Wednesday, 29 July 2020

डीएम ने वीडियो कान्फे्रसिंग के माध्यम से ली चिकित्सा पबंधन समिति की बैठक

देहरादून। जिलाधिकारी डाॅ आशीष कुमार श्रीवास्तव द्वारा वीडियो कान्फे्रसिंग के माध्यम से प0 दीनदयाल उपाध्याय संयुक्त चिकित्सालय (कोरोनेशन) और महात्मा गांधी नेत्र चिकित्सालय की चिकित्सा प्रबन्धन समिति की बैठक आयोजित की गयी।
जिलाधिकारी ने समिति के सदस्यों को निर्देशित किया कि कोरोनेशन एवं गांधी नेत्र चिकित्सालय दोनों में चिकित्सा सुविधाओं को बढाने के लिए हर सम्भव प्रयास किया जाय तथा लोगों को गुणवत्तापूर्वक और व बेहतर चिकित्सा सुविधिाएं हरहाल में मुहैया करायी जाय। उन्होंने निर्देश दिये कि कोरोना कोविड-19 को देखते हुए इस बात का ध्यान रखें की चिकित्सालय में सभी स्टाफ और आगन्तुक अनिवार्य रूप से मास्क पहने हों तथा सोशल डिस्टेंसिंग का पालन भी करतें हो। उन्होंने इस सम्बन्ध में मुख्य चिकित्साधिकारी को निर्देशित किया कि जनपद के सभी अस्पतालों में कोरोना से बचाव व इस पर प्रभावी नियंत्रण के लिए शासन प्रशासन स्तर से जारी एस.ओ.पी तथा गाईडलाईन का पूर्णतः पालन किया जाय तथा इस सम्बन्ध में किसी प्रकार की लापरवाही ना की जाय।
बैठक में चिकित्सा प्रबन्धन समिति के सदस्यों में दोनो चिकित्सालयों में चिकित्सा सुविधाओं को बढाने दवाई, जांच मशीनें, उपकरण, फर्नीचर, मानव संसाधन तथा अतिरिक्त चिकित्सा यूनिट-कक्ष बढाने से सम्बन्धित प्रस्ताव सामने रखे, जिसका समिति द्वारा अनुमोदन किया गया। जिलाधिकारी ने कहा कि इस बरसाती सीजन में डेंगू मलेरिया और कोविड-19 को देखते हुए जो भी जरूरी मेडिकल सुविधाएं बढानी जरूरी हैं उनको बढाया जाय। उन्होनंे बरसाती सीजन के लिए डेंगू-मलेरिया के दृष्टिगत समिति द्वारा प्रस्तुत 2 लैब टैक्निशियन कोरोनेशन अस्पताल तथा 2 गांधी नेत्र चिकित्सालय में पीआरडी के माध्यम से नियुक्ति के प्रस्ताव का अनुमोदन भी किया। जिलाधिकारी ने कोरोनेशन अस्पताल में फोर्टिज अस्पताल की संचालित कैंटीन को खाली करवाने तथा उनसे अब-तक का सम्पूर्ण किराया वसूल करने के भी मुख्य चिकित्साधिकारी को निर्देश दिये। इस दौरान वीडियों कान्फ्रसिंग से सम्पन्न हुई बैठक में अपर जिलाधिकारी प्रशासन अरविन्द पाण्डेय, मुख्य चिकित्साधिकारी डाॅ बी.सी रमोला, मुख्य कोषाधिकारी नरेन्द्र सिंह सहित समिति के अन्य सदस्य उपस्थित थे।
--------------------------------------------------------


उद्योग मित्र समस्या निस्तारण को ऑनलाइन पोर्टल बनाया जाएः डीएम’



देहरादून। जिलाधिकारी डॉ आशीष कुमार श्रीवास्तव की अध्यक्षता में एनआईसी सभागार में जिला उद्योग मित्र समिति की बैठक हुई। जिसमें औद्योगिक क्षेत्रों की विभिन्न समस्याओं के निराकरण के बारे में विस्तृत चर्चा की गई।बैठक में जिलाधिकारी ने महाप्रबंधक जिला उद्योग केंद्र को निर्देश दिए कि औद्योगिक क्षेत्रों की तथा उद्योग मित्र की विभिन्न समस्याओं के समाधान के लिए पार्टल बनाया जाए ताकि उनकी समस्याओं का ऑनलाइन ही निस्तारण किया जा सके। वाहनों के मुचलके भी ऑनलाइन ही जमा करवाने की व्यवस्था की जाए।
जिलाधिकारी ने औद्योगिक क्षेत्र पटेल नगर, सेलाकुई तथा  मोहब्बेवाला में मार्गो, नालियों, सड़कों की नियमित साफ-सफाई, स्ट्रीट लाइट लगाने व उसका रख-रखाव के नगर निगम देहरादून को निर्देश दिए।‘‘औद्योगिक क्षेत्रों में कोरोना की रोकथाम हेतु जारी की जाने वाली गाईलाइन के अनुपालन के लिए औद्योगिक एसोसिएशन भी प्रोक्टिव तरीके से कार्य करें’’जिलाधिकारी ने उद्योग मित्र समिति के सदस्यों को निर्देश दिए कि कोरोना वायरस पर प्रभावी नियंत्रण बनाए रखने के लिए और औद्योगिक एसोसिएशन गंभीरता से कार्य करेंगीं, इसके लिए एक सुपरविजन कमेटी का गठन भी किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि यदि कहीं पर कोई कोरोना पॉजिटिव मामला संज्ञान में आता है तो औद्योगिक क्षेत्र में पूरी कांटेक्ट ट्रेसिंग होनी चाहिए। इससे संबंधित कोई भी बात शासन-प्रशासन से छुपाई ना जाए, तत्काल प्राइमरी और सेकंड्री कंाटेंक्ट को आइसोलेट करते हुए संबंधित पूरे क्षेत्र को पूर्ण सैनिटाइज किया जाए। कार्मिकों मजदूरों के आने-जाने, काम करने, लंच करने और छुट्टी के टाइम को इस तरह मैनेज किया जाए ताकि पर्याप्त सोशल डिस्टेंसिंग बनी रहे। फैक्ट्री में कार्मिक मास्क पहने, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन हो तथा सैनिटाइज भी करते रहे। उन्होंने कहा कि यदि कोई मजदूर छुट्टी से लौटता है तो उसको सीधे प्रवेश ना दें पहले उसकी जांच और पर्याप्त आइसोलेशन का पालन करवाएं। मजदूरों के आवासीय कमरों में यदि अन्य व्यक्ति साथ रहता है तो उसकी भी सूचना रखें।
औद्योगिक एसोसिएशन के सदस्यों ने बैठक में कहा कि जो फैक्ट्रियां कोरोना से प्रभावित हुई हैं लंबे समय से बंद है उनके व व्यवसायिक कर, जलकर व  भवन कर इत्यादि में यथासंभव छूट दी जाए, जिस पर जिलाधिकारी ने इस मामले को उच्च स्तर पर संदर्भित करने का आश्वासन दिया। सदस्यों ने सोलर पावर प्रोजेक्ट में बैंक ऋण गारंटी में छूट देने की मांग की, ईएसआई के 100 बेड हॉस्पिटल निर्माण के लिए भूमि चिन्हित करने की मांग की तथा विकासनगर और लांगा क्षेत्र में अवस्थापना सुविधाओं को बढ़ाने की बात कही, जिस पर जिलाधिकारी ने संबंधित विभागों से तथा उचित स्तर पर उसके समाधान करने का आश्वासन दिया।
इस दौरान बैठक में मुख्य विकास अधिकारी नितिका खंडेलवाल, महाप्रबंधक जिला उद्योग केंद्र शिखर सक्सेना, उद्योग एसोसिएशन से पंकज गुप्ता, हेमंत पुरी, अनिल मारवा, राकेश, महेश आदि उपस्थित थे।            


उद्योग मित्र समस्या निस्तारण को ऑनलाइन पोर्टल बनाया जाएः डीएम’



देहरादून। जिलाधिकारी डॉ आशीष कुमार श्रीवास्तव की अध्यक्षता में एनआईसी सभागार में जिला उद्योग मित्र समिति की बैठक हुई। जिसमें औद्योगिक क्षेत्रों की विभिन्न समस्याओं के निराकरण के बारे में विस्तृत चर्चा की गई।बैठक में जिलाधिकारी ने महाप्रबंधक जिला उद्योग केंद्र को निर्देश दिए कि औद्योगिक क्षेत्रों की तथा उद्योग मित्र की विभिन्न समस्याओं के समाधान के लिए पार्टल बनाया जाए ताकि उनकी समस्याओं का ऑनलाइन ही निस्तारण किया जा सके। वाहनों के मुचलके भी ऑनलाइन ही जमा करवाने की व्यवस्था की जाए।
जिलाधिकारी ने औद्योगिक क्षेत्र पटेल नगर, सेलाकुई तथा  मोहब्बेवाला में मार्गो, नालियों, सड़कों की नियमित साफ-सफाई, स्ट्रीट लाइट लगाने व उसका रख-रखाव के नगर निगम देहरादून को निर्देश दिए।‘‘औद्योगिक क्षेत्रों में कोरोना की रोकथाम हेतु जारी की जाने वाली गाईलाइन के अनुपालन के लिए औद्योगिक एसोसिएशन भी प्रोक्टिव तरीके से कार्य करें’’जिलाधिकारी ने उद्योग मित्र समिति के सदस्यों को निर्देश दिए कि कोरोना वायरस पर प्रभावी नियंत्रण बनाए रखने के लिए और औद्योगिक एसोसिएशन गंभीरता से कार्य करेंगीं, इसके लिए एक सुपरविजन कमेटी का गठन भी किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि यदि कहीं पर कोई कोरोना पॉजिटिव मामला संज्ञान में आता है तो औद्योगिक क्षेत्र में पूरी कांटेक्ट ट्रेसिंग होनी चाहिए। इससे संबंधित कोई भी बात शासन-प्रशासन से छुपाई ना जाए, तत्काल प्राइमरी और सेकंड्री कंाटेंक्ट को आइसोलेट करते हुए संबंधित पूरे क्षेत्र को पूर्ण सैनिटाइज किया जाए। कार्मिकों मजदूरों के आने-जाने, काम करने, लंच करने और छुट्टी के टाइम को इस तरह मैनेज किया जाए ताकि पर्याप्त सोशल डिस्टेंसिंग बनी रहे। फैक्ट्री में कार्मिक मास्क पहने, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन हो तथा सैनिटाइज भी करते रहे। उन्होंने कहा कि यदि कोई मजदूर छुट्टी से लौटता है तो उसको सीधे प्रवेश ना दें पहले उसकी जांच और पर्याप्त आइसोलेशन का पालन करवाएं। मजदूरों के आवासीय कमरों में यदि अन्य व्यक्ति साथ रहता है तो उसकी भी सूचना रखें।
औद्योगिक एसोसिएशन के सदस्यों ने बैठक में कहा कि जो फैक्ट्रियां कोरोना से प्रभावित हुई हैं लंबे समय से बंद है उनके व व्यवसायिक कर, जलकर व  भवन कर इत्यादि में यथासंभव छूट दी जाए, जिस पर जिलाधिकारी ने इस मामले को उच्च स्तर पर संदर्भित करने का आश्वासन दिया। सदस्यों ने सोलर पावर प्रोजेक्ट में बैंक ऋण गारंटी में छूट देने की मांग की, ईएसआई के 100 बेड हॉस्पिटल निर्माण के लिए भूमि चिन्हित करने की मांग की तथा विकासनगर और लांगा क्षेत्र में अवस्थापना सुविधाओं को बढ़ाने की बात कही, जिस पर जिलाधिकारी ने संबंधित विभागों से तथा उचित स्तर पर उसके समाधान करने का आश्वासन दिया।
इस दौरान बैठक में मुख्य विकास अधिकारी नितिका खंडेलवाल, महाप्रबंधक जिला उद्योग केंद्र शिखर सक्सेना, उद्योग एसोसिएशन से पंकज गुप्ता, हेमंत पुरी, अनिल मारवा, राकेश, महेश आदि उपस्थित थे।            


स्पीकर ने विवेकाधीन कोष से 63 जरूरतमंदों को चैक वितरित किए



ऋषिकेश। आर्थिक रूप से कमजोर जरूरतमंदों को आज विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल ने बैराज रोड स्थित कैंप कार्यालय पर विधानसभा अध्यक्ष विवेकाधीन कोष से 63 जरूरतमंदों को तीन लाख 15 हजार की धनराशि के राहत राशि के चेक का वितरण किए। इस अवसर पर श्री अग्रवाल ने कहा कि वैश्विक  कोरोना महामारी के प्रभाव के कारण लंबे समय तक लॉकडाउन रहा जिस कारण से लोगों को आर्थिक रूप से दिक्कतें उत्पन्न हो रही है ऐसे समय में राहत राशि के रूप में दी जाने वाली यह धनराशि लोगों की जरूरतों को पूरी करेगा।
     उन्होंने कहा है कि विधानसभा अध्यक्ष का विवेकाधीन कोष विवेक के आधार पर गरीब, उपेक्षित, वंचित समाज के लिए त्वरित एवं राहत राशि के रूप में वितरित किया जाता है। यह सरकार की कोई योजना नहीं है। उन्होंने साथ में कहा है कि दिव्यांग, विधवा आदि लोगों को इस धनराशि के वितरण में प्राथमिकता दी जाती है। श्री अग्रवाल ने कहा है कि यह धनराशि प्रदेश के 70 विधानसभाओं में विधानसभा सदस्यों के माध्यम से लाभार्थियों तक पहुंचाई जा रही है। उन्होंने कहा है कि लॉकडाउन के दौरान उत्पन्न हुई समस्याओं के समाधान के लिए स्वावलंबी बनकर अपने कार्य खड़े करने पड़ेंगे।
     इस अवसर पर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के जिला कार्यवाहक भास्कर बिजलवाण ने कहा है कि समाज का एक तबका ऐसा है जिन्हें इस प्रकार के धनराशि की अत्यंत आवश्यकता है। विधानसभा अध्यक्ष के माध्यम से जरूरतमंदों को चिन्हित कर दी जाने वाली यह धनराशि वरदान साबित हो रही है। डोईवाला विकासखंड के  प्रमुख भगवान सिंह पोखरियाल ने कहा कि ऋषिकेश विधानसभा क्षेत्र में जहां विकास के अनेक कीर्तिमान स्थापित किए गए हैं, वही जरूरतमंदों को योजनाबद्ध तरीके से वितरण की जाने वाले विधानसभा अध्यक्ष विकास कोष से लोग लाभान्वित हो रहे हैं। इस अवसर पर डोईवाला के ब्लॉक प्रमुख भगवान सिंह पोखरियाल, राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के जिला कार्यवाह भास्कर बिजलवान, क्षेत्र पंचायत सदस्य अमर खत्री, भूपेंद्र राणा, पार्षद विकास तेवतिया ,अक्षय खेरवाल, प्रधान चमन पोखरियाल, सुभाष बाल्मीकि, सुरेंद्र सिंह सुमन, दुर्गेश कुमार, सुमित सेठी आदि लोग उपस्थित थे।कार्यक्रम का संचालन कविता शाह ने किया ।


घरों में पोछा, बर्तन साफ करने वाली 26 महिलाओं को राशन किट वितरित की



ऋषिकेश। लॉकडाउन के कारण अनेक समस्याएं उत्पन्न हुई हैं ऐसे में विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल ने जरूरतमंद परिजनों के लिए अपने संसाधनों के आधार पर चंद्रेश्वर नगर क्षेत्र में घरों में पोछा बर्तन करने वाली 26 महिलाओं को राशन की किट वितरित की।
     इस अवसर पर श्री अग्रवाल ने कहा है कि वैश्विक महामारी कोरोना के प्रभाव में उद्योगपति से लेकर रेडी ठैली लगाने वाले मजदूर गरीब सभी लोग प्रभावित हुए हैं। गरीब परिजनों के सामने  रोजी रोटी का संकट भी उत्पन्न हो गया।ऐसे में  श्री अग्रवाल ने चंद्रेश्वर नगर के 26 जरूरतमंद परिवारों को राशन की किट वितरित की जिसमें  आवश्यक सामग्री के साथ-साथ मास्क व साबुन भी रखा गया है। श्री अग्रवाल ने कहा है कि कोविड-19 का प्रभाव  कम नहीं हो रहा है  और ऐसे में  सुरक्षा अत्यंत आवश्यक है। उन्होंने कहा है कि मास्क का प्रयोग  करना इस बीमारी से बचाव के लिए आवश्यक है, साथ ही श्री अग्रवाल ने समय-समय पर गर्म पानी पीने की सलाह भी दी। उन्होंने कहा है कि अब स्वयं के रोजगार तलाश कर कार्य शुरू करने होंगे और करोना जैसी महामारी से सावधानी पूर्वक अपना बचाव भी करना होगा। इस अवसर पर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के नगर कार्यवाह श्याम बिहारी , भाजपा के मंडल मंत्री चंद्रेश्वर यादव, दिलीप गुप्ता ने राशन की किट वितरण में प्रतिभाग किया, इस दौरान गुड़िया देवी, बिंदु देवी, पूनम, इंदु, निधि, शांति, कुसुम, मीना, सीमा, छाया देवी, अंजू, रमा देवी, चंपा देवी आदि महिलाओं ने राशन किट प्राप्त की।


एनआईटी मामले में सरकार ने यदि पहल नहीं की तो कांग्रेस खटखटाएगी सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा

देहरादून। उत्तराखंड कांग्रेस के उपाध्यक्ष धीरेंद्र प्रताप ने नैनीताल उच्च न्यायालय द्वारा पौड़ी जनपद के सुमाडी में बनाए जा रहे एनआईटी पर सुरक्षा कारणों से जताए गए एतराज पर भारी दुख व्यक्त करते हुए इस मामले में राज्य सरकार द्वारा की गई पैरवी को लचर बताते हुए कहा है कि राज्य सरकार को इस मामले को लेकर उच्चतम न्यायालय का दरवाजा खटखटाना चाहिए।
 धीरेंद्र प्रताप ने कहा है कि नैनीताल में सुमाडी मामले की  पैरवी ठीक से नहीं हुई है और ऐसा लगता है कि जो मैदानी मानसिकता के अधिकारी हैं और जो गैरसैंण को स्थाई राजधानी बनाने का विरोध करते आए हैं। उन्हीं लोगों ने सुमाडी में भी एनआईटी को बनाए जाने मैं लचर पैरवी और गंभीर  लापरवाही की है।  जिसका कांग्रेस  और राज्य आंदोलनकारी विरोध करेगे। उन्होंने कहा कि यदि राज्य सरकार ने इस मामले में या तो हाईकोर्ट  में पुनर्विचार याचिका दायर नहीं की और या इसके बाद भी दिल्ली में उच्चतम न्यायालय का दरवाजा नहीं खटखटाया तो वे स्वयं सुप्रीम कोर्ट में जनहित याचिका दायर कर,सर्वोच्च न्यायालय का दरवाजा खटखटा एंगे ।उन्होंने कहा कि राज्य आंदोलनकारियों ने राज्य के साडे 16000 गांव के विकास को केंद्र में रखकर उत्तराखंड राज्य की लड़ाई लड़ी थी लेकिन पिछले 20 सालों में लगातार यह देखने में आ रहा है कि जो भी विकास के केंद्र पर्वतीय क्षेत्रों में बनाए गए मैदानी मानसिकता के अधिकारी उन्हें येन-केन प्रकारेण खींचकर मैदानों के बड़े शहर देहरादून, हल्द्वानी हरिद्वार और अन्य स्थानों में ले गए। उन्होंने कहा राज्य आंदोलनकारी इसे बर्दाश्त नहीं करेंगे और इसके विरुद्ध जन आंदोलन के अलावा सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाने से भी पीछे नहीं हटेंगे।


