Tuesday, 30 June 2020

बूढ़ाकेदार-कोट विशन मार्ग पर कार नदी में गिरी, तीन लोगों की मौत, एक घायल


टिहरी/देहरादून। भिलंगना प्रखंड के भेटी गांव से बरात लेकर कोट गांव जा रही एक कार दुर्घटनाग्रस्त होने से तीन बरातियों की मौके पर ही मौत हो गई। वाहन चालक गंभीर रूप से घायल हो गया, जिसे सीएससी बेलेश्वर में प्राथमिक उपचार के बाद एयर लिफ्ट कर हायर सेंटर एम्स ऋषिकेश रेफर किया गया है। मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने दुर्घटना पर गहरा दुख व्यक्त किया है। उन्होंने दिवंगतों की आत्मा की शांति एवं दुःख की इस घड़ी में उनके परिजनों को धैर्य प्रदान करने के साथ ही घायल के शीघ्र स्वास्थ्य लाभ की ईश्वर से प्रार्थना की है। मुख्यमंत्री के निर्देश पर दुर्घटना में घायल व्यक्ति को एयर लिफ्ट कर ऋषिकेश लाया गया जहां पर उनका इलाज चल रहा है।

मंगलवार को भेटी गांव के शांति लाल के बेटे की बरात कोट जा रही थी। बूढ़ाकेदार-कोट विशन मार्ग पर दोपहर 1.45 बजे बरात में शामिल कार कोट विशन इंटर कॉलेज के समीप दुर्घटनाग्रस्त होकर करीब 400 मीटर नीचे बालगंगा नदी किनारे जा गिरी। दुर्घटना में रामलाल (48) पुत्र भरपुरू, मोहन लाल (62) पुत्र छिल्लो शाह और सोहन लाल (48) पुत्र जौहरी लाल तीनों निवासी भेटी गांव की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि वाहन चालक भेटी गांव निवासी नरेंद्र कुमार (32) पुत्र बच्चू शाह गंभीर रूप से घायल हो गया। कोट गांव के लोगों की मदद से घायल वाहन चालक और शवों को खाई से किसी तरह बाहर निकाला गया। इस बीच राजस्व, रेगुलर पुलिस और एसडीआरएफ की टीम भी मौके पर पहुंची। दुर्घटना का प्रारंभिक कारण कार की तेज रफ्तार बताई जा रही है। बरात का वाहन दुर्घटनाग्रस्त होने से भेटी और कोट गांव में चारों तरफ कोहराम मच गया। भेटी गांव के तीन लोगों की कार दुर्घटना में मौत की सूचना से भेटी और कोट गांव में मातम छा गया। शादी की खुशिया पलभर में ही काफूर हो गई। बरात की कार दुल्हन के घर पहुंचने से करीब एक किमी पहले ही दुर्घटनाग्रस्त हो गई, जिससे पूरे कोट गांव में अफरा-तरफी मच गई। बरात स्वागत करने के बजाय लोग दौड़ते भागते हुए दुर्घटना स्थल पर पहुंचे। तीन बरातियों के शव खाई में देखकर लोग चीखने और बिलखने लगे। एक घंटे तक लोग समझ नहीं पाए कि अब क्या करना है। महिलाओं का रो-रोकर बुरा हाल था। गांव के बुजुर्गों ने किसी तरह हिम्मत बंधाई। दूल्हा और तीन चार बराती दुल्हन के घर कोट गांव पहुंचे। किसी तरह से शादी की रश्मे निभाई गई। इस दौरान सभी के चेहरों पर मायूसी छाई हुई थी। दुर्घटना की सूचना पर दूल्हे के भेटी गांव में भी मृतकों के परिजनों और नाते रिश्तेदारों की चीख पुकार मच गई। मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने दुर्घटना पर गहरा दुख व्यक्त किया है। उन्होंने दिवंगतों की आत्मा की शांति एवं दुःख की इस घड़ी में उनके परिजनों को धैर्य प्रदान करने के साथ ही घायल के शीघ्र स्वास्थ्य लाभ की ईश्वर से प्रार्थना की है।

कुबेर की संपत्ति फीकी उत्तराखंड के आगेः पूनम महाजन, वर्चुअल रैली को संबोधित किया


 


देहरादून। उत्तराखंड को प्रकृति प्रदत्त वातावरण नैसर्गिक सुंदरता ईश्वरीय वरदान है जिसके आगे कुबेर की संपत्ति भी कम है भारतीय जनता युवा मोर्चा की राष्ट्रीय अध्यक्ष पूनम महाजन ने आज नॉर्थ मुंबई से उत्तराखंड वर्चुअल रैली को संबोधित करते हुए कहा कि हम यहां जो सांस लेते हैं उत्तराखंड जैसे राज्य उसके फेफड़े हैं वहां के जल जंगल जमीन हमें शुद्ध वायु प्रदान करते हैं तब हम महानगरों में रह पाते हैं।


पूनम महाजन ने उत्तराखंड वासियों की बार बार आने वाली आपदाओं से लड़कर खड़े होने की शक्ति को प्रणाम  करते हुए कहा कि यहां का सरल  परंतु अनुशासित अध्ययनशील जीवन देश के शेष क्षेत्रों के लिए अनुकरणीय है। केंद्र एवं राज्य सरकार की उपलब्धियों को गिनाते हुए उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री ने आपदा के समय जान और जहान दोनों की रक्षा का जो संकल्प पूरा किया है उससे विश्व चकित भी है और प्रेरणा भी ले रहा है महामारी के बावजूद प्रधानमंत्री की आत्मनिर्भर राष्ट्र बनने की संकल्प शक्ति उन्हें विश्व के अग्रणी नेताओं मैं खड़ा करती है। महाराष्ट्र  में मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे की प्रशासनिक अनुभव  हीनता की तुलना उन्होंने राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी की प्रशासनिक क्षमता से  करते हुए कहा कि यह उत्तराखंड  ही है जहां से आए राज्यपाल महाराष्ट्र राज्य की जनता  और भाजपा कार्यकर्ताओं  की आशा का केंद्र बने हैं।
महाजन ने मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह द्वारा जनहित में किए जा रहे विकास कार्यों को गिनाते हुए कहा युवा उत्तराखंड अपना स्थान देश के अग्रणी राज्य में बना रहा है। विशिष्ट अतिथि धन सिंह नेगी ने उत्तराखंड सरकार द्वारा युवाओं के रोजगार हेतु चलाई जा रही योजनाओं का विवरण देते हुए कार्यकर्ताओं से उन्हें प्रत्येक घर तक पहुंचाने का आह्वान किया। अपने स्वागत भाषण में प्रदेश भारतीय जनता युवा मोर्चा अध्यक्ष कुंदन लटवाल ने कोरोना काल में अस्कोट से आराकोट तक संपूर्ण प्रदेश में चलाए  गए जन जागरूकता के लिए वॉल राइटिंग, मास्क ,सैनिटाइजर, भोजन, खाद्यान्न वितरण एवं रक्तदान संबंधी कार्यों का ब्यौरा दिया। भारतीय जनता युवा मोर्चा की राष्ट्रीय मीडिया प्रभारी नेहा जोशी ने अपने संबोधन में युवाओं को प्रेरणा देने के लिए राष्ट्रीय अध्यक्ष का आभार व्यक्त किया वर्चुअल रैली को भाजपा प्रदेश  संगठन मंत्री अजय कुमार प्रदेश उपाध्यक्ष कैलाश शर्मा प्रदेश महामंत्री एवं युवा मोर्चा प्रभारी कुलदीप कुमार प्रदेश भारतीय जनता पार्टी युवा मोर्चा महामंत्री गुंजन सुखीजा ने भी संबोधित किया। रैली में भारतीय जनता युवा मोर्चा के उपाध्यक्ष सचिन गुप्ता किशोर भट्ट सचिन शाह मंत्री रवि पाल निर्मल मेहरा, अंशुल चावला, संतोष सेमवाल, अनुराग भाटिया, तरुण दत्ता, मीडिया प्रभारी आशुतोष ममगाईं सहित प्रदेश के सैकड़ों कार्यकर्ताओं ने भाग लिया। रैली के अंत में संयोजक सिद्धार्थ अग्रवाल द्वारा सभी का आभार व्यक्त किया गया।


 




पीएम नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में विश्व पटल पर भारत का मान सम्मान बड़ाः निशंक


देहरादून।  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में विश्व पटल पर भारत का मान- सम्मान एवं वर्चस्व बढा है। इस दौरान भारत ने कई उल्लेखनीय एवं ऐतिहासिक कार्य मोदी सरकार द्वारा किए गए हैं । 
यह बात आज धर्मपुर विधानसभा की वर्चुअल रैली को संबोधित करते हुए केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री डॉ रमेश पोखरियाल निशंक ने बतौर मुख्य अतिथि के रूप में कही। डॉ निशंक ने जहां एक ओर केंद्र सरकार की उपलब्धियों पर बोलते हुए कहा कि मोदी सरकार ने समाज के अंतिम व्यक्ति की चिंता कर उनके लिए कई कल्याणकारी योजनाएं लागू की , जिसका लाभ उन्हें मिल रहा है । जन धन योजना उज्जवला योजना का जिक्र करते हुए कहा कि इससे समाज के अंतिम व्यक्ति को इसका लाभ मिल रहा है। उन्होंने सैनिकों के लिए वन वन वन पेंशन योजना लागू करने की बात कही । राष्ट्रीय सुरक्षा की दृष्टि से सीमांत क्षेत्र में सड़कों का निर्माण तेजी से हो रहा है  । डॉक्टर  निशंक ने कहा कि मोदी सरकार का दूसरे कार्यकाल का 1 वर्ष में धारा 370 को हटाना एक बहुत बड़ा साहसिक कदम रहा है उन्होंने भारत को आत्मनिर्भर बनाने के लिए मोदी सरकार ने बेरोजगारों को रोजगार देने के उद्देश्य  से स्किल डेवलपमेंट के तहत रोजगार मुहैया कराया जा रहा है।उन्हें आत्मनिर्भर बनाने के लिए   20 लाख करोड़ रुपए की धनराशि की घोषणा की गई है। देश डिजिटल इंडिया की ओर बढ़ रहा है यह अपने आप में एक बहुत बड़ी उपलब्धि है।  निशंक ने कहा कि  प्रधानमंत्री मोदी का उत्तराखंड से  बहुत लगाव है और उत्तराखंड के लोगों पर वह पूरा विश्वास और भरोसा करते हैं इस समय देश के कई सर्वोच्च पदों पर देवभूमि के सुपुत्र कार्य कर रहे हैं ।वहीं दूसरी ओर डॉ निशंक ने प्रदेश में त्रिवेंद्र सरकार की प्रशंसा करते हुए कहा कि प्रदेश में त्रिवेंद्र सरकार ईमानदारी से कार्य कर रही है। त्रिवेंद्र जी के नेतृत्व में सरकार जनहित  का कार्य कर रही है ।केंद्र सरकार की योजनाओं को भी पूरी इमानदारी से प्रदेश में लागू कर रही है । जिसका जनता को लाभ मिल रहा है । केंद्र की योजनाओं को समय से पूरा करना सरकार की बहुत बड़ी उपलब्धि है । उन्होंने केंद्र सरकार द्वारा चल रही ऑल वेदर रोड का जिक्र करते हुए कहा कि इससे चार धाम यात्रा सुलभ होगी और स्थानीय बेरोजगारों को रोजगार मिलेगा।रैली में विशिष्ट अतिथि और धर्मपुर के विधायक विनोद चमोली ने  कहा कि त्रिवेंद्र सरकार का कार्यकाल संतोषजनक है और पूरी ईमानदारी से त्रिवेंद्र सरकार कार्य कर रही है। विकास कार्य को गति मिली है । गैरसैंण को ग्रीष्मकालीन राजधानी बनाना त्रिवेंद्र सरकार की बहुत बड़ी उपलब्धि है। उन्होंने कहा कि रावत सरकार पलायन को रोकने के लिए रोजगार के अवसर उपलब्ध करवा रही है ।
कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे महानगर के अध्यक्ष सीताराम भट्ट ने कहा कि सभी कार्यकर्ताओं को केंद्र और राज्य सरकार की उपलब्धियों को आमजन तक पहुंचाने का कार्य करना होगा । उन्होंने कहा कि हमारी सरकार ने कई उपलब्धियां हासिल की है उनको आम जनता तक पहुंचाने का कार्य कार्यकर्ताओं के कंधों पर है। उन्होंने कार्यकर्ताओं से आपस में एकजुटता से 
आने वाली चुनौतियों का सामना करने के लिए तैयार रहने को कहा। भट्ट ने कहा की कुछ लोग भाजपा सरकार के कार्यों को पचा नहीं पा रहे हैं और दुष्प्रचार कर रहे हैं जिसके लिए कार्यकर्ताओं को तैयार रहना होगा। इस अवसर पर महानगर के दोनों महामंत्री  रतन सिंह चौहान  ,सत्तेंद्र नेगी, सोशल मीडिया के प्रदेश संयोजक धर्मपुर विधानसभा के चारों मंडल शेखर वर्मा, मीडिया प्रभारी राजीव उनियाल सह मीडिया प्रभारी गिरिराज उनियाल सोशल मीडिया के महानगर प्रभारी अनुराग भाटिया चारों मंडल अध्यक्ष पूनम ममगाई, संदीप मुखर्जी, विजय भट्ट, धर्मपाल सिंह ,पार्षद आलोक कुमार,  भाजपा नेता वीर सिंह पंवार ,गोपाल पूरी, मुकेश सिंगल, ईश्वर सिंह नेगी ,सुभाष बालियान अनुराग पंत सहित सैकड़ों कार्यकर्ताओं ने जगह जगह अपने अपने मोबाइल फोन  वर्चुअल रैली  में  भाग लिया


