Sunday, 28 February 2021

भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान रुड़की ने मनाया राष्ट्रीय विज्ञान दिवस

रुड़की, गढ़ संवेदना न्यूज। भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान द्वारा सात स्थानीय विद्यालयों के लिए अंतर्विद्यालयी ऑनलाइन विज्ञान प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिता का आयोजन किया था, जिसमें ग्रीनवे मॉडर्न सीनियर सेकंडरी विद्यालय, रुड़की ने प्रथम पुरुस्कार जीता। संस्थान ने 20 फरवरी को ऑनलाइन वाद-विवाद प्रतियोगिता का आयोजन किया था, जिसमें कुल छः विद्यालयों ने दो अलग अलग क्षेणियों में भाग लिया था। (प्रथम श्रेणी कक्षा नौवीं से बारहवंीं तक), (द्वितीय श्रेणी कक्षा छठवीं से आठवीं तक), प्रथम क्षेणी के अंतर्गत केन्द्रीय विद्यालय 1, रुड़की ने प्रथम पुरस्कार प्राप्त किया व द्वितीय क्षेणी में सर्वज्ञ सीनियर सेकंडरी विद्यालय ने प्रथम पुरस्कार प्राप्त किया। विज्ञान दिवस पर रविवार को सायं आई.आई.टी. रुड़की द्वारा एक ऑनलाइन संस्थान व्याख्यान का आयोजन किया गया। डीन, अकादमिक कार्य, प्रोफेसर. एन.पी.पाधी ने दर्शकों का स्वागत किया और रुड़की के सभी विद्यालयों को उनकी शानदार भागीदारी के लिए धन्यवाद दिया। आई.आई.टी.रुड़की के निदेशक प्रोफेसर अजीत कुमार चतुर्वेदी ने विज्ञान दिवस के महत्व पर श्रोताओं को संबोधित किया। मुख्य अतिथि, प्रोफेसर राजीव लक्ष्मण करंदीकर, निदेशक, चेन्नई गणित संस्थान द्वारा ऑनलाइन मंच पर वार्षिक विज्ञान दिवस व्याख्यान प्रस्तुत किया गया, जिसका विषय था ‘बिग डाटा एनालिटिक्स, डाटा विज्ञान के युग में सांख्यिकी की भूमिका’। समारोह का समापन धन्यवाद द्वारा किया गया। आई.आई.टी. रुड़की के सदस्य, छात्र व विद्यालयी बच्चों ने इसमें भाग लिया।

वर्षों से गन्ने की कीमतें हैं स्थिर, लेकिन महंगाई बढ़ी कई गुनाः जन संघर्ष मोर्चा

विकासनगर, गढ़ संवेदना न्यूज। जन संघर्ष मोर्चा अध्यक्ष एवं जीएमवीएन के पूर्व उपाध्यक्ष रघुनाथ सिंह नेगी ने कहा कि त्रिवेंद्र सरकार गन्ना किसानों की पीड़ा को समझने में नाकाम साबित हुई है, जिसका नतीजा यह है कि इस सरकार के कार्यकाल यानी तीन-चार सालों में गन्ने के मूल्य में कोई वृद्धि नहीं हुई, जबकि महंगाई कई गुना बढ़ी है। यहां तक कि पेट्रोलियम प्रोडक्ट्स, शिक्षा, खाद्य पदार्थ, टैक्स आदि सभी मामलो में अप्रत्याशित वृद्धि हुई है। अगर कीमतों की बात करें तो सरकार ने वर्ष 2017- 2018 में सामान्य प्रजाति के गन्ने का मूल्य 316 तथा अगेती प्रजाति का मूल्य घ्326 प्रति कुंटल निर्धारित किया था तथा इसी प्रकार वर्ष 2018-19 में 317-327, वर्ष 2019-20 में 317-327 तथा वर्तमान पेराई सत्र 2020-21 में भी कीमतें 317-327 (यथावत) रखी गई हैं, जोकि किसानों के साथ बहुत बड़ी नाइंसाफी है। दुर्भाग्य देखिए कि सरकार ने इन 3-4 सालों में मात्र गन्ना मूल्य में घ्1 प्रति कुंटल की बढ़ोतरी की है। नेगी ने कहा कि गन्ने से उत्पादित शीरा से बनने वाली शराब इत्यादि से सरकार बहुत मुनाफा कमा रही है, लेकिन गरीब किसानों को देने के लिए सरकार के पास कुछ नहीं है। इसके अलावा सरकारी मिल द्वारा कई-कई महीनों (कई मामलों में सालों तक) तक भुगतान न होने का दंश भी किसान को झेलना पड़ता है। मोर्चा सरकार से मांग करता है कि अप्रत्याशित महंगाई को देखते हुए गन्ना मूल्य में बढ़ोतरी की जाए। पत्रकार वार्ता में ओ.पी. राणा, दिलबाग सिंह, नारायण सिंह चैहान, विक्रम सिंह पाल आदि उपस्थित रहे।

नरेन्द्रनगर महाविद्यालय में विज्ञान प्रौद्योगिकी और नवाचार का भविष्यः शिक्षा, कौशल और कार्य पर प्रभाव’ पर वेबिनार आयोजित

देहरादून/नरेन्द्रनगर,गढ़ संवेदना न्यूज। राष्ट्रीय विज्ञान दिवस पर राजकीय महाविद्यालय नरेन्द्रनगर में विज्ञान संकाय के तत्वावधान में विज्ञान, तकनीकी व नवाचार विषयक राष्ट्रीय वेबिनार का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में देश के विभिन्न प्रान्तों से अकादमिक और इन्डस्ट्री से जुडे़ विशेषज्ञों सम्मिलित हुए। कार्यक्रम का शुभारम्भ करते हुए महाविद्यालय के प्राचार्य डाॅ0 अनिल कुमार नैथानी ने विज्ञान तकनीकी एवं नवाचार को मानव जाति की महानतम उपलब्धि बताते हुए सभी विषय विशेषज्ञों ाक स्वागत किया। इस अवसर पर प्रेसीडेंसी काॅलेज, चेन्नई के डाॅ0 शिव कुमार ने सर सी0 वी0 रमन तथा उनके शोध पर प्रकाश डालते हुए वैज्ञानिक सोच को वैज्ञानिक शोध का आधार बताते हुए इसकी अनिवार्यता पर बल दिया। जम्मू विश्वविद्यालय के प्रोफेसर यशपाल शर्मा ने प्रकृति के साथ सामन्जस्य बनाकर रहते हुए प्रकृति के सस्टेनेबल प्रयोग की बात पर प्रकाश डाला वहीं विख्यात पारिस्थिकी विज्ञानशास्त्री प्रोफेसर जी. एस. रजवार ने मानव जाति के विकास क्रम की व्याख्या के साथ ही विधाथियों के लिए सम्भावित वैज्ञानिक पाठयक्रमों से अवगत करवाया। कार्यक्रम में प्रख्यात शिक्षाविद तथा पर्यावरणविद डाॅ0 मधु थपलियाल ने ‘विज्ञान में महिलाओं की भूमिका‘ विषय पर चर्चा करते हुए महिला वैज्ञानिकों की उपलब्धियों का उल्लेख किया। कार्यक्रम में बहुराष्ट्रीय फार्मास्युटिकल कम्पनी में कार्यरत मीनाक्षी उनियाल ने एक रासायनिक अणु के दवा बनने की यात्रा के विभिन्न चरणों का वर्णन करने के साथ ही इन्डस्ट्री में सम्भावित रोजगार के अवसरों के बारें में भी छात्रों को अवगत करवाया। वेबिनार में उपस्थित द न्यू काॅलेज चेन्नई के डाॅ0 आर0 सुगाराज सेम्यूअल ने ‘नवाचार क्या है‘ विषयक व्याख्यान में छात्रों को वैज्ञानिक सोच के विकास की आवश्यकता पर बल दिया। इस कार्यक्रम में राजकीय स्नात्कोत्तर महाविद्यालय गोपेश्वर चमोली के डाॅ0 मनीष बेलवाल ने आलू तथा बे्रड पर होने वाली फंगल बीमारियों के बारे में बताते हुए बायो-फर्टिलायजर पर अपनी प्रस्तुति दी। वही राजकीय स्नात्कोत्तर महाविद्यालय गोपेश्वर चमोली के भौतिक विज्ञान विभागाध्यक्ष डाॅ0 दिनेश चन्द्र सती ने नैनो पार्टिकल्स तथा पैनो स्केल पर विज्ञान व तकनीकी के योगदान की चर्चा की। कार्यक्रम में उपस्थित राजकीय सनात्कोत्तर महाविद्यालय नई टिहरी के भौतिक विज्ञान विभागाध्यक्ष डाॅ0 कुलदीप सिंह तथा एल0 एस0 एम0 राजकीय स्नात्कोत्तर महाविद्यालय पिथौरागढ़ के डाॅ0 शंकर मण्डल ने पुरातन तथा वैदिक शिक्षण पद्धतियों का वर्णन किया। राजकीय स्नात्कोत्तर महाविद्यालय गोपेश्वर चमोली की डाॅ0 प्रियंका उनियाल ने कोविड-19 महामारी के दौर में शिक्षा पर अपने विचार रखे। कार्यक्रम में बी0एससी0 की छात्रा रिया भण्डारी एवं छात्र अंकित रंजन ने वर्तमान में विज्ञान तथा प्रौद्योगिकी का शिक्षा में योगदान पर अपने विचार प्रस्तुत किये। कार्यक्रम का समापन कार्यक्रम की सम्नवयक एवं संयोजिका डाॅ0 रश्मि उनियाल ने धन्यवाद ज्ञापित कर किया। कार्यक्रम का संचालन विज्ञान संकाय के प्राध्यापकों डाॅ0 रश्मि उनियाल, डाॅ0 शैलजा रावत, डाॅव चन्दा टी0 नौटियाल व डाॅ0 चेतन भटट ने किया। डाॅ0 सृचना सचदेवा, डाॅ0 नताशा, डाॅ0 पारूल मिश्रा, डाॅ0 मनोज कुमार, डाॅ0 सोनी तिलारा, डाॅ0 सोनिया, डाॅ0 विक्रम सिंह बत्र्वाल आदि उपस्थित रहें। -------------------------------------------------------------

देश के नवनिर्माण में आगे आये युवाः चौहान

देहरादून, गढ़ संवेदना न्यूज। भाजपा मीडिया प्रभारी मनवीर चैहान् ने कहा कि युवा राष्ट्र निर्माण के लिए आगे आये और विकास में सहयोग दें। महानगर देहरादून के भाजपा युवा मोर्चा के प्रेम नगर कांवली, जीएमएस मंडल के नव नियुक्त पदाधिकारियों का स्वागत समारोह कार्यक्रम में श्री चैहान ने कहा कि किसी भी देश का भविष्य वंहा के युवाओं पर निर्भर करता है और आज भारत विश्व का सबसे युवा आबादी वाला युवा देश है। हमें अपने युवा साथियों की ऊर्जा को देश के हर क्षेत्र में विस्तार के साथ युवाओं की ऊर्जा का देश हित मे सदुपयोग हो सके की दिशा में कार्य करना चाहिए। उन्होंने कहा कि हम सौभाग्यशाली हैं कि आज विश्व में हमारे देश के युवाओं ने हर क्षेत्र में अपना लोहा मनवाया है। श्री चैहान ने कहा कि भाजपा आज विश्व की सबसे बड़ी पार्टी होने के साथ-साथ सबसे युवा पार्टी हैं। भाजपा युवाओं को देश के नवनिर्माण की दिशा में आगे बढ़ाने का कार्य कर रही है। भाजपा ने हरेक क्षेत्र में युवाओं को प्रोत्साहित करने का कार्य किया है इसी के परिणाम स्वरूप लोकसभा व राज्यसभा सहित राज्यों की विधानसभाओं में भाजपा के सर्वाधिक युवा जनप्रतिनिधि हैं। युवाओं के तरक्की के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी सरकार ने स्किल इंडिया, स्टार्टअप इंडिया, और खेलों इंडिया जैसे बहुआयामी प्रोग्राम चला रखे हैं। उन्होंने कहा कि किसी भी देश की मजबूती युवाओं की राजनीतिक जागरूकता पर निर्भर करती है। उन्होंने कहा भारत का लोकतंत्र विश्व का सबसे बड़ा लोकतंत्र है इसको मजबूत और आदर्श बनाए रखना प्रत्येक युवा का कर्तव्य है। इस अवसर पर कार्यक्रम के संयोजक भाजपा के प्रदेश मंत्री आदित्य चैहान ने कहा कि युवाओं की नव चेतना से ही राजनीति में सूचिता और आदर्श कायम कर सकते हैं। राजनीति में महान आदर्श सुचिता मजबूत करना ही भारतीय जनता पार्टी का हमेशा ध्येय रहा है। उन्होंने कहा कि युवाओं के अंदर राष्ट्र के प्रति पहाड़ जैसे ऊंची सोच का मजबूती से उनमें निरंतर संचार होते रहना चाहिए। आदित्य चैहान ने कहा कि मिशन 2022 के लिए युवाओं की महत्वपूर्ण भूमिका रहने वाली है उन्होंने सभी कार्यकर्ताओं से मिशन 2022 में जुटने का भी आह्वान किया। कार्यक्रम में नवनियुक्त युवा मोर्चा के सभी पदाधिकारियों का प्रदेश मंत्री आदित्य चैहान ने उनका फूल मालाओं और शॉल ओढ़ाकर कर स्वागत किया। इस कार्यक्रम में महानगर युवा मोर्चा के महानगर अध्यक्ष अंशुल चावला, युवा मोर्चा के प्रदेश प्रवक्ता आशीष रावत, जीएमएस मंडल अध्यक्ष अभिषेक शर्मा प्रेम नगर कावली मंडल अध्यक्ष शुभम सिंह नेगी आदि भाजपा के अन्य पदाधिकारी व कार्यकर्ता भी उपस्थित रहे।

Saturday, 27 February 2021

विशेषज्ञों ने क्वांटम मैटीरियल्स और डिवाइसेज के लिए हेट्रोस्ट्रक्चर इंजीनियरिंग पर किया मंथन

रुड़की। क्वांटम मामलों के क्षेत्र से अग्रणी अंतरराष्ट्रीय और राष्ट्रीय विशेषज्ञों ने क्वांटम मैटर हेटोस्ट्रक्चर (क्यूएमएच-2) में राष्ट्रीय सम्मेलन मेंडिजाइनर थिन फिल्मों, हेट्रोस्ट्रक्चर और क्वांटम मैटीरियल्स के उभरते इलेक्ट्रोमेग्नेटिक फिनोमना (विद्युतचुंबकीय घटनाओं) की भूमिका पर चर्चा की। इस दौरान प्रो. अमितवापात्रा, निदेशक, इंस्टीट्यूट ऑफ नैनो साइंस एंड टेक्नोलॉजी (आईएनएसटी), मोहाली ने उद्घाटन सत्र को संबोधित करते हुए कहा कि “क्वांटम मैटीरियल्स विज्ञान और प्रौद्योगिकी के लिए आकर्षक है, और तकनीकी अनुप्रयोगों (एप्लीकेशंस) के लिए नए प्रकार के क्वांटम उपकरणों को संश्लेषित करने के लिए अत्याधुनिक सुविधाओं के साथ गतिविधियां शुरू की जा रही हैं। क्वांटम मैटीरियल्स (सामग्रियों) के सामूहिक और उभरते गुणों के साथ हेट्रोस्ट्रक्चर इंजीनियरिंग की शक्ति और संभावनाओं को जोड़ते हुए, क्वांटम-मैटर हेटोस्ट्रक्चर्स सॉलिड-स्टेट भौतिकी का एक नया क्षेत्र खोलते हैं।“ प्रो. अजीत कुमार चतुर्वेदी, निदेशक, आईआईटी रुड़की, ने क्वांटम मैटीरियल्स, विशेषकर इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों के महत्व पर जोर देते हुए कहा कि “हम मूल पी-एन जंक्शन से शुरू होने वाली सामग्री द्वारा निर्धारित नींव के बिना किसी भी इलेक्ट्रॉनिक उपकरण की कल्पना नहीं कर सकते हैं। हेट्रोस्ट्रक्चर का उपयोग करके जिस तरह के उपकरणों का एहसास किया जा सकता है, वह विशेषज्ञों की कल्पना और नवाचार पर निर्भर करेगा।” उन्होंने अपने ये विचार 18 से 20 फरवरी, 2021 तक को नैनो विज्ञान और प्रौद्योगिकी संस्थान (आईएनएसटी), मोहाली और भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान रुड़की द्वारा आयोजित सम्मेलन में व्यक्त किए। इस मौके पर क्वांटम मैटर हेट्रोस्ट्रक्चर (क्यूएमएच-2) में राष्ट्रीय सम्मेलन की आयोजन समिति के सदस्य डॉ.सुवनकर चक्रवर्ती ने बताया कि “2018 में, पीएसए ऑफिस ने क्वांटम प्रौद्योगिकियों की आवश्यकता को पूरा करने के लिए विशेष जोर देने के साथ भारत में भौतिक संसाधनों को बढ़ाने के लिए गहरी रुचि दिखाई। यह सम्मेलन एक मंच के रूप में काम करेगा, जो क्वांटम मामलों में उभरती प्रवृत्तियों और आपसी हित के विषय पर सहयोग को बढ़ावा देने के लिए भावी रणनीतियों और योजनाओं पर चर्चा करेगा।“

प्रसिद्ध गायिका सिमरन चैधरी ने किया दून में लाइव शो

देहरादून। ‘वॉयस ऑफ इंडिया’ की प्रसिद्धि एवं लोकप्रिय गायिका सिमरन चैधरी ने आज देहरादून के जिओन एयर लाउंज में लाइव प्रस्तुति दी। सिमरन एक हिंदुस्तानी शास्त्रीय प्रशिक्षित गायिका हैं और हाल ही में उन्होंने गुजर जाएगा प्रोजेक्ट में अमिताभ बच्चन के साथ और जरुरत प्रोजेक्ट में शत्रुघ्न सिन्हा, सोनाक्षी सिन्हा के साथ काम करा है। इस अवसर के दौरान, उन्होंने अपने नवीनतम ट्रैक मेहरबानियां के साथ साथ श्बेस तेरी आन, शाह काला और हवा बनकेश् की प्रस्तुति दी। सिमरन चैधरी अपने नए लॉन्च किए गए गाने मेहरबानियां के प्रचार के लिए देहरादून में हैं। वह मेहरबानिया टूर के तहत 6 अन्य शहरों का भी दौरा करेंगी। उल्लेखनीय है कि मेहरबानियां के संगीत वीडियो को देहरादून के प्रसिद्ध निर्देशक और विज्ञापन फिल्म निर्माता वरुन प्रभुदयाल गुप्ता द्वारा फिल्माया गया है। शहर के विभिन्न वन स्थानों पर फिल्माया गया यह वीडियो, संयुक्त रूप से एम्प्लिफाई और हेड्स अप एंटरटेनमेंट द्वारा निर्मित किया गया है। इस म्यूजिक वीडियो के लॉन्च होने के एक हफ्ते के भीतर ही इसको 4 मिलियन से अधिक व्यू प्राप्त हो गए हैं। इस अवसर पर, निर्देशक वरुन प्रभुदयाल ने कहा, “देहरादून को शूटिंग स्थान के रूप में चुना गया था, इसलिए हम इस खूबसूरत शहर से ही मेहरबानियां टूर की शुरुआत कर रहे हैं। मैं इस म्यूजिक वीडियो की सफलता के लिए हेड्स अप एंटरटेनमेंट के ओनर एवं एग्जीक्यूटिव प्रोडूसर सम्रान्त विरमानी और प्रोड्यूसर राज सूरी को दिल से धन्यवाद देना चाहता हूं।”उन्होंने आगे कहा, ष्श्मेहरबानियां’ गीत स्वतंत्र संगीत लेबल एम्प्लीफाई के पुनरू लॉन्च का प्रतीक है। अब तक हमने दुनिया भर में नए इंडी कलाकारों को बढ़ावा देते हुए लगभग 400 गाने और लगभग 1500 कलाकारों को सफलतापूर्वक लॉन्च किया है। ”देहरादून में जन्मे और पले-बढ़े वरुन प्रभुदयाल गुप्ता म्यूजिक वीडियो और विज्ञापन फिल्म निर्देशक, उद्यमी और निर्माता हैं। हाल ही मे उन्होंने गुजर जाएगा प्रोजेक्ट में अमिताभ बच्चन के साथ और जरुरत प्रोजेक्ट में शत्रुघ्न सिन्हा, सोनाक्षी सिन्हा के साथ बतौर निर्देशक के रूप में काम किया है ।

