Sunday, 26 December 2021

50 मरीजों ने उठाया स्वास्थ्य शिविर का लाभ

देहरादून। श्री मैडिकल स्टोर द्वारा ट्रैवल पैराडाइज आनलाइन, असहाय जन कल्याण सेवा समिति एवं विजन सोसाइटी आफ इन्डिया के सहयोग से एक स्वास्थ्य शिविर का आयोजन किया गया। जिसमे विजन सोसाइटी आफ इन्डिया से नेत्र रोग विशेषग्य डा ओ पी गुप्ता ,दन्त रोग विशेषग्य डा रोहित अग्रवाल, फिजीशियन डा. जोशी द्वारा मरीजों का निशुल्क स्वास्थ्य परीक्षण किया गया तथा डी एन लैब द्वारा ब्लड प्रेशर व ब्लड शुगर की निशुल्क जांच के साथ ही थाईराइड सी बी सी लीवर प्रोफाइल, लिपिड प्रोफाइल की जांच कन्शेनसन रेट पर की गई इस कार्यक्रम मे असहाय जन कल्याण सेवा समिति की अध्यक्ष श्रीमती डा बलबीर नौटियाल उपाध्यक्ष स सेवा सिंह मठारू, कोषाध्यक्ष उर्मिला शर्मा, प्रदीप किशोर शर्मा, रूपाली शर्मा, विकास कुमार, ऋषि शर्मा, भूपेंद्र कुमार, वरूण योगेन्द्र, प्रिया शर्मा आदि ने अपना सक्रिय सहयोग प्रदान किया। करीबन 150 लोगांे ने स्वास्थ्य शिविर का लाभ प्राप्त किया।

आधोईवाला एफसी ने जीता एचसी बजाज मेमोरियल फुटबॉल टूर्नामेंट

देहरादून। अधोइवाला बॉयज एवं सी टी यंग्स के बीच खेले गये फाइनल मुकाबले में अधोइवाला बॉयज ने खिताबी मुकाबला जीत कर प्रथम स्व एच सी बजाज मेमोरियल फुटबॉल टूर्नामेंट का खिताब अपने नाम किया। अधोइवाला बॉयज एवं सी टी यंग के बीच रविवार को खेला गया फाइनल मुकाबला संघर्षपूर्ण रहा , खेल के पहले हाफ में अधोइवाला की ओर से मुनीष थापा ने गोल मारकर अपनी टीम को बढ़त दिलाई ! मध्यांतर के बाद खेले गए खेल में सी टी यंग गोल मारने के लिये आक्रमक खेलती रही परन्तु उसकी हर कोशिस विपक्षी रक्षा पंक्ति ने बेकार कर दी और अंततः अधोइवाला ने विजय प्राप्त की, विजयी टीमो को डीजी पी अशोक कुमार द्वारा 51 एवं 31 हजार नगद पुरष्कार के साथ चल वैजयंती प्रदान की। इस अवसर पर फुटबॉल के पूर्व दिगज्ज खिलाडीयो को भी संमानित किया गया, प्रतियोगिता में बेस्ट गोलकीपर रोहित कुमार,बेस्ट मिडफील्डर मयूर, बेस्ट फारवर्ड शैलेन्द्र नेगी, बेस्ट अपकमिंग प्लयेर अमित कुमार को दिया गया ! फाइनल मैच के दौरान विशिष्ट अथिति आई आर एस नरेश कुमार गोयल, संजय बजाज, शिप्रा जयराम, नरेंद्र कुमार गुरंग, नवीन नागलिया डीडीएसए के अध्यक्ष रामप्रसाद, आयोजक सचिव निर्मल कुमार, महासचिव गुरचरण सिंह, कोषाध्यक्ष राकेश उपाध्याय, देवेंद्र गुसाईं, उष्मान खान कुमार थापा, देवेंद्र बिष्ट, डीएम लखेड़ा, एल पी सुंदरियाल, संजीव डोभाल, राकेश बलूनी, बी एस रावत आदि लोग उपस्थित थे।

“सशक्त महिला समृद्धि उत्तराखंड-मातृशक्ति संवाद“ कार्यक्रम का सफलतापूर्वक आयोजन किया गया

देहरादून। आम आदमी पार्टी के मसूरी विधानसभा प्रभारी श्याम बोहरा द्वारा आज गढ़ी कैंट डाकरा में ’सशक्त महिला समृद्धि उत्तराखंड -मातृशक्ति संवाद’ कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रुप में आम आदमी पार्टी के दिल्ली विधायक अतिशी सिंह मौजूद रही। अतिशी सिंह कार्यक्रम में मौजूद महिलाओं को संबोधित करते हुए कहा कि हमारे घरों में महिलाएं 24 घंटे काम करती है वह भी बिना रुके-बिना थके परंतु उत्तराखंड के महिलाओं को आज भी उनका हक्क नहीं मिला है। उन्होंने उत्तराखंड आंदोलन को याद करते हुए कहां उत्तराखंड की माताएं एवं बहनों के त्याग एवं बलिदान को हम यूं ही जाने नहीं देंगे, हम एक सशक्त उत्तराखंड का निर्माण जरूर करेंगे। उन्होंन कहा प्रदेश की महिलाओं पर महंगाई की मार अब चारों तरफ से बढ़ती जा रही है, यह सब उत्तराखंड के लोग देख ही रहे है। घर के राशन कितने महंगे हो गए हैं, बिजली के बिल कितना महंगा हो गया है, स्कूल के फीस भी बहुत अधिक है एवं सरकारी स्कूल में उस तरह की व्यवस्था भी मौजूद नहीं है जहां पर लोग अपने बच्चों को उचित शिक्षा दे सकें। अतिशी सिंह अपने संबोधन में कहा कि हम दिल्ली की तर्ज पर उत्तराखंड में भी मोहल्ला क्लीनिक बनाएंगे एवं स्कूलों में भी उचित व्यवस्था करेंगे। हम उत्तराखंड के लोगों के लिए 300 यूनिट बिजली प्रत्येक महीना मुफ्त देंगे एवं यह बिजली 24 घंटे उत्तराखंड के प्रत्येक गांव और घरों में दी जाएगी। साथ ही साथ उन्होंने उत्तराखंड के स्वास्थ्य व्यवस्था पर सवाल खड़ा करते हुए कहा कि हमारे उत्तराखंड की महिलाएं अपने घर के जेवर और अन्य सामान गिरवी रख कर अपने परिवार के सदस्यों का इलाज कराते हैं। उत्तराखंड में अगर आम आदमी पार्टी की सरकार बनती है तो उत्तराखंड की तमाम समस्याओं का निवारण हो सकता है एवं हम दिल्ली के तर्ज पर प्रदेश के सभी शहरों और गांवों -कस्बों में मोहल्ला क्लीनिक की स्थापना करेंगे एवं देश का सर्वश्रेष्ठ स्वास्थ्य सुविधाएं हम उत्तराखंड में उपलब्ध कराएंगे। उन्होंने कहा कि अगर अरविंद केजरीवाल की सरकार बनती है तो उत्तराखंड के प्रत्येक 18 वर्ष से ऊपर के महिलाओं को हर महीने ₹1000 रूप्ये आम आदमी पार्टी के सरकार कि ओर से दिया जाएगा जिससे कि महिलाओं को उनके घर के खर्चों में मदद मिले। इस कार्यक्रम में आम आदमी पार्टी के मसूरी विधानसभा क्षेत्र से कविता क्षेत्री, विनीता क्षेत्री, मधु क्षेत्री, सीमा शाही, यामिनी आले, निशा कार्की, दुर्गा थापा, पूजा, रूबी खान, के साथ-साथ जिला महासचिव देहरादून पुर्वा संजय क्षेत्री ,गौरव उनियाल, नवीन क्षेत्री, महेश बोहरा, राजेश कुमार, रवि कार्की ,कुमार नीलू कमल थापा, चित्र बहादुर, दिल बहादुर, बिनोद थापा, कार्तिक थापा, आलम खान एवं अन्य सदस्य मौजूद रहे।

Friday, 24 December 2021

जमरानी क्षेत्र में भूमि खरीद फरोख्त पर रोक

हल्द्वानी। बहुप्रतीक्षित जमरानी बांध के निर्माण का रास्ता साफ हो गया है। भूमि अर्जन के लिए भूमि अध्यापित अधिनियम की धारा (11 एक) के अनुरूप एक प्रारंभिक अधिसूचना, शासन की ओर से नियुक्त विशेष भूमि अध्याप्ति अधिकारी नैनीताल की ओर से निर्गत कर दी गई है। धारा 11 के तहत अब जमरानी क्षेत्र में कोई भी व्यक्ति किसी भी तरह की भूमि की खरीद फरोख्त नहीं कर सकेगा। करीब 2,585 करोड़ की लागत से बनने वाली जमरानी बांध परियोजना के अंतर्गत 122 एकड़ भूमि अधिग्रहण की जानी है। जिसमें बांध से प्रभावित परिवारों की संख्या करीब 1107 है। सरकार ने भूमि अधिग्रहण के लिए दो श्रेणी में बांटा है। सरकार ने विस्थापितों के लिए खुरपिया फार्म उधम सिंह नगर में भूमि का चयन किया है। शासन द्वारा विस्थापितों के लिए दो श्रेणी बनाई गई हैं। श्रेणी एक में प्रभावित परिवार को एक एकड़ जमीन और श्रेणी दो में एक एकड़ जमीन का मूल्य दिये जाने का प्रावधान है। परियोजना के काम में तेजी लाने के लिए शासन जमरानी ईई पद पर तैनात भारत भूषण पांडे और ललित कुमार को जमरानी बांध परियोजना इकाई में उपमहाप्रबंधक बनाया गया है। जमरानी क्षेत्र में धारा 11 लगने के बाद क्षेत्र में भूमि खरीद फरोख्त प्रतिबंधित हो गई है। परियोजना के प्रभाव में जो परिवार आ रहे हैं शासन से परिवारों के पुनर्वास के लिए एक प्रारूप पुर्नवास नीति शासन को कमिश्नर के माध्यम से भेजी गयी है। जमरानी क्षेत्र में धारा 11 लागू होने का वहां के लोगों ने स्वागत किया है। ग्रामीणों ने पुनर्वास के लिए जमीन एवं नीति का प्रस्ताव आचार संहिता से पहले पारित करने की मांग की सरकार से की है। ताकि जमरानी क्षेत्र के प्रभावित लोगों को राहत मिल सके.प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 30 दिसंबर को हल्द्वानी पहुंच रहे हैं। उम्मीद है कि इससे पहले शासन और सरकार द्वारा जमरानी बांध परियोजना को गति दी जाएगी। उम्मीद जताई जा रही है कि प्रधानमंत्री मोदी संभवतः इस परियोजना का शिलान्यास भी कर सकते हैं।

सीएम धामी को भेंट की शांतिदूत प्रेम रावत की पुस्तक

देहरादून। अंतरराष्ट्रीय शांति वक्ता प्रेम रावत की लिखी पुस्तक हीयर योरसेल्फ मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी को भेंट की गई। प्रेम रावत दुनिया भर में शांतिदूत के नाम से जाने जाते हैं. प्रेम रावत के स्थानीय प्रवक्ता पीएस नेगी ने मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी को उनके कार्यालय में हीयर योरसेल्फ पुस्तक भेंट की। शांतिदूत प्रेम रावत के प्रवक्ता पीएस नेगी ने मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी को ऊर्जावान सीएम बताया। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने पुस्तक मिलने पर धन्यवाद अदा किया। बता दें कि प्रेम रावत द्वारा रचित प्रसिद्ध पुस्तक हीयर योरसेल्फ को लोगों द्वारा काफी पसंद किया जा रहा है। गौरतलब है कि प्रेम रावत विगत 53 वर्षों से विश्व के कोने-कोने में जाकर सभी मनुष्यों को शांति संदेश दे रहे हैं। उनके अनुसार शांति संभव है। जो कि पहले से ही स्वयं मनुष्य के हृदय में विराजमान है। प्रेम रावत ने इस पुस्तक में अपने जीवन के सभी अनुभवों का विस्तार से वर्णन किया है। उन्होंने बताया है कि किस तरह से हम इस शोर भरे संसार में शांति का अनुभव कर अपने जीवन को आनंद से व्यतीत कर सकते हैं।

दस लाख की स्मैक सहित एक दबोचा

नैनीताल। नशे के खिलाफ चलाये जा रहे अभियान के तहत नैनीताल पुलिस को कल देर रात खासी सफलता हाथ लगी है। पुलिस व एसओजी की संयुक्त टीम द्वारा कार्यवाही करते हुए एक नशा तस्कर को दस लाख की स्मैक सहित धर दबोचा गया है। जानकारी के अनुसार गत देर शाम कोतवाली लालकुंआ व एसओजी टीम को सूचना मिली कि क्षेत्र में एक नशा तस्कर भारी मात्रा में नशीले पदार्थाे सहित आने वाला है। सूचना पर कार्यवाही करते हुए पुलिस की संयुक्त टीम द्वारा क्षेत्र में चौकिंग अभियान चला दिया गया। इस दौरान संयुक्त टीम को सुभाषनगर बैरियर से 100 मीटर आगे सडक पार घोडानाला की तरफ लालकुआ से एक संदिग्ध आता हुआ दिखायी दिया। पुलिस ने जब उसे रूकने का इशारा किया तोक वह सकपका कर भागने लगा। इस पर उसे घेरकर दबोचा गया। तलाशी के दौरान पुलिस ने उसके पास से 106.90 ग्राम स्मैक बरामद हुई। कोतवाली लाकर की गयी पूछताछ में उसने अपना नाम नासिर उर्फ गुड्डू पुत्र अशरफ निवासी अफजलगढ़ रामपुर उत्तर प्रदेश बताया। पुलिस ने उसे एनडीपीएस एक्ट की धाराओं में गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश कर दिया गया है। प्रभारी निरीक्षक कोतवाली लालकुआं संजय कुमार के अनुसार गिरफ्तार व्यक्ति अधिक पैसा कमाने के लालच में स्मैक के धन्धे में लगभग 6कृ7 महीने से लिप्त था तथा अपने साथी मेहराज पुत्र गुलाम निवासी ग्राम जूठिया थाना शहजादनगर रामपुर उ.प्र. से स्मैक खरीदकर हल्द्वानी, लालकुआ, अल्मोड़ा तथा पिथौरागढ के छात्राओं एवं युवाओं को स्मैक बेचता था। बरामद स्मैक की कीमत दस लाख रूपये बतायी जा रही है।

समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर, फाउण्डेशन शिक्षा के क्षेत्र में अभिनव पहल करेगा