उत्तराखण्ड संवैधानिक अधिकार संरक्षण मंच का आम आदमी पार्टी में हुआ विलय



-संगठन के सभी पदाधिकारियों, कार्यकर्ताओं ने ली आम आदमी पार्टी की सदस्यता


देहरादून। उत्तराखण्ड संवैधानिक अधिकार संरक्षण मंच का आज आम आदमी पार्टी में विलय हो गया। मंच के सभी पदाधिकारियेां और कार्यकर्ताओं ने आम आदमी पार्टी के उत्कृष्ट ऐतिहासिक फैसलों के देखते हुए प्रदेश प्रभारी दिनेश मोहनिया के नेतृत्व में आधिकारिक तौर पर सदस्यता ग्रहण की। इस मौके पर प्रदेश प्रभारी दिनोश मोहनिया ने कहा कि उत्तराखण्ड में भाजपा और कांग्रेस का कार्यकाल देखने के बाद और दिल्ली में आम आदमी पार्टी का कार्य देखने के बाद उत्तराखण्ड की जनता का भरोसा भी आम आदमी पार्टी में बढ़ा है और आप पार्टी को तीसरे विकल्प में रूप में देख रहे है। श्री मोहनिया ने कहा कि आगामी विधानसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी तीसरा विकल्प बन कर जनता के बीच आ रही है और जीत भी हासिल कर रही है। इस अवसर पर आम आदमी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष एसएस कलेर ने भी उत्तराखण्ड संवैधानिक अधिकार संरक्षण मंच के सभी पदाधिकारियों का स्वागत करते हुए कहा कि उनके लिय यह हर्ष का विषय है कि जनता के पास अब प्रदेश में आम आदमी पार्टी तीसरे विकल्प के रूप में मौजूद है। आम आदमी पार्टी प्रदेश कार्यालय में उक्त जानकारी देते हुए उत्तराखण्ड संवैधानिक अधिकार संरक्षण मंच के प्रदेश संयोजक दौलत कुंवर ने कहा कि जब से उत्तराखण्ड प्रदेश बना है तभी से कांग्रेस और भाजपा दोनों की पार्टियां जनता का शोषण कर रही है और दोनों ने ही अभी तक जनता को ठगने का काम किया है। उन्होंने कहा कि आम आदमी पार्टी के ऐतिहासिक जन सरोकारों के मुद्दों को देखते हुए आज भारत में एक चर्चा का विषय बन चुका है और यही कारण है कि हमारे मंच के सभी पदाधिकारी और कार्यकर्ता पार्टी में पूर्ण निष्ठा रखते हुए साथ कार्य करने की चेष्टा से विलय कर रहे है। उन्होंने बताया कि मंच के दौलत कुंवर, प्रदेश संयोजक, जगत राम डोगरा मुख्य सलाहकार, संदीप कुमार पंथ प्रदेश सहसंयोजक, रमेश दास प्रदेश प्रधान महासचिव, जीवन सिंह प्रदेश सचिव, विजय पाल तंगानी प्रदेश सलाहकार, वीरेंद्र प्रताप सिंह अध्यक्ष प्रदेश युवा मोर्चा, आशीष कर्णवाल प्रदेश प्रवक्ता, सुरेंद्र सिह रावत प्रभारी गढ़वाल मंडल, सागर धुन्ना अध्यक्ष गढ़वाल मंडल, विनोद शाह प्रदेश सचिव, संतोष कुमार पाटिल प्रदेश सचिव, मनीष सकलानी प्रदेश सचिव, अमीर चंद्र प्रदेश सोशल मीडिया प्रभारी, सुनील कुमार प्रदेश कार्यालय प्रभारी, जगदीश प्रदेश सचिव, बारू निराला प्रभारी विधानसभा चकराता, दलिप चंद्रा सहप्रभारी विस चकराता, धुरेंद्र चैधरी जिलाध्यक्ष देहरादून, गोविंद कटारिया जिला सचिव, आलम सिंह जिला सचिव आम आदमी पार्टी में शामिल हुए। इस मौके पर पार्टी संगठन प्रभारी डीके पाल, पार्टी सचिव राजेश बहुगुणा, पार्टी माहसचिव विशाल चैधरी, प्रदेश प्रवक्ता रविंद्र सिंह आनंद, प्रदेश मीडिया प्रभारी राकेश काला, प्रदेश संगठन प्रभारी कौटिल्य,  धर्मेंद्र बंसल, सारिक अफरोज, प्रदीप बछवाण,  पूजा भल्ला, उमा सिसोदिया, नवीन प्रशाली, अशोक सेमवाल, राव नसीम, नवीन चैहान ,सहित आम आदमी पार्टी के नेतागण मौजूद थे।



बोर्ड की कोई जरूरत नहींः हरीश

देहरादून। पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत का कहना है कि जब सब कुछ ठीक ठाक चल रहा था तो बोर्ड की क्या जरूरत थी। उन्होने कहा कि मन्दिरों की कमाई पर सरकार अपना नियंत्रण चाहती है। जिसके लिए यह बोर्ड बनाया गया है। उन्होने कहा कि कांग्रेस की सरकार आते ही वह सबसे पहले इस बोर्ड को समाप्त करने पर विचार करेगी। इधर केन्द्रीय नेतृत्व के आहवान पर कांगे्रसियों ने आज देश व्यापी प्रदर्शन किया। मंहगाई के खिलाफ दून व उत्तराखण्ड में भी प्रदर्शन हुए। प्रीतम सिंह ने कांग्रेस भवन में धरना प्रदर्शन किया तो हरीश रावत भी अपने समर्थकों के साथ बैलगाड़ी पर घूमते नजर आये। लेकिन इन अलग-अलग प्रदर्शनों के दौरान हिस्से हिस्से बंटी कांग्रेस का मुद्दा भी चर्चाओं में रहा।

देव स्थानम बोर्ड पर सुनवाई शुरू

देहरादून। भाजपा के राज्यसभा सांसद सुब्रमण्यिम स्वामी की उस याचिका पर जिसमें उनके द्वारा राज्य सरकार के देव स्थानम बोर्ड के निर्णय को चुनौती देते हुए इस असंवैधानिक बताया था, पर आज हाईकोर्ट में फाइनल सुनवाई शुरू हो चुकी है।

स्वामी ने अपनी याचिका में सरकार द्वारा गठित किये गये देवस्थानम बोर्ड को श्रद्धालुओं के अधिकारों का हनन बताते हुए सरकार पर कई सवाल उठाये गये थे। उनका कहना था कि बोर्ड के माध्यम से सरकार सभी धार्मिक स्थलों को अपने नियंत्रण में लेना चाहती है। सरकार द्वारा बीते 27 नवम्बर को देवस्थानम बोर्ड गठन का प्रस्ताव लाया गया था। जिसके अध्यक्ष खुद मुख्यमंत्री है तथा रविनाथन को बोर्ड का सीईओ बनाया गया है। यही नहीं बोर्ड में तीन सांसद और छह विधायकों सहित तमाम बड़े अधिकारियों को पद दिये गये है। स्वामी ने इसे संविधान के अनुच्छेद 25 और 26 का उल्लंघन बताते हुए चुनौती दी है। जिस पर मुख्य न्यायधीश की अध्यक्षता वाली पीठ द्वारा सुनवाई की जा रही है। आज इस मामले की आनलाइन फाइनल सुनवाई शुरू हो चुकी है। राज्यपाल द्वारा स्वीकृत प्राप्त कर चुके इस प्रस्ताव पर सरकार अभी अपने फैसले पर अडिग दिखायी दे रही है और बोर्ड के गठन को उचित बता रही है। जबकि इस फैसले का विरोध तीर्थ पुरोहित भी कर रहे है तथा उन्होने भी हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाया है। अब यह फैसला अदालत को करना है कि बोर्ड गठन का फैसला सही है या गलत। लेकिन खुद भाजपा सांसद स्वामी की अपील के बाद सरकार सवालों के घेरे में है और उसकी साख दांव पर लगी है।

कंटेनमेंट जोन के लोगों को नहीं होगी मंजूरी

देहरादून। अभी राज्य के कंटेनमेंट जोन वाले क्षेत्र के लोगों को धामों में दर्शन की अनुमति नहीं होगी। राज्य के लोगों को अपने स्थानीय निवासी का प्रमाण के रूप में आईडी दिखानी होगी। क्वारंटाइन किए गए लोगों को भी धाम में जाने की मंजूरी नहीं होगी। राज्य से बाहर के लोगों को किसी भी तरह की मंजूरी नहीं मिलेगी।

चारधाम में लोगों को बेहद सीमित संख्या में प्रवेश दिया जाएगा। बदरीनाथ धाम में 1200, केदारनाथ 800, गंगोत्री 600, यमुनोत्री में 400 लोगों को ही प्रवेश दिया जाएगा।

अभी भी जिलों के भीतर स्थानीय लोगों के दर्शन करने की संख्या बहुत कम रही है। नौ जून से अभी केदारनाथ धाम पहुंचने वालों की संख्या 57, बदरीनाथ धाम में 213 लोग ही दर्शन को पहुंचे जबकि गंगोत्री व यमनोत्री तो कोई पहुंचा ही नहीं

-------------------------

1 जुलाई से चारों धामों के दर्शन कर सकेंगे श्रद्धालु

देहरादून। उत्तराखंड में अब प्रदेशवासी चारों धामों के दर्शन कर सकेंगे। राज्य के अंदर एक जिले से दूसरे जिले में लोगों को चारधाम के दर्शन की सीमित संख्या में अनुमति ही दी गई है। सरकार ने सभी पहलुओं पर विचार करने के बाद चारधाम यात्रा को शुरू करने का निर्णय ले लिया है। प्रदेशवासी 01 जुलाई से चारों धामों के दर्शन कर सकेंगे। लेकिन, कोरोना वायरस को देखते हुए सरकार ने दर्शन को जा रहे लोगों के लिए गाईडलाइन भी जारी की है। साथ ही दिशा-निर्देशों का सख्ती से पालन भी करना होगा। 

चारधाम के दर्शन के लिए इच्छुक लोगों को उत्तराखंड चारधाम देवस्थानम बोर्ड की वेबवाईट पर पंजीकरण कराना होगा। पंजीकरण के आधार पर ई-पास के साथ ही श्रद्धालुओं को दर्शन करने की अनुमति दी जाएगी। किसी भी श्रद्धालुओं को किसी भी सूरत में एक धाम में एक रात से ज्यादा रूकने की अनुमति नहीं दी जाएगी। इस नियम का सख्ती से पालन भी किया जाएगा। धाम में जाने के इच्छुक 65 साल से ज्यादा श्रद्धालुओं और 10 साल से कम उम्र वाले बच्चों को किसी भी हालत में पास जारी नहीं किया जाएगा। साथ ही, गंभीर बीमारियों से पीड़ितों को भी चारधाम यात्रा की अनुमति नहीं दी जाएगी। उत्तराखंड चारधाम देवस्थानम बोर्ड के सीईओ रविनाथ रमन ने बताया कि अभी राज्य के भीतर के लोगों को ही मंजूरी दी जा रही है। इसके लिए लोगों को सम्बन्धित धाम के जिला प्रशासन से मंजूरी लेनी होगी। स्थानीय प्रशासन से यात्रा पास जारी होने के बाद ही लोग यात्रा कर सकेंगे। अभी तक  धामों से जुड़े जिलों उत्तरकाशी, रुद्रप्रयाग, चमोली के भीतर के ही स्थानीय लोगों को ही मंजूरी दी गई थी। बदरीनाथ धाम में तो पूरे जिले को भी मंजूरी नहीं थी। 

------------------------------------

कोरोना की दवा बनाने के दावे से पलटा पतंजलि, अब कह रहा लोग कर रहे भ्रामक प्रचार 

देहरादून। कोरोना वायरस की दवा बनाने का दावा करने वाली पतंजलि आयुर्वेद अब अपने दावे से पलट गई है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, उत्तराखंड आयुष विभाग की ओर से जारी नोटिस का जवाब देते हुए पतंजलि ने कहा है कि उसकी तरफ से कोरोना खत्म करने की कोई दवा नहीं बनाई गई है। पतंजलि आर्युवेद समूह की कंपनी दिव्य योग फार्मेसी ने ही कोरोना वायरस की दवा कोरोनिल बनाई है।

