Sunday, 31 October 2021

सीएम टिहरी में 95 करोड़ 46 लाख की लागत की योजनाओें का किया लोकार्पण और शिलान्यास

देहरादून/कीर्तिनगर। जनपद टिहरी गढ़वाल की तहसील कीर्तिनगर के चौरास क्षेत्रान्तर्गत किलकिलेश्वर में स्थित राजकीय इण्टर कॉलेज प्रांगण में आयोजित कार्यक्रम में मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कुल रूपये 95 करोड़ 46 लाख की लागत की योजनाओें का लोकार्पण एवं शिलान्यास किया जिनमें रूपये 52 करोड़ 03 लाख की लागत की तीन योजनाओं का लोकार्पण एवं रूपये 43 करोड़ 44 लाख लागत की चार योजनाओं का शिलान्यास किया। मुख्यमंत्री ने अकरी बारजूला ग्राम समूह पम्पिंग पेयजल योजना, सीएचसी हिंडोलाखाल में ऑक्सीजन प्लांट व 33/11 केवी विद्युत उपसंस्थान चौरास का लोकार्पण किया। मुख्यमंत्री ने गढ़ी चौरास जाखणी ग्राम समूह पम्पिंग पेयजल योजना, अलकनंदा नदी पर सुपाणा में 130 मीटर स्पान के सेतु का निर्माण, 33/11 केवी विद्युत उपसंस्थान पट्टी अकरी-बारजूला व नगर पंचायत कीर्तिनगर में आधुनिक प्रतीक्षालय का निर्माण योजना का शिलान्यास किया। इस अवसर पर जनता को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री श्री धामी ने कहा कि हमारी सरकार युवा, महिला, बच्चों व बुजुर्गां सभी के अनुरूप कार्य कर रही है। उन्होंने कहा कि प्रदेश की जनता ने जो सपने देखें है हमारी सरकार उन सपनों को साकार कर रही है। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार हर क्षेत्र की समस्याओं के भी समाधान कर रही है। उन्होंने कहा कि क्षेत्र भ्रमण के दौरान मैंने नौजवानों की समस्याओं को देखा तथा निर्णय लिया कि हमारे द्वारा सभी रिक्त पड़े 24 हजार सरकारी पदों को भरा जायेगा और अभी तक 10 हजार से अधिक पदों पर भर्ती की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। मुख्यमंत्री श्री धामी ने कहा कि हमारे द्वारा उपनल कर्मचारियों व आशा कार्यकत्रियों की समस्याओं को भी सुना गया तथा उनके मानदेय में वृद्धि की गयी। हमारे द्वारा चारधाम यात्रा शुरू करने को लेकर भी हाई कोर्ट में मजबूत पैरवी की गयी, जिसका परिणाम यह रहा कि प्रदेश में चारधाम यात्रा शुरू हुई। स्वास्थ्य के क्षेत्र में भी हमारी सरकार बेहतर कार्य कर रही है। हमारे द्वारा रूपये 05 लाख तक निःशुल्क उपचार देने वाली अटल आयुष्मान उत्तराखण्ड योजना के अन्तर्गत 460 करोड़ रूपये अभी तक खर्च किये गये हैं। जिससे साढ़े तीन लाख लाभार्थियों को स्वास्थ्य लाभ मिला है। मुख्यमंत्री ने जनता से कहा कि हम प्रदेश को आपके बल पर आगे बढ़ा रहे हैं। हमारी सरकार तभी बलवती होगी जब आपका समर्थन मिलेगा। इस अवसर पर मुख्यमंत्री श्री धामी ने घण्टाकर्ण देवता लोस्तु को सातवां धाम घोषित करने, किलकिलेश्वर मन्दिर चौरास का सौन्दर्यीकरण करने, हिण्डोलाखाल ब्लॉक भवन के निर्माण, चौरास पुल से जाखणी-नैथाणा-रानीहाट-कीर्तिनगर तक आस्थापथ का निर्माण, जखलेश्वर महादेव जखण्ड का सौन्दर्यीकरण करने, कीर्तिनगर तहसील तहसील कर्मियों व प्रशासनिक अधिकारियों के लिए आवास बनाये जाने, राजकीय इण्टर कॉलेज किलकिलेश्वर विशेष मरम्मत व चहार दीवारी के निर्माण, राजकीय बालिका इण्टर कॉलेज किलकिलेश्वर का जीर्णाेद्धार, सैन्द्री-सुपाणा मोटर मार्ग का निर्माण, नैथाणा-बिन्दीगेरा-गुठांई- नैनीसैंण मोटर मार्ग का निर्माण, थापली मढी कॉलोनी में पीसी सड़क का नवीनीकरण, न्यूनीसैंण में पीडब्ल्यूडी गेस्ट हाऊस जीर्णाेद्धार, देवप्रयाग विधानसभा के स्वतन्त्रता संग्राम सेनानियों एवं शहीदों के नाम पर विद्यालयों व सड़कों का नाम रखे जाने की घोषणा की। रा.इ.का. किलकिलेश्वर में आयोजित समारोह में कृषि मंत्री सुबोध उनियाल, ऊर्जा मंत्री डॉ. हरक सिंह रावत, जिला पंचायत अध्यक्ष सोना सजवाण, विधायक देवप्रयाग विनोद कण्डारी, विनोद रतूड़ी, अब्बल सिंह विष्ट, केदार सिंह बिष्ट, सीडीओ नमामि बंसल, डीडीओ सुनील कुमार आदि उपस्थित थे।

विकासनगर की ओर आ रही यूटिलिटी खाई में गिरी, 13 लोगों की मौत, दो घायल

देहरादूना। देहरादून जिले के चकराता क्षेत्र में बड़ा सड़क हादसा हुआ है। यूटिलिटी वाहन के खाई में गिरने से करीब 13 लोगों की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि बच्चे समेत दो लोग गंभीर रूप से घायल हो गए। ग्रामीणों ने मौके पर खुद ही रेस्क्यू आपरेशन चलाया और शवों को खाई से बाहर निकाला। घायलों को उपचार के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है। मुख्यमंत्री ने जिलाधिकारी देहरादून को वाहन दुर्घटना की मजिस्ट्रीयल जांच के निर्देश दिए हैं। चकराता तहसील के भरम खत के बायला गांव से विकासनगर की ओर आ रही यूटिलिटी रविवार सुबह पीएमजीएसवाई के बायला-पिंगुवा मार्ग पर गांव से करीब 200 मीटर आगे अचानक अनियंत्रित हो गई। सड़क के पैराफिट को तोड़ते हुए वाहन करीब 400 मीटर नीचे खाई में गिर गया। हादसे में यूटिलिटी सवार 13 लोगों की मौके पर ही दर्दनाक मौत हो गई। वहीं, बायला निवासी पांच साल का बच्चा और पिंगुवा निवासी एक अन्य ग्रामीण गंभीर रूप से घायल हो गए। घटना की सूचना से बायला, बुल्हाड़, आसोई, बेगी और आसपास के ग्रामीण तुरंत मौके पर पहुंचे। ग्रामीणों ने स्वयं रेस्क्यू कर विकट खाई में फंसे शवों को किसी तरह बाहर निकाला। स्थानीय ग्रामीण घायलों को उपचार के लिए चकराता अस्पताल ले गए। मृतकों में मातबर सिंह (40) पुत्र भगत सिंह, पत्नी रेखा देवी (32) और डेढ़ वर्षीय पुत्री तनवी, रतन सिंह (45) पुत्र रतराम, जयपाल सिंह चौहान (40) पुत्र भाव सिंह, अंजलि (15) पुत्री जयपाल सिंह चौहान, नरेश चौहान (35) पुत्र भाव सिंह, साधराम (55) पुत्र गुलाब सिंह, दान सिंह (50) पुत्र रतू, ईशा(18) पुत्री गजेंद्र, काजल (17) पुत्री जगत वर्मा सभी निवासी बायला-चकराता, जीतू (35) पुत्र नामालूम निवासी क्वानू-मलेथा व हरिराम शर्मा (48) पुत्र नामालूम निवासी सिरमौर हिमाचल समेत तेरह लोग शामिल हैं। इसके अलावा घायलों में स्थानीय निवासी दो लोग शामिल हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गृहमंत्री अमित शाह और सीएम पुष्कर सिंह धामी ने वाहन दुर्घटना पर गहरा शोक व्यक्त किया है। उन्होंने ईश्वर से मृतकों की आत्मा को शांति और स्वजन को दुख सहने की शक्ति प्रदान करने की प्रार्थना की है। मुख्यमंत्री ने जिला प्रशासन को तेजी से राहत और बचाव कार्य करते हुए घायलों को तत्काल उपचार उपलब्ध कराने के निर्देश दिए हैं। प्रधानंत्री नरेन्द्र मोदी ने दर्दनाक हादसे में जान गंवाने वालों के परिजनों को पीएमएनआरएफ की ओर से दो-दो लाख रुपये, जबकि घायलों को 50-50 हजार मुआवजा देने का ऐलान किया है। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने चकराता क्षेत्र के अंतर्गत बुल्हाड़-बायला मार्ग पर हुई वाहन दुर्घटना पर गहरा शोक व्यक्त किया है। उन्होंने ईश्वर से मृतकों की आत्मा को शांति और स्वजन को दुख सहने की शक्ति प्रदान करने की प्रार्थना की है। मुख्यमंत्री ने जिला प्रशासन को तेजी से राहत व बचाव कार्य करते हुए घायलों को तत्काल उपचार उपलब्ध कराने के निर्देश दिए हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि घायलों के उपचार के लिए एवं मृतकों के स्वजन को राज्य सरकार द्वारा हर संभव मदद दी जाएगी। कैबिनेट मंत्री गणेश जोशी, आयुक्त गढ़वाल एवं जिलाधिकारी देहरादून घटना स्थल पर पहुंचे। मुख्यमंत्री ने जिलाधिकारी देहरादून को वाहन दुर्घटना की मजिस्ट्रीयल जांच के निर्देश दिए हैं। उन्होंने परिवहन विभाग को सख्त निर्देश दिए हैं कि वाहनों में ओवर लोडिंग न हो। यदि इस तरह की कोई बात आती है, तो संबधित अधिकारी पर कड़ी कारवाई की जाए।

Friday, 22 October 2021

एसजेवीएन अध्यक्ष नंदलाल शर्मा ने सीएम धामी से की भेंट, उत्तराखंड में जल विद्युत परियोजनाओं के क्षेत्र में निवेश की इच्छा जताई

देहरादून, गढ़ संवेदना न्यूज। एसजेवीएन के अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक नन्द लाल शर्मा ने उत्तराखंड में जल विद्युत परियोजनाओं के क्षेत्र में निवेश की इच्छा जताई है। यह इच्छा उन्होंने उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी से एक भेंट में जाहिर की। उन्होंने बताया की एसजेवीएन ऊर्जा के क्षेत्र में तेजी से बढ़ता हुआ उपक्रम है और वर्तमान में यह देश ही नहीं अपितु नेपाल और भूटान में भी जल विद्युत के साथ ही पवन उर्जा, ताप उर्जा एवं सौर उर्जा के क्षेत्र में कार्यरत है। उन्होंने बताया की उत्तराखंड के उत्तरकाशी जिले में निर्माणाधीन 60 मेगावाट की नैटवार मोरी जल विद्युत परियोजना निर्माण के अग्रिम चरण में है और इसे जून 2022 तक पूरा किए जाने की सम्भावना है। उन्होंने टौंस एवं यमुना वैली में अन्य परियोजनाए भी एसजेवीएन को आवंटित करने का अनुरोध किया। नन्द लाल शर्मा ने बताया कि एसजेवीएन का वर्ष 2020-21 टैक्स से पूर्व कुल लाभ 2168.67 करोड़ है जोकि अभी तक का सर्वाधिक है। उन्होंने बताया कि वर्तमान में एसजेवीएन के पास 8032 करोड़ का रिजर्व है। उन्होंने कहा की एसजेवीएन की वर्तमान में विद्युत उत्पादन क्षमता 2016.51 मेगावाट है इसके अतिरिक्त एसजेवीएन ट्रांसमिशन लाइन के निर्माण के क्षेत्र में भी कार्यरत है। उन्होंने बताया की एसजेवीएन के पोर्टफोलियो में वर्तमान में 11000 मेगावाट से अधिक की विद्युत परियोजनाएं है और हाल ही में एसजेवीएन को ईरेडा के माध्यम से 1000 मेगावाट की ग्रिड कनेक्टेड सोलर पीवी सौर परियोजना रिक्वेस्ट आफ प्रपोजल के माध्यम से प्राप्त हुई है।  नन्द लाल शर्मा ने बताया की निगम इसके अतिरिक्त उत्तर प्रदेश, बिहार और गुजरात में भी 345 मेगावाट के सोलर पावर प्रोजेक्ट के निर्माण में कार्यरत है। कंपनी लघु-मध्यम-दीर्घकालिक उद्देश्यों को पूरा करने के लिए एसजेवीएन ने 2023 तक 5000 मेगावाट, 2030 तक 12000 मेगावाट तथा 2040 तक 25000 मेगावाट प्राप्त करने का एक साझा विजन रखा है। नन्द लाल शर्मा ने उत्तराखंड में चल रही परियोजनाओं एवं अन्य नवीन परियोजनाओं के निर्माण को लेकर मुख्य सचिव एस. एस. सन्धु एवं सचिव (उर्जा) सौजन्या से भी भेंट की और उनसे एसजेवीएन को उत्तराखंड में निर्माणाधीन परियोजनाओं के शीघ्र निर्माण के लिए राज्य सरकार के अपेक्षित सहयोग एवं अन्य परियाजनाएं आवंटित करने का अनुरोध किया। इस अवसर पर एसजेवीएन के कार्यपालक निदेशक वी. शंकरनारायण, एस. के. सिंह मुख्य महाप्रबन्धक एवं परियोजना प्रमुख नैटवार मोरी जल विद्युत परियोजना, आशीष पंत वरिष्ठ अपर महाप्रबन्धक भी उपस्थित रहे।  

कार्य प्रमाणपत्र की बाध्यता हटाकर शपथ पत्र के आधार पर हो श्रमिक कार्ड जारीः मोर्चा

-कार्य प्रमाण पत्र की बाध्यता के चलते हो रहा श्रमिकों का आर्थिक शोषण -डेढ़-दो हजार खर्च करने के बावजूद भी मिलता है झूठा कार्य प्रमाण पत्र ! -कई-कई दिन चक्कर काटने के बाद जाकर मिलता है ठेकेदार से प्रमाण पत्र -श्रमिकों के हितों को लेकर मोर्चा देगा शासन में दस्तक
विकासनगर, गढ़ संवेदना न्यूज। जन संघर्ष मोर्चा अध्यक्ष एवं जीएमवीएन के पूर्व उपाध्यक्ष रघुनाथ सिंह नेगी ने पत्रकारों से वार्ता करते हुए कहा कि श्रम विभाग (कर्मकार कल्याण बोर्ड) की गाइड लाइन के अनुसार श्रमिक कार्ड बनवाने हेतु श्रमिक को किसी पंजीकृत ठेकेदार द्वारा प्रदत कार्य प्रमाण पत्र के आधार पर ही श्रमिक कार्ड जारी हो सकता है। उक्त अव्यवस्था के चलते गरीब श्रमिकों को कार्य/अनुभव प्रमाण पत्र हासिल करने हेतु लगभग डेढ़-दो हजार रुपए खर्च करने पड़ते हैं तथा कई-कई दिन ठेकेदार के चक्कर लगाने पड़ते हैं, तब जाकर कहीं झूठा प्रमाण पत्र विभागीय औपचारिकता पूर्ण करने के लिए मिल पाता है। कई श्रमिक कार्य प्रमाण पत्र के अभाव में अपना पंजीकरण नहीं करा पा रहे हैं, जिस कारण इनको विभाग की योजनाओं का लाभ नहीं मिल पा रहा है। नेगी ने कहा कि विभाग द्वारा मात्र शपथ पत्र के आधार पर पंजीकरण तो कर लिया जाता है, लेकिन जब श्रमिक द्वारा कार्ड लेने हेतु विभाग से अनुरोध किया जाता है तो उस समय कार्य/अनुभव प्रमाण पत्र की मांग की जाती है, जिस कारण इनको अपनी दिहाड़ी-मजदूरी से भी हाथ धोना पड़ता है। मोर्चा शीघ्र ही मजदूरों के हितों को लेकर कार्य प्रमाण पत्र की बाध्यता समाप्त कराने को लेकर शासन में दस्तक देगा। पत्रकार वार्ता में विजय राम शर्मा व सुशील भारद्वाज मौजूद थे।