देहरादून। राज्य परियोजना निदेशक, समग्र शिक्षा उत्तराखण्ड बंशीधर तिवारी तथा अपराजिथा फाउण्डेशन के मुखिया टी०ए० पद्मनाभम् के मध्य समझौता ज्ञापन (एम०ओ०यू०) हस्ताक्षरित किया गया। अपराजिथा ग्रुप ऑफ कम्पनीज के सामाजिक निगमित दायित्व के तहत गठित संगठन अपराजिथा फाउण्डेशन, शिक्षा के क्षेत्र में देशभर के कई राज्यों में नवाचारी कार्य कर रहा है। अब यह फाउण्डेशन उत्तराखण्ड में भी शिक्षा के क्षेत्र में अभिनव पहल करेगा। फाउण्डेशन का कार्यालय 10 वेंकटरम रोड मंदुर में स्थित है। हस्ताक्षरित समझौता ज्ञापन के अनुसार अपराजिथा फाउण्डेशन प्रारम्भिक स्तर के शिक्षकों को पुस्तिकायें निःशुल्क उपलब्ध करायेगा ये पुस्तिकायें विद्यालय कक्षा 1 से 5 तक के बच्चों हेतु हर समय उपलब्ध रहेंगी। पुस्तिकाओं के माध्यम से बच्चों को विविध रूचिपूर्ण विषयों पर जानकारी प्राप्त होगी तथा बच्चे रूचि लेकर पुस्तकें पढ़ने की ओर प्रेरित होगें। इसके साथ ही फाउण्डेशन द्वारा जीवन कौशल से सम्बन्धित विभिन्न वीडियो तैयार किए गए हैं जिनको विद्यालयों तक आई०सी०टी० अथवा वर्चुअल स्टूडियो के माध्यम से प्रसारित किया जायेगा ये वीडियो कक्षा 1 से 12 तक के विद्यार्थियों के सर्वागीण विकास तथा जीवन कौशल अर्जित करने में, सहायक होगे। समग्र शिक्षा के साथ फाउण्डेशन का यह समझौता बच्चों की प्रतिभा को बेहतर ढंग से निखारेगा और बच्चों को विभिन्न क्षेत्रों में रचनात्मक क्रिया-कलाप हेतु प्रेरित करेगा। राज्य परियोजना निदेशक बंशीधर तिवारी द्वारा फाउण्डेशन के इस प्रयास की सराहना करते हुए उम्मीद जाहिर की कि यह प्रयास राज्य के छात्र-छात्राओं को उनके जीवन कौशल में विशेष प्रगति के अवसर प्रदान करेगा तथा फाउण्डेशन द्वारा तैयार विभिन्न रचनात्मक वीडियो आदि के माध्यम से प्रेरित करेगा। इस अवसर पर अपराजिथा फाउण्डेशन के राष्ट्रीय मैनेजर कियान्वयन रूनम कौशिक, डॉ० मुकुल सती, अपर राज्य परियोजना निदेशक, समग्र शिक्षा अत्रेश सयाना, उप राज्य परियोजना निदेशक बी०पी० मैन्दोली, स्टॉफ आफिसर, डॉ० अर्चना गुप्ता, द्वारिका पुरोहित आदि भी उपस्थित रहे। शिक्षा मंत्री अरविन्द पाण्डेय ने महानिदेशक विद्यालयी शिक्षा की ओर से विकसित ‘दक्ष’ डैशबोर्ड का शुभारम्भ किया। इस अवसर पर उन्होने कहा कि गुणवत्तपूर्ण शिक्षा के लिए तकनीकि का प्रयोग आवश्यक है और डैश बोर्ड इस दिशा में उठाया गया एक सार्थक कदम है। उन्होंने कहा कि डैस बोर्ड के माध्यम से किए जाने वाले प्रयास इसलिए भी महत्वपूर्ण है कि आज का समय टेक्नोलॉजी का समय है। जब तक हम अपने विभागों में टेक्नोलौजी का प्रयोग नहीं करेंगे तब तक हम विभाग की कमियों को दूर नहीं कर सकते हैं। उन्होंने सुझाव दिया कि डैश बोर्ड में समुदाय को जोड़ा जाय। उन्होंने दक्ष डैशबोर्ड विकसित करने को लेकर विभागीय अधिकारियों और कर्मियों को बधाई देते हुए कहा कि इस तरह के टेक्नोलोजी से जुड़े कार्यक्रमों को शिक्षा के क्षेत्र में बढ़ावा दिये जाने की आवश्यकता है। महानिदेशक विद्यालयी शिक्षा बंशीधर तिवारी ने कहा कि दक्ष डैशबोर्ड मासिक परीक्षा के आधार पर छात्र प्रगति को केन्द्र में रखकर विभिन्न पहलुओं के दृष्टिगत परिणामों का विश्लेषण करता है। यह शिक्षकों तथा विभागीय अधिकारियों की पठन-पाठन हेतु छात्र/छात्राओं की प्रगति के लिए जवाबदेही सुनिश्चित करता है। निदेशक अकादमिक शोध एवं प्रशिक्षण राकेश कुँवर ने कहा कि यह अभिनव प्रयास शिक्षा के क्षेत्र में मील का पत्थर साबित होगा। उन्होंने कहा कि विभाग द्वारा आगे भी इस तरह के अभिनव प्रयोग किये जाते रहेंगे।

विपक्ष के नेता आपसी झगड़ों में मशगूल, भाजपा सरकार कर रही विकास की श्रृंखला तैयारः महाराज

पाबौ (पौडी)। विपक्षी पार्टियों के नेता आपसी झगड़ों में लगे हैं और केन्द्र एवं राज्य में भारतीय जनता पार्टी की सरकार प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी के नेतृत्व में एक के बाद एक विकास कार्यों की लंबी श्रृंखला तैयार करने में लगी है। उक्त बात शुक्रवार को चौबट्टाखाल विधानसभा क्षेत्र के अंतर्गत विकासखण्ड पाबौ, गडिगांव स्थित शौर्य चक्र से सम्मानित शहीद ध्यान सिंह नेगी स्मृति द्वार और राजकीय इण्टरमीडियट कॉलेज में अतिरिक्त कक्षों के लोकार्पण इण्टर कॉलेज के अवसर पर स्थानीय विधायक, कैबिनेट मंत्री सतपाल महाराज ने कही। प्रदेश के कैबिनेट मंत्री एवं स्थानीय विधायक सतपाल महाराज ने शुक्रवार को चौबट्टाखाल विधानसभा क्षेत्र के अंतर्गत विकासखण्ड पाबौ, गडिगांव स्थित शौर्य चक्र से सम्मानित शहीद ध्यान सिंह नेगी स्मृति द्वार और राजकीय इण्टरमीडियट कॉलेज में अतिरिक्त कक्षा कक्षों का लोकार्पण किया। इस अवसर पर गडिगांव, पाबौ स्थित राजकीय इण्टरमीडियट कॉलेज परिसर में आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान प्रदेश के पर्यटन, लोक निर्माण, सिंचाई, धर्मस्व एवं संस्कृति मंत्री व क्षेत्रीय विधायक सतपाल महाराज ने कोरोना काल में उत्कृष्ट कार्य करने वाली आंगनबाड़ी, सहायिका, आशा कार्यकत्री एवं महिला मंगल दल, ग्राम प्रधान, क्षेत्र पंचायत सदस्य, खण्ड विकास अधिकारी, स्वास्थ अधिकारी सहित अनेक लोगों को उपहार, प्रशस्ति पत्र देने के साथ-साथ उन्हें शॉल ओढाकर सम्मानित किया। उन्होने राजकीय इण्टरमीडियट कॉलेज, गडिगांव का नाम शौर्य चक्र से सम्मानित शहीद ध्यान सिंह नेगी के नाम से किये जाने और विद्यालय में अन्य कार्यों के लिए 1 लाख की धनराशि दिये जाने की भी घोषणा की। कैबिनेट मंत्री व क्षेत्रीय विधायक सतपाल महाराज ने सम्मान समारोह में बड़ी संख्या में उपस्थित लोगों को चौबट्टाखाल विधानसभा क्षेत्र में लोक निर्माण, सिंचाई एवं पर्यटन विभाग द्वारा किये गये कार्यों की विस्तृत जानकारी देते हुए कहा कि एक ओर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के नेतृत्व में देश विकास के पथ पर निरंतर अग्रसर है। उत्तराखंड में भी मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के नेतृत्व में प्रदेश लगातार आगे बढ़ रहा है। वहीं दूसरी ओर विपक्षी दलों की अंदरूनी लडाई अब सार्वजनिक रूप से सामने दिखाई दे रही है। उन्होने कहा कि जिस दल के नेता वर्चस्व की लड़ाई में व्यस्त हैं वह देश एवं प्रदेश का क्या विकास करेंगे? इस अवसर पर शहीद ध्यान सिंह नेगी की पत्नी सुलोचना देवी, पोखडा मंडल अध्यक्ष महिपाल सिंह, एकेश्वर मण्डल अध्यक्ष सतराज सिंह, पूर्व ब्लाक प्रमुख सोवन सिंह, प्रमुख मुकेश कंडारी,गडिगांव प्रधान मधु देवी, पिनानी ग्राम प्रधान ममता देवी, जवरौली ग्राम प्रधान महाराज सिंह, तिमलखाल ग्राम प्रधान पवेत्री देवी, सिवाल ग्राम प्रधान विनोद गुंसाई, कैलाश सिंह, दीपक सिंह, वीरेंद्र सिंह, लक्ष्मण सिंह, विद्यालय के प्रधानाचार्य, बाल विकास अधिकारी चंद्रकांता, प्रभारी चिकित्सा अधिकारी डॉ पंकज, खंड शिक्षा अधिकारी अयाजुउद्दीन और विकास खंड अधिकारी टी. एस. रावत सहित अनेक लोग उपस्थित थे।

एथेरोस्क्लेरोसिस दिल के दौरे के लिए एक प्रमुख जोखिम कारकः डा. प्रीति शर्मा

देहरादूना। अध्ययनों के अनुसार कोरोनरी धमनी का कैल्सीफिकेशन उम्र के साथ बढ़ता है और महिलाओं की तुलना में यह पुरुषों में काफी आम है जो लोग मेटाबोलिक सिंड्रोम डिस्लिपिडेमिया तंबाकू का उपयोग उच्च रक्तचाप क्रोनिक किडनी रोग और उच्च बेसलाइन सी-रिएक्टिव प्रोटीन स्तर से जूझ रहें हैं उनमे कोरोनरी धमनी विकसित होने का खतरा बढ़ जाता है। इस स्थिति, इसके लक्षणों और उपलब्ध उपचार के बारे में जागरूकता बढ़ाने की आवश्यकता है। धमनियों में कैल्शियम का जमाव सामान्य रक्त प्रवाह को तभी ख़तरे में डाल सकता है जब यह संबंधित धमनी को आंशिक रूप से या पूरी तरह से अवरुद्ध कर दे दिखाई देने वाले लक्षण इस बात पर निर्भर करते हैं कि शरीर की कौन सी धमनी अवरुद्ध है यदि कोरोनरी धमनी अवरुद्ध हो जाती है, तो थोड़े से भी मेहनत करने पर छाती में दर्द, सांस में तकलीफ, छाती में भारीपन और दिल की धड़कन तेज़ या धीमी होने जैसे लक्षण दिखाई देते हैं. इस बारे में जानकारी देते हुए हुए डॉ प्रीति शर्मा एसोसिएट निदेशक और प्रमुख कार्डियक साइंसेज विभाग मैक्स अस्पताल देहरादून ने कहा कि जब अतिरिक्त कैल्शियम रक्त में जमा हो जाता है और कोलेस्ट्रॉल के साथ मिल जाता है, तो यह मानव स्वास्थ्य पर विनाशकारी प्रभाव डाल सकता है। यह प्लाक बनाता है जो कि धमनियों की दीवारों से चिपक जाता है और आंशिक या पूर्ण रुकावट का कारण बन सकता है। यह धमनी की दीवारों को भी सख्त करता है। चिकित्सा शब्दावली में, धमनियों में कैल्शियम और वसायुक्त पदार्थ के ऐसे जमा होने को एथेरोस्क्लेरोसिस कहा जाता है। धमनियों में कैल्शियम जमा होने से कोरोनरी धमनी की बीमारी का खतरा बढ़ जाता है। जिन लोगों के रक्त में कैल्शियम का स्तर ऊंचा होता है, उन्हें दिल का दौरा और स्ट्रोक होने की आशंका अधिक होती है। डॉ. प्रीति शर्मा इस बारे में अधिक जानकारी देते हुए कहा, हालांकि पहले, कोरोनरी धमनी कैल्सीफिकेशन को लेकर माना जाता था कि इससे कोई हानिकारक प्रभाव नहीं होते, लेकिन अब यह पता चला है कि यह समस्या आगे बढ़कर भविष्य में हृदय संबंधी समस्याओं जैसे दिल का दौरा पड़ने का कारण बन सकती है. कोरोनरी हृदय रोग (सीएचडी) के रोगियों में सीएसी का उच्च प्रसार परक्यूटेनियस कोरोनरी इंटरवेंशन (पीसीआई) को करना मुश्किल बना देता है। वर्तमान में कोरोनरी धमनी कैल्सीफिकेशन के लिए कोई ज्ञात विशिष्ट उपचार नहीं है। इसके लिए उच्च रक्तचाप, डिस्लिपिडेमिया, मधुमेह मेलिटस का इलाज करने और उन्नत गुर्दे की बीमारी के विकास को रोकने जैसे जोखिम कारकों को संशोधित करना महत्वपूर्ण है। ऐसे मामलों में जहां जटिलताएं उत्पन्न होती हैं, वहां एंजियोप्लास्टी की जाती है। यह एथेरोस्क्लेरोसिस के कारण अवरुद्ध धमनियों में रक्त प्रवाह की बहाली और सुधार में मदद करता है। इस प्रक्रिया में सर्जन/इंटरवेंशनल कार्डियोलॉजिस्ट धमनी के संकुचित हिस्से में एक लंबी, पतली ट्यूब (कैथेटर) डालते हैं। एक पतले तार की जाली (स्टेंट) को डिफ्लेटेड बैलून पर लगाया जाता है और फिर कैथेटर के माध्यम से संकुचित क्षेत्र में भेजा जाता है। इसके बाद गुब्बारा फुलाया जाता है, धमनी की दीवारों पर जमा कैल्शियम को संकुचित करता है, और धमनी में एम्बेडेड विस्तारित स्टेंट को छोड़ देता है। ड्रग कोटेड स्टेंट हैं जो यूएसएफडीए द्वारा अच्छी तरह से अध्ययन और अनुमोदित हैं और मधुमेह, उच्च रक्तस्राव जोखिम आदि जैसी अन्य जटिलताओं वाले रोगियों में भी यह सुरक्षित हैं।

आपस में लड़ने से फुरसत नहीं जनता की क्या सोचेंगेः रविंद्र सिंह आनंद’

देहरादूून। आम आदमी पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता रविंद्र सिंह आनंद ने कांग्रेस पार्टी की अंदरूनी कलह पर अपनी प्रतिक्रिया रखते हुुए कहा कि उन्होंने कहा कि जिस तरह से यह मामला सामने आया है कि कांग्रेस भवन मंे दो गुटों के कार्यकर्ताआंे के बीच हाथापाई हुई है तो आम आदमी पार्टी का स्पष्ट कहना है कि कांग्रेसियों की जो आंतरकलह है और इस प्रकार की जो घटनाएं है सिरफुट्टवल मारपीट की जो यह देखने आया है कि कांग्रेस पार्टी के प्रति कार्य करने वाले कार्यकर्ता नहीं है गुटों में काम करने वाले कार्यकर्ता है। हरीश रावत गुट, प्रीतम सिंह गुट , और भी बहुत सारे गुट बने हुए है इस प्रकार से इन सब के बीच जो मारपीट चल रही है यह अलोकतांत्रिक तरीका है और हमें ऐसा लगता है कि कहीं न कहीं लोकतंत्र की दुहाई देने वाली कांगेस ने लोकतंत्र की हत्या की है। रविंद्र आनंद ने कहा कि यह न केवल कांग्रेस का हाल है भाजपा के नेता इसी तरह से आपस में लड़ने भिड़ने का काम करते है। बहरहाल यह जो मामला सामने आया है कि यह बहुत ही निंदनीय है और अब यह जनता को तय करना है जिन पार्टियों के नेता ही आपस में लड़ भिड़ रहे हों वे जनता का क्या भला करेंगे। आनंद ने कहा की जनता इस बार सोच समझ के पार्टी और उम्मीदवार को चुनने वाली है पिछले 21 साल भाजपा और कांग्रेस ने उत्तराखंड वासियों के बर्बाद कर दिए और उत्तराखंड को एक बड़ा गड्ढा बना दिया अब ऐसे लोगों को सामने आना होगा जो जनता से जुड़े सरोकारों पर काम की राजनीति करते हो।

सिर फुट्टवल और गुटबाजी, यही है कांग्रेस में लोकतंत्रः चौहान

देहरादूना। भाजपा के प्रदेश मीडिया प्रभारी मनवीर सिंह चौहान ने कांग्रेस भवन में हुई मारपीट को लेकर कहा कि इसमें कुछ भी नया नहीं है और खुद को लोकतान्त्रिक कहने वाली कांग्रेस का यही असली चेहरा है। गुटों में बंटी कांग्रेस में नेताओं और समर्थकों के बीच ऐसी घटना होना आम बात है। स्वघोषित चाहत हरीश रावत को भी कांग्रेस ने ठुकरा दिया और अब पार्टी में सिर फुट्टवल की स्थिति है। उन्होंने कहा कि जनता के मुद्दों से भटक गई कांग्रेस को पहले जनता ने 2017 में सबक सिखाया,लेकिन वह नहीं चेती। गुटबाजी इस कदर हावी रही की सदन में नेता प्रतिपक्ष नहीं बोल पाये,क्योंकि वहां पर भी दहाई के अंक में कई गुट थे। वहीं प्रदेश अध्यक्ष भी खामोश रहे। पूरे पांच साल जन मुद्दों पर ख़ामोशी के बाद अब मुख्यमंत्री की लड़ाई शुरू हो गई जो कि हास्यास्पद है। कांग्रेस राज्य गठन से लेकर अब तक जन मुद्दों पर असफल साबित हुई और इसी कारण जनता ने उसे ठुकरा दिया है। कांग्रेस के भीतर बर्चस्व की जो लड़ाई रही है उसने यह साबित किया है कि वह सरकार और विपक्ष दोनों ही जगह असफल रही है।