चारधाम यात्रा विरोध से कांग्रेस का उत्तराखंड व जनविरोधी चेहरा बेनकाबः भाजपा

देहरादून। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष बंशी धर भगत ने कांग्रेस द्वारा चार धाम यात्रा का विरोध करने पर कांग्रेस पर बरसते हुए कहा कि इससे कांग्रेस का उत्तराखंड विरोधी व जनविरोधी चेहरा फिर बेनकघब हुआ है।कांग्रेस नेता इतने कुंठित हो गए हैं कि भाजपा विरोध में अपना विवेक ही खो बैठे हैं।
   भाजपा प्रदेश अध्यक्ष बंशी धर भगत ने कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा सुरक्षा के साथ उत्तराखंड के बाहर के श्रद्धालुओं के लिए भी चार धाम यात्रा खोलने का जो निर्णय लिया गया है वह सही कघ्दम है। इससे पहले नियमों के अंतर्गत केवल उत्तराखंड के लोगों के लिए  खोली गई यात्रा का कघ्दम सफल हो जाने के बाद अब अन्य प्रदेशों के लोगों के लिए यात्रा का खोला जाना बिल्कुल उचित है। इससे जहाँ अन्य स्थानों के श्रद्धालु चार धाम आकर देव दर्शन कर सकेंगे वहीं यात्रा से जुड़ी छोटी बड़ी आर्थिक गतिविधियों में वृद्धि होगी व इनसे जुड़े लोगों की आमदनी बढ़ने के साथ रोजगार भी बढ़ेगा। सरकार का यह कदम धार्मिक रूप से भी उचित है और आर्थिक विकास व रोजगार की दृष्टि से भी सही है। इस पर महत्वपूर्ण बात यह है कि सरकार ने कोरोना काल से जुड़ी सभी जरूरी सावधानियों को ध्यान में रख कर प्रबंध किए हैं और श्रद्धालुओं पर भी जरूरी शर्तें लगाई हैं।
  श्री भगत ने कहा कि कांग्रेस इसका विरोध कर रही है और इससे साफ है कि कांग्रेस नेता न राज्य का भला चाहते हैं और न ही यहाँ की जनता का। वे नहीं चाहते कि राज्य व यहाँ की जनता कोरोना काल में जो समस्याएँ सामने आयी हैं उनसे बाहर निकले और लोगों की परेशानी कम हो। इससे उनका राज्य व जनविरोधी चेहरा जो उनका असली चेहरा है फिर सामने आया है। श्री भगत ने कहा कि कांग्रेस का हाल यह है कि चारधाम देवस्थानम प्रबंध बोर्ड पर उच्च न्यायालय का निर्णय आने के बाद भी वह बोर्ड को लेकर विरोध कर रही है। इस पर कांग्रेस नेता कहास्यास्पद बयान दे रहे हैं कि प्रदेश में सत्ता में आने के बाद वे बोर्ड को समाप्त कर देंगे। जबकि यह सच्चाई वे भी जानते हैं अगले चुनाव में कांग्रेस की हालत और खराब होने जा रही है।


पुरोला विधानसभा क्षेत्र के एक दर्जन ग्रामप्रधान कांग्रेस में शामिल


-प्रदेश में कांग्रेस का जनाधार लगातार बढ़ रहाः प्रीतम सिंह

देहरादून। प्रदेश की जनता का अब राज्य में बीजेपी सरकार से मोह भंग हो चुका है, जनता बीजेपी सरकार की चैतरफा असफलताओं के कारण अब इस सरकार से पिंड छुड़ाना चाहती है और इसीलिए बड़ी संख्या में लोग कांग्रेस पार्टी की सदस्यता ग्रहण कर रहे हैं यह बात आज कांग्रेस मुख्यालय में पुरोला विधानसभा के अंतर्गत आने वाली एक दर्जन ग्रामसभाओं के ग्राम प्रधानों द्वारा कांग्रेस में सम्मलित हो पार्टी की सदस्यता ग्रहण करने के अवसर पर आयोजित कार्यक्रम को संबोधित करते हुए उत्तराखंड प्रदेश कंग्रेस कमेटी के अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने कही।
उन्होंने पार्टी में शामिल हुए ग्राम पंचायतों के प्रधानों का स्वागत करते हुए कहा कि कांग्रेस का 135 वर्षों का स्मार्द्धशाली इतिहास है और ये उनके लिए गर्व की बात है कि वे आज इस ऐतिहासिक पार्टी के सदस्य बने है। उन्होंने कहा कि उत्तराखंड की जनता अब भली भांति समझ गयी है कि।उत्तराखंड का विकास केवल कांग्रेस के राज में ही संभव है इसलिए 2022 में जनता कांग्रेस को सत्तारूढ़ करने के लिए आतुर है। इस अवसर पर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के उपाध्यक्ष सूर्यकांत धस्माना ने सभी नव आगंतुक ग्राम प्रधानों का पार्टी में स्वागत करते हुए अपेक्षा की कि सभी पूरी ताकत से प्रीतम सिंह के नेतृत्व में उत्तराखंड में जन सरोकारों के लिए समघर्ष कर कांग्रेस की प्रदेश में सत्ता में वापसी करवाएंगे। आज कांग्रेस में शामिल होने वाले ग्राम प्रधानों में ग्राम स्वील की ग्राम प्रधान संतोषी, ग्राम सुरानु की सेरी के प्रधान जगदीश भारती, ग्राम सांखाल के प्रधान जगदीश कुमार, ग्राम मैराणा के प्रधान सोबन लाल, खड़मयासेम की ग्राम प्रधानअमीता देवी, ग्राम श्रीकोट के प्रधान धीरपाल सरियाल, ग्राम कुरड़ा की ग्राम प्रधान ममता देवी , ग्राम नागझाला की ग्रामप्रधान नीलम, ग्राम दकाड़ा के ग्राम प्रधान अमर सिंह, ग्राम गुनदियाट गांव की ग्राम प्रधान लक्ष्मी व ग्राम पाणी गांव की ग्राम प्रधान प्रमिला, रोहित बिष्ट ग्राम किरानु, हरीश ग्राम डेरिका व राजेन्द्र कुमार ग्राम कुरड़ा ने कांग्रेस की सदस्यता ग्रहण की। इस अवसर पर पार्टी के प्रदेश महासचिव अतोल सिंह रावत यमुना घाटी के जिलाध्यक्ष राजेन्द्र सिंह राणा, रेखा नौटियाल जिला महामंत्री, जिला युवा कांग्रेस अध्यक्ष मनमोहन सिंह, प्रकाश कुमार डबराल उपस्थित रहे।


घोटाले की फाइलें गायब करा रही सरकार: रविन्द्र सिंह आनंद


-सिडकुल 500 करोड़ के घोटाले को जीरो टॉलरेंस की सरकार ने अपने हिसाब से किया मैनेजः आप
 
देहरादून। आम आदमी पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता रविन्द्र सिंह आनन्द ने सिडकुल बहुचर्चित घोटाले में सरकार की मंशा पर सवाल खड़े किए हैं उन्होंने कहा कि अपने आप को जीरो टोलरेंस की सरकार कहलाने वाली बीजेपी ने सिडकुल घोटाले की फाइलें ही गायब करा दी उन्होंने व्यंग कसते हुए कहा कि ना रहेगा बांस ना बजेगी बांसुरी।
उन्होंने कहा उधम सिंह नगर में 129, हरिद्वार में 32,और देहरादून में 162, पौड़ी गढ़वाल में 12 निर्माण कार्य की जांच एसआईटी द्वारा की जा रही है ऐसे में सिडकुल घोटाले की फाइलें गायब हो जाना एक अजीब सी घटना है उन्होंने कहा इस घोटाले में ऑडिट कराए जाने में अनियमितताएं पाई गई थी और सरकारी धन के दुरुपयोग का मामला जो कि 500 करोड रुपए का है उन्होंने कहा कि बीजेपी के बड़े नेताओं एवं अफसरों ने मिलकर इस खेल को खेला है सरकार ने अपनी आंखें बंद रखी जिससे कि फाइलें गायब कराने का खेल हो सके उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा जब त्रिवेंद्र सरकार ने इसकी जांच एसआईटी को सौंपी थी तो सिडकुल घोटाले की फाइलें गायब होना एक सवालिया निशान है उन्होंने कहा कि उत्तराखंड में जीरो टोलरेंस की सरकार व उसके मंत्री मिलकर घोटाले की फाइलें गायब करने में लगे हैं उन्होंने इस मामले की निष्पक्षता से जांच कराने की मांग की उन्होंने कहा कि यदि इसमें जल्द ही कोई एक्शन नहीं लिया गया तो आम आदमी पार्टी द्वारा सरकार के खिलाफ उग्र प्रदर्शन किए जाएंगे।


उपमा ने गुरपाल सिंह को बनाया महानगर अध्यक्ष

 



देहरादून। उत्तरांचल पंजाबी महासभा राजीव घई के नेतृत्व में प्रदेश संगठन मंत्री व गढवाल प्रभारी जी.एस. आनंद, जिला प्रभारी बलदेव सिंह जयसवाल के द्वारा नवनिर्वाचित देहरादून महानगर के करमट होनहार सरदार गुरपाल सिंह जी को नवनिर्वाचित अध्यक्ष चुना गया, जिला अध्यक्ष अमरजीत सिंह कुकरेजा,जिला महिला अध्यक्ष डॉ. बबीता सोहता आनंद जिला महामंत्री रवि अरोड़ा और सम्मानित पदाधिकारियों ने एक साथ अपनी सहमति जाहिर की।
सभी ने मिलकर उस पूज्य पिता परमात्मा वाहेगुरूसे अरदास की कि हम सभी एकजुट होकर राजीव घई जी के नेतृत्व में समाज सेवा करते हुए सभा को बुलंदियों तक ले जाएंगे। प्रदेश अध्यक्ष जी के साथ वीडियो कान्फ्रेंस पर नवनिर्वाचित महानगर अध्यक्ष सरदार गुरपाल सिंह को बधाई दी गई और सभी का धन्यवाद किया गया। इस अवसर पर जी. एस. आनंद, बलदेव सिंह जयसवाल, अमरजीत सिंह कुकरेजा, रवि अरोड़ा, मेजर जनरल शम्मी सबरवाल, डॉ. बबीता सोहता आनंद, रिंकी कपूर, हरीश वीरमानी, जयवीर बाली, विजय तुली, अरुण खरबंदा, सेवा सिंह मठारू, देवेन्द्र सेठी, जसबीर सिंह बग्गा, मीनु चड्डा, हरींदर आनंद, शंटी, सागर मलिक,राकेश चड्डा, नीतू सेठी, चमन लाल कुकरेजा, जी एस सडाना, कुलबीर सिंह आदि उपस्थित रहे।


पूरण सिंह बिष्ट चुने गए कोरोना वाॅरियर

देहरादून। लाॅकडाउन अवधि में शासकीय विभागों द्वारा किये गये उत्कृष्ट कार्यों के दृष्टिगत आज के कोरोना वाॅरियर शासकीय विभाग से पूरण सिंह बिष्ट सफाई निरीक्षक, नगर निगम देहरादून चुने गए। वे कोविड-19, के अन्तर्गत दिये गये दायित्वों का कुशलपूर्वक निर्वहन कर रहे हैं।


वर्षाकाल में प्रत्येक बुधवार एवं शनिवार को डेंगू-मलेरिया उन्मूलन अभियान चलाने के दिए निर्देश

देहरादून। जिलाधिकारी डाॅ आशीष कुमार श्रीवास्तव ने जनपद में वर्षाकाल तक प्रत्येक बुधवार एवं शनिवार को डेंगू-मलेरिया उन्मूलन अभियान चलाये जाने के निर्देश दिये हैं। उक्त अभियान के साथ ही कोविड-19 संक्रमण की रोकथाम हेतु जनमानस को जागरूक भी किया जा रहा है। जिलाधिकारी द्वारा आज डिफेंस काॅलोनी क्षेत्रान्तर्गत डेंगू जागरूकता अभियान के अन्तर्गत चलाये जा रहे साफ-सफाई एवं जन जागरूकता कार्यक्रम में प्रतिभाग करते हुए जनमानस को जागरूक किया तथा नगर निगम की टीम को निरन्तर स्वच्छता कार्यक्रम के साथ ही कीटनाशकों का छिड़काव करने तथा बरसाती पानी की निकासी का उचित प्रबन्ध करने के निर्देश दिये।
जिलाधिकारी द्वारा दिये गये निर्देशों के अनुपालन में नगर निगम देहरादून एवं ऋषिकेश सहित समस्त नगर पालिका परिषद क्षेत्रान्तर्गत डेंगू उन्मूलन अभियान के अन्तर्गत साफ-सफाई,  फाॅगिंग एवं दवाई का छिड़काव एवं जनमानस को इससे बचाव हेतु जागरूक किया गया। जिलाधिकारी द्वारा दिये गये निर्देशों के अनुपालन में आज जनपद के विभिन्न क्षेत्रों में जिला प्रशासन की टीम द्वारा सार्वजनिक स्थानों पर मास्क न पहनने पर कुल 26 व्यक्तियों के चालान किये गये, जिनमें सभी चालान मसूरी क्षेत्रान्तर्गत किये गये। इसके अतिरिक्त पुलिस टीम द्वारा जनपद अन्तर्गत सार्वजनिक स्थानों पर मास्क का उपयोग न करने पर 450 व्यक्तियों के चालान किये गये। जिला प्रशासन द्वारा आज जनपद के विभिन्न चयनित स्थानों पर अधिकृत 10 मोबाईल वैन के माध्यम से 73 क्विंटल फल-सब्जियों का विक्रय किया गया। दुग्ध विकास विभाग द्वारा कन्टेंनमेंट जोन क्षेत्रान्तर्गत 64 ली दुध विक्रय किया गया। विज्ञप्ति जारी किये जाने तक वायुसेवा के माध्यम से जौलीग्रान्ट एयरपोर्ट पर पंहुचे 344 प्रवासी व्यक्तियों को स्वास्थ्य जांच उपरान्त जनपद में क्वारेंटीन किया गया है। इसी प्रकार जनपद के जौलीग्रान्ट एयरपोर्ट से विभिन्न प्रदेशों के 224 व्यक्तियों को गंतव्यों हेतु भेजा गया। विज्ञप्ति जारी किये जाने तक काठगोदाम से देहरादून रेलवे स्टेशन पर 168 व्यक्ति पंहुचे इसी प्रकार  देहरादून रेलवे स्टेशन से दिल्ली हेतु 245 तथा काठगोदाम हेतु 355 व्यक्ति गये। जनपद में विभिन्न विकासखण्डवार मनरेगा कार्यों के अन्तर्गत आतिथि तक 1800 निर्माण कार्य प्रारम्भ किये गये, जिनमें 25464 श्रमिकों को सैनिटाईजेशन एवं सामाजिक दूरी का अनुपालन करवाते हुए उक्त कार्य में योजित कर रोजगार उपलब्ध कराया गया। कोविड-19 के संक्रमण के दृष्टिगत जिला आपदा कन्ट्रोलरूम में 44 काल प्राप्त हुई, जिनमें सभी काल पास हेतु प्राप्त हुई।


टिहरी बांध विस्थापित क्षत्रों के 9 गांवों को राजस्व ग्राम बनाये जाने की सीएम ने दी स्वीकृति



-ग्राम वासियों की वर्षों से लम्बित मांग हुई पूरी, गठित हो सकेगी ग्राम पंचायतें, सरकारी योजनाओं का मिलेगा लाभ

देहरादून। मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने जनपद देहरादून के टिहरी बांध विस्थापित क्षेत्र पशुलोक ऋषिकेश के सात गांवों तथा जनपद हरिद्वार के टिहरी विकास नगर एवं टिहरी बन्द्राकोटी को राजस्व ग्राम बनाये जाने की स्वीकृति प्रदान कर दी है। मुख्यमंत्री ने कहा कि राजस्व ग्राम बनाये जाने से इन गांवों के निवासियों की वर्षों पुरानी मांग पूरी हुई है। राजस्व ग्राम बनने से यहां के निवासियों को सभी सरकारी योजनाओं का लाभ प्राप्त हो सकेगा तथा ग्राम पंचायतों का भी गठन हो सकेगा।
      इस सम्बंध में बुधवार को सचिवालय में आयोजित बैठक में प्रमुख सचिव वन आनन्द बर्द्धन एवं सचिव राजस्व सुशील कुमार के साथ ही सम्बन्धित विभागों के अधिकारियों के साथ विचार-विमर्श के पश्चात मुख्यमंत्री द्वारा इन गांवों को राजस्व ग्राम घोषित किये जाने के निर्देश दिये हैं। राजस्व ग्राम घोषित किये गये ग्रामों में टिहरी बांध विस्थापित क्षेत्र पशुलोक के ग्राम, माली देवल, विरयाणी, पैंदार्स, असैना, लम्बोगडी, गोजियाड़ा सिरांई, सिरांई राजगांव तथा डोबरा कुल सात गांव, जबकि हरिद्वार जनपद के टिहरी बांध परियोजना विस्थापित क्षेत्र पथरी भाग 3 के पूर्व एवं पश्चिम क्षेत्र के ग्राम टिहरी विकास नगर एवं टिहरी बन्द्राकोटी शामिल हैं। मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र ने सचिव राजस्व को इस संबंध में शीघ्र आवश्यक कार्यवाही करने के भी निर्देश दिये हैं।


मुख्यमंत्री एवं मंत्रियों ने मुख्य सचिव उत्पल कुमार सिंह को दी शुभकामनाएं



देहरादून। मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत एवं मंत्रिमण्डल के सदस्यों ने मुख्य सचिव उत्पल कुमार सिंह को उनके जन्म दिन की बधाई दी है। बुधवार को सचिवालय में कैबिनेट बैठक के पश्चात इस माह के अन्त में सेवा निवृत्त हो रहे मुख्य सचिव उत्पल कुमार सिंह के कार्यकाल की यह अंतिम कैबिनेट बैठक थी। आज उनका जन्म दिन भी है। मुख्यमंत्री सहित सभी मंत्रीगणों द्वारा उनके कार्यों एवं सबको साथ लेकर चलने की कार्यकुशलता की सराहना की सभी ने श्री सिंह को कुशल, कर्मठ व योग्य प्रशासक बताते हुए उनके सुदीर्घ जीवन की मंगलमय कामना की।


पिता चलाते हैं चाय की दुकान, बेटे ने 12वीं की मैरिट सूची में प्राप्त किया तीसरा स्थान

देहरादून। चाय वाले के बेटे दीपक ने 12वीं की परीक्षा में प्रदेश स्तर पर तीसरा स्थान पाया है। दीपक ने कभी ट्यूशन तक नहीं लगाया। इंटरमीडिएट बोर्ड की मेरिट सूची में प्रदेश में तीसरा स्थान प्राप्त करने वाले रानीखेत (मिशन) इंटर कालेज के मेधावी छात्र दीपक सती ने न सिर्फ स्कूल का मान बढ़ाया है वरन पूरे जिले को गौरवांवित किया है।
उनके पिता राजेंद्र सती की यहां सदर बाजार में चाय की दुकान है। उनकी बहन ने भी 12वीं की कक्षा में पहला स्थान प्राप्त किया था। सदर बाजार निवासी दीपक सती बचपन से ही मेधावी छात्र रहे हैं। हाई स्कूल बोर्ड की परीक्षा में भी उन्होंने राज्य की वरीयता सूची में 15वां स्थान प्राप्त किया था। 12वीं में 95 प्रतिशत अंक प्राप्त करने पर दीपक कहते हैं कि पढ़ाई का कोई समय निर्धारित नहीं था, जिसे भी वह पढ़ लेते थे, वह उन्हें कंठस्त हो जाता था। शानदार सफलता से पूरा परिवार उत्साहित नजर आया।
उनकी मां सुनीता सती गृहणी हैं। दीपक ने अपनी सफलता का श्रेय माता-पिता व गुरूजनों को दिया है। वह भविष्य में प्रशासनिक सेवा में जाकर देश सेवा करना चाहते हैं। दीपक ने कहा कि किसी भी क्षेत्र में सफलता के लिए कोई मानक निर्धारित नहीं है। बस लगन और मेहनत करनी चाहिए। कि दीपक की बड़ी बहन गीतांजलि सती उत्तराखंड इंटरमीडिएट बोर्ड परीक्षा में प्रदेश में 22वें स्थान पर रही थी।