Sunday, 17 October 2021

जवानों की शहादत का कोई मोल नहीं है केंद्र सरकार की नजरों मेंः मोर्चा

-देश की एजेंसियों को विरोधियों को कमजोर करने व चुनावी षड्यंत्र के काम से हटाए सरकार -उत्तराखंड के जवानों की दिनों-दिन हो रही शहादत पर सरकार मौन क्यों देहरादून/विकासनगर। जन संघर्ष मोर्चा अध्यक्ष एवं जीएमवीएन के पूर्व अध्यक्ष रघुनाथ सिंह नेगी ने कहा कि जम्मू कश्मीर में उत्तराखंड के जवानों की दिनों-दिन हो रही शहादत के मामले में प्रदेश की जनता में भारी आक्रोश व्याप्त है तथा जनता की खामोशी को सरकार हल्के में न ले। केंद्र सरकार हर मोर्चे पर विफल साबित हुई है, जिसका सबसे बड़ा कारण सरकार द्वारा देश की खुफिया व अन्य एजेंसियों को सिर्फ और सिर्फ विरोधियों को कमजोर करने, चुनावी षड्यंत्र एवं देश हित में आवाज उठाने वाले लोगों की आवाज को कुंद करने/कुचलने के काम में लगाया हुआ है ठीक उसी प्रकार जैसे विपक्षियों को सीबीआई/ईडी/सीबीडीटी/विजिलेंस आदि से डरा धमकाकर उनको कुचलने का काम किया जा रहा है। अगर इतना ध्यान केंद्र सरकार ने आतंकवाद व अन्य मामलों में दिया होता तो आज देश से आतंकवाद काफी हद तक समाप्त हो गया होता। नेगी ने कहा कि केंद्र सरकार ने जब सत्ता संभाली थी, उस समय बड़े-बड़े वादे किए थे कि देश से आतंकवाद खत्म कर देंगे, लेकिन जिस तरह से रोजाना उत्तराखंड व देश के अन्य प्रांतों के जवानों की शहादत हो रही है, उससे प्रतीत होता है कि देश की सारी एजेंसियां को अन्य किसी काम पर लगाकर सिर्फ और सिर्फ अपनी बुलंदी कायम करने जैसे झूठे कामों में लगाया हुआ है। नेगी ने कहा कि ’गत वर्ष स्वयंसेवक संघ के मोहन भागवत जी ने एक बयान देकर कहा था कि जब देश में युद्ध नहीं हो रहा है तो जवानों की शहादत क्यों द्य’ क्या सरकार को श्री भागवत के मंतव्य एवं उनकी भावनाओं की भी कोई चिंता नहीं है। जवानों ने अपना सर्वाेच्च बलिदान देकर सिद्ध कर दिया है कि देश पर दुश्मनों की नजर नहीं पड़ने देंगे। नेगी ने कहा कि इस मीडिया जनित सरकार ने जवानों की शहादत के मामले में पूर्ववर्ती सरकार को भी पछाड़ दिया है द्य इस सरकार के कार्यकाल में जवानों की दोगुनी शहादत हुई है। मोर्चा केंद्र सरकार से मांग करता है कि देश के एजेंसियों को निजी स्वार्थों में न लगाकर देश हित में लगाए।

Thursday, 14 October 2021

शारदीय नवरात्र की नवमी पर सीएम धामी ने किया कन्या पूजन

देहरादून। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने गुरुवार को शारदीय नवरात्र की नवमी के पावन अवसर पर मुख्यमंत्री आवास में विधि-विधान से कन्या-पूजन किया। इस दौरान उन्होंने नौ दुर्गा की प्रतीक नौ कन्याओं को भोजन कराया।

Wednesday, 13 October 2021

येलो हिल्स स्टोर एवं रेस्टोरेंट का सीएम धामी ने किया उद्घाटन

देहरादून, गढ़ संवेदना न्यूज नेटवर्क। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने बुधवार सायं को अजबपुर खुर्द में महिला उत्थान एवं बाल कल्याण संस्था के येलो हिल्स स्टोर एवं रेस्टोरेंट (द ऑर्गेनिक गोल्ड) का उद्घाटन किया। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि महिला उत्थान एवं बाल कल्याण संस्था के 3 वर्ष पूर्ण होने पर संस्था से जुड़ी सभी महिलाएं बधाई के पात्र हैं। समाज में महिलाओं के उत्थान के लिए इस संस्था ने महत्वपूर्ण कार्य किए हैं। स्वयं के लिए तो हर कोई कार्य करता है, परंतु जब दूसरों को आगे बढ़ाने का कार्य किया जाता है और उस कार्य में जो संतुष्टि मिलती है वह बहुमूल्य है। उन्होंने कहा कि मनुष्य का जीवन अद्भुत है और जब यह जीवन दूसरों के कल्याण के लिए लगाया जाता है तो वह नर सेवा होती है अर्थात नारायण सेवा होती है। मुख्यमंत्री ने कहा कि विगत दिनों प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जब ऋषिकेश आए थे तो उन्होंने कहा था कि अभी उत्तराखंड 21 साल का हुआ है और हमारा लक्ष्य 2025 में उत्तराखंड को नंबर वन एवं एक आदर्श राज्य बनाने का है। और इसके लिए हम सभी को प्रयास करना होगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रकृति ने हमारे राज्य को अद्भुत खूबसूरती से नवाजा है। हमारा प्रयास है कि शिक्षा के हब के साथ-साथ प्राकृतिक उत्पादों के हब के रूप में भी अपना प्रदेश स्थान बनाए। हम प्रयास कर रहे हैं कि विश्व में उत्तराखंड आध्यात्मिक व सांस्कृतिक राजधानी के रूप में अपनी पहचान बनाए। उन्होंने कहा कि महिलाओं के उत्थान एवं स्थानीय उत्पादों को आगे बढ़ाने का कार्य सरकार तो कर ही रही है हम सभी को भी अपने अपने स्तर से आगे आकर प्रयास करना होगा। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने संस्था द्वारा प्रकाशित पहल पत्रिका का विमोचन भी किया। कार्यक्रम में कैबिनेट मंत्री डॉ हरक सिंह रावत ने कहा की उत्तराखंड के ऑर्गेनिक उत्पादों को सही मार्केट मिले यही हमारा प्रयास है और जिस दिन विदेशों में हमारे उत्पाद अपनी पहचान बना लेंगे उस दिन हमारा यह प्रयास सफल हो जाएगा। उन्होंने कहा कि उत्तराखंड की तकदीर खेतों और खलिहानों के माध्यम से लिखी जानी है। इस मौके पर देश-विदेश में उत्तराखंड का प्रतिनिधित्व कर ग्लैमर के शिखर पर पहुंचकर महिला उत्थान एवं बाल कल्याण संस्थान की अध्यक्षा अनुकृति गुसाईं रावत ने बताया कि 12000 से भी ज्यादा महिलाएं फूड प्रोसेसिंग, फैशन डिजाइनिंग, हैंडीक्राफ्ट, ब्यूटीशन जैसे अलग-अलग कोर्स में प्रशिक्षण देकर महिलाओं को सशक्त बनाया गया है। साथ ही उनको रोजगार भी दिया गया है। उनके द्वारा प्रशिक्षण के उपरांत बनाए गए विभिन्न हैंडीक्राफ्ट एवं फूड प्रोसेसिंग के प्रोडक्ट को मार्केट प्रदान करने के लिए यलो हिल्स ब्रांड की ओपनिंग की गई है। जिसके माध्यम से वर्तमान में राष्ट्रीय स्तर पर मार्केटिंग की जा रहीं है इस अवसर पर कैबिनेट मंत्री डॉ० धन सिंह रावत, स्वामी यतीश्वरानंद, विधायक उमेश शर्मा काऊ, खजान दास, राजकुमार, मेयर देहरादून सुनील उनियाल गामा, मेयर ऋषिकेश अनीता ममगाई तथा परमार्थ निकेतन के स्वामी चिन्मयानंद, अनुकृति गुसाईं रावत सहित गणमान्य उपस्थित थे।

Wednesday, 6 October 2021

पौष्टिक संतुलन आहार से स्वस्थ रहेंगे बच्चेः डॉ. सोनी

देहरादूना। राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य दिवस पर सरस्वती शिशु मंदिर मजगांव में पर्यावरणविद् वृक्षमित्र डॉ त्रिलोक चंद्र सोनी के नेतृत्व में तथा प्रधानाचार्य महावीर सिंह धनोला के अध्यक्षता में बच्चों के अच्छा स्वास्थ्य वृद्धि के लिए राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य दिवस मनाया गया। इसका उद्देश्य स्वस्थ विकास को बढ़ावा देना और बाल मृत्यु को समाप्त करना है। पर्यावरणविद् वृक्षमित्र डॉ त्रिलोक चंद्र सोनी ने कहा संतुलन पौष्टिक आहार से बच्चे स्वस्थ होंगे जिसके लिए हमें उन्हें फल, पौष्टिक आहार देना चाहिए पौष्टिक आहार ना मिलनव से कई बच्चे कुपोषण के शिकार हो जाते हैं कुपोषण के कारण कई बच्चों को अपनी जांन तक गवानी पड़ती हैं। बच्चे स्वस्थ रहे जिसके लिए सरकार ने कई योजनाएं चलाई हैं जिसमे प्रधानमंत्री पौष्टिक आहार योजना, आंगनवाड़ी केन्द्र व स्वास्थ्य केंद्रों द्वारा संचालित किए जाते हैं ताकि बच्चों को संतुलित आहार मिल सके और वे स्वथ्य रह सके। कहा स्वस्थ शरीर में स्वस्थ मस्तिष्क तभी हो सकता हैं जब हम अपने बच्चों को पौष्टिक संतुलन आहार देंगे। प्रधानाचार्य महावीर सिंह धनोला ने बच्चों को स्वच्छ रहने के लिए कहा। कहा गंदगी हमारे शरीर को बीमार करती हैं हमें अपने आसपास स्वच्छता बनाये रखना चाहिए। कार्यक्रम में अनिल हटवाल, रोहित, विजेंद्र, हुकुम सिंह कण्डारी, सुमति डबरियाल, सुनीता कण्डारी, सीमा उनियाल, अंशिका, अंकिता, आयुष धनोला, अभिषेक, दीपक हटवाल, राजपाल आदि सम्मलित हुए।पौष्टिक संतुलन आहार से स्वस्थ रहेंगे बच्चेरू डॉ सोनी। देहरादूनरू राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य दिवस पर सरस्वती शिशु मंदिर मजगांव में पर्यावरणविद् वृक्षमित्र डॉ त्रिलोक चंद्र सोनी के नेतृत्व में तथा प्रधानाचार्य महावीर सिंह धनोला के अध्यक्षता में बच्चों के अच्छा स्वास्थ्य वृद्धि के लिए राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य दिवस मनाया गया। यह दिवस अक्टूबर माह के पहले सोमवार को मनाया जाता हैं जिसका उद्देश्य स्वस्थ विकास को बढ़ावा देना और बाल मृत्यु को समाप्त करना है। पर्यावरणविद् वृक्षमित्र डॉ त्रिलोक चंद्र सोनी ने कहा संतुलन पौष्टिक आहार से बच्चे स्वस्थ होंगे जिसके लिए हमें उन्हें फल, पौष्टिक आहार देना चाहिए पौष्टिक आहार ना मिलनव से कई बच्चे कुपोषण के शिकार हो जाते हैं कुपोषण के कारण कई बच्चों को अपनी जांन तक गवानी पड़ती हैं। बच्चे स्वस्थ रहे जिसके लिए सरकार ने कई योजनाएं चलाई हैं जिसमे प्रधानमंत्री पौष्टिक आहार योजना, आंगनवाड़ी केन्द्र व स्वास्थ्य केंद्रों द्वारा संचालित किए जाते हैं ताकि बच्चों को संतुलित आहार मिल सके और वे स्वथ्य रह सके। कहा स्वस्थ शरीर में स्वस्थ मस्तिष्क तभी हो सकता हैं जब हम अपने बच्चों को पौष्टिक संतुलन आहार देंगे। प्रधानाचार्य महावीर सिंह धनोला ने बच्चों को स्वच्छ रहने के लिए कहा। कहा गंदगी हमारे शरीर को बीमार करती हैं हमें अपने आसपास स्वच्छता बनाये रखना चाहिए। कार्यक्रम में अनिल हटवाल, रोहित, विजेंद्र, हुकुम सिंह कण्डारी, सुमति डबरियाल, सुनीता कण्डारी, सीमा उनियाल, अंशिका, अंकिता, आयुष धनोला, अभिषेक, दीपक हटवाल, राजपाल आदि सम्मलित हुए।

भाजपा कर रही है लोकतंत्र की हत्याः मनीष

देहरादून। पूर्व राज्य मंत्री व अखिल भारतीय पंचायत परिषद के प्रदेश संयोजक मनीष कुमार ने कहा कि भाजपा की सरकार लोकतंत्र की हत्या करने में लगी हुई है। निहत्थे आंदोलनकारी किसानों पर केंद्रीय मंत्री के लड़के ने गाड़ी चढ़ाकर हत्या की, इस घटना की जितनी भी निंदा की जाए कम है। पूरे देश ने देखा है किस प्रकार से उसने अपनी गाड़ी से बेगुनाह किसानों को रौंदा डाला, उसके बावजूद ना तो उसके खिलाफ कोई कार्यवाही की गई और ना ही केंद्रीय मंत्री को उसके पद से हटाया गया। किसानों का दुख दर्द बांटने जा रही कांग्रेस की राष्ट्रीय नेता प्रियंका गांधी को भी जिस प्रकार से हिरासत में लिया गया है और उनके साथ बदसलूकी की गई है धक्का-मुक्की की गई है व उनके साथ राज्यसभा सांसद दीपेंद्र हुड्डा के साथ भी दुर्व्यवहार किया गया है। उसकी जितनी भी निंदा की जाए कम है यह भाजपा सरकार लोकतंत्र में विश्वास नहीं कर रही है कोई गरीब व आंदोलनकारी किसानों का दुख दर्द बांटने जाएगा तो यह लोग उसके संग किस प्रकार का दुर्व्यवहार करेंगे, प्रियंका गांधी को अवैध रूप से हिरासत में रखना भी लोकतंत्र की हत्या करने जैसा है आखिर इन्हें एक महिला से इतना डर क्यों लग रहा है क्यों नहीं उन्हें घटनास्थल पर जाने दिया गया जिस प्रकार से यह सरकार हिटलर शाही कर रही है उसकी जितनी भी निंदा की जाए कम है स प्रियंका गांधी को अवैध रूप से रखने और किसानों की हत्या से स्पष्ट दिखाई दे रहा है कि किस प्रकार से भाजपा सरकार कानून की धज्जियां उड़ा रही है कांग्रेस का एक-एक कार्यकर्ता देश में आंदोलन कर रहे किसानों मजदूरों और गरीब तबके के लोगों के साथ हैं और अपनी राष्ट्रीय नेता प्रियंका गांधी के साथ खड़ा है वह दिन दूर नहीं जब भाजपा के इन कृतियों का जवाब जनता इनको सत्ता विहीन करके सबक सिखाएगी, देश की जनता देख रही है कि किस प्रकार से भाजपा की सरकारों और नेताओं द्वारा अहिंसक आंदोलन कर रहे किसानों के साथ कितना और कैसा दुर्व्यवहार किया जा रहा है स एक तो तीनों कृषि काले कानून किसानों पर जबरदस्ती थोपे जा रहे हैं और दूसरा किसानों के अहिंसात्मक आंदोलन को कुचलने के लिए भाजपा के लोग ऐसी घटनाओं को अंजाम दे रहे हैं इन सब के लिए प्रधानमंत्री को देश की जनता से माफी मांगनी चाहिए।

गुरुद्वारा पटेलनगर के हरमोहिंद्र सिंह पुनः प्रधान चुने गये

देहरादूना। गुरुद्वारा श्री गुरु हरिकृष्ण साहिब, पटेलनगर में हुए चुनाव में सर्वसम्मति से स. हरमोहिंदर सिंह को दुबारा प्रधान चुना गया। गुरुद्वारा साहिब में आम बैठक का आयोजन किया गया, जिसमें चुनाव प्रक्रिया को पूरा करते हुए चुनाव करवाये गये। संगत ने स. मनजीत सिंह एवं स. हरमोहिंदर सिंह के नाम प्रस्तावित किये, स. हरमोहिंदर सिंह को संगत ने दो तिहाई से अधिक मत देकर दुबारा उन्हें प्रधान चुन लिया। जयकारों के साथ हैड ग्रंथी भाई शमशेर सिंह ने गुरु घर से सरोपा देकर सम्मानित किया एवं उपस्थित संगत ने उन्हें वधाई एवं शुभकामनायें दी। उनका कार्यकाल 3 वर्ष का रहेगा। इस अवसर पर चुने गये प्रधान स. हरमोहिंदर सिंह ने कहा कि वे बाकी पूरी कमेटी का गठन कुछ ही दिनों में कर के संगत को इस की सूचना दे दी जाएगी।

पितृ विषर्जन पर कोरोना व आपदा में मृत आत्माओं की शान्ति के लिए किया कार्यक्रम

देहरादूना। वृक्ष मित्र अभियान के तहत कोरोना, आपदा तथा अपने पितरों के आत्मा शान्ति के लिए दीप प्रज्वलित करके मजगांव में सर्व पितृ अमावस्या पर श्रदांजलि दी गई यह कार्यक्रम वृक्षमित्र डॉ त्रिलोक चंद्र सोनी द्वारा किये गया, जिसमें पितरों व कोरोना में मरे लोगों के आत्मा शांति के लिए दीप प्रज्वलित कर प्रार्थना की गई। डॉ सोनी द्वारा हर पितृ विषर्जन पर पितरों के आत्मा शान्ति के लिए दीप जलाकर श्रद्धांजलि दी जाती हैं। पर्यावर्णविद् वृक्षमित्र डॉ त्रिलोक चंद्र सोनी ने कहा पितृ पक्ष के आखरी दिन को पितृ विसर्जन अमावस्या मनाई जाती है जिसे सर्व पितृ अमावस्या या पितृ विसर्जन अमावस्या के नाम से भी जानते हैं। इस दिन उन लोगों का श्राद्ध किया जाता है, जिनके परिजनों को पितरों की देहांत तिथि ज्ञात नहीं होती है या भूल चुके हो। इस दिन भोजन को पितरों को अर्पित किया जाता है मान्यता है कि श्राद्ध कर्म करने से पितर प्रसन्न होते हैं और उनका आशीर्वाद मिलता है इसलिए श्राद्ध किया जाता हैं हमने सभी के पितरों व कोरोना में मृत्यु लोगों को श्रद्धांजलि दी है ताकि उनकी आत्मा को शांति मिल सके। महावीर धनोला ने कहा आज हम जो हैं अपने पितरों के वजह है हमें श्राद्धरूप में उन्हें याद करना चाहिए ताकि उनका आशीर्वाद बना रहे कार्यक्रम में वीरचंद कुमाई, गिरीश चंद्र कोठियाल, गुड्डी देवी, आयुष धनोला, प्रदीप धनोला, राधिका, ऋषिक चंद कुमाई, दुर्गेश्वरी, शिवांगी आदि सम्मलित हुए।