मामले से जुड़े लोगों का कहना है कि दिव्य योग फार्मेसी ने उत्तराखंड सरकार के आयुष विभाग को दिए जवाब में दवा बनाने से साफ इनकार कर दिया है। साथ ही कंपनी ने कहा है कि दवा के पैकिंग कवर पर कोरोना किट भी नहीं लिखा गया है। दिव्य योग फार्मेसी का कहना है कि कोरोनिल के बारे में भ्रामक प्रचार किया जा रहा है। बीते मंगलवार को बाबा रामदेव और पतंजलि आयुर्वेद के सीईओ आचार्य बालकृष्ण ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए दावा किया था कि हमने कोरोना की दवा बना ली है। बाद में केंद्रीय आयुष मंत्रालय समेत उत्तराखंड आयुष विभाग ने मामले पर संज्ञान लिया और कोरोना की दवा कहकर प्रचार करने के साथ ही इसकी बिक्री पर भी रोक लगाने का निर्देश जारी कर दिया। आयुष विभाग ने कंपनी को नोटिस जारी करते हुए इससे जुड़े तमाम तथ्यों को सामने रखने के लिए कहा था।

निवेश की समुचित प्लानिंग करें, ताकि भविष्य के लिए बनाई योजनाओं को पूर्ण करने में मदद मिले

देहरादून। नरेश बंसल (कैबिनेट मंत्री दर्जा प्राप्त) उपाध्यक्ष 20 सूत्री कार्यक्रम एवं क्रियान्वयन समिति ने एसोसिएशन ऑफ म्यूच्यूअल फंड इन इंडिया के द्वारा आयोजित विषय लाइव वेबीनार को मुख्य अतिथि के रूप में संबोधित  किया। श्री बंसल ने कहा कि बचत करना अति आवश्यक है तथा प्राचीन काल से हमारे बुजुर्गों द्वारा भी यही पद्धति हमें सिखाई गई है कि अपनी कमाई हुई कुल राशि में से कुछ ना कुछ बचत संकट काल के लिए या भविष्य की योजनाओं के लिए की जाए। उन्होंने कहा आज भारत सरकार द्वारा बचत के बहुत से माध्यम है जैसे फिक्स डिपाजिट, शेयर बाजार, लैंड इन इक्विटी,सोना,चाँदी व म्यूच्यूअल फंड आदि बहुत से विकल्प मौजूद है जिसमे अपने सामर्थ्य के अनुसार अपनी आने वाली जरूरतों को ध्यान में रखते हुए निवेश किया जा सकता है। हमे अपने निवेश की समुचित प्लानिंग करनी चाहिए जो भविष्य के लिए बनाई योजनाओं को पूर्ण करने में मदद करें।

     श्री बंसल ने कहा कि इस कोरोना संकटकाल में वह निवेशक आर्थिक रूप से ज्यादा अच्छी स्थिति में रहा होगा जो पहले से बचत संबंधी योजनाओं में निवेश कर अपने आप को सुरक्षित रखे हुए था। जिस व्यक्ति की कोई बचत नहीं थी उसके लिए यह समय ज्यादा संकट का था। जब निवेशक बाजार में आता है तो उसके सामने काफी सारे विकल्प होते हैं। उनका वह सही चुनाव कर सके उसके लिए विभिन्न क्षेत्रों में बहुत सारे एक्सपर्ट काम कर रहे हैं जिसमें से बहुत से लोग इस वेबीनार से जुड़े हैं। उन्होंने कहा कि इन एक्सपर्ट को चाहिए कि निवेशक को उसकी जरूरत अनुसार निवेश का सही माध्यम बताएं ताकि निवेशक अपने निवेश को लेकर सुरक्षित महसूस कर सकें तथा उसे निवेश पर उचित लाभ समय पर प्राप्त हो सके। श्री बंसल  ने कहा कि इस हेतु  भारत सरकार ने अलग-अलग क्षेत्रों की निवेशक नियामक आयोग एवं सेबी आदि के द्वारा एवं सख्त कानून बनाते हुए निवेशक का विश्वास मजबूत करने का कार्य किया जा रहा है उन्होंने कहा कि कोरोना संकटकाल में कैसे दुबारा अर्थव्यवस्था पटरी पर आए और देशी एवं विदेशी निवेशक भारत में ज्यादा से ज्यादा निवेश कर सकें इसकी योजना पर केंद्र व प्रदेश की सरकारों द्वारा बहुत तेजी से कार्य चल रहा है। श्री  बंसल ने एसोसिएशन ऑफ म्यूच्यूअल फंड इन इंडिया व उससे जुड़े सभी मित्रों को भविष्य के लिए शुभकामनाएं दी। वेबीनार में उपस्थित के एम शर्मा रीजनल मैनेजर ऑफ उत्तराखंड ग्रामीण बैंक ने बताया कि ई बैंकिंग एवं डिजिटल बैंकिंग को और सुचारु रूप से और जन जन तक इसकी सुविधाओं को पहुंचाये जाने के बारे में बताया। अंकित कुमार सीनियर प्रेसिडेंट द्वारा डीमेट अकाउंट के बारे में विस्तार से बताया गया ।उसके बाद डिस्टिक मजिस्ट्रेट अल्मोड़ा नितिन सिंह भदोरिया द्वारा आम निवेशकों को  उनके निवेश के साधनों के बारे में जानकारी दी गई । एन एस डी एल के वाईस प्रेसिडेंट अंकित शर्मा जी ने भी संबोधित किया । श्री सूर्यकांत शर्मा वरिष्ठ कंसलटेंट सतपाल सिंह डायरेक्टर आइटीबीपी ट्रेनिंग अकैडमी अल्मोड़ा तथा डॉक्टर संजय कुमार अग्रवाल कार्यक्रम संयोजक एवं अन्य प्रतिभागी मौजूद रहे ।

े6 माह की अवधि के लिये हड़ताल को निषिद्ध

देहरादून। प्रमुख सचिव आनन्द बर्द्धन द्वारा जारी अधिसूचना में बताया गया है कि उत्तराखण्ड वन विकास निगम की समस्त श्रेणी की सेवाओं में तात्कालिक प्रभाव से 6 माह की अवधि के लिये हड़ताल को निषिद्ध किया गया है। इस सम्बन्ध में जारी अधिसूचना में यह भी स्पष्ट किया गया है लोकहित को ध्यान में रखते हुए अत्यावश्यक सेवाओं के अनुरक्षण अधिनियम की सुसंगत धाराओं के तहत यह निर्णय लिया गया है।

स्वतंत्र समिति का गठन कियास्वतंत्र समिति का गठन किया

देहरादून। सचिव ऊर्जा राधिका झा ने बताया कि ऊर्जा विभाग के नियन्त्रणाधीन तीनों निगमों के प्रबंध निदेशकों एवं निदेशकों के चयन हेतु गठित चयन समिति द्वारा इस सम्बन्ध में भारत सरकार की प्रक्रिया के अनुसार नियमों की समीक्षा किये जाने का सुझाव दिया गया था। उन्होंने बताया कि इस सम्बन्ध में सम्यक विचारोपरान्त शासन द्वारा नियमों की समीक्षा हेतु स्वतंत्र समिति का गठन किया गया है। जिसके अध्यक्ष इन्दु कुमार पाण्डेय सेवानिवृत्त, मुख्य सचिव होंगे। भूपेश चन्द्र तिवारी, अपर सचिव ऊर्जा एवं आलोक कुमार, विधिक सलाहकार, ऊर्जा सेल समिति के सदस्य जबकि उपसचिव उर्जा प्रकाश जोशी को समिति का सदस्य सचिव नामित किया गया है।

पंतनगर को हस्तांतरित करने का निर्णय लिया 

देहरादून। राज्य सरकार द्वारा पटवाडांगर नैनीताल स्थित जैव प्रौद्योगिकी संस्थान को उत्तराखण्ड जैवप्रौद्योगिकी परिषद हल्दी, पंत नगर को हस्तांतरित किये जाने का निर्णय लिया गया है। इस सम्बन्ध में सचिव आर. मीनाक्षी सुन्दरम द्वारा जारी शासनादेश के अनुसार उत्तराखण्ड जैव प्रौद्योगिकी परिषद के पास कोई पर्वतीय जैव प्रौद्योगिकी अनुसंधान संस्थान न होने व परिषद को अपनी परियोजनाओं को क्रियान्वित किये जाने में हो रही कठिनाइयों के दृष्टिगत कुलपति, पंतनगर विश्वविद्यालय द्वारा दी गयी सहमति के उपरान्त शासन स्तर पर सम्यक विचारोपरान्त शासन द्वारा पंतनगर विश्वविद्यालय के नियंत्रणाधीन जैवप्रौद्योगिकी संस्थान पटवाडांगर, नैनीताल को उत्तराखण्ड जैव प्रौद्योगिकी परिषद हल्दी, पंतनगर को हस्तांतरित करने का निर्णय लिया गया है।

नैनीडांडा के प्रधानों की समस्या का हुआ समाधान धीरेंद्र प्रताप ने टाला मुख्यमंत्री आवास पर सत्याग्रह

देहरादून। उत्तराखंड प्रदेश कांग्रेस कमेटी के उपाध्यक्ष धीरेंद्र प्रताप की पहल पर आज जिलाधिकारी पौड़ी गढ़वाल धीरज गर्व्याल और नैनीडांडा विकास खण्ड  प्रधान संघ के अध्यक्ष देवेंद्र सिंह रावत के बीच हुई वार्ता के बाद आज नैनीडांडा के प्रधानों ने अपना कार्यबहिष्कार का फैसला वापस ले लिया।

 प्रदेश कांग्रेश उपाध्यक्ष धीरेंद्र प्रताप ने उक्त जानकारी देते हुए बताया कि आज उनकी  पहल पर जिलाधिकारी पौड़ी धीरज गरबयाल और नैनीडांडा विकास खंड प्रधान संघ के अध्यक्ष देवेंद्र सिंह रावत के बीच टेलीफोन पर हुई बातचीत के बाद पिछले 3 दिनों से चल रहा पैसे के आवंटन को लेकर हुआ विवाद टल गया और जिलाधिकारी के इस आश्वासन के बाद कि सभी प्रधानों को जिन्हें  अभी तक घ्1 भी कोरोना के बाद सहायता नहीं मिली है उनको राज्य सरकार द्वारा दिए गए घ्10000 की पहली किस्त चेक के द्वारा दे दी जाएगी। यह कार्य अगले दो दिनों में संपन्न हो जाएगा। धीरेंद्र प्रताप ने कहा कि एक और सरकार दावा कर रही है कि सब प्रधानों को पैसे पहुंचा दिए गए हैं लेकिन नैनीडांडा के लोगों के इसके लिए संघर्ष करना पड़ा और उनकी मध्यस्थता के बाद आज जिलाधिकारी ने कार्यवाहक उप जिलाधिकारी और बीडीओ को निर्देश दिए  हैं कि तत्काल उनको चेक के द्वारा पैसे दे दिए जाएं ताकि कोरोना राहत कैंपों में इस विकासखंड में रहे लोगों की सभी संभावित मदद प्रधान कर सकें। धीरेंद्र प्रताप ने कहा कि पहले प्रधानों को डिजिटल पेमेंट की बात कही जा रही थी जबकि नैनीडांडा विकास खंड में नेटवर्क की समस्या सदैव बनी रहती है और यही  नही प्रधानों को इसके लिए आवश्यक डोंगल अब तक उपलब्ध नही कराए गए थे। प्रधान संघ के अध्यक्ष देवेंद्र सिंह रावत ने जिलाधिकारी धीरज गढ़वाल और कांग्रेस उपाध्यक्ष धीरेन्द्र रेंद्र प्रताप का आभार व्यक्त किया है। इसी के साथ धीरेंद्र प्रताप ने प्रधानों की मांग को लेकर मुख्यमंत्री के यहां घोषित अपने सत्याग्रह की घोषणा को भी वापस ले लिया है।

पेट्रो पदार्थों के दाम बढ़ाए जाने के विरोध में कांग्रेस ने किया धरना-प्रदर्शन

देहरादून। अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के निर्देशानुसार उत्तराखण्ड प्रदेश कमेटी के अध्यक्ष प्रीतम सिंह के आह्रवान पर आज प्रदेशभर के सभी जिला एवं शहर कांग्रेस कार्यकर्ताओं द्वारा पेट्रोल, डीजल एवं रसोई गैस की कीमतों में लगातार की जा रही बेतहाशा वृद्धि के विरोध में धरना-प्रदर्शनों का आयोजन किया गया। इसी कार्यक्रम के तहत देहरादून में महानगर कांग्रेस कमेटी के तत्वावधान में प्रदेश कांगे्रस मुख्यालय में धरने का आयोजन किया गया जिसमें प्रदेश कांगे्रस अध्यक्ष श्री प्रीतम सिंह सहित बड़ी संख्या में कांग्रेस पदाधिकारियों एवं कार्यकर्ताओं ने षिरकत की। पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के तहत बडी संख्या में प्रातः 10ः00 बजे से कांग्रेस कार्यकर्ता प्रदेष कांग्रेस कार्यालय में एकत्र हुए जहां केन्द्र की मोदी सरकार के खिलाफ नारेबाजी करते हुए पेट्रोल, डीजल एवं रसोई गैस की कीमतों में लगातार की जा रही वृद्धि का विरोध किया।