शिवसेना ने 100 परिवारों को राशन वितरित किया

देहरादून। शिवसेना मुख्यालय पर मासिक राशन वितरण का कार्यक्रम सम्पन्न हुआ। इस अवसर पर लगभग 100 परिवारों को राशन वितरित किया गया। इस अवसर पर शिवसेना जिला उप प्रमुख मनोज सरीन ने कहा कि आज शिवसेना समाज सेवा का दूसरा नाम बन गया है पिछले 11 महीनो से शिवसेना मुख्यालय से जरूरत मन्दो की मदद की जा रही है। शिवसेना महासचिव विकास मल्होत्रा ने कहा कि शिवसेना राजनीति में भी समाज सेवा का अवसर ढूंढ लेती है एवं समाज के दबे-कुचले वर्ग की सहायता के लिए दिन रात कार्य करती है इस अवसर पर शिवम् गोयल, वासु परविन्दा, मनजीत भट्ट रोहित बेदी,हरीश रावत, निशा मेहरा, कृष्णा देवी, शीला सिंह, रेखा मित्तल, हर्ष सिंघल,शुभनिश शर्मा, संजीव मेठानी, पुल्कित परविन्दा, मनोज गुप्ता आदि शिवसेनिक उपस्थित रहे।

नेपाल सिंह कश्यप को मत्स्य विकास अभिकरण का उपाध्यक्ष बनाया गया

देहरादून। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने हरिद्वार निवासी नेपाल सिंह कश्यप को मत्स्य विकास अभिकरण में उपाध्यक्ष द्वितीय पद पर मनोनीत किया है। श्री कश्यप को राज्यमंत्री का दर्जा दिया गया है। मुख्यमंत्री ने श्री कश्यप से अपेक्षा की है कि वे प्रदेश में मत्स्य गतिविधियों को बढ़ावा देने में अपना भरपूर योगदान देंगे।

उत्तराखंड प्रगतिशील पार्टी उत्तराखंड के समग्र विकास के लिए प्रतिबद्धः

पौड़ी। उत्तराखंड प्रगतिशील पार्टी ने आज पौड़ी के पदमा पैलेस सभागार में एक प्रेस वार्ता का आयोजन किया। कार्यक्रम की अध्यक्षता मोहन ढौडियाल ने अपने साथी संयोजको के साथ किया। वार्ता में मोहन ढौंडियाल ने कहा ’उत्तराखंड राज्य को बने 20 साल हो चुके हैं, प्रदेश के विकास का पहिया कई लोगों ने अपने नेतृत्व में लिया लेकिन विकास की स्थिति में कोई परिवर्तन नहीं देखा गया। राज्य कि जनता त्राहिमाम त्राहिमाम कर रही है लेकिन दिल्ली में बैठ कर उत्तराखंड की राजनीति करने वाले के कान तक हमारी बात पहुृच ही नहीं रही है और राष्ट्रीय दलों ने उत्तराखंड को अपने हाल पर छोड़ दिया है। उत्तराखंड प्रगतिशील पार्टी राज्य में लोगों के सामने एक विकल्प के रूप में मौजूद है जो उत्तराखंड के विकास के प्रति प्रतिबद्ध है। उत्तराखंड प्रगतिशील पार्टी एक सुनहरे भविष्य के साथ उत्तराखंड के लोगों के लिए खड़ी है। आगामी विधानसभा चुनाव में इस बार उत्तराखंड प्रगतिशील पार्टी उत्तराखंड में नए विकल्प के रूप में आई है। जिसका नेतृत्व उत्तराखंड की जनता को खुद अपने हाथों में लेकर करना है। अगर हमें अपने क्षेत्र के विकास में भागीदार बनना है और अपने प्रदेश का विकास करना है तो हमें अपने प्रदेश की क्षेत्रीय पार्टी को नेतृत्व करने का मौका देना चाहिए। उत्तराखंड प्रगतिशील पार्टी अपने अध्यक्ष संजय कुण्डलिया के नेतृत्व में राज्य के लोगों को सामने एक राजनीतिक विकल्प देने जा रहा है, जो समग्र उत्तराखंड को एक विकसित राज्य बनाने के लिए संकल्पित है और जो बहुआयामी विकास के लिए दृढ़ निश्चय ले चुके है। उत्तराखंड प्रगतिशील पार्टी आने वाले चुनाव में प्रदेश के 70 के 70 विधानसभा सीटों पर चुनाव लड़ेंगे और विजई होंगे। वार्ता में उत्तराखंड प्रगतिशील पार्टी के अन्य संयोजको ने कहा ’हमारे पौड़ी कि स्थिति ऐसी है कि शिक्षा, स्वास्थ्य की व्यवस्था बदहाल हो चुकी है। लोगांे को साधारण विमारी के इलाज के लिए के लिए देहरादून जाना पड़ता है अगर किसी को कोई गंभिर विमारी या आपातकालिन व्यवस्था कि जरूरत हो तो भगवान ही उसे बचाते है। गत 20 वर्षों से विकास की मनगढ़ंत कहानियां सुनाते सुनाते राष्ट्रीय पार्टी ने उत्तराखंड को गर्त में धकेल दिया है। अब वक्त आ गया है कि अपने उत्तराखंड के युवाओं को आगे बढ़कर राजनीति में भागीदारी सुनिश्चित करनी पड़ेगी और अपने राज्य और अपने क्षेत्र के विकास के लिए आगे बढ़ना होगा। उत्तराखंड प्रगतिशील पार्टी इसी दिशा में अपना कार्य कर रही है और राज्य के सभी वर्ग के युवाओं को साथ लेकर राजनीति में आगे बढ़ रही है। उत्तराखंड प्रगतिशील पार्टी उत्तराखंड के समग्र विकास के लिए प्रतिबद्ध है और वह यह सुनिश्चित कर चुकी है कि अगर उत्तराखंड को विकास की ओर ले जाना है तो हमें युवा नेतृत्व को सामने रखना होगा। इसीलिए तमाम युवा वर्ग उत्तराखंड प्रगतिशील पार्टी से जुड़ कर उत्तराखंड के आने वाले भविष्य को सुनहरे अक्षरों में लिखना चाहते है। प्रेस वार्ता के दौरान पार्टी के मोहन ढौंडियाल (प्रदेश संयोजक), मनोज सिंह नेगी (पार्टी प्रवक्ता), डॉ संदीप ढौंडियाल (चैबट्टाखाल संयोजक), पुर्वसैनिक चन्द्रशेखर नेगी (चैबट्टाखाल संयोजक), अजय सिंह नेगी (पौड़ी संयोजक) व पार्टी के अन्य कार्यकर्ता मौजूद रहे।

बांस एवं रिंगाल उद्यमियों के उत्पादों के मूल्यवर्धन के लिए प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन

देहरादून। उत्तराखण्ड विज्ञान शिक्षा एवं अनुसंधान केन्द्र (यूसर्क), सूचना एवं विज्ञान प्रौद्योगिकी विभाग, उत्तराखण्ड शासन, देहरादून द्वारा सह-सहयोगी संस्था सरस्वती जनकल्याण एवं स्वरोजगार संस्था के सहयोग से राष्ट्रीय हिमालय अध्ययन मिशन, पर्यावरण विकास संस्थान, कोसी कटारमल, अल्मोड़ा भारत सरकार से स्वीकृत परियोजना के अन्तर्गत 05 मार्च तक बांस एवं रिंगाल उद्यमियों के उत्पादों के मूल्यवर्धन हेतु सात दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन नांगल बुलन्दावाला, डोईवाला ब्लाॅक देहरादून में किया जा रहा है। इस सात दिवसीय कार्यक्रम का उद्घाटन डा0 संतन बर्थवाल, वरिष्ठ वैज्ञानिक, एफ.आर.आई., नेहा (ग्रामप्रधान), ए0डी0 डोभाल, उप निदेशक, प्रदीप डोभाल एवं द्वारा संयुक्त रूप से किया गया। कार्यक्रम के प्रारम्भ में डा0 मन्जू सुन्दरियाल द्वारा कार्यक्रम के बारे में विस्तृत जानकारी दी गई तथा रिंगाल बांस शिल्प को नये डिजाईन द्वारा किस प्रकार आगे बढ़ाया जा सकता है व रिंगाल के मूल्य संवर्धन उत्पाद बनाने हेतु सुझाव दिया गया। यूसर्क के निदेशक प्रो0 एम0पी0एस0 बिष्ट के द्वारा प्रशिक्षणों की स्थानीय संसाधनों पर आधारित आजीविका वर्धन हेतु महिला उद्यमियों को आगे आने एवं बांस व रिंगाल के परम्परागत उत्पादों में मूल्यवर्धन करने की आवश्यकता होने का संदेश दिया गया। डा0 बिपिन सती के द्वारा राज्य में बांस एवं रिंगाल के उपयोग एवं महत्व पर जानकारी दी गयी। ग्राम प्रधान नेहा ने कार्यक्रम को आगे बढ़ाने के लिये हर प्रकार के सहयोग देने की इच्छा प्रकट की। डा0 संतन बर्थवाल वैज्ञानिक, वन अनुसंधान संस्थान, देहरादून द्वारा रिंगाल उत्पाद हेतु नर्सरी लगाने व रिंगाल इसके प्रबन्धन की विस्तृत जानकारी दी गई। कार्यक्रम में मुख्य रुप से मास्टर टेªनर मदन लाल, समन्वयक बीना सिंह डा0 बिपिन सती आदि उपस्थित रहेे। उक्त कार्यक्रम में 30 महिला प्रतिभाागियों के द्वारा प्रशिक्षण लिया जा रहा है।

समाज के सभी वर्गों को एक सूत्र में पिरोने वाले संत थे रविदासः गामा

-छठ पार्क निर्माण कार्यों के निरीक्षण के पश्चात की अंबेडकर भवन एवं विद्यालय बनाने की घोषणा देहरादून। लगभग 600 वर्ष पूर्व भक्ति आंदोलन के जरिए समाज के सभी वर्गों को एक सूत्र में पिरोने का काम संत रविदास ने किया था, ऐसे व्यक्तित्व जिस भी काल में आते हैं वह काल उनके किए कार्यों के कारण इतिहास में दर्ज होता है डॉक्टर भीमराव अंबेडकर सेवा समिति ब्रम्हपुरी द्वारा आयोजित संत रविदास के 644 वे जन्मोत्सव कार्यक्रम में बोलते हुए महापौर सुनील उनियाल गामा ने कहा संत रविदास का जीवन अनुकरणीय है क्योंकि उन्होंने अपने काल में समाज में व्याप्त छुआछूत जैसी बुराइयों के विरुद्ध संघर्ष किया, गामा ने इस अवसर पर उत्तराखंड सरकार द्वारा ब्रम्हपुरी, धर्मपुर विधानसभा, देहरादून महानगर एवं प्रदेश में किए जा रहे विकास कार्यों का विवरण देते हुए अगले वर्ष एक बार फिर भाजपा सरकार को पुनर्स्थापित करने हेतु उपस्थित जनता से अपील की। धर्मपुर विधायक विनोद चमोली ने संत रविदास से जुड़ी घटनाओं को उद्धृत करते हुए कहा की संत अपने कालखंड में समाज में चल रहे आडंबर एवं छुआछूत से टकराए, टकराने वालों को बहुत कुछ सहना पड़ता है पर आने वाला इतिहास युगांे तक उसे याद रखता है यही कारण है कि आज हम उन्हें याद कर रहे हैं और आने वाले सैकड़ों सालों तक याद करते रहेंगे , चमोली के अनुसार संत रविदास ने मन की शुद्धि को स्थापित कर बताया कि परोपकार में ही आनंद, भक्ति और मुक्ति है यानी मन चंगा तो कठौती में गंगा। चमोली ने कहा कि परिवार में बच्चों की किलकारी हमें बताती है कि हमारी आने वाली पीढ़ी सुरक्षित है और बुजुर्ग अभिभावकों की खांसी हमें बताती है कि हम सुरक्षित हैं, संत रविदास की रचनाओं से हमें उसी सामाजिक सुरक्षा का एहसास होता है जिसके कारण आतताई के षड्यंत्र के बावजूद हमारी एकता हजारों वर्षों से बनी हुई है। भाजपा महानगर मीडिया प्रभारी राजीव उनियाल ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि संत रविदास, डॉक्टर अंबेडकर जैसे व्यक्ति अपना जीवन समाज हेतु होम कर देते हैं ताकि समाज में समरसता स्थापित रहे। पार्षद सतीश कश्यप ने इस अवसर पर महापौर एवं विधायक से ब्रम्हपुरी में अंबेडकर भवन बनाने की अपील की जिसे दोनों नेताओं ने तुरंत स्वीकृति दी और बताया कि यह छठ पार्क से अलग भूमि पर बनाया जाएगा जिस हेतु नगर निगम शीघ्र ही प्रस्ताव लाएगा। कार्यक्रम में शिव नारायण तिवारी, हरवीर सिंह यादव, मुकेश चैहान, विनोद गुप्ता, विजय कुमार, योगेंद्र सिंह गुड्डू , विजयपाल, राजाराम, दयाराम , रामबहादुर, रामकिशन, संजीव सिंघल, विद्या देवी, निधि राणा, कमला देवी, ओमवती सहित सैकड़ों की संख्या में स्थानीय नागरिकों ने भाग लिया।

दायित्व खरीद-फरोख्त मामले में स्थिति स्पष्ट करंे सरकारः मोर्चा

देहरादून। जन संघर्ष मोर्चा अध्यक्ष एवं जीएमवीएन के पूर्व उपाध्यक्ष रघुनाथ सिंह नेगी ने कहा कि कल ही सरकार द्वारा 17 लोगों को दायित्व देकर दायित्वधारी राज्य मंत्री बनाया गया है, लेकिन जिस तरह से प्रदेश में भाजपा नेताओं की दायित्वों की खरीद-फरोख्त का मामला सामने आया है, निश्चित तौर पर बहुत ही गंभीर विषय है। नेगी ने कहा कि हरिद्वार के एक उद्योगपति ने दो भाजपा नेताओं को 30 लाख रुपए में दायित्व खरीद-फरोख्त का सौदा किया था, लेकिन दायित्व ने मिलने से खफा उद्योगपति ने थाने में तहरीर देकर मामला साफ कर दिया है कि दायित्व की खरीद-फरोख्त में भाजपा के तथाकथित कुछ नेता दुकानदारी चला रहे हैं द्यउक्त मामले में दायित्व खरीदने वाले व बेचने वाले दोनों के खिलाफ सरकार को कार्रवाई कर स्थिति स्पष्ट करनी चाहिए। नेगी ने कहा कि पूर्व में भी एक ऐसे ही मामले में झारखंड प्रभारी रहते हुए सीएम त्रिवेंद्र रावत द्वारा दलाली किए जाने के मामले में उच्च न्यायालय ने सीबीआई जांच व एफआइआर के आदेश दिए थे, लेकिन मा. सुप्रीम कोर्ट ने फिलहाल उस आदेश पर रोक लगा रखी है, जिस पर आज-कल में सुनवाई होनी है। मोर्चा सरकार से मांग करता है कि पूरे प्रकरण पर स्थिति स्पष्ट करें।