धरातल पर उतर रही है सीएम की घोषणाएंः चौहान

देहरादूना। भाजपा के प्रदेश मीडिया प्रभारी मानवीर चौहान ने कहा कि प्रदेश में मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी वित्तीय स्थिति के अनुरूप घोषणाएं कर रहे हैं और उनकी सभी घोषणाएं पूरी हो गई है या प्रगति पर है। उन्होंने विपक्ष के द्वारा खनन और नियुक्तियो को लेकर आरोप प्रत्यारोप को दुर्भावना से प्रेरित बताया। श्री चौहान ने कहा कि कांग्रेस को पूर्ववर्ती सरकार के कार्यकाल के आलोक में झाँकना चाहिए कि किस तरह नियुक्तियो में लेन देन हुआ और चहेतो को कैसे लाभ पहुचाकर बेरोजगारों के हको पर डाका डाला गया। विधान सभा में हुई नियुक्ति इसका उदाहरण हैं। सरकार खनन को राजस्व का स्रोत मानती हैं,लेकिन भाजपा के कार्यकाल में अवैध खनन को संरक्षण नहीं मिला। जबकि कांग्रेस सरकार में खनन की नीति भी अपने लोगों की सुविधा के हिसाब से बनायीं जाती थी। उन्होंने कहा कि लोकतंत्र में संविधान के अनुरूप सभी अधिकार सुनिश्चित किये गये हैं और किसी को भी कानून के उल्लंघन की इजाजत नहीं हो सकती। कानून सुरक्षा और व्यवस्था बनाए रखने के लिए है और उसमें किसी तरह शक करना मंशा को दर्शाता हैं। श्री चौहान ने कहा कि कांग्रेस रचनात्मक विपक्ष के बजाय उकसाने की राजनीति कर रही है जो दुर्भाग्यपूर्ण है। यही कारण है कि आज देश में हासिये पर खिसकती जा रही है।

सीएम धामी अनंत कुकरेती के परिजनों को सांत्वना देने पहुंचे उनके घर

देहरादूना। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी जोगीवाला स्थित गंगोत्री विहार में स्वर्गीय अनंत कुकरेती के परिजनों से मुलाकात करने पहुँचे। मुख्यमंत्री श्री धामी ने शोक संतप्त परिवार को सांत्वना देते हुए दिवंगत आत्मा के शांति की कामना की। इस दौरान कैबिनेट मंत्री स्वामी यतिश्वरानंद एवं मेयर सुनील उनियाल गामा मौजूद रहे। मुख्यमंत्री श्री धामी ने कहा कि स्वर्गीय अनंत कुकरेती की स्मृति में शहीद द्वार बनाया जाएगा।

सीएम धामी ने पीएम मोदी के दौरे को लेकर ऋषिकेश एम्स में व्यवस्थाओं का जायजा लिया

देहरादून। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने बुधवार को ऋषिकेश एम्स पहुँचकर प्रधानमंत्री के दौरे संबंधी व्यवस्थाओं का औचक निरीक्षण किया। मुख्यमंत्री ने आयोजन स्थल का जायजा लेते हुए एम्स प्रशासन और अधिकारियों से व्यवस्थाओं की विस्तृत जानकारी ली। मुख्यमंत्री श्री धामी ने निर्देश दिए कि कार्यक्रम स्थल पर सभी व्यवस्थाओं को समय से पहले पूरा कर लिया जाए। प्रधानमंत्री के प्रोटोकॉल के अनुरूप व्यवस्था भलि भाँति चेक कर ली जाएँ और कोविड प्रोटकॉल का पूरा ध्यान रखा जाए। इस दौरान विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद्र अग्रवाल, कैबिनेट मंत्री स्वामी यतिश्वरानंद, मेयर सुनील उनियाल गामा, सचिव वित्त अमित नेगी, सचिव सूचना पंकज पांडेय, आईजी इंटेलीजेंस संजय गुंज्याल, प्रधानमंत्री कार्यालय के अधिकारी समेत जिला प्रशासन और पुलिस के अधिकारी मौजूद रहे। इस दौरान मीडिया से बात करते हुए मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि हमारे लिए यह सौभाग्य की बात है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देवभूमि से उत्तराखंड समेत देश के विभिन्न ऑक्सीजन प्लांट्स का शुभारम्भ कर रहे हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री का उत्तराखंड से विशेष लगाव रहा है, इसी का परिणाम है कि उत्तराखंड को ऑल वेदर रोड, ऋषिकेश-कर्णप्रयाग रेल लाइन, उडान योजना से एयर कनेक्टिविटी को मजबूत करने समेत केदारनाथ पुनर्निर्माण की सौग़ात दी है। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री जब भी देव भूमि आते हैं तो हम सब को जनसेवा के कार्य करने की नई ऊर्जा मिलती है। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री का यह दौरा उत्तराखंड के विकास की लिए बेहद लाभकारी सिद्ध होगा।

Tuesday, 5 October 2021

विकास कामों के लिए स्वीकृत किये 40 लाख

टिहरी। ग्राम पंचायत ओड़ाड़ा, पसर एवं तमियार का भ्रमण कर गावों के सर्वांगीण विकास के लिए कैबिनेट मंत्री सुबोध उनियाल ने 40 लाख रूपए तक के कार्यों को स्वीकृति प्रदान की। इस दौरान कैबिनेट मंत्री ने राजकीय प्राथमिक विद्यालय ओड़ाड़ा में सर्वाधिक अंक प्राप्त करने वाले छात्र-छात्राओं को भी पुरस्कृत किया। ग्राम पंचायत ओड़ाड़ा, पसर एवं तमियार के भ्रमण के बाद संयुक्त रूप से आयोजित कार्यक्रम में ग्रामीणों ने कैबिनेट मंत्री सुबोध उनियाल का गर्मजोशी से स्वागत किया। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि यहां ग्रामीणों में विकास कार्यों के प्रति ललक देखने को मिली है। पूर्व यह क्षेत्र सड़क व शिक्षा विहीन था। मगर अब विकास कार्यों के बाद यह क्षेत्र सड़क व शिक्षा दोनों से जुड़ चुका है। राजकीय प्राथमिक विद्यालय ओड़ाड़ा के छात्र-छात्राओं को पुरस्कृत करते हुए कहा कि आने वाले समय में यह बच्चे ही राष्ट्र के विभिन्न क्षेत्रों में जाकर अपने अभिभावकों का नाम रोशन करेंगे। इस दौरान ग्रामीणों की ओर विकास के लिए विभिन्न कार्यों के लिए सौंपे गए 90 प्रतिशत प्रस्तावों को उन्होंने स्वीकृति प्रदान की। जिस पर ग्रामीणों ने कैबिनेट मंत्री का आभार जताया। मौके पर ब्लॉक प्रमुख राजेन्द्र भंडारी, नगर पालिका मुनिकीरेती-ढालवाला अध्यक्ष रोशन रतूड़ी, प्रधान ओड़ाड़ा बबली रावत, प्रधान पसर नीलम रावत, पूर्व प्रधान नैन सिंह, वीर सिंह रावत, शूरवीर भंडारी, नगर पंचायत गजा अध्यक्ष मीना खाती, राम सिंह नेगी, किशन सिंह रावत, ज्ञान सिंह रावत, सिद्धार्थ राणा, मनीष डिमरी, गिरवीर नेगी, रमेश पंवार, चंद्रशेखर पंवार, राजेंद्र रावत, जगत सिंह नेगी आदि उपस्थित थे।

पितृ अमावस्या पर स्नान के लिए हरकी पैड़ी का रहेगा ट्रैफिक डायवर्ट

हरिद्वार। अमावस्या स्नान को देखते हुए हरिद्वार में बुधवार सुबह 4 बजे से यातायात प्लान स्नान की समाप्ति तक लागू रहेगा। ट्रैफिक पुलिस ने बाहरी राज्यों से आने वाले वाहनों के लिए पार्किंग की व्यवस्था की है। साथ ही शहर के अंदरूनी मार्गों पर जाम से बचने को भी यातायात प्लान लागू किया है। अमावस्या स्नान के दिन बड़े पैमाने पर लोग पित्र विसर्जन को भी हरिद्वार पहुंचते हैं। ग्रामीण क्षेत्रों से लोग ट्रैक्टर ट्रालियों में सवार होकर हरिद्वार आते हैं। दिल्ली, मेरठ मुज्जफरनगर की ओर से हरिद्वार आने वाले ट्रैक्टर ट्राली व बस ऋषिकुल मैदान में पार्क होंगे। छोटे वाहनों कार व जीप हरिराम इंटर कालेज मैदान, गड्ढा पार्किंग, रोडीबेलवाला व पंतद्वीप पार्किंग में पार्क किए जाएंगे। बिजनौर और नजीबाबाद की ओर से आने वाले ट्रैक्टर ट्राली व बस बैरागी कैंप पार्किंग मैदान में पार्क होंगे। देहरादून-ऋषिकेश की ओर से आने वाले ट्रैक्टर ट्राली और बसें जयराम मोड़ कट से टर्न कराकर पंतद्वीप पार्किंग में खड़ी की जाएंगी। तुलसी चौक से देवपुरा चौक के मध्य किसी भी प्रकार का वाहन प्रतिबंधित रहेगा। शंकराचार्य चौक से तुलसी चौक की ओर लोकल पब्लिक वाहनों को छोड़कर बाहरी राज्यों के वाहन प्रतिबंधित रहेंगे। शिवमूर्ति चौक अंदर से ऑटो, विक्रम, ई रिक्शा वाहन तुलसी चौक की ओर प्रतिबंधित रहेंगे। चंडीचौक ललतारो पुल से वाल्मीकि चौक की ओर लोकल पब्लिक वाहनों को छोड़कर सभी बाहरी राज्यों के वाहन प्रतिबंध रहेंगे।

आम आदमी पार्टी कार्यकर्ताओं ने फूंका केंद्र सरकार का पुतला’

’देहरादून।’ कैंट विधानसभा में रविंद्र सिंह आनंद प्रदेश प्रवक्ता आम आदमी पार्टी के नेतृत्व में सैकड़ों का संख्या कैंट विधानसभा के कार्यकर्ताओं ने लखीमपुर खीरी में केंद्रीय राज्य मंत्री अजय मिश्रा के पुत्र आषीश मिश्रा द्वारा चार किसानों की निर्मम हत्या को लेकर के केंद्र सरकार द्वारा एवं उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा कोई कार्रवाही नहीं किए जाने पर बल्लीवाला चौक पर केंद्र सरकार का पुतला दहन किया एवं जोरदार प्रदर्शन किया। इस मौके पर आप प्रदेश प्रवक्ता रविंद्र सिंह आनंद ने कहा कि बीजेपी ने लोकतंत्र की हत्या की है और तानाशाही में आंग्रेजी हुकूमत को बहुत पीछे छोड़ दिया है। उन्होंने कहा कि जिस प्रकार से मोदी सरकार के राज्य मंत्री के पुत्र ने प्रदर्शन कर रहे किसनों पर गाड़ी चढ़ा कर निर्मम हत्या की उससे साफ जाहिर होता है कि भाजपा सरकार की नजर में किसानों एवं आम आदमी की कोई वकत नहीं है। वे चाहे तो कभी भी इन्हें कीड़ेे मकोड़े की तरह मसल सकते है। रविंद्र आनंद ने कहा िकइस इस प्रकार की तानाशाही बहुत अधिक दिन नहीं चलेगी। अब जनता ने देख लिया है कि भाजपा द्वारा किस प्रकार के कुकृत्य किए जा रहे है, जिसमें निर्दाेश लोगांे की निर्मम हत्याएं करवाई जा रही है। उन्होंने कहा कि बीजेपी की झूठ का मुखौट उतर चुका है और जनता समझ चुकी है कि यह जनविरोधी पार्टी है। उन्होंने इसके लिए केंद्रीय राज्य मंत्री अजय मिश्रा को तत्काल बर्खास्त किए जाने और उनके पुत्र पर लगे आरोपों और पुलिस चार्ज के चलते तुरंत गिरफ्तार करने की मांग की। रविंद्र सिंह आनंद ने कहा कि जब तक किसानों को न्याय नहीं मिलेगा तब तक वे ऐसे की धरने प्रदर्शन करते रहेंगे। केंद्र सरकार अपने मंत्रियों के माध्यम से किसानों के आंदोलन को कुचलना चाहती है। उन्होंने कि जल्द ही किसानों के हत्यारोपी आषीश मिश्रा की गिरफतारी नहीं की गई तो आने वाले समय पर केंद्र सरकार एवं राज्य सरकार एवं भाजपा सरकार के खिलाफ उग्र प्रदर्शन करेंगे जिसकी उत्तरदायी राज्य सरकारें होंगी। उन्होंने योगी पर भी निशाना साधते हुए कहा कि उन्होंने भगवा चोला पहन कर हत्याएं करवाने का काम किया है। वे हत्यारों को शरण देने वाले है। उन्होंने कहा कि मात्र मुआवजे देने से योगी का दोश कम नहीं हो जाता उन्हे चाहिए कि आषीश मिश्रा को जल्द से जल्द सलाखों के पीछे भेजें। इस दौरान बीजेपी हत्यारी है, इसको सत्ता प्यारी है एवं किसानों का शोषण बंद करो नारे गूंजते रहे। नारेबाजी करने वालों में कैंट विस की महासचिव अनुदीप कौर पराशर, युवा मोर्चा अध्यक्ष हरकरन सिंह बाजवा, सर्कल हैड मुकेश सिंह, विशाल बंसल, जसपाल सिंह, राजेंद्र बग्गा, सतेंद्र, कौसर, नगमा, शमा, रिहाना परवीन, अब्दुल जब्बार, वार्ड अध्यक्ष जितेंद्र बहल, वार्ड अध्यक्ष विनोद भट्ट सहित सैकड़ों की संख्या में लोग मौजूद थे।

श्रीनगर की चार पेयजल योजनाओं को शीघ्र मिलेगी स्वीकृतिः डॉ. धनसिंह रावत

देहरादून। श्रीनगर विधानसभा क्षेत्र की चार महत्वकांक्षी पेयजल योजनाओं को राज्य जल एवं स्वच्छता मिशन के अंतर्गत शीघ्र स्वीकृति प्रदान मिलेगी। इसके लिए पेयजल निगम के अधिकारियों को जरूरी निर्देश दे दिये गये हैं। विधानसभा क्षेत्र में जल जीवन मिशन के अंतर्गत 128 पेयजल योजनाओं का निर्माण कार्य चल रहा है। इनके शीघ्र पूरा होने पर क्षेत्र की पेयजल समस्याएं दूर हो जायेंगी। प्रधानमंत्री के स्वच्छ भारत अभियान को प्रभावी बनाने के उद्देश्य से जल जीवन मिशन के अंतर्गत क्षेत्र के 10 स्थानों पर सार्वजनिक शौचालयों का निर्माण किया जायेगा जो पूरी तरह आधुनिक सुविधाओं से युक्त होंगे। आंगनबड़ी, स्कूल एवं अस्पतालों में पेयजल कनेक्शन उपलब्ध कराये जायेंगे। क्षेत्र के बेरोजगार युवाओं को मिशन के तहत फीटर एवं पलम्बर का प्रशिक्षण भी दिया जायेगा। कैबिनेट मंत्री डॉ. धन सिंह रावत ने आज सचिवालय स्थिति डीएमएमसी सभागार में श्रीनगर विधानसभा क्षेत्र के अंतर्गत निर्माणाधीन पेयजल योजनाओं की समीक्षा बैठक में अधिकारियों को क्षेत्र की प्रस्तावित चार महत्वकांक्षी पेयजल योजनाओं का एक सप्ताह के भीतर शासनादेश जारी करने के निर्देश दिये। जिसमें विडोलघाट-पाबौं पम्पिंग योजना, कण्डारस्यूं पम्पिंग योजना, एनआईटी सुमाड़ी पेयजल योजना एवं भीड़ा-गंगाऊं से हंसूड़ी-चौरीखाल पेयजल योजना शामिल है। जबकि कैन्यूर-थलीसैंण पेयजल योजना को पहले ही स्वीकृति मिल चुकी है। डॉ. रावत ने बताया कि क्षेत्र की पेयजल समस्याओं को दूर करने के लिए जल जीवन मिशन के अंतर्गत 128 पेयजल योजनाएं निर्माणाधीन है, जिसके लिए रूपये 1748 लाख की धनराशि जारी की गई है। इसमें से 22 पेयजल योजनाओं का कार्य पूरा हो चुका है। उन्होंने बताया कि प्रधानमंत्री के स्वच्छ भारत अभियान को प्रभावी बनाने के उद्देश्य से जल जीवन मिशन के अंतर्गत विधानसभा क्षेत्र के 10 स्थानों पर सार्वजनिक शौचालयों का निर्माण किया जायेगा। जिसमें जगतपुरी, बुंगीधार, उफरैंखाल, तिरपालीसैंण, चौरा, खिर्सू, चौबट्टा, देवलगढ़, चौरीखाल एवं बूंखाल शामिल है। सभी सर्वाजनिक शौचालय आधुनिक सुविधाओं से युक्त होंगे। इसके अलावा आंगनबाडी, स्कूल एवं अस्पतालों में पेयजल कनेक्शन उपलब्ध करायें जायेंगे। डॉ. रावत ने कहा कि विधानसभा क्षेत्र के अंतर्गत ऐसे लोगों के शौचालय स्वीकृत किये जायेंगे से पूर्व में इस सुविधा से वंचित रह गये। बैठक में डॉ. रावत ने जल जीवन मिशन के अंतर्गत बेरोजगार युवाओं को प्लम्बर एवं फीटरों को ट्रेनिंग देने के निर्देश अधिकारियों को दिये, जिस पर विभागीय अधिकारियों ने सहमति व्यक्त करते हुए शीघ्र प्रशिक्षण शिविर आयोजित करने की बात कही। बैठक में पेयजल सचिव नितेश झा, मिशन निदेशक जल जीवन मिशन नितिन भदौरिया, चीफ इंजीनियर राज्य जल एवं स्वच्छता मिशन वी.के. पाण्डे, मुख्य अभियंता जल जीवन मिशन एस.सी.पंत सहित अन्य विभागीय अधिकारी उपस्थित रहे।