प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय में आयोजित धरने में कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए श्री प्रीतम सिंह ने केंद्र की मोदी सरकार पर जोरदार हमला बोलते हुए आरोप लगाया कि पिछले छह वर्षों में 2014 से लेकर जून 2020 तक मोदी सरकार ने देश की जनता की गाड़ी कमाई का अस्सी लाख करोड़ रुपये लूटने का काम किया है। उन्होंने कहा कि केंद्र की सरकार की बेशर्मी का आलम ये है कि कोरोना काल के पिछले तीन महीनों में पेट्रोल के दाम 21.50 घ् व डीजल के दाम 26.46 घ् बड़ा कर महंगाई व वैश्विक महामारी के दंश से दुखी जनता की कमर तोड़ने का काम किया है। श्री प्रीतम सिंह ने कहा कि कांग्रेस अब मोदी सरकार की इस लूट को बर्दाश्त नहीं करेगी और महंगाई के खिलाफ जिला ब्लॉक व न्याय पंचायत स्तर तक आंदोलन चलाया जाएगा।

कार्यक्रम के माध्यम से महानगर कांग्रेसजनों ने महामहिम राश्ट्रपति से पेट्रोल, डीजल एवं रसोई गैस की कीमतों में की गई बेतहाषा वृद्धि को वापस लेने की मांग की। कंाग्रेस ने कहा कि लाॅकडाऊन के पिछले तीन माह के दौरान पेट्रोल व डीजल पर लगने वाले केंद्रीय उत्पाद शुल्क और कीमतों में बार-बार की गई अनुचित बढ़ोत्तरी ने भारत के नागरिकों को असीम पीड़ा व परेशानियां दी हैं। जहां एक तरफ देश स्वास्थ्य व आर्थिक महामारी से लड़ रहा है, वहीं दूसरी ओर मोदी सरकार पेट्रोल व डीजल की कीमतों और उस पर लगने वाले उत्पाद शुल्क को बार-बार बढ़ाकर इस मुश्किल वक्त में मुनाफाखोरी कर रही है। मोदी सरकार द्वारा भारत के नागरिकों से की जा रही जबरन वसूली एकदम स्पष्ट परिलक्षित हो रही है।

पेट्रोल, डीजल एवं रसोई गैस की कीमतों में वृद्धि को लेकर कल महानगर कांग्रेस कमेटी द्वारा जिलाधिकारी के माध्यम से राश्ट्रपति के नाम ज्ञापन प्रेशित किया जायेगा।

कार्यक्रम मे पूर्व विधायक राजकुमार, प्रदेष महामंत्री नवीन जोशी, गोदावरी थापली, ताहिर अली, प्रदीप जोशी, प्रदेश सचिव राजेश शर्मा, अशोक वर्मा, पूर्व नेता प्रतिपक्ष नगर निगम नीनू सहगल, कमरखान, संदीप चमोली, पुश्कर सारस्वत, संजय काला, नागेष रतूड़ी, राजेश चमोली, सीताराम नौटियाल, नवीन पयाल, आनन्द बहुगुणा, कमलेष रमन, मीना रावत, नजमा खान, कोमल बोरा, दीप बोरा, रीता रानी, अनुराधा तिवारी, अर्जुन सोनकर, एतात खान, हरिप्रसाद भट्ट, आनन्द त्यागी, अनूप कपूर, मोहन गुरूंग, राजेष परमार, देवेन्द्र सती, रमेष कुमार मंगू, मुकेश सोनकर, प्रकाश नेगी, संतोश सैनी, विजय गुप्ता, प्रमोद कुमार गुप्ता, अनिल बसनेत, दिनेश कौशल, उमेश कुमार, अनिता निराला, संजय उपाध्याय, प्रदीप डोभाल, राजेन्द्र धवन, सूरज राणा, गोपाल क्षेत्री, मोहित ग्रोबर, आषीश पंवार, परविन्दर सिंह, राकेष भट्ट, राजेन्द्र चैहान, प्रियांशु छाबडा, रौबिन त्यागी, नवीन जायसवाल, हेमन्त उपे्रती, तरूण सोनी, मौ0 आरिफ, सादिक, फैजल, अजय बेलवाल, अरूण कुमार षर्मा, आषीश रतूडी, राजू बहुगुणा, जितेन्द्र बडथ्वाल, अनिल नेगी, लक्ष्मण सिंह नेगी, नरेन्द्र राणा, लड्ड जैनवाल, सिद्धार्थ वर्मा, सुभाश धस्माना, अरूण षर्मा, मधूसूदन सुन्द्रियाल, हरेन्द्र चैधरी, आजाद वर्मा, सुरेन्द्र तोमर आदि उपस्थित थे।

पीसीसी अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने प्रधानमंत्री पर साधा निशाना

देहरादून। कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने कहा कि भ्रम से ग्रसित मोदी सरकार हमारी सीमा में गलवान घाटी, पैंगोंग त्सो लेक एरिया, हॉट स्प्रिंग्स एवंडेपसाँग प्लेंस में वाई जंक्शन तक चीन की दुस्साहसपूर्ण घुसपैठ तथा हमारी सरजमीं पर चीनी कब्जे को खारिज करती आ रही है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने बयान कि ‘‘न तो हमारी सीमा में कोई (चीन) घुसा है, न ही कोई घुसा हुआ है, न ही हमारी कोई पोस्ट किसी दूसरे के कब्जे में है’’, से न केवल देश को गुमराह किया,बल्कि चीनियों के दुर्भावनापूर्ण एजेंडे को बल भी दिया। यह देश के लिए सबसे ज्यादा दुर्भाग्यपूर्ण है। पिछले कुछ सालों में चीन का शत्रुतापूर्ण व्यवहार सर्वविदित है-फिर चाहे साल 2013 में डेपसाँग प्लेंस में वाई-जंक्शन तक हमारी सरजमीं पर कब्जे का प्रयास हो (जहां सेकांग्रेसध्यूपीए सरकार के द्वारा फेस-ऑफ के बाद चीनियों को पीछे धकेल दियागया), चाहे साल 2014 में चुमार, लद्दाख में हमारे इलाके में प्वाईंट 30आर पोस्ट परचीनी कब्जा हो (जब मोदी जी अहमदाबाद में चीनी राष्ट्रपति के साथ झूलाझूलने की कूटनीति कर रहे थे) या फिर 2017 में डोकलाम प्लेटो में चीनी कब्जा।

लेकिन चारस्थानों - गलवान घाटी, पैंगोंग त्सो लेक एरिया, हॉट स्प्रिंग्स एवं डेपसाँगप्लेंस में हमारी सरजमीं पर चीनी घुसपैठ के बारे में जब भी मोदी सरकार से जवाब मांगा गया, तो भ्रम से ग्रसित मोदी सरकार एवं मानसिक संतुलन खो बैठी भाजपा भ्रामक जानकारी एवं विषय से ध्यान भटकाने का खेल खेलने लगती है। केंद्र सरकार को यह जान लेना चाहिए कि राष्ट्रहित में कांग्रेस पार्टी सदैव इन सवालों केजवाब मांगती रहेगी। हम सभी को मालूम है कि चीन के प्रति प्रधानमंत्री का हृदय नरम है। गुजरात का मुख्यमंत्री रहते भी उन्होंने चार बार चीन की यात्रा की। वो एकमात्रप्रधानमंत्री हैं, जो 5 बार चीन जा चुके हैं।देश की सुरक्षाके लिए सबसे ज्यादा चिंताजनक एवं चैंकाने वाली बात यह है कि प्रधानमंत्री मोदी द्वाराअपने पीएम केयर्स फंड (जो प्रधानमंत्री का व्यक्तिगत प्रतीत होता है) में चीनी कंपनियोंद्वारा दान स्वीकार किया गया है। पीएम केयर्स फंड के गठन एवं कार्यप्रणाली के बारे मेंकोई भी कुछ नहीं जानता। कोई भी व्यक्ति यह नहीं जानता कि इस फंड का नियंत्रणकैसे होता है और इस फंड को दिए गए पैसे का उपयोग किस प्रकार होता है। इस फंडका ऑडिट कैग या किसी भी सार्वजनिक अधिकरण द्वारा नहीं किया जाता। पीएमओ ने तोयहां तक कह दिया कि यह फंड सार्वजनिक अधिकार में नहीं है। पीएम केयर्स फंड परआरटीआई भी लागू नहीं होता। कुल मिलाकर, यह फंड केवल प्रधानमंत्री द्वारा बिना पारदर्शिता या जवाबदेही के अस्पष्ट एवं गुप्त तरीके से संचालित किया जाता प्रतीत होता है। खबरों की मानें तो 20 मई, 2020 को प्रधानमंत्री मोदी को इस विवादपूर्ण फंड में 9678 करोड़ रु. मिले। चैंकाने वाली बात यह है कि एक तरफ चीनी सेना हमारी सरजमीं पर घुसपैठ कर रही है, तो दूसरी तरफ प्रधानमंत्री चीनी कंपनियों से फंड ले रहे हैं।

डीएम ने आंगनबाड़ी कार्यकर्तियों के लिए इन्फ्रारेड थर्मोमीटर क्रय को 12.50 लाख अवमुक्त करने के दिए निर्देश 

=देहरादून। जिलाधिकारी डाॅ आशीष कुमार श्रीवास्तव ने अवगत कराया कि जनपद में कोविड-19 संक्रमण के निरन्तर बढते प्रकरणों के दृष्टिगत यह आवश्यक हो गया है कि प्रवासी व्यक्ति जो संस्थागत क्वारेंटीन से होम क्वारेंटीन के लिए तथा होम क्वारेंटीन के लिए सन्दर्भित किये गये हैं एवं ऐसे व्यक्ति जो अस्पताल से स्वस्थ होकर घर गये हों की निरन्तर सघन निगरानी की जाय, जिससे कि कोविड-19 संक्रमण के लक्षण वाले व्यक्तियों को चिन्हित कर तत्काल चिकित्सा सुविधा उपलब्ध कराई जा सके। उक्त के दृष्टिगत जिलाधिकारी डाॅ आशीष कुमार श्रीवास्तव ने कैम्प कार्यालय में आयोजित वीडियो कान्फे्रसिंग के माध्मय से जनपद में सक्रिय सामुदायिक निगरानी का कार्य (कन्टेमेंट जोन को छोड़कर) आंगनबाड़ी कार्यकर्तीध्मिनी कार्यकर्ती  द्वारा किये जाने के साथ ही प्रतिदिन सामुदायिक निगरानी एवं गम्भीर बीमारियों से ग्रस्त व्यक्तियों को चिन्हित किये जाने की सूचना आंगनबाड़ी कार्यकर्तियों द्वारा सुपरवाईजर के माध्यम से तैनात किये गये जोनल मजिस्टेªट द्वारा जिला कार्यालय को उपलब्ध करवाने के निर्देश दिये। आशा कार्यकर्तियों द्वारा मातृ  एवं शिशु, स्वास्थ्य, टीकाकरण एवं गैर संचारी रोगों से ग्रस्त (एन.सी.डी)  व्यक्तियों तथा स्वास्थ्य सम्बन्धी अन्य कार्य किया जायेगा। आशा कार्यकर्तियों के द्वारा प्रतिदिन  किये जा रहे कार्यों की सूचना ब्लाॅक समन्वयक् के माध्यम से जिला कार्यक्रम प्रबन्धक द्वारा जिला कार्यालय को उपलब्ध कराई जायेगी। प्रान्तीय रक्षक दल के स्वयं सेवकों द्वारा होम क्वारेंटीन किये गये व्यक्तियों के घर इस आशय से तैयार किये गये स्टीकर चस्पा किये जायेंगे। जिला युवा कल्याण अधिकारी प्रतिदिन इसकी सूचना जिला कार्यालय को उपलब्ध करायेंगे। जिलाधिकारी डाॅ आशीष कुमार श्रीवास्तव द्वारा  जनपद के नगरीय क्षेत्र एवं विकासखण्ड रायपुर, डोईवाला, सहसपुर, विकासनगर में सक्रिय सामुदायिक निगरानी के कार्य हेतु तैनात आंगनबाड़ी कार्यकर्तियों के लिए इन्फ्रारेड थर्मोमीटर क्रय किये जाने हेतु कुल धनराशि रू0 12.50 लाख अवमुक्त करने हेतु मुख्य चिकित्साधिकारी को निर्देशित किया। इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी नितिका खण्डेलवाल, अपर जिलाधिकारी (विध्रा) बीर सिंह बुदियाल, जिला कार्यक्रम अधिकारी अखिलेश मिश्रा सहित वीडियो कान्फे्रंसिंग के माध्यम समस्त उप जिलाधिकारी एवं ब्लाक समन्वयक मौजूद रहे।  