ऑनलाइन खेल का टास्क: छात्र ने महिला के सिर पर मार दिया हथौड़ा

देहरादून। ऑनलाइन खतरनाक गेम खेलकर बच्चे अपराध की दुनिया में कदम रख रहे हैं। ऐसा ही एक मामला देहरादून में सामने आया है। यहां बारहवीं कक्षा के एक छात्र ने सड़क पर चल रही महिला के सिर पर हथौड़ा मारकर उसे घायल कर दिया और इसके बाद वह फरार हो गया। पुलिस ने पांच दिन बाद छात्र को शिमला से बरामद कर लिया। महिला पर हमले के बाद वह पैदल पैदल चलता रहा। वह रात भर चलकर हरबर्टपुर होते हुए पांउटा साहिब पहुंचा। वहां एक रात उसने गुरुद्वारा में गुजारी। वह अगली सुबह एक अनजान व्यक्ति से उसने एक हजार रुपये लिए। इस राशि से उसने स्वयं के लिए जूते खरीदे। इसके बाद बस में बैठ कर शिमला बस स्टैंड में उतर गया। शिमला में वह पैदल-पैदल घूमता रहा। वहां लोग उसे खाना खिला देते थे। कुछ ने लोगों ने उसे घर जाने को भी कहा। वह पूरे शिमला में पैदल-पैदल घूमता रहता, फिर घूम फिर कर एक ही जगह वापस आ जाता था। इस पर कुछ लोगों ने उसे गुरुद्वारा में जाकर रहने खाने की सलाह दी। वह गुरुद्वारे में गया और रहने की जगह मांगी। तब तक पुलिस पहुंच गई। पुलिस के मुताबिक इस छात्र का कहना है कि उसे नहीं पता कि उसने ऐसा क्यों किया। वह अक्सर वर्चुअल वर्ल्ड में समय व्यतीत करता है। पुलिस के मुताबिक इस किशोर को किशोर न्याय बोर्ड के समक्ष पेश किया जा रहा है। पुलिस पूछताछ में छात्र ने बताया कि वह ऑनलाइन गेमिंग का शौकीन है। उसका अधिकतर समय ऑनलाइन गेम खेलने में व्यतीत हो जाता है। दिन रात वह साइबर वर्ल्ड में व्यस्त रहता है। कथा, वेब सीरीज और नोबेल लिखने का वह शौकीन है। उसने बताया कि घटना के दिन वह घर से अपनी प्रोजेक्ट फाइल पर बाइंडिंग करवाने के लिए घर से निकला था। वह पैदल पैदल चलते हुए बंगाली कोठी के पास पहुंचा। वहां उसे कारपेंटर का काम करते हुए लोग दिखाई दिए। उसने वहां से एक हथौड़ी उठाई व आगे चलता गया। तभी उसे एक लड़की फोन पर बात करते हुए दिखाई दी, तो उसने उसके सिर पर हथौड़े से वार कर दिया। जब लड़की नीचे गिरकर चिल्लाई तो वह फाइल व हथौड़ी वहीं छोड़कर भाग गया। घटना 22 फरवरी की सायं आठ बजे की है। नेहरू कालोनी थाना क्षेत्र के अंतर्गत स्वर्ण गंगा एनक्लेव लेन नंबर दो निवासी सिद्धार्थ आहलूवालिया की पत्नी ज्योति नेगी पशुपति हाट के पास मोबाइल पर बात कर रही थी। तभी किसी पीछे से उसके सिर पर हथौड़ा मार दिया। साथ ही उसके गले में भी धारदार हथियार से वार किया गया। इससे महिला लहूलुहान हो गई। हमला करने वाला मौके से फरार हो गया। घायल महिला को कनिष्क अस्पताल में भर्ती कराया गया। महिला के पति ने इस संबंध में नेहरू कालोनी थाने में रिपोर्ट भी दर्ज कराई थी। पुलिस ने घटनास्थल का बारीकी से निरीक्षण किया गया तो घटनास्थल पर स्कूल की एक प्रोजेक्ट फाइल मिली। इस पर छात्र का नाम लिखा था। पीड़ित महिला से जब जानकारी चाही तो उसे छात्र से संबंधित कोई जानकारी नहीं थी। साथ ही वह उसे पहचानती भी नहीं थी। ऐसे में पुलिस की मुसीबत और बढ़ गई। पुलिस ने आसपास जांच की तो वहां सीसीटीवी कैमरे भी नहीं मिले। साथ ही महिला पर हमले का उद्देश्य भी पता नहीं चल पाया। इस बीच पुलिस को सूचना मिली कि पटेलनगर थाना क्षेत्र से एक 17 वर्षीय छात्र गायब है। वह महिला पर हमले की घटना से पूर्व घर से प्रोजेक्ट की फाइल बाइंडिंग कराने गया था। इस संबंध में उसके परिजनों ने गुमशुदगी की रिपोर्ट भी दर्ज कराई। उसके बाद पुलिस को पक्का विश्वास हो गया कि घटनास्थल पर मिली फाइल गायब हुए छात्र की है। किशोर को तलाशती हुई पुलिस हिमाचल के पांउटा साहिब पहुंची। वहां पता चला कि वह शिमला की बस में सवार हुआ था। बस के परिचालक का मोबाइल नंबर लेकर पुलिस ने जानकारी चाही तो पता चला कि वह शिमला बस स्टैंड पर उतारा गया था। इस पर एक टीम शिमला भेजी गई। साथ ही वहां सीसीटीवी फुटेज खंगाले गए। शुक्रवार रात्रि को उसे शिमला स्थित एक गुरुद्वारा से बरामद कर लिया गया।

Friday, 26 February 2021

कुंभ में अपनी नाकामी को छुपाने के लिए संतों पर प्रतिबंध लगा रही सरकारः रविंद्र सिंह आनंद

देहरादूना। आम आदमी पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता रविंद्र सिंह आनंद ने आरोप लगाया कि राज्य सरकार द्वारा कुंभ स्नान में संत समाज पर कोरोना को लेकर जो प्रतिबंध लगाए गए है उससे सरकार ने न सिर्फ उनका अपमान किया है आपनी नाकामियों को भी छुपाने का प्रयास किया है। ज्ञात हो कि कुभ में होने वाले शाही स्नान को पहले की संत समाज को बिना भरोसे में लिए कम कर उनका अपमान राज्य सरकार द्वारा किया गया था। अब उन पर यह भी प्रतिबंध है कि कोई भी संत समाज का व्यक्ति बिना कोरोना रिपोर्ट के स्नान के लिए नहीं जा सकता। श्री आंनद ने कहा कि यह सरासर संत समाज का अपमान है, इससे मुख्यमंत्री जी ने सिर्फ संत समाज का अपमान किया है बल्कि हिंदु धर्म को मानने वालों की आस्था को भी आघात पहंुचाया है। श्री आनंद ने आरोप लगाया कि मुख्यमंत्री यह सब इसलिए भी कर रहे है जिससे कुंभ को लेकर अधुरी तैयारियों पर पर्दा डाला जा सके, और अपनी नाकामियेां को भी छुपाया जा सके। श्री आनंद ने कहा कि हाल ही है केंद्रीय मंत्री रमेंश पोखरियाल निशंक ने भी कुंभ की व्यवस्थाओं को लेकर दौरा किया था और उन्होंने भी इस पर आपत्ति जताई थी। इसके बाद भी तैयारियेां पर कोई ध्यान नहीं दिया गया और अब अपनी नाकामियों को छुपाने के लिए राज्य सरकार इस तरह के ओछेे हथकंडे अपना रही है।

परमार्थ निकेतन की ओर से भव्य राम मन्दिर निर्माण को 51 लाख रु. का चेक किया समर्पित

ऋषिकेशा। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री महंत योगी आदित्यनाथ एवं परमार्थ निकेतन के अध्यक्ष स्वामी चिदानन्द सरस्वती की भेंटवार्ता हुई। दोनों दिव्य विभूतियों की औपचारिक चर्चा के दौरान स्वामी चिदानन्द सरस्वती महाराज ने मुख्यमंत्री श्री योगी को प्रयागराज कुंभ मेला- 2019’ को गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में शामिल किये जाने हेतु धन्यवाद देते हुये कहा कि यह भारत के लिये गर्व का विषय है। स्वामी चिदानन्द सरस्वती ने योगी आदित्यनाथ जी को कुम्भ मेला, हरिद्वार एवं परमार्थ निकेतन में अप्रैल-मई माह में आयोजित एक माह की ‘‘श्री राम कथा’’ में सहभाग हेतु आमंत्रित किया। श्री योगी से धर्मनगरी अयोध्या और श्री राम मन्दिर की चर्चा करते हुये स्वामी चिदानन्द सरस्वती ने सुझाव देते हुये कहा कि भगवान शिव के ग्यारह रूद्र स्वरूप है अतः अयोध्या में ग्यारह हजार रूद्राक्ष के पौधों का रोपण किया जाये हमारी हार्दिक इच्छा है। अयोध्या में रूद्राक्ष वन की स्थापना होनी चाहिये अगर यह सेवा योजना क्रियान्वित होती है तो परमार्थ निकेतन की ग्यारह हजार रूद्राक्ष के पौधों का सहयोग प्रदान करने की इच्छा है। स्वामी जी ने बताया कि जैसे ही अयोध्या में स्थान का चयन हो जाये तो रूद्राक्ष पौधों के रोपण का कार्य आरम्भ किया जा सकता है। इस अवसर पर स्वामी जी ने माननीय मुख्यमंत्री श्री योगी को रूद्राक्ष का पौधा भेंट किया। तत्पश्चात स्वामी चिदानन्द सरस्वती ने आज राष्ट्रीय कवि संगम द्वारा सरयू तट, अयोध्या में आयोजित ‘श्री राम वन गमन पथ काव्य यात्रा’ एवं अधिवेशन में सहभाग किया। स्वामी चिदानन्द सरस्वती महाराज ने चंपत राय, महामंत्री श्री राम मंदिर ट्रस्ट अयोध्या को परमार्थ निकेतन की ओर से भव्य राम मन्दिर निर्माण हेतु 51 लाख रूपये का चेक किया समर्पित किया। आज अयोध्या में राष्ट्रीय कवि संगम के पदाधिकारी गण एवं अन्य सभी अतिथियों ने अयोध्या में श्री राम चन्द्र भगवान जी के जहां-जहां चरण पड़े और उन्होंने जहां विश्राम किया उन सभी स्थानों का भ्रमण ‘श्री राम वन गमन पथ काव्य यात्रा’ के माध्यम से किया और संकल्प लिया। स्वामी ने कहा कि प्रयागराज कुम्भ मेला के अवसर पर प्रज्ञापुरूष मोहन भागवत एवं पूरा संत समाज उपस्थित था उस समय इस संसार ने दिव्य कुम्भ और भव्य कुम्भ का दर्शन किये अब दिव्य अयोध्या और भव्य अयोध्या की शुरूआत होनी चाहिये। स्वामी जी ने कहा कि आज अयोध्या आकर अत्यंत प्रसन्नता हो रही है कि यहां पर दिव्य और भव्य भगवान श्री राम के मन्दिर का निर्माण हो रहा है। यहां केवल राम मन्दिर नहीं बल्कि राष्ट्र मन्दिर का निर्माण हो रहा है जिससे आने वाली पीढ़ियां इस संस्कृति और संस्कारों से आप्लावित होती रहेंगी। इस अवसर पर स्वामी चिदानंद सरस्वती महाराज, चंपत राय महामंत्री श्री राम मंदिर ट्रस्ट अयोध्या, वरिष्ठ कवि डॉ हरिओम और अनेक गणमान्य अतिथियों एवं प्रख्यात कवियों ने सहभाग किया।

ऋषिकेश में 1 से 7 मार्च तक आयोजित होगा अंतरराष्ट्रीय योग महोत्सव

देहरादूना। ऋषिकेश में प्रतिवर्ष एक मार्च से सात मार्च तक चलने वाले अंतर्राष्ट्रीय योग महोत्सव की मेजबानी के लिए उत्तराखंड पूरी तरह तैयार है, यह फेस्टिवल योगनगरी ऋषिकेश में आयोजित हो रहा है। योग और अध्यात्म के अनुरागियों के लिए यह देश का सबसे आकर्षक उत्सव है। अंतर्राष्ट्रीय योग महोत्सव 2021 दैनिक जीवन में योग के फायदों के बारे में विश्व व्यापी जागरुकता फैलाने पर केन्द्रित है। उत्तराखण्ड पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज ने सभी का आवाह्न करते हुए कहा कि आप योग नगरी ऋषिकेश में एक से सात मार्च तक होने वाले अंतरराष्ट्रीय योग महोत्सव में हिस्सा लेने यहां अवश्य आएं। ऋषिकेश सदैव योग गुरूओं व संतों के लिए सदैव प्रसिद्ध रहा है। इस भव्य महोत्सव में आपको पुरातन योग पद्धति को निकटता से जानने समझने का सुअवसर मिलेगा। साथ ही, योगाभ्यास करके आपको अनोखा अनुभव भी प्राप्त होगा। देवभूमि उत्तराखण्ड में आप सभी का हार्दिक स्वागत है। पर्यटन सचिव दिलीप जावलकर ने कहा, ’’अंतर्राष्ट्रीय योग महोत्सव 2021 के लिए प्रस्तावित गतिविधियों के साथ हम निरंतर काम कर रहे हैं। हम यह भी सुनिश्चित कर रहे हैं कि कोविड-19 के इस दौर में पर्यटकों के लिए सभी सावधानियां बरती जाएं।’’ अपने प्रारंभ के बाद से यह आयोजन निरंतर विस्तारित हो रहा है तथा ज्यादा से ज्यादा लोगों को इस परिवार में शामिल होने के लिए प्रेरित कर रहा है। इस वर्ष ऋषिकेश में पारंपरिक योग, समकालीन योग, सदियों पुराना भारतीय चिकित्सीय अभ्यास व उपचारात्मक योग के साथ शक्ति-सृजन पर फेस्टिवल में चर्चा की जायेंगी। इस वर्ष प्राचीन तकनीकों के द्वारा योग का अभ्यास किया जायेगा। योग सत्र के दौरान प्राचीन कला के माध्यम से अनुभवी योग चिकित्सकों द्वारा उपस्थित लोगों को शरीर, मन और आत्मा को शांत करने के बारे में जानकारी दी जायेगी। योग फेस्टिवल में प्रसिद्ध योग गुरूओं से मिलने का मौका मिलेगा। फेस्टिवल में योग के प्रति उत्साही लोंगो को 50 घंटे का योग प्रशिक्षण प्राप्त करने का प्रमाण पत्र भी प्रदान किया जायेगा। इसके साथ ही योग में उपस्थित लोगों को आयुर्वेद और प्राकृतिक चिकित्सा, एक्यूप्रेशरध्मर्मध्सुजोक, ज्योतिष व टैरो कार्ड, चक्र हीलिंग, न्यूरो थैरेपी के बारे में अधिक जानने का मौका मिलेगा। इस फेस्टिवल में उत्तराखण्ड हाट भी होगा जहां से लोग योग संबंधी सभी जरूरतों के लिए सामानों की खरीदारी कर सकते हैं और उत्तराखण्ड के पारंपरिक व्यंजनों का स्वाद चखने के साथ ही राज्य की संस्कृति का भी अनुभव कर सकते हैं। गढ़वाल मंडल विकास निगम के प्रबंध निदेशक और अन्तरराष्ट्रीय योग फेस्टिवल के प्रमुख आशीष चैहान ने कहा, ’’गंगा रिजार्ट ऋषिकेश में आयोजित होने वाले अन्तरराष्ट्रीय योग फेस्टिवल में देश-दुनिया की तमाम प्रतिष्ठित हस्तियां शामिल हो रही हैं। गुरूओं में गौर गोपाल दास, स्वामी अवधेशानंद गिरि, आर्चाय बालकृष्ण, सिस्टर बीके शिवानी व कलाकारों में हसंराज रघुवंशी, मोहित चैहान, रजनीश मिश्रा, रितेश मिश्रा, सुष्मित सेन, इंद्रा नाइक प्रमुख हैं। उन्होंने कहा कि इस योग फेस्टिवल में आप भी शामिल हो सकते हैं। इसके लिए रजिस्ट्रेशन कराना होगा। रजिस्टेªशन आॅनलाइन व आॅफलाइन दोनों तरह से किए जा रहे हैं। इस योग फेस्टिवल से संबंधित ज्यादा जानकारी या रजिस्टेªशन करने के लिए आप वेबसाइट पर विजिट कर सकते हैं।

एयरटेल ने ऐडवटाइजिंग टेक्नोलॉजी के उद्योग में रखा कदम

देहरादूना। भारत की प्रमुख संचार समाधान प्रदाता,भारती एयरटेल (“एयरटेल”), ने एयरटेल ऐड्ज के लॉन्च के साथ विज्ञापन व्यावसाय में प्रवेश किया है। एयरटेल ऐड्ज की शक्तिशाली ब्रांड एंगेजमेंट सॉल्यूशन है। एयरटेल ऐड्ज हर आकार के ब्रांड को सहमति आधारित और निजता के लिहाज से सुरक्षित अभियान बनाने और चलाने की अनुमति देता है जो भारत के अच्छे ग्राहकों के सबसे बड़े समूह के लिए है। एयरटेल के पास देश भर में अपने विभिन्न व्यावसायों -मोबाइल, डीटीएच और होम्स में 320 मिलियन से ज्यादा ग्राहक हैं। एयरटेल के मोबाइल ग्राहकों की औसत मासिक डाटा खपत सबसे ज्यादा है और यह 16.8 जीबी है तथा सर्वोच्च मासिक एआरपीयू 166 रुपए का है। एयरटेल का तेजी से बढ़ता डीटीएच और होम्स नेटवर्क्स देश भर में प्रीमियम घरों की सेवा देता है। एयरटेल की डीप डाटा साइंस क्षमताओं का उपयोग करते हुए, एयरटेल ऐड्ज ब्रांड्स को ज्यादा भागीदारी पूर्ण एवं उच्च प्रभाव वाले अभियानों को बनाने की अनुमति देता है और यह ग्राहकों के सबसे प्रासंगिक समूह के लिए होता है। इसका मतलब यह भी है कि एयरटेल के ग्राहक सिर्फ सबसे प्रासंगिक ब्रांड पेशकश प्राप्त करते हैं और इनमें अवांछित स्पैम नहीं है।

विधायक निधि से निर्मित सामुदायिक भवन किया लोकार्पण

देहरादूना। वार्ड 05 धोरणखास के ब्रहमावाला खाला पहुंचे मसूरी विधायक गणेश जोशी ने संत शिरोमणी रविदास मंदिर में विधायक निधि की रुपये 08.50 लाख की धनराशि से निर्मित सामुदायिक भवन लोकार्पित किया। अपने सम्बोधन में विधायक जोशी ने कहा कि ब्रहमावालाखाला का विकास केवल भारतीय जनता पार्टी की सरकार ने किया है। उन्होंने कहा कि चुनाव आने वाले हैं और पांच वर्ष में एक बार दिखने वाले ये-ये लोग जनता के बीच पहुंचने लग गये हैं। उन्होंने स्थानीय लोगों को विश्वास दिलाया कि वर्ष 2022 में प्रदेश में पुनः भाजपा की सरकार आ रही है और भाजपा सबका साथ, सबका विकास और सबका विश्वास के साथ कार्य करती है। क्षेत्रवासियों की मांग पर विधायक जोशी ने कहा कि जल्द ही ब्रहमावालाखाला में झूलती हुई विद्युत तारों को बंच केबल के माध्यम से एकत्रित किया जाऐगा ताकि विद्युत हानि से बचा जा सके। उन्होंने अपर ब्रहमावालाखाला में सामुदायिक भवन निर्माण की घोषणा भी की। विधायक जोशी ने कहा कि 75 लाख की लागत से जल्द ही ब्रहमावालाखाला में सड़क निर्माण का कार्य प्रारम्भ किया जाऐगा। उन्होंने इस बाबत अधिकारियों को निर्देशित किया कि मार्च माह में कार्य प्रारम्भ कर दिया जाए ताकि क्षेत्रवासियों को इसका लाभ मिल सके। विधायक जोशी ने कहा कि विकास एक निरन्तर प्रक्रिया है किन्तु हमारा आपसी प्रेम बना रहना चाहिए। इस अवसर पर मण्डल महामंत्री सुरेन्द्र राणा, पार्षद चुन्नीलाल, भूपेन्द्र कठैत, अरविन्द डोभाल, आशीष थापा, युवा मोर्चा अध्यक्ष अंकित जोशी, महामंत्री अम्मु थापा, निरंजन डोभाल, समिति के अध्यक्ष रघुवीर सिंह, विजय कुमार, वंदना, कांता प्रसाद बर्थवाल, मधु, निशा काम्बोज, आशा थपलियाल, अमित, भूपेन्द्र सौलंकी, मंसूर खान, विजय कुमार, सुनील कुमार, सुरेन्द्र कुमार आदि उपस्थित रहे।