वैश्य समाज का नाम ऊंचा करने के लिए स्पीकर अग्रवाल को सम्मानित किय

ऋषिकेश। वैश्य सभा, बिजनौर के पदाधिकारियों ने बैराज रोड स्थित कैंप कार्यालय पर विधानसभा अध्यक्ष प्रेम चंद अग्रवाल का विकास कार्यों के लिए एवं वैश्य समाज का नाम ऊंचा करने के लिए पुष्प माला पहनाकर सम्मानित किया। इस अवसर पर व्यापार मंडल उत्तर प्रदेश के महामंत्री एवं वैश्य सभा बिजनौर के सदस्य मुकुल अग्रवाल ने कहा है कि उत्तराखंड के विधानसभा अध्यक्ष प्रेम चंद अग्रवाल ने विधानसभा के अंदर एवं ऋषिकेश विधानसभा में अभूतपूर्व कार्य किए है।उन्होंने इन कार्यों से अपनी अलग पहचान बनाई है। श्री मुकुल अग्रवाल ने विधानसभा अध्यक्ष को सम्मानित करते हुए कहा है कि वह धार्मिक प्रवृत्ति के हैं और निरंतर जन सामान्य की समस्याओं के समाधान के लिए सक्रिय रहते हैं। इस अवसर पर श्री अग्रवाल ने भी बिजनौर से आए वैश्य सभा के प्रतिनिधिमंडल का धन्यवाद व्यक्त किया। इस अवसर पर मुकुल अग्रवाल, दीपक अग्रवाल, ऋषभ जिंदल, नगर पालिका के पूर्व अध्यक्ष दीप शर्मा, सुरेश अग्रवाल आदि सहित अन्य लोग उपस्थित थे।

लखीमपुर खीरी की घटना पर आप ने मौन व्रत रख किसानों को न्याय दिलाने के लिए निकाला कैंडल मार्च

देहरादून। लखीमपुर खीरी में किसानों के साथ हुए दर्दनाक हादसे पर आज आम आदमी पार्टी के पदाधिकारियों ने प्रदेश कार्यालय में दो मिनट का मौन रखते हुए ,मृत किसानों की आंत्मा की शांति के लिए प्रार्थना की। इसके बाद सैकडों आप कार्यकर्ताओं ने प्रदेश कार्यालय से हादसे में मृत किसानों की शांति के लिए आराघर चौक तक ,एक कैंडल मार्च निकाला, जिसमें आप के कई पदाधिकारियों समेत कई अन्य कार्यकर्ता शामिल हुए। इस दौरान आप कार्यकर्ताओं ने दोषियों पर कडी कार्रवाई करने की मांग उठाते हुए केंद्रीय राज्य मंत्री के पुत्र की गिरफ्तारी के साथ ही उनके इस्तीफे की मांग की। आप प्रवक्ता रविंन्द्र आनंद ने इस घटना को दुखद बताते हुए कहा कि, इस घटना ने अंग्रेजी हुकूमत की याद दिला दी, जब हिन्दुस्तानियो पर अंग्रेज जुल्म किया करते थे। उन्होंने लोकतांत्रिक तरीके से अपनी आवाज उठाने वाले किसानों की पैरवी करते हुए कहा कि, किसान अन्नदाता है ,लेकिन केन्द्र सरकार किसानों को बर्बाद करने पर आमदा है। उन्होंने आगे कहा कि, अब तो केन्द्र सरकार किसानों की हत्याएं करवा रही है, जिसे किसी भी हाल में बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। उन्होंने कहा कि, आप पार्टी इस दुख की घडी में तमाम किसानों के साथ है,आप इस घटना की कडी निंदा करती है और केंद्रीय राज्य मंत्री के इस्तीफे के साथ ही उनके पुत्र समेत अन्य दोषियों की गिरफ्तारी की मांग करती है। उन्होंने आगे कहा कि, इस पूरे प्रकरण की सीबीआई जांच भी की जानी चाहिए।

बीपीएड, एमपीएड प्रशिक्षित बेरोजगारों ने स्पीकर अग्रवाल से की भेंट, मांगपत्र सौंपा

ऋषिकेश। बैराज रोड स्थित कैंप कार्यालय पर मंगलवार को बीपीएड, एमपीएड प्रशिक्षित बेरोजगार संगठन का प्रतिनिधिमंडल विधानसभा अध्यक्ष प्रेम चंद अग्रवाल से मिला स प्रतिनिधिमंडल के सदस्यों ने अपने 4 सूत्रीय मांग पत्र में अवगत कराया है कि प्रत्येक प्राथमिक एवं उच्च प्राथमिक विद्यालयों में शारीरिक शिक्षको की नियुक्तियां की जाएं। प्रतिनिधि मंडल मे संगठन की अध्यक्ष उषा चौहान ने कहा है कि बीपीएड, एमपीएड प्रशिक्षित बेरोजगार 2008 से नियुक्ति की मांग कर रहा है परंतु अभी तक उन्हें किसी भी विद्यालय में नियुक्ति नहीं मिली । उन्होंने अपने माँग पत्र में उल्लेख किया है कि प्रत्येक प्राथमिक एवं उच्च प्राथमिक विद्यालयों में शारीरिक शिक्षकों की नियुक्ति की जाए ताकि छात्रों को बाल्यकाल से ही शारीरिक शिक्षा मिल सके । उन्होंने शारीरिक शिक्षा विषय को कक्षा एक से आठवीं तक अनिवार्य रूप से सम्मिलित करने की मांग की साथ ही अपने मांग पत्र में कहा है कि उत्तराखंड राज्य के प्रशिक्षित बेरोजगारों को हिमाचल प्रदेश की तर्ज पर आयु सीमा में 3 वर्ष की छूट दी जाए यानि 42 वर्ष से बढ़ाकर 45 वर्ष की जाए। प्रत्येक उच्च प्राथमिक विद्यालय मे कक्षा 6 से 8 तक शारीरिक शिक्षा के शिक्षकों की नियुक्ति अनिवार्य रूप से की जाए। इस अवसर पर श्री अग्रवाल ने प्रतिनिधिमंडल को आश्वस्त करते हुए कहा है कि उनकी मांगों पर सहानुभूति पूर्वक एवं नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी तथा उक्त प्रकरण को सरकार के संज्ञान में लाया जाएगा। इस अवसर पर संगठन की अध्यक्ष उषा चौहान, पार्षद एवं भाजपा के मंडल महामंत्री सुंदरी कंडवाल, शेर सिंह कालूड़ा, कलपेंद्र सिंह चौहान, हरीश कुमार, विनीता देवी, कस्तूरी चौहान, विनय कुमार, रूपेंद्र नेगी आदि सहित अनेक लोग उपस्थित थे।

पर्यटन मंत्री महाराज ने किया हाईकोर्ट के फैसले का स्वागत

देहरादून। चारधाम यात्रा पर आने वाले यात्रियों की तय सीमित संख्या को समाप्त करने के नैनीताल हाईकोर्ट के फैसले का पर्यटन, धर्मस्व एवं संस्कृति मंत्री सतपाल महाराज ने स्वागत किया है। प्रदेश के पर्यटन, धर्मस्व एवं संस्कृति मंत्री सतपाल महाराज ने नैनीताल हाईकोर्ट द्वारा चारधाम यात्रा पर आने वाले तीर्थयात्रियों की सीमित संख्या की बाध्यता को समाप्त करने के फैसले का स्वागत किया है। श्री सतपाल महाराज ने कहा कि न्यायालय के इस फैसले से निश्चित रूप से प्रदेश में पर्यटन एवं तीर्थाटन को एक नई ऊर्जा मिलेगी। कोर्ट में जोरदार ढंग से सरकार का पक्ष रखने के लिए उन्होंने मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी का भी आभार व्यक्त किया है। उन्होने कहा कि उच्च न्यायालय के इस निर्णय से वैश्विक महामारी कोरोना से प्रभावित अनेकों होटल व्यवसायियों, ट्रैवल्स व्यवसायियों एवं स्थानीय लोगों को एक बड़ी राहत मिली है। श्री महाराज ने कहा कि चारधाम यात्रा पर आने वाले तीर्थयात्रियों की संख्या की बाध्यता समाप्त होने के बाद अब सभी तीर्थयात्री कोविड नियमों का पालन करते हुए चारधाम की यात्रा आसानी से कर सकते हैं। श्री महाराज ने कहा कि उत्तराखंड चारधाम यात्रा पर आ रहे यात्रियों के लिए सीमित संख्या की बाध्यता तय की गई थी जिसके चलते यात्रियों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा था ऐसे में हमने नैनीताल हाईकोर्ट में याचिका दायर कर तय सीमित संख्या को बढ़ाने की मांग की थी। हाईकोर्ट ने मामले का संज्ञान लेते हुए सभी के हित में बहुत ही अच्छा फैसला दिया। मैं न्यायालय के इस फैसले का स्वागत करते हुए प्रदेश के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी को इसके लिए धन्यवाद देता हूं।

धीरेंद्र प्रताप ने प्रियंका गांधी पर मुकदमा दर्ज किए जाने की निंदा की

देहरादून। उत्तराखंड कांग्रेस के उपाध्यक्ष धीरेंद्र प्रताप ने कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा पर लखीमपुर किसानों से मिलने के लिए जाने पर मुकदमा दर्ज किए जाने की निंदा की है। धीरेंद्र प्रताप ने कहा है कि प्रजातंत्र में हर व्यक्ति को अधिकार है कि वह कहीं भी जा सकता है ऐसी स्थिति में प्रियंका गांधी को लखीमपुर खीरी जाने से रोका जाना एक तरह से उनके लोकतांत्रिक अधिकार का हनन है। उन्होंने कहा यह गांधीवाद का भी अपमान है। उन्होंने कहा कि यदि प्रियंका गांधी किसी हिंसक कार्रवाई में शामिल होती तब उन पर मुकदमा दर्ज किया जाना उचित रहता। उन्होंने प्रियंका गांधी के नागरिक अधिकारों के हनन पर चिंता व्यक्त करते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से प्रजातांत्रिक मूल्यों की रक्षा करने और राज्य में गांधीवादी अहिंसक सत्याग्रह का सम्मान करने की भी अपील की है ।

कर्नल कोठियाल ने कहा एक बार जरुर मौका दे जनता, किए हुए सभी वादों के साथ करेंगे राज्य का नवनिर्माण

देहरादून/बागेश्वर। आम आदमी पार्टी की रोजगार गारंटी यात्रा आज बागेश्वर विधानसभा पहुंची जहां लोगों ने इस यात्रा के पहुंचने पर आप के सीएम प्रत्याशी कर्नल कोठियाल का जोरदार स्वागत किया। बागेश्वर विधानसभा पहुंचने पर कर्नल कोठियाल सबसे पहले जिला पंचायत में पहुंचे और वहां उन्होंने संविधान निर्माता बाबा भीमराव अंबेडकर की मूर्ति पर पुष्प अर्पित किए।उन्होंने बाबा भीमराव अंबेडकर को सैल्यूट करते हुए संविधान का मजबूती से पालन करने का वचन लिया। इसके बाद कर्नल कोठियाल भगवान भोलेनाथ के दर्शन करने प्रसिद्ध बागनाथ मंदिर पहुंचे। भगवान बागनाथ में पूजा अर्चना करेत हुए उन्होंने पंडित जी से विजय श्री का आशीष लिया। कर्नल कोठियाल का लाव लस्कर जब बैजनाथ पहुंचा तो स्थानीय जनता ने फूल मालाओं से उनका जोरदार स्वागत किया। इसके बाद उन्होंने कोटभ्रामरी मंदिर में माता रानी की पूजा अर्चना की और उत्तराखंड नव निर्माण की कामना करते माता का आशिर्वाद प्राप्त किया। मंदिर में दर्शन करने के बाद बैजनाथ से रोजगार गारंटी यात्रा की शुरुआत हुई जिसमें सैकडो आप कार्यकर्ताओं ने भाग लिया और ये यात्रा बैजनाथ से होते हुए रोड शो के रुप में गरुड़ बाजार पहुंची। इस दौरान सैकड़ां वाहन में मौजूद आप कार्यकर्ताओ ंने कर्नल कोठियाल जिंदाबाद के नारे लगाए और ये यात्रा इसके बाद गरुड़ बाजार के गांधी चबूतरा पर पहुंची जहां कर्नल कोठियाल ने वहां मौजूद लोगों को संबोधित किया। उन्होंने जनता को संबोधित करते हुए कहा कि यहां आकर माता का तिलक मस्तक पर लगाना एक अलग ही एहसास है। यहां पहुंचते ही रास्ते में बाघ का दीदार होते ही बाबा बागनाथ देवता के दूत की उपस्थित का एहसास अदभुत था। उन्होंने आगे कहा कि आज प्रदेश में भ्रष्टाचार अपने चरम पर है, जनता को मूलभूत सुविधा नहीं मिल रही है। प्रसव के दौरान हमारी बहनों को पीड़ा झेलनी पड़ती है। यह काफी दुखद है। उन्होंने कहा कि बीजेपी और कांग्रेस सिर्फ स्वार्थ की राजनीति तक सिमट कर रहे गए हैं। बीजेपी के नेताओं को जनता की भावनाओं से कोई सरोकार नहीं है उन्हें जनता वोट देकर चुनती है लेकिन वो जनता के बदले दिल्ली दरबार में हाजिरी ज्यादा लगाते हैं। उन्होंने आगे कहा कि जनता बडी ही उम्मीदों से अपने विधायकों को चुनती है लेकिन अपना कार्यकाल खत्म होने तक वो विधायक पाला बदल लेते हैं और दोनो ही दलों का ऐसा ही हाल है। उन्होंने इस दौरान एक युवा को मंत्र पर बुलाकर कहा कि इस युवा के सेना में जाने के सपने हैं और ये युवा इसके लिए मेहनत कर रहा है लेकिन अगर ये युवा किसी कारणवश सेना में भर्ती नहीं हो पाया तो इसका भविष्य क्या होगा ये कोई नहीं जानता। उन्होंने सरकार को इसका जिम्मेदार ठहराते हुए कहा कि अगर यहां रोजगार होता तो आज युवाओं को अपने भविष्य की चिंता नहीं होती ।सरकार ने यहां के युवाओं को रोजगार देने के बजाए ठगने का काम किया है। उन्होंने कहा कि आम आदमी पार्टी की रोजगार यात्रा का अर्थ यही है, हम बेरोजगारी को जड़ से खत्म कर देंगे और यही इस यात्रा का मकसद भी है। उन्होंने जनता से अपील करते हुए कहा कि,एक बार जनता हमें जरुर मौका दे। हमने जो नवनिर्माण का संकल्प लिया है उसे जरुर पूरा करेंगे।

आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों ने अपनी मांगों को लेकर किया धरना-प्रदर्शन