राज्य स्वास्थ्य प्राधिकरण में सूचीबद्ध हुआ दून का कैलाश अस्पताल

देहरादूना। प्रदेश की राजधानी देहरादून स्थित कैलाश अस्पताल राज्य स्वास्थ्य प्राधिकरण द्वारा सूचीबद्ध हो गया है। राज्य स्वास्थ्य प्राधिकरण व अस्पताल प्रशासन की बैठक के बाद इस पर सहमति बन गई है। इस सहमति के पश्चात कैलाश अस्पताल में राज्य कर्मचारी स्वास्थ्य योजना के तहत मरीजों को मुफ्त उपचार की सुविधा मिल सकेगी। अस्पताल प्रशासन ने इस बात पर सहमति जताई है कि केंद्रीय कर्मचारी स्वास्थ्य योजना के दरों पर वह राज्य कर्मचारी स्वास्थ्य योजना के अंतर्गत आने वाले मरीजों को ओपीडी और आईपीडी की अपनी सेवाएं मुहैया कराई जाएंगी। कैलाश अस्पताल को सूचीबद्ध करने के लिए कई बार मांग भी उठाई जा चुकी है। अस्पताल प्रशासन और राज्य स्वास्थ्य प्राधिकरण के बीच बनी सहमति के बाद अब राज्य कर्मचारी स्वास्थ्य योजना के अंतर्गत आने वाले मरीजों को कैलाश अस्पताल में मुफ्त उपचार की सुविधा मिल पाएगी।

दूरदराज गांवों में बैंकिंग सेवाएं देने में उत्कृष्ट योगदान के लिए मिला सम्मान

देहरादून। एयरटेल पेमेंट्स बैंक के पांच बिजनेस कॉरेस्पोंडेंट सखी को प्रयागराज कार्यक्रम में माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ बातचीत करने का सौभाग्य प्राप्त हुआ। ये बिजनेस कॉरेस्पोंडेंट सखी,“उत्तर प्रदेश राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन” के तहत शीर्ष 25 प्रदर्शन करने वाली बिजनेस कॉरेस्पोंडेंट सखी में शामिल हैं। वे अपने वंचित क्षेत्रों में बैंकिंग सेवाएं देने में उत्कृष्ट योगदान दे रहीं हैं और साथ ही राज्य में वित्तीय समावेशन में भी योगदान दे रहीं हैं। एयरटेल पेमेंट्स बैंक की इनबिजनेस कॉरेस्पोंडेंट सखी को मिला सम्मानः भदोही जिले से बीसी सखी सुषमा देवी, भदोही जिले से बीसी सखी आरती देवी,खीरी जिले से बीसी सखी रूपाली मिश्रा, बस्ती जिले से बीसी सखी कंचन, गौतमबुद्ध नगर से बीसी सखी पूनम ये बिजनेस कॉरेस्पोंडेंट सखी एयरटेल पेमेंट्स बैंक के ग्राहकों सहित, बैंक खाता खोलने, नकद निकासी और धन हस्तांतरण सहित औपचारिक बैंकिंग सेवाओं के साथ दूरदराज गांवों में ग्राहकों की सेवा कर रहीं हैं। इससे पहले इन गांवों के अधिकांश निवासियों के आस-पास कोई बैंकिंग सेवा उपलब्ध नहीं थी एवम् उन्हें नजदीकी बैंक शाखा तक पहुंचने के लिए लंबी दूरी तय करनी पड़ती थी। बिजनेस कॉरेस्पोंडेंट सखी के साथ वे गांव में ही बीमा (स्वास्थ्य, जीवन और सामान्य) उत्पाद भी खरीद सकते हैं। ये पांच सखी अपने कर्तव्यों का निर्वाह करने के लिए वरिष्ठ नागरिकों, विकलांगों और महिला निवासियों के घर पर बैंकिंग सेवाएं प्रदान करने का कार्य भी करती हैं,जो उनके पास नहीं आ सकते हैं। आधार सक्षम भुगतान प्रणाली (एईपीएस) की मदद से वह अन्य बैंकों के ग्राहकों की भी सहायता करती हैं जिनके पास आधार सक्षम बैंक खातेहैं। एयरटेल पेमेंट्स बैंक के साथ वे अपनी उद्यमशीलता की यात्रा शुरू करने, अपनी आजीविका कमाने और अपनी एक स्वतंत्र पहचान बनाने में सफल रही हैं। एयरटेल पेमेंट्स बैंक की टीम इन बिजनेस कॉरेस्पोंडेंट सखियों को अपने आस-पास बैंकिंग सेवाएं प्रदान करने के लिए प्रशिक्षित, सुसज्जित और सशक्तकरती है। एयरटेल पेमेंट्स बैंक यह सुनिश्चित करने के लिए इन बिजनेस कॉरेस्पोंडेंट सखी के साथ मिलकर काम करता है ताकि वे आसानी से ग्राहकों की सहायता कर सकें। एयरटेल पेमेंट्स बैंक का पूरे उत्तर प्रदेश में 50,000 से अधिक बिजनेस कॉरेस्पोंडेंट का एक मजबूत नेटवर्क है। एयरटेल पेमेंट्स बैंक के बिजनेस कॉरेस्पोंडेंटस के माध्यम सेअब 18,000 से अधिक गांवों में जहाँ पहले बैंकिंग सेवाएँ उपलब्ध नहीं या दूर दराज थी, ग्राहक अब यह सेवाएँ प्राप्त कर रहें हैं।

मुख्य निर्वाचन आयुक्त ने मतदाता जागरूकता दिव्यांग रथ को हरी झण्डी दिखाकर किया रवाना

देहरादूना। विधानसभा चुनाव की तैयारियों की समीक्षा के लिए उत्तराखण्ड आये भारत निर्वाचन आयोग के मुख्य निर्वाचन आयुक्त सुशील चंद्रा, निर्वाचन आयुक्त राजीव कुमार, अनूप चंद्र पाण्डेय व भारत निर्वाचन आयोग के वरिष्ठ अधिकारी, उत्तराखण्ड की मुख्य निर्वाचन अधिकारी सौजन्या एवं जिलाधिकारी/जिला निर्वाचन अधिकारी डॉ0 आर राजेश कुमार द्वारा मतदाता जागरूकता दिव्यांग रथ को हरी झण्डी दिखाकर रवाना किया। यह दिव्यांग रथ जनपद में विभिन्न विधानसभा क्षेत्रों में भ्रमण कर जनमानस को जागरूक करेगा। जनपद अवस्थित होटल एलपी विला (रिजेंटा) के प्रागंण में राज्य के समस्त जनपदों द्वारा लगाये गये स्टॉल का भी अवलोकन किया। इस दौरान निर्वाचन आयोग द्वारा जनपद देहरादून की चुनावी पत्रिका “भूली” निर्वाचन गाईड का विमोचन किया। इस दौरान मुख्य निर्वाचन आयुक्त सुशील चन्द्रा ने जनपद देहरादून के स्टॉल “समग्र समावेशी एवं सुरक्षित मतदान का भी अवलोकन किया। जनपद देहरादून के स्टॉल के अवलोकन के दौरान जिलाधिकारी डॉ0 आर राजेश कुमार ने माननीय निर्वाचन आयुक्त को जनपद में चलाये जा रहे मतदाता जागरूकता कार्यक्रम की भी जानकारी दी। मुख्य निर्वाचन आयुक्त ने जिलाधिकारी /जिला निर्वाचन अधिकारी देहरादून डॉ0 आर राजेश कुमार द्वारा जनपद वासियों से गढ़वाली भाषा में बढ़-चढ़कर मतदान में प्रतिभाग करने हेतु की गई अपील वीडियो संदेश का भी अवलोकन किया। देहरादून के स्टॉल में प्रथम बार वोटर, युवा, महिला, बुजुर्ग, किन्नर, दिव्यांग आदि सभी वर्गों के मतदाताओं को जागरूक किए जाने हेतु सभी वर्ग के लोगों को भी स्टॉल में उपस्थित कर सभी जनों को मतदान हेतु जागरूक किया गया। इस दौरान होटल एलपी विला के प्रांगण में विभिन्न माध्यमों नुक्कड़ नाटक, सांस्कृतिक कार्यक्रम एवं रंगारंग गुब्बारों से जनपदीय संस्कृति, बोली भाषा, कटपुतली स्वीप कार्यक्रम के माध्यम से शत-प्रतिशत मतदान करायें जाने संबंधी जन जागरूकता अभियान के प्रस्तुतीकरण का अवलोकन किया। जिलाधिकारी ने मुख्य निर्वाचन आयुक्त भारत निर्वाचन आयोग को बताया कि जनपद के सभी घरों में वोटर गाईड एक पोकेट बुकलेट वितरित किया जाएगा। इसमें वोटर रजिस्ट्रेशन, ईवीएम, वीवीपेट की जानकारी सहित सभी जरूरी जानकारियां उपलब्ध करायी जा रही है।

प्रदेश में 27 नए कोरोना संक्रमित मिले

देहरादून। उत्तराखंड में बीते 24 घंटे में 27 नए कोरोना संक्रमित मिले हैं, जबकि 14 मरीज स्वस्थ हुए हैं। 233 सक्रिय मरीजों का इलाज चल रहा है। अब तक प्रदेश में 344724 लोग संक्रमित हो चुके हैं। स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक नौ जिलों में 27 लोग कोरोना संक्रमित पाए गए। अल्मोड़ा, चंपावत, पिथौरागढ़ और रुद्रप्रयाग में एक-एक, देहरादून में आठ, नैनीताल और ऊधमसिंह नगर में पांच-पांच, पौड़ी में तीन व टिहरी जिले में दो नए संक्रमित मिले हैं। बीते 24 घंटे में 14 मरीजों को ठीक होने के बाद घर भेजा गया है। इन्हें मिलाकर अब तक 330886 कोरोना संक्रमित स्वस्थ हो चुके हैं। प्रदेश में फिलहाल 233 सक्रिय मरीजों का इलाज चल रहा है। कोरोना के नए वेरिएंट ओमिक्रॉन के बढ़ते मामलों को देखते हुए टिहरी जिले के भिलंगना क्षेत्र के गोपाल सिंह ने प्रदेश में चुनावी जन सभाएं और धार्मिक आयोजनों पर पूरी तरह से प्रतिबंध लगाने की मांग की है। मुख्य न्यायाधीश नैनीताल को प्रेषित ज्ञापन में उन्होंने कहा है कि देशभर में कोरोना संक्रमण लगातार बढ़ता जा रहा है। कई जगह चुनावी रैली, जनसभा और धार्मिक आयोजन किया जा रहा है। जहां पर शारीरिक दूरी का पालन नहीं किया जा रहा है। जिससे कोरोना संक्रमण बढ़ने की संभावनाएं बढ़ती जा रही है। पर्वतीय क्षेत्र के अस्पतालों में समुचित स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध नहीं है। ऐसी स्थिति में चुनावी रैली और धार्मिक आयोजनों को फिलहाल प्रतिबंधित किया जाना आवश्यक है। मुख्य न्यायाधीश से कोरोना संक्रमण को देखते हुए प्रदेश सरकार को चुनावी रैली और धार्मिक आयोजनों को प्रतिबंधित लगाने के लिए आवश्यक दिशा-निर्देश जारी करने की मांग की है।

बहन के छोटी जाति के युवक से प्यार होने पर सगे भाइयों ने उतारा मौत के घाट, दो भाई व भाभी गिरफ्तार

देहरादूना। बहन को दूसरी जाति के युवक से प्यार हुआ तो उसके नाराज भाइयों ने युवती को बिहार से देहरादून लाकर मौत के घाट उतार दिया। मामले में पुलिस ने युवती के दो सगे भाई और भाभी को गिरफ्तार कर लिया है। जानकारी के मुताबिक 13 अक्टूबर को देहरादून के रायपुर में ग्राम सौडा सरौली के जंगलों में एक शव पड़ा हुआ मिला था। थाना प्रभारी रायपुर अमरजीत सिंह रावत मय फोर्स मौके पर पहुंचे तो सौडा सरौली से करीब दो किमी दूर जंगल में एक रपटे पर शव पत्थरों में दबा हुआ था। शव करीब एक से डेढ़ माह पुराना लग रहा था तथा काफी सड़ी-गली अवस्था में था। शव के कपड़ों से महिला का होना ज्ञात हुआ। शव की पहचान के लिए पुलिस ने युवती की फोटो सोशल मीडिया और अखबारों में दी। जिसके बाद बीस अक्टूबर को मुनटुन भगत निवासी राजीव नगर रिस्पना पुल ने थाने पर आकर उक्त महिला की शिनाख्त अपनी साली रीना के रूप में की। मृतका की पहचान रीना पुत्री प्रभुभगत निवासी कोटवा जिला मोतीहारी, बिहार हाल निवासी राजीव नगर, रिस्पनापुल थाना नेहरू कॉलोनी के रूप में की गई। उसने पुलिस को बताया कि रीना अक्तूबर में बिहार से देहरादून आई थी। वह यहां पर अपने भाई सुभाष, संदीप व सुभाष की पत्नी फूल कुमारी के साथ रहती थी। मुनटुन ने पुलिस को बताया कि सुभाष से उसकी गत छह नवंबर को बात हुई थी। उसने बताया था कि रीना तो बिहार चली गई है। जब उसने फोटो देखा तो मुनटुन ने रीना के घर पर पता किया। बताया गया कि रीना नहीं बल्कि संदीप (रीना का भाई) अकेले ही घर पहुंचा है। उन्होंने भी यह सोच लिया कि रीना अपने भाई के साथ देहरादून में ही है। पुलिस टीम द्वारा बिहार में मृतका के भाई संदीप भगत से पूछताछ की गई तो वह कोई स्पष्ट जानकारी नहीं दे पाया। सख्ती से पूछताछ करने पर उसके द्वारा विगत छह नवंबर को देहरादून में अपने बडे़ भाई सुभाष भगत व भाभी फूलकुमारी के साथ मिलकर रीना की हत्या करना स्वीकार किया। इसके बाद पुलिस आरोपी संदीप भगत को गिरफ्तार कर ट्राजिंट रिमांड पर देहरादून लाया गया। वहीं सुभाष भगत व फूलकुमारी को 23 दिसबंर को देहरादून से गिरफ्तार किया गया। पूछताछ में संदीप ने जुर्म कबूल कर लिया। उसने बताया कि बताया कि रीना (18 वर्ष) उनके कहने-सुनने में नही थी और घर से रात-रात भर गायब रहती थी, जिस कारण उनकी गांव में काफी बेईज्जती हो रही थी। बताया कि वह गांव के ही छोटी जाति के लड़के के साथ घूमती थी। मना करने पर भी वह नहीं मानी और उसी लड़के के साथ शादी करने की जिद लगाए बैठी थी। जिस कारण गांव में बिरादरी समाज द्वारा उन्हें बेदखल करने की धमकी दी जा रही थी। रीना की इन्हीं हरकतों से तंग आकर छह नवंबर को संदीप अपने भाई सुभाष व भाभी फूलकुमारी के साथ रीना को घुमाने के बहाने से सौडा सरौली के जंगलों में ले गया। जहां मौका पाकर सुभाष ने उसका गला दबाया और संदीप तथा फूलकुमारी ने उसके हाथ पैर पकडे़। रीना के शव को वहीं जगंल में पत्थरों से दबा दिया। रीना की हत्या करने के बाद संदीप उसी दिन ट्रेन से बिहार चला गया और सुभाष व फूलकुमारी राजीव नगर में अपने किराए के कमरे पर आ गए। देहरादून में रहने वाले परिचितों को सुभाष और फूलकुमारी ने बताया कि संदीप और रीना बिहार चले गए हैं, इसी तरह गांव में लोगों को संदीप ने बताया कि रीना देहरादून में ही रह रही है।

