुटप्रिंट की प्रतिकूल पर्यावरणीय स्थिति पर प्रकाश डालते हुए प्रोफेसर आर आर सोंडे, आईआईटी दिल्ली ने कहा, हमें नई समस्याओं को उत्पन्न किए बिना अपनी समस्याओं का समाधान प्रदान करने पर बल देना चाहिए। हमें ऊर्जा उत्पादन और भंडारण के नए तरीकों की खोज करनी चाहिए। उद्घाटन समारोह के दौरान, आईआईटी जोधपुर द्वारा नवीकरणीय ऊर्जा के क्षेत्र में की गई पहलों पर प्रकाश डालते हुए, आईआईटी जोधपुर के निदेशक प्रो. शांतनु चौधरी ने कहा, “संस्थान वर्तमान समय की ऊर्जा मांगों को पूरा करने के साथ-साथ सतत विकास में गहरी रुचि रखता है। हम ऊर्जा सम्बंधित चुनौतियों से निपटने के लिए एक ऊर्जा केंद्र बनाने की योजना बना रहे हैं।

जग हंसाई से बचने को राजभवन ने बक्शीश वाली पत्रावली पर मारी कुंडलीः मोर्चा

विकासनगर। जन संघर्ष मोर्चा अध्यक्ष एवं जीएमवीएन के पूर्व उपाध्यक्ष रघुनाथ सिंह नेगी ने पत्रकारों से वार्ता कहा कि हाल ही में समाचार पत्रों ने जोर- शोर से राजभवन द्वारा लाखों रुपए गौशालाओं को दान, मंदिरों में चढ़ावा, साड़ियां खरीद-वितरण एवं बक्शीश मामले को उठाया था, जिसमें दोनों हाथों से पैसा लुटाया गया। नेगी ने कहा कि उक्त मामले को लेकर जन संघर्ष मोर्चा ने राजभवन से संपूर्ण खर्चे की पत्रावली से संबंधित जानकारी चाही कि कौन से नियम के तहत गौशालाओं को दान, साड़ी खरीद में अपनाई गई प्रक्रिया एवं किन-किन लोगों को वितरण की गई, किन-किन मंदिरों में कितना- कितना दान एवं गौशालाओं को निर्गत धनराशि एवं उनके पंजीकरण के सर्टिफिकेट मांगे गए थे, लेकिन राजभवन द्वारा मामले को टालने के उद्देश्य से यह उल्लेख किया गया कि ’पत्रावली उच्चादेशार्थ प्रस्तुत है’ यानी आका के आदेश पर पत्रावली पर कुंडली मार ली गई, ताकि कारनामा सार्वजनिक न हो सकें। नेगी ने कहा कि राजभवन को ऐसी कौन सी चिंता खाए जा रही है कि पत्रावली सार्वजनिक करने में डर लग रहा है। इससे बड़ी शर्मसार करने वाली बात क्या हो सकती है कि मंदिरों में 1000-2000 रुपए अपनी जेब से चढ़ाने के बजाय सरकारी खजाने से दिया गया। मोर्चा जनता की गाढ़ी कमाई को यूं ही नहीं लूटने देगा। पत्रकार वार्ता में मोर्चा महासचिव आकाश पंवार व दिलबाग सिंह मौजूद रहे।

नई लॉन्च की गई रिलायंस हेल्थ इन्फिनिटी पॉलिसी ऑफर करती ₹5 करोड़ तक की उच्च बीमा राशि