देहरादून। आंगनबाड़ी कार्यकर्ता सेविका मिनी कर्मचारी संगठन लम्बे समय से अपनी माँगो को लेकर सरकार से उन्हें पूरा करने की मांग करती आ रही है। लेकिन कई समय से सिर्फ हवाई वादे करके आंगनबाड़ी कार्यकत्रीयां अपने आप को ठगा सा महसूस कर रहे है। जिस पर आंगनबाड़ी कर्मचारी संगठन ने अपनी एक सूत्रीय मांग को लेकर बाल विकास परियोजना अधिकारी विकास खण्ड रायपुर देहरादून के कार्यालय पर धरना प्रदर्शन कर सरकार को सीडीपीओ विमला कण्डारी के माध्यम से ज्ञापन सौंपा। आंगनबाड़ी कर्मचारी संगठन ने सरकार को ज्ञापन के माध्यम से अवगत करवाया कि अगर सरकार हमारी मांगो को जल्द पूरा नहीं करती है तो हम और हमारा सगठन आगामी चौबीस अक्टूबर से प्रदेश के सभी विकास खण्डों में कार्य बहिष्कार करेंगे। एक तरफ आंगनबाड़ी कार्यकत्रीयां अपनी एक सूत्रीय मांग को लेकर धरना प्रदर्शन कर रही है वही दूसरी ओर विभाग उन पर प्रदर्शन को जल्द खत्म करने का दबाव बना रहा है। जिस पर आंगनबाड़ी कार्यकत्रीयो में आक्रोश है,उनका कहना है कि हमारे द्वारा कभी भी किसी प्रकार के कार्य को करने से मना नहीं किया गया। हर बार हमारा शोषण होता है एक एक सूत्रीय मांग है हमारा वेतन तकरीबन 18000 रूपये सुनिश्चित हो। आंगनबाड़ी कर्मचारी संगठन की प्रदेश अध्यक्ष रेखा नेगी के निर्देश में हम अब पूर्ण कार्य बहिष्कार कर रहे है। बताते चले कि आंगनबाड़ी कर्मचारी संगठन के बैनर तले आँगनबाड़ी कार्यकत्रीयां चार अक्टूबर से कार्यालय पर धरने पर बैठी है। जिससे रायपुर क्षेत्र में ऑगनबाडी से संबंधी सभी कार्य जैसे टीएचआर,इम्युनिटी बूस्टर दवा वितरण इत्यादि ठप पड़े है। इस अवसर पर आंगनबाड़ी कर्मचारी संगठन ब्लॉक अध्यक्ष ममता चौहान, उपाध्यक्ष रेणु कोहली, सचिव पूजा बुडथोंकी, कोषाध्यक्ष नीलम पालीवाल, रेखा सजवाण, पुष्पा नेगी, कान्ता भट्ट, अनिता जोशी, बिनीता बंदोनी, कमला जोशी लक्ष्मी नेगी, पिंकी कौशल, संध्या देवी, उर्मिला,नेगी, दीपा बिष्ट, राजमती चौहान, शशि थापा, बबिता खंशाली, अर्चना, सुमन नेगी, कामनी सुयाल, संजीत भण्डारी, कुमारी थापा, उर्मिला गुसाईं, शोभा रॉय, कुसमा रावत, दमयंती सती, अर्चना देवी आदि मौजूद रहे।

आंतरिक मोटर मार्गों के निर्माण के लिए विधायक निधि से छह लाख देने की घोषणा

ऋषिकेश। ऋषिकेश विधानसभा क्षेत्र के अंतर्गत बनखंडी में जनता मिलन कार्यक्रम के दौरान विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल ने क्षेत्र में आंतरिक मोटर मार्ग के निर्माण के लिए विधायक निधि से 6 लाख 50 हजार रुपये देने की घोषणा की। इस अवसर पर श्री अग्रवाल ने कहा है कि ऋषिकेश विधानसभा में लोक निर्माण विभाग के माध्यम से 50 करोड से अधिक लागत से सड़क मार्गाे का निर्माण हो चुका है स उन्होंने कहा है कि विगत साढ़े 4 वर्षों में विकास प्राधिकरण के माध्यम से त्रिवेणी घाट का सौंदर्यीकरण एवं ग्रामीण क्षेत्रों में पथ प्रकाश व्यवस्था एवं अनेक आंतरिक मोटर मार्गाे का निर्माण किया गया है। श्री अग्रवाल ने कहा है कि ऋषिकेश में रहने वाले टिहरी विस्थापितों की वर्षाे पुरानी मांग को पूरा करते हुए सात राजस्व ग्रामों को घोषित किया गया है जिससे वहां के लोगों को सरकारी योजनाओं का लाभ मिल रहा है। इस अवसर पर श्री अग्रवाल ने कहा है कि ऋषिकेश राजकीय महाविद्यालय में छात्रों को प्रवेश में दिक्कतें होती थी जिसको देखते हुए श्री देव सुमन विश्वविद्यालय का परिसर पंडित ललित मोहन शर्मा राजकीय महाविद्यालय के कैंपस स्थापित किया गया जिससे अब छात्रों को निर्विवाद रूप से पठन-पाठन करने में सुविधा हो रही है।उन्होंने कहा है कि बैराज स्थित झील में साहसिक पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए भी कार्य योजना तैयार की गई है, इसकी विगत दिनों मुख्यमंत्री जी ने विधिवत घोषणा भी की है। उन्होंने कहा कि शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्र में पेयजल के माध्यम से सीवरेज के लिए लगभग 500 करोड रुपए की योजनाएं संचालित की जाएगी जिसकी कार्रवाई गतिमान है । इस अवसर पर श्री अग्रवाल ने कहा है कि विकास अनवरत चलने वाली प्रक्रिया है जो निरंतर ऋषिकेश विधानसभा में चल रही है इसके लिए उन्होंने जनता के सहयोग के लिए भी आभार व्यक्त किया। इस अवसर पर स्थानीय पार्षद राजेश दिवाकर, भारतीय जनता पार्टी के मंडल अध्यक्ष दिनेश सती, सुमित पवार, वरिष्ठ पार्षद शिव कुमार गौतम, रामदेव शर्मा, संजीव पाल, हरीश तिवारी, विनोद पाल, सतीश पाल, राजेश पाल, राजू नरसिम्हा, संदीप, विनोद आदि सहित अनेक लोग उपस्थित थे।

मेधावी छात्रवृत्ति बढ़ाने की सीएम की घोषणा को लागू करने की तैयारी में जुटा शिक्षा विभाग

देहरादून। मुख्यमंत्री के घोषणा के बाद शासनादेश जारी होते ही शिक्षा विभाग तुरंत हरकत में आया है। दरअसल मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने घोषणा की थी कि डॉ. शिवानंद नौटियाल छात्रवृत्ति और श्रीदेव सुमन राज्य मेधावी छात्रवृत्ति में बढोतरी की जाए। सोमवार को इस सम्बन्ध में शासनादेश भी जारी कर दिया गया। इसके बाद अब डॉ. शिवानंद नौटियाल छात्रवृत्ति रूपए 250 प्रतिमाह से बढ़ाकर रूपए 1500 प्रति माह कर दी गयी है। साथ ही यह छात्रवृत्ति 11 बच्चों की बजाय 100 बच्चों को प्रदान की जाएगी। इसी प्रकार श्रीदेव सुमन राज्य मेधावी छात्रवृत्ति में भी वृद्धि करते हुए इसे रूपए 150 प्रति माह से बढ़ाकर रूपए 1000 प्रतिमाह कर दिया गया है। श्रीदेव सुमन राज्य मेधावी छात्रवृत्ति योजना में प्रत्येक विकास खंड से 5 छात्र-छात्राओं का चयन कर राज्य भर से प्रतिवर्ष 475 छात्र-छात्राओं को इस छात्रवृत्ति का लाभ दिया जाएगा। गौरतलब है कि शिक्षा विभाग के एक कार्यक्रम में मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने ये घोषणाएं की थी। जिसको लेकर शासनादेश जारी होने के बाद ये शिक्षा विभाग पहुंच गए हैं। आदेश मिलते ही मंगलवार को महानिदेशक विद्यालयी शिक्षा वंशीधर तिवारी ने इस सम्बन्ध में अधिकारियों की मीटिंग ली। उन्होंने इस संबंध में आगे की रूप-रेखा तैयार करने के निर्देश दिए। महानिदेशक विद्यालयी शिक्षा वंशीधर तिवारी ने बताया कि मुख्यमंत्री के निर्देश पर प्रदेश के स्टूडेंट्स की आर्थिक मदद और उत्साहवर्धन करने वाली इस योजना लिए तुरंत जरूरी मीटिंग बुलाकर के आदेश जारी किए गए हैं।

हाइकोर्ट ने चारधाम यात्रा से सीमित संख्या की पाबंदी हटाई, अब असीमित संख्या में तीर्थयात्री कर सकेंगे यात्रा

नैनीताल। नैनीताल हाइकोर्ट ने बदरीनाथ-केदारनाथ सहित चारधाम यात्रा के श्रद्धालुओं की संख्या बढ़ाए जाने के मामले को लेकर दायर याचिका पर मंगलवार को सुनवाई हुई। हाइकोर्ट ने चारों धाम में श्रद्धालुओं की निर्धारित संख्या से रोक हटा दी है। अब तीर्थ यात्री बेरोकटोक चारधाम यात्रा के लिए जा सकेंगे। साथ ही हाईकोर्ट ने निर्देश दिया है कि शासन को कोविड प्रोटोकॉल का सख्ती से पालन करवाना होगा। कोर्ट के इस आदेश से सरकार सहित दूसरे प्रदेशों से आने वाले तीर्थ यात्रियों, चारधाम यात्रा रूट पर होटलों, दुकानदारों आदि स्थानीय लोगों को भी बड़ी राहत मिली है। मुख्य न्यायमूर्ति आरएस चौहान व न्यायमूर्ति आलोक कुमार वर्मा की खंडपीठ में सुनवाई के दौरान महाधिवक्ता एसएन बाबुलकर व मुख्य स्थाई अधिवक्ता चंद्रशेखर रावत ने उत्तराखंड सरकार का पक्ष रखते हुए कहा कि चारधाम यात्रा शुरू करने के लिए तीर्थ यात्रियों की सख्यां को निर्धारित किया गया था। साथ ही, तीर्थ यात्रियों को कोविड प्रोटोकॉल का पालन करने की भी सख्त हिदायत दी गई थी। माधिवक्ता द्वारा कहा गया कि चारधाम यात्रा करने के लिए कोविड को देखते हुए कोर्ट ने पूर्व में श्रद्धालुओं की संख्या निर्धारित कर दी थी। लेकिन वर्तमान समय मे प्रदेश में कोविड के केस ना के बराबर आ रहे है। इसलिए चारधाम यात्रा करने के लिए श्रद्धालुओं की निर्धारित संख्या के आदेश में संशोधन किया जाए।कहा कि चारधाम यात्रा समाप्त होने में 40 दिन से कम का समय बचा हुआ है। इसलिए जितने भी श्रद्धालु वहां आ रहे है उन सबको दर्शन करने की अनुमति दी जाए। जो श्रद्धालु ऑनलाइन दर्शन करने हेतु रजिस्ट्रेशन करा रहे है, वे भी नहीं आ पा रहे हैं। जिसके कारण वहां के स्थानीय लोगो पर रोजी-रोटी का खतरा उत्पन्न हो रहा है। सरकार द्वारा कोर्ट ने पूर्व दिए गए दिशा-निर्देशों का हर सम्भव प्रयास किया जा रहा। चारधाम यात्रा में सभी सुविधाओं को उपलब्ध करा दिया गया है। सरकार की तरफ से यह भी कहा गया है कि चारधाम यात्रा करने के लिए श्रद्धालुओं की निर्धारित संख्या से रोक हटाई जाए या फिर श्रद्धालुओं की संख्या तीन से चार हजार प्रतिदिन किया जाए ताकि दूसरे प्रदेशों से भी लोग दर्शन को आ सकें। कहा कि कोरोना महामारी पर कोविड गाइडलाइन का सख्ती से पालन भी किया जा रहा है। सरकार का पक्ष सुनने के बाद हाईकोर्ट ने रोक हटा दी गई है।पूर्व में कोर्ट ने चारधाम यात्रा करने के लिए प्रत्येक दिन केदारनाथ धाम में 800, बद्रीनाथ धाम में 1000, गंगोत्री में 600, यमनोत्री धाम में कुल 400 श्रद्धालुओ को जाने की अनुमति दी थी।

रोजगार गांरटी अभियान को लेकर आप कार्यकर्ताओं की ट्रेनिंग

देहरादून। आप पार्टी के प्रदेश कार्यालय में आप पदाधिकारियों,कार्यकर्ताओं की कार्यशाला प्रदेश प्रभारी दिनेश मोहनिया द्वारा आयोजित की गई। जिसमें आप प्रभारी ने अरविंद केजरीवाल के उत्तराखंड के युवाओं को रोजगार गारंटी अभियान को घर घर तक पहुंचाने के लिए ट्रेनिंग दी। इस दौरान आप के प्रदेश प्रभारी दिनेश मोहनिया ने सभी मौजूद कार्यकर्ताओं को रोजगार गांरटी योजना को कैसे घर घर तक पहुंचाया जाए इसके बारे में जानकारी दी। आप प्रभारी पिछले तीन दिनों से पूरे प्रदेश में कार्यकर्ताओं को इस योजना को घर घर तक पहुंचाने के लिए एकदिवसीय कार्यशाला का आयोजन कर रहे हैं। इससे पहले उन्होंने काशीपुर,हल्द्वानी,श्रीनगर और हरिद्वार में कार्यकर्ताओं की ट्रेनिंग ली आज इसी कड़ी में देहरादून में ये ट्रेनिंग रखी गई जहां अलग अलग विधानसभाओं से आप कार्यकर्ता इस रोजगार गारंटी योजना को सफल बनाने के लिए इस कार्यशाला में पहुंचे। इस दौरान देहरादून जिले की सभी विधानसभाओं से आप के पदाधिकारी इस कार्यशाला में मौजूद रहे। इस कार्यशाला में कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए प्रदेश प्रभारी ने कहा कि ये कार्य्रकम आगामी दिनों में जनता के बीच चलाना है ,आप की इस रोजगार गारंटी को घर घर तक पहुंचाने के लिए हर कार्यकर्ता को संकल्प लेना होगा। आज की कार्यशाला में आप कार्यकर्ताओं को ट्रेनिंग दी गई कि ,कैसे वो रोजगार गारंटी योजना के तहत लोगों का रजिस्ट्रेशन करेंगे। कैसे अपनी योजना को घर घर तक पहुंचाएंगे। उन्होंने आगे कहा कि, इस दौरान चयनित आप कार्यकर्ताओं को गारंटी कार्ड,रजिस्ट्रेशन बुकलेट,पैंफलेट,ऐप की जानकारी,नोटपेड,पेन और बैग दिए जाएंगे। उन्होंने आगे कहा कि, गांव गांव जाने वाले आप कार्यकर्ताओं को होर्डिंग ,साउंड सिस्टम,टेबल के साथ चेयर भी उपलब्ध कराई जाएंगी ताकि बेरोजगार युवाओं का पंजीकरण करने में कोई दिक्कत नहीं हो। उन्होंने निर्देश देते हुए कहा कि, कार्यकर्ता रजिस्ट्रेशन करने के लिए जगह का चिन्हिकरण पहले ही सुनिश्चत कर लें, और जिस जगह सभा का आयोजन आप कार्यकर्ताओं द्वारा किया जा रहा हो,उस जगह की सूचना बूथ के माध्यम से प्रचारित करें। इस दौरान उन्होंने केजरीवाल जी द्वारा रोजगार गारंटी को लेकर की गई 6 घोषणाओ का जिक्र करते हुए कहा कि, आप पार्टी इन सभी 6 घोषणाओं को घर घर तक पहुंचाने का काम सुनिश्चित करेगी।ताकि युवाओं तक इस योजना की जानकारी पहुंच सके और प्रदेश में बेरोजगारी के अलावा अन्य समस्याओं का आप कैसे निवारण करेगी इसको भी जनता तक पहुंचा सके। उन्होंने आगे बताया कि, आप कार्यकर्ताओं की ये ट्रेनिंग 3 अक्टूबर से शुरु हो चुकी है ,जो हल्द्वानी से शुरु हुई और इसके बाद 4 अक्टूबर को श्रीनगर,पौडी,चमोली,रुद्रप्रयाग,टिहरी और आज आज हरिद्वार की 12 विधानसभाएं,नरेन्द्र नगर और देहरादून उत्तरकाशी की 12 एवं धनोल्टी विधानसभा की ट्रेनिंग आज देहरादून के प्रदेश कार्यालय में ली गई। उन्होंने कहा कि आगे भी इस तरह की ट्रेनिंग दी जाएगी, ताकि हमारे कार्यकर्ता घर घर जाकर युवाओं का रजिस्ट्रेशन कर सकें और आप की नीतियों को प्रदेश के घर घर तक पहुंचा सकें।

मेधावी छात्रवृत्ति बढ़ाने की सीएम की घोषणा को लागू करने की तैयारी में जुटा शिक्षा विभाग

देहरादून। मुख्यमंत्री के घोषणा के बाद शासनादेश जारी होते ही शिक्षा विभाग तुरंत हरकत में आया है। दरअसल मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने घोषणा की थी कि डॉ. शिवानंद नौटियाल छात्रवृत्ति और श्रीदेव सुमन राज्य मेधावी छात्रवृत्ति में बढोतरी की जाए। सोमवार को इस सम्बन्ध में शासनादेश भी जारी कर दिया गया। इसके बाद अब डॉ. शिवानंद नौटियाल छात्रवृत्ति रूपए 250 प्रतिमाह से बढ़ाकर रूपए 1500 प्रति माह कर दी गयी है। साथ ही यह छात्रवृत्ति 11 बच्चों की बजाय 100 बच्चों को प्रदान की जाएगी। इसी प्रकार श्रीदेव सुमन राज्य मेधावी छात्रवृत्ति में भी वृद्धि करते हुए इसे रूपए 150 प्रति माह से बढ़ाकर रूपए 1000 प्रतिमाह कर दिया गया है। श्रीदेव सुमन राज्य मेधावी छात्रवृत्ति योजना में प्रत्येक विकास खंड से 5 छात्र-छात्राओं का चयन कर राज्य भर से प्रतिवर्ष 475 छात्र-छात्राओं को इस छात्रवृत्ति का लाभ दिया जाएगा। गौरतलब है कि शिक्षा विभाग के एक कार्यक्रम में मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने ये घोषणाएं की थी। जिसको लेकर शासनादेश जारी होने के बाद ये शिक्षा विभाग पहुंच गए हैं। आदेश मिलते ही मंगलवार को महानिदेशक विद्यालयी शिक्षा वंशीधर तिवारी ने इस सम्बन्ध में अधिकारियों की मीटिंग ली। उन्होंने इस संबंध में आगे की रूप-रेखा तैयार करने के निर्देश दिए। महानिदेशक विद्यालयी शिक्षा वंशीधर तिवारी ने बताया कि मुख्यमंत्री के निर्देश पर प्रदेश के स्टूडेंट्स की आर्थिक मदद और उत्साहवर्धन करने वाली इस योजना लिए तुरंत जरूरी मीटिंग बुलाकर के आदेश जारी किए गए हैं।