सेवानिवृत्त राजकीय पैन्शनर्स संगठन ने कोरोना योद्धाओं को किया सम्मानित



देहरादून। सेवानिवृत्त राजकीय पैन्शनर्स संगठन तहसील शाखा नरेन्द्रनगर के द्वारा राजकीय पशु चिकित्सालय  मुनिकीरेती के प्रांगण में भरत मणि कुडियाल की अध्यक्षता में कोरोना वैरियर्स (योद्धाओं ) केलिये  एक सम्मान समारोह का आयोजन किया गया जिसमें कि कोरोना योद्धाओं को सम्मानित किया गया। इस मौके पर संगठन के द्वारा पौधारोपण भी किया गया। समारोह में मंत्री शूरवीर सिंह चैहान के द्वारा आयोजन का संचालन करते हुए कोरोना योद्धाओं के उत्कृष्ट कार्य हेतु आभार व्यक्त किया गया। कोषाध्यक्ष जबर सिंह पंवार ने कहा कि अखबार और सफाई कर्मी दोनों ही ऐसे कोरोना वैरियर्स हैं जो प्रतिदिन सबसे पहले सुबह-सुबह हमारे घरों में दस्तक देते हैं। समारोह में कोरोना योद्धा पत्रकार दुर्गा नौटियाल, मनीष अग्रवाल एवं राजेश चमोली, सफाई नायक देवेन्द्र कुमार, सफाई कर्मी अशोक, सोनू,चांदनी ,मनीषा,मन्जू, उषा, बृजेश देवी,रतनेश ,सन्जू , आशीष,रेणू देवी तथा मनोज को माल्यार्पण कर एवं अंगबस्त्र (शाल) भेंट कर संगठन के द्वारा सम्मानित किया गया। कोरोना वैरियर्स  को सम्मानित करने वालों में अध्यक्ष भरत मणि कुडियाल, मंत्री शूरवीर सिंह चैहान,कोषाध्यक्ष जबर सिंह पंवार,प्रान्तीय मंत्री हृदय राम सेमवाल, बिरेन्द्र पोखरियाल, पी0 डी 0 डिमरी,  हंसलाल असवाल, ओमप्रकाश थपलियाल,जयपाल सिंह नेगी,गोपाल दत्त खंडूड़ी,केशर पंवार, विन्दु,दर्शनी चैहान,विमला पोखरियाल,भोला सिंह विष्ट, हितेंद्र यादव तथा विमल नैथानी उपस्थित थे। समारोह में  सामाजिक दूरी  का पूरा  ध्यान रखा गया।


देहरादून-नई टिहरी-श्रीनगर-गौचर हैली सेवा शुरू, आरसीएस उड़ान योजना के अन्तर्गत शुरू हुई हैली सेवा

-केन्द्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी व मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने किया आनलाईन शुभारम्भ

देहरादून। केन्द्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी एवं मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने बुधवार को आरसीएस उड़ान योजना के अन्तर्गत देहरादून-नई टिहरी-श्रीनगर-गौचर हैली सेवा का आनलाईन शुभारम्भ किया। यह सेवा पवन हंस लि. द्वारा दी जा रही है। इस सेवा के शुभारम्भ के अवसर पर कर्णप्रयाग विधायक सुरेन्द्र सिंह नेगी, राजकुमार, विनय कण्डवाल, मनवीर नेगी एवं जगमोहन ने हवाई यात्रा की।
मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र ने कहा कि उड़ान योजना के अन्तर्गत जो हेली सेवाएं चलाई जा रही हैं, स्थानीय लोगों द्वारा इसे काफी पंसद किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि यह प्रसन्नता की बात कि इस पवन हंस लि. की यह सेवा प्रति सप्ताह में तीन दिन सोमवार, बुधवार एवं शुक्रवार को चालू रहेगी। मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र ने कहा कि उड़ान योजना से देहरादून, देश के दर्जनों शहरों से एयर कनेक्टिविटी से जुड़ा है। हिण्डन,गाजियाबाद से पिथौरागढ़ के लिए सीधी हवाई सेवा शुरू की गई है। प्रदेश में 27 हेलीपोर्ट विकसित किये गये है। क्षेत्रीय सम्पर्क योजना में देहरादून को पंतनगर, पिथौरागढ़ चिन्यालीसौड़ और गौचर से जोड़ा गया है। पंतनगर हवाई अड्डे को ग्रीन फील्ड के रूप में विकसित किया जा रहा है। मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र ने केन्द्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी से अनुरोध किया कि हल्द्वानी-अल्मोड़ा-धारचूला हेतु भी मंगलवार, गुरूवार एवं शनिवार को सेवा प्रारम्भ की जानी है। चारधाम यात्रा के दृष्टिगत गुप्तकाशी एवं बड़कोट में भी हेली सेवाएं प्रारम्भ किये जाने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि हर्षिल के लिए भी हेली सेवा शुरू हो, इससे गंगोत्री जाने वाले यात्रियों के लिए सुविधा होगी। हर्षिल का प्राकृतिक सौन्दर्य पर्यटकों को आकर्षित करता है। मुख्यमंत्री ने कहा कि ब्यूरो ऑफ सिविल एविएशन सिक्योरिटी के मानक जटिल हैं। उत्तराखण्ड की परिस्थितियों के दृष्टिगत सिविल एविएशन सिक्योरिटी के मानकों में परिवर्तन के लिए अनुरोध किया। उन्होंने कहा कि इससे आर्थिक बोझ भी कम होगा।
केन्द्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने उड़ान योजना के अन्तर्गत देहरादून-नई टिहरी-श्रीनगर-गौचर हवाई सेवा शुरू होने पर प्रदेशवासियों को शुभकामनाएं दी। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र ने उड़ान सेवा के अन्तर्गत जिन नये यात्रा मार्गों के लिए हेली सेवा शुरू करने के लिए सुझाव दिया गया है। उस पर जल्द ही मुख्यमंत्री से बैठक कर चर्चा कर निर्णय लिया जायेगा। ब्यूरो ऑफ सिविल एविएशन सिक्योरिटी के मानकों के बारे अधिकारियों के साथ चर्चा कर नियमानुसार उचित समाधान किया जायेगा। इस अवसर पर  उच्च शिक्षा एवं सहकारिता मंत्री डाॅ. धन सिंह रावत, सचिव नागरिक उड्यन, भारत सरकार प्रदीप सिंह खरोला,सीएमडी पवन हंस लि. संजीव राजदान, सचिव दिलीप जावलकर, मुख्यमंत्री के उड्डयन सलाहकार दीप श्रीवास्तव, यूकाडा की सीईओ सोनिका, पवनहंस लि. के राजीव अग्निहोत्री, रमेश के. आदि उपस्थित रहे।


राज्य कैबिनेट की बैठक में लिए गए कई अहं निर्णय, कर्मचारी पदोन्नति परित्याग नियमावली को मंजूरी



देहरादून। राज्य कैबिनेट की बैठक में कई महत्वपूर्ण निर्णय लिए गए। कर्मचारी पदोन्नति परित्याग नियमावली को मंजूरी मिल गई है। कार्मिक विभाग की इस नियमावली में तीन लाख से अधिक कर्मचारी आएंगे। पदोन्नति के साथ तबादला होने पर तबादले से बचने के लिए कई कर्मचारी पदोन्नति को छोड़ देते थे। इससे पदोन्नति का पद रिक्त नहीं होता था और नीचे की श्रेणी के कर्मचारी परेशान होते थे। अब अनिवार्य रूप से तबादला होगा और प्रमोशन छोड़ने पर पद रिक्त माना जाएगा।
मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत की अध्यक्षता में बुधवार को सचिवालय में कैबिनेट बैठक का आयोजन किया गया, बैठक में कई अहं निर्णय लिए गए। कैबिनेट की बैठक में लिए गए निर्णयों की जानकारी देते हुए शासकीय प्रवक्ता और कैबिनेट मंत्री मदन कौशिक ने बताया कि 27 प्रस्तावों पर चर्चा हुई, जबकि एक पर कमेटी का गठन किया गया है। कारखाना अधिनियम से संबंधित तीन श्रम सुधारों को कैबिनेट की मंजूरी। यह तीनों सम सुधार भारत सरकार की ओर से जारी गाइडलाइन के अनुसार हैं और इन्हें केंद्र सरकार को भेजा जाएगा। रानी पोखरी में पूर्व सैनिकों के लिए ईसीएच अस्पताल के लिए निशुल्क भूमि देने को कैबिनेट ने मंजूरी दी है। हरिद्वार में सीएचसी के लिए सरकार भूमि उपलब्ध कराएगी। उत्तराखंड तकनीकी विश्वविद्यालय का नाम अबीर माधव सिंह गढ़वाली विश्वविद्यालय होगा। श्रीनगर में एनआईटी के अस्थाई कैंपस के लिए रेशम विभाग की 3.2 हेक्टेयर और 2.88 करोड़ कीमत की भूमि सरकार निशुल्क उपलब्ध कराएगी। आरटीई नियमावली के तहत पब्लिक स्कूल और सरकारी स्कूल के बीच के बीच का अंतर भरने के मामले में मदन कौशिक की अध्यक्षता में कमेटी गठित की गई है। बिना बैंक लोन लिए होमस्टे के कमरे बनाने वालों को एक कमरे के निर्माण के लिए 60,000 और एक कमरे के पुनर्निर्माण के लिए 25000 रुपये सरकार देगी। केदारनाथ उत्थान चैरिटेबल ट्रस्ट के तकनीकी और इंजीनियरिंग के कार्य अब पीडब्ल्यूडी करेगा। आयुष शिक्षा में भर्ती चिकित्सा सेवा चयन बोर्ड के जरिए होगी। उत्तराखण्ड प्राविधिक शिक्षा राजपत्रित सेवा नियमावली में शैक्षिक योग्यता आरक्षण इत्यादि विषयक पर संशोधन लाया गया है। प्रदेश राजस्व निरीक्षक पटवारी सर्किल के क्षेत्र में पुनर्गठन करते हुए 160 पदों की अतिरिक्त 51 अतिरिक्त पद बढ़ाने पर सहमति बनी है।
उत्तराखण्ड पेयजल निगम विभाग में प्रबंध निदेशक पद पर एक अतिरिक्त पद निसंवर्गीय वर्ग का पद सलाहकार पेयजल के रूप में बनाया जाएगा। आंगनबाड़ी केन्द्र में तीन से छह वर्ष के बच्चों के लिये 320 रुपये का मिल्क पाउडर दो दिन की जगह 370 रुपये के हिसाब से चार दिन करने का फैसला किया गया। किशोरी-बालिका सैनेटरी नैपकिन ई-टैंडर प्रक्रिया से ली जाएगी।


उत्तराखंड बोर्ड की 10वीं की परीक्षा में टिहरी के गौरव व 12वीं में उधमसिंहनगर की ब्यूटी रहे टाॅपर



रामनगर/देहरादून। उत्तराखंड विद्यालयी शिक्षा परिषद का 10वीं और 12वीं का परीक्षा परिणाम घोषित कर दिया गया है। हाईस्कूल में 98.20 फीसद अंकों के साथ टिहरी के गौरव सकलानी व इंटर में 96.60 फीसद अंकों के साथ ऊधमसिंहनगर की ब्यूटी वत्सल टॉपर रही। गौरव को 500 में से 491 व ब्यूटी को 483 अंक प्राप्त हुए। गौरव के पिता स्वजल में संविदा पर चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी हैं। गौरव की सफलता पर विद्या मंदिर के प्रधानाचार्य देवी प्रसाद नौटियाल ने बताया कि पहली बार उनके विद्यालय का कोई छात्र प्रदेश में सर्वोच्च रैंक पर आया है। यह विद्यालय के लिए बड़ी उपलब्धि है बोर्ड परीक्षा में हर साल हमारे विद्यालय के छात्र-छात्राएं मेरिट में स्थान लाते हैं, लेकिन गौरव सकलानी ने पूरी लगन और मेहनत के साथ यह मुकाम हासिल किया है। गौरव का गांव चंबा के पास खुरेत है।
इंटर का परीक्षाफल इस बार 80.26 व हाईस्कूल का 76.91 फीसद रहा। परीक्षा परिणाम की घोषणा शिक्षा मंत्री अरविंद पांडे ने की। इस बार हाईस्कूल में 1,47,155 छात्र-छात्राओं ने परीक्षा दी थी, जिसमें से 1,13,191 उत्तीर्ण हुए हैं। गत वर्ष की तुलना में इस बार परीक्षाफल 0.48 फीसद अधिक रहा। वहीं, इंटर बोर्ड परीक्षा में 1,19,164 छात्र-छात्राओं में से 95,645 परीक्षार्थी पास हुए हैं। इंटर का रिजल्ट पिछले साल की तुलना में 0.13 फीसद अधिक रहा। 10वीं बोर्ड परीक्षा में दूसरे स्थान पर 97.80 फीसद अंकों के साथ ऊधमसिंह नगर की जिज्ञासा व 97.60 फीसद अंकों के साथ पौड़ी की शिवानी रावत, रूद्रप्रयाग के तनुज जगवान और पिथौरागढ़ के लक्षित सिंह बिष्ट सुंयक्त रूप से तीसरे स्थान पर रहे। जबकि, इंटर में 95.40 फीसद अंकों के साथ दूसरे स्थान पर नैनीताल जिले के युगल जोशी व तीसरे स्थान पर 95 फीसद अंकों के साथ पांच छात्र संयुक्त रूप से रहे। इनमें देहरादून के राहुल यादव, टिहरी गढ़वाल के सार्थक मैठाणी, चमोली के वैभव थपलियाल, अल्मोड़ा के दीपक सती और नैनीताल के मुकेश उपाध्याय शामिल रहे। दरअसल, कोरोना वायरस संक्रमण के चलते इसबार बोर्ड परीक्षा का परिणाम करीब दो महीने देरी से घोषित किया गया है। सीएम ने विद्यार्थियों को देश का भविष्य बताते हुए कहा कि अपनी योग्यता, परिश्रम और दृढ़ इच्छा शक्ति से वे अपने भविष्य के साथ ही देश को नई दिशा देने में सफल होंगे। जिन विद्यार्थियों के परिणाम उनकी अपेक्षा के अनुरूप नहीं आए हैं, उन्हें निराश होने की आवश्यकता नहीं है। आगे और अधिक मेहनत करें, और लक्ष्य पाने तक लगातार प्रयास करें। सफलता अवश्य मिलेगी। उत्तराखंड बोर्ड परीक्षा के परिणाम घोषित कर दिए गए हैं। इसमें इंटरमीडिएट की परीक्षा में इसबार पासिंग परसेंटेज में दून जिला फिसड्डी रहा है। 72.12 फीसद के साथ सबसे पीछे है। परीक्षा परिणामों में बागेश्वर जिला 90 फीसद पासिंग परसेंटेज के साथ टॉप पर है। इस साल कोरोना संक्रमण की वजह से उत्तराखंड बोर्ड परीक्षाएं दो चरणों में हुईं थीं। पहले चरण की परीक्षा एक मार्च से 21 मार्च तक हुई जबकि दूसरे चरण की परीक्षा जून के दूसरे पखवाड़े में हुई थी। इसके चलते इस बार बोर्ड के रिजल्ट में दो माह की देरी हुई। उत्तरपुस्तिकाओं का मूल्यांकन कार्य भी दो चरणों मेें चला और 13 जुलाई को खत्म हुआ। इस बार हाईस्कूल में 147588 और इंटर में 119216 परीक्षार्थी शामिल हुए। मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने उत्तराखण्ड बोर्ड की 10 वीें और 12 वीं की परीक्षा में सफलता प्राप्त करने वाले प्रदेश के सभी छात्रों को बधाई एवं शुभकामनायें दी हैं। मुख्यमंत्री ने विद्यार्थियों को देश का भविष्य बताते हुए कहा कि अपनी योग्यता, परिश्रम और दृढ़ इच्छा शक्ति से वे अपने भविष्य के साथ ही देश को नई दिशा देने में सफल होंगे। जिन विद्यार्थियों के परिणाम उनकी अपेक्षा के अनुरूप नहीं आए हैं, उन्हें निराश होने की आवश्यकता नहीं है। आगे और अधिक मेहनत करें, और लक्ष्य पूर्ति तक लगातार प्रयास करें। सफलता अवश्य मिलेगी।


Tuesday, 28 July 2020

कांग्रेस नेता बौखलाहट में संवैधानिक संस्थानों पर प्रदर्शन करने से भी गुरेज नहीं कर रहेः भगत

देहरादून। कांग्रेस पार्टी और उसके नेता प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के एक साल के कार्यो से पूरी तरह से बौखलाहट में है जिस कारण वो अपनी नैतिकता खोकर जनता का ध्यान भटकाने के लिए राजभवन जैसे संवैधानिक संस्थानों पर प्रदर्शन करने से भी गुरेज नही कर रहे है। यह बात प्रदेश भारतीय जनता पार्टी कार्यालय में पत्रकारों से वार्ता करते हुए प्रदेश अध्यक्ष बंशीधर भगत ने कही।
    श्री बंशीधर भगत ने लोकतंत्र की हत्यारी कांग्रेस के लोग जब लोकतंत्र की बात करते है तो मामला बड़ा हास्यास्पद सा लगता है कांग्रेस के नेताओं ने अपनी कुर्शी बचाने के लिए आपातकाल लगाया, आपातकाल में लोगो का उत्पीड़न किया, कांग्रेस ने कई जगहों पर जनता द्वारा चुनी गई कई सरकारों  को भंग किया और आज जनता का सिर्फ ध्यान भटकाने के लिए अपने परिवार में चल रहे कलह  को छुपाने दोष भाजपा सर पर मढ़ने की कोशिस कर रहे हैं । उन्होंने कहा कि राजभवन व राज्यपाल एक सवैंधानिक संस्था है लेकिन कांग्रेस ने  उत्तर प्रदेश में कल्याण सिंह की बहुतमत वाली सरकार सविंधान के विरुद्ध सरकार भंग की
आज कांग्रेस ये मानने लगी है कि बीजेपी ताकतवर पार्टी है, वो सरकार तोड़ सकती है, लेकिन बीजेपी की ऐसी कभी कोई मंशा नही रहती है भाजपा लोकतंत्र में विश्वास करने वाली पार्टी है। श्री भगत ने कहा कांग्रेस राज में नेता मंत्री अपना घर भरा करते है बीजेपी राज में नेता जनता की सेवा कर विकास कार्यों को गति देते हैं।
कांग्रेस नेताओ के इस आरोप पर कि कोविड नियमावली का पालन न करने पर कांग्रेसियों पर ही मुकदमा  दर्ज किया गया पर कहा कि ऐसा नही है  कोरोना फैलने से रोकने के लिए मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने बिना किसी भेदभाव के  प्रभावी कदम उठाए है उन्होंने उदाहरण देते हुए कहा कि कोविड नियमावली का पालन न करने वाले सभी लोगो पर समान रूप से कार्यवाही की गई है जिसमे भाजपा के लोग भी शामिल हैं। इसमे पुलिस व प्रशासन अपने ढंग से कार्य करती है। श्री भगत ने कहा कि भाजपा को कोविड नियम के अंतर्गत  कांग्रेस के धरना प्रदर्शन से कोई परेशानी नही है लेकिन कांग्रेस को अपनी राजनीति चमकाने के लिए दूसरों की जान को जोखिम में डाल रही है। श्री भगत ने कहा कि कोरोना की भयावह स्थिति को देखते हुए  पार्टी ने अपने आगे के कार्यक्रम स्थगित कर दिए है। उन्होंने कहा कि रक्षा बंधन के बाद भाजपा का प्रत्येक विधानसभा में 2 हजार लोगों से संपर्क कर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी सरकार-2 की उप्लब्धधियों को जन जन तक पहुँचाने का कार्यक्रम प्रस्तावित था एवं अन्य सभी कार्यक्रमो को  बढ़ते कोरोना संक्रमण के चलते स्थगित कर दिया गया है।