बीएमडब्ल्यू आर नाइन टी और बीएमडब्ल्यू आर नाइन टी स्क्रैम्बलर हुई लांच

देहरादून। बीएमडब्ल्यू मोटोराड इंडिया ने भारत में नयी बीएमडब्ल्यू आर नाइन टी और बीएमडब्ल्यू आर नाइन टी स्क्रैम्बलर लॉन्च किया है। कम्प्लीटली बिल्ट.इन यूनिट के रूप में उपलब्ध इन मोटरसाइकिलों को आज से बीएमडब्ल्यू मोटोराड इंडिया डीलरशिप्स में बुक किया जा सकता है। विक्रम पावाहए प्रेसिडेंट बीएमडब्ल्यू ग्रुप इंडिया ने कहा किए बीएमडब्ल्यू आर नाइन टी और बीएमडब्ल्यू आर नाइन टी स्क्रैम्बलर मोटरसाइकल चलाने की संस्कृति की एसी अभिव्यक्ति है जिसमें विशुद्ध राइडिंग और स्पोर्टीनेस की धमक है। साथ ही यह अपनी रूपरेखा और आकर्षण में सबसे बिल्कुल अलग है। अपने अतीत की सुन्दर अनुभूतियों से प्रेरित यह वर्तमान का अल्टिमेट राइडिंग प्लेजर प्रदान करती है। हमें भारत में बीएमडब्ल्यू मोटोराड के अनुभव विरासत में एक और रोमांचकारी नया पहलू जोड़कर प्रसन्नता हो रही हैए जो आज तक इसके दीवानों के मन में अतीत की यादें ताजा करती हैं। नयी बीएमडब्ल्यू आर नाइन टी एक क्लासिक रोडस्टर है जिसमें उच्च कोटि की सामग्रियों और सबसे सूक्ष्म बारीकियों में कारीगरी के साथ मोटरसाइकल डिजाइन के 90 वर्षों से अधिक के ं अनुभव और नवाचार शामिल हैं। इसका प्रतिष्ठित बॉक्सर इंजन अब मूल अनुपातों के साथ बेहतर तालमेल बनाता है और डाम्बर वाली सड़कों पर अपने बेहतर टॉर्क कर्व के साथ दमदार ड्राइविंग का आनंद प्रदान करता है। बीएमडब्ल्यू आर नाइन टी स्क्रैम्बलर बेहद खास अंदाज में स्क्रैम्बलर युग को पुनर्जीवित करती है। इसमें वह हर चीज है जो इस प्रकार की मोटरसाइकल को परिभाषित करती है। यह अत्यंत विशिष्ट उत्साह से भरपूर है और इसे उन मोटरसाइकल प्रेमियों के लिए बनाया गया है जो बीएमडब्ल्यू की टेक्नोलॉजी एवं गुणवत्ता से युक्त शुद्धतावादीए अनावश्यक चीजों से मुक्त और स्वाधीन हैं।

सीनियर सिटीजन वेलफेयर सोसाइटी की बैठक आयोजित

देहरादूना। सीनियर सिटीजन वेलफेयर सोसाइटी की आवश्यक बैठक पतंजलि योग धाम आर्य नगर ज्वालापुर के सभागार में आयोजित की गई। बैठक में संस्था के दिवंगत 2 सदस्यों स्वर्गीय नरेश गुप्ता एवं डॉक्टर त्रिवेणी दत्त द्विवेदी की आत्मिक शांति के लिए 2 मिनट का मौन रखा गया। कार्यक्रम की अध्यक्षता शिवकुमार गुप्ता कुमार ज्वेलर्स एवं संस्थापक अध्यक्ष ने की। उन्होंने कहा कि अकेलापन सीनियर सिटीजन की उदासीनता का मुख्य कारण है। अकेलेपन को दूर करने व बुजुर्गों को सामाजिक कार्यों में लगाने के उद्देश्य से सोसाइटी बनाई गई है। बैठक में सर्वसम्मति से प्रमुख समाज सेवी एवं स्टेट बैंक से सेवानिवृत्त मैनेजर विमल कुमार गर्ग निवासी अभिषेक नगर कनखल को संस्था के सचिव पद पर नामित नियुक्त किया गया। मंच पर एस के गर्ग, इ.मधुसूदन आर्य, संतोष चैहान एवं प्रोफेसर पी एस चैहान, राजीव राय, आर डी अग्रवाल, महेंद्र अग्रवाल, पवन कुमार, डॉ पवन सिंह तथा अन्य महिला सदस्यों ने कार्यक्रम की शोभा बढ़ाई और संस्था के विस्तार हेतु अपने बहुमूल्य सुझाव प्रस्तुत किए। अरविंद मंगल, संतोष चैहान, पीएस चैहान, ललिता मिश्रा, मधुसूदन आर्य तथा अन्य वक्ताओं ने अपने विचार रखे। कार्यक्रम का संचालन श्रीराम गुप्ता जिलाध्यक्ष ने किया।

कमलेश शर्मा को प्रदेश महिला कांग्रेस की प्रदेश सचिव नियुक्त

देहरादून। उत्तराखण्ड प्रदेश महिला कांग्रेस अध्यक्ष सरिता आर्या ने पार्टी की वरिष्ठ नेता कमलेश शर्मा को प्रदेश महिला कांग्रेस का प्रदेश सचिव नियुक्त किया है। प्रदेश कांग्रेस महामंत्री संगठन विजय सारस्वत ने बताया कि कांग्रेस पृष्ठभूमि परिवार से आने वाली आवास-विकास काॅलोनी ऋषिकेश निवासी कमलेश शर्मा से आती हैं तथा पार्टी की वरिष्ठ नेता हैं जो कि लम्बे समय से पार्टी की सेवा करती आ रही हैं। पार्टी संगठन ने कमलेश शर्मा से अपेक्षा की है कि वे कांग्रेस पार्टी के गौरवशाली परम्परा एवं इतिहास के अनुरूप पार्टी संगठन को मजबूती प्रदान करने में सहयोग करेंगी।

बद्रीपुर में सीएम ने किया विभिन्न योजनाओं का लोकार्पण व शिलान्यास

देहरादूना। मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने बद्रीपुर देहरादून में आयोजित कार्यक्रम में विभिन्न योजनाओं का शिलान्यास व लोकार्पण किया। मुख्यमंत्री ने 508.75 लाख की लागत की योजनाओं का शिलान्यास व 416.06 लाख की लागत की योजनाओं का लोकार्पण किया। मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र ने डोईवाला विधानसभा क्षेत्र में जिन योजनाओं का शिलान्यास किया गया उनमें मुख्यमंत्री की घोषणा के अन्तर्गत 151.13 लाख की लागत की बद्रीपुर पेयजल योजना का सुदृढ़ीकरण कार्य (भाग 3), बद्रीपुर समीप तुलिप फार्म में 160.27 लाख की लागत का 1000 कि0ली0 क्षमता के ऊर्ध्व जलाशय का निर्माण कार्य, वैभव विहार नवादा में 99.75 लाख की लागत से 600 कि0ली0 क्षमता के ऊर्ध्व जलाशय का निर्माण कार्य, 97.60 लाख की लागत से हरिपुर नवादा ग्राम सभाओं में क्षतिग्रस्त पाईप लाइनों को बदलने का कार्य का शिलान्यास शामिल है। इसके साथ ही, लोकार्पण की गई योजनाओं में विधानसभा क्षेत्र डोईवाला के अन्तर्गत हरिपुर नवादा वैभव विहार में नाले पर 9.21 लाख की लागत से पुलिया व सी0सी0 मार्ग निर्माण, बद्रीपुर तिलवाड़ी में 12 लाख की लागत से अम्बेड़कर भवन का निर्माण, 105.22 लाख की लागत से हरिपुर नवादा पेयजल योजना का सुदृढ़ीकरण कार्य, 96.34 लाख की लागत से हरिपुर नवादा ग्राम सभाओं में क्षतिग्रस्त पाईप लाईनों को बदलने का कार्य (भाग 1), 97.17 लाख की लागत से बद्रीपुर पेयजल योजना का सुदृढ़ीकरण कार्य (भाग 2), 96.12 लाख की लागत से बद्रीपुर पेयजल योजना (भाग 3) का सुदृढ़ीकरण कार्य का लोकार्पण शामिल है। इस अवसर पर मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र ने कहा कि जिन कार्यों का आज शिलान्यास हुआ है, उन्हें गुणवत्ता एवं समयबद्धता के साथ पूर्ण किया जाए। जनता को पर्याप्त मात्रा में पेयजल की आपूर्ति हो, यह हमारा प्रयास है। 18 मार्च को राज्य सरकार के 04 वर्ष पूर्ण होने जा रहे हैं, हमने इन चार वर्षो में कई क्षेत्रों में उल्लेखनीय कार्य किये हैं। सड़को के क्षेत्र में राज्य में काफी कार्य हुआ है। चिकित्सा के क्षेत्र में हमारे संस्थानों को कई जगह सम्मानित किया जा चुका है। हमने जनभावनाओं के अनुरूप भराड़ीसैण (गैरसैण) को प्रदेश की ग्रीष्मकालीन राजधानी घोषित की है। भराड़ीसैण को आदर्श पर्वतीय राजधानी का रूप दिया जाएगा। जीरो टॉलरेंस की नीति ने भ्रष्टाचार पर कड़ा प्रहार किया है। ई-कैबिनेट, ई-ऑफिस, सीएम डैश बोर्ड उत्कर्ष, सीएम हेल्पलाईन 1905, सेवा का अधिकार और ट्रांसफर एक्ट की पारदर्शी व्यवस्था के चलते कार्यसंस्कृति में गुणात्मक सुधार हुआ है। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार मुख्यमंत्री घस्यारी कल्याण योजना लाई है जिसका मुख्य उद्देश्य महिलाओं के सिर से घास का बोझ खत्म करना है। अभी हमने बहुत बड़ा निर्णय लिया है प्रदेश में महिलायें अब पैतृक सम्पति में सह खातेदार होंगी जिससे उनको ऋण प्राप्ति में सुविधा होगी, इससे हमारी महिला शक्ति मजबुत होगी। उन्होंने कहा कि उत्तराखण्ड में सभी के सहयोग से कोविड-19 से लड़ाई लड़ी जा रही है। परिस्थितियों के अनुसार निर्णय ले रहे हैं। वैक्सीनेशन का कार्य जारी है परन्तु अभी भी कोरोना गया नही है इसलिए ढ़ीलाई नही बरतनी है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में पूरे देश में कोरोना से लड़ने मे जो एकरूपता दिखाई है उसी का परिणाम है कि आज भारत वैक्सीन बनाने में न केवल कामयाब हुआ है बल्कि कई अन्य देशो को आपूर्ति भी कर रहा है। प्रधानमंत्री श्री मोदी के वोकल फार लोकल व आत्मनिर्भर भारत के नारे ने देश में नई क्रान्ति पैदा की है। मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र ने कहा कि डोईवाला विधानसभा क्षेत्र में सीपैट की स्थापना गयी की है, जिसमें 100 प्रतिशत रोजगार की गारन्टी है। उन्होंने कहा कि हर्रावाला में 300 बैड के अस्पताल का कार्य चल रहा है। शीघ्र ही, सहसपुर में साईन्स सिटी की स्थापना होने जा रही है, यह देश की पांचवी साईन्स सिटी होगी, जिसका एमओयू साईन हो गया है। यह तीन वर्ष मे पूर्ण हो जायेगी। उच्च शिक्षा के क्षेत्र में आगे बढ़ते हुए हम बालावाला मण्डल में जल्द ही लगभग 400 करोड़ की लागत से एक साईन्स कॉलेज की स्थापना करने जा रहे हैं। इस अवसर पर मेयर सुनील उनियाला गामा एवं मुख्यमंत्री के विशेष कार्य अधिकारी धीरेन्द्र पंवार सहित अन्य गणमान्य उपस्थित थे।

सीएम ने 17 कार्यकर्ताओं को बनाया दायित्वधारी, राज्यमंत्री स्तर का दिया गया दर्जा

देहरादूना। मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने विभिन्न आयोगों, निगम, परिषद, समितियों में 17 महानुभावों को अध्यक्ष, उपाध्यक्ष और सलाहकार का दायित्व सौंपा है। सभी दायित्वधारियों को राज्यमंत्री स्तर का दर्जा दिया गया है। जिन महानुभावों को दायित्वधारी बनाया गया है उनमें- 1-रामसूरत नौटियाल, चिन्यालीसौढ़-उपाध्यक्ष राज्य स्तर मत्स्य पालक विकास अभिकरण 2-कैलाश पंत, रानीखेत-अध्यक्ष-उत्तराखंड राज्य आपदा प्रबंधन सलाहकार समिति 3-प्रताप सिंह रावत, चकराता-उपाध्यक्ष-वन विकास निगम 4-कमल जिंदल, सितारगंज-उपाध्यक्ष-उत्तराखंड वन व पर्यावरण सलाहकार समिति 5-संजय सिंह ठाकुर, रुड़की-उपाध्यक्ष-राज्य वन जीव सलाहकार बोर्ड 6-मोहन सिंह मेहरा, जागेश्वर-अध्यक्ष दृराष्ट्रीय ग्रामीण स्वास्थ्य सलाहकार एवं अनुश्रवण परिषद 7-डा. आशुतोष किमोठी, रुद्रप्रयाग-उपाध्यक्ष-जड़ी बूटी शोध व विकास संस्थान गोपेश्वर चमोली के अंतर्गत जड़ी बूटी सलाहकार 8-हरीश दफोटी-देवीपुरा मालधन चैड़ रामनगर-अध्यक्ष-हरीराम टम्टा परंपरागत शिल्प उन्नयन संस्थान 9-विमल कुमार हरिद्वार-सलाहकार-मा.मुख्यमंत्री लघु उद्योग 10-बेबी असवाल-पूर्व ब्लाक प्रमुख टिहरी-अध्यक्ष-राज्य महिला उद्यमिता परिषद 11- सुषमा रावत पौड़ी-अध्यक्ष-राज्य स्तरीय महिला सतर्कता समिति 12- अरुण कुमार सूद डोईवाला-अध्यक्ष-राज्य स्तरीय खेल परिषद 13-मुकेश कुमार-महुआडाबरा जसपुर-अध्यक्ष- अनुसूचित जाति आयोग 14-पं.सुभाष जोशी देहरादून-अध्यक्ष-वरिष्ठ नागरिक कल्याण परिषद 15-दिनेश मेहरा, सल्ट अल्मोड़ा-उपाध्यक्ष-राजकीय औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान सलाहकार समिति 16-अनिल गोयल-देहरादून-उपाध्यक्ष-उत्तराखंड नागरिक उड्डयन विकास प्राधिकरण 17-राजेंद्र जुयाल, प्रतापनगर टिहरी-उपाध्यक्ष-उत्तराखंड कृषक मित्र परिषद बनाया गया है।

समान लिंगानुपात को सतत् जागरूकता की आवश्यकताः सीएम

देहरादूना। मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने शुक्रवार को लच्छीवाला वन विश्राम गृह परिसर में आदर्श औद्योगिक स्वायत्तता सहकारी समिति द्वारा आयोजित ‘‘भारतीय संस्कृति एवं उसका महत्व व बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ‘‘ कार्यक्रम में प्रतिभाग किया। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार महिला सशक्तिकरण के लिए सतत् प्रयास कर रही है। आज हर क्षेत्र में महिलायें आगे आई हैं, चाहे वो महिला स्वयं सहायता समूह हो या रूरल ग्रोथ सेन्टर हो या फिर महिला मंगल दल की भूमिका हो। प्रदेश में महिलाओं का वर्चस्व इसी बात से साबित होता है कि राज्य की 13 जिला पंचायतों में से 10 जिला पंचायतों में महिला अध्यक्ष है। बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ कार्यक्रम के तहत उधम सिंह नगर जनपद देश के टॉप टेन जनपदों में चुना गया। मुख्यमंत्री ने कहा कि हमें बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ अभियान को और आगे बढ़ाना होगा। आज बेटियां किसी भी क्षेत्र में पुरूषों से कम नहीं हैं। वे हर क्षेत्र में अच्छा कार्य कर रही हैं। समान लिंगानुपात हेतु सतत् जागरूकता की आवश्यकता है। और यह धीरे-धीरे ही सम्भव है। मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र ने कहा कि पर्वतीय क्षेत्रों में चारे की समस्या के लिये हम मुख्यमंत्री घस्यारी कल्याण योजना लाये हैं जिसका मुख्य उद्देश्य महिलाओं के सिर से घास का बोझ खत्म करना है। प्रदेश में महिलायें अब पैतृक सम्पति में सह खातेदार होंगी जिससे उनको नये कारोबार व अन्य कार्य हेतु ऋण प्राप्ति में सुविधा होगी। यह एक बहुत बड़ा रिफार्म है जिसकी शुरूआत उत्तराखण्ड से हुई है। कार्यक्रम में मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र, चमोली आपदा में मारे गये लोगों की आत्मा की शान्ति हेतु आयोजित यज्ञ में भी शामिल हुए। इसके साथ ही मुख्यमंत्री द्वारा कार्यक्रम में कोविड-19 से लड़ाई के क्षेत्र में व समाजहित कार्य में लगे लोगों को भी सम्मानित किया गया। इस अवसर पर हरि सेवाश्रम हरिद्वार के महामंडलेश्वर अनन्त विभूषित स्वामी हरिचेतनानन्द जी महाराज, समिति की अध्यक्षा आशा कोठारी, सचिव हरीश कोठारी, रोशन कोठियाल, राजेश भट्ट, विनय कण्डवाल सहित वन विभाग के अधिकारी भी उपस्थित थे।

Thursday, 25 February 2021

उत्तराखंड की पारंपरिक ऐपण कलाकृति को मिल रहा नया आयाम

देहरादूना। उत्तराखंड की पारंपरिक ऐपण कलाकृति को नया आयाम मिल रहा है। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने हालिया दिल्ली दौरे पर केंद्रीय मंत्रियों को ऐपण कलाकृति भेंट कर ऐपण को नया जीवन दिया है। सीएम ने अपने दफ्तर की नेमप्लेट भी ऐपण कला में लगवाई है। इस पहल के बाद ऐपण कला से जुड़ी बेटियों को नई आस जगी है। सीएम त्रिवेंद्र के मीडिया सलाहकार रमेश भट्ट के मुताबिक ऐपण को नई पहचान दिलाने के लिए मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र ने सराहनीय प्रयास किए हैं। रमेश भट्ट खुद भी अल्मोड़ा, पिथौरागढ़ और नैनीताल जिलों में ऐपण पर काम कर रही बेटियों से रूबरू हो चुके हैं। ऐपण पर बने उनके वीडियो को फेसबुक पर लाखों लोग देख चुके हैं। रमेश भट्ट बताते हैं कि मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र ने ऐपण को प्रोत्साहन देने में खासी रुचि दिखाई है। सीएम ने अपने दफ्तर की नेमप्लेट भी ऐपण में बनवाई है और सभी मंत्रियों व अफसरों को ऐसा करने के लिए प्रेरित किया है। सीएम अल्मोड़ा में ऐपण प्रदर्शनी के दौरान कई बेटियों से मुलाकात कर चुके हैं जो ऐपण को अपनी आजीविका से जोड़ रही हैं। अब पिछले दिनों दिल्ली दौरे पर सीएम त्रिवेंद्र ने केंद्रीय मंत्रियों को एक के बाद एक ऐपण गिफ्ट देकर मजबूत सांस्कृतिक संदेश दिया है। रमेश भट्ट ने उम्मीद जताई है कि ऐपण को विश्वव्यापी पहचान दिलाने में ये प्रयास कारगर साबित होंगे।