दून में 33/11 केवी जीआईएस सबस्टेशन और आरटी-डीएएस कंट्रोल सिस्टम का उद्घाटन

देहरादूना। उत्तराखण्ड के देहरादून में भारत सरकार की आईपीडीएस योजना के तहत 33/11 केवी जीआईएस (गैस इन्सुलेटेड स्विचगियर) सब-स्टेशन और आरटी-डीएएस (रियल टाईम डेटा एक्विज़िशन सिस्टम) कंट्रोल सिस्टम का उद्घाटन किय गया। पावर फाइनैंस कॉर्पाेरेशन (पीएफसी) आईपीडीएस योजना के लिए नोडल एजेन्सी है। भारत की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने के उपलक्ष्य में आयोजित ‘आज़ादी का अमृत महोत्सव’ के यह उद्घाटन समारोह मनाया गया। परियोजना का उद्घाटन डॉ हरक सिंह रावत, उर्जा एवं वैकल्पिक उर्जा मंत्री, उत्तराखण्ड द्वारा किया गया। इस अवसर पर सौजन्य, सचिव (उर्जा एवं वैकल्पिक उर्जा), दीपक रावत, एमडी, यूपीसीएल और सौरभ कुमार शाह, ईडी (आईपीडीएस), पीएफसी भी मौजूद थे। जीआईएस सबस्टेशन को रु 85.99 करोड़ की लागत के साथ मंजूरी दी गई थी, इससे देहरादून एवं आस-पास के क्षेत्रों में 5000 से अधिक लोग लाभान्वित होंगे। वही विद्युत आपूर्ति की स्वचालित निगरानी के लिए आरटी-डीएएस को भी रु 4.28 करोड़ की लागत पर मंज़ूरी दी गई है। इसके अलावा, सबस्टेशन से विद्युत आपूर्ति की कटौती कम होगी, ज़मीन की ज़रूरत कम होगी, संचालन एवं रखरखाव की लागत में कमी आएगी और साथ ही कर्मचारियों को काम के लिए सुरक्षित वातावरण मिलेगा।

स्वच्छता कार्यक्रम के तहत 325 किलो प्लास्टिक कचरा का उठान व निपटान किया गया

देहरादूना। जिला युवा अधिकारी नेहरू युवा केन्द्र एम0 टोलिया, ने बताया कि आजादी के अमृत महोत्सव के तहत 01 से 31 अक्टूबर तक स्वच्छ भारत अभियान का आयोजन किया जा रहा है। जिसमें सभी विभागों अपने स्तर पर साथ ही राष्ट्रीय युवा स्वयं सेवकों के माध्यम से समस्त विकास खंडों में स्वच्छता कार्यक्रम चलाया जा रहा है। आज आयोजित स्वच्छता कार्यक्रम में मसंदावाला, सहसपुर, खटंगाटॉप, रायपुर, रुद्रपुर विकासनगर, हरिपुर एवं खरोडा, चकराता में विद्यालयों तथा पंचायत घरों में स्वच्छता कार्यक्रम के तहत कुल 325 किलोग्राम प्लास्टिक कचरा/अवशिष्ट बैग में भरकर, स्टीकर और टैग लगाकर ग्राम पंचायत द्वारा चिन्हित स्थान पर रखकर अवशिष्ट का निपटान किया जा रहा। कार्यक्रम में नेहरू युवा क्लब के सदस्य एवं स्थानीय लोगों के द्वारा सहयोग लिया जा रहा है कार्यक्रम में विकास खंड रायपुर में ऐश्वर्य शर्मा, मेघा पाल, दीपक कुमार सहसपुर में तुषार, राशि, विकास नगर में सोनिका, कालसी में प्रदीप चौहान, अर्चना चौहान एवं चकराता में जसपाल द्वारा स्वच्छ भारत अभियान का मुहिम चलाया जा रहा है।

विधिक जागरूकता शिविर का आयोजन किया गया

देहरादून। उत्तराखण्ड राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण, नैनीताल के निर्देशानुसार आज जिला विधिक सेवा प्राधिकरण, देहरादून ने सरकार द्वारा जारी कोविड-19 गाइडलाईन का पालन करते हुए तहसील ऋषिकेश, तहसील विकासनगर, तहसील चकराता एवं तहसील डोईवाला, जनपद देहरादून‘‘ में विधिक जागरूकता शिविर का आयोजन किया गया। जिसमें जिला विधिक सेवा प्राधिकरण, देहरादून के पराविधिक कार्यकर्तागण द्वारा विभिन्न विषयों पर जानकारी दी गयी। जिला विधिक सेवा प्राधिकरण, देहरादून द्वारा दी जाने वाली उपलब्धता एवं सहायता ‘‘ विषय पर जानकारी दी गई। उक्त शिविर में उपस्थित व्यक्तियों को जिला विधिक सेवा प्राधिकरण, देहरादून द्वारा कोविड-19 महामारी के चलते सरकार द्वारा जारी गाईडलाईन का पालन करते हुए सर्वप्रथम सरकार द्वारा जारी गाईडलाईन जैसेः मुह पर मास्क लगाना/सामाजिक दूरी का पालन करने एवं जरूरत पड़ने पर ही घर से निकलना आदि के बारे अवगत कराया गया। इसके अतिरिक्त उपस्थित व्यक्तियों को उत्तराखण्ड अधिनियम, 2018 में नागरिकों को क्या-क्या अधिकार दिये गये है की भी जानकारी दी गयी, जिसमें अवगत कराया गया कि पीड़ित व्यक्ति को पुलिस द्वारा उत्पीड़न किये जाने पर वह राज्य/जिला पुलिस शिकायत प्राधिकरणों मेें सम्बंधित पुलिस अधिकारियों के विरूद्ध शिकायत दर्ज करा सकते है। उक्त शिविर में स्थायी लोक अदालत हेतु भी प्रचार-प्रसार किया गया। उक्त शिविर में स्थाई लोक अदालत बाबत् भी जानकारी दी गयी। उपस्थित व्यक्तियों को अवगत कराया कि स्थायी लोक अदालत का गठन विधिक सेवा प्राधिकरण अधिनियम 1987 की धारा-22 बी के अन्तर्गत किया गया है। वर्तमान में उत्तराखण्ड राज्य मंे देहरादून, ऊधमसिंह नगर, हरिद्वार एवं नैनीताल में स्थाई लोक अदालत का गठन किया गया है, बाकी समस्त जिलों मंे स्थाई लोक अदालतों के गठन का कार्य विचाराधीन है। जनपद देहरादून मंे स्थायी लोक अदालत का गठन फौजदारी न्यायालय परिसर, देहरादून में किया गया है जिसमें जनउपयोगी सेवाओं से सम्बंधित मामलों का त्वरित/निशुल्क निस्तारण किया जाता है एवं कोई भी व्यक्ति अपने मामलों को उक्त स्थायी लोक अदालत के माध्यम से जल्द से जल्द व कम खर्च में निस्तारित कर सकें। अधिक जानकारी के लिये सम्पर्क करें-स्थाई लोक अदालत, देहरादून, फौजदारी न्यायालय परिसर, देहरादून की ई-मेल आई0डी0- एवं मोबाईल नम्बर पर 8958059156 सम्पर्क स्थापित कर सकते हैं। शिविर मंे उपस्थित व्यक्तियों को अवगत कराया कि समाज के कमजोर, निर्धन एवं असहाय लोगों को न्याय से वंचित न होना पड़ें इसके लिये विधिक सेवा प्राधिकरण अधिनियम, 1987 की नियमावली का गठन किया गया। इस अधिनियम के अन्तर्गत यह प्रावधान किया गया कि समाज के सभी ऐसे वर्ग जो निशुल्क कानूनी सहायता एवं परामर्श प्राप्त करने के वास्तव में हकदार है उन्हें आर्थिक समस्या का सामना न करना पड़े एवं वह अपने अधिकारों को प्राप्त कर सकें एवं समय पर उन्हें न्याय प्राप्त हो सकें। इसके तहत राष्ट्रीय स्तर पर राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण, नई दिल्ली एवं राज्य स्तर पर राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण एवं जिला स्तर पर जिला विधिक सेवा प्राधिकरणों एवं तहसील स्तर पर तहसील विधिक सेवा समिति का गठन किया गया। उक्त अधिनियम के अन्तर्गत राज्य प्राधिकरण या उच्च न्यायालय विधिक सेवा समिति, जिला प्राधिकरण एवं ताल्लुक प्राधिकरण में प्रत्येक व्यक्ति जिनका कोई मामला विचाराधीन है या दायर करना है उन मामलांे में निम्नलिखित पात्र व्यक्तियों को कानूनी सेवाएं देने के मानदण्ड निर्धारित किए गए हैं। यह भी अवगत कराया कि यदि किसी भी व्यक्ति को अपनी समस्या के निवारण हेतु अन्यथा निशुल्क विधिक सहायता हेतु आवश्यकता हो या उनकी पेंशन/राशनकार्ड/मृत्यु प्रमाण-पत्र आदि को बनाने में किसी भी प्रकार की समस्या उत्पन्न हो तो वह जिला विधिक सेवा प्राधिकरण, देहरादून के दूरभाष नम्बर 0135-2520873 एवं ई0मेल पर सम्पर्क कर सकता है। इसके अतिरिक्त शिविर मंे उपस्थित व्यक्तियों की समस्याओं का निवारण भी किया गया।

फ्लिपकार्ट होलसेल लाया किराना और रिटेलरों के लिए त्यौहारी बहार

देहरादून। त्यौहारी मौसम की आमद देश के लाखों रिटेलरों, किराना व छोटे कारोबारियों के लिए खुशी का सबब बनने जा रही है क्योंकि फ्लिपकार्ट ग्रुप का ’द बिग बिलियन डेज़’ लगातार दूसरे वर्ष फ्लिपकार्ट होलसेल पर लाइव है। यह अनूठी सालाना सेल 3 अक्टूबर से शुरु हो चुकी है और 10 अक्टूबरतक जारी रहेगी। बैस्ट प्राइस कैश एंड कैरी स्टोर्स और फ्लिपकार्ट होलसेल पर जारी इस बिग बिलियन डेज़ सेल के आकर्षक ऑफर्स का फायदा 24 प्रदेशों एवं केन्द्र शासित प्रदेशों के 15 लाख से अधिक किराना कारोबारियों को होगा जो उत्पादों की विस्तृत रेंज में से चयन कर सकेंगे। उनके लिए फैशन में 4 लाख से ज्यादा, किराना में 13,500 और सामान्य वस्तुओं में 25,000 उत्पाद उपलब्ध रहेंगे। इस वर्ष बिग बिलियन डेज़ पर किराना व रिटेलर ज्यादा मार्जिन प्राप्त कर पाएंगे, फलस्वरूप वे अंतिम उपभोक्ताओं को इसका फायदा पहुंचा सकेंगे। बैस्ट प्राइस के सदस्य बैस्ट प्राइस स्टोर्स में आकर या फ्लिपकार्ट होलसेल ऐप से सुविधापूर्वक ऑर्डर कर के विभिन्न उच्च क्वालिटी उत्पादों पर सर्वश्रेष्ठ डील का लाभ उठा सकते हैं। ये उत्पाद विभिन्न श्रेणियों में उपलब्ध हैं- जैसे पैकेज्ड फूड, होम केयर, पर्सनल केयर, फैशन, ग्रॉसरी और जनरल मर्चेंडाइज़।

हाइकोर्ट ने चारधाम यात्रा से सीमित संख्या की पाबंदी हटाई, अब असीमित संख्या में तीर्थयात्री कर सकेंगे यात्रा

देहरादूना। नैनीताल हाइकोर्ट ने बदरीनाथ-केदारनाथ सहित चारधाम यात्रा के श्रद्धालुओं की संख्या बढ़ाए जाने के मामले को लेकर दायर याचिका पर मंगलवार को सुनवाई हुई। हाइकोर्ट ने चारों धाम में श्रद्धालुओं की निर्धारित संख्या से रोक हटा दी है। अब तीर्थ यात्री बेरोकटोक चारधाम यात्रा के लिए जा सकेंगे। साथ ही हाईकोर्ट ने निर्देश दिया है कि शासन को कोविड प्रोटोकॉल का सख्ती से पालन करवाना होगा। कोर्ट के इस आदेश से सरकार सहित दूसरे प्रदेशों से आने वाले तीर्थ यात्रियों, चारधाम यात्रा रूट पर होटलों, दुकानदारों आदि स्थानीय लोगों को भी बड़ी राहत मिली है। मुख्य न्यायमूर्ति आरएस चौहान व न्यायमूर्ति आलोक कुमार वर्मा की खंडपीठ में सुनवाई के दौरान महाधिवक्ता एसएन बाबुलकर व मुख्य स्थाई अधिवक्ता चंद्रशेखर रावत ने उत्तराखंड सरकार का पक्ष रखते हुए कहा कि चारधाम यात्रा शुरू करने के लिए तीर्थ यात्रियों की सख्यां को निर्धारित किया गया था। साथ ही, तीर्थ यात्रियों को कोविड प्रोटोकॉल का पालन करने की भी सख्त हिदायत दी गई थी। माधिवक्ता द्वारा कहा गया कि चारधाम यात्रा करने के लिए कोविड को देखते हुए कोर्ट ने पूर्व में श्रद्धालुओं की संख्या निर्धारित कर दी थी। लेकिन वर्तमान समय मे प्रदेश में कोविड के केस ना के बराबर आ रहे है। इसलिए चारधाम यात्रा करने के लिए श्रद्धालुओं की निर्धारित संख्या के आदेश में संशोधन किया जाए।कहा कि चारधाम यात्रा समाप्त होने में 40 दिन से कम का समय बचा हुआ है। इसलिए जितने भी श्रद्धालु वहां आ रहे है उन सबको दर्शन करने की अनुमति दी जाए। जो श्रद्धालु ऑनलाइन दर्शन करने हेतु रजिस्ट्रेशन करा रहे है, वे भी नहीं आ पा रहे हैं। जिसके कारण वहां के स्थानीय लोगो पर रोजी-रोटी का खतरा उत्पन्न हो रहा है। सरकार द्वारा कोर्ट ने पूर्व दिए गए दिशा-निर्देशों का हर सम्भव प्रयास किया जा रहा। चारधाम यात्रा में सभी सुविधाओं को उपलब्ध करा दिया गया है। सरकार की तरफ से यह भी कहा गया है कि चारधाम यात्रा करने के लिए श्रद्धालुओं की निर्धारित संख्या से रोक हटाई जाए या फिर श्रद्धालुओं की संख्या तीन से चार हजार प्रतिदिन किया जाए ताकि दूसरे प्रदेशों से भी लोग दर्शन को आ सकें। कहा कि कोरोना महामारी पर कोविड गाइडलाइन का सख्ती से पालन भी किया जा रहा है। सरकार का पक्ष सुनने के बाद हाईकोर्ट ने रोक हटा दी गई है।पूर्व में कोर्ट ने चारधाम यात्रा करने के लिए प्रत्येक दिन केदारनाथ धाम में 800, बद्रीनाथ धाम में 1000, गंगोत्री में 600, यमनोत्री धाम में कुल 400 श्रद्धालुओ को जाने की अनुमति दी थी।

सीएम पुष्कर सिंह धामी ने किया केदारनाथ पुनर्निर्माण कार्याे का अवलोकन

देहरादूना। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी आज प्रातः 9 बजे निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार केदारनाथ धाम पहुंचे। हेली पेड पर देवस्थानम बोर्ड, जिला प्रशासन सहित तीर्थ पुरोहितों ने उनकी अगवानी की तथा स्वागत किया गया। हेलीपैड से मुख्यमंत्री श्री केदारनाथ मंदिर दर्शन को पहुंचे जहां उन्होंने सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए बाबा केदारनाथ भगवान के दर्शन किये। उनकी ओर से मुख्य पुजारी बागेश लिंग ने रुद्राभिषेक का पाठ किया। देश एवं प्रदेश के खुशहाली की मंगलकामना की। देवस्थानम बोर्ड द्वारा उन्हें श्री केदारनाथ भगवान का प्रसाद एवं रुद्राक्ष माला भेंट की। मुख्यमंत्री आदि गुरु शंकराचार्य जी के समाधि स्थल गये और वहां समाधि स्थल पुनर्निर्माण कार्य का निरीक्षण किया। आदि गुरु शंकराचार्य जी की मूर्ति को हेलीकॉप्टर से कुछ दिनों पूर्व श्री केदारनाथ धाम पहुंचाया गया है। मुख्यमंत्री ने संपूर्ण केदारनाथ धाम में चल रहे पुनर्निर्माण कार्यों का मौके पर अवलोकन भी किया। उन्होंने पुनर्निर्माण में लगे अधिकारियों, इंजीनियरों,मजदूरों के साथ ही श्रद्धालुओं से भी बातचीत की। इस अवसर पर उत्तराखंड चारधाम देवस्थानम बोर्ड के सदस्य एवं वरिष्ठ तीर्थ पुरोहित श्रीनिवास पोस्ती, पर्यटन सचिव दिलीप जावलकर, जिलाधिकारी मनुज गोयल, पुलिस अधीक्षक आयुष अग्रवाल, उपजिलाधिकारी योगेन्द्र सिंह, देवस्थानम बोर्ड के मंदिर प्रशासनिक अधिकारी यदुवीर पुष्पवान, प्रबंधक अरविंद शुक्ला, प्रदीप सेमवाल भी मौजूद रहे।