देहरादून। भारत की लीडिंग प्राइवेट जनरल बीमा कंपनियों में से एक, रिलायंस जनरल इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड (आरजीआईसीएल) ने अपनी तरह का पहला प्रीमियम स्वास्थ्य बीमा उत्पाद रिलायंस हेल्थ इन्फिनिटी पॉलिसी लॉन्च किया, जो प्रदान करती है असीमित लाभ। यह अनोखा प्रोडक्ट ₹5 करोड़ तक की उच्च बीमा राशि, मोरग्लोबल कवर, मैटरनिटी कवर, ओपीडी कवर, बीमित राशि की असीमित वापसी, और 15 प्लस उपयोगी ऐड-ऑन लाभों जैसी बेहतर सुविधाओं के साथ आता है। यह भारत के पहले क्रेडिट स्कोर आधारित छूट और प्रीमियम पर बीएमआई-आधारित छूट की पेशकश करके ग्राहकों को वित्तीय और शारीरिक रूप से फिट होने के लिए सम्मानित भी करता है। इस टॉप-ऑफ़-द-लाइन उत्पाद के लॉन्च के साथ, रिलायंस जनरल इंश्योरेंस का उद्देश्य आज की आकांक्षाओं की विकसित और विशिष्ट चिकित्सा आवश्यकताओं और प्राथमिकताओं को संबोधित करना है, ग्राहक चाहे संपन्न हो या संभ्रांत जोखिम से बचने वाले और जागरूक हैं और अधिकतम सुरक्षा के लिए अपनी स्वास्थ्य नीति में अनंत लाभ चाहते हैं। रिलायंस हेल्थ इन्फिनिटी पॉलिसी के श्मोरश् लाभ विकल्प मोरग्लोबल, मोरकवर और मोरटाइम ग्राहकों को बिना किसी समझौते और परेशानी के अपनी स्वास्थ्य बीमा आवश्यकताओं को पूरा करने में सक्षम बनाता है। उदाहरण के लिए, मोरग्लोबल कवर, जो ग्लोबट्रोटर्स के लिए उपयुक्त है, एयर एंबुलेंस और ओपीडी सुविधाओं के साथ-साथ विदेश में आपातकालीन और नियोजित चिकित्सा उपचार प्रदान करता है। मोरकवर लाभ ग्राहकों को बीमित राशि का 30ः तक अतिरिक्त कवरेज’ देता है जिससे समग्र कवरेज में वृद्धि होती है। मोरटाइम बेनिफिट सिर्फ 12 महीने’ के बजाय 13 महीने की पॉलिसी अवधि के साथ लंबी पॉलिसी अवधि प्रदान करता है। लॉन्च के बारे में उत्साहित, रिलायंस जनरल इंश्योरेंस के मुख्य कार्यकारी अधिकारी, राकेश जैन ने कहा, “आज, एक बुनियादी स्वास्थ्य योजना किसी की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए पर्याप्त नहीं है। जो लोग जोखिम से बचना चाहते हैं और बढ़ती चिकित्सा मुद्रास्फीति और आधुनिक उपचारों की उपलब्धता के बारे में जानते हैं, वे ऐसी पॉलिसी का विकल्प चुनना चाहेंगे जो असीमित वापसी के साथ उच्च बीमा राशि, चिकित्सा उपकरण कवर, नियोजित वैश्विक उपचार जैसे विश्व स्तरीय लाभों के साथ अनंत सुरक्षा प्रदान करती हो। रिलायंस हेल्थ इन्फिनिटी पॉलिसी के साथ, हम अपने ग्राहकों को उनकी सुरक्षा और मन की शांति को अधिकतम करने के लिए सर्वश्रेष्ठ-इन-क्लास सुविधाओं और श्असीमित लाभोंश् के साथ सशक्त बनाना चाहते हैं। दमदार रिलायंस हेल्थ इन्फिनिटी पॉलिसी के असंख्य ऐड-ऑन बेनिफिट’ में केवल 12 महीनों की अविश्वसनीय रूप से कम प्रतीक्षा अवधि के साथ ₹2 लाख तक का मातृत्व कवर शामिल है; संबंधित और असंबंधित दोनों बीमारियों पर एक पॉलिसी वर्ष के दौरान मूल बीमित राशि की असीमित वापसी; ओपीडी कवर जो न केवल डॉक्टरों के परामर्श और डायग्नोस्टिक परीक्षणों का ख्याल रखता है बल्कि निर्धारित दवाओं के साथ दंत चिकित्सा और शल्य चिकित्सा उपचार का भी ख्याल रखता है; डबल कवर जो पहले दिन से लागू होता है और उसी दावे के दौरान उपयोग की जाने वाली बीमित राशि का 100 प्रतिशत अतिरिक्त देता है; उपभोग योग्य वस्तुएं का कवर जो विविध खर्चों जैसे सिरिंज, दस्ताने के लिए भुगतान करता है जो आमतौर पर गैर-देय होते हैं और कुल अस्पताल में भर्ती खर्चों का 8-10ः प्रभाव डालते हैं; पहले से मौजूद बीमारियों (पीईडी) की प्रतीक्षा अवधि को 3 वर्ष से 4 वर्ष या 2 वर्ष या 1 वर्ष और विशिष्ट बीमारी की प्रतीक्षा अवधि को 2 वर्ष से 1 वर्ष में बदलें। ऐसे कई और लाभों के साथ, रिलायंस जनरल इंश्योरेंस के इस शानदार उत्पाद को असीम लाभ और अधिकतम सुरक्षा प्रदान करने के लिए विकसित किया गया है। यह पॉलिसी इंडिविजुअल और फैमिली फ्लोटर (8 सदस्यों तक) श्रेणी में उपलब्ध है और ग्राहकों के सभी समूहों को पूरा करने के लिए ₹5 लाख से ₹5 करोड़ तक के सम-इंश्योर्ड विकल्पों की एक विस्तृत श्रृंखला प्रदान करती है। इस पॉलिसी में 90 दिन से अधिक उम्र के बच्चे और 18 से 65 साल के बीच के वयस्क शामिल हैं। इसके अतिरिक्त, नवजात शिशुओं को मदर एंड चाइल्ड केयर बेनिफिट के तहत कवर किया जाता है। रिलायंस हेल्थ इन्फिनिटी पॉलिसी की मूल योजना अच्छी तरह से पूर्ण-विकसित है और अंग दाता, प्री-एंड-पोस्ट अस्पताल में भर्ती, डे-केयर प्रक्रियाओं, आपातकालीन एम्बुलेंस और विशेष उपचार जैसे महत्वपूर्ण खर्चों के लिए कवरेज प्रदान करती है।