तुलाज इंस्टीट्यूट ने किया नॉर्थ ईस्ट फ्रेशर्स मीट का आयोजन

देहरादून। तुलाज इंस्टिट्यूट ने आज नॉर्थ ईस्ट के छात्रों के लिए वार्षिक फ्रेशर्स मीट की मेजबानी करी। कार्यक्रम में अरुणाचल प्रदेश, आसाम, मणिपुर, मेघालया, मिजोरम, नागालैंड, सिक्किम, शिलांग और त्रिपुरा के छात्रों ने भाग लिया। कार्यक्रम के दौरान, अरुणाचल प्रदेश के कंगकुनम दाई को मिस्टर फ्रेशर के खिताब से नवाजा गया, जबकि नागालैंड की हिवि आई चिशी को मिस फ्रेशर के खिताब से सम्मानित किया गया। इस अवसर पर मुख्य अतिथि के रूप में कार्यकारी निदेशक तुलाज इंस्टिट्यूट सिल्की जैन मारवाह और गेस्ट ऑफ हॉनर के रूप मे निदेशक तुलाज ग्रुप रौनक जैन उपस्थित रहे। कार्यक्रम के दौरान, छात्रों ने पारंपरिक पोशाक पहनकर रैंप वॉक करी। छात्रों ने इस अवसर के दौरान कई सांस्कृतिक प्रस्तुतियाँ भी दीं। दिन के दौरान कई प्रतियोगिताएं भी आयोजित की गईं। कार्यक्रम में बी.टेक, बीबीए, बीसीए, एमबीए, एमसीए, बीएससी एग्रीकल्चर और पॉलिटेक्निक सहित विभिन्न पाठ्यक्रमों के कुल 120 से अधिक छात्रों ने भाग लिया। इस अवसर पर पीआर अधिकारी नॉर्थ ईस्ट दीपक बहुगुणा भी उपस्थित रहे।

फाइनेंशियल प्लानिंग के बारे में बताता है एचडीएफसी लाइफ का लेटेस्ट ब्रांड कैम्पेन

देहरादून। भारत के प्रमुख जीवन बीमाकर्ताओं (लाइफ इंश्योरर्स) में से एक, एचडीएफसी लाइफ ने हाल ही में अपना लेटेस्ट ब्रांड कैम्पेन, बाउंस बैक लॉन्च किया है। किसी व्यक्ति के भविष्य को सुरक्षित करने के लिए फाइनेंस महत्वपूर्ण योगदान देकर चीजों को आसान बनाता है और सफलता की ओर अग्रसर होता है। पिछला वर्ष महामारी और दुनियाभर में जीवन को प्रभावित करने वाला वर्ष था। हमें विभिन्न स्तरों पर कई चुनौतियों का सामना करना पड़ा। हालांकि, मानवीय विचारधारा भी मजबूती से सामने आई। भारी परिस्थितियों के बावजूद लोगों ने बदलती परिस्थितियों के अनुकूल दृढ़ संकल्प के माध्यम से इन चुनौतियों पर काबू पा लिया। नए व्यवसाय शुरू होने के साथ ही देश में आर्थिक तनाव के बावजूद रोजगार के अवसर पैदा हो रहे हैं। वित्तीय तैयारियों ने इसमें एक बड़ी भूमिका निभाई है और यह उन व्यक्तियों के लिए उत्साह का विषय है, जिन्होंने प्रबल अनिश्चितताओं के बावजूद अपनी योजनाओं को आगे बढ़ाया हैं। लॉन्च पर बात करते हुए, एचडीएफसी लाइफ के सीनियर ईवीपी (सेल्स) और सीएमओ, पंकज गुप्ता कहते हैं, ष्महामारी ने हम सभी को कठोरता से परखा है, जिससे देश-दुनिया में अनिश्चितता का माहौल बना गया है। इसके चलते व्यक्तिगत आत्मविश्वास में कमी आई है और वित्तीय असुरक्षा की भावना में बढ़ोतरी हुई है। वित्तीय असफलताओं से स्वयं का बचाव करने के लिए जीवन बीमा का महत्व मानव इतिहास की इस अवधि के दौरान प्रबल रहा है। सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि समय ने हमें सिखाया है कि परिवार का महत्व और हमारे परिवार के भविष्य को सुरक्षित करने की कितनी आवश्यकता है। हमारा लेटेस्ट ब्रांड कैम्पेन मानवीय भावनाओं को उजागर करता है और वित्तीय तैयारी चुनौतियों को दूर करने में मदद करती है। यह कभी-भी हार न मानने वाली भावना है, जिसे एचडीएफसी लाइफ द्वारा लेटेस्ट ब्रांड कैम्पेन में सम्मिलित किया गया है।

कांग्रेस प्रदेश प्रभारी देवेंद्र यादव उत्तराखंड के दो दिवसीय दौरे पर

देहरादूना। उत्तराखण्ड प्रदेश कांग्रेस प्रभारी देवेन्द्र यादव 2 दिवसीय प्रदेश भ्रमण के दौरान 26 फरवरी को प्रातः 8 बजे जौलीग्रान्ट एयरपोर्ट पहुंचेंगे जहां पर कांग्रेस कार्यकर्ताओं द्वारा प्रदेश प्रभारी का स्वागत किया जायेगा। तत्पश्चात 9ः30 बजे बीजापुर गेस्ट हाउस पहुंचकर 10ः00 बजे से 12ः00 बजे तक पार्टी कार्यकर्ताओं से मुलाकात करेंगे। प्रदेश महामंत्री संगठन विजय सारस्वत ने बताया कि देवन्द्र यादव 26 फरवरी को अपराह्र 12ः00 बजे प्रदेश एन.एस.यू.आई. द्वारा आयोजित ‘नौकरी दो वर्ना डिग्री वापस लो मुख्यमंत्री आवास घेराव’’ कार्यक्रम में प्रतिभाग करेंगें तथा सायं 16ः00 बजे युवा कांग्रेस द्वारा आयोजित सम्मान समारोह कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में प्रतिभाग करेंगे। इस कार्यक्रम के तहत युवा कांग्रेस के पूर्व अध्यक्षों एवं प्रदेश निर्माण से पूर्व संयुक्त उत्तर प्रदेश के युवा कांग्रेस पदाधिकारियों को सम्मानित किया जायेगा। विजय सारस्वत ने यह भी बताया कि युवा कांग्रेस द्वारा सायं 16ः00 बजे से आयोजित सम्मान समारोह ‘‘ युवा संगम’ कार्यक्रम रावत फार्म बद्रीपुर जोगीवाला में आयेाजित किया गया है। कार्यक्रमों में प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष श्री प्रीतम सिंह, नेता प्रतिपक्ष डाॅ0 इन्दिरा हृदयेश सहित पार्टी के सभी वरिष्ठ नेतागण, प्रदेश पदाधिकारीगण एवं बडी संख्या में युवा कांग्रेस एवं एनएसयूआई के कार्यकर्ता प्रतिभाग करेंगे। विजय सारस्वत ने यह भी बताया कि प्रदेश प्रभारी देवेन्द्र यादव 27 फरवरी को प्रातः 09ः00 बजे देहरादून से हरिद्वार के लिए प्रस्थान करेंगे तथा 11ः00 बजे हरकी पौडी पर कुंभ के उपलक्ष्य में कंाग्रेसजनों के साथ गंगा स्नान एवं पूजा दर्शन करेंगे।

ऑनलाइन मोड़ की शिक्षा को गुणवत्तापूर्ण बनाने के लिये शिक्षा के मूल और मूल्यों को समझना आवश्यकः स्वामी चिदानन्द

ऋषिकेशा। आज का दिन डिजिटल लर्निंग के लिये समर्पित किया गया है। डिजिटल क्रांति के कारण लोग सूचनाओं से सशक्त हो रहे हैं साथ ही इससेे अनुसंधान, प्रौद्योगिकी, शिक्षा और सीखने की पद्धति में अद्वितीय विकास हुआ है। कोविड-19 ने डिजिटल लर्निंग की उपयोगिता को और बढ़ा दिया है। विगत 1 वर्ष से लगभग पूरा विश्व डिजिटल प्लेटफार्म के माध्यम से ही अपने सारे कार्यक्रम, शिक्षण और सम्मेलनों को आयोजित कर रहा है। डिजिटल लर्निंग डे के अवसर पर परमार्थ निकेतन के अध्यक्ष स्वामी चिदानन्द सरस्वती जी ने कहा कि वर्ष 2020 में स्कूल बंद होने के कारण डिजिटल शिक्षण की उपयोगिता बढ़ी और इसकी गुणवत्ता में भी कई सुधार हुये। अब डिजिटल शिक्षण केवल स्कूलों तक सीमित नहीं रहा है बल्कि इसमें पुस्तकालय और उच्च-गुणवत्ता वाली अनेक प्रशिक्षण सामग्री भी शामिल है। कोविड-19 वैश्विक महामारी के कारण निर्मित वर्तमान परिस्थितियांे से पूरी दुनिया बदल गई है। स्कूलय छात्र और शिक्षक सभी का नजरिया बदला और पढ़ने-पढ़ाने के तरीका भी बदला है अब पढ़ाई ऑनलाइन मोड पर आ गयी है। पठन-पाठन की प्रक्रिया ऑनलाइन मोड में आने से ब्लेकबोर्ड और क्लासरूम का स्थान मोबाइल या कंप्यूटर स्क्रीन ने ले लिया ऐसे में बच्चों और युवाओं को शिक्षण और संस्कृति से जोड़ने की जिम्मेदारी और बढ़ गयी है। स्वामी जी ने कहा कि इंटरनेट की विशाल और विस्तृत दुनिया है इसके माध्यम से बच्चों के पास सीखने के अनंत अवसर है वह अपने ज्ञान और कौशल को बढ़ा सकते हैं परन्तु यह ध्यान रखना बहुत जरूरी है कि वे इंटरनेट के विशाल ज्ञान के सागर से क्या ग्रहण कर रहें हैं। पारंपरिक शिक्षा की तुलना में डिजिटल शिक्षा प्रभावी है परन्तु इस ओर भटकाव भी बहुत हैं अतः ऑनलाइन मोड की शिक्षा गुणवत्तापूर्ण बनाने के साथ शिक्षा के मूल और मूल्यों को समझना और बच्चों को समझाना नितांत आवश्यक है। ऑनलाइन शिक्षा प्रणाली में एनीमेशन और ऑडियो-विजुअल के कारण प्रभावी एवं तेजी से ग्रहण करने क्षमता में विकास हुआ है। डिजिटल लर्निंग डे की शुरूआत छात्रों के सीखने की क्षमता और बेहतर परिणामों को प्राप्त करने के लिये की गयी थी लेकिन अब डिजिटल लर्निंग ने एक बिल्कुल नया स्वरूप प्राप्त कर लिया है क्योंकि स्कूल बंद रहें और बच्चे डिजिटल माध्यम से शिक्षण लेने को मजबूर है। आईये हम सभी मिलकर डिजिटल लर्निंग के साथ परम्परागत शिक्षा के महत्व को समझें और जीवन में आगे बढ़े।

मसूरी क्षेत्र में लगाये जाएंगे 200 विद्युत पोल, एक सप्ताह में होगा कार्य प्रारम्भ

देहरादून। मसूरी विधायक गणेश जोशी ने विद्युत विभाग के अधिकारियों की बैठक ली। बैठक में विधायक जोशी ने अधिकारियों को निर्देशित किया कि मसूरी विधानसभा क्षेत्र के ग्रामीण एवं शहरी क्षेत्रों में प्राथमिकता के आधार पर 200 बिजली के खम्बे स्थापित किये जाए। वीरवार को देहरादून के न्यू कैंट रोड़ स्थित कार्यालय में विधायक जोशी ने अधिकारियों को फटकार लगाते हुए कहा कि तय समय के बाद भी काम न होना विभागीय अधिकारियों की कार्यक्षमता पर प्रश्न चिन्ह लगाता है। उन्होनें कहा कि जेई एवं एसडीओ स्तर के अधिकारी पार्षदगणों से सम्पर्क स्थापित नहीं करते हैं जिससे क्षेत्र में कई समस्याऐं जस की तस हैं। उन्होंने कहा कि वार्डो में खम्बों की स्थापना के लिए तत्काल सर्वेक्षण करायें और सर्वेक्षण के एक सप्ताह के भीतर कार्य करवाना सुनिश्चित करें। इस अवसर पर विद्युत विभाग के अधीक्षण अभियंता शेलेन्द्र सिंह, ईई प्रशांत बहुगुणा, मण्डल महामंत्री सुरेन्द्र राणा, पार्षद भूपेन्द्र कठैत, संजय नौटियाल, चुन्नीलाल, सत्येन्द्र नाथ, कमल थापा, योगेश घाघट एवं मंजीत रावत उपस्थित रहे। गंगा मैया की इस पावन भूमि को जर्जर अवस्था में यूं ही 20 वर्षों से छोड़ रखा है। सरकार किसी भी पार्टी की हो लेकिन अब तक किसी से हरिद्वार का विकास नहीं हुआ है। यही सही वक्त है नेतृत्व बदलाव का हम आप सभी से निवेदन है कि उत्तराखंड प्रगतिशील पार्टी के साथ जुड़कर आप अपने विकास की रेखा को अपने हाथों से खींचिए। विकास का रोड मैप खुद तैयार कीजिए और और खुद ही इस राज्य का नेतृत्व कीजिए। उत्तराखंड प्रगतिशील पार्टी राज्य की एकमात्र ऐसी पार्टी है जो अपने सभी सदस्यों को समान भाव से देखता है और सभी को आगे बढ़ने का मौका देता है। हमारे राज्य के हर जिले से पलायन हुआ है इसमें हरिद्वार भी शामिल है हमारे हरिद्वार में रोजगार होते हुए भी सरकार की लाचारी और अव्यवस्था के कारण बहुत से ऐसे लोग हैं जो रोजगार के लिए अन्य प्रदेशों में जा रहे हैं।

Tuesday, 23 February 2021

नगर पालिका क्षेत्र में निर्माण श्रमिक का पंजीकरण सुनिश्चित किया जाएगाः अध्यक्ष

हरिद्वार। नगर पालिका परिषद शिवालिक नगर के वार्ड संख्या 13 में अध्यक्ष नगर पालिका राजीव शर्मा द्वारा उप जिलाधिकारी की उपस्थिति में नवोदय नगर के प्रस्तावित विकास कार्यों का निरीक्षण किया गया। मौके पर ही अध्यक्ष नगर पालिका राजीव शर्मा द्वारा अधिशासी अधिकारी नगर पालिका को निर्देश दिए गए कि एक सप्ताह के अंदर सभी प्रस्तावित कार्यों के आगणन तैयार कर कार्यालय में प्रस्तुत किए जाएं। इस अवसर पर राष्ट्र हित एवं जन हित के संकल्प के साथ गठित ट्रस्ट “3क् फाउंडेशन “के अध्यक्ष अवनीश कुमार मिश्रा द्वारा अध्यक्ष नगर पालिका राजीव शर्मा एवं उप जिलाधिकारी को अपनी फाउंडेशन के उद्देश्यों से अवगत कराया गया ,तथा आग्रह किया कि वह भी अपने स्तर से निर्माण श्रमिकों के पंजीकरण कराने के लिए यथासंभव कार्रवाई करें। अध्यक्ष नगरपालिका राजीव शर्मा एवं उप जिलाधिकारी द्वारा इस संबंध में आश्वासन दिया गया कि नगर पालिका क्षेत्र में प्रत्येक निर्माण श्रमिक का पंजीकरण अवश्य सुनिश्चित किया जाएगा। नवोदय नगर के निवासियों द्वारा नवोदय नगर चैराहे के पास अतिक्रमण की समस्या को संज्ञान में लाया गया इस समस्या के समाधान के लिए उप जिलाधिकारी द्वारा ई ओ नगरपालिका को यह निर्देश दिए गए कि अपने स्तर से इन अतिक्रमणकारियों को एक सप्ताह का नोटिस देकर अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई करे ।इस अवसर पर 3 फाउंडेशन के अध्यक्ष अवनीश कुमार मिश्रा ,कैलाश भंडारी, मदनेश कुमार मिश्रा, विनोद कुमार त्रिपाठी, मनोज कुमार शुक्ला, दीपक नौटियाल ,अशोक शर्मा , डा० पंकज सैनी,सुधीर मेहता धर्मेंद्र विश्नोई , पंकज शर्मा ,प्रदीप चंदेल सहित नवोदय नगर के गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे।

भव्य व दिव्य होगा कुम्भ, पेशवाई की तैयारियों में संत व्यस्तः स्वामी वीरेन्द्रानंद महाराज

-जूना अखाड़े की पेशवाई में स्थानीय संस्कृति की झलक बनेगा आकर्षण हरिद्वार। श्रीपंच दशनाम जूना अखाडे में कुंभ महापर्व 2021 के दृष्टिगत धर्म ध्जवा एवं पेशवाई निकालने की तैयारियाॅ जोरो से जारी है। जूना अखाड़े के साथ अग्नि अखाड़े की पेशवाई 4मार्च को निकाली जायेगी। इस सम्बन्ध में जूना अखाड़े के महामण्डलेश्वर एवं सत्कर्मा मिशन के संस्थापक स्वामी वीरेन्द्रानंद महाराज ने कहा है कि पेशवाई निकालने की तैयारियाॅ जारी है। पेशवाई के दौरान माॅस्क व दूरी का पालन अवश्य कराया जायेगा। उन्होने कहा कि पेशवाई के दौरान उत्तराखण्ड के सभी जनपदों के पारम्परिक वेश-भूषा के अलावा पर्वतीय कला संस्कृति से भी लोगों को रू-ब-रू कराने का प्रयास किया जायेगा। उन्होने कहा कि परम्परानुसार निकलने वाले पेशवाई के दौरान कोरोना जैसी महामारी के प्रति बचाव तथा पर्यावरण के प्रति जागरूकता को लेकर भी आमजन को जागरूक करने का प्रयास किया जायेगा। इस दौरान स्लोगन देकर लोगों को उससे जोड़ा जायेगा। धर्म अध्यात्म के साथ साथ जीवन में व्यवहारिक ज्ञान को बढ़ावा देने पर जोर देते हुए उन्होने कहा कि कोरोना काल में शासन-प्रशासन द्वारा लागू नियमों का पालन कराने में संत समाज लगा हुआ है। स्वामी वीरेन्द्रानंद का कहना है कि संत समाज मिलकर विश्व शांति और कोरोना के खात्मे के लिए विशेष यज्ञ हवन आदि कार्य कर रहा है। हिमालयन योगी के नाम से विख्यात स्वामी वीरेन्द्रानंद पर्यावरण के प्रति भी लोगों को जागरूक करने का कार्य कर रहे है। पिछले वर्ष 16जुलाई को उन्होने एक दिन में डेढ़ लाख पौधारोपण कर एक अलग इतिहास कायम किया है। मानवता के प्रति उनकी सोच हमेशा से उल्लेखनीय रही है। यही वजह है कि कोरोना काल के दौरान जब लाॅकडाउन लागू था तो इनके द्वारा सचंालित सत्कर्म मिशन ने दिन रात प्रवासियों की सेवा मे जुटी रही। सत्कर्मा मिशन की ओर से धारचूला,मनुस्यारी आदि के गा्रम सभाओं में कई दिनों तक अनवरत रसोई चलता रहा। इस दौरान सैनेटाइजर,माॅस्क,ग्लब्ज के अलावा 12000 परिवारों को काफी समय तक राशन किट उपलब्ध कराते रहे। मिशन के द्वारा आठ हजार से अधिक छात्र-छात्राओं व उनके अभिभावकों को विभिन्न गाॅवों तक छोड़ने की व्यवस्था की। इतना ही नही मिशन ने 17000 लोगों को उनके गंतव्य तक पहुचाया। 20 हजार लोगों को कोरोना प्रतिज्ञा प्रपत्र घर-घर वितरित कर आम जनमानस को कोरोना के प्रति जागरूक किया।