------------------------------------------------------

देहराूदन जिले में कोरोना संक्रमितों की संख्या 677 पहुंची

देहरादून। जिलाधिकारी डाॅं0 आशीष कुमार श्रीवास्तव ने बताया है कि जनपद में कोरोना वायरस संक्रमण के दृष्टिगत 165 सैम्पल जांच हेतु भेजे गये जिनमें 10 व्यक्तियों की रिपोर्ट पाॅजिटिव आने के फलस्वरूप जनपद में कोरोना पाॅजिटिव संक्रमितों की संख्या 677 हो गई है, जिनमें 99 व्यक्ति वर्तमान में उपचाररत् हैं। इसके अतिरिक्त जनपद में आज कुल 231 व्यक्तियों के सैम्पल लिये गये तथा 10 व्यक्तियों की रैण्डम सैम्पलिंग की गयी।

आशा कार्यकर्तियों की द्वारा जनपद देहरादून अन्तर्गत बनाये गये विभिन्न कन्टेंमेंट जोन में  व्यक्तियों की सामुदायिक निगरानी का कार्य किया जा रहा है जिसके अन्तर्गत आतिथि तक 17235 व्यक्तियों का फोलाअप किया जा चुका है। आंगनबाड़ी कार्यर्तियों द्वारा आतिथि तक जनपद अन्तर्गत को-मोर्बिडिटी अवस्था के  3382  व्यक्तियों को चिन्हित किया गया है। अन्य राज्यों से जनपद में पंहुचे कुल 434 व्यक्तियों को स्वास्थ्य परीक्षण के उपरांत क्वारेंटीन किया गया। आज को-मोर्बिडिटी माॅनिटरिंग और सर्विलांस कन्ट्रोलरूम से  को-मोर्बिडिटी अवस्था वाले कुल 399 व्यक्तियों से दूरभाष पर सम्पर्क कर उनके स्वास्थ्य के सम्बन्ध में जानकारी प्राप्त की गयी।

कोविड-19 संक्रमण की रोकथाम एवं नियंत्रण हेतु समस्त मेडिकल स्टोर पर बिना चिकित्सक के परामर्श की पर्ची के सर्दी, खांसी व जुकाम की दवाईयों का विक्रय प्रतिबन्धित किये जाने के उपरान्त समस्त मेडिकल स्टोर स्वामियों द्वारा जनपद में कुल 66 व्यक्तियों को चिकित्सकीय पर्ची के आधार पर सर्दी, खांसी व जुकाम की दवाईयां विक्रय की गयी। आज विभिन्न चिकित्सालयोंध् स्वास्थ्य कार्मिकों को 30 एन-95 मास्क, 160 ट्रिपल लेयर मास्क, 66 सेनिटाइजर, 45 सर्जिकल गलब्स,वितरित किये गये।

21 मोबाइल वैन के माध्यम से 127 क्विंटल फल-सब्जियों का विक्रय किया गया

देहरादून। जिलाधिकारी डाॅ आशीष कुमार श्रीवास्तव ने अवगत कराया है कि कोविड-19 के संक्रमण के दृष्टिगत  जिला प्रशासन द्वारा आज जनपद के विभिन्न चयनित स्थानों पर अधिकृत 21 मोबाईल वैन के माध्यम से 127 क्विंटल फल-सब्जियों का विक्रय किया गया। जिला प्रशासन द्वारा बनाये गये विभिन्न कन्टेंमेंट जोन में दुग्ध विकास विभाग द्वारा दुग्ध उत्पाद का वितरण किया गया, जिनमें वीरभद्र ऋषिकेश में 15 ली0, भरत विहार लेन न0 4 में 10 ली0, भागीरथी पुरम में 15 ली0, गीता नगर गली न.01 में 10 ली0,  वीरपुर खुर्द्ध ऋषिकेश में 10 ली0 नगर निगम देहरादून क्षेत्रातंर्गत मोहनी रोड़ में 15 ली0, पूर्वी पटेलनगर में 15 ली0, खुड़बुड़ा में 10 ली0, राम विहार बल्लपुर में 10 ली0 बसंत विहार में 15 ली0, सहित कुल  125 ली0 दूध विक्रय किया गया।

जिला प्रशासन की टीम द्वारा स्वयंसेवी संस्थाओं के सहयोग से जनपद अन्तर्गत विकासखण्ड चकराता, विकासनगर, सहसपुर, रायपुर व डोईवाला एवं तहसील सदर में कुल 91 निराश्रित पशुओं जिसमें, 81 गौवंश एवं 10 अन्य पशुओं को चारा व पशु आहार उपलब्ध कराया गया। प्रधानमंत्री जनधन खाताधारकों द्वारा जनपद में विभिन्न बैंकों से 1777 लाभार्थियों द्वारा अपने जनधन खाते से धनराशि की निकासी की गयी। जनपद में विभिन्न विकासखण्डवार मनरेगा कार्यों के अन्तर्गत आतिथि तक 1476 निर्माण कार्य प्रारम्भ किये गये, जिनमें 20359 श्रमिकों को सैनिटाईजेशन एवं सामाजिक दूरी का अनुपालन करवाते हुए उक्त कार्य में योजित कर रोजगार उपलब्ध कराया गया। जनपद में कोरोना वायरस से संक्रमण के प्रसार को रोके जाने के दृष्टिगत सोशल डिस्टेंसिंग रखते हुए निबन्धन कार्यालयों में आज जन सामान्य द्वारा कुल 157 लेख पत्रों का पंजीकरण (रजिस्ट्री) कराई गयी, जिससेे रू0 119.12 लाख का राजस्व प्राप्त हुआ। वायु सेवा के माध्यम से जौलीग्रान्ट एयरपोर्ट पर पंहुचे 220 प्रवासी  व्यक्तियों को स्वास्थ्य जांच उपरान्त जनपद में क्वारंटाइन किया गया है। इसी प्रकार जनपद के जौलीग्रान्ट एयरपोर्ट से विभिन्न प्रदेशों के 174 व्यक्तियों को गंतव्यों हेतु भेजा गया।

प्रदेश में कोरोना संक्रमितों की संख्या 2831 पहुंची

देहरादून। उत्तराखंड में हर दिन कोरोना संक्रमित मरीज सामने आ रहे हैं। सोमवार को प्रदेश में आठ नए कोरोना संक्रमित मरीज सामने आए हैं। इसके साथ ही अब प्रदेश में संक्रमित मरीजों की संख्या 2831 पहुंच गई है। 

स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी हेल्थ बुलेटिन के अनुसार, देहरादून में चार, नैनीताल में दो और ऊधमिसंह नगर में दो मामले सामने आए हैं। अब तक प्रदेश में 2111 संक्रमित मरीज ठीक होकर घर लौट चुके हैं। अभी भी 659 एक्टिव केस हैं। जबकि अब तक 39 कोरोना संक्रमित मरीजों की मौत हो चुकी है। यूपी हरदोई से देहरादून आकर घर में होम क्वारंटीन सब्जी विक्रेता की सोमवार को संदिध हालात में मौत हो गई। पुलिस को आशंका है कि अत्यधिक शराब पीने से उसकी जान गई है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में मौत के सही कारणों का पता लग पाएगा। नेहरू कॉलोनी पुलिस को सोमवार सुबह 112 कंट्रोल रूम से सूचना मिली कि रिस्पना नगर में शोभित (26) पुत्र राजबहादुर निवासी गोरा डांडा सिनोहरी, जिला हरदोई अपने कमरे में मृत अवस्था में मिला है। थानाध्यक्ष दिलबर नेगी ने जांच पड़ताल के बाद बताया कि शोभित 23 जून को अपने घर हरदोई से आया था, तब से वह घर में क्वारंटीन था। आसपास के लोगों न बताया कि सब्जी विक्रेता ने रात में शराब का सेवन किया था। रात में उसे पेट मे दर्द की शिकायत हुई थी। 

विभिन्न मांगांे को लेकर भेल की ग्यारह यूनियनों ने किया संयुक्त रूप से विरोध प्रदर्शन  

हरिद्वार। भेल में कार्यरत 11 यूनियनों इटंक (हीप व सीएफएफपी), एटक (हीप व सीएफएफपी), एचएमएस (हीप व सीएफएफपी), सीटू, बीएमटयू, बीकेयूएम, बीकेएस, बीकेकेएमएस  संयुक्त रूप से भेल हरिद्वार में भेल प्रबंधन के खिलाफ विरोध-प्रदर्शन किया। सीएफएफपी गेट पर प्रदर्शन करते हुए यूनियनों  के पदाधिकारियों  ने सीएफएफपी गटे पर भेल के कॉर्पोरटे स्थानीय प्रबंधन खिलाफ जोरदार नारेबाजी कर अपना विरोध जताया दूरी का विशेष ध्यान रखा गया। 

प्रदर्शन के दौरान विशेष तौर पर अपनी मांगों को शामिल करते हुए यूनियनों के पदाधिकारियों ने कहा कि भेल प्रबंधन द्वारा श्रमिकों के वेतन में से 50ः पर्क कटौती को बंद किए जाने के लिए तथा 100ः पर्क का भुगतान किए जाने तथा 2018 - 19  के बोनस एसआईपी की दूसरी किस्त का भुगतान जल्द किया जाए। इतना ही नहीं भेल प्रबंधन द्वारा कैंटीन सब्सिडी को खत्म करने के प्रस्ताव को निरस्त किया जाए। वर्षों से शिथिल पड़ी इंसेंटिव स्कीम को रिवाइज किए जाने की मांग को लेकर साथ ही श्रमिकों के लैपटॉप प्रतिपूर्ति को बहाल किया जाए। डीए वृद्धि को बहाल किया जाए।  पीपी भुगतान के लिए जेसीएम की बैठक शीघ्र अति शीघ्र बुलाई जाए और भेल का विनिवेशीकरण नहीं किया जाए। 

प्रदर्शन के दौरान इंटक हीप के महामंत्री राजवीर सिंह, एचएमएस ,हीप के महामंत्री मनीष सिंह, एटक (सीएफएफपी ) के महामंत्री सौरभ त्यागी,सीटू के अध्यक्ष वीरेंद्र नेगी, एटक (हीप ) के महामंत्री संदीप चैधरी, बीएमटीयू के महामंत्री अवधेश कुमार, बीयूकेएम के  का. अध्यक्ष रितेश सिंघल ,इंटक (सीएफएफपी ) के अध्यक्ष सुक्रमपाल  सिंह, एटक ( सीएफएफपी ) के का. अध्यक्ष आईडी पंथ, इंटक  (सीएफएफपी ) के महामंत्री के पी सिंह ,एटक हीप के अध्यक्ष मनमोहन कुमार, सीटू  के सुरेंद्र कुमार, बीएमटीयू के का. अध्यक्ष निशु कुमार  सहित विभिन्न यूनियनों के मुकुल राज ,रवि प्रताप राय ,नईम  खान,अमृत रंजन ,प्रेम चाँद सिमरा ,अश्वनी चैहान , जितेंद्र पटेल, सुनील कुमार, संकल्प त्यागी ,अजीत सिंह, दीपक कुमार, राम सजीवन, सुनील कुमार आदि उपस्थित रहे। 

नशे के व्यवसाय को समाप्त करने के लिए जनता सहयोग आवश्यकः एसएसपी  

-भारतीय जागरूकता समिति द्वारा आयोजित नशे पर वेबिनार में बोले पुलिस अधिकारी 

 

हरिद्वार। भारतीय जागरूकता समिति ने हरिद्वार पुलिस के साथ नशे पर वेबिनार का आयोजन किया गया। जिसमे एसएसपी हरिद्वार सेंथिल अबुदई कृष्ण राज एस, कमलेश उपध्याए एस पी सिटी हरिद्वार, आयुष अग्रवाल एस पी क्राइम हरिद्वार एवं  हाई कोर्ट के अधिवक्ता ललित मिगलानी शामिल रहे।  जिन्होंने नशे के दुष्प्रभाव पर सभी महत्वपूर्ण पहलू पर चर्चा हुई। 

एसएसपी हरिद्वार सेंथिल अबुदई कृष्ण राज एस ने वेबिनार में कहा हरिद्वार पुलिस नशे के व्यवसाय को हरिद्वार जिले से समाप्त करने के लिए तत्पर तैयार हैप् उनके इस प्रयास के लिए जनता का भी सहयोग चाहिये। अगर कही भी नशे से सम्बंधित कोई भी गतिविधि होती है तो तुरंत पुलिस को सूचित करे। पुलिस उस पर तुरंत कार्यवाही करेगी युवा वर्ग से एसएसपी महोदय ने अपील की वो नशे से दूर रहेप्  