मुख्यमंत्री ने विभिन्न कार्यों के लिए प्रदान की वित्तीय एवं प्रशासकीय स्वीकृति

देहरादूना। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने विभिन्न विकास कार्यों हेतु वित्तीय एवं प्रशासकीय स्वीकृति प्रदान की है। मुख्यमंत्री ने राजकीय महाविद्यालय उफरैखाल, पौड़ी गढ़वाल में महिला छात्रावास के भवन निर्माण कार्य हेतु 3 करोड़ 93 लाख, राजकीय महाविद्यालय, पाबौ पौड़ी गढ़वाल के महिला छात्रावास भवन निर्माण हेतु 3 करोड़ 85 लाख रूपये, व्यासी जल विद्युत परियोजना में पूंजीगत व्यय हेतु अंशपूंजी के रूप में 56 करोड़ रूपये, जल जीवन मिशन के अन्तर्गत जनपद पौड़ी गढ़वाल के विकासखण्ड बीरोंखाल की वेदीखाल (जीओवी) पम्पिंग पेयजल योजना हेतु 22 करोड़ 85 लाख रूपये, जनपद देहरादून अन्तर्गत मानसून अवधि में बाढ़ प्रभावित 08 कार्यों/क्षतिग्रस्त परिसम्पत्तियों के पुनर्निर्माण हेतु 19 करोड़ 21 लाख रूपये की प्रशासकीय एवं वित्तीय स्वीकृति प्रदान की है। इसके साथ ही मुख्यमंत्री ने विधानसभा क्षेत्र चम्पावत में चम्पावत-खेतीखान मोटर मार्ग के किमी 02 में ट्रैक रूट का निर्माण हेतु 99.45 लाख रूपये, विधानसभा क्षेत्र लक्सर के अन्तर्गत विभिन्न 08 कार्यों हेतु 2 करोड़ 39 लाख रूपये, विधानसभा क्षेत्र यमुनोत्री के अन्तर्गत विभिन्न 05 निर्माण कार्यों हेतु 2 करोड़ 27 लाख रूपये, विधानसभा क्षेत्र थराली के अन्तर्गत विभिन्न 07 निर्माण कार्यों हेतु 2 करोड़ 82 लाख रूपये, जनपद पिथौरागढ़ के गंगोलीहाट में सिविल जज न्यायालय के स्टाफ के आवासीय भवनों (टाईप-1 एवं 2) के निर्माण हेतु 1 करोड़ 52 लाख रूपये की प्रशासकीय एवं वित्तीय स्वीकृति प्रदान करने के साथ ही मुख्यमंत्री ने राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय मालदेवता, रायपुर, देहरादून में असिस्टेंट प्रोफेसर के 03 पदों के सृजन हेतु भी स्वीकृति प्रदान की है।

पेशावर कांड के नायक वीर चन्द्र सिंह ‘गढ़वाली’ का किया भावपूर्ण स्मरण

देहरादूना। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने पेशावर कांड के नायक वीर चन्द्र सिंह ‘गढ़वाली‘ का उनकी जंयती पर भावपूर्ण स्मरण किया है। इस अवसर पर जारी अपने संदेश में मुख्यमंत्री ने कहा कि वीर चन्द्र सिंह गढ़वाली उत्तराखण्ड की धरोहर है। उन्होंने देश की आजादी के आन्दोलन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। भारत की आजादी में ‘पेशावर कांड‘ मील का पत्थर साबित हुआ, जिसने भविष्य की क्रांति की आधारशिला रखी। उन्होंने निहत्थी जनता पर गोली न चला कर दुनिया को अपनी बहादुरी व देशभक्ति का संदेश दिया था। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि भारत की आजादी में वीर चन्द्र सिंह गढ़वाली तथा उनके साथियों ने अद्वितीय योगदान दिया। पेशावर कांड के बाद महात्मा गांधी ने ‘‘वीर चन्द्र सिंह को गढ़वाली‘‘ नाम देकर सम्मानित किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि वीर चन्द्र सिंह ‘गढ़वाली‘ के बताये मार्ग का अनुकरण करना ही उन्हें सच्ची श्रद्धांजलि होगी।

सीएम ने पूर्व पीएम स्व. अटल बिहारी वाजपेयी की जयंती पर अर्पित की श्रद्धांजलि

देहरादूना। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने पूर्व प्रधानमंत्री भारत रत्न, स्वर्गीय अटल बिहारी वाजपेयी की जयन्ती पर उन्हें भावभीनी श्रद्धांजलि दी है। मुख्यमंत्री ने कहा कि स्व. अटल बिहारी वाजपेयी जी विश्व के महानतम राजनेताओं में से थे, उनके लिए राष्ट्रहित ही सर्वाेपरि था। वे अपनी दूरगामी सोच के लिए भी जाने जाते थे। उन्होंने कहा कि स्व. अटल बिहारी वाजपेयी जी वक्ता के रूप में अद्वितीय थे। उत्तराखण्ड राज्य के निर्माण में उनका महत्वपूर्ण योगदान रहा।

टिहरी जिले में द्वारी गांव में घंटाकर्ण देवता की जात का भव्य व दिव्य आयोजन

घनसाली। ‘रैत-मैत कू लोभी छौं मैं, अन्न-धन्न को लोभी नि छौं, औतों को पुत्र द्योलू, क्वारों वर द्योलू संकट काटलो, विपदा बांटलो, अपणी रैत-मैत तैं जस देई जौलू’।उत्तराखंड के टिहरी जिले में घनसाली तहसील क्षेत्र अंतर्गत द्वारी गांव में घंडियाल (घंटाकर्ण) देवता की लोक जात का भव्य आयोजन किया गया। घंटाकर्ण देवता की लोक जात में प्रवासी और आस-पास के क्षेत्रों के लोग बड़ी तादात में शामिल हुए। लोगों ने घंटाकर्ण देवता व नागरजा देवता के दर्शन किए और मनौती मांगी। देवता ने सभी लोगों को आशीर्वाद प्रदान किया। जिन लोगों की पिछली लोकजात में मांगी गई मनौती पूर्ण हुई उन्होंने घंटाकर्ण देवता को साड़े, चांदी के छत्र व घंटियां भेंट की। रात्रि को मोलखा में जागरण व मेले का आयोजन हुआ। घंटाकर्ण देवता की इस द्विवार्षिक लोकजात में मुंबई, दिल्ली, गुजरात, चंडीगढ़, देहरादून, उत्तरकाशी, श्रीनगर आदि क्षेत्रों में रहने वाले प्रवासी बड़ी संख्या में गांव पहुंचे और लोक जात में शामिल होकर अपने इष्ट और ग्राम देवता के दर्शन कर आशीर्वाद लिया। मान्यता है कि इस मंदिर में जो भी श्रद्धालू सच्चे मन से कोई मन्नत मांगता है वह मन्नत अवश्य पूरी होती है। विदेशों में रहने वाली प्रवासी भी लोकजात में शामिल होने को गांव पहुंचे। घंटाकर्ण देवता की लोकजात में द्वारी, चुखड़ी, बुड़कोट, थापला, पिलखी, घनसाली, बौंसला, बंचुरी, डागर, घोंटी, दोणी, पडागली, चमियाला समेत कोटी फैगुल और नैलचामी पट्टी के विभिन्न गांवों के लोग बड़ी संख्या में शामिल हुए। सुबह गांव में निशान स्थल पर घंटाकर्ण देवता व नागरजा देवता के निशाणों की पूजा-अर्चना हुई। सायं को घंटाकर्ण देवता और नागरजा देवता के पश्वा ग्रामवासियों के साथ देवता के निशाणों को लेकर मोलखा जो कि गांव में सबसे ऊंचाई पर स्थित स्थल है वहां पहुंचे। वहीं, नैलचामी से गुरु माणिक देवता भक्तों के साथ वहां पहुंचे। दोनों देवताओं का मिलन हुआ, तो जयकारे गूंजने लगे।। रात्रि जागरण के दौरान मोलखा में मंडाण का आयोजन किया गया। जिसमें रात्रिभर श्रद्धालू ढोल-दमाऊ की थाप पर जमकर थिरके। घंटाकरण मंदिर समिति द्वारी की ओर से श्रद्धालुओं के लिए सभी जरूरी व्यवस्थाएं की गई थीं। नमस्कार देव भूमि सेवा संघ दिल्ली की ओर से श्रद्धालुओं के लिए भंडारे का आयोजन किया गया।

राज्य के सबसे प्रभावशाली लोगों ने एक एक्शन प्लान को दिया आकार

देहरादून। अब बदलेगा भारत, बनेगा नवभारत के साथ नेतृत्व करता है ने आज देहरादून में अपने फ्लैगशिप कार्यक्रम, नवभारत नवनिर्माण मंच- उत्तराखंड का आयोजन किया। इस सम्मेलन में 10 से भी ज्यादा दमदार सत्रों जिसमें कई जानी-मानी हस्तियों ने भाग लिया। इनमें शामिल थे पुष्कर सिंह धामी, मुख्यमंत्री, उत्तराखंड, मनीष सिसोदिया, उप-मुख्यमंत्री, दिल्ली, हरक सिंह रावत, उद्योग मंत्री,उत्तराखंड, हरीश रावत,उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री, प्रेमचंद अग्रवाल, उत्तराखंड विधानसभा के स्पीकर, और कर्नल अजय कोठियाल, सीएम पद के उम्मीदवार, आप। उन्होंने राज्य के सबसे प्रासंगिक विषयों को संबोधित किया जैसे राज्य की अर्थव्यवस्था को दोबारा आकार देना, कोविड-19 के बाद पर्यटन को पुनर्जीवित करना, जलवायु संकट और आगामी राज्य चुनाव। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि “उत्तराखंड में फिर से बीजेपी की सरकार बनेगी। उन्होंने कहा, लोग फिर से कांग्रेस की सरकार नहीं चाहते हैं, राज्य की जनता स्वाभिमानी और राष्ट्रवादी है। लोग चाहते हैं कि फिर से बीजेपी की सरकार आए और इसी तरह से लोगों के लिए काम करे। उन्होंने कहा कि कोरोना काल में हमारी सरकार ने सभी स्तर के लोगों के लिए शानदार काम किया है। इस बार बीजेपी को कितनी सीटें मिलेगी..इस सवाल के जवाब पर सीएम धामी ने कहा कि आप बिल्कुल तय मानिए मैं पूरे उत्तराखंड में जा रहा हूं। और छोटे छोटे स्थानों पर जहां लोगों को कार्यक्रम करना भारी पड़ता था। वहां सब मुझे आशीर्वाद दे रहे हैं। इसलिए मैं आपके मंच कह सकता हूं राज्य की जनता पहले से ज्यादा बहुमत देने वाली है। क्योंकि लोगों ने करप्शन देखा है। काला पंजा देखा है। खूनी पंजा देखा है। सीएम धामी ने कहा कि...कांग्रेस पार्टी की रैली ही घिसी पिटी थी और रैली से पता चलता है कि पार्टी का विजन क्या है। कांग्रेस के पास कोई विजन नहीं है। मंच पर सैनिकों की तस्वीर क्यों लगी थी, ये राज्य की जनता भी जानती है। इस सवाल के जवाब पर कि..पीएम मोदी का विजन है उनका निर्देशन है तो फिर धामी कहां फिट बैठते हैं..सीएम धामी ने कहा कि..मैं एक सैनिक का बेटा हूं..बचपन से अनुशासन सीखा है। काम करना सीखा है..उस काम को सीखा है। उत्तराखंड की जनता हमें फिट करेगी जहां फिट करना होगा। अभी तो हम चूंकि आए थे..मैं ऐसा कह सकता हूं कि मुझे बार-बार आप लोगों के बीच से आवाज आती है कि कम समय मिला। मैं ऐसा नहीं कहता. कोई शिकायत नहीं। मुझे जितना समय मिला उसमें मैं खुलकर बैटिंग कर रहा हूं। उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने उत्तराखंड के लिए अपना मॉडल बताया। उन्होंने कहा, लोग कांग्रेस और बीजेपी से परेशान होकर आम आदमी पार्टी को मौका देना चाहते हैं, जैसे दिल्ली में दिया वैसे ही हमें मौका देना चाहते हैं। लोग चाहते हैं कि कोई तो ऐसी पार्टी आए जो लोगों के लिए काम करे। लोगों को रोजगार मिले, बिजली-पानी की व्यवस्था हो सके। उत्तराखंड में जितनी नौकरियां सरकार ने नहीं लगवाई होंगे उससे ज्यादा नौकरियां कर्नल कोठियाल ने खुद लगवाई है। हम बाहरी नहीं हैं, कर्नल कोठियाल वहीं के हैं। मनीष सिसोदिया ने चुनाव में अपने मुख्य प्रतिद्वंदी के तौर पर किसे देखते हैं, इसपर उनका जवाब सुनिए, हम जनता बी टीम है। जनता कहती है स्कूल बनाओ, हम बना देते हैं। जनता कहती है बिजली सस्ती करो, हम बिजली सस्ती कर देते हैं। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने अपने विचार व्यक्त किए। उन्होंने बुधवार को अपने किए गए ट्वीट में मगरमच्छ, मुंह फेर लेना और नकारात्मक भूमिका का जिक्र करते हुए कहा, ये तो मछली हैं बेचारे, इनको मगरमच्छ कब निगल जाएगा पता नहीं चलेगा। इनकी पार्टी के नेता मगमच्छों की ठ टीम के रूप में काम कर रहे हैं।

हरीश रावत को कांग्रेस ने भी नकाराः मदन कौशिक

देहरादून। उत्तराखंड में विधानसभा चुनाव 2022 को लेकर सभी राजनीतिक पार्टियां जोर-शोर से तैयारियों में जुटी हुई हैं। इस दौरान पक्ष-विपक्ष एक-दूसरे पर निशाना साधते हुए तरह-तरह के आरोप लगा रहे हैं। इसी कड़ी में बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा है। मदन कौशिक ने राज्य में कांग्रेस की भूमिका पर तमाम तरह के आरोप लगाए हैं। मदन कौशिक ने कहा कि उत्तराखण्ड की कांग्रेस ने शुरू से ही हर स्तर पर उपेक्षा की है। राज्य निर्माण से पहले कांग्रेस के बड़े नेता कहते थे कि मेरी लाश पर राज्य का निर्माण होगा। वहीं पूर्व प्रधानमंत्री दिवंगत अटल बिहारी वाजपेयी के दिए विशेष पैकेज को कांग्रेस ने छीन लिया। मदन कौशिक ने हरीश रावत पर भी तंज कसा है। उन्होंने कहा कि लोग कहते थे उत्तराखंड की चाहत हरीश रावत, लेकिन अब तो वो कांग्रेस की भी चाहत नहीं रहे। उन्होंने कहा कि प्रदेश की जनता तो उन्हे पिछले विधानसभा चुनाव में ही नकार चुकी थी। अब कांग्रेस भी उनसे छुटकारा पाना चाहती है। मदन कौशिक ने कहा कि प्रदेशवासी भलीभांति जानते है कि भाजपा के शासन में ही प्रदेश के हित सुरक्षित रह सकते है। कांग्रेस ने अपने पिछले शासन में सत्ता का सुख भोगने के सिवा कुछ नही किया। भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष मदन कौशिक ने देहारादून में आयोजित एक पत्रकार वार्ता में कहा कि कॉंग्रेस और उत्तरखंडीयत की बात करने वाले हरीश रावत शुरुआत से राज्य निर्माण के खिलाफ रहे हैं और अब चुनाव में चेहरा बनाने को लेकर हो रही सार्वजनिक सिर फुट्टोव्वल जनता देख रही है। चूंकि उनकी आपसी लड़ाई सोशल मीडिया व अन्य माध्यमों से सार्वजनिक हो गयी है इसलिए जनहित में हम इस विषय पर भी अपनी बात रख रहे हैं। उन्होने विस्तार देते हुए कहा कि कोंग्रेसी नेताओं में हो रही यह लड़ाई कोई जनता के लिए नहीं बल्कि अपने लिए दिल्ली दरबार से उत्तराखंड में लूट का लाइसेन्स लेने को लेकर है द्य क्यूंकि राज्य एवं केंद्र की की अपनी सरकारों के कार्यकाल में इनहोने कभी कोई विकास योजनाएँ राज्य के लिए नहीं शुरू की, उल्टा केंद्र की अटल सरकार द्धारा दिये विशेष औधौगिक पैकेज को भी समय से पहले ही समाप्त करने का कार्य भी इनकी यूपीए सरकार ने किया। साथ ही प्रदेश में भाजपा सरकारों के कार्यकाल में विकास कार्यों को लटकाने भटकाने का करी किया। यहीं वह कॉंग्रेस है जिसने राज्य निर्माण से जुड़े संसद में रखे प्राइवेट बिल का विरोध किया, इनके बड़े नेताओं ने राजनैतिक महत्वाकांषाओं की पूर्ति के लिए अपनी लांश पर राज्य निर्माण और केंद्र शासित प्रदेश बनाने की मांग की द्य कॉंग्रेस पार्टी ने उत्तराखंड राज्य निर्माण को लेकर न कभी संघर्ष किया, न संकल्प लिया और न ही कभी इनका लगाव था, और अब उत्तराखंडियत का झूठा दावा कर रहे हैं। दिवंगत सीडीएस जनरल विपिन रावत और सेना का अपमान करने वाले नेताओं को पार्टी से निकालना तो दूर कभी उनसे माफी भी नहीं मंगवायी।अब वीर ग्राम यात्रा निकालकर लोग को भ्रमित करने की कोशिश में हैं। मदन कौशिक ने पत्रकारों के सवालों का जबाब देते हुए कहा कि उत्तराखंड की चाहत बनने का स्वयं ढ़ोल पीटने वाले हरीश रावत को खुद उनकी ही ने ठुकरा दिया है, उनकी अपनी पार्टी में ही अब चाहत नहीं है। फर्क साफ है कि एक और भाजपा विजय संकल्प यात्रा के माध्यम से अपने विकास कार्यों पर जन आशीर्वाद लेने सूबे के कोने कोने में जा रही है, वहीं दूसरी और कोंग्रेसी जनता के बजाय अपने आलाकमान का आशीर्वाद लेने के लिए दिल्ली के चक्कर काट रहे हैं। फर्क साफ है कि एक और लोकप्रिय भाजपा सरकार की विकास योजनाएँ प्रदेश की जनता को राहत दे रही हैं, वहीं कोंग्रेसी नेताओं में युद्ध से पहले ही हारे हुए योद्धा जैसी छटपटाहट और निराशा नज़र आ रही है। पत्रकार वार्ता में भाजपा की आर से सुरेश जोशी, अनिल गोयल, देवेंद्र भसीन, दीप्ति रावत, विपिन कैंथोला, राजेंद्र सिंह नेगी, संजीव वर्मा, आदि उपस्थित थे।