हंस फाउंडेशन की 100 करोड़ रु की योजनाओं का हुआ लोकार्पण



देहरादून। मुख्यमंत्री आवास में हंस फाउण्डेशन के अध्यक्ष भोले जी महाराज के जन्मोत्सव कार्यक्रम में मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत, उच्च शिक्षा राज्य मंत्री डॉ. धन सिंह रावत, माता मंगला जी और भोले जी महाराज ने हंस फाउंडेशन की 100 करोड़ रूपये की योजनाओं का संयुक्त रूप से लोकार्पण किया। इनमें पौड़ी के लवाड़ में ‘नेशनल स्किल डेवलपमेंट सेंटर’ का निर्माण होगा। कोविड-19 से लड़ने के लिए उत्तराखंड में 10 कोविड टेस्टिंग सेंटरों की स्थापना की जा रही है। विद्यालय रथ योजना के तहत उत्तराखंड के चार विद्यालयों के लिए बसों का लोकार्पण भी किया। शिक्षा अभियान के तहत उत्तराखंड स्थित कई राजकीय महाविद्यालों में पुस्तकालयों के नवीनीकरण की परियोजना को हरी झंडी दिखाई गई। जीवन रक्षक अभियान के तहत जिला अस्पताल टिहरी, रुद्रप्रयाग और भारत माता मंदिर हरिद्वार को एम्बुलेंस प्रदान की गई। मुख्यमंत्री द्वारा इन बसों एवं एम्बुलेंसों को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया गया।
      हंस फाण्डेशन द्वारा कोविड-19 महामारी से निपटने के लिए उत्तराखंड के 250 गैर सरकारी विद्यालयों के स्टाफ को 15 दिनों का वेतन देने की योजना की शुरूआत की गई। उत्तराखंड महिला पुलिस बल को सक्षम बनाने की योजना के अंतर्गत नैनीताल महिला पुलिस बल को शीघ्र ही दुपहिया वाहन प्रदान किए जाने की योजना को भी हरी झंड़ी दिखाई गई। हंस फाउंडेशन के सौजन्य से उत्तरकाशी के दूरस्थ ग्रांमों के 110 परिवारों के जीवन में रोशनी की किरण पहुंचाने के लिए हंस ऊर्जा अभियान के तहत सोलर लाईट उपहार स्वरूप प्रदान की गयी है। मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने भोले जी महाराज को उनके जन्म दिवस पर उनके सुदीर्घ जीवन की कामना करते हुए कहा कि भोले जी महाराज का व्यक्तित्व हम सभी को प्रेरित करता है। उनका जीवन गरीबों की निस्वार्थ सेवा में समर्पित है। राज्य सरकार को भी हमेशा उनका सहयोग मिला है। माता मंगला जी व भोले जी महाराज समाज सेवा की भारतीय संस्कृति की महान परंपरा को आगे बढ़ा रहे हैं। जिससे लाखों लोगों के जीवन में रोशनी फैल रही है। उन्होंने कहा कि हंस फाउण्डेशन द्वारा स्वास्थ्य, शिक्षा व संस्कृति के क्षेत्र में कार्य करने के साथ ही आत्मनिर्भरता के लिये अनेक गांवों को कृषि व बागवानी के क्षेत्र में स्वावलम्बी बनाने के लिये प्रभावी मदद दी जा रही है। कोरोना महामारी से लड़ने के लिए हंस फाउंडेशन फ्रंटलाइन वॉरियर्स की भूमिका निभा रहा है।


इंदिरानगर में 111 पुजारियों को सम्मानित किया गया



देहरादून। भाजपा नेता दिनेश रावत के माध्यम से कैंट विधानसभा क्षेत्र के अंतर्गत इंदिरा नगर शिव मंदिर में क्षेत्र के मंदिरों के 111 पुजारियों एवं ब्राह्मणजनों, गुरुजनों को सम्मानित किया गया। जिसमें मुख्य रूप से कैंट विधानसभा अंतर्गत ब्राह्मणों ने हिस्सा लिया। भाजपा नेता दिनेश रावत ने कहा की कोरोना वायरस महामारी के कारण के लॉक डाउन के चलते प्रभावित हुए मठ-मंदिरों के पुजारियों एवं ब्राह्मण जन बहुत प्रभावित हुए हैं। जिस कारण इन लोगों की आय के साधन सीमित होने से प्रभावित हुए हैं और रोजी रोटी का संकट पैदा हो गया है। जिसके कारण पुजारियों व ब्राह्मण जनों को सम्मानित कर राशन व अन्य जरूरत की चीजें वितरण करी गई साथ ही आयुर्वेदिक व होम्योपैथी दवाई भी भेंट करी गयी।
इस मौके पर कार्यक्रम के मुख्य अतिथि पूर्व महामंत्री संगठन एवं 20 सूत्रीय कार्यक्रम के उपाध्यक्ष कैबिनेट मंत्री दर्जा प्राप्त नरेश बंसल, राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ पूर्व प्रदेश कार्यवाह एवं वर्तमान में उत्तराखंड एवं पश्चिमी उत्तरप्रदेश प्रांत के समरसता प्रमुख लक्ष्मी प्रसाद जयसवाल, राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के संगठन मंत्री सेवा भारती उत्तराखंड देवराज आदि लोग उपस्थित थे। इस अवसर पर मुख्य अतिथि नरेश बंसल ने सभी को संबोधित करते हुए कहा कि कोरोना का प्रकोप बढ़ता जा रहा है इसलिए हम सभी को बचना चाहिए और सावधानी बरतनी चाहिए। समाज के काम में जरूरतमंदों की सेवा में हम सबको बढ़-चढ़कर के भाग लेना है एवं लक्ष्मीप्रसाद जयसवाल ने कहा कि यह भारतीय संस्कृति है सभी लोग इस विपत्ति की घड़ी में एक दूसरे का सहयोग कर रहे हैं और जरूरतमंदों की सेवा कर रहे हैं। जिस तरह पूरी दुनिया इस कोरोनावायरस से पीड़ित हुई है उससे दुनिया के लोगों में हैं डर का वातावरण बना है लेकिन हमारे देश में सब ने इस बीमारी से लड़ाई में एक दूसरे का सहयोग किया। इस अवसर पर विशिष्ट अतिथि देवराज जी ने भी दिनेश रावत के कार्यों की प्रशंसा की। इस अवसर पर भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं, वार्ड अध्यक्षों एवं बूथ अध्यक्षों का भी आयुष किट एवं मास्क, सैनिटाइजर एवं पटका पहनाकर सम्मान किया गया। इस अवसर पर क्षेत्र के पार्षद शुभम नेगी, वार्ड अध्यक्ष एपी कोठारी, वार्ड अध्यक्ष भगवान सिंह रावत, वार्ड अध्यक्ष विनोद रावत, बूथ अध्यक्ष एवं वरिष्ठ कार्यकर्ता अध्यक्ष मोना कॉल, बूथ अध्यक्ष कृष्णा, वरिष्ठ कार्यकर्ता हिम्मत सिंह भंडारी, बूथ किरण रावत, सुनील श्रीवास्तव, बूथ अध्यक्ष सुशील नौटियाल, बूथ अध्यक्ष सिद्धार्थ चैहान, बूथ अध्यक्ष घनश्याम, वरिष्ठ भाजपा कार्यकर्ता पराग पंत, अलका पंत, अनिल सुंद्रियाल, सौरभ राणा,  विक्रम अस्वाल, शिव मंदिर समिति के अध्यक्ष एपी सिंह आदि सभी जेस्ट श्रेष्ठ कार्यकर्ता बंधु व क्षेत्रवासी उपस्थित थे।


ओरिएंट बेल ने वर्तमान समय की जरूरत के अनुरूप जर्म-फ्री टाइल प्रस्तुत किया

देहरादून। टाईल निर्माण व्यवसाय में एक भरोसेमंद नाम ओरिएंट बेल लिमिटेड आपके लिए जर्म-फ्री टाईल लेकर आया है। सामाजिक दायित्व वाली कंपनी ओरिएंट बेल को महसूस हुआ कि बीमारी करने वाले जर्म्स के खिलाफ लड़ाई को आगे बढ़ाने के लिए यह समय इन टाईल्स को प्रस्तुत करने के लिए उपयुक्त है। स्वास्थ्य एवं सुरक्षा बनाए रखने के इस दौर में घर ही वह स्थान है, जहां पर व्यक्ति सुकून व आराम चाहता है।
ओरिएंट बेल की जर्म-फ्री टाईल्स को स्वास्थ्य के संकट से जूझ रही दुनिया में उपभोक्ताओं की जरूरत को ध्यान में रखकर डिजाईन किया गया है। इन अत्यधिक फंक्शनल टाईल में इनऑर्गेनिक कोटिंग के साथ नैनो पार्टिकल्स हैं, जो लंबी शेल्फ लाईफ सुनिश्चित करते हैं। परिणाम यह है कि ये टाईल ज्यादा टिकाऊ हैं और मौसम व अन्य प्रकार की क्षति को सहन कर सकते हैं। इसके अलावा मॉपिंग के चक्र के बीच ये एक सुरक्षित वातावरण प्रदान करते हैं। ओरिएंट बेल टाईल्स को भारत की सर्वश्रेष्ठ औद्योगिक टेस्टिंग व रिसर्च लैब्स (एनएबीएल अनुमोदित) में से एक, बायोटेक सर्विसेस मुंबई द्वारा जापानी औद्योगिक स्टैंडर्ड के लिए जाँचा गया है। इस स्टैंडर्ड में 2 सबसे खतरनाक बैक्टीरिया - इशेरिशिया कोली (ई.कोली) और स्ट्रेफाईलोकोकस औरियस के खिलाफ प्रभावशीलता की जाँच की गई। जब 99 प्रतिशत बैक्टीरिया खत्म हो गए, तब टाईल को जर्म-फ्री का सर्टिफिकेशन दिया गया। अपनी विस्तृत उत्पाद श्रृंखला के साथ ओरिएंट बेल उन लोगों की पहली पसंद है, जो डिजाईन को समझते हैं तथा हाईजीन व सुरक्षा को महत्व देते हैं। सेरेमिक एवं ग्लेज्ड विट्रिफाईड बॉडी में उपलब्ध, ये टाईल दीवार एवं फर्श दोनों के लिए आते हैं।


स्मार्ट सिटी के कार्यों में तेजी लाने के लिए विशेष प्रयास किये जायेंः कौशिक



देहरादून। प्रदेश के शहरी विकास, आवास मंत्री मदन कौशिक ने विधानसभा स्थित सभाकक्ष में स्मार्ट सिटी विषय पर की गयी बैठक में कहा कि कार्य में तेजी लाने के लिए विशेष प्रयास किये जायें। समीक्षा में पाया गया कि कोविड के कारण निर्धारित डेडलाइन के अनुसार कार्य की प्रगति नहीं हुई है। इस सम्बन्ध में निर्देश दिया गया कि लाॅकडाउन अवधि शनिवार एवं रविवार को विशेष रूप से कार्य अवधि में वृद्धि करके प्रगति लाई जाय। जल निगम, जल संस्थान एवं विद्युत से सम्बन्धित अधिकारियों के साथ संयुक्त निरीक्षण करते हुए कार्यवृत की रिपोर्ट लेने के निर्देश दिये गये एवं कहा गया कि भविष्य में गैस पाईप लाईन के लिए भी पहले से योजना बना ली जाय।
स्मार्ट सिटी, स्मार्ट रोड के अन्तर्गत दिलाराम चैक से घण्टाघर, बहल चैक से आराघर चैक, घण्टाघर से किशन नगर चैक, प्रिंस चैक से आराघर चैक पर कार्य होना है। इसके अन्तर्गत मल्टी यूटिलिटी डक, सीवर कार्य, नाली निर्माण कार्य, जलापूर्ति कार्य, सड़क निर्माण कार्य होना है। इसके अतिरिक्त एडीबी एरिया में सीवर लाईन के अन्तर्गत पल्टन बाजार में घण्टाघर से दर्शनी गेट, परेड ग्राउण्ड के तीनों ओर, दर्शन लाल चैक से गांधी रोड होते हुए सहारनपुर चैक, तिलक रोड होते हुए सहारनपुर चैक, लूनीयां मोहल्ला पर कार्य होना है। कनेक्टिंग ड्रेनेज कार्य भी विभिन्न क्षेत्रों में किये जाने के अतिरिक्त परेड ग्राउण्ड का पुनर्निर्माण और सौंदर्यीकरण कार्य होना है। इस अवसर पर सी.ई.ओ. देहरादून स्मार्ट सिटी, वी.सी. एम.डी.डी.ए. रणवीर सिंह चैहान इत्यादि अधिकारी मौजूद थे।


विधायक देशराज कर्णवाल को अनुशासनहीनता पर नोटिस, 15 दिन में जवाब माँगा

देहरादून। झबरेड़ा के भाजपा विधायक देश राज कर्णवाल द्वारा गत कुछ माह से पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ अभद्र व अशोभनीय व्यवहार करने व पार्टी से हट कर संगठन जैसी व्यक्तिगत गतिविधियों को बढ़ावा दिए जाने को पार्टी प्रदेश अध्यक्ष द्वारा गम्भीरता से लिए जाने के बाद उनके निर्देश पर प्रदेश महामंत्री द्वारा श्री कर्णवाल को कारण बताओ नोटिस दिया गया है। जिसका उन्हें 15 दिन में उत्तर देना होगा।
  भाजपा प्रदेश उपाध्यक्ष व मीडिया प्रभारी डॉ देवेंद्र भसीन ने बताया कि झबरेडा के भाजपा विधायक देश राज कर्णवाल की पिछले कुछ महिनों से पार्टी कार्यकर्ताओं से अभद्र व अशोभनीय व्यवहार व पार्टी से हट कर संगठन जैसी गतिविधियों को बढ़ावा दिए जाने का भाजपा प्रदेश अध्यक्ष बंशीधर भगत द्वारा संज्ञान लिया गया और भारतीय जनता पार्टी के संविधान के अंतर्गत कार्यवाही करने हेतु दिए गए निर्देश पर प्रदेश महामंत्री व मुख्यालय प्रभारी कुलदीप कुमार ने आज श्री कर्णवाल को कारण बताओ नोटिस जारी कर दिया। श्री कर्णवाल के कृत्य को अनुशासनहीनता की श्रेणी में माना गया है। कुलदीप कुमार द्वारा जारी नोटिस में श्री कर्णवाल से कहा गया है कि वे 15 दिन में प्रदेश अध्यक्ष जी अथवा उन्हें नोटिस का लिखित उत्तर दें अन्यथा उनके खिलाफ अनुशासनात्मक कार्यवाही की जाएगी।


पर्यटन योजनाओं को समय से पूरा करने के मंत्री ने अधिकारियों को दिए निर्देश



-पर्यटन योजनाओं का लाभ प्रवासियों को भी मिलेः सतपाल महाराज

देहरादून। उत्तराखंड के पर्यटन, धर्मस्व एवं संस्कृति मंत्री सतपाल महाराज की अध्यक्षता में मंगलवार को पर्यटन विभाग के अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की। बैठक में पर्यटन विभाग द्वारा किए जा रहे विकास कार्यो की समीक्षा की गई, साथ ही कोविड-19 के कारण पर्यटन उद्योग पर पड़े दुष्प्रभावों से उबरने की योजना पर भी व्यापक विचार विमर्श किया गया। बैठक में सचिव पर्यटन दिलीप जावलकर, अपर सचिव सोनिका, गढ़वाल मंडल की प्रबंध निदेशक ईवा आशीष श्रीवास्तव तथा अन्य विभागीय अधिकारी मौजूद रहे।
मंत्री जी ने कहा कि राज्य सरकार उत्तराखण्ड के पर्यटन व्यवसाइयों को कोरोना संकट की परिस्थितियों से उबारने के लिए प्रतिबद्ध है। इसके मद्देनजर पूर्व में 75 करोड़ की आर्थिक सहायता पर कैबिनेट अपनी मुहर लगा चुकी है। नेगेटिव कोरोना टेस्ट रिपोर्ट वाले पयर्टक अब आराम से चारधाम यात्रा तथा अन्य पर्यटक स्थलों की यात्रा कर सकते हैं। मेरा अनुरोध है कि सभी लोग सामाजिक दूरी तथा आत्म अनुशासन का परिचय दें। उन्होंने विभागीय अधिकारियों को निर्देश दिए कि यथाशीघ्र विकास कार्यों को पूरा कर राज्य की जनता को समर्पित किय जाये। पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज ने कैरवान पार्क बनाने के साथ-साथ यात्रियों के लिए सभी तरह की आधुनिक सुविधाएं विकसित करने के लिए भी अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश दिए। सतपाल महाराज ने बताया कि कोविड-19 को देखते हुए तय किया गया है कि 72 घण्टे पूर्व कोविड टेस्ट करवाने वाले यात्री की रिपोर्ट यदि नेगेटिव पाई जाती है तो वह कहीं भी घूम सकता है। पर्यटन मंत्री ने कहा कि सुरकंडा रोपवे निर्माण कंपनी को स्पष्ट निर्देश दिए गए हैं कि वह चाइनीस उपकरणों के स्थान पर स्वदेश निर्मित उपकरणों को रोपवे निर्माण में प्रयोग करे। इसीलिए उसे एक वर्ष का अतिरिक्त समय दिया गया है।
सतपाल महाराज ने बताया कि पंडित दीनदयाल उपाध्याय ग्रह आवास (होम स्टे) योजना जो कि कोविड-19 के चलते हुए लॉकडाउन की वजह से काफी प्रभावित हुई है उससे जुड़े व्यक्तियों एवं कार्मिकों को राहत पहुंचाने के उद्देश्य से मुख्यमंत्री राहत कोष से स्वीकृत 24. 30 करोड़ रुपए की धनराशि के सापेक्ष 11. 85 करोड़ की धनराशि उपलब्ध करवाई गई है। पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज ने बताया कि वीर चंद्र सिंह गढ़वाली पर्यटन स्वरोजगार योजना को और अधिक आकर्षक बनाए जाने के उद्देश्य से प्रदेश के मार्गों पर संचालन हेतु एक वित्तीय वर्ष में अधिकतम 50 बसों, इलेक्ट्रॉनिक बसों के क्रय हेतु ऊंची संक्रम की लागत  के 50 प्रतिशत किंतु अधिकतम 15 लाख रुपए की राजकीय सहायता देने का निर्णय लिया गया है। पर्यटन मंत्री श्री महाराज ने केंद्रीय वित्त पोषित योजनाओं की समीक्षा के साथ-साथ स्वदेश दर्शन के अंतर्गत चल रही योजनाओं की भी समीक्षा की। श्री महाराज ने बताया कि टिहरी झील विकास कार्यों की भी समीक्षा की गई है जिसका की 98 प्रतिशत कार्य पूर्ण हो चुका है। कटारमल जागेश्वर हेरिटेज सर्किट के कार्य भी पूर्ण किए जा चुके हैं। स्वदेश दर्शन योजना के अंतर्गत महाभारत सर्किट का 9770.25 लाख रूपये का कन्सेप्ट नोट तैयार कर भारत सरकार को भेजा जा चुका है।
महाराज ने संस्कृति विभाग के अधिकारियों को भी निर्देशित किया कि वह सभी कार्यों को समय पर पूरा करें। संस्कृति विभाग द्वारा किये जा रहे कार्यों जानकारी देते हुए बताया कि कैलाश मानसरोवर यात्रा के तीर्थ यात्रियों को दी जाने वाली धनराशि को 25000 से बढ़ाकर 50,000 कर दिया गया है। इसके अलावा लोक कलाकारों का मानदेय भी दुगना कर दिया गया है। श्री महाराज ने बताया कि प्रदेश में विरासत की अंगीकार योजना लागू की गई है। उन्होंने बताया कि तीलू रौतेली के नाम पर संग्रहालय बनाने की स्वीकृति मिल गई है। बागेश्वर, चंपावत, जोशीमठ, नरेंद्र नगर एवं उधम सिंह नगर में प्रेक्षाग्रह का निर्माण जारी है। सुमित्रानंदन पंत वीथिका कौसानी, जनपद बागेश्वर में उनके घर का जीर्णोद्धार का काम पूरा हो चुका है। जबकि अनाशक्ति आश्रम, कौसानी के जीर्णोद्धार का कार्य प्रगति पर है। ऋषिकेश में हिमालय संग्रहालय का निर्माण कार्य और गड़ीकैट में हिमालयन सांस्कृतिक केंद्र का कार्य भी प्रगति पर है। समीक्षा बैठक में पर्यटन सचिव दिलीप जावलकर, निदेशक आशीष भटगई, संस्कृति निदेशक बीना भट्ट सहित पर्यटन एवं संस्कृति विभाग के अनेक अधिकारी उपस्थित थे।