आयुष अग्रवाल एस पी क्राइम हरिद्वार ने नशे के दुष्प्रभाव के बारे में और नशा मुक्ति केंद्र के बारे में डिटेल में जानकारी दीप् अग्रवाल ने बताया की अगर किसी भी व्यक्ति को कोई भी गतिविधि नशे से सम्बंधित दिखती है तो वो 8864882100 पर कॉल कर पुलिस को सूचित कर सकता है संबधित व्यक्ति की पहचान गुप्त रखी जाती हैप्

हाई कोर्ट के अधिवक्ता ललित मिगलानी ने बताया की नशे से सम्बंधित प्रदार्थ को खरीदना एम् बेचना दोनों कानून की नजर में अपराध हैप् जिसमे सजा 10 साल से उपर की हो सकती हैप् नशा व्यक्ति को अंदर से खोखला कर देता है और उसको कमजोर बनता है जिससे व्यक्ति की अंदुरनी ताकत खतम हो जाती हैप्

कमलेश उपध्याय एस पी सिटी हरिद्वार ने कहा की नशे के व्यवसायी अपना लक्ष्य युवा पीडी को बनाते हैप् जिस कारण युवा वर्ग इसमें ज्यादा प्रभावित होता हैप् नशे को युवा वर्ग अपना शोक समझते है जबकि वो उनके लिये जहर होता हैप् समाज का युवा वर्ग खड़ा हो तो समाज निश्चित रुप से नशा मुक्त हो सकता हैप्

भारतीय जागरूकता समिति के उपाध्यक्ष नितिन गौतन एम् आशु चैधरी ने बताया की समाज में नशा एक विकराल रूप ले रहा हिया जिसमे समाज का हर वर्ग प्रभावित हो रहा हैप् इस लिये समाज में नशे के दुष्प्रभाव के बारे में जागरूक करना अति आवश्यक है इस लिए कल इस वेबिनार का आयोजन किया जा रहा है। वेबिनर का संचालन शिवानी गौड़ एम् विनायक गौड़ द्वारा किया गया। वेबिनार में डॉ सुनील बत्रा, संदीप खन्ना, अंजलि महेश्वरी, संजीव नैयेर, आशु चैधरी, नितिन गौतम, यश लालवानी, सीमा पटेल, अंशु चैधरी, अर्चना शर्मा, विनीता गोनीयल, रीता चमोली विनीत चैहान, शुभम, सिधार्थ परधान, विजेंद्र पालीवाल, अर्पिता सक्सेना, अंशु तोमर, उपासना चैहान, दीपाली शर्मा, अर्चना लोहनी, पुनम भाजपाई, डॉ अनुराधा, हिमांशु चोपड़ा, मोहित भरद्वाज, वर्षा श्रीवास्तव, पी.के श्रीवास्तव, भूपेश चन्द्र पांडे, सपना अग्रवाल, विपुल कुमार गोय, कमल कुरुक्षेत्र, पंडित विशाल शर्मा, मधुसुधन अग्रवाल, नेहा मलिक, करुणा शर्मा, नीरू जैन, मंजुला भगत, योगी रजनीश, रानी, पंकज, ममता, चंद्रकला आदि प्रतिभाग किया और सबका धन्यवाद किया गया।

---------------------------------------------

पिछले 6 साल से केंद्र की भाजपा सरकार देश की जनता पर कई तरह के टैक्स लाकर अत्याचार कर रहीः संजय पालीवाल  

हरिद्वार। महानगर कांग्रेस कमेटी,हरिद्वार के तत्वाधान में आज प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष प्रीतम सिंह के निर्देश पर केंद्र व राज्य की भाजपा सरकारों द्वारा पेट्रोल,डीजल और घरेलू गैस पर लगातार बढ़ाई जा रही कीमतों के खिलाफ पुरानी कचहरी के बाहर देवपुरा में सोशल डिस्टेंस का पालन करते हुए प्रदर्शन किया गया तथा सरकारों से मूल्य कम करने के लिए प्रदर्शन किया।इसके पश्चात राष्ट्रपति को पेट्रोल डीजल घरेलू गैस की लगातार की जा रही बढ़ोतरी को वापस लेने के लिए सिटी मजिस्ट्रेट के माध्यम से ज्ञापन भी दिया गया।

इस अवसर पर बोलते हुए प्रदेश महासचिव डॉ संजय पालीवाल ने कहा कि पिछले 6 साल से केंद्र की भाजपा सरकार देश की जनता पर तरह तरह के टैक्स लाकर अत्याचार कर रही है।अब लाक डाउन में जबकि देश की जनता भूखी मर रही है उस पर तालिबानी आदेश की तरह दिन प्रतिदिन पेट्रोल डीजल के दाम बढ़ाकर देश में महंगाई चरम सीमा पर पहुंचा दी है जिससे आम आदमी का जीना दूभर हो गया है।

महानगर अध्यक्ष संजय अग्रवाल ने कहा कि आज देश की जनता को आर्थिक मदद की आवश्यकता है। कांग्रेस पार्टी ने मांग की थी कि गरीबों के खाते में ₹6000 प्रतिमाह आर्थिक मदद दी जानी चाहिए परंतु दिन प्रतिदिन नए-नए टेक्स लगाकर गरीबों का खून चूसा जा रहा है इस पर लगाम लगानी चाहिए।पूर्व प्रदेश सचिव महेश राणा,महावीर वशिष्ठ,अनुज सिंह, हाजीशहाबुद्दीन ने संयुक्त रूप से कहा कि जब तक केंद्र की भाजपा सरकार द्वारा मंहगाई कम नहीं  की जाती कांग्रेस पार्टी लगातार इसका विरोध करेगी तथा इस लड़ाई में देश की जनता के साथ खड़ी है। कार्यक्रम में ओ.पी.चैहान, रामयश सिंह,विकास चैधरी, राजवीर सिंह श्रमिक नेता, यशवंत सैनी,रवि कश्यप, शुभम अग्रवाल,गुलबीर सिंह, शैलेंद्र एडवोकेट,कैलाश प्रधान,जटाशंकर श्रीवास्तव,विकास सिंह,नईम कुरैशी,हाजी रफी खान, नावेद अब्बासी,संगम शर्मा,प्रदीप आहूजा,दिनेश पुंडीर,धर्मपाल ठेकेदार,त्रिपाल शर्मा,बीके सिन्हा,प्रदीप अग्रवाल,शिव कुमार जोशी,एल एस रावत,अरविंद चैहान,पंडित नवीन शर्मा,सुनील कुमार, मनजीत नौटियाल, जफर अब्बासी,सचिन कुमार,संजय भारद्वाज,अमित राजपूत,कैश खुराना,जगदीश असवाल, मनोज जाटव,मनीराम बागड़ी,विजय कुमार,मनोज जाटव, आदि उपस्थित रहे। 

खनन पट्टो पर जिलाधिकारी ने लगाई अगले आदेशों तक रोक   

हरिद्वार। जिलाधिकारी हरिद्वार सी0 रविशंकर ने निदेशक भूतत्व एवं खनिकर्म ईकाई, उद्योग निदेशालय उत्तराखण्ड के निर्देशानुसार तथा वर्षा ऋतु में गंगा एवं सहायक नदियों के जलस्तर में वृद्धि होने के दृष्टिगत जनपद में संचालित समस्त आर0बी0एम0 चुगानध्मिट्टी खुदाई हेतु निर्गत अनुज्ञा पत्रध्अनुमति पर 30 जून 2020 के सूर्यास्त के पश्चात् अग्रिम आदेशों तक रोक लगा दी है। समस्त पट्टाधारकध्अनुज्ञाधारक 30 जून 2020 के सूर्यास्त के पश्चात तत्काल खनन कार्य बन्द करना सुनिश्चित करंेगे। आदेशों का उल्लंघन पाये जाने पर अवैध खनन माना जायेगा तथा उत्तराखण्ड उप खनिज परिहार नियमावली एवं भारतीय दण्ड संहिता के सुसंगत प्राविधानों के अन्तर्गत कार्यवाही अमल में लायी जाएगी।

प्रदेश व्यापार मण्डल (संजीव) ने अधिवक्ताओ के धरने को दिया समर्थन  

हरिद्वार। प्रदेश व्यापार मण्डल के एक प्रतिनिधी मण्डल ने प्रदेश अध्यक संजीव चैधरी के नेतृत्व मे रोशनबाद मे चल रहे अधिवक्ताओ के धरने को समर्थन दिया।

समर्थन देते हुए प्रदेश अध्यक संजीव चैधरी ने कहा की मार्च से वकीलो का काम बंद पड़ा हुआ है और अभी तक वकीलो के काम शुरू होने को कोई उम्मीद दिखाई नहीं दे रही है वकीलों के परिवारो की हालत ख़राब है बिजली पानी के बिल और बच्चे की फीस के साथ साथ खाने पीने की भी परेशानी अब सभी को होने लगी है सरकार अब कोर्ट खोल दे जिससे सब का जीवन ठीक प्रकार से चल सके।

धरने को सम्बोधित करते हुए जिला महामंत्री डाव विशाल गर्ग ने कहा की जब देश मे सभी कुछ खुल गया है तो अब अधिवक्ताओ के परिवार की हालत ख़राब हो गई तो अब उनको भी अब राहत दी जानी चाहिए। धरने को सम्बोधित करते हुए महानगर अध्यक मयंकमूर्ति भट्ट व शहर सचिव शिवालिंक आकाश सेनी ने कहा की अधिवक्ता हमारे समाज का महत्वपूर्ण अंग है और वो आज परेशानी मे है इस लिए कोर्ट खुलने चाहिए जिससे उनके परिवारो का भी जीवन अच्छे से चल रहे।धरना संयोजक एडवोकेट अरविन्द श्रीवास्तव ने व्यापारीयो को धन्यवाद करते हुए कहा की ये जीवन गुजारने की लड़ाई है और समाज के हर वर्ग का हमको समर्थन मिल रहा है। समर्थन देने वालो मे अध्यक सुभाष संजीव वर्मा,वीर गुजर,विपिन सेनी,अरविन्द चैधरी,विजय धिमान व संजीव कुमार आदि उपस्थित रहे।

आईआईटी रुड़की ने लांच किया आईआईटी रुड़की एलुमनी का ग्लोबल नेटवर्क

रुड़की। आईआईटी रुड़की ने दुनिया भर में रहने वाले अपने एलुमनी के साथ एक व्यापक संबंध स्थापित करने के लिए आईआईटी रुड़की एलुमनी का ग्लोबल नेटवर्क लांच किया है। यह संस्थान और उसके एलुमनी के एक व्यापक और सटीक एलुमनी डेटाबेस की जरूरत को पूरा करेगा। इसके अलावा, कई एलुमनी एक ऐसे नेटवर्क की मांग कर रहे थे जो उन्हें एलुमनी को खोजने और उनके साथ जुड़ने में मदद कर सकता हो। साथ ही एक ही प्लेटफॉर्म के माध्यम से संस्थान के साथ संवाद करने की सुविधा भी प्रदान करता हो। ग्लोबल नेटवर्क इस जरूरत को भी पूरा करने की कोशिश करेगा। यह ग्लोबल नेटवर्क, थॉमसन कॉलेज ऑफ सिविल इंजीनियरिंग से यूनिवर्सिटी ऑफ रुड़की और अब आईआईटी रुड़की की यात्रा को संजोकर रखने में योगदान देगा। वर्ष 1847 में स्थापित इस संस्थान के शानदार इतिहास का हिस्सा रहे एलुमनी की पुरानी और नई पीढ़ियों को एक प्लेटफॉर्म पर लेकर आएगा। आईआईटी रुड़की एलुमनी का यह ग्लोबल नेटवर्क एलुमनी वालंटियर्स द्वारा संचालित किया जाएगा।

नेटवर्क के कार्यान्वयन में प्रावधान बनाए जाएंगे ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि सदस्यों की गोपनीयता संबंधी चिंताओं का पूरी तरह से ध्यान रखा जाए। इसके अलावा, सदस्यों के पास अपनी इच्छा के अनुसार संदेशों और सेवाओं की सदस्यता शुरू और समाप्त करने का विकल्प होगा। डेटाबेस की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए विशेष ध्यान रखा जाएगा। नेटवर्क की सदस्यता से कई लाभ मिलेंगे। उदाहरण के लिए, नेटवर्क की लाइफ मेंबरशिप फ्री होगी। सभी सदस्यों को एक पहचान पत्र जारी किया जाएगा। सदस्यों के पास दुनिया भर के लोकल, रीजनल और नेशनल नेटवर्क पर एलुमनी के साथ सोशल और प्रोफेशनल नेटवर्किंग के अवसर होंगे। यह संकट में फंसे किसी एलुमनी या उसके परिवार के लिए, उनके सहयोगी एलुमनी से मदद जुटाने के लिए एक प्रणाली का निर्माण करेगा। सदस्यों के पास स्टूडेंट्स मेंटोरशिप प्रोग्राम्स, इंटर्नशिप और संस्थान की अन्य गतिविधियों जैसी योजनाओं में भाग लेने और योगदान करने के अवसर होंगे। सदस्यों को ई-न्यूजलेटर्स के माध्यम से एलुमनी और अल्मा मेटर के बारे में नियमित अपडेट प्राप्त होगा। नेटवर्क में उत्कृष्ट योगदान देने वाले सदस्यों को उपयुक्त रूप से मान्यता दी जाएगी। पहचान पत्र धारकों के लिए विभिन्न संगठनों के उत्पादों और सेवाओं के लिए विशेष छूट की सुविधा दी जाएगी।पहचान पत्र सदस्यों को परिसर में सुचारू रूप से प्रवेश करने में मदद करेगा।