कृषि कार्य करते हुए दुर्घटना होने पर मिलने वाले मुआवजा राशि बढ़ाई गई

देहरादून। प्रदेश के कृषि मंत्री गणेश जोशी द्वारा विधानसभा स्थित कक्ष में उत्तराखण्ड कृषि उत्पादन विपणन बोर्ड की 35वीं बैठक की अध्यक्षता की गई। मंत्री ने कहा कि पूर्व में किसानों को कृषि कार्य करते हुए दुर्घटना होने पर मिलने वाले मुआवजा राशि एक लाख रूपये को बढ़ाकर अब डेढ़ लाख रूपये, दुर्घटना से अगर दो या एक हाथ, पैर से दिव्यांग होने पर किसानों को पूर्व में मिलने वाली राशि 60 हजार रूपये को एक लाख रूपये, एक अंग से दिव्यांग होने पर मिलने वाली राशि 30 हजार रूपये को 50 हजार रूपये कर दिया गया है। मंत्री ने कहा कि किसानों के बच्चे कृषि के क्षेत्र में अच्छी पढ़ाई कर पायें इस संबंध में योजना की आय सीमा 02 लाख रूपये को बढ़ाकर 03 लाख रूपये प्रति वर्ष कर दिया गया है। उन्होंने कहा कि व्यक्तिगत दुर्घटना की पात्रता 18-60 वर्ष को भी समाप्त कर दिया गया है अब कृषि कार्य करते हुए दुर्घटना होने पर किसान को मुआवजा राशि दी जायेगी। मंत्री ने कहा कि आज प्रदेश की मंडियां प्रोफिट में हैं और मंडियों के माध्यम से किये जाने वाले विकास कार्यों तथा किसानों के लिए हितकारी योजनाओं हेतु बोर्ड के पास पर्याप्त बजट है। उन्होंने कहा कि रामनगर में 25 दुकानों के निर्माण हेतु प्रस्ताव के लिए सेल्फ फाइनेन्स पर सहमति प्रदान की गई। मंत्री ने लोकल उत्पाद जैसे मडुवा आदि की खेती को प्रोत्साहित करने तथा लोकल उत्पादन को बढ़ाने के लिए अधिकारियों को दिशा-निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा किसानों के हित में इस प्रकार की नीतियां बनायी जानी चाहिए जिससे किसानों को लगे कि सरकार हमारे लोकल उत्पादों को उचित दामों पर खरीदे। इस अवसर पर प्रबन्ध निदेशक निधि यादव, निदेशक कृषि केसी पाठक, संयुक्त आयुक्त खाद्य डॉ महेंद्र सिंह बिसेन, विभागीय अधिकारी तथा उत्तराखण्ड कृषि उत्पादन विपणन बोर्ड के सदस्य उपस्थित रहे।

भारत दर्शन पर जा रहे देवप्रयाग विधानसभा क्षेत्र के मेधावी छात्रों से सीएम ने की भेंट

देहरादून। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने शुक्रवार को मुख्यमंत्री आवास स्थित मुख्य सेवक सदन में भारत दर्शन पर जा रहे विधानसभा क्षेत्र देवप्रयाग के मेधावी छात्रों से भेंट की। उन्होंने कहा कि देवप्रयाग के विधायक विनोद कण्डारी द्वारा मेधावी बच्चों को शैक्षिक भ्रमण पर ले जाने का सराहनीय कार्य किया जा रहा है। मेधावी छात्रों को भारत भ्रमण में नई-नई चीजें सीखने को मिलेंगी। भारत दर्शन करने के साथ-साथ ये भविष्य दर्शन भी करेंगे। उन्होंने कहा कि राज्य के अन्य मेधावी छात्रों को भी इस तरह से भारत भ्रमण पर ले जाने के लिए भविष्य में राज्य सरकार की ओर से कार्य योजना बनाई जायेगी। मुख्यमंत्री ने बच्चों को संबोधित करते हुए कहा कि वे भविष्य में जिस भी क्षेत्र में कार्य करें, एक लीडर की भूमिका में कार्य करें। यदि हम किसी कार्य को पूर्ण मनोयोग एवं दृढ़ निश्चय से करते हैं, तो उसमें सफलता अवश्य मिलती है। उन्होंने कहा कि मनुष्य अनंत ऊर्जा का भंडार है। ऊर्जा का संचार सकारात्मक दृष्टि से हो तो कोई भी कार्य असंभव नहीं है। मुख्यमंत्री ने कहा कि इस भ्रमण के दौरान इन मेधावियों को शैक्षिक एवं औद्योगिक संस्थानों के बारे में भी जानकारी प्राप्त होगी। विधायक विनोद कण्डारी ने बताया कि 19 दिसम्बर 2022 तक देवप्रयाग विधानसभा क्षेत्र के हाईस्कूल में उच्च स्थान प्राप्त करने वाले बच्चों को विभिन्न स्थानों पर शैक्षिक भ्रमण कराया जा रहा है। शैक्षिक संस्थानों के अलावा इन मेधावी छात्रों को औद्योगिक एवं अन्य संस्थानों का भ्रमण भी कराया जायेगा। इस अवसर पर कैबिनेट मंत्री गणेश जोशी, जिला पंचायत अध्यक्ष, टिहरी सोना सजवाण उपस्थित थे।