Sunday, 26 July 2020

राजस्थान में लोकतंत्र दफन करने की साजिश रची जा रहीः हरीश रावत


देहरादून। उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री एवं कांग्रेस महासचिव हरीश रावत ने केंद्र सरकार पर विपक्ष को नष्ट करने और विरोध की हर आवाज को दबाने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि अब राजस्थान में भी लोकतंत्र दफन करने की साजिश रची जा रही है। यहां सोशल मीडिया पर जारी अपनी पोस्ट में रावत ने स्पीकअप फॉर डेमोक्रेसी (लोकतंत्र के लिए आवाज उठाओ) को सर्व स्वीकार्य मुहिम के रूप में संचालित करने की जरूरत बताते हुए कहा, आज जिन लोगों के हाथ में सत्ता है, वे विपक्ष को नष्ट कर देना चाहते हैं, वे विरोध की हर आवाज को दबा देना चाहते हैं, वे हर उस स्वर को कुचल देना चाहते हैं, जो उनकी गलतियों को इंगित करने का काम करता है। उन्होंने कहा कि राजस्थान में लोकतंत्र को दफन करने की साजिश रची जा रही है। रावत ने कहा, मुख्यमंत्री अपना बहुमत सिद्ध करना चाहते हैं और कैबिनेट को अधिकार है कि वह महामहिम राज्यपाल से कभी भी सत्र आहूत करने का अनुरोध कर सकती है। कौन है जो महामहिम राज्यपाल को राजस्थान के विधानसभा सत्र को आहूत करने से रोक रहा है? उन्होंने कहा कि राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के संघर्ष में हजारों-लाखों लोग उनके साथ हैं।
रावत ने कहा कि विपक्षी पार्टियों को तोड़ने के लिये धन-बल का प्रयोग किया जा रहा है और सीबीआई से लेकर ईडी, आयकर विभाग और आईबी तक सभी संस्थाओं को विपक्ष को नष्ट करने के काम में लगा दिया गया है तथा राजस्थान में नग्न रूप से यह सब दिखाई दे रहा है। उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री ने आरोप लगाया कि केंद्र सरकार गहलोत सरकार को किसी भी तरह गिराना चाहती है और यह कोई नई बात नहीं है। उन्होंने कहा कि अरुणाचल प्रदेश में यह सिलसिला प्रारंभ किया गया, उत्तराखंड में उस प्रयोग को दोहराया गया। हालांकि अदालत ने केंद्र सरकार को सबक सिखाया, लेकिन कर्नाटक में फिर यही किया गया और मध्य प्रदेश में भी दोहराया गया। रावत ने कहा, हमने पार्टी के अंदर एक तंत्र खड़ा किया है और उसके तहत हम अपने मतभेदों को सुलझा लेंगे, लेकिन हमारे मतभेदों को सुलझाने के लिये धन शक्ति और सत्ता बल का निर्मम प्रयोग किया जा रहा है। रावत ने लोगों से लोकतंत्र बचाओ की इस मुहिम में शामिल होने का आह्वान किया।


कारगिल दिवस पर पुलिस लाइन स्थित शहीद स्मारक स्थल पर आयोजित हुआ कार्यक्रम



रुद्रपुर। सन् 1999 मे हुए कारगिल युद्ध के षहीदों की स्मृति में 21वीं कारगिल दिवस को जनपद भर मे षौर्य दिवस के रूप मे श्रद्धापूर्वक मनाया गया। कोविड-19 को देखते हुये सोषल डिस्टेंस का पालन करते हुये मुख्य कार्यक्रम पुलिस लाइन स्थित षहीद स्मारक स्थल मे आयोजित हुआ। इस अवसर पर क्षेत्रीय विधायक राजकुमार ठुकराल, वरिश्ठ पुलिस अधीक्षक दलीप सिंह कंुवर, मुख्य विकास अधिकारी मयूर दीक्षित, अपर जिलाधिकारी जगदीष चन्द्र काण्डपाल, उत्तम सिंह चैहान, एसपी देवेन्द्र पिंचा, एएसपी प्रमोद कुमार, जिला सैनिक कल्याण अधिकारी कै0 रंनजीत सिंह सेठ, विभिन्न विभागो के अधिकारियो, जनप्रतिनिधियो व भूतपूर्व सैनिको द्वारा कारगिल युद्ध मे षहीद हुए जनपद के हवलदार पदम राम व राइफलमैन अमित नेगी के चित्रो पर पुश्पचक्र अर्पित किये।
        इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी ने कारगिल दिवस के षहीदो को नमन करते हुए कहा कि जिन वीर सैनिको ने देष की रक्षा करते हुए अपने प्राण न्यौछावर किये है, उन्हे याद करने के साथ उनकी कुर्बानी के बारे मे भी सोचे। उन्होने कहा वीर षहीदो के परिवारो के प्रति हमारा जो दायित्व बनता है, उसे पूरा किया जाए। उन्होने कहा हर आम व्यक्ति वीर षहीद परिवारो की समस्याओ को जाने व उनके निस्तारण को आगे आये यही वीर षहीदो को सच्ची श्रद्धान्जली होगी। उन्होने कहा देष प्रेम की भावना सभी मे जागृत होनी चाहिए, हमे जो जिम्मेदारियां दी गयी है, हम यदि अपनी जिम्मेदारियो का निर्वहन सही ढंग से करे तो वही सच्ची देष भक्ति होगी।
       क्षेत्रीय विधायक राजकुमार ठुकराल ने कहा षहीदो के कारण ही हमे आजादी का यह स्वच्छ वातावरण मिला है। हम सभी को देष के प्रति समर्पण का भाव जिन्दा रखना होगा। उन्होने कहा सैनिक कठिन परिस्थितयो मे भी सीमाओ पर देष की रक्षा कर रहे है, हम उनके परिजनो को सम्मान दे साथ ही सैनिको का कोई भी कार्य हो उसे प्राथमिकता से पूर्ण करे।
         वरिश्ठ पुलिस अधीक्षक ने षौय दिवस के अवसर पर षहीद सैनिकों को नमन करते हुये कहा हमे देष के प्रति अच्छी सोच रखनी होगी तभी देष आगे बढेगा। उन्होने बच्चों को मन लगाकर पढने,दिये गये कार्यो को मन लगाकर करना व अधिकारियोध्कर्मचारियों को सैनिको व भूतपूर्व सैनिको के कार्यो को वरियता के अधार पर पूर्ण करने को कहा।
         संचालक जिला सैनिक कल्याण अधिकारी कै0 रंनजीत सिंह सेठ ने सन् 1999 मे हुए कारगिल युद्ध के कारणो एवं कारगिल मिषन पर विस्तार से प्रकाष डाला। उन्होंने कहा कारगिल युद्ध मे भारतीय सेना ने अपने अदम्य साहस का प्रदर्षन करते हुए कारगिल युद्ध को जीता। उन्होने बताया इस युद्ध मे देष के 527 जवान षहीद हुए जिसमे प्रदेष के 75 व जनपद के 02 जवान षामिल है। इस युद्ध मे देष के 1363 जवान घायल हुए। उन्होने बताया कि इस युद्ध मे षहीद हुए जवानो की स्मृति मे प्रत्येक वर्श 26 जुलाई को कारगिल दिवस षौर्य दिवस के रूप मे मनाया जाता है। कार्यक्रम मे अपर उप जिलाधिकारी मुक्ता मिश्र, सैनिक कारगिल परिशद के अध्यक्ष सूबेदार हरक सिंह कार्की, सहायक सैनिक कल्याण अधिकारी भगवत सिंह सहित पुलिस विभाग के अधिकारी व अन्य लोग उपस्थित थे।


पूर्व केन्द्रीय मंत्री अजय टम्टा ने कारगिल शहीदों को दी श्रद्धांजलि



अल्मोड़ा। कारगिल दिवस की 21वीं वर्षगाँठ समारोह शहीद स्मारक छावनी क्षेत्र में आयोजित किया गया। वैश्विक महामारी कोविड 19 के कारण इस वर्ष शौर्य दिवस समारोह पूरी श्रद्धा एवं सम्मान के साथ सीमित संख्या के आधार में आयोजित किया गया। कारगिल शहीदों की स्मृति में शहीद स्मारक छावनी परिषद पर माल्यार्पण, पुष्पांजलि एवं पुष्पचक्र अर्पित किये गये। इस दौरान 02 मिनट का मौन रखा गया।
 इस अवसर पर सांसद एवं पूर्व केन्द्रीय मंत्री अजय टम्टा ने कारगिल विजय दिवस (शौर्य दिवस) पर शहीद स्मारक पर कारगिल शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित की। उन्होंने भारतीय सेना के अदम्य साहस व शौर्य को नमन करते हुए कहा कि उत्तराखण्ड में सैनिकों की वीरता व बलिदान की लम्बी परम्परा रही है। देश की आजादी से पहले एवं आजादी के बाद उत्तराखंड के वीर सपूतों ने देश की रक्षा के लिए महत्वपूर्ण योगदान रहा है। कारगिल युद्ध में बड़ी संख्या में उत्तराखण्ड के सपूतों ने देश की रक्षा के लिए अपने प्राणों की आहूति दी।
इस अवसर पर नगर पालिका अध्यक्ष प्रकाश चन्द जोशी ने कहा कि 26 जुलाई, 1999 में करगिल के युद्ध में शहीद हुये सैनिकों की याद में आज शौर्य दिवस को पूरे भारत वर्ष में मनाया जाता है। उन्होंने सभी शहीदों को नमन करते हुये कहा कि हमें ऐसे वीर शहीदों पर हमेशा गर्व रहेगा जो अपने प्राणों की बाजी लगाकर भारत माता की रक्षा करते है। इस अवसर पर वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक पीएन मीणा, अपर जिलाधिकारी बी० एल० फिरमाल, अध्यक्ष पूर्व सैनिक लीग आ0 कैप्टन दीपक टम्टा ने भी अपने विचार रखे और शहीदों को श्रंद्धाजलि अर्पित की। इस अवसर पर सैनिटरी निरीक्षक छावनी परिषद राजेश बिष्ट, सावित्री देवडी पत्नी लानायक स्व० हरीश देवडी, वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी प्रकाश चन्द्र मासीवाल, पूरन सिह मेहता, पूरन चन्द्र लोहनी, महेन्द्र सिह मेहरा, राज कुमार विष्ट, हेमन्त लाल वर्मा, देवेन्द्र कुमार, मनोज सिह नगरकोटी एवं जनपद के पूर्व सैनिक आदि उपस्थित थे। इस शौर्य दिवस (कारगिल दिवस) के अवसर पर सावित्री देवडी पत्नी लानायक स्व हरीश देवडी को मुख्य अतिथि द्वारा शॉल भेंट कर सम्मानित किया।


पेड़ के भाँति अडिग हैं हमारे वीर सैनिकः डॉ सोनी



टिहरी। कारगिल विजय दिवस के उपलक्ष पर राजकीय इंटर कॉलेज मरोड़ा (सकलाना) टिहरी गढ़वाल में राष्ट्रीय सेवा योजना के तहत कारगिल में शहीद हुए जवानों को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए जय-जयकार के नारे लगाए गए और जो सैनिक बीरगति को प्राप्त हुए हैं उनकी स्मृति में वृहद पौधारोपण कर अखरोट, आड़ू और रीठा के पौधों का रोपण किया गया और एक एक पौधा उपहार में भेंट की किया।
        कारगिल विजय दिवस पर एनएसएस कार्यक्रम अधिकारी पर्यावरणविद् वृक्षमित्र डॉ त्रिलोक चंद्र सोनी ने कहाकि सैनिक हमारे लिए अभिभावक की भूमिका में हैं जिस प्रकार एक अभिभावक अपनी परिवार की सुरक्षा करता हैं उसी प्रकार से हमारे वीर सैनिक सीमा में चट्टान की भाँती अडिक होकर पूरे देश की रक्षा करते हैं हमें गर्व और नाज हैं अपने सैनिकों पर जिनके बदौलत आज हम सुरक्षित हैं उनका जीवन अपने लिए नही बल्कि पूरे देश के लोगो के लिए समर्पित हैं ऐसे वीर सैनिकों को मेरा सत-सत नमन हैं। कार्यक्रम में अनिशा, कुलदीप चैधरी, रघुवीर सिंह पुंडीर, अतुल रमोला, देवेंद्र सिंह पुंडीर, वीरपाल सिंह, एवं अन्य सम्मिलित हुए।


दून उद्योग व्यापार मण्डल देहरादून की नई कार्यकारिणी गठित



-सिद्धार्थ उमेश अग्रवाल कार्यकारी अध्यक्ष व सुनील मैसौंन महामंत्री चुने गए

देहरादून। देहरादून में दून उद्योग व्यापार मण्डल की कोर कमेटी के पदाधिकारियों की एक बैठक का जूम पर आयोजन किया गया। बैठक में कोरोना काल के तहत व्यापारी वर्ग द्वारा किए जा रहे तन-मन-धन से किए गए उत्कृष्ठ कार्यों हेतु सबको साधुवाद दिया गया और आगे भी व्यापारी वर्ग द्वारा जैसा जब जहां पर सेवा, सहयोग, साथ देना पडेगा वो करेंगे ऐसा तय किया गया। बैठक के दौरान पिछली कार्यकारिणी के पदाधिकारियों के द्वारा व्यापार मण्डल के अन्तर्गत किए गए कार्यों का भी अवलोकन किया गया। तथा व्यापार मण्डल की अधिकाधिक स्थानो पर इकाइयां गठित हो ऐसा निर्णय लिया गया। बैठक में दून उद्योग व्यापार मण्डल की नई कार्यकारिणी पर भी निर्णय लिया गया, जिसमें अध्यक्ष विपिन नागलिया एवं संरक्षक अनिल गोयल एवं राकेश ओबेरॉय ने सिद्धार्थ उमेश अग्रवाल को कार्यकारी अध्यक्ष, सुनील मैसौंन को महामंत्री एवं कार्यकारिणी की घोषणा की।
संग्रक्षक अनिल गोयल व राकेश ओबरॉय होंगे। अध्यक्ष विपिन नागलिया, कार्यकारी अध्यक्ष सिद्धार्थ उमेश अग्रवाल, महामंत्री सुनील मेसोन, वरिष्ठ उपाध्यक्ष प्रवीन जैन (सर्राफ), डी.डी अरोडा (राजेन्द्र नगर), उकोषाध्यक्ष कमलेश अग्रवाल (राजा रोड), सह कोषाध्यक्ष मनीष बंसल (रमा मार्केट), संगठन मंत्री दीपक गुप्ता (दर्शनी गेट), सचिन माहेश्वरी (इलेक्ट्रिक ट्रेडर एसोसिएशन) व अमित वर्मा (सर्राफा मंडल) को चुना गया। प्रचार मंत्री रोशन लाल गुप्ता (हनुमान चैक) व मीत अग्रवाल (पीपल मंडी) को चुना गया।
मीडिया प्रभारी विजय कोहली (पल्टन बाजार), देवेन्द्र ढल्ला (जाखन), राजेश बडोनी (बंजारावाला) व पीयूष मौर्या (हाथीबड़कला) को चुना गया। विधिक सलाकार एडवोकेट आर. एस. राघव, प्रवीन जैन (साड़ी वाले पल्टन बाजार), देवेन्द्र सिंह व  सी०ए० हिमांशु शर्मा को चुना गया। बैठक के बाद विपिन नागलिया ने बताया की दून उद्योग व्यापार मंडल निरंतर सन 1975 से देहरादून के व्यापारियों को एक माला के रूप में जोड़ता आया है और दून उद्योग व्यापार मंडल की सबसे बड़ी ताकत उसके जुझारू कार्यकर्ता हैं जो कि अनवरत व्यापारी हितों के लिए कार्यरत रहते हैं। उन्होंने यह भी कहा कि जो साथी इस कार्यकारिणी में नहीं जुड़ पाए हैं उनको आगे अगली घोषणा में जोड़ा जाएगा। संरक्षक अनिल गोयल जी ने सभी नवनियुक्त पदाधिकारियों को बधाई देते हुए कहा कि उन्हें पूर्ण रूप से विश्वास है कि सभी पदाधिकारी पूरी निष्ठा के साथ अपने परम कर्तव्य व्यापारियों के हितों की रक्षा का निर्वहन करेंगे।


प्रदेश में कोरोना संक्रमितों की संख्या 6104 पहुंची, रविवार को 143 कोरोना पाॅजीटिव पाए गए


देहरादून। उत्तराखंड में कोरोना संक्रमण के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं। रविवार को 143 मामले सामने आए हैं, जिनमें सबसे अधिक मामले 51 मामले ऊधमसिंह नगर में सामने आए हैं। इसके अलावा 46 देहरादून, 26 हरिद्वार, छह उत्तरकाशी, पांच नैनीताल, तीन पौड़ी गढ़वाल, एक-एक टिहरी गढ़वाल और चमोली में सामने आए हैं। वहीं, 71 लोग पूरी तरह से ठीक हुए हैं। प्रदेश में अब कोरोना संक्रमितों की संख्या 6104 हो गई है, जबकि 3566 लोग पूरी तरह से स्वस्थ होकर डिस्चार्ज हो चुके हैं। वर्तमान में 2437 मामले एक्टिव हैं, जबकि 63 की मौत हो चुकी है। इसके अलावा 38 मरीज राज्य से बाहर जा चुके हैं।  
जौलीग्रांट एयरपोर्ट पर रेंडम टेस्ट में जम्मू कश्मीर से आया जवान संक्रमित पाया गया, जिन्हें एंबुलेंस से दून हॉस्पिटल भर्ती कराया गया है। वहीं, जौली ग्रांट में स्टाफ नर्स की रिपोर्ट भी पॉजिटिव आई है, जिसके बाद उन्हें भी दून हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया। अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) ऋषिकेश में पिछले 24 घंटे में हुई कोरोना सैंपल जांच में तीन लोगों की रिपोर्ट  पॉजिटिव आई है। इसमें दो स्थानीय लोग भी शामिल हैं। एम्स के जनसंपर्क अधिकारी हरीश मोहन थपलियाल ने बताया कि वीरभद्र मार्ग एम्स कैंपस निवासी 19 वर्षीय नर्सिंग स्टूडेंट्स, जो बीते सप्ताह 17 जुलाई को जोधपुर राजस्थान से ऋषिकेश आई थी। उसका एम्स ओपीडी में 18 जुलाई को पहला कोविड सैंपल लिया गया, जो नेगेटिव आया था। नर्सिंग स्टूडेंट 17 जुलाई से क्वारंटाइन है। उसका दूसरा सैंपल 25 जुलाई को लिया गया, जो पॉजिटिव पाया गया है। दूसरा मामला टिहरी विस्थापित क्षेत्र ऋषिकेश का है। विस्थापित निवासी 30 वर्षीय व्यक्ति जो कि एम्स के रेडियोथेरेपी विभाग में नर्सिंग ऑफिसर हैं। वह बीती 17 जुलाई को भरतपुर राजस्थान से ऋषिकेश आए थे और उसके बाद से होम क्वारंटाइन थे। उनका 18 जुलाई को लिया गया पहला कोविड सैंपल नेगेटिव आया था, जबकि 25 जुलाई को लिया गया दूसरा सैंपल कोविड पॉजिटिव पाया गया है। तीसरा मामला हरिद्वार क्षेत्र का है। ज्वालापुर हरिद्वार निवासी 21 वर्षीय युवक की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है।