एक ही परिवार के पांच लोगों की संदिग्ध परिस्थतियों में मौत

चमोली। चमोली जनपद स्थित घाट ब्लॉक के दूरस्थ गांव घुनी में एक ही परिवार के 5 लोगों की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो हो गयी। परिवार के मुखिया का शव रस्सी से झूलता पाया गया। जबकि दूसरे कमरे में मृतक की पत्नी और तीन बच्चे मृत पाए गए। इस घटना के बाद पूरे इलाके में सनसनी फैल गयी। सूचना मिलने के बाद मौके पर उपजिलाधिकारी चमोली सहित राजस्व, रेगुलर पुलिस की टीम पहुंचकर मामले की छानबीन में जुटी है। मौत के कारणों का अभी कुछ पता नहीं चल पाया है। मिली जानकारी के अनुसार घुनी गांव निवासी दिनेश लाल पुत्र ध्यानी राम पीआरडी में कार्यरत थे। घुनी गांव के क्षेत्र पंचायत सदस्य हरीश रावत ने बताया कि ग्रामीणों को घटना में दिनेश लाल का शव रस्सी से लटका मिला और बाकी 4 सदस्य संदिग्ध अवस्था में घर के अंदर ही मृत पाए गए। दिनेश का शव घर के एक कमरे में रस्सी के सहारे छत पर लगे हुक पर फांसी से लटका हुआ था। नायब तहसीलदार घाट धीरेंद्र राणा ने बताया कि मृतकों में दिनेश लाल (38 वर्ष), उनकी पत्नी बीरा देवी (35 वर्ष), बेटी नेहा (13 वर्ष), बेटा अरुण (8 वर्ष) व बेटा अक्षय (7 वर्ष) शामिल हैं। शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम की कार्रवाई डाक्टरों की टीम को बुलाकर ही गांव में ही करवाई गयी। इस घटना से पूरे क्षेत्र में सनसनी फैल गयी। पूरे घुनी गांव में मातम पसरा हुआ है।

Thursday, 23 December 2021

यूकेडी कार्यकर्ताओं ने दी आत्म बलिदान की चेतावनी

देहरादून। सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र डोईवाला का अनुबंध निरस्त कराने की मांग को लेकर पिछले 30 दिन से अस्पताल परिसर में आंदोलन कर रहे उत्तराखंड क्रांति दल के कार्यकर्ताओं ने आत्म बलिदान की चेतावनी दी है। उत्तराखंड क्रांति दल के जिला अध्यक्ष संजय डोभाल ने इस बात को लेकर खासा आक्रोश व्यक्त किया कि एक माह से आंदोलन हो रहा है लेकिन शासन प्रशासन तथा सरकार कोई भी इस न्यायोचित मांग का संज्ञान लेने के लिए तैयार नहीं है। उत्तराखंड क्रांति दल के केंद्रीय सचिव केंद्रपाल सिंह तोपवाल ने बताया कि अब उनके सामने आत्म बलिदान का ही एक रास्ता बचा हुआ है और अब वह आत्म बलिदान करेंगे उत्तराखंड क्रांति दल के केंद्रीय प्रवक्ता शिव प्रसाद सेमवाल ने बताया कि इससे पहले 8 दिन के अनशन केंद्रपाल सिंह तोपवाल कर चुके हैं तथा 2 दिन का अनशन 90 वर्षीय बुजुर्ग गिरधारीलाल नेताजी भी कर चुके हैं। जब उनको फोर्स फीडिंग के लिए जबरन अस्पताल में भर्ती कराया गया तो यूकेडी जिलाध्यक्ष संजय डोभाल खुद आमरण अनशन पर बैठ गए थे, जिन्हें 9 दिन बाद पुलिस प्रशासन ने जबरन उठाकर हॉस्पिटल में एडमिट कर दिया था। अब यूकेडी के वरिष्ठ जिला उपाध्यक्ष धर्मवीर गुसाईं को आमरण अनशन का आज चौथा दिन है लेकिन सरकार की कानों में जूं नहीं रेंग रही। उन्होंने कहा कि जन भावनाओं के विपरीत एक सरकारी अस्पताल को निजी हाथों में सौंप देने से सरकार की मंशा पर गंभीर सवाल खड़े होते हैं। इससे पहले अस्पताल के उच्चीकरण के लिए स्वीकृत आठ करोड़ बयालीस लाख पिछली कांग्रेस सरकार ने भी सिर्फ इसलिए निरस्त कर दिए थे क्योंकि इसके निजीकरण के बाद निजी अस्पताल को मरीजों की संख्या मे कमी आ जाती। आज धरने में डोईवाला के बौराड़ी से दिग्विजय सिंह गुसाईं, राजेश दोभाल, भानियावाला से नीरज बुटोला, प्रेम नगर के सियाराम पाल, झबरावाला से रणजोध सिंह, डांडी बड़कोट से अरुण जुगलान, आईडीपीएल से युद्धवीर सिंह चौहान तथा देवेंद्र जुगलान, भानियावाला से अभिलाष डोभाल, कविता गुसाईं, अभिषेक जायसवाल, पंचवटी से एसएस गुसाईं, प्रकाश सिंह चौहान, अर्जुन कक्कड़, लता राणा स्थानीय लोग शामिल थे।

27331.13 लाख की लागत की 89 योजनाओं का सीएम ने किया लोकार्पण एवं शिलान्यास

बागेश्वर/देहरादून। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने काण्डा में आयोजित काण्डा महोत्सव का दीप प्रज्ज्वलित एवं पूजा अर्चना कर शुभारंभ किया। तत्पश्चात जनपद बागेश्वर के विधानसभा कपकोट के केदारेश्वर मैदान में आयोजित कार्यक्रम में मुख्यमंत्री द्वारा विधानसभा कपकोट एवं बागेश्वर क्षेत्र की 27331.13 लाख की लागत की 89 योजनाओं का लोकार्पण एवं शिलान्यास किया गया। जिसमें विधानसभा कपकोट की 6843.03 लाख की लागत की 33 योजनाओं का लोकार्पण तथा 15632.94 लाख की 36 योजनाओं का शिलान्यास किया गया तथा विधानसभा बागेश्वर की 531.40 लाख की चार योजनाओं का लोकार्पण तथा 4323.76 लाख की 16 योजनाओं का शिलान्यास किया गया। मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर क्षेत्रीय जनता को संबोधित करते हुए कहा कि उन्हें जब प्रदेश के मुख्य सेवक का दायित्व मिला, उसके बाद राज्य सरकार द्वारा जनहित में अनेक फैसले लिए गए हैं। राज्य सरकार युवाओं को रोजगार देने पर कार्य कर रही है। उन्होंने कहा कि विभिन्न विभागों में रिक्त चल रहे पदों में भर्ती प्रक्रिया शुरू करने के साथ ही युवाओं को स्वरोजगार से जोड़ने के लिए मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना के अंतर्गत ऋण वितरित किए जा रहे है। लंबे समय से चली आ रही आशा व आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों सहित उपनल कर्मियों के मांग पर मानदेय बढाने के साथ ही पंचायत प्रतिनिधियों का भी मानदेय बढ़ाया गया है। इसके साथ ही प्रदेश सरकार द्वारा युवाओं के भविष्य को ध्यान में रखते हुए 1734 पदों पर पुलिस भर्ती प्रक्रिया शुरू कर दी गयी है। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में भारत गौरवशाली, शक्तिशाली, आत्मनिर्भर एवं विश्व गुरु के रूप में उभर रहा है। उत्तराखंड जैसे युवा राज्य को आने वाले समय में शिक्षा ,स्वास्थ्य , पर्यटन , व्यापार , उद्योग जैसे तमाम क्षेत्रों में हिंदुस्तान का नम्बर वन राज्य बनाएंगे। सरकार समाज के अंतिम छोर पर खड़े व्यक्ति को लाभ पहुंचे इस पर निरंतर कार्य कर रही है। उन्होंने कहा राज्य का विकास सबकी सामूहिक यात्रा है जिसमें सभी की सहभागिता जरूरी है। सरकार एक-एक पल आम जनता के हित के लिये कार्य कर रही है व आम जनता के लिये सरकार के द्वार हर वक्त खुले है। उन्होने कहा कि सरकार की प्राथमिकता ग्रामीण एवं दूरस्थ क्षेत्र में निवासरत व्यक्ति तक विकास की योजनाओं को पहुंचाना है तथा उन्हे आत्मनिर्भर बनाते हुए विकास की मुख्यधारा से जोड़ना है। उन्होंने कहा कि जनपद में पर्यटन की अपार संभावनाएं हैं जिसके लिए कार्य किया जा रहा हैं। कपकोट क्षेत्र में जड़ी बूटी की अपार संभावनाएं हैं, इसलिए इस क्षेत्र को जड़ी बूटी केंद्र के रूप में विकसित किया जायेगा। उन्होंने कहा कि प्रदेश में आठ हजार लोगों को होम स्टे योजना के तहत रोजगार उपलब्ध कराया गया है। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि कपकोट मे पॉलिटेक्निक के भवन निर्माण तथा सीएसडी कैंटीन के लिए आंकलन कर समाधान किया जायेगा। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी द्वारा इसके पश्चात सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र कपकोट में पांच सौ एमपीएल क्षमता वाले ऑक्सीजन जनरेशन प्लांट का लोकार्पण तथा बीस बैड के चिकित्सालय भवन व मीटिंग हॉल का शिलान्यास किया गया। काण्डा महोत्सव में मुख्यमंत्री द्वारा मेला समिति को 02 लाख, काण्डा में सामुदायिक भवन के लिए 25 लाख रूपये देने की घोषणा की गयी, तथा ससोला में स्वीकृति एएनएम सेंटर के लिए धनराशि स्वीकृति करने तथा राजकीय सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र काण्डा में स्वास्थ्य सुविधा बेहतर करने के लिए अल्ट्रासाउंड एवं डायलिसिस की व्यवस्था की जायेगी। इस अवसर पर खाद्य आपूर्ति मंत्री बंशीधर भगत, ग्राम्य विकास मंत्री स्वामी यतीश्वानन्द,विधायक कपकोट बलवंत सिंह भौर्याल, बागेश्वर चंदन राम दास, अध्यक्ष जिला पंचायत बसंती देवी, पूर्व विधायक शेर सिंह गढ़िया, जिला प्रशासन के अधिकारी मौजूद थे।

केंद्र की मोदी सरकार राज्य के विकास का पावर हाउसः सतपाल महाराज

पाबौ (पौड़ी)। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने उत्तराखंड को ऑल वेदर रोड और 18 हजार करोड़ रुपये की एक बड़ी धनराशि विकास कार्यों के लिए दी है। उन्होने ऋषिकेश से कर्णप्रयाग तक रेलवे लाइन को पहुंचाने के मेरे ड्रीम प्रोजेक्ट को भी साकार किया। उक्त बात गुरुवार को पाबौ में भारतीय जनता पार्टी की विजय संकल्प यात्रा के यहां पहुंचने पर आयोजित एक जनसभा में प्रदेश के कैबिनेट मंत्री सतपाल महाराज ने अपने संबोधन में कही। भारतीय जनता पार्टी की विजय संकल्प यात्रा का गुरूवार को विधानसभा क्षेत्र चौबट्टाखाल के नौगांवखाल, किर्खू, रिवांडा और मासौं में भाजपा कार्यकर्ताओं ने जोरदार स्वागत किया गया। मासौं से विजय संकल्प यात्रा के पाबौ पहुंचने पर आयोजित एक जनसभा को संबोधित करते हुए प्रदेश के कैबिनेट मंत्री सतपाल महाराज ने डबल इंजन सरकार की महत्ता को बताते हुए कहा कि हम सभी जानते हैं कि पावर स्टेशन से बिजली के तार जुड़े होते हैं जिनके द्वारा बिजली हमारे घर तक पहुंचकर उसे रोशन करती है। अगर वह विद्युत कनेक्शन किसी कारणवश अवरुद्ध हो जाता है तो हमारे यहाँ बिजली नहीं पहुँच पाती। इसी प्रकार केंद्र की भाजपा सरकार हमारे राज्य का पावर हाउस है। अगर हमारा उत्तराखंड उससे जुड़ा रहेगा तो हमें बराबर सहायता (पावर) मिलती रहेगी। उन्होंने कहा कि हाल ही में प्रधानमंत्री जब उत्तराखंड आए तो उन्होंने 18 हजार करोड रुपए की भारी भरकम धनराशि राज्य को दी जो ष्न भूतो न भविष्यतिष् की उक्ति को चरितार्थ करता है। उत्तराखंड की पवित्र धरती से प्रधानमंत्री ने यह भी घोषणा की है कि आने वाला दशक उत्तराखंड का होगा। इसलिए हमें यह समझना चाहिए कि डबल इंजन की सरकार की वजह से ही आज केंद्र से राज्य में विकास योजनाओं के लिए पैसा आ पा रहा है। जनसभा को संबोधित करते हुये कैबिनेट मंत्री धन सिंह रावत ने कहा कि प्रधानमन्त्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में उत्तराखण्ड में तेजी से विकास कार्य किये जा रहे है। सभी की स्वास्थ्य सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए अटल आयुष्मान कार्ड, किसान सम्मान निधि जैसी जनकल्याणकारी योजनाओं के माध्यम से मोदी जी के नेतृत्व में सबका साथ सबका विकास हो रहा है। विजय संकल्प यात्रा व जनसभा के दौरान भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश सदस्यता प्रमुख एवं रैली के गढ़वाल संयोजक वीरेंद्र सिंह बिष्ट, प्रदेश प्रवक्ता विनोद सुयाल, पौडी विधायक मुकेश कोली, जिला अध्यक्ष संपत सिंह सरल, माणिक निधि शर्मा, मातबर सिंह रावत, नरेंद्र सिंह रावत सहित अनेक भाजपा कार्यकर्ता और पदाधिकारी उपस्थित थे।