निरंजनी अखाड़े में संतों के ठहरने के लिए छावनी बनाने का काम शुरू

-छावनी में ही 18 मंडियां दो महीने तक ठहरेंगीः श्रीमहंत रविंद्रपुरी हरिद्वार। पंचायती अखाड़ा श्री निरंजनी के प्रांगण में 18 मढ़ीयों के ठहरने लिए छावनी बनाने का काम शुरू कर दिया गया है। निरंजनी अखाड़ा के कुंभ मेला प्रभारी श्रीमहंत रविंद्रपुरी महाराज ने संतों के साथ छावनी बनाने के लिए भूमि की पैमाइश करायी तथा जल्द से जल्द कार्य पूरा करने के निर्देश दिये हैं। पंचायती अखाड़ा श्री निरंजनी की सेफ पार्किंग में अखाड़े की 18 मढ़ीयां कुंभ मेले के दौरान प्रस्थान करेंगी, इसके लिये छावनी बनाई जा रही है। अखाड़े के मेला प्रभारी श्रीमहंत रविंद्रपुरी महाराज ने बताया कि एसएमजेएन पीजी कॉलेज में जमात के लिये छावनी बनाई जा रही है। एसएसजेएन कालेज से शुरू होकर पेशवाई निरंजनी अखाड़ा में पहुंचेगी। अखाड़े में बनाई जा रही छावनी में ही सभी मडियों में शामिल श्रीमहंत व अन्य संत कुंभ मेले के दौरान निवास करेंगे। उन्होंने बताया कि कुंभ मेले के दौरान मार्च और अप्रैल माह तक सभी 18 मंडियां एसएमजेएन कालेज में बनायी गयी अखाड़े की छावनी में टैंटों में ही रुकेंगी। उन्होंने कहा कि कुंभ मेले के दौरान श्रीमहंत एवं महंत पक्के मकानों में नहीं बल्कि तंबुओं में ही ठहरते हैं। उन्होंने बताया कि अखाड़े के लगभग 50 महामंडलेश्वर कुंभ मेले में हरिद्वार आएंगे। जिनके लिए दादू बाग कनखल, जगजीतपुर आईटीआई के पास, जगजीतपुर अखाड़े के पास कैंप बनाये जायेंगे। श्रीमहंत राम रतन गिरी महाराज ने कहा कि पंचायती अखाड़ा श्री निरंजनी में बन रही छावनी में 9 मढ़ी एक तरफ और शेष 9 मढ़ी दूसरी तरफ रहेंगी। इसी हिसाब से पैमाइश कर कार्य शुरू किया गया है। इस अवसर पर श्रीमहंत मनीष भारती, श्रीमहंत नरेश गिरी, श्री महंत राधे गिरी, गंगा गिरि, नीलकंठ गिरी, राजगिरी, आनंद गिरि, राजेंद्र भारती, राकेश गिरी, रतन गिरी, दिगंबर विनोद गिरी, महेश गिरी, अनुज पुरी, नीतीश पुरी, सौरव गिरी, आनंद अखाड़ा के सचिव श्रीमहंत शंकरानंद सरस्वती आदि उपस्थित रहे।

मेलाधिकारी दीपक रावत ने भी लगवाया कोविड का टीका

-पूरी तरह सुरक्षित है कोविड का टीका-मेलाधिकारी हरिद्वार। मेलाधिकारी दीपक रावत ने कहा कि महाकुंभ मेला पूरी तरह कोविड सुरक्षित कराने के लिए पूरे प्रबंध किए गए हैं। इसके लिए फ्रंटलाइन वर्कर चिकित्सक, स्वास्थ्य कर्मियों के अलावा मेला ड्यूटी में लगे प्रशासनिक, पुलिस अधिकारियों और कर्मचारियों के साथ ही मीडिया कर्मियों का भी निःशुल्क कोविड टीकाकरण कराया जा रहा है। मेला प्रशासन का पूरा प्रयास है कि ऐसे सभी लोगों को कुंभ के दौरान ही टीके की दूसरी डोज भी लग सके। मेलाधिकारी दीपक रावत ने ऋषिकुल आयुर्वेद परिसर में बने कोविड वैक्सीनेशन सेंटर पर खुद भी कोविड का टीका लगवाया। उन्होंने टीके के बारे में पूरी जानकारी ली और वैक्सीनेटर आरती रावत, प्रीति गोला, कल्पना, सुषमा ध्यानी, शिवानी, सैनी, अन्नी चैहान को बुके देकर सम्मानित भी किया। मेलाधिकारी ने कहा कि कोविड का टीका पूरी तरह सुरक्षित है। सभी लोग खुद का टीकाकरण कराकर स्वयं के साथ दूसरों को भी कोविड से सुरक्षित रखने में अपनी भूमिका निभाएं। मेलाधिकारी ने पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा कि कुंभ मेले में कोविड संक्रमण से बचाव के लिए करीब एक हजार जगहों पर फिक्स सैनेटाइजर मशीन लगवाई जा रही है। निःशुल्क मास्क का वितरण भी किया जाएगा। लोगों से भी अपील है कि वह कुंभ स्नान के लिए आने से पहले 72 घंटे के भीतर की कोविड निगेटिव आरटीपीसीआर रिपोर्ट लेकर आएं। जिससे सभी लोग कोविड से सुरक्षित रह.सकें। मेलाधिकारी ने बताया कि कुंभ के दौरान गंगा स्नान के लिए आने वाले श्रद्धालु पुराने कपड़े न तो गंगा में डालें और न घाटों पर छोड़े। इसके लिए 256 आस्था कलश जगह जगह लगवाए जा रहे हैं। श्रद्धालु पुराने कपड़े कलश में ही डालें। कलश के नीचे एक छेद भी बनाया गया जिससे गीले कपड़े से पानी बाहर निकल जाएगा। उन्होंने लोगों से अपील की कि हरिद्वार को साफ सुथरा रखने में सहयोग करें। जिससे स्वच्छ, स्वस्थ और दिव्य भव्य कुंभ के आयोजन को सफल बनाया जा सके। इस दौरान अपर मेलाधिकारी हरबीर सिंह सहित अन्य अधिकारी मौजूद रहे।

कुंभ मेला आईजी ने किया बीएसएफ कैंप का निरीक्षण

हरिद्वार। कुंभ मेला आईजी संजय गुंज्याल ने कुम्भ मेला ड्यूटी में तैनात की गयी सीमा सुरक्षा बल की सी व डी कम्पनी एवं बम निरोधक दस्ते के आवासीय स्थल और मेस का निरीक्षण कर समस्याओं की जानकारी ली। कुंभ मेले में सीमा सुरक्षा बल की तीन कंपनियां तैनात की गयी हैं। जिसमें से दो कंपनियां सी व डी तथा बम निरोधक दस्ता रिर्जव पुलिस में कैम्प किए हुए है। जबकि बीएसफ की कंपनी ने होटल एसटी में अपना कैम्प स्थापित किया है। कुंभ मेला आईजी के निरीक्षण के दौरान बीएसफ के डिप्टी कमांडेंट एनके श्रीवास्तव ने बताया कि आवास व भोजन संबंधी जो भी समस्या थी उनमें से अधिकतर सीओ लाइन के स्तर से निपटाई जा चुकी है। वर्तमान में कोई विशेष दिक्कत नही है, यदि भविष्य में कोई समस्या हुई तो अवगत कराया जाएगा। आईजी संजय गुंज्याल ने सीओ लाइन कमल सिंह पंवार को मौके पर ही निर्देशित किया गया कि कुम्भ के दौरान अर्धसैनिक बलों की आवासीय, भोजन और आवागमन की व्यवस्था यथासंभव अच्छे से अच्छे स्तर की जाए। इस दौरान दौरान बीएसएफ के एसी, नाजिम खान, अशोक यादव, बम निरोधक दस्ते के असिस्टेंट कमांडेट बिश्वजीत, जनपद के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सेंथिल अबुदई कृष्णराज एस, अपर पुलिस अधीक्षक कुम्भ मेला सुरजीत सिंह पंवार, अपर पुलिस अघीक्षक प्रदीप राय, पुलिस उपाधाक्षीक सीओ कमल सिंह पंवार, पुलिस उपाधीक्षक शांतनु पराशर, पुलिस उपाधीक्षक पूर्णिमा गर्ग, पुलिस उपाक्षीक्षक सुरेश बलूनी आदि अधिकारी मौजूद रहे।

Monday, 22 February 2021

कराटे ट्रेनिंग सेंटर की 10 छात्राओं को सम्मानित किया, चेक वितरित किए

ऋषिकेश। बैराज स्थित कैंप कार्यालय में आज उत्तराखंड विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल ने देवभूमि ऋषिकेश कराटे ट्रेनिंग सेंटर की 10 छात्राओं को सम्मानित किया। इस अवसर पर श्री अग्रवाल ने ट्रेनिंग सेंटर सहित प्रशिक्षण प्राप्त कर रही 10 छात्राओं को अध्यक्ष विवेकाधीन कोष से 1 लाख रुपये के चेक वितरित किए। इस अवसर पर उत्तराखंड विधानसभा अध्यक्ष ने कहा कि शिवानी गुप्ता के मार्गदर्शन में देव भूमि ऋषिकेश कराटे ट्रेनिंग सेंटर क्षेत्र में बालिकाओं को आत्मरक्षा के कैंप आयोजित कर मुफ्त में बालिकाओं को कराटे का प्रशिक्षण दे रही है। श्री अग्रवाल ने कहा कि क्षेत्र में प्रतिभाओं की कमी नहीं है सिर्फ उन्हें इस प्रकार के प्रशिक्षण देकर तराशने की आवश्यकता है। विधानसभा अध्यक्ष ने ट्रेनिंग सेंटर की सराहना करते हुए कहा कि आज के इस दौर में हमारी बालिकाओं का आत्मनिर्भर होना एवं अपनी आत्मरक्षा के लिए मजबूत होना अति आवश्यक है। श्री अग्रवाल ने कहा कि संस्था के द्वारा मुफ्त में प्रशिक्षण दिया जाना समाज के लिए एक प्रेरणा का काम है। इस अवसर पर देव भूमि ऋषिकेश कराटे ट्रेनिंग सेंटर के प्रबंधक शिवानी गुप्ता, प्रियंका रावत, निकिता कुमारी, शिवानी, प्राची जाटव, इशिका जाटव, प्राची कंडवाल, वैश्विक शर्मा, कविता रावत, भूमिका उपाध्याय, सृष्टि यादव, मनप्रीत कौर, महिला मोर्चा की महामंत्री सीमा रानी सहित अन्य लोग उपस्थित थे।

फ्लाई ओवरों का निर्माण कार्य समय पर पूर्ण होने पर गडकरी का आभार व्यक्त किया

ऋषिकेश। उत्तराखंड विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल ने ऋषिकेश विधानसभा क्षेत्र के अंतर्गत राष्ट्रीय राजमार्ग पर कई समय से लंबित पड़े चार फ्लाई ओवरों के शीघ्रता पूर्वक निर्माण कार्य पूर्ण होने पर केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी को पत्र लिखकर धन्यवाद देते हुए क्षेत्रवासियों की ओर से आभार व्यक्त किया। विधानसभा अध्यक्ष ने पत्र के माध्यम से कहा है कि ऋषिकेश विधानसभा क्षेत्र के अंतर्गत हरिपुर कला, नेपाली फार्म, तीनपानी छिद्दरवाला एवं लाल तप्पड़ पर फ्लाईओवर काम काफी समय से लंबित था, केंद्रीय मंत्री के कुशल मार्गदर्शन में चारों फ्लाईओवर का निर्माण कार्य बहुत तेजी से प्रारंभ होकर अल्प विधि में ही पूर्ण किया गया, जिसे आम जनता के आगमन के लिए इसे वर्तमान में खोल दिया गया है। विधानसभा अध्यक्ष ने कहा कि इन फ्लाईओवर के बनने से एक और जहां आए दिन लगने वाले जाम से मुक्ति मिली है वहीं यात्रा की समय अवधि भी कम हो गई है। विधानसभा अध्यक्ष ने कहा कि 2 किलोमीटर लंबा हरिपुर कला फ्लाईओवर उत्तराखंड का सबसे लंबा फ्लाईओवर है एवं यह फ्लाईओवर एलीफेंट कॉरिडोर के अनुसार बनाया गया है। श्री अग्रवाल ने कहा कि फ्लाईओवर वर्षों पूर्व स्वीकृत हो चुके थे परंतु इनका निर्माण कार्य प्रारंभ नहीं हो पा रहा था, केंद्रीय मंत्री जी के उच्च कार्यशैली से सभी फ्लाईओवर उच्च गुणवत्ता के साथ निर्मित हुए हैं। श्री अग्रवाल ने कहा कि नितिन गडकरी जी के केंद्रीय राजमार्ग मंत्रालय का कार्यभार संभालने के पश्चात संपूर्ण देश में राष्ट्रीय राजमार्ग का निर्माण कार्य तीव्र गति से हो रहा है। श्री अग्रवाल ने पत्र के माध्यम से नितिन गडकरी जी के स्वस्थ जीवन की कामना करते हुए कहा है कि उनके मार्गदर्शन में इसी प्रकार देश का विकास होता रहे।

विकास और पर्यावरण के बीच संतुलन कायम करने का माध्यम है हाइड्रोइलेक्ट्रिीसिटी

देहरादून, आजखबर। उत्तराखंड राज्य के पिछले सप्ताह हुई घटनाएं बहुत दर्दनाक और कष्टप्रद रहीं। चमोली जिले में सात फरवरी को आई अचानक बाढ़ से जान और माल का काफी नुकसान हुआ। अभी तक 53 लोगों की मौत हो चुकी है और 150 से ज्यादा लोग लापता हैं। एक तरफ जहां वैज्ञानिक और भू विज्ञानी इस प्राकृतिक आपदा का सही कारण जानने में जुटे हैं, वहीं यह माना जा रहा है कि 5500 मीटर की उंचाई पर हुए एक भूस्खलन से यह एवलांच हुआ और इससे गंगा की सहायक नदियों धौलीगंगा, ऋषिगंगा और अलकनंदा में अचानक बाढ़ आ गई। प्रकृति के इस कोप का सबसे पहले निशाना बना 12.2 मेगावाॅट का ऋषिगंगा पावर प्रोजेक्ट जिसके मलबे ने अन्य हाइड्रो इलेक्ट्रिक प्रोजेक्ट्स को भी नुकसान पहुंचाया। इनमें एनटीपीसी का 520 मेगावाॅट का निर्माणाधीन तपेावन विष्णुगढ़ प्रोजेक्ट और टीएचडीसी का पीपलकोटी ( 4 गुणा 111 मेगावाॅट) प्रोजेक्ट शामिल हैं। जब मैं यह लिख रहा हूं उस समय भी कई बचाव एजेंसियां और एनटीपीसी की टीम के सदस्य तपोवन प्रोजेक्ट के लिए बनाई गई सुरंग में फंसे श्रमिकों तक पहुंचने की चुनौती का सामना कर रहे हैं। डाॅ. समीर कपूर का कहना है कि लोगों को बचाने के लिए किए जा रहे भरपूर प्रयासों पर सबका फोकस है (पहले ही दिन 12 श्रमिकों को जिंदा निकाल लिया गया था)। लेकिन इस प्राकृतिक आपदा ने एक बार फिर हिमालय के संवेदनशील पारिस्थितिकीय क्षेत्र में बडे़ निर्माण कार्यांे, इस क्षेत्र के ग्लेशियर्स पर इनके दीर्घकालीन प्रभावों, बारिश के बदलते पैटर्न और बढ़ते तापमान के कारण इस क्षेत्र में पानी के चक्र पर पड़ते प्रभाव के बारे में चल रही बड़ी बहस को जिंदा कर दिया है। इस क्षेत्र में गंगा की सहायक नदियों में कई जगह हाइड्रो आधारित बिजली उत्पादन संयंत्र लगे हुए हैं। लेकिन यह संयंत्र अब एक्टिविस्ट और पर्यावरणविदों के निशाने पर आ रहे हैं। चार धाम प्रोजेक्ट को इसके लिए दोषी माना जा रहा है, जिसके तहत बद्रीनाथ, केदारनाथ, यमुनोत्री और गंगोत्री जैसे चार पवित्र धार्मिक स्थलों को 900 किलोमीटर लम्बी सडक के जरिए जोड़ा जा रहा है। हालांकि इस तरह की प्राकृतिक आपदाएं पहले भी आ चुकी हंै, जब हिमालय में ना सड़कें थीं और ना ही हाइड्रोइलेक्ट्रिक प्रोजेक्ट थे। यह ठीक है कि ऐसे नाजुक क्षेत्रों में किसी भी तरह के निर्माण के पर्यावरणीय और पारिस्थितिकीय प्रभाव का ध्यान रखना जरूरी है, लेकिन ऐसे दूरस्थ क्षेत्रों के लिए विकास परियोजनाएं भी जरूरी हैं, ताकि इन क्षेत्रों में भी समृद्धि आ सके और यहां विकास के अवसर पैदा हो सकें। प्रकृति और विकास के बीच किसी के एक के चुनाव को लेकर विवाद लम्बे समय से चल रहा है, लेकिन यह एक ऐसी रस्सी है, जिस पर चलने में नीति निर्माताओं, नागरिकों और सरकार को बहुत संतुलन बनाए रखने की जरूरत है। हालांकि हाइड्रोइलेक्ट्रिक परियोजनाओं को दोषी ठहराना और इन्हें बंद करने की मांग करना स्वाभाविक है और तुरंत आने वाली प्रतिक्रिया है, लेकिन इस मामले में किसी भी निर्णय पर पहुंचने से पहले बहुत सोचने और समझने की जरूरत है। हाइड्रोइलेक्ट्रिक बिजली से कई महत्वपूर्ण लाभ मिलते हैं, क्योंकि यह उर्जा का नवीकरणीय साधन है और इसकी पुनरावर्ती लागत बहुत कम है। इसलिए इसके लिए दीर्घावधि में बहुत ज्यादा खर्च करने की जरूरत नहीं पडती है। यह कोयले और गैस से मिलने वाली बिजली के मुकाबले भी सस्ती है। यह फ्रीक्वेंसी में आने वाले उतार चढाव से होने वाले आर्थिक नुकसान को कम करती है और जीवाश्म ईंधन का इस्तेमाल नहीं होने के कारण महंगी भी नहीं होती। इसके अलावा हाइड्रो और थर्मल स्टेशंस की परिचालन आवश्यकताएं आसानी से पूरी हो जाती है और संतुलित मिश्रण से क्षमता का अधिकतम उपयोग हो पाता है। तेजी से चालू और बंद होने की अपनी अनूठी क्षमता के कारण हाइड्रो पावर स्टेशन ग्रिड में पीक लोड का सामना करने के मामले में भी किफायती माने जाते हैं। हाइड्रो पावर प्रोजेक्ट दूरस्थ समुदायों तक बिजली पहुंचाने के लिए भी जरूरी है, अन्यथा ये क्षेत्र मुख्य धारा के विकास से वंचित रह सकते हैं।