तीसरे एडीशन को 10,000 ऑफर्स के साथ 10 गुना तक बढ़ाया

देहरादूना। एचडीएफसी बैंक अपने फेस्टिव ट्रीट्स 3.0 अभियान के हिस्से के रूप में 10,000 से अधिक ऑफर के साथ सभी भारतीयों को खुशियां प्रदान करते हुए उनके दिल रोशन करने के लिए पूरी तरह से तैयार है। इस बार बैंक ने 2020 के मुकाबले ऑफर्स को 10 गुणा तक बढ़ाया है। इस साल हमारे फेस्टिव ट्रीट्स में कार्ड्स, लोन्स और ईएमआई पर 10,000 से अधिक ऑफर्स प्रदान किए जा रहे हैं। इस साल के फेस्टिव ट्रीट्स की थीम ’करो हर दिल रोशन’ है। यह इस विश्वास को दर्शाता है कि हमारे छोटे से छोटे कार्य भी व्यापक प्रभाव डाल सकते हैं और दूसरों के जीवन को बदल सकते हैं। बैंक अपनी शाखाओं, एटीएम, स्टोर/वेबसाइटों के साथ साझेदारी और डिजिटल मीडिया अभियानों के माध्यम से प्रत्येक भारतीय तक पहुंचने का प्रयास कर रहा है, और सभी ग्राहकों पर खास ध्यान दिया जा रहा है। बैंक ने अपने ग्राहकों को उनकी व्यक्तिगत और व्यावसायिक जरूरतों के लिए विशेष रूप से तैयार की गई शानदार डील्स का लाभ उठाने का अवसर प्रदान करने के लिए 100 से अधिक स्थानों पर 10,000 से अधिक व्यापारियों और कंपनियों के साथ भागीदारी की है। कुछ प्रमुख राष्ट्रीय साझेदारों में एप्पल, अमेजन, शॉपर्स स्टॉप, एलजी, सैमसंग, सोनी, टाइटल, सेंट्रल, आजियो, रिलायंस डिजिटल, रिलायंस ट्रेंड्स, लाइफस्टाइल और कई अन्य प्रमुख ब्रांड शामिल हैं।

मुख्यमंत्री धामी ने की सीएम हैल्पलाइन-1905 की समीक्षा

देहरादूना। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने मुख्यमंत्री आवास में सीएम हैल्पलाईन-1905 की समीक्षा के दौरान अधिकारियों को निर्देश दिये कि यह सुनिश्चित किया जाय कि सीएम हैल्पलाईन पर प्राप्त जन शिकायतों का समाधान समयबद्धता से हो। इसके लिए एक उच्च स्तरीय मॉनेटरिंग मैकनिज्म बनाया जाय। एक माह में मुख्यसचिव द्वारा एवं प्रत्येक 15 दिन में विभागीय सचिवों इसकी मॉनिटरिंग के लिए बैठक की जाय। मुख्यमंत्री ने कहा कि सीएम हैल्पलाईन पर जन शिकायतों के समाधान के लिए अगर किसी स्तर पर संबंधित अधिकारी द्वारा लापरवाही बरती जा रही है, तो ऐसे अधिकारियों पर शीघ्र सख्त कारवाई की जाय। समाज के अन्तिम पंक्ति तक के लोगों को सीएम हैल्पलाईन से मदद मिले एवं उनकी समस्याओं का समाधान हो, इसकी जानकारी भी जन-जन तक पहुंचाई जाय। यदि सीएम हैल्पलाईन पर कोई आपातकालीन कॉल आती है, तो संबंधित व्यक्ति की मदद के लिए संबंधित हैल्पलाईन नम्बर या आपातकालीन सेवाओं से उन्हें कनेक्ट करने की व्यवस्था भी की जाय। मुख्यमंत्री ने कहा कि जो शिकायतें या शिकायती पत्र सीधे मुख्यमंत्री कार्यालय में आती हैं, उन्हें भी सीएम हैल्पलाईन में डाला जाए। जन शिकायतों एवं समस्याओं का समाधान करना सरकार की शीर्ष प्राथमिकता है। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने सीएम हैल्पलाईन 1905 के शिकायतकर्ता अगस्त्यमुनी के पंकज गोस्वामी एवं हल्द्वानी की बीना पंत से फोन से भी वार्ता की। पंकज गोस्वामी ने देवभूमि एप पर पुलिस वेरिफिकेशन के लिए एप्लाई किया था। काफी समय तक वेरिफिकेशन न होने के कारण उन्होंने सीएम हैल्पलाईन पर शिकायत की थी। उन्होंने बताया कि सीएम हैल्पलाईन पर शिकायत के 12 घण्टे के अन्दर ही उनका पुलिस वेरिफिकेशन हो गया था। इसके लिए उन्होंने मुख्यमंत्री का आभार व्यक्त किया। बीना ने बताया कि उन्होंने विद्युत से संबंधित समस्या के समाधान के लिए सीएम हैल्पलाईन पर शिकायत की थी। सीएम हैल्पलाईन पर शिकायत करने के बाद जल्द ही समस्या का समाधान हो गया था। इसके लिए उन्होंने मुख्यमंत्री का आभार व्यक्त किया और कहा कि 1905 नम्बर जन समसयाओं के त्वरित समाधान के लिए काफी कारगर साबित हो रहा है। निदेशक आईटीडीए डॉ. आशीष कुमार श्रीवास्तव ने जानकारी दी कि मुख्यमंत्री हैल्पलाईन नम्बर पर जन शिकायत प्रतिदिन सुबह 08ः00 बजे से रात्रि 12 बजे तक दर्ज की जा रही है। पहले यह रात्रि के 10 बजे तक दर्ज की जा रही थी। मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी के निर्देश के बाद इसे 02 घण्टे और बढ़ाया गया है। सीएम हैल्पलाईन में 54 विभाग एवं 155 उप विभाग पंजीकृत हैं। समस्याओं के समाधान के लिए चार स्तर बनाये गये हैं। जो क्रमशः ब्लॉक, जिला, विभागाध्यक्ष एवं शासन स्तर तक है। सीएम हैल्पलाईन 1905 पर अभी तक कुल 174250 शिकायतें दर्ज की जा चुकी हैं। जिसमें से 105060 शिकायतकर्ता की संतुष्टि के बाद बंद कर दी गई है। शेष पर अलग-अलग स्तर पर प्रक्रिया गतिमान है। इस अवसर पर अपर मुख्य सचिव आनन्द बर्द्धन, प्रमुख सचिव आर.के.सुधांशु, सचिव शैलेश बगोली, अरविन्द सिंह ह्यांकी, विनोद कुमार सुमन, अपर सचिव सोनिका उपस्थित थे।

केदारनाथ में शंकराचार्य जी की समाधि का काम 30 अक्टूबर तक पूरा हो जाएगाः सीएम

देहरादूना। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने केदारनाथ धाम के पुनर्निर्माण कार्यों का निरीक्षण करने के बाद देहरादून वापस आकर प्रेसवार्ता की। मुख्यमंत्री आवास स्थित जनता दर्शन हॉल में प्रेस कॉनफ़्रेन्स को संबोधित करते हुए उन्होंने चार धाम आने वाले श्रद्धालुओं से अपील की है कि वे कोविड गाइडलाइन को ध्यान में रखते हुए चार धाम के लिए जारी की एसओपी का पूरा पालन करें। यात्रा पर निकलने से पहले अपने सभी जरूरी दस्तावेज और कोविड-19 निगेटिव रिपोर्ट और वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट को साथ अवश्य लाएं। मुख्यमंत्री ने कहा कि न्यायालय ने चारधाम यात्रा में श्रद्धालुओं के लिए प्रतिदिन निर्धारित सीमा हो हटा दिया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार का प्रयास है कि यात्रा भी चलती रहे और यात्रियों की सुरक्षा भी रहे, इसके लिए कोविड गाइड लाइन के तहत यात्रा को सकुशल संपन्न कराया जाएगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि यात्रा को लेकर जो भी दिक्कतें हैं उन्हें जल्द दूर करने हेतु निर्देश दे दिए हैं। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने केदारनाथ धाम के पुनर्निर्माण कार्याे की जानकारी देते हुए बताया कि आगामी 30 अक्टूबर तक श्री शंकराचार्य जी की समाधि का काम पूरा हो जाएगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि केदारनाथ धाम के लिए 409 करोड़ के कार्य प्रस्तावित हैं जिनमें 225 करोड़ का कार्य पूरा हो गया है, जबकि फेज 2 में 114 करोड़ का कार्य निर्माणाधीन है। इसी तरह से बदरीनाथ धाम के लिए 245 करोड़ के कार्य प्रस्तावित है। मुख्यमंत्री श्री धामी ने जानकारी देते हुए बताया कि चारों धामों हेतु पुनर्निर्माण एवं सौंदर्यीकरण हेतु 708 करोड़ रुपए के कार्य गतिमान और प्रस्तावित हैं।

Monday, 4 October 2021

सूरज कुँवर शाह के अंतिम संस्कार में सम्मिलित हुए सीएम

देहरादूना। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी सोमवार को पूर्व सांसद टिहरी गढ़वाल स्व. महाराजा मानवेंद्र शाह की पत्नी सूरज कुँवर शाह के अंतिम संस्कार में सम्मिलित होने मुनिकीरेती घाट, ऋषिकेश, टिहरी पहुंचे। मुख्यमंत्री ने सूरज कुँवर शाह जी के अंतिम दर्शन कर उनके पार्थिव शरीर पर पुष्पांजलि अर्पित की। मुख्यमंत्री ने उनके परिजनों से भेंट कर शोक संवेदनाएं व्यक्त की। इस अवसर पर विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद्र अग्रवाल, कैबिनेट मंत्री डॉ. धन सिंह रावत, कैबिनेट मंत्री सुबोध उनियाल, सांसद तीरथ सिंह रावत, पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत, विधायक खजान दास सहित अन्य महानुभावों ने भी श्रद्धांजलि अर्पित की।

चारधाम यात्रा पर आने वाले श्रद्धालुओं को किसी भी प्रकार की परेशानी न होः सीएम

देहरादून। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने मुख्यमंत्री आवास स्थित कैम्प कार्यालय में चारधाम यात्रा की समीक्षा के दौरान अधिकारियों को निर्देश दिये कि यह सुनिश्चित किया जाय प्रदेश में आने वाले श्रद्धालुओं एवं पर्यटकों को किसी भी प्रकार की परेशानी न हो। श्रद्धालुओं एवं पर्यटकों को हर संभव सुविधा दी जाय। मुख्यमंत्री ने कहा कि श्रद्धालु एवं पर्यटक देवभूमि उत्तराखण्ड से अच्छा संदेश लेकर जाएं, यह सबकी जिम्मेदारी है। श्रद्धालुओं एवं पर्यटकों के प्रति किसी भी प्रकार की अभद्रता बर्दाश्त नहीं की जायेगी। उन्होंने कहा कि राज्य में यदि एक भी यात्री को परेशानी होगी तो प्रदेश का मुख्य सेवक होने के नाते मुझे परेशानी होगी। मुख्यमंत्री ने वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से जुड़े रूद्रप्रयाग, चमोली एवं उत्तरकाशी के जिलाधिकारियों एवं पुलिस अधीक्षकों को निर्देश दिये कि यह सुनिश्चित किया जाय कि चारधाम यात्रा के लिए आने वाले श्रद्धालुओं के लिए सभी व्यवस्थाएं अच्छी हों। गाईडलाइन के अनुसार श्रद्धालु दर्शन कर सकें। पर्यटक स्थलों पर जाने वाले यात्रियों को भी कोई परेशानी न हो। मुख्यमंत्री ने चारधाम यात्रा पर आने वाले श्रद्धालुओं से अपील की है कि चारधाम यात्रा के लिए पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन करने के बाद जिन लोगों को परमिशन मिली है, वही लोग उत्तराखण्ड के चार धाम यात्रा के लिए आयें। बैठक में मुख्य सचिव डॉ. एस.एस. संधु, डीजीपी अशोक कुमार, मुख्यमंत्री के अपर प्रमुख सचिव अभिनव कुमार, सचिव दिलीप जावलकर, गढ़वाल कमिश्नर रविनाथ रमन, डीआईजी गढ़वाल नीरू गर्ग, अपर सचिव युगल किशोर पंत उपस्थित थे।

Sunday, 3 October 2021

श्रद्धा पूर्वक मनाया गया डॉ. बलबीर सिंह का सलाना समागम

देहरादून। प्रीतम रोड़ स्थित डॉ. बलबीर सिंह साहित्य केंद्र मंे डॉ. बलबीर सिंह जी का 47 वां सालाना समागम पंजाबी यूनिवर्सिटी पटियाला के वाईस चेयरमैन, प्रो. अरविन्द की अग़वाई मै श्रद्धा पूर्वक मनाया गया। प्रातः श्री सहज पाठ के भोग के पश्चात भाई कँवर पाल सिंह ने शब्द गायन किया स कोर्डिनेटर डॉ. परमबीर सिंह ने अतिथियों का स्वागत करते हुए डॉ. बलबीर सिंह की जीवनी एवं उनके द्वारा किये गये कार्यों क़ी जानकारी दी। संत जसविंदर सिंह शास्त्री ने यादगारी भाषण दिया। विशिष्ट अतिथि, अल्पसंख्यक आयोग के पूर्व चेयरमैन स. नरेन्दर जीत सिंह बिंन्द्रा ने कहा कि केन्द्र में पंजाबी भाषा के विकास के लिये सर्टिफिकेट कोर्स, पब्लिक लायब्रेरी, पंजाबी टाइपिंग, सेमिनार एवं वर्कशॉप आदि के लिये कदम उठाये जा सकते हैँ स डायरेक्टर डॉ. गुरशरण सिंह रंधावा ने यूनिवर्सिटी द्वारा केन्द्र मै शुरू कि जाने वाली गतिविधियों के बारे में विचार रखे। यूनिवर्सिटी के वाईस चांसलेर प्रो. अरविन्द ने कहा कि पंजाबी यूनिवर्सिटी सभी पंजाबीयों कि है, इसलिए सभी को अपनी हिस्सेदारी निभानी चाहिए एवं यूनिवर्सिटी मै चल रहे पंजाबी, धर्म अधिययन, गुरमत संगीत आदि कोर्स का लाभ उठाना चाहिये स इसलिए अवसर पर केन्द्र द्वारा प्रकाशित पुस्तक , पंचवटी सन्देश, का विमोचन भी किया गया। डॉ. कुलविंदर सिंह ने आये हुए अतिथियों का कार्यक्रम मै उपस्थित होने के लिये धन्यवाद किया। इस अवसर पर निर्मल आश्रम के संत जोध सिंह, नरेन्दर जीत सिंह बिंन्द्रा, डॉ दलजीत कौर, गुरुद्वारा श्री गुरु सिंह सभा प्रधान स. गुरबख्श सिंह राजन, महासचिव गुलज़ार सिंह, महंत ज्ञान देव सिंह, अमरजीत सिंह भाटिया, ब्रिगेडियर के जी बहल,, एच एस रंधावा, दविंदर सिंह बिंन्द्रा, डॉ. गोविल, बलबीर सिंह, दलबीर सिंह, पवन दीप सिंह, भाई कँवर पाल सिंह, ब्रजिन्दर पाल सिंह, टी एस आनन्द एवं सतपाल सिंह आदि उपस्थित थे।

Saturday, 2 October 2021

जन्म दिवस पर बापू और शास्त्री का भावपूर्ण स्मरण, आदर्शाें के अनुसरण का लिया संकल्प