15 हजार का इनामी गैंगस्टर पुलिस ने किया गिरफ्तार, 15 से ज्यादा मुकदमें हैं दर्ज

रुद्रपुर। 11 माह से फरार चल रहे गैंगस्टर के इनामी बदमाश को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। आरोपी के खिलाफ केलाखेड़ा और बाजपुर थाने में 8 मुकदमे दर्ज हैं। आरोपी गैंग के साथ मिलकर बाइक चोरी की वारदातों को अंजाम देते थे। गैंगस्टर एक्ट में पिछले 11 माह से फरार चल रहे 15 हजार के इनामी को केलाखेड़ा पुलिस ने गिरफ्तार किया है। आरोपी के खिलाफ पूर्व में भी कई अपराधिक मुकदमे दर्ज हैं। एसएसपी ने मामले का खुलासा करते हुए बताया कि आरोपी सुनील सिंह उर्फ गोलू निवासी थापकनगला केलाखेड़ा को उसके घर के पास से गिरफ्तार किया है। आरोपी के खिलाफ केलाखेड़ा और थाना बाजपुर में बाइक चोरी के आठ मुकदमे दर्ज हैं। आरोपी अपने गैंग के साथ बाइक चोरी की वारदातो को अंजाम देते हुए यूपी में बेचा करता था। एसएसपी के निर्देश पर गैंग के सरगना गुरमीत सिंह सहित पांच लोगों के खिलाफ 28 जनवरी 22 को गैंगस्टर की कार्रवाई की गई। तब से लेकर आरोपी फरार चल रहा था। जिसके बाद आरोपी पर 15 हजार का इनाम रखा गया था। कल देर रात केलाखेड़ा पुलिस ने आरोपी को थापक नगला घर के पास से गिरफ्तार किया गया है। आरोपी को कोर्ट में पेश कर जेल भेजा जा रहा है।

प्रस्तावित बिजली दर बढ़ोत्तरी के विरोध में कांग्रेस ने प्रदेशभर में किया विरोध प्रदर्शन

देहरादून। उत्तराखंड में एक बार फिर बिजली के दाम बढ़ाए जाने को लेकर कांग्रेस ने राज्य सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने प्रदेश भर में जगह-जगह धरना प्रदर्शन कर राज्य सरकार का पुतला फूंका है। देहरादून में भी कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने महानगर अध्यक्ष जसविंदर सिंह गोगी के नेतृत्व में बल्लीवाला चौक स्थित ऊर्जा निगम दफ्तर का घेराव करते हुए विरोध प्रदर्शन किया। इस दौरान प्रदर्शनकारियों ने ऊर्जा भवन के खिलाफ जमकर नारेबाजी करते हुए अपना आक्रोश प्रकट किया। इस दौरान गोगी ने कहा कि यूपीसीएल ने बिजली की दरें बढ़ाने को लेकर सिफारिश शासन को भेजी है, जिसमें घरेलू बिजली दर में 5 प्रतिशत और औद्योगिक बिजली दरों में 7 से 8 प्रतिशत बढ़ोतरी की सिफारिश की गई है, कांग्रेस पार्टी इसका घोर विरोध करती है। उन्होंने कहा कि इस साल सरकार ने तीन बार बिजली के दामों में बढ़ोतरी की है। अब एक बार फिर सरकार जनता के ऊपर बिजली के दाम बढ़ाकर उनके ऊपर आर्थिक बोझ डालने जा रही है।हल्द्वानी में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने बिजली के दामों में बढ़ोतरी को लेकर सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। बुध पार्क में प्रदर्शन में विधायक सुमित हृदयेश और जिला अध्यक्ष राहुल छिमवाल के नेतृत्व में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने राज्य सरकार के खिलाफ जोरदार प्रदर्शन किया। इस दौरान कांग्रेस नेताओं ने सरकार पर तंज कसते हुए कहा कि ऊर्जा प्रदेश में ही आम नागरिक सबसे महंगी बिजली खरीद रहे हैं। एक ही साल में तीन से चार बार बिजली के दाम बढ़ाए जा रहे हैं।कांग्रेस नेताओं ने सरकार से बिजली के बढ़े हुए दामों को तत्काल वापस लेने की मांग की है। इस मौके पर विधायक सुमित हृदयेश ने कहा कि यह सरकार आम जनता के ऊपर बोझ पर बोझ डाले जा रही है। बिजली पानी स्वास्थ्य जैसी मूलभूत समस्याओं पर भी लगातार महंगाई बढ़ाना यह आम जनता के हित में नहीं है। इसलिए सरकार को तत्कालीन बढ़ी हुई कीमतों को वापस लेना चाहिए। तो वहीं, रुद्रपुर में भी बिजली की दरें बढ़ाए जाने के प्रस्ताव का विरोध करते हुए कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने उत्तराखंड पावर कारपोरेशन कार्यालय के सामने राज्य सरकार का पुतला फूंका। कांग्रेस ने सरकार पर आम जनता के ऊपर वित्तीय बोझ डालने का आरोप लगाया है। प्रदेश नेतृत्व के आह्वान पर कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने सड़कों में उतर कर विरोध प्रदर्शन किया। इस दौरान कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने सरकार का पुतला दहन किया गया। कांग्रेस जिलाध्यक्ष हिमांशु गावा ने कहा कि भाजपा राज में महंगाई चरम सीमा पर है और अब सरकार पांच से आठ प्रतिशत बिजली के दाम बढ़ाकर आम जनता की कमर तोड़ने का प्रयास कर रही है, जबकि दूसरे राज्यों के मुख्यमंत्री बिजली फ्री कर रहे है। उन्होंने राज्य सरकार साल में दूसरी बार बिजली के दामों में वृद्धि करने जा रही है। बागेश्वर में भी बिजली के दामों में हुई बढ़ोत्तरी को लेकर कांग्रेस कार्यकर्ताओ ने जोरदार प्रदर्शन कर राज्य सरकार का पुतला फूंका है। कांग्रेस ने इसे जनता पर आर्थिक बोझ की संज्ञा देते हुए मूल्यवृद्धि वापस लेने की मांग की है। एसबीआई तिराहे पर आयोजित सभा को संबोधित करते हुए कांग्रेस जिलाध्यक्ष भगवत डसीला ने कहा कि केंद्र सरकार का महंगाई पर कोई नियंत्रण नहीं रह गया है। बिजली के दामों में लगातार हो रही बढ़ोत्तरी के कारण महंगाई बढ़ रही है। उन्होंने कहा की अगर जल्द इस मामले में कोई कार्रवाई नहीं की गई तो उग्र आंदोलन किया जाएगा।