स्कूलों को सुरक्षित तरीके से दोबारा खोलने की तैयारी



देहरादून। भारत में शैक्षणिक संस्थानों के लिए फर्नीचर का निर्माण करने वाली सबसे बड़ी कंपनी, पॉपकॉर्न फर्नीचर ने ’कोविड-19 के बाद स्कूलों को सुरक्षित रूप से फिर से खोलने के विषय पर एक वेबिनार का आयोजन किया। डेढ़ घंटे लंबे इस वेबिनार के पैनल के सदस्यों में शिक्षा, स्वास्थ्य और स्वच्छता क्षेत्रों की पांच जानी-मानी हस्तियां शामिल थी, जिसके बाद चर्चा में शामिल लोगों को बेहतर जानकारी प्रदान करने के लिए आधे घंटे के सवाल-जवाब सत्र का आयोजन किया गया।
स्कूलों को दोबारा खोले जाने को सुविधाजनक बनाने में शैक्षणिक संस्थानों की मदद के लिए इसकी रूपरेखा और दिशा-निर्देशों पर चर्चा के उद्देश्य से इस सत्र का आयोजन किया गया था। इस सत्र में लॉकडाउन के बाद शिक्षा के मॉड्यूल में हुए बदलाव को शामिल किया गया, साथ ही बच्चों की पढ़ाई-लिखाई, स्वास्थ्य एवं सुरक्षा की जरूरतों को ध्यान में रखते हुए तैयार किए गए नए के साथ भविष्य में आगे बढ़ने के विषय पर चर्चा की गई। इस वेबिनार में कई स्कूलों के शिक्षकों, प्राचार्यों, स्कूल के मालिकों, स्कूल के ट्रस्टियों, सलाहकारों, छात्रों और मीडिया जगत के लोगों सहित 1000 से अधिक प्रतिभागियों ने भाग लिया। पॉपकॉर्न फर्नीचर की संस्थापक एवं निदेशक, दीपिका गोयल ने इस वेबिनार की अध्यक्षता की। इस वेबिनार के पैनल के पांच प्रख्यात सदस्यों में पद्मश्री और पद्म भूषण से सम्मानित जाने-माने शिक्षाविद्, डॉ. श्यामा चोनाय पब्लिक हेल्थ फाउंडेशन में हेल्थ प्रमोशन डिवीजन की निदेशक, डॉ. मोनिका अरोड़ा, अपोलो हॉस्पिटल में पीडीऐट्रिक्स एवं नियोनेटोलॉजी की वरिष्ठ सलाहकार, डॉ. विद्या गुप्ता, जीडी गोयनका समूह की निदेशक, नुपुर गोयनका और सुमित नादगीर, सीईओ, हाई-केयर एमडी, ट्रूनॉर्थ शामिल थे।
पॉपकॉर्न फर्नीचर की संस्थापक एवं निदेशक दीपिका गोयल ने कहा, “एक कंपनी के तौर पर पॉपकॉर्न ने देश-विदेश के 8000 से अधिक स्कूलों में अपने फर्नीचरों की बिक्री की है और बच्चों की सुरक्षा हमेशा से हमारी प्राथमिकता रही है। हम स्कूलों के दोबारा खुलने के बाद बच्चों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए अपनी ओर से हर संभव प्रयास करना चाहते हैं। पद्मश्री और पद्म भूषण से सम्मानित जाने-माने शिक्षाविद्, डॉ. श्यामा चोना, ने कहा, “मैं अब तक कई वेबिनार में भाग ले चुका हूं, लेकिन मैं कहना चाहता हूं कि यह कई मायनों में अलग था और मेरे लिए यह अब तक का सबसे असाधारण वेबिनार था। पॉपकॉर्न फर्नीचर ने शानदार प्रयास किया जिसमें हजारों प्रतिभागियों एवं विभिन्न क्षेत्रों की दिग्गज हस्तियों ने पैनल के सदस्यों के रूप में भाग लिया, और यही बात इस वेबिनार को दूसरों से अलग करती है। जीडी गोयनका समूह की निदेशक, नूपुर गोयनका ने कहा, “स्कूलों को फिर से खोलने का काम सभी प्रमुख हितधारकों, स्कूल मैनेजमेंट, अभिभावकों और छात्रों के आपसी सहयोग और बेहतर तालमेल के बाद ही संभव होगा। विंस्टन चर्चिल ने कहा था कि संकट की घड़ी को एक अवसर की तरह देखें और इस समय को व्यर्थ ना गवाएं। पब्लिक हेल्थ फाउंडेशन में हेल्थ प्रमोशन डिवीजन की निदेशक, डॉ. मोनिका अरोड़ा, ने कहा, “वेबिनार के पैनल और इस में भाग लेने वाले लोगों में विभिन्न क्षेत्रों के विशेषज्ञ शामिल थे, और यह बात मुझे सबसे अच्छी लगी। इस वेबिनार ने स्कूलों को सुरक्षित तरीके से दोबारा खोलने के लिए सभी प्रासंगिक स्रोतों को एकजुट किया, क्योंकि हम सभी बच्चों की सुरक्षा के बारे में समान रूप से चिंतित थे।


लोकगायक त्रिलोक सिंह जेंधारी की गढ़वाली कोरोना गीत पुस्तक का हुआ विमोचन



देहरादून। लोक गायक व भाजपा कार्यकर्ता त्रिलोक सिंह जेंधारी द्वारा रचित दो गीतों का विमोचन आज प्रदेश अध्यक्ष बंशीधर भगत, प्रदेश संघठन मंत्री भाजपा अजय कुमार, प्रदेश महामंत्री भाजपा राजेन्द्र भण्डारी और प्रदेश महामंत्री भाजपा कुलदीप के द्वारा किया गया।  लोक गायक त्रिलोक सिंह जेंधारी द्वारा रचित गढ़वाली कोरोना गीत का शीर्षक ‘‘हे धारी माँ सुन ले मेरी पुकार’’ है। जिसमे माँ धारी देवी का आह्वान करके कोरोना जैसे संक्रमण से मानव जाति की रक्षा का आह्वान किया गया है। लोक गायक त्रिलोक सिंह जेंधारी द्वारा रचित दूसरा गीत देश के वीर सैनिकों को समर्पित है जो कि चीनी सेना द्वारा किये गए कृत्य पर आधारित है, जिसका शीर्षक ललकार है।
लोक गायक त्रिलोक सिंह जेंधारी द्वारा रचित गीतों को यूट्यूब पर त्रिलोक जेंधारी ऑफिशल चैनल पर भी सुना जा सकता है। लोक गायक त्रिलोक सिंह जेंधारी द्वारा इससे पूर्व में भी अपनी रचनाओं से प्रशंसा बटोरी है जो लोक सभा चुनाव के दौरान गढ़वाली गीत अब की बार दुबारा भाजपा सरकारा थी। मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने कारगिल शहीद नागा रेजीमेंट के नायक स्व. श्री देवेन्द्र सिंह रावत के कौलागढ़ स्थित आवास पर उनके चित्र पर पुष्प अर्पित किये। मुख्यमंत्री ने शहीद देवेन्द्र सिंह रावत के आश्रितों को सम्मानित भी किया। इस अवसर पर विधायक गणेश जोशी भी उपस्थित थे।


58 कलस्टर्स के लिए रू. 1103.96 लाख की कार्य योजना प्रस्तुत की

देहरादून। सतत् कृषि के लिए राष्ट्रीय मिशन के तहत आयोजित बैठक में कृषि, उद्यान एवं रेशम विकास मंत्री सुबोध उनियाल द्वारा विभागों को प्रभावी निर्देश दिये गये। इसमें मिशन का मुख्य उद्देश्य स्थान विशेष की आवश्यकतानुसार एकीकृत फसल पद्धति, जल संरक्षण कार्यों व मृदा स्वास्थ्य प्रबन्धन के माध्यम से मृदा पोषक तत्व प्रबंधन, जल उपयोग दक्षता तथा कृषि विविधीकरण से कृषि को अधिक उत्पादक, सतत् लाभकारी व बदलती जलवायु के अनुकूल बनाते हुए उत्पादन में निरन्तरता एवं स्थिरता बनाये रखना है। (वर्षा आधारित क्षेत्र विकास के वर्ष 2019-20 के 52 कलस्टर्स मध्ये 16 पूर्ण कर लिये गये हैं। इसके अतिरिक्त 22 नये कलस्टर्स का चयन पर 2020-21 में 58 कलस्टर्स के लिए रू. 1103.96 लाख की कार्य योजना प्रस्तुत हुई।
कृषि मंत्री द्वारा निर्देश दिये गये कि एकीकृत फसल प्रणाली के अन्तर्गत कार्य योजना सम्बन्धित विभागों यथा डेयरी, पशुपालन, मत्स्य पालन, उद्यान एवं खाद्य प्रसंस्करण, वानिकी विभाग के सहयोग से तैयार कर मुख्य विकास अधिकारी स्तर से अनुमोदन लिया जाय। कलस्टरों का चयन वैली वॉईज किया जाये तथा कार्य योजना का क्रियान्वयन के फलस्वरूप प्रति इकाई उत्पादकता में वृद्धि तथा कृषकों की आय का आंकलन किया जाये तथा उत्पादन गुणवत्ता युक्त होना चाहिए। अवगत कराया गया कि कार्ययोजना विभिन्न विभागों के समन्वय से जिलाधिकारी की अध्यक्षता में गठित समिति जिसमें कि मुख्य विकास अधिकारी तथा सम्बन्धित विभागों के अधिकारी भी सदस्य होते हैं के अनुमोदन के पश्चात ही कार्ययोजना प्रस्तावित की जाती है।
बैठक में परम्परागत कृषि विकास योजना पर भी चर्चा हुई। इसमें वर्ष 2018-19 से 3900 क्लस्टर में योजना की गाइडलाइन के अनुसार कृषि, उद्यान, रेशम, कैप व जैविक उत्पाद परिषद कार्य कर रहे हैं। तीनों योजनाओं (वर्षा आधारित क्षेत्र विकास मृदा स्वास्थ्य कार्ड एवं परम्परागत कृषि विकास योजना) लगभग 149 करोड की कार्ययोजना को अनुमति प्रदान की गई। (पी.के.वी.वाई) गाइडलाइन के तहत जैविक उत्पादों के विपणन हेतु चारधाम यात्रा मार्ग एवं पर्यटक स्थलों पर रिटेल आउटलेट भी तैयार किये जायेंगे।
वर्ष 2020--21 के लिए राज्य में उत्पादित सेब (सी-ग्रेड) फल का न्यूनतम क्रय समर्थन मूल्य के प्रस्ताव पर सहमति दे दी गई है। इस वर्ष के लिए इसे 09 किग्रा० निर्धारण पर राज्य के उद्यान, खाद्य प्रसंस्करण रेशम एवं कृषि मंत्री (सुबोध उनियाल) द्वारा इस आशय के प्रस्ताव पर स्वीकृति प्रदान की गई है। इस योजना का पूर्ववत् राज्य के दोनों मण्डलों में सेब उत्पादक जनपदों में क्रियान्वयन किया जायेगा। इन क्षेत्रों में फल एवं स्थानीय उत्पादों की निर्बाध आवक बनाये रखने के उददेश्य से लोक निर्माण विभाग एवं सीमा सड़क संगठन को भी निर्देशित किये जाने पर सहमति प्रदान की गई।


सीएम ने सुनीं पीएम मोदी की मन की बात



देहरादून। मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के मन की बात कार्यक्रम को सुना। मुख्यमंत्री ने कहा प्रधानमंत्री जी का सम्बोधन हमें राष्ट्र हित में काम करने की प्रेरणा देता है। आज कारगिल विजय दिवस भी है। हमारे सैनिकों की असाधारण वीरता और बलिदान को हमेशा याद रखा जाएगा। हमें अपनी युवा पीढ़ी को कारगिल विजय से जुड़े हमारे सैनिकों की वीरता और त्याग की कहानियों के बारे में बताना चाहिए।
हमें कोरोना संक्रमण को लेकर भी पूरी सावधानी रखनी है। मास्क का अनिवार्यता से प्रयोग, फिजीकल डिस्टेंसिंग का पालन, लगातार हाथ धोना आदि नियमों का पालन करना है। हमें इन बातों को अपनी आदत में लाना है। प्रधानमंत्री जी के वोकल फोर लोकल के आह्वान पर बङी संख्या में युवा आगे आ रहे हैं। लोग भी अब स्थानीय उत्पादों को प्राथमिकता दे रहे हैं।


कारगिल शहीदों को अर्पित की श्रद्धांजलि



देहरादून। कारगिल दिवस के मौके पर भारतीय जनता पार्टी बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ प्रकल्प की महानगर संयोजिका मधु जैन ने कारगिल शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित की। उन्होंने कहा कि आज से 21 साल पहले जिन परिस्थितियों में हमारे वीर सैनिकों ने जीत का झंडा फहराया था वह आज पूरा भारत भुला नहीं सका है और अपने आपको गौरवान्वित महसूस कर रहा है। हमारे सैनिकों ने लड़ते हुए दुश्मन को कारगिल की चोटी से खदेड़ कर विजय पताका लहराई थी। उन्होंने कहा कि हम अपने देश की रक्षा करने वाले समस्त सैनिक बलों को साहस और दृढ़ संकल्प को याद करते हुए उनकी वीरता को पीढ़ियों दर पीढ़ियों  प्रेरित करने का कार्य करेंगे। इस मौके पर भारतीय जनता पार्टी बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ की मंडल संयोजिका सरिता कोहली, सह संयोजिका रेखा निगम, मानवधिकार एवं सामाजिक संगठन के राष्ट्रीय अध्यक्ष सचिन जैन, सुनील कोहली आदि उपस्थित रहे।


मंत्रियों के आवासों की साज-सज्जा व मरम्मत के नाम पर बहाया जा रहा करोड़ों रुपयाः मोर्चा

 

देहरादून। जन संघर्ष मोर्चा अध्यक्ष एवं जीएमवीएन के पूर्व उपाध्यक्ष रघुनाथ सिंह नेगी ने कहा कि एक गरीब प्रदेश, जिससे कर्ज का ब्याज नहीं चुकाया जा रहा, उस प्रदेश में मंत्रियों के 18 आवासों में मॉड्यूलर किचन, पोर्च, गौशाला आदि बनाने में लगभग 2.45 करोड़ एवं मरम्मत के नाम पर 1.5 करोड़ रूपया खर्च कर डाला। यानी कुल  3.96 करोड़ घ् खर्च किया गया। नेगी ने कहा कि पूर्व से ही सुसज्जित इन आवासों, आलीशान बंगलों पर करोड़ों रुपए खर्च करना प्रदेश की जनता की गाढ़ी कमाई वह बर्बाद करने जैसा है। मोर्चा सरकार से मांग करता है कि फिजूलखर्ची बंद कर आमजन के कल्याण में पैसा खर्च करें।


उपमा ने प्रेमनगर में किया पौधारोपण

देहरादून। उत्तरांचल पंजाबी महासभा प्रदेश अध्यक्ष राजीव घई, गढवाल प्रभारी जी.एस. आनंद के निर्देशानुसार प्रेमनगर ईकाई के अध्यक्ष अमित भाटिया (मोनू भाटिया) के नेतृत्व में मंदिर, गुरुद्वारा मैदान (विग न 5)में हरेला पर्व धूम धाम से मनाया गया द्यइस अवसर पर अनेकों प्रकार के वृक्ष के पौधे लगाकर लोगों को प्रेरित किया गया।
इस अवसर पर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ, प्रेमनगर के नगर अध्यक्ष डॉ. प्रेम कोहली ने लोक कल्याण के इस पर्व पर बिना राजनीतिक भेदभाव के सभी पंजाबी समाज इकत्र हो गया है द्यइसी प्रकार सम्पूर्ण हिन्दू समाज को एकत्र करने की आवश्यकता है द्य इस अवसर पर सोनू भाटिया को शुभकामनाएं दी। रवि अरोड़ा (जिला महामंत्री) और बलदेव सिंह जयसवाल (जिला प्रभारी) ने कहा कि पेड़ों को लगाने के पश्चात्घ् बच्चों की तरह देखभाल की आवश्यकता है। अनिल ग्रोवर ने इस अवसर पर सब को एक होकर चलने का आग्रह किया और हरेला पर्व की शुभकामनाएं दीं। इस अवसर पर उत्तरांचल पंजाबी महासभा के युवा इकाई अध्यक्ष मोहित ग्रोवर, विजय भाटिया,  यशजीत सिंह, जगमोहन मल्होत्रा, बलवीर चड्डा, सुनील भाटिया, मनीष खत्री, अमित मनोया, अरुण तलवाड़, सरला ग्रोवर, कंचन, राधिका भाटिया, संदीप कौर, शिवानी भाटिया तथा बड़ी संख्या में पंजाबी समाज के सदस्य उपस्थित रहे।


कारगिल शहीदों की स्मृति में लगाए पौधे


देहरादून। कारगिल विजय दिवस पर कारगिल के अमर शहीदों की स्मृति में पौराणिक श्री टपकेश्वर महादेव देहरादून में स्थित कैंट श्मशान घाट जहां पर लगभग डेढ़ दर्जन से भी अधिक कारगिल शहीदों का अंतिम संस्कार हुआ था आध्यात्मिक गुरु आचार्य विपिन जोशी के पावन सानिध्य में युवा संगठन देहरादून के कार्यकर्ताओं ने वृक्षारोपण का कार्यक्रम रखा ताकि उनकी स्मृतियां चिरस्थाई रह सके। बड़, पीपल, अमरूद, लुकाट जामुन आदि के पेड़ रोपित किए गए और शहीदों की स्मृति में 2 मिनट का मौन रखा गया। इस अवसर पर आध्यात्मिक गुरु आचार्य विपिन जोशी, युवा संगठन देहरादून के अध्यक्ष आकाश राज, नवीन चैहान, बलराम चैहान, प्रवीण कुमार,प्रदीप कुमार, अजय चैहान आदि उपस्थित रहे।