देहरादून। राष्ट्रपिता महात्मा गाँधी और पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री की जयंती पर भाजपा प्रदेश मुख्यालय में उनका भावपर्ण स्मरण कर उन्हें श्रद्धा सुमन अर्पित किए गए। इस मौके पर प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक ने कहा यह दिन हमारे लिए गांधी जी के संघर्ष और त्याग को स्मरण करने का अवसर है। हम सब उनकी शिक्षा, आदर्शों और जीवन-मूल्यों का अनुसरण करते हुए यह संकल्प लें कि हम सब उनके सपनों का भारत बनाने की दिशा में सतत प्रयत्नशील रहें। उन्होंने शास्त्री जी को नमन करते हुए कहा कि वह देश के एक महान सपूत थे जिन्होंने पूर्ण निष्ठा, समर्पण तथा लगन के साथ राष्ट्र की सेवा की। उनकी सादगी, सदाचार और सत्यनिष्ठा आज भी सभी देशवासियों के लिए प्रेरणा के स्रोत है। उन्होंने कम समय में ही भारत को उसकी पहचान दिलाने में विश्व पटल पर अमिट छाप छोड़ी। 1962 के युद्ध में विश्व ने उनके राजनीतिक कौशल को देखा और ष्जय जवान जय किसान का नाराष् देते हुए प्रत्येक भारतीय को एक दूसरे से जोड़ने का अटूट कार्य किया। प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि 2 अक्टूबर का दिन उत्तराखंड राज्य के निर्माण की नीव के रूप में भी इतिहास के पन्नों में इंगित है। 2 अक्टूबर के दिन ही ष्रामपुर तिहारेष् पर भीषण गोली कांड हुआ था। जिसमें असंख्य उत्तराखंड वासियों ने बलिदान, गोलियों ओर लाठी-डंडों को सहा था। उन्होंने कहा कि बीजेपी मात्र एक ऐसी पार्टी है जो गांधी जी के सपनों को साकार करने में लगी हुई है। केंद्र में मोदी सरकार ने जिस प्रकार स्वरोजगार व आत्मनिर्भर भारत जैसे आयाम देश के सामने प्रस्तुत किए हैं वह गांधी जी के सपनों को पूरा करने में सिद्ध साबित होंगे। करोना काल में पूरे विश्व ने देखा है कि हमने अपने देश को तो वैक्सीन देने का कार्य किया ही अपितु दूसरे देशों को भी वसुदेव कुटुंबकम के राह पर चलते हुए उनको भी उपलब्ध कराने का विश्व बंधुत्व का कार्य किया। इस मौके पर प्रदेश महामंत्री संगठन अजेय ने कहा कि सत्य एवं अहिंसा का संदेश देने वाले राष्ट्रपिता महात्मा गांधी जी की जयंती पर उनका स्वदेशी और सहकारिता का नारा देश को स्वावलंबी बनाने में बहुत महत्वपूर्ण है। उन्होंने कहा कि गाँधी जी के दिखाए मार्ग पर चलकर प्रधानमंत्री मोदी जी की सरकार आत्मनिर्भर भारत बनाने को कृतसंकल्पित है। इस अवसर पर राज्यसभा सांसद नरेश बंसल, विधायक हरबंस कपूर, प्रदेश महामंत्री कुलदीप कुमार, विश्वास डाबर, अन्य वक्ताओं ने गांधी जी और शास्त्री जी के जीवन पर अपने वक्तव्य रखें और सभी को उनके विचारों को आत्मसात करने के लिए संदेश दिया। इस अवसर पर प्रदेश उपाध्यक्ष डॉ देवेंद्र भसीन, पुनीत मित्तल, डॉ आदित्य कुमार ,मधु भट्ट, बलवीर घुनियाल, आदित्य चौहान ,कौस्तुभानंद जोशी, मनवीर सिंह चौहान, विनय ग़ोयल, विनोद सुयाल, प्रकाश सुमन ध्यानि विश्वाश डाबर, रविन्द्र कटारिया, वीरेंद्र सिंह बिष्ट, संजीव वर्मा, हिमांशु संगतानी आदि भाजपा के वरिष्ठ नेता व कार्यकर्ताओं ने दोनों मनीषियों को श्रद्धासुमन अर्पण किया।

एस एल होंडा ने देहरादून में एक्टिवा की 2 लाख बिक्री की उपलब्धि की हासिल

देहरादून। देहरादून के एस एल हौंडा डीलरशिप ने हाल ही में घोषणा कर उत्तराखंड की राजधानी में दोपहिया वाहन एक्टिवा की 2 लाख बिक्री की उपलब्धि हासिल करली है। इस अवसर का जश्न मनाते हुए, देहरादून शहर की इस सबसे लोकप्रिय होंडा डीलरशिप ने एक ऑनलाइन माध्यम से एक वीडियो जारी किया है, जिसमें यह दर्शाया गया है कि कैसे एक्टिवा एक आम आदमी के लिए जीवन रेखा बन गई है। श्रिश्तों की सवारी शीर्षक वाले उक्त वीडियो को हाल ही में सोशल मीडिया पर 6 लाख से अधिक बार देखा जा चुका है। राजपुर रोड पर स्थित एस एल हौंडा डीलरशिप द्वारा बताया गया है की अपनी स्थापना के बाद से देहरादून शहर में 2 लाख से अधिक एक्टिवा स्कूटर बेचने में सफलता हासिल करना पूरी कंपनी के लिए एक जबरदस्त उपलब्धि है। एस एल हौंडा के मालिक, सुरेंद्र बत्रा ने कहा, ष्हम देहरादून में हौंडा दोपहिया वाहनों के ग्राहकों की पहली पसंद बनकर बेहद खुश हैं। शहर में जब कभी हौंडा टू-व्हीलर खरीदने की बात आती है, तो दून वासियों के दिमाग में एक ही नाम आता है एस एल होंडा, और हम समय के साथ इस प्रतिष्ठा को अर्जित करने पर बहुत गर्व महसूस करते हैं। इतने साल की कड़ी मेहनत के दौरान हमको शहर वासियों द्वारा इतना प्यार और आशीर्वाद मिला है, जिसके लिए हमेशा सदैव आभारी रहेंगे। सुरेंद्र बत्रा ने कहा कि एक्टिवा राज्य में सबसे ज्यादा बिकने वाला दोपहिया वाहन है। एस् एल होंडा में हम अपने सम्मानित ग्राहकों के साथ दीर्घकालिक रिश्ता बनाने में विश्वास करते हैं। हमारे लिए यह काम सिर्फ केवल एक वाहन बेचने तक सीमित नहीं है, बल्कि उससे महत्वपूर्ण है बिक्री के बाद की सेवा, समर्थन और अन्य सहायता प्रदान करना, जो हमारे ग्राहकों और हमारे बीच बाध्यकारी शक्ति का प्रतीत साबित होती है। हमारे ग्राहकों को एस एल होंडा के प्रति पूर्ण विश्वास और प्रशंसा है। इतनी बड़ी उपलब्धि हासिल करने के इस उत्सव के दौरान एस एल हौंडा के खुश और संतुष्ट ग्राहकों की कहानियों को भी दर्शाया जायेगा। सुरेंद्र बत्रा ने बताया की इस फेस्टिव सीसन में एस् एल होंडा ग्राहकों के लिए कई नए ऑफर्स भी ला रहा है।

उत्तराखंड राज्य के शहीद आंदोलनकारियों को श्रद्धांजलि अर्पित की

देहरादूना। चिन्हित राज्य आंदोलनकारी संयुक्त समिति के केंद्रीय संयोजक व पूर्व राज्य मंत्री मनीष कुमार व मीडिया कमेटी के चेयरमैन नवीन जोशी ने एक संयुक्त बयान में आज उत्तराखंड राज्य आंदोलन के दौरान दो अक्टूबर 1994 को रामपुर तिराहा मुजफ्फरनगर गोलीकांड में शहीद हुए राज्य आंदोलनकारियों को भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित की। उन्होंने कहा कि राज्य निर्माण आंदोलन के उन वीर सपूतों को हम सलाम करते हैं जिनकी शहादत की वजह से आज हमको यह उत्तराखंड राज्य मिला है लेकिन बड़े अफसोस की बात है की 27 साल पूरे होने पर भी राज्य आंदोलनकारियों को आज तक इंसाफ व अपने अधिकार नहीं मिल पाए हैं। इसके लिए राज्य की भाजपा सरकार दोषी है जिसने राज्य आंदोलनकारियों की सुध नहीं ली ना ही दोषी व्यक्तियों को दंडित किया। न ही उनको न्याय मिल सका, इसके लिए राज्य की भाजपा सरकार को कभी भी प्रदेश की जनता माफ नहीं करेगी। जिस प्रकार का बर्ताव उन्होंने विगत. 4 साल 9 महीने में राज्य आंदोलनकारियों के साथ किया है सरकार की नकारात्मकता और राज्य आंदोलनकारियों की उपेक्षा का ही परिणाम है कि आज राज्य आंदोलनकारी अपने अधिकारों और हकों के लिए सड़कों पर धक्के खा रहे हैं। राज्य की जनता 2022 में इनको सत्ता विहीन करके उचित सबक सिखाएगी।

सरस्वती विहार विकास समिति ने चलाया स्वच्छता अभियान

देहरादूना। सरस्वती विहार विकास समिति अजबपुर खुर्द ने शिव शक्ति मंदिर सरस्वती विहार चौक में नगर निगम टीम के साथ स्वच्छता अभियान की शुरुआत की। जिसमें समिति के पदाधिकारी एवं क्षेत्रीय पार्षद सम्मिलित रहेे। समिति के सचिव गजेंद्र भंडारी ने कहा कि समिति द्वारा कल सभी क्षेत्रवासियों को सूचित किया गया था कि गांधी जयंती के अवसर पर सभी लोग स्वच्छता अभियान का हिस्सा बनेंगे और सभी लोग अपने अपने घरों के आगे स्वच्छता अभियान चलाएंगे। समिति के पदाधिकारी एवं नगर निगम की टीम शिव शक्ति मंदिर और बस स्टैंड के आसपास स्वच्छता अभियान की शुरुआत करेगी। उसी क्रम में आज प्रातः 8 बजे से सरस्वती विहार के लोगों ने अपने अपने घरों के आगे सड़क में साफ सफाई की और सभी लोगों ने गांधी जयंती के अवसर पर यह प्रण किया कि यह कार्यक्रम निरंतर आगे भी जारी रहेगा। इस अवसर पर समिति के अध्यक्ष पंचम सिंह बिष्ट, सचिव गजेंद्र भंडारी, क्षेत्रीय पार्षद विमल उनियाल, समिति के वरिष्ठ उपाध्यक्ष बीएस चौहान, उपाध्यक्ष कैलाश तिवारी, वरिष्ठ मंत्री अनूप सिंह फर्त्याल, प्रचार सचिव सोहन सिंह रौतेला, बहुगुणा कॉलोनी के अध्यक्ष दीपक रावत, मंगल सिंह कुट्टी, कुंदन सिंह राणा, आशीष गुसाईं, पुष्कर सिंह गुसाईं एवं नगर निगम के सुपरवाइजर अनूप पासबोला व उनकी टीम उपस्थित रहे।

संस्कृति एवं संस्कार से जोड़ती है खादीः मदन कौशिक

देहरादूना। गांधी-शास्त्री जयंती पर चल रहे देशव्यापी अभियान के अंतर्गत खादी वस्त्रों की खरीदारी करने चकराता रोड देहरादून स्थित गांधी खादी स्टोर पर पहुंचे भाजपा प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक ने मीडिया से बातचीत में कहा कि खादी हमें अपनी संस्कृति एवं संस्कार से जोड़ती है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आह्वान पर देशभर के भाजपा कार्यकर्ताओं एवं नागरिकों द्वारा खादी के वस्त्र क्रय करने से इस उद्योग को बल मिला है और खादी की बिक्री में उत्तरोत्तर वृद्धि हुई है। हम भी प्रदेश के सभी भाजपा कार्यकर्ताओं एवं नागरिकों से इस अवसर पर खादी से बने वस्त्र एवं अन्य उत्पाद खरीदने करने की अपील कर रहे हैं ताकि खादी उद्योग से जुड़े व्यक्ति न सिर्फ आत्मनिर्भर बन सकें बल्कि हमारी मूल संस्कृति का भी प्रचार-प्रसार हो। आज ही के दिन रामपुर तिराहा पर शहीद हुए आंदोलनकारियों को याद करते हुए प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि राज्य के प्रत्येक नागरिक के हृदय में उनका सम्मान है और हम उनके प्रति श्रद्धा व्यक्त करते हुए उनके सपनों का उत्तराखंड बनाने के लिए कटिबद्ध है। एक प्रश्न के उत्तर में मदन कौशिक ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का उत्तराखंड दौरा प्रस्तावित है पर अभी यह सरकारी स्तर पर है संगठन के स्तर पर विस्तृत कार्यक्रम की प्रतीक्षा है। इस अवसर पर स्थानीय विधायक हरबंस कपूर, प्रदेश प्रवक्ता विनय गोयल, प्रदेश सोशल मीडिया प्रभारी शेखर वर्मा, महानगर अध्यक्ष सीताराम भट्ट ,महानगर मीडिया प्रभारी राजीव उनियाल, कोषाध्यक्ष लच्छू गुप्ता ,जनरल महादेव मंडल अध्यक्ष बबलू बंसल ,पूर्व पार्षद सचिन गुप्ता, शेखर नौटियाल , पीएल सेठ, सुमन सिंह, राजकुमार, सौरभ कपूर सूरज बिष्ट, मधु जैन आदि भाजपा कार्यकर्ता एवं रामनारायण राज्य निदेशक खादी ग्रामोद्योग सोमपाल सिंह अध्यक्ष खादी फेडरेशन मंत्री प्रवीण डबराल स्टोर व्यवस्थापक संजय तोमर आदि उपस्थित रहे।

सीएम धामी ने उत्तराखंड शहीद स्मारक रामपुर तिराहा में राज्य आंदोलन के शहीदों को अर्पित की श्रद्धांजलि

देहरादूना। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि हमारी सरकार शहीदों के सपनों और राज्य आन्दोलनकारियों की भावनाओं के अनुरूप उत्तराखण्ड को हर क्षेत्र में आगे बढ़ायेगी। जनता, सरकार के भाव को समझे। यह बात उन्होंने उत्तराखंड शहीद स्मारक रामपुर तिराहा, मुजफ्फरनगर में उत्तराखंड राज्य आंदोलनकारी शहीदों की पुण्य स्मृति पर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए कही। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने राज्य आन्दोलनकारियों के हित में कई घोषणायें कीं, जिनमें राज्य आन्दोलनकारियों को सरकारी अस्पतालों की तर्ज पर राजकीय मेडिकल कालेजों में मुफ्त उपचार उपलब्ध करवाने, उद्योग धंधों में राज्य आन्दोलकारियों और उनके परिजनों को प्राथमिकता के आधार पर रोजगार देने और विभिन्न विभागों में सेवारत राज्य आन्दोलनकारियों को हटाये जाने सम्बंधी मामले में ठोस पैरवी करना शामिल है। सभा को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि मैं उन शहीदों को नमन करता हूं जिनके सर्वाेच्च बलिदान की वजह से हमें उत्तराखंड राज्य मिला है। राज्य निर्माण आंदोलन के दौरान खटीमा, मसूरी एवं मुजफ्फरनगर में लाखों आंदोलनकारियों ने भाग लिया जिसमें से कई लोगों को अपनी जान गंवानी पड़ी। उन्होंने कहा उत्तराखंड राज्य का विकास शहीदों के सपनों के अनुरूप किया जाएगा। इसके लिए हमारी सरकार लगातार कार्य कर रही है। राज्य आंदोलनकारियों से जुड़ी समस्याओं का प्राथमिकता के आधार पर समाधान किया जाएगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि 1 सितम्बर 2021 को घोषणा की थी कि राज्य आन्दोलनकारियों के चिन्हीकरण की प्रक्रिया फिर से शुरू की जायेगी, उसका शासनादेश भी जारी कर दिया गया है। हमारी सरकार जो भी घोषणा करेगी उसको हर हाल में धरातल पर उतारा जायेगा। राज्य आंदोलनकारियों एवं शहीदों का सपना था कि युवाओं को रोजगार के लिए भटकना न पड़े इसके लिए हमारी सरकार ने पहली कैबिनेट में यह फैसला लिया कि विभिन्न विभागों पर रिक्त चल रहे 24000 पदों पर भर्ती निकालेंगे, जिनमें आवेदन प्रक्रिया शुरू हो चुकी है युवाओं को स्वरोजगार से जोड़ने के लिए हर जिले में कैंप लगाए जा रहे हैं। इसक अलावा कोरोना से प्रभावित व्यवसायियों और स्वयं सहायता समूहों को क्रमशः 200 और 118 करोड़ के राहत पैकेज घोषित किये गये हैं जिनका पैसा प्रभावितों के खाते में आने लगा है। स्वास्थ्य के क्षेत्र में नई पहल करते हुए हमारी सरकार मरीजों को सरकारी अस्पतालों में 207 जांचें मुफ्त में करवाने की सुविधा दे रही है। कोरोना के कारण अनाथ और बेसहारा हुय बच्चों के भरण पोषण की जिम्मेदारी भी सरकार उठा रही है। इस अवसर पर केंद्रीय रक्षा राज्य मंत्री अजय भट्ट, केंद्रीय मंत्री एवं सांसद मुजफ्फरनगर संजीव बालियान, उत्तराखण्ड के कैबिनेट मंत्री स्वामी यतीश्वरानंद, भाजपा उत्तराखण्ड प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक, मुजफ्फरनगर के विधायक प्रमोद उडवाल, राजेन्द्र अन्थवाल, प. महावीर शर्मा एवं अन्य गणमान्य उपस्थित थे।

Featured Post

व्यासी जल विद्युत परियोजना को ऊर्जाकृत करने के परियोजना के आवश्यक कार्य लगभग पूर्ण हुए

देहरादूना। महाप्रबन्धक (जनपद) व्यासी परियोजना डाकपत्थर सुनील कुमार जोशी ने अवगत कराया है कि व्यासी जल विद्युत परियोजना को ऊर्जाकृत करने हेतु...