पीएम मोदी की रैली की व्यवस्थाओं का सीएम ने लिया जायजा

देहरादून। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने आगामी 30 दिसम्बर को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के प्रस्तावित हल्द्वानी भ्रमण के मद्देनजर गुरुवार को कार्यक्रम स्थल एम.बी इन्टर कॉलेज मैदान का जनपद प्रभारी मंत्री यतीश्वरानन्द, केन्द्रीय पर्यटन रक्षा राज्य मंत्री अजय भट्ट, शहरी विकास एवं संस्कृति कार्यमंत्री बंशीधर भगत व अधिकारियों के साथ व्यवस्थाओं का जायजा लिया। निरीक्षण के उपरान्त मुख्यमंत्री ने संगठन के पदाधिकारियों के साथ बैठक कर व्यवस्थाओं पर विस्तृत चर्चा की। मुख्यमंत्री ने निर्देश दिये कि आयोजन से सम्बन्धित सभी व्यवस्थायें समय पर पूर्ण कर ली जाए। बैठक दौरान मुख्य विकास अधिकारी एवं लोनिवि के अधिकारियों द्वारा प्रधानमंत्री कार्यक्रम स्थल में मंच,बैठने की व्यवस्था का लेआउट प्लान के बारे मे मुख्यमंत्री को अवगत कराया साथ ही पार्किंग स्थल के बारे मे भी बताया गया। मुख्यमंत्री ने कहा कि कार्यक्रम स्थल से जितना सम्भव हो सके उतने नजदीक पार्किंग स्थल चयनित किये जांए ताकि कार्यकताओं व जनता को कार्यक्रम स्थल तक आने-जाने मे परेशानियों का सामना ना करना पडे। उन्होने कहा कि प्रत्येक पार्किग स्थल व पार्किग स्थल रूट पर वॉलिंटियर लगाये जायेंगे ताकि बाहर से आने वाले कार्यकर्ताओं को कार्यक्रम स्थल तक आने में परेशानी ना हो। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि 30 दिसम्बर को प्रधानमंत्री हल्द्वानी में कुमाऊं क्षेत्र के लिये करोडों रूपये की लागत की योजनाओं का लोकार्पण एवं शिलान्यास भी करेंगें। उन्होंने कहा कि टनकपुर-बागेश्वर ब्रॉडगेज रेल लाइन सर्वे हेतु 29 करोड़ की धनराशि भारत सरकार से जारी हो चुकी है। जमरानी बांध की सैद्धान्तिक स्वीकृति प्राप्त हो चुकी है। निरीक्षण दौरान अध्यक्ष जिला पंचायत बेला तोलिया, मेयर डा0 जोगेन्द्र पाल सिह रौतेला, विधायक नवीन दुम्का, दीवान सिह बिष्ट, रामसिह कैडा, राजकुमार ठुकराल, प्रदेश महामंत्री भाजपा सुरेश भट्ट, संगठन मंत्री अजय कुमार, मुख्य विकास अधिकारी डॉ. संदीप तिवारी सहित अन्य गणमान्य लोग उपस्थित थे।

होमगार्ड्स हवलदार प्रशिक्षक/प्लाटून कमांडर भर्ती शुरू कराओ सरकारः मोर्चा

विकासनगर। जन संघर्ष मोर्चा अध्यक्ष एवं जीएमवीएन के पूर्व उपाध्यक्ष रघुनाथ सिंह नेगी ने पत्रकारों से वार्ता करते हुए कहा कि सरकार की उदासीनता के चलते होमगार्ड्स कर्मियों को न्याय नहीं मिल पा रहा है। आलम यह है कि ढांचे में रिक्तियों के बावजूद भी कई वर्षों से भर्ती नहीं की गई, जिस कारण कर्मियों की पदोन्नति भी प्रभावित हो रही है एवं उनमें निराशा की भावना घर कर गई है। नेगी ने कहा कि ढांचे में विद्यमान प्लाटून कमांडर के 32 पदों के सापेक्ष मात्र 20 तैनात हैं, ब्लॉक ऑर्गेनाइजर के 13 पदों के सापेक्ष मात्र 4 तथा हवलदार प्रशिक्षकों के 39 पदों के सापेक्ष मात्र 19 कार्यरत हैं। नेगी ने कहा कि पदोन्नति प्रक्रिया में भी बहुत तेजी लाने की जरूरत है, जिससे कर्मियों को लाभ मिल सके द्य इसके अतिरिक्त होमगार्ड्स एवं नागरिक सुरक्षा के ढांचे में आमूलचूल परिवर्तन की भी दरकार है। मोर्चा ने सरकार से भर्ती प्रक्रिया प्रारंभ करने व पदोन्नति की कार्रवाई त्वरित गति से कराने की मांग की है। पत्रकार वार्ता में-मोर्चा महासचिव आकाश पंवार व दिलबाग सिंह मौजूद थे।

इंडियन ऑर्थाेपीडिक एसोशिएसन ने गोवा में पद्मश्री डॉ. संजय को किया सम्मानित

देहरादून। इंडियन ऑर्थाेपीडिक एसोशिएसन (आई.ओ.ए.) ने 66वें वार्षिक सम्मेलन में उद्घाटन समारोह के दौरान आई.ओ.ए. के अध्यक्ष डॉ. बी. शिवशंकर ने डॉ. बी. के. एस. संजय को पद्मश्री सम्मान मिलने पर गोवा में सम्मानित किया। यह बात गौरतलब है कि डॉ. बी. के. एस. संजय को इस साल 9 नवम्बर 2021 को दिल्ली में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद द्वारा डॉ. बी. के. एस. संजय के उत्कृष्ट चिकित्सीय एवं सामाजिक सेवाओं को देखते हुए भारत के चौथे सर्वाेच्च नागरिक सम्मान से प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, गृहमंत्री अमित शाह एवं कैबिनेट के अन्य मंत्रियों एवं अति विशिष्ट गणमान्य लोगों की मौजूदगी में अलंकृत किया गया था। डॉ. संजय को अब तक बहुत सी सामाजिक एवं व्यवसायिक संस्थाऐं, सरकारी एवं गैर सरकारी संस्थाऐं, उनके छात्र-छात्राऐं, सहपाठियों, उत्तराखण्ड ऑर्थाेपीडिक एसोशिएसन, सहयोगियों द्वारा कई मंचों से सम्मानित किया जा चुका है। इसी कड़ी में इंडियन ऑर्थाेपीडिक एसोशिएसन को अपनी सेवाऐं देने के उपलक्ष में आई.ओ.ए. के पदाधिकारियों ने डॉ. बी. के. एस. संजय को गोवा में सम्मानित करने का निर्णय लिया था। इस सम्मेलन में देश भर के लगभग 5 हजार से भी ज्यादा ऑर्थाेपीडिक शल्य चिकित्सकों ने भाग लिया था। सम्मान मिलने पर डॉ. संजय ने आई.ओ.ए. के अध्यक्ष डॉ. बी. शिवशंकर, सचिव डॉ. नवीन ठक्कर, सम्मेलन के अध्यक्ष डॉ. राम चड्डा तथा एसोशिएसन के अन्य पदाधिकारियों का आभार प्रकट किया। डॉ. संजय राज्य और यूपीएससी चयन बोर्डों के सलाहकार और हेमवती नंदन बहुगुणा गढवाल विश्वविद्यालय, श्रीनगर गढवाल की विशेषज्ञ समिति के सदस्य है। डॉ. बी. के. एस. संजय को इनकी योग्यता के आधार पर इन्हें कई राष्ट्रीय तथा अन्तर्राष्ट्रीय फैलोशिप से पुरस्कृत किया गया। इन्होंने दुनिया के सुप्रसिद्ध तथा उच्च कोटि के संस्थानों में जैसे कि केरोलिनस्का इंस्टीट्यूट स्टाकहोम स्वीडन, सिटी हॉस्पिटल सोलोथूर्न स्विट्जरलैंड, चीबा कैंसर सेंटर, चीबा जापान, रॉयल एडिलेड अस्पताल एडिलेड, आस्टेªलिया, मेयो क्लीनिक रॉचौस्टर मिनीसोटा संयुक्त राष्ट्र अमेरिका तथा इलीजारॉब सेंटर, कुरगान, रूस में उच्च शिक्षा तथा शोध कार्य किया। इनके अब तक सौ से ज्यादा शोध राष्ट्रीय एवं अन्तर्राष्ट्रीय सम्मेलनांे में और शोध पत्रिकाओं में छप चुके है। डॉ. संजय को जापान, सिंगापुर, आस्ट्रेलिया, न्यूजीलैण्ड, अमेरिका एवं मलेशिया के विभिन्न विश्वविद्यालयों में व्याख्यान देने का गौरव प्राप्त हो चुका है। यह उत्तराखण्ड प्रदेश के ऑर्थाेपीडिक संघ के संस्थापक अध्यक्ष है एवं कई राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय प्रोफेशनल संघों के आजीवन सदस्य एवं फैलो है। कोरोना महामारी के दौरान डॉ. संजय अपनी सामाजिक सेवा बहुत बखूबी निभा रहे हैं। इनके द्वारा लाखों लोगों को रेडियों, टी.वी., केबल नेटर्वक, स्वास्थ्य पत्र-पत्रिकाऐं एवं समाचार-पत्रों के माध्यम से जागरुक कर चुके हैं। जिसके लिए इनको कोरोना योद्धा सम्मान, कोराना वरियर्स, अनस्टॉपेबल कोविड फाइटरए सेवा रत्न सम्मान आदि सम्मानों से सम्मानित किया जा चुका है। डॉ. संजय ने सम्मेलन के दौरान पत्रकारों को बताया कि वह आजीवन विकलांगता एवं सड़क दुर्घटनाओं को न केवल कम करने के लिए जारी रखेंगे अपितु इसे और जोर-शोर से आगे बढ़ाने की कोशिश जारी रखेंगे। डॉ. संजय ने इस माध्यम से जनता से अपील की, कि अपने और जनहित में सड़क यातायात के नियमों को सीखेंगे एवं मानेंगे। यदि सब लोग ऐसा करते हैं तो यह राष्ट्र निर्माण योगदान का एक अच्छा उदाहरण होगा।

उत्तराखंड में चुनावी तैयारियों का जायजा लेने पहुंचे मुख्य चुनाव आयुक्त

देहरादून। उत्तराखंड विधानसभा चुनाव 2022 की तैयारियों का जायजा लेने के लिए मुख्य चुनाव आयुक्त सुशील चंद्रा, निर्वाचन आयुक्त राजीव कुमार, अनूप चंद्र पांडेय व भारत निर्वाचन आयोग के वरिष्ठ अधिकारी देहरादून पहुंचे हैं। उत्तराखंड की मुख्य निर्वाचन अधिकारी सौजन्या ने जौलीग्रांट एयरपोर्ट पर उनका स्वागत किया। भारत निर्वाचन आयोग की टीम देहरादून में राजनीति दलों के प्रतिनिधियों के साथ बैठक करेगी। इसके बाद जिला निर्वाचन अधिकारी व पुलिस अधीक्षक चुनाव के लिए की गई तैयारियों का प्रस्तुतीकरण आयोग के समक्ष करेंगे। राज्य की मुख्य निर्वाचन अधिकारी और स्टेट नोडल अधिकारी भी आयोग के समक्ष अभी तक की गई तैयारियों के संबंध में विस्तृत प्रस्तुतीकरण देंगी। शुक्रवार को आयोग की टीम स्वीप गतिविधियों के संबंध में जानकारी देगी। इसके साथ ही दिव्यांगजन, युवाओं, महिलाओं व 80 वर्ष से अधिक आयु के मतदाताओं से भी वार्ता की जाएगी। इसके बाद आयोग की टीम निर्वाचन व्यय निगरानी समितियों के साथ बैठक करेगी। मुख्य सचिव और पुलिस महानिदेशक के साथ भी आयोग की टीम की बैठक होगी।

रिश्वत से जुड़े मामले में भाजपा ने मेयर के पति समेत 3 लोगों के खिलाफ दी तहरीर

हरिद्वार। दो दिन पूर्व हरिद्वार नगर निगम के मेयर पति और पूर्व पार्षद की सोशल मीडिया पर वायरल ऑडियो क्लिप से भाजपा को कांग्रेस के खिलाफ मुद्दा मिल गया है। भाजपा ने मामले को भुनाने के लिए हरिद्वार नगर निगम की मेयर के पति और मेयर के पीए के साथ-साथ पार्षद अनुज सिंह के खिलाफ हरिद्वार कोतवाली में तहरीर देते हुए कार्रवाई की मांग की है। गुरुवार को हरिद्वार कोतवाली में भाजपा कार्यकर्ताओं ने मेयर पति की ऑडियो वायरल होने के बाद मेयर पति अशोक शर्मा, पार्षद अनुज शर्मा और मेयर के पीआरओ गौतम के खिलाफ प्रदर्शन करते हुए तीनों के खिलाफ हरिद्वार कोतवाली में तहरीर देते हुए कार्रवाई की मांग की है। नगर निगम के पार्षद किशन बजाज ने कहा कि सोशल मीडिया पर वायरल हो रही मेयर पति की ऑडियो से नगर निगम हरिद्वार की छवि धूमिल हुई है। मेयर के पति का भ्रष्टाचार उजागर हुआ है, जिसको भाजपा किसी भी हालत में बर्दाश्त नहीं करेगी. ऐसे नेताओं के खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्रवाई होनी चाहिए। कांग्रेसी नेता और मेयर पति अशोक शर्मा का एक ऑडियो जमकर वायरल हो रहा है। वायरल ऑडियो में अशोक शर्मा किसी शख्स से बात कर रहे हैं। जिसमें फूलों के पेमेंट को लेकर बात की जा रही है। ऑडियो में साफ सुना जा सकता है कि किस तरह से अशोक शर्मा पहले ऑडियो में बात करने वाले व्यक्ति से तेज आवाज में बात कर रहे हैं। जिसके बाद उस शख्स ने कहा कि उन्हें पेमेंट चाहिए, अगर वो पेमेंट नहीं देते हैं तो प्रेस कॉन्फ्रेंस कर उनकी धज्जियां उड़ा देंगे। वायरल ऑडियो को सोशल मीडिया पर अशोक शर्मा के नगर निगम में फूलों के टेंडर पर रिश्वत लेने की बात कही जा रही है। ऑडियो में किसी गौतम नाम के व्यक्ति का भी जिक्र आ रहा है।

हरीश रावत यदि कांग्रेस से इस्तीफा देते हैं तो यूकेड़ी करेगी उनका स्वागत

अल्मोड़ा। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता व पूर्व सीएम हरीश रावत के ट्वीट के बाद प्रदेश का सियासी माहौल गर्म है। ऐसे में उत्तराखंड क्रांति दल के केंद्रीय अध्यक्ष काशी सिंह ऐरी ने बयान देकर इस माहौल को हवा देने की कोशिश की है। काशी सिंह ऐरी ने कहा है कि अगर हरीश रावत कांग्रेस से इस्तीफा देते हैं, तो सबसे पहले यूकेडी उनका स्वागत करेगी, क्योंकि कांग्रेस में रहकर हरीश रावत का उत्तराखंडियत का सपना पूरा नहीं होगा। काशी सिंह ऐरी अल्मोड़ा में यूकेडी के प्रत्याशी भानु प्रकाश जोशी की चुनावी जनसभा में शिरकत करने पहुंचे थे। इस दौरान उन्होंने कहा कि विगत दिनों उन्होंने पूर्व सीएम हरीश रावत से उनके आवास में जाकर मुलाकात की। इस दौरान उन्होंने हरीश रावत से कहा कि आप उत्तराखंडियत की बात करते हैं, जो कि बहुत अच्छी बात है लेकिन भाजपा और कांग्रेस में रहकर उत्तराखंडियत की रक्षा नहीं की जा सकती है। इस बारे में आप सोचिए। फिलहाल, हरीश रावत ने इसका जवाब हंसकर दिया है। उनको रावत के जवाब का इंतजार है। काशी सिंह ऐरी ने कहा है कि अगर हरीश रावत कांग्रेस से इस्तीफा देते हैं, तो वह सबसे पहले उनका स्वागत करेंगे। यूकेडी के अल्मोड़ा विधानसभा क्षेत्र से घोषित प्रत्याशी भानु प्रकाश जोशी ने पहले माल रोड में रैली निकाली, जिसके बाद नगर के रैमजे स्कूल के ग्राउंड में चुनावी जनसभा का आयोजन किया। इस दौरान यूकेडी के अल्मोड़ा प्रत्याशी भानु प्रकाश जोशी ने कहा कि आज उनके कार्यक्रम में भारी भीड़ उमड़ी है। यह भीड़ बताती है कि लोगों का राष्ट्रीय दलों से मोह भंग हो गया है। लोग परेशान होकर क्षेत्रीय दलों की ओर जुड़ रहे हैं।