जम्मू-कश्मीर के राजौरी में आतंकी हमले में उत्तराखण्ड का अनिल घायल

देहरादून। जम्मू-कश्मीर के राजौरी जिले में शुक्रवार तड़के एक सैन्य शिविर के बाहर गोलीबारी की घटना में दो नागरिकों की मौत हो गई और एक अन्य घायल हो गया। राजौरी में नागरिकों की हत्या के बारे में एक आधिकारिक बयान में सेना की उत्तरी कमान ने यह जानकारी दी। जबकि सेना ने गोलीबारी और बाद में नागरिक हताहतों के लिए ‘अज्ञात आतंकवादियों’ को दोषी ठहराया था, अधिकारियों ने पहले कहा था कि सेना के एक संतरी ने कथित रूप से गोलीबारी की जिससे लोग हताहत हुए। घटना के तुरंत बाद, स्थानीय निवासी सड़कों पर उतर आए और सेना शिविर के अल्फा गेट के बाहर हत्याओं के विरोध में शिविर पर पथराव किया। अधिकारियों ने कहा कि वरिष्ठ नागरिक और पुलिस अधिकारी घटना की जांच की मांग को लेकर जम्मू-पुंछ राष्ट्रीय राजमार्ग को जाम करने वाले आंदोलनकारी स्थानीय लोगों को शांत करने के लिए घटनास्थल पर हैं। उन्होंने कहा कि घटना सुबह करीब सवा छह बजे हुई जब स्थानीय लोगों का एक समूह काम के लिए प्रवेश के लिए सेना के गेट की ओर आ रहा था। अधिकारियों ने मृतकों की पहचान रजौरी निवासी कमल कुमार पुत्र राधू राम और सुरिंदर कुमार पुत्र ओम प्रकाश के रूप में की है। साथ ही घायल की पहचान उत्तराखंड के अनिल कुमार पुत्र बली राम के रूप में की है। अनिल को सेना ने अस्पताल में भर्ती कराया है। अधिकारियों ने कहा कि शहर में स्थिति तनावपूर्ण लेकिन नियंत्रण में है।

विजय दिवस पर कांग्रेसियों ने शहीदों को दी श्रद्धांजलि, पूर्व सैनिकों को किया सम्मानित