कुछ शर्तों के के साथ विडियोग्राफी की अनुमति प्रदान की गई

देहरादून। अपर जिलाधिकारी वि/रा बीर सिंह बुदियाल ने राष्ट्रीय राजमार्ग-58 एवं 72 हरिद्वार भाग के 4-लेन चैड़ीकरण एवं सुदृढीकरण का अवशेष कार्य (पैकेज-द्वितीय) रा0रा0-72 लालतप्पड़ से मोहकमपुर भाग के कार्य हेतु ड्रोन कैमरा परियोजना की वीडियोग्राफी तैयार किए जाने की अनुमति के सम्बन्ध में बताया कि कुछ शर्तों के के साथ विडियोग्राफी की अनुमति प्रदान की जाती है, जिनमें निर्माणधीन भाग की ही वीडियोग्राफी करने, किसी भी प्रतिबन्धित क्षेत्र में वीडियोग्राफी नही की जाएगी, परियोजना निर्माण कार्य की समस्त वीडियोग्राफी सुरक्षित रखी जाएगी, प्रतिबन्धित क्षेत्र में सम्बन्धित विभाग की अनुमति प्राप्त करनी आवश्यक होगी, जिस क्षेत्र में वीडियोग्राफी कराई जाएगी, उस क्षेत्र के सम्बन्धित थानाध्यक्ष एवं चैकी प्रभारी को भी अवगत कराया जाएगा, प्रतिबन्धों एवं शर्तों का उल्लंघन करने पर अनुमति निरस्त समझी जाएगी।

सफाई आयोग के अध्यक्ष ने सफाई कर्मियों के नियमितिकरण व पदोन्नति के पर्याप्त अवसर देने के दिए निर्देश

देहरादून। उत्तराखण्ड राज्य सफाई कर्मचारी आयोग के अध्यक्ष अमिलाल सिंह वाल्मिकी की अध्यक्षता में नगर निगम सभागार में नगर निगम, समाज कल्याण, शिक्षा विभाग, राजस्व विभाग, स्वास्थ्य विभाग, पुलिस, पंचायतीराज, स्वजल, जल संस्थान, लीड बैंक आदि विभागों के साथ सफाई कर्मचारियों की समस्याओं एवं केन्द्र राज्य सरकार की स्वच्छकार नियुक्ति एवं पुनर्वास योजना की समीक्षा बैठक आयोजित की गई। आयोग के अध्यक्ष ने सम्बन्धित विभागों को स्वच्छकारों के कल्याण के लिए केन्द्र व राज्य सराकर की गतिमान विभिन्न योजनाओं का समुचित लाभ प्रदान करने तथा विभागीय स्तर पर सफाई कार्मिकों की विभिन्न प्रकार की समस्याओं का तेजी से निस्तारण करने और उनके कल्याण से जुड़े विभिन्न प्राविधानों को लागू करवाने का हर संभव प्रयास करने के निर्देश दिए। उन्होंने नगर निगम को सफाई कार्मिकों को मानकों के अनुसार भर्ती करने, उनको नियमितिकरण और पदोन्नति के पर्याप्त अवसर देने के निर्देश दिए। इसके अतिरिक्त कर्मचारी भविष्य निधि के कार्ड जारी करने, स्वास्थ्य विभाग के समन्वय से नियमित स्वास्थ्य परीक्षण करने, उनकी दैनिक समस्याओं की सुनवाई हेतु शिकायती पंजिका रखने, काम करने के दौरान उनको पर्याप्त सुरक्षा उपकरण इत्यादि देकर कार्य करवाने को निर्देश दिए। सफाई कार्मिकों को एरियर की धनराशि, नियमित व आउटसोर्स सभी को एक समान धनराशि प्रदान करने, वर्दी के प्रावधान को लागू करने साप्ताहिक अवकाश प्रदान करने, अुनकंपा के आधार पर नौकरी देने में लचीलापन रूख अपनाने तथा कार्मिकों सेे शिड्यूल के अनुसार कार्य करवाने को कहा। माननीय अध्यक्ष ने समाज कल्याण विभाग को मैन्यूवल स्कैवन्जर सूची में सभी प्रकार के सफाई कार्मिकों को इस परिधि में शामिल करने तथा केन्द्र व राज्य सरकार की योजनाओं की समुचित जानकारी व लाभ दिलाने तथा वाल्मिकी बस्तियों समेत में जनपद के विभिन्न क्षेत्रों में जागरूकता कैम्प लगाने के निर्देश दिए। उन्होंने स्पेशल कम्पोर्नेट प्लान के तहत् मिलने वाली धनराशि का भी मानक के अनुरूप शत् प्रतिशत् उपयोग करने के निर्देश दिए। उन्होंने जल संस्थान के साथ ही विभिन्न विभागों को निर्देशित किया कि संविदा अथवा किसी भी तरह से ड्यूटी पर रखे जाने वाले कार्मिकों को बिना प्रशिक्षण ड्यूटी पर तैनात ना करें साथ ही काम करवाते समय पूरे सुरक्षा उपकरण हों साथ ही सम्बन्धित विभाग उपकरणों के साथ कार्य करवाने को कार्मिकों की काउन्सिलिंग करवाएं और जहां पर बिना सुरक्षा उपकरण कार्य करते दिखें उनको सुरक्षा उपकरण प्रदान करें। इसमें किसी भी तरह की लापरवाई ना बरती जाए क्योंकि लोगों की जान से खिलवाड़ नहीं किया जा सकता। माननीय अध्यक्ष ने स्वजल विभाग को वाल्मिकी बस्तियों में शौचालय तथा तरल एवं सोफ्ट वेस्ट मैनेजमेंट के समुचित कार्य करवाने को कहा तथा किसी भी प्रकार से कहीं पर भी सीवर नाली में अथवा खुले में बहती ना मिले। उन्होंने स्वास्थ्य विभाग को सफाई कार्मिकों का नियमित स्वास्थ्य परीक्षण करने तथा लीड बैंक अधिकारी को सफाई कार्मिकों तथा वाल्मिकी समाज को उनके कल्याण से सम्बन्धित विभिन्न योजनाओं के आवेदनों में ऋण प्रदान करने के निर्देश दिए। इस दौरान बैठक में नगर आयुक्त नगर आयुक्त नगर निगम विनय पाण्डेय, राज्य सफाई कर्मचारी आयोग के सदस्य साकेत वाल्मिकी, जयपाल वाल्मिकी व विपिन चंचल, ओएसडी राजकुमार खोबे, अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व बीर सिंह बुदियाल, वरिष्ठ स्वास्थ्य अधिकारी नगर निगम डाॅ आर.के सिंह, मुख्य शिक्षा अधिकारी आशा रानी पैन्यूली, जिला पूर्ति अधिकारी जसंवत कण्डारी, उप जिलाधिकारी सदर गोपाल राम बिनवाल, जिला समाज कल्याण अधिकारी हेमलता पाण्डेय, उप मुख्य चिकित्साधिकारी डाॅ संजय दत्त सहित सम्बन्धित विभाग व सफाई कार्मिक उपस्थित थे।

हवाई सेवाएं नियमित करने के लिए दुबारा किए जाएंगे टेंडर

देहरादून। मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने सोमवार को नई दिल्ली में केंद्रीय मंत्री नागरिक उड्डयन और शहरी विकास हरदीप पुरी से भेंट की। मुख्यमंत्री के आग्रह पर केंद्रीय मंत्री ने कहा कि उड़ान योजना में देहरादून-पिथौरागढ़-हिण्डन मार्ग और सहस्त्रधारा-चिन्यालीसौड़- गौचर मार्ग पर हवाई सेवाएं नियमित करने के लिए दुबारा टेंडर किए जाएंगे। जलजीवन मिशन में उत्तराखण्ड के सभी बड़े और छोटे शहरों को शामिल किया जाने की भी केंद्रीय मंत्री ने स्वीकृति दी। मुख्यमंत्री के आग्रह पर केंद्रीय मंत्री ने कहा कि पंतनगर ग्रीन फील्ड हवाई अड्डे को अंतर्राष्ट्रीय स्तर का बनाए जाने के लिए भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण से विशेषज्ञ की सेवाएं उपलब्ध करवाई जाएगी। जनपद पिथौरागढ़ स्थित नैनीसैनी हवाई पट्टी का भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण द्वारा हस्तगत किए जाने के लिए सर्वे किया जाएगा। मुख्यमंत्री ने उड़ान योजना के अंतर्गत कुमाऊं और गढ़वाल मण्डल में रूट बदले जाने और पॉइन्ट टू पॉइन्ट किए जाने का आग्रह किया जिस पर केंद्रीय मंत्री ने सहमति व्यक्त की। साथ ही केंद्रीय मंत्री ने राजकीय वायुयान बी-200 को किसी एनएसओपी सेवा प्रदाता को ड्राई लीज पर दिए जाने पर भी अपनी स्वीकृति दी। मुख्यमंत्री ने स्वच्छ भारत मिशन 2.0 में प्रस्तावित योजनाओं में केंद्रांश उत्तराखण्ड के लिए 90 प्रतिशत किए जाने का अनुरोध किया। मुख्यमंत्री ने केंद्रीय मंत्री से कहा कि उत्तराखण्ड के 15 गंगा नगरों में से केवल हरिद्वार ही वर्तमान में अमृत योजना के अंतर्गत शामिल है। स्वच्छ भारत मिशन 2.0 में शेष 14 गंगा नगरों के लिए सेप्टेज प्रबंधन की योजनाओं की स्वीकृति 90 प्रतिशत केंद्रांश के साथ स्वीकृत की जाए। मुख्यमंत्री ने कहा कि स्वच्छ भारत मिशन के तहत ठोस अपशिष्ट प्रबंधन संबंधित योजना के लिए 35 प्रतिशत वायबिलिटी गैप फण्डिंग केंद्रांश के रूप में अनुमन्य है। उत्तराखण्ड की कठिन परिस्थितियों और सीमित संसाधनों को देखते हुए 90 प्रतिशत केंद्रांश अनुमन्य करने पर विचार किया जाए। साथ ही एक लाख से कम जनसंख्या के नगरों के लिगेसी वेस्ट के प्रस्तावों को भी स्वच्छ भारम मिशन 2.0 में अनुमोदित किया जाए। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य के शहरों में निर्माण व विध्वंस अपशिष्ट प्रबंधन के प्लांट स्थापित किए जाने आवश्यक हैं। प्रथम चरण में राज्य के सभी जिला मुख्यालयों और नगर निगमों में स्थापित किए जा सकते हैं। मुख्यमंत्री ने इसके लिए स्वच्छ भारत मिशन 2.0 अथवा केंद्र पोषित विशेष योजना के अंतर्गत धनराशि स्वीकृत करने का अनुरोध किया।

Saturday, 20 February 2021

पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों पर वाहनों को धकेलकर कांग्रेसियों ने किया प्रदर्शन

चंपावत। पेट्रोल-डीजल और रसोई गैस के बढ़ते दामों के विरोध में कांग्रेसियों ने प्रदेश और केंद्र सरकार के खिलाफ प्रदेश व्यापी विरोध प्रदर्शन शुरू कर दिया है। शनिवार को चंपावत, हल्द्वानी और प्रदेश में कई स्थानों पर कांग्रेसी कार्यकर्ताओं ने सरकार के खिलाफ प्रदर्शन किया. चंपावत में कांग्रेस के प्रांतीय उपाध्यक्ष के नेतृत्व में कांग्रेसियों ने दोपहिया वाहनों को धकेलते हुए सरकार के खिलाफ नारेबाजी की तो वहीं, हल्द्वानी में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने महंगाई के खिलाफ पदयात्रा निकालते हुए पूरे शहर में घूम-घूम कर केंद्र सरकार के खिलाफ नारेबाजी की। चंपावत में नगर पालिका सभागार में पहले कांग्रेसियों ने बैठक की. जिसमें जिला प्रभारी नारायण पाल ने कार्यकर्ताओं के साथ विरोध प्रदर्शन की रणनीति बनाई. इसके बाद लोहाघाट में कांग्रेसी कार्यकर्ताओं ने दोपहिया वाहनों को पैदल धकेलते हुए एक अलग तरीके से विरोध प्रदर्शन किया। यहां भी प्रांतीय उपाध्यक्ष और जिला प्रभारी नारायण पाल ने विधानसभा लोहाघाट के पाटी, लोहाघाट, बाराकोट ब्लॉकों के कांग्रेस कार्यकर्ताओं की बैठक ली। बैठक में जिला प्रभारी ने कहा कि 2022 चुनाव के लिए लोहाघाट में कांग्रेस एकजुट हैं. उन्होंने कहा कि शीघ्र ही जिलाध्यक्ष की नियुक्ति भी की जाएगी, जल्दी ही कांग्रेस बूथ कमेटियों का गठन भी करेगी और निष्क्रिय पदाधिकारियों की जगह नए लोगों को संगठन में जिम्मेदारियां दी जाएगी। उधर, हल्द्वानी में बड़ी संख्या में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने पटेल चैक पहुंचकर पूरे शहर में पद यात्रा निकाली। डीजल-पेट्रोल और गैस के दामों में हो रही बेतहाशा वृद्धि को लेकर जमकर प्रदर्शन किया। इस दौरान पूर्व कैबिनेट मंत्री हरीश चंद्र दुर्गापाल ने कहा कि जिस तरह से केंद्र की मोदी सरकार जनता को महंगाई की ओर झोंक रही है। ऐसे में आम आदमी अब पूरी तरह से टूट चुका है। वहीं, प्रदर्शन में मौदूद कार्यकर्ताओं ने कहा कि जिस तरह से केंद्र की मोदी सरकार महंगाई बढ़ाकर आम आदमी की कमर तोड़ने का काम कर रही है, उससे जनता में सरकार के खिलाफ आक्रोश है। अगर सरकार ने जल्द ही महंगाई को काबू में नहीं किया तो 2022 चुनाव में जनता सरकार को जवाब देगी।

पुल निर्माण में हाईटेंशन लाइन बनी बाधक

रुड़की। पिरान कलियर स्थित नई गंगनहर पर बन रहे स्टील गार्डर पुल निर्माण के दौरान हाइटेंशन बिजली की लाइन बाधक बन रही है। जिसे लेकर कलियर विधायक हाजी फुरकान अहमद, ऊर्जा निगम के अधिकारियों व निर्माण एजेंसी के अधिकारियों ने स्थलीय निरीक्षण किया और बाधक बन रही लाइन को शिफ्ट कराने का निर्णय लिया। इस दौरान ऊर्जा निगम के अधिकारियों ने लाइन शिफ्टिंग का इस्टीमेट बनाकर जल्द ही कार्य शुरू करने का आश्वासन दिया। पिरान कलियर स्थित नई गंगनहर पर करीब 9 करोड़ की लागत से टू लेन स्टील गार्डर पुल को मंजूरी के बाद निर्माण एजेंसी अग्रवाल ब्रदर्स ने पुल निर्माण कार्य की शुरूआत कर दी है। जिस स्थल पर पुल निर्माण कार्य किया जा रहा है। वहां से 33 केवी और 11 केवी हाईटेंशन लाइन पास से होकर गुजर रही है। पुल निर्माण एजेंसी ने लाइन हटाने के लिए ऊर्जा विभाग के अधिकारियों से संपर्क कर लाइन को शिफ्ट करने की मांग की थी। परान कलियर विधायक हाजी फुरकान अहमद और विद्युत विभाग के एसडीओ अंबिका यादव, व अजय कुमार ने मौके पर पहुंचकर स्थलीय निरीक्षण किया। उन्होंने लाइन को शिफ्टिंग करने के लिए एस्टीमेन्ट बनाकर जल्द लाइन शिफ्टिंग का कार्य करने का आश्वासन दिया है। अजय कुमार ने बताया कि पुल निर्माण में दो हाईटेंशन लाइन पास से गुजर रही हैं, जिनको शिफ्टिंग के लिए विद्युत विभाग से मांग की गई है। लाइन न हटने के कारण क्रेन नहीं चल पा रही है। बिजली लाइन की वजह से हादसा होने का भी खतरा बना हुआ है। विद्युत विभाग के एसडीओ अंबिका यादव ने बताया कि मौके का निरीक्षण कर एस्टीमेन्ट बनाकर जल्द ही लाइन शिफ्टिंग कार्य शुरू कर दिया जाएगा। विधायक हाजी फुरकान अहमद ने बताया कि नई गंगनहर पर स्टील गार्डर पुल निर्माण कार्य शुरू हो गया है। जिसमें दो हाईटेंशन लाइन आ रही हैं। आज मौके पर पहुंचकर ऊर्जा विभाग और एजेंसी के अधिकारियों से मिलकर लाइन को शिफ्टिंग कर निर्माण कार्य जल्द चालू करने को कहा गया है।

24-25 फरवरी को बढ़ सकता है ऋषिगंगा का जलस्तर, अलर्ट पर एजेंसियां

चमोली। आगामी 24 और 25 फरवरी को मौसम विभाग ने बारिश का अलर्ट जारी किया है। जिसके बाद ऋषि गंगा में भी जलस्तर बढ़ने की संभावना जताई जा रही है। एनटीपीसी टनल साइट पर राहत बचाव कार्यों में जुटे कर्मियों को भी अलर्ट पर रखा गया है। एनटीपीसी द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार अगर बारिश ज्यादा होती है तो एहतियात के तौर पर ऋषिगंगा के किनारे रैणी गांव के पास और तपोवन टनल साइट पर राहत बचाव कार्य भी रोका जा सकता है। एनटीपीसी के महाप्रबंधक आरपी अहरिवार का कहना है कि मौसम विभाग के द्वारा मिली जानकारी के अनुसार 24 व 25 फरवरी को ऊंचाई वाले क्षेत्रों में बारिश और बर्फबारी का आशंका जताई गई है। बारिश होने से ऋषिगंगा के जलस्तर में इजाफा हो सकता है। उन्होंने कहा कि नदी में मलबा भर जाने से जलस्तर अधिक ऊंचाई तक उठ सकता है। ऐसे में टनल के अंदर भी पानी घुस सकता है। इसलिए हल्की बारिश होने पर एहतियात के तौर पर राहत बचाव कार्य दो दिनों के लिए रोका जा सकता है। बारिश के बाद नदी के जलस्तर घटने तक अलर्ट जारी रहेगा। उत्तराखंड मौसम विभाग ने 22 फरवरी से ऊंचाई वाले इलाकों में हल्की और मध्यम बारिश सहित बर्फबारी की आशंका जताई है। हालांकि आईएमडी ने यह भी स्पष्ट किया है कि सर्दियों के मौसम में होने वाली बारिश से नदी का जलस्तर बढ़ने की संभावना कम ही रहती है।