स्मैक के साथ तस्कर गिरफ्तार

लक्सर। सुल्तानपुर चौकी पुलिस ने एक स्मैक तस्कर को गिरफ्तार किया है। आरोपी तस्कर के कब्जे से 9.5 ग्राम स्मैक बरामद की गयी है। इसके अलावा उसके पास से एक इलेक्ट्रॉनिक तराजू, एक मोबाइल और दो हजार रुपये भी मिले हैं। जिन्हें कब्जे में लेने के बाद आरोपी को जेल भेज दिया गया है। लक्सर कोतवाल यशपाल सिंह बिष्ट ने बताया कि हरिद्वार वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक की ओर से मादक पदार्थों की रोकथाम और आरोपियों की धरपकड़ के लिए अभियान चलाया जा रहा है। जिसके तहत पुलिस अधीक्षक ग्रामीण प्रमेंद्र सिंह डोभाल और लक्सर पुलिस क्षेत्राधिकारी बहादुर सिंह चौहान के नेतृत्व में पुलिस की गठित की गई है। इसी कड़ी में सुल्तानपुर चौकी इंचार्ज अंकुर शर्मा ने एक स्मैक तस्कर को गिरफ्तार किया है। उन्होंने बताया स्मैक तस्कर का नाम अशद पुत्र गुलजार है, जो सुल्तानपुर चौकी क्षेत्र के कुन्हारी गांव का रहने वाला है। मौके पर आरोपी के कब्जे से 9.5 ग्राम स्मैक, एक इलेक्ट्रॉनिक तराजू, मोबाइल फोन और 2 हजार रुपए बरामद किये गये हैं। आरोपी के खिलाफ एनडीपीएस एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज कर न्यायालय के समक्ष पेश किया गया, जहां से उसे जेल भेज दिया है।

खटीमा पहुंचे कर्नल कोठियाल का हुआ जोरदार स्वागत, सीएम के विधानसभा क्षेत्र के सरकारी स्कूल का भी लिया जायजा

खटीमा। आप पार्टी के सीएम उम्मीदवार कर्नल अजय कोठियाल खटीमा विधानसभा के झनकट पहुंचे जहां पहुंचते ही सैकडों की संख्या में स्थानीय लोगों ने कर्नल कोठियाल का जोरदार स्वागत किया । इसके बाद कई गाडियों के काफिले और सैकडों कार्यकर्ताओं के साथ वो सबसे पहले शहीद स्थल पहुंचे और देश पर अपनी जान कुर्बान करने वाले शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए उन्हें नमन किया। इसके बाद उनका काफिला आगे बढा जिसमें सैकडों की तादाद में लोग उनके काफिले में मौजूद रहे। यहां से वो पूर्व अध्यक्ष एस एस कलेर और और रमेश राणा जी के साथ सीधे खटीमा विधानसभा के गोझरिया पटिया मेहर सिंह चुफाल के आवास पहुंचे जो 4 कुमांउ राइफल में रहते हुए 1962,1965 और 1971 की लडाई में अपना अहम योगदान दे चुके हैं। उनसे कई मुद्दों पर चर्चा करते हुए उन्होंने कर्नल कोठियाल को 21 रुपये देकर प्रदेश नवनिर्माण के लिए आशिर्वाद दिया। यहां से आगे बढते हुए वो सबोरा पहुंचे जहां थारु जनजाति के लोगों ने उनका फूलों से पारंपरिक स्वागत किया। इस दौरान थारू समाज के कई लोगों से उन्होंने बात की ओर उनसे जुड़ी जानकारी ली। इन सभी लोगों से मुलाकात के बाद वो बिरिया के लिए निकले। बिरिया में वो राजकी प्राथमिक विद्यालय पहुंचे और स्कूल का निरिक्षण किया। यहां स्कूल पहुंचकर वो सबसे पहले छोटे बच्चों से मिले जिन्होंने कर्नल कोठियाल से हाथ मिलाया।उन्होंने उसके बाद इस जर्जर स्कूल को देखा तो उनको बड़ा अफसोस हुआ कैसे ऐसे स्कूलों में उत्तराखंड का भविष्य पढ़ रहा है। उन्होंने कहा,स्कूल के हालत ऐसे हैं कि यहां कभी भी कोई बडा हादसा हो सकता है। इस दौरान यहां की शिक्षिका ने कर्नल कोठियाल से कहा कि इस स्कूल में एक दो बच्चे मौजूद थे और स्कूल बंद होने की कगार पर पहुंच गया था ,लेकिन शिक्षिका ने खुद क्षेत्र में जा जा कर बच्चों को इकट्ठा करके उन्हें स्कूल में भर्ती करवाया। यहां मौजूद भोजन माता और स्थानीय लोगों ने बताया कि सरकार ने इस स्कूल को बर्बाद करके रख दिया है। इस सरकारी स्कूल में हर तरफ कूडे के ढेर लगे हुए थे। इमारत पूरी तरह से जर्जर हो चुकी है। इसपर कर्नल कोठियाल ने अफसोस जताते हुए कहा कि यह हाल है प्रदेश के मुख्यमंत्री की विधानसभा के स्कूलों का है तो बाकी प्रदेश में क्या हालात होंगे इसका अंदाजा लगाया जा सकता है। उन्होंने वहां मौजूद लोगों को बताया कि अभी दो दिन पहले वो दिल्ली के सरकारी विद्यालयों में गए थे और वहां के स्कूलों को देखकर हैरान रह गए कि सरकारी स्कूलों में जैसी शिक्षा वहां की सरकार दे रही है उसके मुकाबले यहां के स्कूलों का बुरा हाल है। यहां लोगो में इन स्कूलों के प्रति भी काफी नाराजगी थी। इसके बात वो अंदर गए और देखा कि जगह जगह बिल्डिंग टूटी हुई थी। बच्चे जमीन पर बैठे हुए थे। छत टूटने की कगार पर थी। यहां बच्चों का भविष्य बर्बादी की कगार पर पहुंच चुका है। उन्होंने यहां के लोगों से कहा कि इस व्यवस्था के खिलाफ लोगों को संघर्ष करना चाहिए।

मसूरी में उत्तराखंड फूड फेस्टिवल का 27 दिसंबर को होगा आगाज

देहरादून। उत्तराखंड पर्यटन विकास परिषद (यूटीडीबी) की ओर से पहाड़ों की रानी मसूरी में तीन दिवसीय फूड फेस्टिवल का आयोजन किया जा रहा है। 27 दिसंबर से शुरू होने वाले फेस्टिवल में आप उत्तराखंडी पहाड़ी पकवान का लुत्फ उठा सकते हैं। फेस्टिवल मसूरी के माल रोड पर 27, 28 और 29 दिसंबर तक आयोजित किया जाएगा। फेस्टिवल में पॉपुलर कुकरी बुक्स लिखने वाली भारत की पहली मास्टरशेफ पंकज भदौरिया स्वाद का तड़का लगाएंगी। जबकि कार्यक्रम में बतौर विशिष्ट अतिथि ‌शिरकत करने वाले जाने-माने फूड क्रिटिक पुष्पेश के. पंत लोगों को भोजन से जुड़ी पुरानी परंपराओं को नए दृष्टिकोण के साथ साझा करेंगे। फेस्टिवल में उत्तराखंडी लोक नृत्य, लाइव बैंड और सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन करने के साथ बच्चों के लिए विभिन्न खेल गतिविधियों का आयोजन किया जाएगा। फेस्टिवल में आयोजित ‌होने वाले सांस्कृति कार्यक्रम में स्थानीय कलाकार प्रदेश की संस्कृति और कला से रूबरू कराएंगे। इसके साथ ही फूड फेस्टिवल के दौरान विभिन्न प्रकार की प्रतियोगिता भी आयोजित कराई जाएगी और विजेताओं को पुरस्कार देकर सम्मानित किया जाएगा। पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज ने कहा, ष्देवभूमि उत्तराखंड की संस्कृति में यहां के व्यंजन और उत्पाद रचे-बसे हैं, जो लोगों को हमेशा से ही अपनी ओर आकर्षित करते रहे हैं। पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए प्रदेश सरकार प्रतिबद्ध है। पहाड़ी व्यंजनों और उत्पादों को लेकर लगातार प्रचार-प्रसार कर रहे हैं। पर्यटन सचिव दिलीप जावलकर ने कहा, क्रिसमस और नए साल को देखते हुए मसूरी में पर्यटकों की संख्या में इजाफा होने लगा है। ऐसे में देश-विदेश से आने वाले पर्यटक मसूरी में आयोजित ‌होने वाले फूड फेस्टिवल में पह‌ाड़ी पकवान का आनंद ले सकते हैं। पर्यटन विभाग की ओर से इसके लिए खास तैयारी की गई है। फेस्टिवल में पहाड़ी व्यंजन के स्टाल्स लगाए जाएंगे।

मुख्यमंत्री ने किया बोधिसत्व विचार श्रृंखला ई संवाद कार्यक्रम को सम्बोधित

देहरादून। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने गुरूवार को मुख्यमंत्री आवास में बोधिसत्व-विचार श्रृंखला - ई संवाद कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए कहा कि उत्तराखण्ड के समग्र विकास के लिये देवभूमि को योग, वेलनेस का शसक्त हब बनाने में सांस्कृतिक संस्थाओं, तीर्थाटन, होम स्टे से जुड़े लोगों की महत्वपूर्ण भूमिका है। उन्होंने कहा कि राज्य के व्यापक हित में राज्य के बुद्धिजीवियों, विषय विशेषज्ञों, प्रवासी प्रदेश वासियों के विचारों की श्रृंखला इस आत्म निर्भर बोधिसत्व कार्यक्रम के तहत आयोजित की गई है। इस संबंध में अब तक तीन श्रृंखला आयोजित की जा चुकी है। नीति आयोग के उपाध्यक्ष डॉ. राजीव कुमार, केन्द्र सरकार के प्रधान वैज्ञानिक सलाहकार डॉ. के विजय राघवन एवं अन्य कई विषय विशेषज्ञों के विचारों का लाभ हम प्राप्त कर चुके हैं। उन्होंने कहा कि इस श्रृंखला में प्राप्त होने वाले सुझाव व विचार उत्तराखण्ड को 2025 में रजत जयंती वर्ष के अवसर पर राज्य को देश का श्रेष्ठ व अग्रणी राज्य बनाने में मददगार होंगे, इसके लिये सभी विभागों का आगामी 10 सालों का रोड मैप भी तैयार किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में देश विकास के नये आयाम प्राप्त कर रहा है। केदारनाथ धाम पुनर्निर्माण, अयोध्या में भव्य राम मंदिर निर्माण का कार्य तथा काशी विश्वनाथ धाम को भव्य स्वरूप देना इसका उदाहरण है। अहिल्याबाई होल्कर के बाद मोदी जी ने काशी विश्वनाथ धाम का पुनरुद्धार का कार्य किया। बद्रीनाथ धाम के सौन्दर्यीकरण का भी कार्य चल रहा है। 250 करोड़ की योजना इसके लिये तैयार की गई है। इस प्रकार आज प्रधानमंत्री जी के नेतृत्व में देश की सांस्कृतिक विरासत को आगे बढ़ाये जाने का कार्य हो रहा है। मुख्यमंत्री ने कहा कि समाज हित हमारे लिये सर्वाेपरि है। नर सेवा ही नारायण सेवा है। अपने लिये तो सभी जीते हैं। मनुष्य होने के नाते हमें अपने ज्ञान का लाभ दूसरों को देना होगा ताकि हमारा समाज ज्ञानवान ऊर्जावान, समाज बने सभी के विचारों का विजन धरातल पर उतरे इसका हमारा प्रयास है। विचारों का संकलन के इस मंथन से जो अमृत निकलेगा वह 2025 में राज्य को देश के अग्रणी राज्यों में शामिल होने के विजन को साकार करने में मददगार होगा। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने छात्रों के शैक्षिक विकास में भी विशेष योगदान देने वाले प्रधानाचार्य श्री हुकुम चंद उनियाल के साथ ही अन्य विषय विशेषज्ञों को सम्मानित भी किया। इस अवसर पर डॉ. सुनील जोशी कुलपति उत्तराखण्ड आर्युवेदिक विश्व विद्यालय ने प्रदेश में तीर्थाटन के साथ ही आयुष टूरिज्म, योग एवं पंचकर्म तथा जड़ी बूटी कृषिकरण एवं प्रंसस्करण को बढ़ावा देने की जरूरत बतायी। उन्होंने कहा कि उनके विश्वविद्यालय द्वारा इस दिशा में पहल करने के साथ ही बायोकेमिकल लैब की मजबूती पर ध्यान दिया जा रहा है। प्रो. देवी प्रसाद त्रिपाठी कुलपति उत्तराखण्ड संस्कृत विद्यालय द्वारा योगतंत्र व सांख्य योग को बढ़ावा देने के साथ ही हेल्थ कॉन्शियस के साथ पंचकर्म विद्या के विकास पर ध्यान देने की बात कही। उन्होंने कहा कि उत्तराखण्ड देव भूमि, योग भूमि के साथ संस्कृत की भी भूमि है। भरत, वेदव्यास कण्व व कालीदास की इस भूमि में तीर्थस्थलों के पौराणिक महत्व को देश व दुनिया तक पहुंचाने में संस्कृत गाइडों का बड़ा योगदान हो सकता है। उन्होंने उत्तराखण्ड में संस्कृत व वेद की पाठशाला के विकास पर भी ध्यान देने की बात कही ताकि देश के लोग संस्कृत पढ़ने यहां आयें, उन्होंने केदारखण्ड, मानसखण्ड की यात्रामार्ग विकसित करने का भी सुझाव दिया। पूर्व वन अधिकारी मोनिष मल्लिक ने केरल की भांति उत्तराखण्ड के चारधाम यात्रा मार्गों तथा अन्य दर्शनीय स्थलों पर अधिक से अधिक होम स्टे बनाये जाने, चाल खाल के विकास के साथ ही भूमि संरक्षण की दिशा में कार्य किये जाने की जरूरत बतायी। आचार्य भुवन चंद उनियाल, धर्माधिकारी श्री बद्रीनाथ धाम ने कहा कि उत्तराखंड के पंच प्रयागों की मिट्टी व जल की लोग मांग करते हैं। इसकी उपलब्धता की व्यवस्था तथा देवी मंदिरों, शिव मंदिरों, विष्णु मंदिरों का सर्किट तैयार करने तथा होम स्टे योजना में कक्षों की संख्या बढ़ाये जाने का उन्होंने सुझाव दिया। पंडित विपिन जोशी ने राज्य के विभिन्न तीर्थ स्थलों प्राकृतिक स्थलों से लोगों को जोड़ने, शीतकालीन तीर्थाटन, चारधाम के अलावा अन्य तीर्थ स्थलों के विकास पर ध्यान देने की बात की। उन्होंने गांवों को आयुष से जोड़ने पर भी बल दिया। इस अवसर पर जिन लोगों ने अपने विचार रखे उनमें डा० सरस्वती काला, योग विभागाध्यक्ष श्री गुरु राम राय विश्वविद्यालय, हुकुम सिंह उनियाल, प्रधानाचार्य पूर्व माध्यमिक विद्यालय, देहरादून, डा० दिनेश जोशी, अनिल तोमर, आगाज फाउंडेशन के जगदंबा प्रसाद मैठाणी, गिरिजा शंकर जोशी, प्रभा शाह गोरखाली सभा देहरादून के साथ ही अग्रवाल समाज, जैन समाज, गुरु सिंह सभा, मराठा समाज, बंगाली समाज आदि के प्रतिनिधियों ने भी अपने सुझाव रखे तथा मुख्यमंत्री द्वारा की गई इस पहल को सराहनीय एवं राज्य के व्यापक हित में बताया। कार्यक्रम का संचालन मुख्यमंत्री के मुख्य समन्वयक प्रो. दुर्गेश पंत द्वारा किया गया। कार्यक्रम में बड़ी संख्या में प्रवासी उत्तरखण्ड वासियों भाष्कर भट्ट, प्रहलाद अधिकारी आदि ने भी वर्चुअली प्रतिभाग कर अपने सुझावों से अवगत कराया तथा मुख्यमंत्री की इस पहल को राज्य हित में बताया।