देहरादून। विजय दिवस के अवसर पर प्रदेश कांग्रेस कमेटी कार्यालय देहरादून में प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष करन माहरा के नेतृत्व में श्रद्धांजलि कार्यक्रम का आयोजन किया गया जिसमें कांग्रेसजनों द्वारा देश की सीमाओं पर शहीद होने वाले सैनिकों को श्रद्धांजलि अर्पित की गई। इस अवसर पर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष करन माहरा ने कहा कि 16 दिसम्बर, 1971 भारत के इतिहास का एक स्वर्णिम दिन था। इस दिन लौह महिला, पूर्व प्रधानमंत्री स्व. इन्दिरा गांधी के मजबूत इरादों से ले0जनरल जगजीत सिंह अरोड़ा के नेतृत्व में भारतीय सेना के शौर्य और अदम्य साहस की बदौलत भारत ने पाकिस्तान पर एक ऐतिहासिक विजय हांसिल की थी, जिसके परिणामस्वरूप पाकिस्तान का विभाजन होकर एक नया देश बांग्लादेश बना। माहरा ने कहा कि चाहे 1971 का भारत पाक युद्ध हो या कारगिल युद्ध भारतीय जांबाजों ने प्रत्येक अवसर पर अपने अद्म्य साहस का परिचय दिया यह दिन भारत के गौरवशाली दिवस के रूप में स्वर्णिम अक्सरों में अंकित रहेगा। उन्होंने कहा कि पड़ोसी देश द्वारा थोपे गये इस युद्ध में भारतीय सैनिकों ने अपनी बहादुरी से न केवल दुश्मनों के दांत खट्टे कर विजय हांसिल की अपितु विश्व को यह संदेश देने का काम किया कि भारतीय सैनिक किसी भी परिस्थिति में देश की रक्षा के लिए तैयार हैं। उन्होंने कहा कि जब-जब भारत के दुश्मनों ने देश की सीमाओं पर आक्रमण किया तब-तब भारतीय सेना ने ईंट का जवाब पत्थर से दिया तथा देश की सुरक्षा पर आंच नहीं आने दी। माहरा ने कहा कि देश की सीमाओं की रक्षा में उत्तराखण्ड के वीर सैनिकों ने वीरता का परिचय दिया तथा 1971 के भारत पाक युद्ध एवं कारगिल लड़ाई में भी देवभूमि उत्तराखण्ड के वीर सपूतों ने अपने प्राणों की आहुत देकर विजय हांसिल की। उन्होंने कहा कि उत्तराखण्ड में शायद ही ऐसा कोई घर होगा जिस पर देश की रक्षा के लिए शहीद होने वाले सैनिकों एवं अर्द्ध सैनिक बलों के शहीदों की शहादत का असर न पड़ा हो और हम सबको उस पर गौरव भी है, क्योंकि देवभूमि हमेशा बिना भेदभाव के शहादत देने का ही काम करती है। उन्होंने कहा कि कि कारगिल युद्ध के समय भी यहां के वीर सैनिकों का देश की सीमाओं की रक्षा में बलिदान का गौरवपूर्ण इतिहास रहा है जिसे कभी भुलाया नहीं जा सकता है। इस अवसर पर प्रदेश अध्यक्ष करन माहरा ने पूर्व सैनिकों को शॉल ओडाकर सम्मानित भी किया। कार्यक्रम में प्रदेश महामंत्री संगठन विजय सारस्वत, महामंत्री पी.के. अग्रवाल, नवीन जोशी, मानवेन्द्र सिंह, पूर्व सैनिक के प्रदेश अध्यक्ष कै. बलवीर सिंह रावत, कार्यकारी महानगर अध्यक्ष डॉ. जसविंदर सिंह गोगी, मीडिया पैनलिस्ट गरिमा दसौनी, शीशपाल बिष्ट, राजेश चमोली, नवनीत सती, शिवा वर्मा, नीरज त्यागी, शैलेन्द्र करगेती, एनएसयूआई के प्रदेश अध्यक्ष मोहन भण्डारी, अनुराधा तिवाडी, सावित्री थापा, दिनेश कौशल, पूनम कण्डारी आदि अनेक कांग्रेस जन उपस्थित थे।

रुड़की के होटल से 27 अन्तरराजीय सट्टेबाज गिरफ्तार

रुड़की के होटल से 27 अन्तरराजीय सट्टेबाज गिरफ्तार -12 लाख से ज्यादा की नगदी की बरामद
रुड़की, आजखबर। दिल्ली रोड स्थित होटल ऑल सीजन में गुरुवार देर रात सट्टा खेल रहे 27 लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। दरअसल यह कार्रवाई एसएसपी के निर्देश पर की गई। पुलिस को मौके से 12 लाख 50 हजार की रकम बरामद हुई है। पुलिस ने सभी सट्टेबाजों को हिरासत में ले लिया है। साथ ही इन सभी के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है। पुलिस को मौके से एक डायरी भी मिली है, जिसमें कई सफेदपोशों और कारोबारियों के मोबाइल नंबर भी मिले हैं। पुलिस इन सभी से पूछताछ कर रही है। बता दें कि गुरुवार की देर रात किसी ने वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अजय सिंह को सूचना दी कि दिल्ली रोड स्थित होटल ऑल सीजन के दो कमरों में कुछ लोग सट्टा खेल रहे हैं। पुलिस अगर सही तरह से कार्रवाई करे तो लाखों की रकम बरामद हो सकती है। साथ ही आरोपी भी पकड़े जा सकते हैं। इस सूचना के मिलने पर एसएसपी ने कोतवाली प्रभारी निरीक्षक देवेंद्र चौहान को इस मामले में बड़े गोपनीय तरीके से कार्रवाई करने के निर्देश दिए।  एसएसपी के निर्देश पर कोतवाली प्रभारी निरीक्षक ने पुलिस टीम के साथ होटल ऑल सीजन के दो कमरों में छापा मारा। वहां पर 27 लोग सट्टा खेलते पकड़े गए। पुलिस को मौके से 12 लाख 50 हजार रुपए की रकम बरामद हुई। साथ ही मौके से कई मोबाइल और अन्य सामान भी बरामद हुए हैं। पुलिस को मौके से एक डायरी भी मिली है, जिसमें कई लोगों के नंबर हैं। गिरफ्तार होने वालों में ऐजाज पुत्र मुनसफ, आबाद पुत्र यासिन, बालेन्द्र पुत्र साधुराम, आदाब पुत्र सुखा पहलवान, शहजाद पुत्र जाहिद हसन, मूल चन्द पुत्र रमेश कुमार, शहजाद पुत्र शरेउद्दीन, आसीफ पुत्र जाऊल, सलमान पुत्र मुगनीश, आर्पित पुत्र सुशील, इरफान पुत्र यामिन, मेहताब पुत्र जबरउद्दीन, आशीष कोहली पुत्र कुलभूषण कोहली, सचिन कपूर पुत्र भारत कपूर, साजिद पुत्र हसन, निशाद पुत्र शहीद, कामिल पुत्र कासिम, विशाल आहुजा पुत्र वेदप्रकाश, राशिद पुत्र असगर, इमरान पुत्र मेहरबान, शहजाद पुत्र नजीर, शाहरूख पुत्र इस्तकार अली, अमजद पुत्र अख्तर, कामिल पुत्र अकरम, विकास पुत्र जगदीश प्रसाद, राजेश कुमार पुत्र रामेश्वर प्रसाद व अमित पुत्र ओमप्रकाश शामिल है। पकड़े गय सट्टेबाज सहारपुर, मुजफ्फनगर, हल्द्वानी व हरिद्वार के रहने वाले है। पुलिस इन सभी को कोतवाली ले आई, जहां पर इनसे पूछताछ की जा रही है। एसपी देहात स्वप्न किशोर सिंह ने बताया कि इन सभी पर मुकदमा दर्ज किया गया है। साथ ही होटल मालिक पर भी कार्रवाई की जाएगी।