असहाय जन कल्याण सेवा समिति ने स्कूलों में लगाए पौधे



देहरादून। असहाय जन कल्याण सेवा समिति ने जीजीआईसी लक्खीबाग, श्री गुरु नानक दून वेल स्कूल एवं गुरुद्वारा श्री गुरु सिंह सभा आढ़त बाजार देहरादून में 60 औषधीय, फलदार एवं छायादार पौधे लगाए एवं वितरित किए।
हरेला पर्व के उपलक्ष में सावन माह में वर्षा के मौसम में पौधों को वर्षा के पानी से पनपने का अवसर मिलता है। समिति के अध्यक्ष बलवीर नौटियाल ने कहा कि स्कूलों में पौधों की देखभाल की जिम्मेदारी होती है जिसे वे बखूबी निभाते हैं उपाध्यक्ष सेवा सिंह मठारू ने कहा कि पौधों की सेवा एवं सुरक्षा स्कूल प्रबंधन माली पुरा रखरखाव करते हैं। उन्होंने कहा कि अगर वातावरण को प्रदूषण मुक्त करना है तो पौधा रोपण अति जरूरी है। इस अवसर पर संरक्षक डॉ प्रशांत सिंह, अध्यक्ष बलवीर नौटियाल, उपाध्यक्ष सेवा सिंह मठारू, उर्मिला शर्मा, मंजू बलोदी, संजय अग्रवाल, जीजीआईसी प्रधानाचार्य सावित्री रियाल, दून वेल स्कूल के प्रबंधक जगमीत सिंह, मंजू सन्वाल उपस्थित थे। पंजाबी महासभा के प्रदेश संगठन सचिव जीएस आनंद, प्रदेश संगठन सचिव राजीव सच्चर, सचिन आनंद, श्रेय शर्मा आदि का विशेष सहयोग रहा।


सीएम ने कारगिल शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित की


देहरादून। कारगिल विजय दिवस (शौर्य दिवस) पर मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने गांधी पार्क में शहीद स्मारक पर कारगिल शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित की। मुख्यमंत्री ने  भारतीय सेना के अदम्य साहस व शौर्य को नमन करते हुए  कहा कि उत्तराखण्ड में सैनिकों की वीरता व बलिदान की लम्बी परम्परा रही है। कारगिल युद्ध में बड़ी संख्या में उत्तराखण्ड के सपूतों ने देश की रक्षा के लिए अपने प्राणों की आहूति दी।
मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र ने कहा कि भारतीय सैनिकों ने कारगिल युद्ध में जिस प्रकार की विपरीत परिस्थितियों में वीरता का परिचय देते हुए घुसपैठियों को सीमा पार खदेड़ा, उससे पूरे विश्व ने भारतीय सेना का लोहा माना। कारगिल युद्ध में देश की सीमाओं की रक्षा के लिए वीर सैनिकों के बलिदान को राष्ट्र हमेशा याद रखेगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार पूर्व सैनिकों, शहीद सैनिकों के आश्रितों के कल्याण के प्रति वचनबद्ध है। शहीद सैनिकों के परिवार के एक सदस्य को उसकी योग्यता अनुसार सरकार द्वारा सेवायोजित किया जा रहा है। विशिष्ट सेवा पदक से अलंकृत सैनिकों को अनुमन्य राशि में कई गुना बढ़ोतरी की है। राज्य सरकार ने विशिष्ट सेवा पदक से अलंकृत सैनिकों को अनुमन्य राशि में कई गुना बढ़ोतरी की है। परम विशिष्ट सेवा मेडल पर 15 हजार से बढ़ाकर 2 लाख रूपए, अति विशिष्ट सेवा मेडल पर अनुमन्य एकमुश्त राशि को 7 हजार रूपए से बढ़ाकर 1 लाख 50 हजार रूपए किया गया है। सेना मेडल पर राशि पहले अनुमन्य नहीं थी। अब इसके लिए 1 लाख रूपए की राशि अनुमन्य है। इसी प्रकार विशिष्ट सेवा मेडल में एकमुश्त अनुमन्य राशि को 3 हजार रूपए से बढ़ाकर 75 हजार रूपए किया गया है। हमने द्वितीय विश्वयुद्ध पेंशन को भी दो गुना किया है। इसे 4 हजार रूपए प्रतिमाह से बढ़ाकर 8 हजार रूपए प्रतिमाह किया गया है। पूर्व सैनिकोंध्वीरांगनाओं और उनके आश्रितों को स्वावलम्बी बनाने के लिए सभी जिलों में कम्प्यूटर प्रशिक्षण दिया जा रहा है। पूर्व सैनिक के आश्रितों को प्रान्तीय, राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर खेलों में प्रतिभाग करने पर प्रोत्साहन अनुदान दिया जा रहा है। सैनिक कल्याण विभाग द्वारा चलाए जा रहे केंद्रों से भर्ती पूर्व प्रशिक्षण प्राप्त करने वाले अभ्यर्थियों के सेना, अर्द्धसैनिक बल और राज्य पुलिस बल में भर्ती होने पर 20 हजार रूपए की धनराशि पुरस्कार के रूप  में प्रदान की जाती है। एन.डी.ए., आई.एम.ए., ओ.टी.ए., एयर फोर्स अकादमी, नेवल अकादमी, सिविल सेवा, पी.सी.एस., एम.बी.बी.एस., आई.आई.टी., आई.आई.एम. में चयन होने पर उत्तराखण्ड के निवासी पूर्व सैनिक आश्रितों को कोचिंग व्यय की प्रतिपूर्ति की जाती है।
      मुख्यमंत्री श्री त्रिवेंद्र ने कहा कि पूर्व सैनिकों द्वारा पुनर्वास हेतु लिए गए ऋण पर अनुदान में वृद्धि की है। 5 लाख रूपए तक के ऋण पर 10 प्रतिशत और 5 से 10 लाख रूपए तक के ऋण पर 5 प्रतिशत या अधिकतम 75 हजार रूपए का अनुदान दिया जा रहा है। पूर्णतया दिव्यांग पूर्व सैनिकों के पुनर्वास के चलाए जा रहे शिक्षण केंद्रों को प्रति वर्ष दी जाने वाली राशि को 30 हजार रूपए से बढ़ाकर 1 लाख रूपए कर दिया गया है। पूर्व सैनिकों के दैवीय आपदा में आवास क्षतिग्रस्त होने पर अनुदान की राशि को भी 30 हजार रूपए से बढ़ाकर 50 हजार रूपए किया गया है। इस अवसर पर विधायक हरवंश कपूर, गणेश जोशी, खजान दास, विनोद चमोली, मेयर सुनील उनियाल गामा, अपर मुख्य सचिव राधा रतूड़ी, जिलाधिकारी देहरादून आशीष श्रीवास्तव एवं सैन्य अधिकारियों ने शहीद स्मारक पर पुष्प चक्र अर्पित कर कारगिल शहीदों को श्रद्धांजलि दी।


चुनौतियों को अवसर में बदलने को सार्थक संवाद का माध्यम बनी उत्तराखंड यंग थिंकर्स मीट


देहरादून। उत्तराखंड समाज से जुड़े दिग्गजों एवं ऊर्जावान जागरूक युवाओं के बीच सार्थक संवाद उत्तराखंड यंग थिंकर्स मीट के माध्यम से आशा का सूरज दिखा गया। राम माधव (राष्ट्रीय महामंत्री भाजपा, निदेशक इंडिया फाउंडेशन) त्रिवेंद्र सिंह रावत ( मुख्यमंत्री उत्तराखंड), शौर्य डोभाल (फाउंडर इंडिया फाउंडेशन), श्वेता रावत (चेयर पर्सन हंस फाउंडेशन), मंगेश घिल्डियाल (युवा आईएएस अधिकारी), दीपक रमोला ( एंबेस्डर यूनेस्को) मुकुंद प्रसाद (निदेशक लाइजर होटल), जयराज (अधिकारी वन विभाग)  अन्नपूर्णा नौटियाल ( उपकुलपति हेमवती नंदन बहुगुणा गढ़वाल विश्वविद्यालय), पायल गुप्ता (लेफ्टिनेंट कमांडर इंडियन नेवी), मनजीत नेगी ( उप संपादक आज तक इंडिया टुडे), भूपेंद्र कैंथोला (निदेशक एफटीआईआई पुणे), मनीषा पांडे (फाउंडर विलेज वेज) जैसे समाज के अग्रणी व्यक्तियों के विचार तो उत्तराखंड के संदर्भ में युवाओं ने जाने ही, उनसे जमकर प्रश्न भी पूछे।



  उत्तराखंड यंग थिंकर्ज फोरम व पंडित दीन दयाल उपाध्याय ऐक्शन व रिसर्च सॉसायटी द्वारा आयोजित प्रथम उत्तराखंड यंग थिंकर्ज मीट के समापन सत्र को मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने सम्बोधित किया। वर्चुअल कॉन्फ्रेंस के दूसरे दिन आज पूरे देश से जुड़े उत्तराखंड के युवाओं को आशीर्वचन देते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि युवा समाज का रूख मोड़ने की शक्ति रखते हैं और उत्तराखंड का युवा जिस दिन इस शक्ति को पहचान लेगा तो प्रदेश की प्रगति की गति बदल जाएगी। समाज जब किसी पहल को अपना लेता है तो वह जान आंदोलन बन जाता है। उसको सफल होने से कोई नहीं रोक सकता। ऐसे किसी भी आंदोलन में युवाओं की अग्रणी भूमिका है। 18 मार्च 2017 को पद संभालने के बाद उन्होंने जल संरक्षण का कार्य जन सहभागिता से आरंभ किया। कोसी नदी का जिक्र करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि पहले इसके जल स्रोत के 18 सोर्स थे जो घटकर केवल 8 रह गए। वर्तमान सरकार ने जन सहभागिता के द्वारा वहां 1 घंटे में 100000 पौधे लगाने का लक्ष्य लिया था ताकि इसके स्त्रोत को रिचार्ज किया जा सके। वृक्षारोपण के इस प्रयास को गाँव के युवाओं ने इतना सफल बनाया कि एक घंटे में 1 लाख 66 हजार पेड़ लगाए। वर्तमान सरकार ने शासन प्रक्रिया में पारदर्शिता लाने की बहुत कोशिश की है, युवाओं और पंचायत प्रतिनिधियों से सीधा संवाद स्थापित किया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि अलग अलग विचारधारा के चलते राजनीतिक प्रतिस्पर्धा हो सकती है पर सही काम में सभी की भागीदारी आवश्यक है। मुख्यमंत्री के अनुसार उत्तराखंड ऐसा पहला प्रदेश है। जहां 500 विद्यालयों  104 डिग्री कॉलेजों  में वर्चुअल क्लास  संचालित की जा रही है। साथ ही ई पुस्तकालय को भी  आरंभ किया गया है जिसमें 135000 पुस्तकें डिजिटली उपलब्ध हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारा मंत्रिमंडल ई मंत्रिमंडल है और सचिवालय के 16 कार्यालय ई कार्यालय जिलाधिकारी देहरादून का कार्यालय भी ई कार्यालय किया जा चुका है। ग्रीष्मकालीन राजधानी गैरसैण में ई विधानसभा प्रस्तावित है ताकि जम्मू कश्मीर की तरह देहरादून गैरसैण के बीच में अनावश्यक फाइलों को ना ले जाना पड़े और अनावश्यक व्यय ना करना पड़े। ई सिस्टम के द्वारा हम भ्रष्टाचार रोक सकेंगे।
  उन्होंने उत्तराखंड यंग थिंकर्ज फोरम की पूरे प्रदेश के युवाओं को एक मंच पर लाने की इस पहल को सराहा और कहा कि युवा थिंकर्ज अपने चिंतन, लेखों और कार्यों के माध्यम से दीर्घकाल तक प्रदेश और देश की दिशा बदल सकते हैं। उन्होंने युवाओं का आह्वान करते हुए कहा कि वे मन, वचन और कर्म तीनों से उत्तराखंड के विकास में साथ दें, स्वरोजगार कर और दो युवाओं को रोजगार दे मुख्यमंत्री के अनुसार उन्हें सलाह दी जाती है कि वे कुछ बेरोजगारी भत्ता युवाओं को दें पर उनका स्थिर मत है की स्वरोजगार ही युवाओं के लिए अच्छा है युवाओं को कुछ समय के लिए अंडे देने से अच्छा है की मुर्गी प्रदान की जाए ताकि अंडे निरंतर  मिलते रहे रोजगार पर बोलते हुए मुख्यमंत्री ने हिमाचल का उदाहरण दिया जहां सरकारी नौकरियों के कारण बजट का 90ः नॉन प्लान में जाता है हम देना भी चाहे तो भी सरकारी नौकरियों की संख्या सीमित है और युवा बहुत अधिक। मुख्यमंत्री ने पर्यटन क्षेत्र  में सरकार द्वारा किए जा रहे टिहरी झील, टयूलिप गार्डन अल्मोड़ा, हरिद्वार में देवी की रिप्लिका तथा 13 जिलों में 13 नए डेस्टिनेशन बनाने का जिक्र  करते हुए इससे रोजगार सृजन की बात की। वर्चुअल कॉन्फ्रेंस को आज मनजीत नेगी, भूपेंद्र कैंथोला, मनीषा पांडे ने भी संबोधित किया। संवाद हेतु मंच प्रदान करने के लिए सभी वक्ताओं एवं युवा भागीदारों ने उत्तराखंड यंग थिंकर्ज फोरम की संयोजक नेहा जोशी व टीम मेम्बर्ज अखिलेश रावत, कृतार्थ उनियाल, पवन पांडेय, हेमंत भट्ट, रमेश जोशी, अखिलेश प्रताप रावत, अभिनव रावत, वैभव उनियाल, अर्चित डावर, आशीष व आशुतोष त्रिपाठी का आभार व्यक्त किया।


दून उद्योग व्यापार मण्डल की नई कार्यकारिणी घोषित, नागलिया अध्यक्ष, अग्रवाल कार्यकारी अध्यक्ष, मेसोन महामंत्री बने


देहरादून। देहरादून में दून उद्योग व्यापार मण्डल की कोर कमेटी के पदाधिकारियों की एक बैठक का जूम पर आयोजन किया गया। बैठक में कोरोना काल के तहत व्यापारी वर्ग द्वारा किए जा रहे तन-मन-धन से किए गए उत्कृष्ठ कार्यों हेतु सबको साधुवाद दिया गया और आगे भी व्यापारी वर्ग द्वारा जैसा जब जहां पर सेवा, सहयोग, साथ देना पडेगा वो करेंगे ऐसा तय किया गया। बैठक के दौरान पिछली कार्यकारिणी के पदाधिकारियों के द्वारा व्यापार मण्डल के अन्तर्गत किए गए कार्यों का भी अवलोकन किया गया। तथा व्यापार मण्डल की अधिकाधिक स्थानो पर इकाइयां गठित हो ऐसा निर्णय लिया गया। बैठक में दून उद्योग व्यापार मण्डल की नई कार्यकारिणी पर भी निर्णय लिया गया, जिसमें अध्यक्ष विपिन नागलिया एवं संरक्षक अनिल गोयल एवं राकेश ओबेरॉय ने सिद्धार्थ उमेश अग्रवाल को कार्यकारी अध्यक्ष, सुनील मैसौंन को महामंत्री एवं कार्यकारिणी की घोषणा की। संग्रक्षक अनिल गोयल व राकेश ओबरॉय होंगे। अध्यक्ष विपिन नागलिया, कार्यकारी अध्यक्ष सिद्धार्थ उमेश अग्रवाल, महामंत्री सुनील मेसोन, वरिष्ठ उपाध्यक्ष प्रवीन जैन (सर्राफ), डी.डी अरोडा (राजेन्द्र नगर), उकोषाध्यक्ष कमलेश अग्रवाल (राजा रोड), सह कोषाध्यक्ष मनीष बंसल (रमा मार्केट), संगठन मंत्री दीपक गुप्ता (दर्शनी गेट), सचिन माहेश्वरी (इलेक्ट्रिक ट्रेडर एसोसिएशन) व अमित वर्मा (सर्राफा मंडल) को चुना गया। प्रचार मंत्री रोशन लाल गुप्ता (हनुमान चैक) व मीत अग्रवाल (पीपल मंडी) को चुना गया।



मीडिया प्रभारी विजय कोहली (पल्टन बाजार), देवेन्द्र ढल्ला (जाखन), राजेश बडोनी (बंजारावाला) व पीयूष मौर्या (हाथीबड़कला) को चुना गया। विधिक सलाकार एडवोकेट आर. एस. राघव, प्रवीन जैन (साड़ी वाले पल्टन बाजार), देवेन्द्र सिंह व  सी०ए० हिमांशु शर्मा को चुना गया। 


उपाध्यक्ष स. गुरभेज सिंह (इंदिरा मार्केट), स.सतनाम सिंह (राजपुर रोड), स. संतोख नागपाल (घंटाघर),शशिकांत गोयल (चकराता रोड), मनु कोचर (होटल मधुबन), आतेश शर्मा (धर्मपुर), बिजेन्द्र थपलियाल (जी एम एस रोड), बृजलाल बंसल (अखाड़ा बाजार), अजय सिंहल (पार्षद झंडा), राकेश महेन्द्रू (झंडा बाजार),
प्रवीन जैन (कपडा कमेटी),आशीष मित्तल (पैट्रोल डीलर्स एसोसिएशन), नरेश गुप्ता (तिलक रोड),कुलभूषण अग्रवाल (गुरु राम राय मार्केट), अम्बरीष गुप्ता (सैनिटरी डीलर्स एसोसिएशन), नवनीत मल्होत्रा (केमिस्ट एसोसिएशन), अनुपम गुलाटी (राजपुर रोड), हरीश मेहता(न्यू मार्केट),शकील अहमद (राजपुर रोड),नितिन वर्मा (हलवाई एसोसिएशन), आदेश गर्ग ( मोटर पार्ट एसोसिएशन),संजीव बंसल (करणपुर), जीतेन्द्र आनंद (सब्जी मंडी), राजीव पुंज (प्रेमनगर),हरभजन मान (ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन), अखिल भाटिया (टर्नर रोड), मनीष नयाल (पल्टन बाजार), विनय बंसल (पल्टन बाजार), राम गोपाल (आढत बाजार), मनोहर सिंह भण्डारी ( हाथीबड़कला), अनुज जैन ( युवा डिस्ट्रीब्यूटर एसोसिएशन) को चुना गया।


सचिव-संजीव गोयल (राजपुर रोड), सोहन लाल बजाज (जाखन),ललित बोरा (हाथीबड़कला), नरेश बत्रा (आई. टी. डीलर्स एसोसिएशन),गजेन्द्र वासन (कपड़ा कमेटी), अनिल माटा (गुरु राम राय मार्केट), केवल कुमार जी (डिस्पेंसरी रोड),तिलक राज अरोड़ा (देहरादून इलेक्ट्रिक डीलर्स एसोसिएशन),
अर्पित नागलिया (राजा रोड), मयंक नागलिया (सैनिटरी एसोसिएशन), इलियास (क्लासिक होटल), राजु पुरी (राजा रोड), बैजनाथ (डिस्पेंसरी रोड), मनीष नंदा (होल सेल केमिस्ट एसोसिएशन), जीतेन्द्र रावत (मोहब्बे वाला), नवनीत सेठी ( घंटाघर), विजय खुराना (कांवली रोड), अरूण खरबंदा (कांवली रोड), जगमोहन रावत (झंडा बाजार), प्रवीन गुप्ता (करणपुर), फतेहचंद गर्ग (बाबूगंज), कमल मैनी (पल्टन बाजार),एम०पी०सिंह (मोती बाजार),स. जसबीर सिंह (मोती बाजार), आदेश मंगल (गोविंदगढ़), राजीव तलवार (होटल मयंक), रामकिशन तिवारी (आराघर), कमल किशोर (धर्मपुर), प्रेम भाटिया (किशन नगर), प्रवीन गोयल (एम जे मसाले), विक्रम अग्रवाल (टर्नर रोड,) मदन पाल (सेवला कलां), नीरज जैन (होल सेल केमिस्ट एसोसिएशन), अनिल कुमार भोला ( युवा डिस्ट्रीब्यूटर एसोसिएशन),
ालेश गुप्ता (मोती बाजार), विजय टंडन (पल्टन बाजार), विनेश मित्तल (एल. पी. जी. डिस्ट्रीब्यूटर एसोसिएशन), राजीव अग्रवाल (पीपल मंडी),अरविन्द गोयल (गोयल स्वीट शॉप) को चुना गयाद्य।