ऊर्जा निगमों में हो रही गड़बड़ियों पर जांच एजेंसियां अलर्ट

देहरादून। उत्तराखंड में ऊर्जा निगमों पर ऐसे कई आरोप हैं, जिसमें जांच के आदेश भी हुए और कुछ मामलों में गड़बड़ियों की पुष्टि भी हुई। लेकिन निगमों में वित्तीय अनियमित्ता और भ्रष्टाचार से जुड़े मामले सालों तक ठंडे बस्ते में ही रहे, लेकिन अब अचानक इन मामलों को लेकर तेजी दिखाई दी है। खासतौर पर कुंभ के दौरान कथित गड़बड़ियों और पिछले 5 साल के दौरान हुए मामलों की फाइलों में तेजी आई है। यूं तो ऊर्जा निगम अपनी कार्यप्रणाली को लेकर सवालों के घेरे में ही रहता है, लेकिन इसके बावजूद भी कई आरोप लगने के बाद कार्रवाई के नाम पर सालों तक फाइलें धूल-फांकती रहती हैं। हालांकि अब इन मामलों में तेजी आई है और फाइलें कार्रवाई की तरफ भी बढ़ी है। ताजा मामला साल 2010 में कुंभ के दौरान ऊर्जा विभाग द्वारा कराए गए कामों से जुड़ा है, जिसमें उस दौरान ही गड़बड़ियों के कई आरोप लगे थे। इसके बाद मामले की विभागीय जांच और ऑडिट भी किया गया। ऑडिट में साफ हो गया कि कुंभ में जो काम करवाया गया, उसमें गड़बड़ियां हुई हैं लिहाजा इसके बाद विभाग ने अपने स्तर पर भी इसकी जांच की, लेकिन इसके बावजूद जांच की फाइल कार्रवाई तक नहीं पहुंची। लेकिन अब करीब 11 साल बाद इससे जुड़े मामले की फाइल मुख्य सचिव कार्यालय तक पहुंची है और अब उम्मीद की जा रही है कि इससे संबंधित अधिकारियों पर कार्रवाई होगी। इसके अलावा पूर्व एमडी बीसी के मिश्रा और एसएन वर्मा के खिलाफ चल रहे मामलों की जांच की फाइल भी आगे बढ़ी है और इन मामलों पर भी जल्द कार्रवाई की उम्मीद की जा रही है। हालांकि देरी से कार्रवाई के चलते इन से जुड़े कई अधिकारी ऐसे भी हैं जो अब तक रिटायर हो चुके हैं या जल्द ही रिटायर होने जा रहे हैं।

लोक कलाकारों दी सांस्कृतिक कार्यक्रमों के बहिष्कार की चेतावनी

देहरादून। उत्तराखण्ड के लोक कलाकारों ने वर्ष 2019-20 का भुगतान करने सहित अन्य मांगों को लेकर गांधी पार्क के समक्ष सांकेतिक धरना दिया। गांधी पार्क के समक्ष धरने पर बैठे लोक कलाकारों का कहना था कि प्रदेश सरकार द्वारा लोक कलाकारों को वर्ष 2019-20 तक के सांस्कृतिक कार्यक्रमों का पूर्ण भुगतान अब तक नहीं किया गया है। कहा कि भारत के किसी भी राज्य में सांस्कृतिक दलों से जीएसटी नहीं लिया जाता है। जबकि उत्तराखण्ड में सांस्कृतिक दलों पर जीएसटी थोपा गया है। उत्तराखण्ड राज्य की भौगोलिक स्थिति को देखते हुए सांस्कृतिक आयोजन में जाने वाले कलाकारों के बिलों का भुगतान पूर्व की भांति किया जाए। लोक कलाकारों ने कहा कि सांस्कृतिक दलों को स्थानीय कार्यक्रम में एक दिन का भत्ता दिया जाए। संस्कृति विभाग कल्याण कोष समिति में संस्कृति विभाग में पंजीकृत कलाकारों को ही सदस्य बनाया जाए। संस्कृति विभाग कलाकार कल्याण कोष से कलाकार की आर्थिक स्थिति खराब होने पर तुरंत आर्थिक सहायता की जाए। कलाकारों का पहचान पत्र पूर्व की भांति बनाया जाए। सांस्कृतिक कार्यक्रमों का भुगतान सांस्कृतिक कार्यक्रम के बिल जमा होने के एक महीने के अंदर किया जाए। संस्कृति विभाग में सांस्कृतिक सलाहकार का चयन यथाशीघ्र किया जाए। संस्कृति विभाग में रणमंडल संयोजक का पद शीघ्र भरा जाए। लोक कलाकारों चेतावनी दी है कि यदि उनकी मांगों पर 15 दिन तक कोई कार्यवाही नहीं की गई तो वे अनिश्चितकालीन धरना प्रदर्शन और सांस्कृतिक कार्यक्रमों का बहिष्कार करते हुए आंदेालन करने के लिए बाध्य होंगे।

बढ़ती महंगाई का चॉकलेट और फूल बांट कर जताया विरोध

देहरादून। उत्तराखंड नवनिर्माण सेना द्वारा राज्य में बढ़ती मंहगाई पर रोष व्यक्त किया गया। संगठन पदाधिकारिओं द्वारा जाखन स्थित पेट्रोल पम्प पर आने वाले लोगों को ज्वलंत समस्या के परिपेक्ष फूल तथा चॉकलेट बांट कर किया प्रकट किया। संगठन पदाधिकारिओं ने कहा कि कोरोना काल के अंतराल में पहले से लचर राज्य की आर्थिक परिस्थिति और विषम हो गई। जहां जनता सरकार से राहत की उम्मीद कर रही है वहीं सरकार निरन्तर पेट्रो पदार्थों की कीमतों में वृद्धि कर रही है। कोरोना महामारी का साथ आर्थिक महामारी भी आई किन्तु समाधान के बजाय सरकारें बिना जनता के हितों के बारे में चिंतन किये राजस्व जुटाने में लगी हैं। कोरोना काल में मजदूरों , छोटे व्यापारी तथा समस्त जनता रोजगार की साधन समाप्त होने के चलते परेशानिओं का सामना कर रही है। सहायता के बजाय पेट्रो पदार्थों की कीमतों में वृद्धि के साथ रसोई गैस, हाउस टेक्स एवं बिजली की दरों में वृद्धि जनता की उम्मीदों पर कुठाराघात है। केंद्र एवं राज्य सरकारें अब तक महंगाई रोकने में विफल रही हैं। कहा कि ये अत्यंत दुर्भग्यपूर्ण है कोई छोटे देशों में पेट्रो पदार्थों की कीमतें भारत से कम हैं। बेहतर की जनता के हितों को ध्यान में रख महंगाई पर समय रहते केंद्र तथा राज्य सरकारें अंकुश लगाएं। प्रदर्शन करने वालों में अनूप सक्सेना, सुशील कुमार, संजय क्षेेत्री, मनीष गोनियाल, अजीत पंवार, रूबी खान, सतीश सकलानी, विलास गौड़, सोनल, दिनेश कुमार, रहमान खान तथा निर्मल आदि शामिल रहे।

फोटो उपनल कर्मचारी महासंघ करेगा दो दिन का कार्य बहिष्कार

देहरादून। उपनल कर्मचारी महासंघ ने अपनी मांगों को लेकर दो दिवसीय कार्यबहिष्कार करने का ऐलान किया है। महासंघ के अनुसार 22 और 23 फरवरी को उपनल कर्मचारी कार्य बहिष्कार पर रहेंगे। प्रेस क्लब में पत्रकारों से वार्ता करते हुए महासंघ के प्रदेश महामंत्री हेमंत सिंह रावत ने कहा कि प्रदेश के समस्त राजकीय विभागों, स्वास्थ्य, ऊर्जा, वाहन, पेयजल, सार्वजनिक निगमों, उपक्रमों, निकायों, जल संस्थान, जिला पंचायत, विश्वविघालयों, विकास प्राधिकरण तथा केंद्र पोषित योजनाओं आदि में उपनल के माध्यम से लगभग 22000 कर्मचारी कार्यरत हैं। जो पूरी निष्ठा के साथ अपना कार्य कर रहे हैं। इसके बावजूद अपने सुरक्षित भविष्य के लिए कर्मचारियों को बारकृबार आंदोलन के लिए बाध्य होना पड़ रहा है। उन्होंने कहा कि उपनल कर्मचारी महासंघ द्वारा कई बार शासन एवं सरकार को अपनी मांग से अवगत कराया जा चुका है लेकिन अब तक उनकी मंागों पर केाई कार्यवाही नहीं की गई है। कहा कि उच्च न्यायालय नैनीताल द्वारा उपनल कर्मचारियों को नियमितिकरण एवं समान कार्य का समान वेतन आदेश जारी कर किया गया है। जहां एक तरफ उपनल कर्मचारियों को निकाला जा रहा है वहीं उनके पदों पर नियमिति पद भी निकाल रही है। जो अनुचित है। कहा कि इन सभी बिंदुओं को लेकर उपनल कर्मचारी महांसघ ने 22 और 23 फरवरी को कार्य बहिष्कार करने का निर्णय लिया है। यदि इसके बाद भी सरकार द्वारा उपनल कर्मचारियों की मांगों पर कार्यवाही नहीं की जाती है तो उन्हें अनिश्चितकालीन आंदोलन के लिए बाध्य होना पड़ेग। इस दौरान प्रदेश अध्यक्ष कुशाग्र जोशी, हरीश कोठारी, वरिष्ठ उपाध्यक्ष विवेक भट्ट, सभापति विनोद गोदयिाल आदि मौजूद रहे।

मैक्स खाई में गिरी, दो लोगों की मौत

देहरादून। अल्मोड़ा में एक मैक्स वाहन खाई में गिर गया। हादसे में दो लोगों की मौत हो गई है। वहीं पौड़ी के धुमाकोट में भी एक कार दुर्घटनाग्रस्त हो गई। इस हादसे में पांच लोग घायल हुए हैं। पुलिस ने मृतकों के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा है। मिली जानकारी के अनुसार शनिवार को अल्मोड़ा के भतरौजखान के मछोड के पास एक मैक्स वाहन खाई में गिर गया। हादसे में दो लोगों की मौत होने की सूचना है। बताया गया कि उक्त वाहन दिल्ली से द्वाराहाट जा रहा था। रास्ते में बुनखान के पास वाहन दुर्घटना का शिकार हो गया और दो लोगों की मौत मौके पर ही हो गई। आसपास के लोगों द्वारा घायलों को अस्पताल ले जाया गया। दुर्घटना का कारण चालक को नींद की झपकी आ जाना बताया जा रहा है। वहीं पौड़ी जिले में काशीपुर बुआखाल हाईवे पर धुमाकोट कसाना के पास एक कार दुर्घटना ग्रस्त हो गई। सामने से आ रहे वाहन से टकराकर उक्त कार खाई में गिर गई। कार में पांच लोग सवार थे। पीएचसी धुमाकोट में प्राथमिक उपचार के बाद गंभीर घायलों को हायर सेंटर रैफर किया गया है।

मानवाधिकार एवं सामाजिक न्याय संगठन ने आयोजित की वाद-विवाद प्रतियोगिता

देहरादून। मानवाधिकार एवम सामाजिक न्याय संगठन द्वारा घंटाघर स्थित पोस्ट आफिस के पास केप कोमोरिन इंस्टीट्यूट में प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए तैयारी कर रहे छात्र एवम छात्राओं की बीच मानवाधिकार से संबंधित एवम बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ अभियान पर वाद विवाद प्रतियोगिता आयोजित किी गई। कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि मानवाधिकार एवम सामाजिक न्याय संगठन के चेयरमैन सचिन जैन, विशिष्ट अतिथि हरि भंडारी संयोजक जितेंद्र डंडोना उपस्थित रहे। कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य बच्चों को जागरूक करना और इन विषयों पर गहन चिंतन करके बदलाव लाना है। इस अवसर पर मुख्य अतिथि सचिन जैन ने अपने विचार रखते हुए कहा कि सबसे पहले आप सभी छात्रों को आपके उज्जवल भविष्य की कामना करता हूं और आप दिन प्रतिदिन इसी तरह अपने मेहनत से आगे बढ़े और सफलता के नए आयाम छुए। परिश्रम ही सफलता की पहली सीढ़ी है। इस अवसर पर विशिष्ट अतिथि हरि भंडारी ने बच्चों का मार्गदर्शन करते हुए कहा कि आपसी सूझबूझ और समझदारी से हर व्यक्ति काम ले तो बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ, कन्या भ्रूण हत्या इस तरह के अभियान की भविष्य में कोई जरूरत नहीं होगी। हमें मिलकर आपस में सामंजस्य बिठाकर घर परिवार और देश आगे बढ़ाना है। इस अवसर पर संस्था की प्रदेश अध्यक्ष मधु जैन ने बच्चों के मनोबल को देखते हुए और उनके द्वारा वाद विवाद में रखे गए विचारों की भूरि-भूरि प्रशंसा की और कहा कि ये हमारे देश का भविष्य हैं। युवा शक्ति के कंधों पर ही देश के भविष्य की बागडोर है वही देश को आगे ले जाने का कार्य करेंगे और सही मार्ग प्रशस्त करेंगे, ऐसी उम्मीद करती हूं। हम निरंतर बच्चों के सर्वांगीण विकास के लिए संस्था के माध्यम से कार्य कर रहे हैं और हमेशा उनके साथ खड़े रहेंगे। कानूनी सलाहकार राजकुमार तिवारी ने भी अपने विचार रखे और बच्चों का उत्साहवर्धन किया।

बेतहाशा महंगाई पर भड़के कांग्रेसी, कहा-महंगाई पर नियंत्रण करने में केन्द्र सरकार फेल

हरिद्वार। अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी की राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी के आवाह्न पर व प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष प्रीतम सिंह के निर्देश पर देश में किसानों पर तीन काले कानूनों को लेकर हो रहे लगातार अत्याचार, देश में गैस, पेट्रोल, डीजल और खाद्यान्न के मूल्य में लगातार बेतहाशा वृद्धि मूल्य वृद्धि के खिलाफ भगत सिंह चैक पर प्रदर्शन कर कांग्रेसी कार्यकत्र्ताओं ने चंद्राचार्य चैक तक पदयात्रा निकाली। इस दौरान कांग्रेसी कार्यकत्र्ताओं ने टमाटर, आलू, प्याज की मालाएं पहनाकर अपना विरोध भी जताया। इस अवसर पर प्रदेश महासचिव डाॅ. संजय पालीवाल ने कहा कि मोदी सरकार धर्म की आड़ लेकर देश में लगातार पेट्रोल, डीजल, गैस की कीमतें बढ़ाकर देश की जनता की रीढ़ तोड़ने का काम कर रही है। मेहनत मजदूरी कर रहे लोगों का जीना महंगाई ने दुश्वर कर दिया है। लोगों को एक वक्त की रोटी नसीब नहीं हो रही है। महानगर अध्यक्ष संजय अग्रवाल व ग्रामीण जिला अध्यक्ष धर्मपाल सिंह ने कहा कि पेट्रोल, डीजल के रेट बढ़ने से माल भाड़े में वृद्धि हो गई है। खाद्यान्न व सब्जियां के मूल्य में भयंकर वृद्धि हो गई है। रोडवेज किराया लगभग 20 प्रतिशत तक बढ़ गया है। देश की जनता का जीना मुश्किल हो गया है। महंगाई के कारण देश की जनता भूखमरी की कगार पर पहुंच गयी है। बेरोजगारी की संख्या में लगातार बढ़ोतरी हो रही है। पूर्व विधायक रामयश सिंह व महिला जिलाध्यक्ष विमला पांडे ने कहा कि जब से भाजपा की सरकार केद्र में आई है महंगाई ने कमर तोड़ दी है। एक वक्त की रसोई बनाना महिलाओं को मुश्किल हो गया है। आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग महंगाई से त्रस्त आ चुके हैं। ब्लॉक अध्यक्षगण यशवंत सैनी, रवि कश्यप, शुभम अग्रवाल, शैलेंद्र सिंह एडवोकेट, अशोक उपाध्याय ने संयुक्त रूप से कहा कि इस महंगाई के खिलाफ हम ब्लाकों में भी 22 तारीख को पदयात्राएं निकालकर लोगों की पीड़ा को केंद्र सरकार तक पहुंचाने का कार्य करेंगे। पूर्व पालिका अध्यक्ष प्रदीप चैधरी व किसान कांग्रेस अध्यक्ष दिनेश वालिया ने कहा कि कांग्रेस हमेशा जनता के साथ खड़ी है तथा कांग्रेश जनता की आवाज उठाने का कार्य करती रहेगी और कर रही है। पराग चाकलान ने कहा कि गैस, पेट्रोल के बढ़ते दामों का असर लोगों की जेबों पर पड़ रहा है। निर्धन परिवार महंगाई के कारण अपना गुजर बसर नहीं कर पा रहे हैं। पराग चाकलान ने कहा कि महंगाई पर तुरन्त नियंत्रण लगाया जाये। विरोध प्रदर्शन में मुख्य रूप से हाजी नईम कुरैशी, प्रियवत्त, अशोक शर्मा, अंजू द्विवेदी, सतीश कुमार, चै.बलजीत सिंह, अनिल कथूरिया, नेपाल सिंह, बी.एस.तेजियान, कैलाश प्रधान, हाजी रफी खान, दिनेश पुंडीर, सतपाल शास्त्री, तहसीन अंसारी, शहाबुद्दीन अंसारी, जफर अब्बासी, धर्मपाल ठेकेदार, जितेंद्र विद्याकुल, जॉनसन जेम्स, सुधांशु जोशी, धर्मपाल ठेकेदार, संजय भारद्वाज, राजपाल सिंह, राजेश चैहान, अनिल शर्मा, सुंदरसिंह मनवाल, शिवा जोशी, जितेंद्र सिंह, संगम शर्मा, जेपी सिंह, सुनील कुमार कड़च्छ, शाहनवाज कुरैशी, बलराम राठौड़, प्रदीप अग्रवाल, संदीप सैनी, शफाकत अली, राव फरमान, जगदीप असवाल, मनोज जाटव, नीलम सहगल, वीरेंद्र भारद्वाज, त्रिपाल शर्मा, जगदीश प्रशाद, मिथिलेश गिल, नीलम शर्मा, ग्रेसी कश्चप, राजेंद्र श्रीवास्तव, दिग्विजय यादव, वसीम सलमानी, हरजीत सिंह, अनीस कुरैशी, हरद्वारी लाल, एल.एस. रावत, मनीराम बागड़ी, ठाकुर राजेंद्र सिंह, शुभम जोशी, कपिल शर्मा, वेद रानी, अरविंद कुमार, नेग सिंह पोखरियाल, हाजी दिलशाद, ओमप्रकाश शर्मा, परीक्षित शर्मा, अवधेश चैहान, टीकम सिंह, रमेश चंद कश्यप, हितेश चैहान, रजत कुमार, कपिल शर्मा, अतर सिंह राठौड, विशाल काठी आदि समेत अनेक कांग्रेसजन शामिल रहे।

Featured Post

कोरोना काल के पश्चात राफ्टिंग का प्रारंभ होना बेहद सुखदः महाराज

ऋषिकेश। पर्यटन व्यवसाय से जुड़े 15 हजार लोगों को पर्यटन विभाग की ओर से अब तक 7 करोड़ की धनराशि वितरित की जा चुकी है। उक्त बात गंगा नदी राफ...