महाराष्ट्र से चलकर पौड़ी पहुंचे नंदी महाराज, बाबा केदार के करेंगे दर्शन

श्रीनगर। महाराष्ट्र से चलकर 5 सदस्यीय दल के साथ नंदी बैल पौड़ी पहुंचा तो बैल को देखकर लोग हैरान रह गए। इस बैल के सींग आम बैलों की तुलना में काफी बड़े हैं, जबकि इसका वजन भी 850 किलो है। इस बैल को देवतुल्य माना जा रहा है। जब ये बैल पौड़ी पहुंचा तो इसके दर्शन के लिए लोगों की भीड़ उमड़ पड़ी। यह नंदी बैल लोगों के सवालों का जवाब अपने सिर को हिलाकर हां या ना में देता है, जिसको देखकर लोग काफी हैरान हैं। बैल के मालिक ने बताया कि बैल को महाराष्ट्र से लेकर आए हैं और इस बैल के साथ वो केदारनाथ और बदरीनाथ जा रहे हैं। दर्शन के वाद वापस महाराष्ट्र लौट जाएंगे। बैल स्वामी ने बताया कि नंदी महाराज 17 अक्टूबर को महाराष्ट्र के हिंगोली से चले थे। जो जगह-जगह मुख्य धर्मिक स्थलों के दर्शन करते हुए पौड़ी पहुंचे हैं। नंदी महाराज को उनके चाहने वालों ने गोपाल नाम दिया है। नंदी महाराज विभिन्न फिल्मों में भी काम कर चुके हैं, जिनमें भाई भाई, प्यार किया तो डरना क्या, दूरदर्शन पर प्रसारित होने वाले सुपर हिट सो श्ॐ नम शिवाय में भी नंदी महाराज दिख चुके हैं। अब नंदी भगवान शिव के दर केदारनाथ के लिए रवाना हो रहे हैं।

विधानसभा अध्यक्ष ने सीएम से की भेंट

ऋषिकेश। उत्तराखंड विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल ने मुख्यमंत्री आवास पहुंच कर मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी से मुलाकात कर उनका हालचाल जाना। इस दौरान विधानसभा अध्यक्ष एवं मुख्यमंत्री के बीच विभिन्न विषयों पर चर्चा वार्ता भी हुई। मुलाकात के दौरान श्री अग्रवाल ने मुख्यमंत्री के हाथ पर लगी हुई चोट के बारे में जानकारी ली एवं शीघ्र स्वस्थ होने की कामना कीद्य विधानसभा अध्यक्ष ने ऋषिकेश विधानसभा क्षेत्र के अंतर्गत विभिन्न विकास कार्यों को लेकर मुख्यमंत्री द्वारा की गई घोषणा पर शीघ्र ही शासनादेश जारी करने संबंधी विषय पर मुख्यमंत्री से आग्रह कियाद्य साथ ही श्री अग्रवाल ने ऋषिकेश क्षेत्र में प्रस्तावित विभिन्न योजनाओं की स्वीकृति के लिए भी मुख्यमंत्री से बातचीत की। इस दौरान मुख्यमंत्री ने भी विधानसभा अध्यक्ष को सभी विषयों पर उचित कार्रवाई करने का आश्वासन दिया।

चौधरी चरण सिंह की जयंती पर पूर्व जनप्रतिनिधियों को सम्मानित किया

ऋषिकेश। बैराज रोड स्थित कैंप कार्यालय पर विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल ने देश के पूर्व प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह की जयंती के अवसर पर उन्हें श्रद्धा सुमन अर्पित करते हुए ऋषिकेश विधानसभा क्षेत्र के विभिन्न पूर्व जनप्रतिनिधियों को सम्मानित किया। इस अवसर पर श्री अग्रवाल ने कहा है कि जिन लोगों ने विभिन्न पदों पर रहकर क्षेत्र के जनप्रतिनिधि के रूप में अपना कार्यकाल पूर्ण कर क्षेत्र के विकास व समाज सेवा मे महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है सही मायने वह सभी लोग हर दृष्टि से सम्मान के पात्र है, उनका योगदान कभी भी भुलाया नहीं जा सकता। उन्होंने कहा है कि जनप्रतिनिधि भले ही एक निश्चित समय के लिए निर्वाचित होते हैं परंतु समाज सेवा उनके जीवन के साथ जुड़ी हुई रहती है वह सामाजिक कार्य से विमुख नहीं हो सकते हैंद्य श्री अग्रवाल ने कहा है कि उन्होंने भी हमेशा अपनी ओर से प्रयास किया है कि जिन लोगों ने समाज के लिए अपना योगदान दिया है ऐसे लोगों को प्रोत्साहित एवं सम्मानित किया जाना चाहिए। जनप्रतिनिधि जनता की भावनाओं से नजदीक से जुड़े हुए रहते हैं इसलिए उनके अनुभवों का लाभ लेते हुए समाज हित में कार्य करने की आवश्यकता है। इस अवसर पर श्री अग्रवाल ने पूर्व प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह के विचारों को आत्मसात करने की बात भी कही उन्होंने कहा कि वह किसान पुत्र थे और उन्होंने जीवन पर्यंत इस देश के किसानों के लिए संघर्ष कियाद्य श्री अग्रवाल ने कहा कि चौधरी चरण सिंह जी के विचार आज भी उतने ही प्रसांगिक है। इस अवसर पर पूर्व पार्षद हरीशानंद जी, पूर्व पार्षद अनिता बहल, पूर्व पार्षद सीमा रानी, पूर्व पार्षद सुलेखा, पूर्व पार्षद दीपक धमीजा, पूर्व पार्षद हरीकृष्ण प्रजापति, पूर्व पार्षद रामकृपाल गौतम, पूर्व प्रधान सत्येंद्र धमांदा, पूर्व प्रधान सुरेंद्र उनियाल, सरोज सिंह पुंडीर, रविंद्र कश्यप, जयप्रकाश, हरीश कक्कड़, पूर्व क्षेत्र पंचायत सदस्य सुमित थपलियाल, उदीना देवी, कविता शाह सहित अनेक पूर्व जनप्रतिनिधियों को सम्मानित किया गया। कार्यक्रम में अनेक गणमान्य लोग उपस्थित थेद्य संचालन पूर्व पार्षद कविता शाह ने किया।

द ग्रैंड विंटर फेस्टिवल के साथ पैसिफिक मॉल देहरादून ने मनाया क्रिसमस

देहरादून। राजपुर रोड पर स्थित द पैसिफिक मॉल ने इस वर्ष क्रिसमस को श्द ग्रैंड विंटर फेस्टिवलश् की थीम पर मनाया और मॉल के ठीक बीच में क्रिसमस की भव्य सजावट की। सजावट का मुख्य आकर्षण ‘क्राइस्ट द रिडीमर’ की मूर्ति थी, जिसे दुनिया भर में ईसाई धर्म का प्रतीक माना जाता है। 35 फीट लंबी इस प्रतिमा को स्थापित करने में लगभग 3 दिन लगे। मॉल में बच्चों के लिए नृत्य, गायन, संगीत और सांता परेड की मजेदार गतिविधियों का भी आयोजन किया गया, जिसमें बच्चों ने पूरे उत्साह के साथ भाग लिया। मॉल में ग्राहकों के लिए फ्लैट 50 प्रतिशत ऑफ का कैंपेन भी चल रहा है। मॉल में चल रहे लकी ड्रा में विजेता को न्यू रॉयल एनफील्ड उल्का बाइक का विशेष पुरस्कार दिया जाएगा। पैसिफिक ग्रुप के कार्यकारी निदेशक, अभिषेक बंसल ने मॉल में आने वाले सभी व्यक्तियों और मॉल टीम को क्रिसमस की शुभकामनाएं देते हुए कहा, “दोस्तों और परिवार के साथ उत्सव के मूड में सर्दियों के मौसम का स्वागत करने के लिए क्रिसमस साल का सबसे अच्छा समय है। हमारा मॉल हर साल लीक से हटकर सोचता है और आगे भी ऐसा ही करता रहेगा। हम सजावट को बहुत सोच समझकर करते हैं ताकि लोग अपने परिवार और दोस्तों के साथ यहाँ एक अच्छा समय बिता सकें।“

जिस वक्त होना चाहिए था लोकार्पण, उस वक्त किया जा रहा भूमि पूजनः भाष्कर चुग

विकासनगर। राहुल प्रियंका गांधी सेना कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता भास्कर चुग ने आज विकास नगर में एक निजी रेस्तरां में एक पत्रकार वार्ता को संबोधित करते हुए विकासनगर विधायक मुन्ना सिंह चौहान पर आरोप लगाया कि वह भूमि पूजन के नाम पर पूर्ववर्ती कांग्रेस की उन योजनाओं पर वाहवाही लूटने का प्रयास कर रहे हैं। जिनको संदिग्ध कारणों से पौने 5 वर्ष तक रोक कर रखा गया और अब चुनाव की बेला में उनका राजनीतिक लाभ उठाने का प्रयास किया जा रहा है। जिस वक्त वक्त योजनाएं पूर्ण हो जानी चाहिए थी उस वक्त उनका भूमि पूजन कर जनता को बरगलाने का प्रयास किया जा रहा है, जबकि स्थानीय विधायक एक भी ऐसी योजना अपने दम पर लाने में असफल रहे जिसकी विकासनगर को बहुत अधिक आवश्यकता है और इनमें से कई के वायदे भी बढ़-चढ़कर किए गए थे। भास्कर चुग ने कहा कि नाव घाट पुल की योजना हो या डाकपत्थर संयुक्त चिकित्सालय हो अथवा शीतला का पुल हो यह सभी योजनाएं पूर्ववर्ती कांग्रेस की सरकार में तत्कालीन विधायक नवप्रभात द्वारा मंजूर करा दी गई थी और यदि कांग्रेस की सरकार दोबारा आती तो अभी तक यह कार्य पूर्ण भी हो चुके होते और इस वक्त इन का लोकार्पण हो रहा होता स परंतु संदिग्ध कारणों से इन योजनाओं को पौने 5 वर्ष तक रोक कर रखा गया और पूर्व की कांग्रेस सरकार की अनेक योजनाओं को ठंडे बस्ते में डाल दिया गया है। कांग्रेस नेता भास्कर चुग ने कहा कि वर्तमान विधायक का अभी तक का कार्यकाल विकास नगर की जनता के लिए दुर्भाग्यपूर्ण रहा है क्योंकि उनके अपने दम पर एक भी ऐसी योजना क्षेत्र में नहीं लाई गई है जिससे विकास नगर विधानसभा क्षेत्र का भला होता स स्थानीय विधायक को जवाब देना चाहिए कि नाव घाट पर 2 लेन पुल बनने के बाद हिमाचल से आने वाली गाड़ियां आखिर विकास नगर में प्रवेश किस मार्ग से करेंगे क्योंकि पहाड़ी गली स्थित शक्ति नहर पर बने पुल नंबर 2 से तो ट्रैक्टर ट्रॉली का आवागमन भी प्रतिबंधित है। भाष्कर चौक ने प्रश्न किया कि स्थानीय विधायक मुन्ना सिंह चौहान द्वारा अपने चुनाव प्रचार एवं नगरपालिका के चुनाव प्रचार के दौरान विकास नगर में नई सीवरेज व्यवस्था लाने हेतु प्रधानमंत्री मोदी से बात करके मंजूरी दिलवाने का वायदा पूरे विधानसभा क्षेत्र में डीजे साउंड सिस्टम के माध्यम से थ्री व्हीलर घुमा घुमा कर किया गया था स विधायक मुन्ना सिंह चौहान जी जवाब दें कि उनके उस वायदे का आखिर क्या हुआ? वर्तमान विधायक के कार्यकाल में पूरी गर्मी यहां विकास नगर क्षेत्र की जनता पेयजल के लिए त्राहिमाम करती रही लेकिन विधायक जी को जनता की परेशानी से कोई लेना-देना नहीं रहा स उनके कार्यकाल में पूरी बरसातों में विकास नगर के शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों की हालत जलभराव से खराब रही मगर इस समस्या के समाधान के लिए क्षेत्रीय विधायक के पास कोई योजना ही नहीं? हरिपुर अंबाडी बायपास मार्ग अनेक वर्ष तक टूटा फूटा रहा और कई कई फीट के गड्ढे इस मार्ग में होने के कारण अनेकों लोग चोटिल हुए मगर विधायक जी को जनता की इस दर्द से कोई लेना-देना नहीं था चुनाव की बेला को देखते हुए इस सड़क में डुबकियां लगवा कर गड्ढे भर के विधायक जी ने अपनी पीठ थपथपाई और शहर की व ग्रामीण क्षेत्रों की तमाम सड़कों की नालियों की स्थिति यही है। विधायक मुन्ना सिंह चौहान जी बताएं कि ऐसी कौन सी नई योजना वह विकास नगर के लिए लेकर आए जिसकी मंजूरी कांग्रेस सरकार के समय नहीं हुई थी? उन्होंने कहा कि कांग्रेस के समय की कई ऐसी मंजू योजनाएं जो आज भी ठंडे बस्ते में हैं जो वृहत्तर लोकहित की दृष्टि से अति महत्वपूर्ण हैं।

रक्तदान शिविर में 30 लोगों ने किया रक्तदान

देहरादून। अटल सेवा सप्ताह के अन्तर्गत भारतीय अटल सेना उत्तराखंड और गुरुद्वारा श्री सिंह सभा अरहत बाज़ार द्वारा संयुक्त रूप से एक रक्त्दान शिविर का आयोजन गुरू सिंह सभा आढ़त बाज़ार में किया गया। रमा गोयल राष्ट्रिय अध्यक्ष महिला मोर्चा द्वारा बताया गया की गत पिछ्ले सप्ताह से ये सेवा कार्य किया जा रहा है। 18 दिसम्बर को एक रेली का आयोजन किया गया ,19 को कुष्ट आश्रम में कम्बल वितरित किये गये। 20 को पृथ्वीनाथ मन्दिर में वैक्सीनेशन कैम्प लगाया गया। 21 को मिलन केंद्र में अटल जी के जीवन पर एक क्विज का आयोजन किया गया। सेनिटरी नेफकीन भी वितरित किये गए। 22 को महिला आश्रम लक्ष्मण चोक में कम्बल और फल वितरित किये गए। गुरुवार को आयोजित रक्तदान शिविर में 30 लोगों ने इस शिविर में रक्त्दान किया। इस कार्यक्रम में राजकुमार पुरोहित, अध्यक्ष गुरुद्वारा सिंह सभा स. गुरबक्श सिंह राजन, जनरल सेक्रेटरी, गुलज़ार सिंह, वरिष्ठ उपाध्यक्ष स. जगमिंदर सिंह छाबड़ा, उपाध्यक्ष चरणजीत सिंह, कोषाध्यक्ष मंजीत सिंह, स्टोर इंचार्ज सेवा सिंह मथारू, राजीव सच्चर, जितेन्दर दन्दोना, साधना जयराज, रवि कान्त शर्मा, विकास गुप्ता, गोविंद वाधवा, राघव गोयल, शिवम, मनोज धीमान, नेहा धीमन, परवीन शर्मा, नितिन अग्रवाल, सन्दीप शर्मा,अनिता बिष्ट, बबिता गुप्ता, सुमन जैन, अमीता गोयल, राखी गुप्ता आदि मौजूद रहे।

Featured Post

हेरिटेज स्कूल के युवराज ने जीता एयर पिस्टल प्रतियोगिता में काँस्य पदक

देहरादून। हेरिटेज स्कूल के कक्षा नौवीं के छात्र चैधरी युवराज सिंह ने 10 मीटर एयर पिस्टल शूटिंग अंडर-17 वर्ग में काँस्य पदक जीत कर स्क...