ग्रामीणों की आजीव‍िका बढ़ाने के उपाय करने जरूरीः महाराज

श्रीनगर (गढ़वाल)। क्षेत्र पंचायत प्रमुखों को निजी सहायक (डाटा एण्ट्री ऑपरेटर) मुहैया करा दिया गया है और जिला योजना समिति की बैठकों में क्षेत्र पंचायत प्रमुख की शतप्रतिशत भागीदारी सुनिश्चित कर दी गयी है। प्रदेश के पंचायतीराज, ग्रामीण निर्माण, पर्यटन, लोक निर्माण, सिंचाई, जलागम, धर्मस्य एवं संस्कृति मंत्री सतपाल महाराज ने अपने गढ़वाल भ्रमण के छठवें दिन शुक्रवार को चौरास परिसर स्थित स्वामी मनमंथन प्रेक्षागृह में राष्ट्रीय ग्राम स्वराज अभियान के तहत पंचायतों में सशक्त विकास लक्ष्यों के स्थानीयकरण और ग्राम पंचायत विकास योजना के विषय पर आयोजित त्रिस्तरीय पंचायत प्रतिनिधियों एवं कार्मिकों के दो दिवसीय प्रशिक्षण शिविर में बतौर मुख्य अतिथि प्रतिभाग करते हुए कही। शिविर में दूर-दूर से ग्रामीण क्षेत्रों के जनप्रत‍िन‍िध‍ शि‍रकत करने पहुंचे। इस कार्यक्रम के माध्‍यम से सतत व‍िकास लक्ष्‍यों के स्‍थानीयकरण एवं ग्राम पंचायत व‍िकास योजना व‍िषय पर त्र‍िस्‍तरीय पंचायत प्रत‍िन‍िध‍ियों एवं कार्म‍िकों को प्रशि‍क्षण दि‍या जा रहा है। राष्ट्रीय ग्राम स्वराज अभियान के तहत पंचायतों में सशक्त विकास लक्ष्यों के स्थानीयकरण और ग्राम पंचायत विकास योजना के विषय पर आयोजित त्रिस्तरीय पंचायत प्रतिनिधियों एवं कार्मिकों के दो दिवसीय 16 और 17 दिसम्बर तक चलने वाले प्रशिक्षण शिविर के शुभारंभ अवसर पर त्रिस्तरीय पंचायत प्रतिनिधियों एवं कार्मिकों को संबोधित करते हुए पंचायत मंत्री सतपाल महाराज ने कहा कि हमारी कोशिश है कि प्रदेश में जिला पंचायत अध्यक्ष और क्षेत्र पंचायत प्रमुख का चुनाव आम राय से हो। उन्‍होंने कहा क‍ि राज्य स्तरीय अभिमुखीकरण कार्यशाला में पांच जनपदों के प्रतिनिधि प्रतिभाग कर रहे हैं। इस कार्यशाला के माध्यम से सतत विकास लक्ष्यों की प्राप्ति, ठोस तरल अपशिष्ट प्रबंधन और जल जीवन मिशन को कैसे सफल किया जा सके इसी मंशा से कार्यशाला आयोजित की गई है। इस दौरान उन्‍होंने स्‍थानीय जरूरतों को देखते और समझते हुये जनप्रत‍िन‍िध‍ियों को ग्रामीणों के सतत व‍िकास की रूपरेखा बनाने का सुझाव दिया। पंचायतीराज मंत्री श्री महाराज ने कहा कि त्रिस्तरीय पंचायत प्रतिनिधियों की यह कार्यशाला जनप्रतिनिधियों के क्षमता विकास के लिए आयोजित की गई है, ताकि सतत विकास लक्ष्यों को प्राप्त किया जा सके। विकास योजनाओं को बनाने और योजनाओं के क्रियान्वयन के लिए कैसे कार्यनीति बने यही इस अभिमुखीकरण कार्यशाला का उद्देश्य है। उन्‍होंने सभी त्रिस्‍तरीय जनप्रत‍िन‍िध‍ियों से कार्यक्रम को सफल बनाने की अपील करते हुये संवाद के रूप में कार्यशाला में भाग लेने के लिये कहा। श्री महाराज ने कहा कि सतत व‍िकास की प्रक्र‍िया को साकार करने के ल‍िये एसडीजी लक्ष्‍यों की प्राप्‍ति करना बहुत अन‍िवार्य है। जनप्रत‍िन‍िध‍ियों को ग्रामीणों की आजीव‍िका को बढ़ाने और उन्‍हें आज की जरूरतों के अनुरूप व‍िकास को दर्शाने वाली सभी सुव‍िधाओं को मुहैया कराने पर जोर देना चाहिए। इस अवसर पर पाणी राखो आंदोलन के प्रणेता सच्चिदानंद भारती ने कहा कि ग्रामीण अंचल में पंचायत राज को सशक्त बनाने के लिए इस प्रकार की कार्यशालाओं का अत्यधिक महत्त्व है। सरकार का गांव की सरकार को स्वराज की ओर ले जाने का यही सबसे बेहतरीन तरीका है। कार्यक्रम के पहले द‍िन सांस्‍कृत‍िक कार्यक्रम का आयोजन भी क‍िया गया। इसमें अन‍िल बिष्‍ट और हेमा नेगी करासी अपने सुरों से कार्यक्रम में जोश भर दिया। कार्यक्रम में पंचायतीराज व‍िभाग के संयुक्‍त निदेशक राजीव कुमार नाथ त्र‍िपाठी और पूर्व संयुक्‍त न‍िदेशक पंचायती राज डीपी देवराड़ी सहित अनेक जनप्रतिनिधि एवं अधिकारी मौजूद थे।