उपलब्धता के अनुसार, सदस्य रियायती दर पर आईआईटी रुड़की के गेस्टहाउस सुविधा का लाभ उठा सकते हैं। सदस्यों को एक ही प्लेटफॉर्म के माध्यम से डीन, हेड ऑफ डिपार्टमेंटध्सेंटर, विशेष क्षेत्र में विशेषज्ञता वाले फैकल्टी या संस्थान के कार्यालय से जुड़ने का अवसर मिलेगा। जहां भी संभव हो, सदस्यों के लिए पुस्तकालय सेवाओं का विस्तार करने की संभावना का पता लगाया जाएगा। अनुरोध पर, सदस्यों को स्थापना दिवस, स्वतंत्रता दिवस या गणतंत्र दिवस के अवसर पर आमंत्रित किया जाएगा।

सदस्य रविवार को परिसर के दौरे के लिए अनुरोध कर सकते हैं। परिसर के दौरे में जेम्स थॉमसन बिल्डिंग, हैंगर, इंस्टीट्यूट आर्काइव, मेडलिकॉट म्यूजियम और महात्मा गांधी सेंट्रल लाइब्रेरी के दौरे शामिल होंगे। अनुरोध कम से कम एक सप्ताह पहले किया जाना चाहिए। इस अवसर पर, आईआईटी रुड़की के निदेशक प्रो. अजीत चतुर्वेदी ने कहा, “इस डिजिटल युग में, सोशल और प्रोफेशनल नेटवर्किंग के संबंध में काफी बदलाव आया है। सूचना प्रौद्योगिकी ने एक पदानुक्रमित और नौकरशाही प्रणाली के बजाय एक सीधा और कुशल मंच के लिए एलुमनी और स्टूडेंट्स की अपेक्षाओं को बढ़ाया है। वे एक-दूसरे के साथ और संस्थान के साथ भी जुड़ना चाहते हैं।”

उन्होंने कहा “यह देश में संभवतरू अपनी तरह का पहला नेटवर्क होगा। हमें विश्वास है कि यह नेटवर्क अन्य शैक्षणिक संस्थानों में लागू किए जाने में भी सक्षम होगा।” 

राजीव घई ने डीजल व पेट्रोल के दाम कम करने की मांग की

देहरादून। उत्तरांचल पंजाबी महासभा के प्रदेश अध्यक्ष राजीव घई और पूर्व अध्यक्ष केजीसीसआई ने कहा कि केंद्र सरकार नें डीजल और पेट्रोलियम में हैवी ड्यूटी लगाकर कीमत कुछ कम नहीं की गई जबकी अंतर्राष्ट्रीय बाजार में तेल  की कीमतें गिर रहीं थी आज कच्चे तेल की कीमत बढ़ गई है, सरकार को कोरोना महामारी पर मद्देनजर रखते हुए डीजल की कीमत कम करने चाहिए थीं लेकिन ऐसा नही हुआ, यह जनता के हित में नहीं है।

सरकार ने धान कर मुल्य 1 रुपए प्रति क्विंटल बढ़ाया, डीजल के भाव लगातार बढ़ने से किसानों की कमर टूट गई, इसका असर सीधा खेती पर पड़ता है। डीजल के दाम बढ़ने से महंगाई तेजी से बढ़ रही है जिससे आम आदमी का जीना दुर्लभ हो गया है। उपमा के जीव एसव आनंद जी प्रदेश संगठन मंत्री व गढ़वाल प्रभारी ने कहा कि कोरोना काल में देश आर्थिक स्थिति से गुजर रहा है, ऐसे में डीजल का दाम बढ़ना ठीक नहीं है, व्यापारियों और उपभोक्ताओं को डीजल के बड़े हुए दामों से कोरोना काल के संकट मे आर्थिक समस्याओं का सामना करना पड़ेगा। सरकार को उचित निर्णय लेना चाहिए और डीजल के दाम कम करने चाहिये।

गम्भीर आरोपों से घिरी कांग्रेस के नेता नौटंकी में व्यस्त, कोरोना काल में कर रहे नियमों का उल्लंघनः भाजपा

देहरादून। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष बंशीधर भगत ने कहा है चीन से पैसा लेने, प्रधानमंत्री राष्ट्रीय राहत कोष से जनता का धन अपने घरेलू राजीव गांधी फाउंडेशन में डालने व चीन की हिमायत करने जैसे गम्भीर मामलों से घिरी कांग्रेस के नेता जनता का ध्यान हटाने के लिए नौटंकी करने में जुटे हैं। लेकिन जनता इनके भ्रम में आने वाली नहीं है। एक बयान में भाजपा प्रदेश अध्यक्ष बंशीधर भगत ने कहा कि कांग्रेस नेता पूर्वमुख्य मंत्री हरीश रावत द्वारा जो बैलगाड़ी रैली निकाली गई और प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह द्वारा प्रेस वार्ता में अनर्गल आरोप लगाए जा रहे हैं वे एक हास्यास्पद  संदेश दे रहे हैं। क्योंकि आज करोना काल में जहां देश एक तरफ कोविड-19 जैसी महामारी से लड़ रहा है और पूरे देश व प्रदेश की सरकारें जहां सोशल डिस्टेंस का पालन करते हुए विकास को पटरी ला रही हैं वहीं कांग्रेस नेता अपने कार्यकर्ताओं के साथ  कोविड-19 के नियमों की धज्जियां उड़ा रहे हैं सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं कर रहे हैं। जहां तक पेट्रोल की कीमत का सवाल है उनको यह रैली राजस्थान राज्य में निकालनी चाहिए जहां उनकी सरकार है वहां आज पेट्रोल की रेट पूरे भारत में सबसे ज्यादा हैं।

  श्री भगत ने कहा है कि कांग्रेस के बड़े नेता राहुल बाबा जो आज कांग्रेस के कार्यकर्ताओं से धरना प्रदर्शन करने का आह्वान कर रहे हैं वह एक नकारात्मक सोच का परिचय दे रहे हैं जबकि यह समय विरोध व प्रदर्शन करने का नहीं है देश के साथ खड़ा होकर देश हित में कार्य करना चाहिए। बंशीधर भगत ने कहा जहां तक कांग्रेस पार्टी का सवाल है कांग्रेस  हर समय कोई भी मुद्दा हो चाहे वह राष्ट्रीय सुरक्षा से संबंधित हो या कोविड-19 जैसी महामारी बीमारी लड़ने का विषय हो वह अपनी नकारात्मक सोच से मीडिया में बने रहने के लिए अपने अस्तित्व को तलाश रही है। आज कांग्रेस को आम जनता ने अपने दिल और दिमाग से हटा लिया है तो वह इस प्रकार की सस्ती राजनीति कर अपने आप को जीवित रखना चाहती है। बंशीधर भगत ने कहा है कि आज पूरा देश लॉकडाउन के बाद अब अनलॉक डाउन की ओर बढ़ रहा है इसलिए कोरोना से हम सबको बचाव के लिए बनाए गए नियमों को पूर्ण रुप से पालन करना चाहिए या सही है कि एक बड़े कालखंड में हम लोगडाउन के चलते घर पर रहकर हमारी दिनचर्या प्रभावित जरूर हुई है इससे कहीं ना कहीं राष्ट्र व प्रदेश के व्यक्ति को आर्थिक व मानसिक रूप से बड़ा प्रभाव पड़ा है इस वक्त चाहे वह विपक्ष हो या कोई राजनीतिक संगठन सामाजिक संगठन हो उसे कोरोना नियंत्रण सभी नियमों का पूर्ण रुप से पालन करते हुए तथा सकारात्मक सोच के साथ राष्ट्र हित में कार्य करना चाहिए।

कोरोना वारियर्स सम्मान से डॉ. त्रिलोक सोनी को प्रधान व क्षेत्र पंचायत सदस्यों ने किया सम्मानित

देहरादून। वैश्विक महामारी कोरोना के कारण जहां शहरी क्षेत्र के लोग प्रभावित हुए हैं वही गांव के लोग भी कोविड-19 से चिंतित हैं। ऐसे में गांव के लोगों को हिम्मत जुटाने के लिए लंबे समय से पर्यावरण के क्षेत्र में कार्य कर रहे पर्यावरणविद् वृक्षमित्र डॉ त्रिलोक चंद्र सोनी ने अपनी भूमिका निभाते हुए लॉकडाउन में टिहरी जिले में ग्राम पंचायत मरोड़ा, ग्राम पंचायत लामकाण्डे, ग्राम पंचायत हटवालगांव व चम्बा ब्लॉक का दूरस्थ गांव बनाली के गांव के लोगों को कोरोना महामारी से बचाव के लिए मास्क पहनने, सामाजिक दूर बनाये रखने, समय-समय पर हाथ धोने, गांव में स्वच्छता के लिए जागरुक व प्रेरित करने के साथही गांव के लोगों के लिए मास्क, सेनेटाइजर का वितरण भी किया। पर्यावरणविद् डॉ त्रिलोक चंद्र सोनी को क्षेत्र पंचायत सदस्य हटवालगांव सरिता रावत व प्रधान मरोड़ा नीलम देवी ने कोरोना वारियर्स सम्मान से सम्मानित किया।

       पर्यावरणविद् डॉ त्रिलोक चंद्र सोनी ने कहा मानव जीवन अनमोल है और प्रकृति ने इस धरा में मनुष्य को एक दूसरों के साथ भाईचारे व दुःख सुख निभाने को भेजा है लेकिन मनुष्य अपने स्वार्थ के कारण सब कुछ भूल गया है जिस कारण ऐसे महामारी जन्म ले रही है जो बहुत ही चिंतनीय विषय है। समय रहते हमे सतर्क होनी की जरूरत हैं। मैं अपना सौभाग्य समझता हूं कि मेरे हृदय में मानव सेवा बसी हैं जिसे में निभा रहा हूं। सरिता रावत क्षेत्र पंचायत सदस्य ने कहा ऐसे बहुत कम लोग होते हैं जो दूसरों के खुसी में जीना पसंद करते हैं उन्ही में डॉ सोनी भी हैं जिन्होंने अपना जीवन पर्यावरण के साथ मानव सेवा में लगाया हैं मुझे खुसी हैं उन्हें सम्मानित करने के साथ डॉ सोनी जैसे शिक्षक हमारे गांव व क्षेत्र में हैं। प्रधान नीलम देवी ने कहा हमारा सौभाग्य है डॉ सोनी हमारे ग्राम पंचायत मरोड़ा में कार्यरत हैं उनका भरपूर सहयोग छात्रहित के साथ गांव के लोगों को मिलता है उन्होंने पर्यावरण संरक्षण व प्रेम बंधुत्व की क्षेत्र में एक अलख जगाई हैं ऐसे में उन्हें सम्मानित करना हमारा फर्ज है। इस सम्मान कार्यक्रम में सामाजिक कार्यकर्ता गोविंद सिंह रावत, कविता देवी, गुड्डी देवी, राजेश कुमार, दिनेश आदि उपस्थित रहे। 

आप ने किया प्रदेश में चुनावी शंखनाद, शामिल हुए बीजेपी के मोदी विचार मंच के प्रदेश अध्यक्ष

देहरादून। आम आदमी पार्टी ने प्रदेश में चुनावी शंखनाद कर दिया है, आज बीजेपी के मोदी विचार मंच के प्रदेश अध्यक्ष आप में शामिल होे गए हैं। यहां आयोजित प्रेस वार्ता के दौरान पार्टी के प्रदेश प्रभारी दिनेश मोहनिया ने बताया की देवभूमि में आम जनता कांग्रेस और भाजपा के झूठे वादों और लूटखोरी से त्रस्त होकर आम आदमी पार्टी के कार्यो में अपनी आस्था दिखा रही है और इसी क्रम में जैसा की पूर्व में आम आदमी पार्टी उत्तराखंड प्रदेश प्रभारी, दिल्ली विधानसभा में आम आदमी पार्टी के विधायक दिनेश मोहनिया और उत्तराखंड प्रदेश अध्य्ाक्ष एस.एस कलेर ने संगठन विस्तार को हरी झंडी दिखाते हुए विधानसभा स्तर पर सभी 70 विधानसभा क्षेत्रों हेतु विधानसभा प्रभारियों की घोषणा के पश्चात हर विधानसभा पर आप कार्यालय का संचालन कर जनसमस्या के निवारण पर युद्धस्तर पर कार्य शुरू कर दिया है एवं प्रत्येक विधानसभा के हेल्पलाइन एवं सदस्यता हेतु फोन नंबर जारी कर दिए गए है।