सह मंत्री-हरीश मेहता ( राजपुर रोड), प्रतीक मैनी (पल्टन बाजार), अनिल कुमार गुप्ता (कृष्णा ट्रैवल्स), गगन सैठी (सब्जी मंडी), कैलाश डोगरा(इलेक्ट्रिक डीलर्स एसोसिएशन), पंकज गुप्ता (अभिन्नदन), नरेश चंदोक (धामावाला), बलराज सूरी (धामावाला), योगेश सूरी (त्यागी रोड), संजय कन्नौजिया (सय्यद मोहल्ला),
आनंद मुनियाल (लोहा व्यापार मंडल), मनमोहन शर्मा (पटेल नगर), मोहित (पटेल नगर), ललित काम्बोज (डाकरा बाजार), आशीष कपूर (युवा डिस्ट्रीब्यूटर एसोसिएशन), गुड्डु (बालेश कुमार गुप्ता तिलक रोड), मोहन जोशी (किशन नगर), शम्मी कोहली (कार एसेसरीज जनपथ), सुरेश चंद गुप्ता (घंटाघर)
शेख इकबाल हुसैन (माजरा), नितिन गोयल (एचसीएल कंपाउंड), अभिषेक शर्मा (माता मंदिर रोड), राम सिंह (पटेल नगर दुग्ध व्यापार संघ), मुकेश सिंघल (त्यागी रोड), अमरजीत सिंह (अमर संस), श्रीकृष्ण गुप्ता (राम लीला बाजार), अनिल रस्तोगी (करणपुर), संजय सिंह चैहान (हर्रा वाला), सूनील शर्मा (ई सी रोड) को चुना गया।


बैठक के बाद विपिन नागलिया ने बताया की दून उद्योग व्यापार मंडल निरंतर सन 1975 से देहरादून के व्यापारियों को एक माला के रूप में जोड़ता आया है और दून उद्योग व्यापार मंडल की सबसे बड़ी ताकत उसके जुझारू कार्यकर्ता हैं जो कि अनवरत व्यापारी हितों के लिए कार्यरत रहते हैं। उन्होंने यह भी कहा कि जो साथी इस कार्यकारिणी में नहीं जुड़ पाए हैं उनको आगे अगली घोषणा में जोड़ा जाएगा। संरक्षक अनिल गोयल जी ने सभी नवनियुक्त पदाधिकारियों को बधाई देते हुए कहा कि उन्हें पूर्ण रूप से विश्वास है कि सभी पदाधिकारी पूरी निष्ठा के साथ अपने परम कर्तव्य व्यापारियों के हितों की रक्षा का निर्वहन करेंगे।




Saturday, 25 July 2020

आत्मसम्मान एवं आत्मविश्वास के साथ आत्मनिर्भर बनना है तभी 2030 तक आत्मनिर्भर भारत बना पाएंगेः राम माधव


देहरादून। निदेशक इंडिया फाउंडेशन एवं भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय महामंत्री राम माधव ने आज यंग थिंकर्स मीट मैं मुख्य वक्ता के तौर पर युवाओं को आत्म सम्मान के साथ आत्मनिर्भर बनने की प्रेरणा दी। युवाओं को संबोधित करते हुए राम माधव ने कहा कि इस कोरोना संक्रमण काल में जिस तरह 130 करोड़ देशवासियों ने किसी को भूखा नहीं रहने दिया वह विश्व के लिए अनूठा उदाहरण है और यही हमारे 5000 साल से मूल्य है। राम माधव ने युवाओं से कहा कि वे न केवल राष्ट्र का भविष्य है अपितु वर्तमान भी हैं उन्हें आत्म सम्मान एवं आत्मविश्वास के साथ आत्मनिर्भर बनना है तभी 2030 तक हम एक शक्तिशाली आत्मनिर्भर भारत बना पाएंगे।



  उन्होंने जापान चीन तथा इजराइल का उदाहरण देते हुए कहा कि परमाणु बम गिरने के बाद जापान ने अपने आपको पुनः स्थापित किया राख के ढेर से दुनिया की तीन बड़ी  इकोनामी में अपने आप को सम्मिलित किया समय की आवश्यकता अनुसार उन्होंने अपने डिफेंस की जिम्मेदारी उस अमेरिका को सौंपी जिसने उसका विध्वंस किया था। चीन का उदाहरण देते हुए उन्होंने कहा कि 1980 तक  हमारी और उनकी जीडीपी बराबर थी आज हम से 5 गुना है वहां तत्कालीन शासकों ने नारा दिया नो डिस्कशन लेट्स डू इट और अगले 20 साल तक केवल और केवल आर्थिक विकास के लिए सुरक्षित किए नतीजा सबके सामने है।



इजराइल के बारे में बोलते हुए राम माधव ने कहा कि उन्होंने कोई मॉडल फॉलो ना कर कर प्रत्येक क्षेत्र में नए अनुसंधान किए और आज हम  डिफेंस ,  कृषि, जल संचय और अनेक विषयों को सीखने उसके यहां जाते हैं। राम माधव के अनुसार आज की जितनी भी मान्यताएं हैं लोकतंत्र आदि ज्यादा से ज्यादा 400 साल पुरानी है और हमारा इतिहास और मूल्य 5000 साल पुराने है उन्होंने विश्व के सबसे अग्रणी देश का उदाहरण देते हुए कहा कि अमेरिका का इतिहास ही 400 साल पुराना है उसमें भी लोकतंत्र केवल 200 साल से आजादी के बाद के परिदृश्य पर बोलते  हुए उन्होंने कहा कि जब भी गांधी जी से भविष्य के भारत के स्वरूप पर प्रश्न होते वह केवल एक शब्द बोलते थे रामराज्य जिसका मतलब था ग्रामीण भारत और सामान्य व्यक्ति तक कि  देश के विकास में भागीदारी प्रथम प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू को प्रोग्रेसिव बताते हुए उन्होंने एक घटना का जिक्र किया कि 1953 में जब नेहरू लाल बहादुर शास्त्री आईएएस अकादमी मसूरी आए थे लगभग 1 घंटे समाजवाद पर बोला उनके भाषण के अंत में एक युवा आईएएस अधिकारी ने पूछा कि आपका पिछले 1 घंटे का भाषण शानदार है पर इसमें सभी उदाहरण यूरोप के हैं इसका इंडियन कॉन्टेक्स्ट क्या है तो नेहरू ने उत्तर दिया कि आपका प्रश्न मूल रूप से बहुत अच्छा है पर अभी मुझे सिर दर्द है इसे भविष्य के लिए सुरक्षित रखते हैं।



..... उत्तराखंड के संदर्भ में उन्होंने कहा कि यहां स्किल डेवलपमेंट उत्तराखंड के लिए ही होना चाहिए एक प्रश्न के उत्तर में बोलते हुए माधव ने कहा कि उत्तराखंड को जम्मू कश्मीर हिमाचल की तरह कुछ मूलभूत अधिकार मिलने चाहिए यह उनका लोकतांत्रिक अधिकार है पर ऐसा करते समय उन्होंने आग्रह किया कि अपने आप को सीमित मत करिए क्योंकि उत्तराखंड के लोग आज देश और दुनिया पर अपनी योग्यता से छाए हुए हैं उन्होंने जनरल बिपिन रावत अजीत डोभाल एवं अन्य कई प्रतिभाओं का उदाहरण दिया।
 2 दिन तक चलने वाली वर्चुअल मीट की प्रथम सत्र को शौर्य डोभाल निदेशक इंडिया फाउंडेशन, मंगेश घिल्डियाल युवा आईएएस अधिकारी, दीपक रमोला एम्बेसडर यूनेस्को, पायल गुप्ता लेफ्टिनेंट कमांडर इंडियन नेवी ने भी संबोधित किया। वर्चुअल कॉन्फ्रेंस में युवाओं ने वक्ताओं से  जमकर प्रश्न पूछे। पंडित दीनदयाल उपाध्याय एक्शन एवं रिसर्च सोसायटी की अध्यक्ष संयोजक नेहा जोशी द्वारा संचालित वर्चुअल कॉन्फ्रेंस में 35 साल से कम युवा वैज्ञानिकों पत्रकारों समाजसेवियों उद्यमियों लेखकों संस्कृति कर्मियों ने लिंक द्वारा फेसबुक इंस्टाग्राम ट्विटर के माध्यम से सैकड़ों की संख्या में भाग लिया। नेहा जोशी ने बताया की उत्तराखंड यंग थिंकर्स फोरम  प्रदेश देश एवं  विदेश में रहने वाले उत्तराखंडी युवाओं को जोड़ने का और नीति निर्माताओं से उनके सार्थक संवाद का मंच बनेगा।


वाह रे आबकारी विभाग, जिसकी नौकरी ही फर्जी उसे फिर प्रमोशन देने की तैयारी !


-आबकारी आयुक्त का खेल, या अधीनस्तों ने किया उन्हें गुमराह  


-फर्जीबाड़े पर आबकारी आयुक्त की चुप्पी से उठ रहे हैं सवाल

-डीपीसी की चल रही है प्रक्रिया, मुख्यमंत्री के पास है आबकारी महकमा 

-आबकारी विभाग में तैनात ऊर्दू अनुवादक सैयद वसी रजा जाफरी का है मामला

देहरादून। एडवोकेट और समाजसेवी विकेश सिंह नेगी आरटीआई के जरिए उत्तराखंड के तमाम विभागों में फैले भ्रष्टाचार और गड़बड़घोटालों को समय-समय पर उजागर करते रहते हैं। कई मामलों की लड़ाई वह अपने स्तर से सूचना आयोग और कोर्ट तक लड़ रहे हैं। वहीं ताजा प्रकरण राज्य के आबकारी-पुलिस सहित कई विभागों में फर्जी तरीके से नौकरी कर रहे ऊर्दू अनुवादकों से जुड़ा है। इस प्रकरण में विकेश सिंह नेगी ने उत्तर प्रदेश से लेकर उत्तराखंड राज्य के तमाम विभागों से आरटीआई के जरिए महत्वपूर्ण जानकारी जुटाई है। यह जानकारी काॅफी महत्वपूर्ण है और पूरे फर्जीबाड़े का खुलासा करती है। विकेश नेगी द्वारा इस जानकारी से तमाम विभागों को अवगत कराया गया लेकिन ऊर्दू अनुवादकों की फर्जी नियुक्ति और लगातार दिये जा रहे प्रमोशन पर आलाअधिकारियों ने चुप्पी साधी हुई है। कोई न कुछ बोलने को तैयार है न कार्रवाई के लिये फाइल चलाने के लिये। ऊर्दू अनुवादकों की फर्जी नियुक्ति का मामला संज्ञान में होते हुए भी इनको प्रमोशन देने की तैयारी चल रही है।

ऊर्दू अनुवादक सैयद वसी रजा जाफरी को प्रमोशन दिये जाने की तैयारी
ऊर्दू अनुवादक को प्रमोशन दिये जाने का एक प्रकरण विकेश सिंह नेगी के संज्ञान में आया है। विकेश सिंह नेगी ने बताया कि यह प्रकरण आबकारी विभाग से जुड़ा हुआ है। आबकारी विभाग में तैनात ऊर्दू अनुवादक को एक बार फिर प्रमोशन दिये जाने की तैयारी की जा चुकी है। विकेश नेगी ने कहा कि उन्हें विश्वसनीय सूत्रों से जानकारी मिली है आबकारी विभाग में तैनात ऊर्दू अनुवादक सैयद वसी रजा जाफरी को प्रमोशन दिये जाने के लिये डीपीसी की फाइल चल चुकी है। विकेश सिंह नेगी कहते हैं कि पूरा प्रकरण आबकारी आयुक्त के संज्ञान में होते हुए कि जब ऊर्दू अनुवादकों की नौकरी ही फर्जी है तो उन्हें किस आधार पर प्रमोशन दिया जा रहा है। यह आबकारी आयुक्त की कार्यप्रणाली पर सवाल खड़े करती है। ऐसे कैसे हो सकता है आबकारी आयुक्त के संज्ञान में पूरा मामला होते हुए भी उन्हें प्रमोशन दिया जा रहा हो। क्या आबकारी आयुक्त के अधीनस्त उन्हें गुमराह कर रहे हैं। 

ऊर्दू अनुवादक/सह-कनिष्ठ लिपिक, कनिष्ठ लिपिक फिर प्रशासनिक अधिकारी और अब इंस्पेक्टर में प्रमोशन

विकेश सिंह नेगी ने कहा जिस ऊर्दू अनुवादक सैयद वसी रजा जाफरी को प्रमोशन दिये जाने को लेकर डीपीसी की फाइल चल रही है। विकेश नेगी ने बताया कि उन्हें आरटीआई के जरिए जो  जानकारी मिली है उसके मुताबिक सैयद वसी रजा जाफरी की नियुक्ति वाराणसी में ऊर्दू अनुवादक/कनिष्ठ लिपिक के पद पर हुई। विकेश नेगी ने बताया कि जिलाधिकारी वाराणसी के आदेश संख्या 708/11/जीसी दिनांक 19/5/1995 तथा आबकारी आयुक्त उत्तर प्रदेश के आदेश संख्या 7377/चैदह-128/अधि दिनाकं 15/9/1995 के अनुपालन श्री सैयद वसी रजा जाफरी की नियुक्ति ऊर्दू अनुवादक/सह-कनिष्ठ लिपिक के पद पर की गई है। एवं दिनांक 30/05/1995 के पूर्वान्ह कार्यभार ग्रहण किया गया।  विकेश नेगी ने बताया कि यह नियुक्यिां केवल एक साल के लिये थी जो 28 फरबरी 1996 को स्वतह ही समाप्त हो गई थी। 3 फरबरी 1995 को जीओ में यह बात साफ तौर पर लिखी हुई है कि यह नियुक्तियां 28 फरबरी को स्वतह ही समाप्त हो जायेंगी। बावजूद इसके पिछले 24 सालों से सैयद वसी रजा जाफरी किस तरह से आबकारी विभाग में सरकारी नौकरी लग गये और फिर प्रमोशन पर प्रमोशन पा गये यह जांच का विषय है। यह बहुत बड़ा गड़बड़घोटाला है जो छोटे से लेकर बड़े अधिकारियों की मिलीभगत से ही संभव हो सकता है।

सैयद वसी रजा जाफरी के प्रमोशन के बाद पुख्ता हो जायेगी मिलीभगत


विकेश सिंह नेगी कहते हैं कि ऊर्दू अनुवादक/सह-कनिष्ठ लिपिक, कनिष्ठ लिपिक फिर प्रशासनिक अधिकारी और अब इंस्पेक्टर में प्रमोशन पाने जा रहे सैयद वसी रजा जाफरी के प्रमोशन के बाद आबकारी विभाग में अधिकारियों की मिलीभगत पुख्ता हो जायेगी। जिस व्यक्ति की नौकरी ही फर्जी है मामला संज्ञान में आने के बाद भी उसे कैसे प्रमोशन दिया जा रहा है। आबकारी आयुक्त के संज्ञान में पूरा प्रकरण होते हुए भी प्रमोशन दिया जा रहा है। यह आबकारी आयुक्त की कार्यप्रणाली पर सवाल खड़े करती है। अगर आबकारी आयुक्त ईमानदार और जवाबदेह हैं तो उन्हें प्रमोशन की फाईल रोकने के साथ ही आबकारी विभाग में तैनात सभी ऊर्दू अनुवादकों के प्रकरण को मुख्यमंत्री के सामने रखना चाहिए क्योंकि मुख्यमंत्री ही आबकारी विभाग के भी मुखिया हैं।

ऊर्दू अनुवादक से प्रमोशन पाकर इंस्पेक्टर बने शुजआत हुसैन की नौकरी को हाईकोर्ट में दी हुई है चुनौती


विकेश सिंह नेगी द्वारा आबकारी विभाग में तैनात इंस्पेक्टर शुजआत हुसैन की नौकरी को चुनौती मामले में सरकार की तरफ से नैनीताल हाईकोर्ट में जवाब दाखिल कर दिया गया है। सरकार और आबकारी विभाग ने खुद हाईकोर्ट में इस बात को स्वीकार कर लिया है कि देहरादून में तैनात इंस्पेक्टर शुजआत हुसैन कानून तौर पर नौकरी में हैं ही नहीं। इसके बावजूद हुसैन को सेवा में अभी तक कैसे रखा है, इसका जवाब सरकार के पास नहीं है। उनके साथ ही उधमसिंह नगर में तैनात इंस्पेक्टर राबिया का मामला भी शुजआत की तरह का ही है। उर्दू अनुवादक के मामले को लेकर हाईकोर्ट गई राबिया की साल 2000 में इलाहबाद हाईकोर्ट ने पिटीसन डिस्मिश कर दी थी। बावजूद इसके वह आज भी फर्जी तरीके से विभाग में नौकरी कर रही है।  


उत्तराखंड और बुंदेलखंड में थे ही नहीं उर्दू अनुवादकों के पद


इस मामले में देहरादून के समाजसेवी विकेश सिंह नेगी का कहना है कि उर्दू अनुवादकों के पद आबकारी विभाग के लिये बुंदेलखंड और उत्तराखंड नहीं थे। विकेश कहते है किं उत्तर प्रदेश  में सन 1995 से ही इस फर्जीबाड़े की शुरूआत हुई। विकेश के मुताबिक यूपी की मुलायम सरकार ने उर्दू अनुवादक और कनिष्ठ लिपिक पद पर सिर्फ भरण पोषण के लिए रखा था। उस समय भी इन दोनों के नियुक्ति पत्रों में साफ लिखा था कि यह नियुक्ति सिर्फ 28-2-1996 को स्वतः ही समाप्त हो जायेगी। फिर कैसे आज तक इन पदों पर कर्मचारी सरकारी सेवाओं का लाभ ले रहे हैं। आखिर कौन है वह जिसकी मिलीभगत से सरकार को करोड़ो रूपये का चूना हर माह लग रहा है।

रिकवरी के साथ हो संपत्ति की जांच


विकेश कहते हैं कि सरकार की जीरो टालरेंस पर सवाल खड़ा करते हुए कहते हैं कि वह लंबे समय से इस मामले को उठा रहे हैं लेकिन कार्रवाई के नाम पर कुछ नहीं हुआ। जो काम सरकार को करना चाहिए था वह काम वह कर रहे हैं। व्यक्तिगत तौर से हाईकार्ट में इस मामले की लड़ाई लड़ रहे हैं। विकेश सिंह नेगी कहते हैं कि उनकी लड़ाई उत्तराखंड के उन सैकड़ों बेरोजगार युवाओं की लड़ाई है जो रोजगार की तलाश में दूसरे शहरों की खाक छान रहे हैं। मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत को उर्दू अनुवादकों की नियुक्ति के साथ ही सभी विभागों में जांच करानी चाहिए कि कहीं कोई और भी तो फर्जी तरीके से सरकारी नौकरी तो नहीं कर रहा है। यही नहीं जिस किसी ने भी फर्जी नौकरी कर सरकार को जो अब तक आर्थिक नुकसान पहुंचाया गया है उसकी रिकवरी के साथ ही उसकी संपत्ति की जांच और उसे जेल होनी चाहिए।  




Featured Post

जवानों की शहादत का कोई मोल नहीं है केंद्र सरकार की नजरों मेंः मोर्चा

-देश की एजेंसियों को विरोधियों को कमजोर करने व चुनावी षड्यंत्र के काम से हटाए सरकार -उत्तराखंड के जवानों की दिनों-दिन हो रही शहादत पर...