भाजपा का सत्य प्रेरणायुक्त, कांग्रेस का वर्तमान और अतीत संदेहास्पदः चौहान

देहरादून। भाजपा प्रदेश मीडिया प्रभारी मनवीर सिंह चौहान ने कहा कि भाजपा एक खुली किताब है और उसकी रीति, नीति तथा सिद्धांत मे संशय की गुंजाइस भी नही है। भाजपा का सत्य प्रेरणायुक्त है जबकि कांग्रेस का वर्तमान और अतीत संदेहास्पद रहा है। पूर्व सीएम और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता स्टीवहरीश रावत के बयान पर पलटवार करते हुए चौहान ने दावा किया कि अपनी राजनैतिक पारी के दौरान हरीश रावत हमेशा कंफ्यूज रहे है। रावत सहानुभूति का कार्ड भी खेलते रहे हैं और उसमे आधा सच ही बोलते है। भ्रष्टाचार के मुद्दे पर रावत कई बार कह चुके है कि वह अपनी भूमिका के साथ न्याय नही कर पाए और माफी मांग चुके है। उन्होंने खुली आँखों से भ्रष्टाचार की बेल उगते देखी और भेद खुला तो दुख जताने के साथ किनारा करने की कोशिश की। इससे वह आधा सच ही बोल पाए। विधान सभा मे हुई भर्तियों मे उन्होंने पूर्व विधानसभा अध्यक्ष गोविंद सिंह कुंजवाल को सतर्क करने की बात की, लेकिन फिर पूरा सच कहने से चूक गए। वहीं स्टिंग के बाद उन्होंने सहानुभूति कार्ड खेलने की कोशिश की। अति महत्वाकांक्षी और स्वार्थ परक राजनीति के चलते वह अपनो को एकजुट नही रख पाए तथा बिखराव के लिए भाजपा को दोष देते रहे है। कभी सन्यास तो कभी दिल्ली पुनर्वास की बात कर रावत नये शिगूफे छेड़ते रहे है। विभागों मे तमाम स्टिंग होने के बाद वह कुछ न देखने या सुनने का ढोंग करते रहे है, लेकिन सच उत्तराखण्ड ही नही देश ने देखा और हरीश रावत प्रलाप करते रहे। वह नाकामयाबियों को छिपाने के लिए अब विधान सभा की हार के लिए भाजपा पर तोहमत लगा रहे। हरिद्वार ग्रामीण मे चुनाव प्रभारी और कथित बयानबीर को जान बूझकर नजरंदाज कर फिर आधा सच बोलकर ईनाम घोषित करने की नौटंकी कर रहे है। उन्होंने कहा कि धामी सरकार ने जाँच एजेंसियों को खुली छूट दी है और जाँच एजेंसी हर अपराधी तक पहुँच रही है। बिना काल खंड देखे हर मामले की जाँच और कार्यवाही हो रही है जबकि पहले लीपापोथी होती रही। भाजपा का शासन अन्य दलों के लिए भी प्रेरणा का स्रोत है, क्योकि आज भाजपा के साथ जुड़ाव बढ़ता जा रहा है और वह देश दुनिया की सबसे बड़ी पार्टी है। वहीं कांग्रेस लगातार सिमटती जा रही है।

Featured Post

A viable alternative to joint replacement: Dr. Gaurav Sanjay

Dehradun. India and International book records holder Dr. Gaurav Sanjay is well known young orthopaedic surgeon has presented a clinical s...