आम आदमी पार्टी की उत्तराखंड के असल विकास एवं इस शपथ के प्रति कतबद्वत्ता एवं उनके कार्यों से प्रभावित होकर आज डोईवाला विधानसभा से भाजपा नेता एवं नरेंद्र मोदी विचार मंच के प्रदेश अध्यक्ष प्रमोद कपरवान शास्त्री ने आप का दामन थाम लिया। इस अवसर पर प्रदेश अध्यक्ष एस.एस कलेर  ने कहा  कि पार्टी की नजर आगामी विधानसभा चुनावों पर है और उसी के तहत विधानसभा स्तर पर सभी तैयारियां की जा रही हैं। उन्हांेने कहा कि हालांकि देश व प्रदेश दोनों ही कोरोना की चपेट में हंै परन्तु तब भी प्रदेश में चल रही अव्यवस्थाओं का मद्देनजर आम आदमी पार्टी तीसरे नहीं अपितु एकमात्र विकल्प के रूप में प्रदेश में स्थापित होना चाहती है, ताकि लोगों को कांग्रेस ओर भजपा के कुशाशन से मुक्ति दिलवाई जा सकंे। प्रेस कोंफ्रेस के दौरान प्रदेश सचिव राजेश बहुगुणा, प्रदेश संगठन मंत्री डीएस कोटलिया, डीके पाल, प्रदेश महासचिव विशाल चैदरी, प्रदेश मीडिया प्रभारी डॉक्टर राकेश काला, प्रदेश प्रवक्ता रविन्दर आनंद एवं प्रदेश मीडिया सह प्रभारी अभिषेक बहुगुणा, अशोक सेमवाल, राजेन्दर गैरोला प्रदीप बच्वआन आदि उपस्थित रहे।

बैठकों में लिए गए निर्णयों की अनुपालना समयबद्धता के साथ सुनिश्चित की जाएः सीएम 

देहरादून। मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने कहा कि बैठकों में लिए गए निर्णयों की अनुपालना समयबद्धता के साथ सुनिश्चित की जानी चाहिए। कार्यवाही केवल पत्राचार तक ही सीमित न रहे बल्कि इसका आउटपुट दिखना चाहिए। मुख्यमंत्री, सचिवालय में उत्तराखण्ड राज्य वन्य जीव सलाहकार बोर्ड की 15 वीं बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे। उन्होंने कहा कि किसी भी बैठक का कार्यवृत्त उसी दिन बन जाना चाहिए। मुख्यमंत्री ने कहा कि एनएच 72-ए उत्तराखण्ड के लिए बहुत अधिक महत्व का है। इसे सर्वोच्च प्राथमिकता देते हुए, स्वीकृतियों के लिए आवश्यक औपचारिकताओं में किसी प्रकार की देरी न हो। कार्बेट रिजर्व व राजाजी टाईगर रिजर्व में गैण्डे के रिइन्ट्रोडक्शन का काम टाईमबाउंड तरीेके से हो। राजाजी टाईगर रिजर्व के अंतर्गत चैरासी कुटिया का विकास इंटीग्रेटेड एप्रोच के आधार पर किया जाए। इसकी कार्ययोजना में वन्यजीवन, आध्यात्मिकता, संस्कृति सहित सभी पहलुओं का समावेश किया जाए। गंगोत्री राष्ट्रीय उद्यान में स्थित गरतांग गली ट्रेल के मार्ग का पुनरूद्धार, इसकी मौलिकता को परिरक्षित रखते हुए किया जाए। आरक्षित वन क्षेत्रों में टोंगिया ग्रामों को राजस्व ग्रामों का दर्जा देने और संरक्षित क्षेत्रों से ग्रामों के विस्थापन के बाद वन भूमि पर बसाये गए नए स्थलों के नवीनीकरण और डिनोटिफिकेशन का काम शीघ्र किया जाए।

बैठक में गंगोत्री राष्ट्रीय पार्क के अंतर्गत राष्ट्रीय सुरक्षा की दृष्टि से महत्वपूर्ण विभिन्न मार्गों के निर्माण के लिए प्रस्तावों को अनुमति के लिए राष्ट्रीय वन्य जीव बोर्ड को भेजे जाने पर सहमति दी गई। इसी प्रकार सौंग बांध परियोजना के निर्माण से संबंधित वन भूमि हस्तांतरण और जौलीग्रान्ट हवाई अड्डे के विस्तारीकरण के लिए वन भूमि हस्तांतरण के लिए अनुमति का प्रस्ताव भी राष्ट्रीय वन्य जीव बोर्ड को भेजा जाएगा। बैठक में बताया गया कि कार्बेट टाईगर रिजर्व व राजाजी टाईगर रिजर्व में बाघों और जंगली हाथियों की धारण क्षमता का अध्ययन भारतीय वन्यजीव संस्थान से कराने के लिए प्रस्ताव प्राप्त हो गया है। इसी प्रकार गैण्डे के रिइन्ट्रोडक्शन के लिए साईट सूटेबिलिटी रिपेार्ट मिल गई है। राजाजी राष्ट्रीय उद्यान की सीमा के रैशनलाईजेशन के लिए संबंधित जिलाधिकारियों, प्रभागीय वनाधिकारियों और भारतीय वन्यजीव संस्थान के प्रतिनिधि की एक समिति का गठन कर लिया गया है। बैठक में जानकारी दी गई कि 6 जून से 8 जून तक तीन दिन उत्तराखण्ड में हाथियों की गणना की गई। इसमें पाया गया कि राज्य में कुल 2026 हाथी हैं। वर्ष 2012 में 1559 जबकि 2017 में 1839 हाथी थे। इस प्रकार वर्ष 2017 से हाथियों की संख्या में 10.17 प्रतिशत की वृद्धि हुई है। इसी प्रकार 22 से 24 फरवरी 2020 में जलीय जीवों की गणना की गई। इसमें पाया गया कि राज्य में 451 मगरमच्छ, 77 घड़ियाल और 194 ऊदबिलाव हैं। बताया गया कि वर्ष 2020 से 2022 तक राज्य में स्नो-लैपर्ड की जनसंख्या का आंकलन भी किया जाएगा। राज्य के 23 प्रतिशत भौगोलिक क्षेत्र में स्नो-लैपर्ड हैं।

बैठक में वन मंत्री डा. हरक सिंह रावत, विधायक धन सिंह नेगी, दीवान सिंह बिष्ट, सुरेश राठौर, मुख्य सचिव उत्पल कुमार सिंह, अपर मुख्य सचिव ओमप्रकाश, प्रमुख सचिव आनंदबर्द्धन, प्रमुख वन संरक्षक जयराज, सचिव दिलीप जावलकर, सौजन्या, डीजीपी लाॅ एंड आर्डर अशोक कुमार सहित बोर्ड के अन्य सदस्य उपस्थित थे।  

असहाय जन कल्याण सेवा समिति ने नशा मुक्ति केन्द्र को दिए मास्क एवं सेनिटाइजर

देहरादून। असहाय जन कल्याण सेवा समिति ने कला फांउडेशन सोसायटी (नशा मुक्ति) को मास्क, सैनिटाइजर की बोतलें, राशन एवं टीशर्ट आदि समान प्रदान करने के साथ ही जीजीआईसी लक्खीबाग की बोर्ड पेपर दे रही छात्राओं के लिये भी सेनिटाइजर एवं मास्क विद्यालय प्रशासन को सौंपे।

नशा मुक्ति केन्द्र के निदेशक सीएस बिष्ट ने बताया कि इस समय सेन्टर मे 20 नशा रोगी हैं। लाकडाउन के कारण  नये मरीज नहीं ले रहे हैं।केंद्र के कांउसलर उमेश आनंद ने बताया कि इन नशा रोगियों का विशेष रूप से नियमित भोजन, योगा,रहन सहन, ध्यान आदि का अभ्यास करवाया जाता है तथा कोरोना संकट के समय मास्क फिजिकल ओडिस्टेंसिंग आदि सरकार की गाईड लाइन के अनुसार जोर दिया जाता है। प्रातः आत्म शक्ति की प्रार्थना, नाश्ता, लंच,सांय की चाय एवं रात्रि भोजन के साथ ही हफ्ते में दो दिन नानबैज भी दिया जाता है। उन्होंने बताया कि नशा लत नहीं अपितु एक बीमारी है। इसका निदान 12 कदमों एवं 12 परम्पराओं के कार्यक्रम पद्धति द्वारा ही सम्भव है। समिति की अध्यक्ष बलबीर नौटियाल एवं उपाध्यक्ष स सेवा सिंह मठारु ने नशा रोगियों को  यहां से जाने के पश्चात बुरी संगत से दूर रहने को प्रेरित करते हुए कहा कि किस तरह उनके इस तरह नशे में पड़ने के कारण उनका स्वयं एवं परिवार का जीना दूभर हो जाता है। ठीक होने के पश्चात दोबारा नशा ना करने की प्रतिज्ञा भी करवाई। इस अवसर पर समिति की अध्यक्ष, उपाध्यक्ष के अलावा कोषाध्यक्ष उर्मिला शर्मा, संरक्षक डा प्रशांत सिंह, डा संजय अग्रवाल के अतिरिक्त गुलशनबाहरी, राजीव सच्चर आदि ने विशेष सहयोग प्रदान किया।

विधानसभा परिसर की दीवार पर नंदादेवी राजजात यात्रा को भित्ति चित्र के रूप में प्रदर्शित किया गया 

देहरादून। उत्तराखंड की लोक संस्कृति को बढ़ावा देने एवं विरासत को संजोने के उद्देश्य से उत्तराखंड विधान सभा परिसर की बाहरी दीवार पर नंदा देवी राजजात यात्रा को भित्ति चित्र (म्यूरल) के रूप में प्रदर्शित किया गया है।जिसका कि आज उत्तराखंड विधानसभा अध्यक्ष प्रेम चंद अग्रवाल एवं कार्यक्रम में उपस्थित विधायकों द्वारा विधिवत पूजा अर्चना के साथ नारियल फोड़कर लोकार्पण किया गया।इस अवसर श्री अग्रवाल ने कहा है कि उत्तराखंड की खूबसूरती यहां की लोक संस्कृति में है, समृद्ध व गौरवशाली संस्कृति का संरक्षण करने की  जिम्मेवारी हम सबकी है। उत्तराखंड विधानसभा परिसर की चार दिवारी पर गढ़वाल एवं कुमाऊं की संस्कृति को जोड़े हुए नंदा राजजात यात्रा को 10 भित्ती चित्र के माध्यम से दिखाने का अनूठा प्रयास स्पीकर की पहल पर किया गया है। यात्रा के सभी पड़ावों को भित्ति चित्र के रूप में उकेरा गया है।ये भित्ति चित्र इतने आकर्षक व सजीव  हैं कि बरबस ही लोगों का ध्यान अपनी ओर आकर्षित कर रहे हैं। 

इस अवसर पर विधानसभा अध्यक्ष ने कहा कि एशिया की सबसे लंबी पैदल यात्रा और गढ़वाल-कुमाऊं की सांस्कृतिक विरासत श्रीनंदा राजजात अपने में कई रहस्य और रोमांच को संजोए है।उन्होंने कहा कि उत्तराखंड के लोगों ने अपनी लोक संस्कृति को शालीनता के साथ सहेजे हुआ है। यहाँ के लोक वाद्य, लोक गीत, लोक गायन शैली, लोक नृत्य, चित्र अथवा शिल्प उत्तराखंड को एक अलग पहचान देते हैं।हमें अपनी संस्कृति, मूल्यों तथा परम्पराओं को कभी नहीं भूलना चाहिए। श्री अग्रवाल ने कहा कि हमारी विधानसभा उत्तराखंडी विधानसभा दिखे इसके लिए वह लगातार प्रयास भी करते रहते हैं। विधानसभा अध्यक्ष का कहना है कि बाहर से आने वाले आगंतुकों एवं सड़क पर आवागमन करने वाले लोगों को यह भित्ति चित्र आकर्षण का केंद्र होगी साथ ही हमारी लोक संस्कृति की जानकारी भी इसके माध्यम से आमजन एवं हमारी भावी पीढ़ी को प्राप्त होगी।इस अवसर पर विधानसभा अध्यक्ष ने भित्ति चित्र लगे स्थान पर एक सेल्फी प्वाइंट बनाने की भी घोषणा की। उन्होंने कहा कि लोग यहाँ पर अपनी फोटो खींचकर कर  संस्कृति के साथ जुड़ सकते हैं। अवगत है कि मां नंदा देवी को उनकी ससुराल भेजने की यात्रा है राजजात। मान्यता है कि एक बार नंदा अपने मायके आई थीं। लेकिन किन्हीं कारणों से वह 12 वर्ष तक ससुराल नहीं जा सकीं। बाद में उन्हें आदर-सत्कार के साथ ससुराल भेजा गया।चमोली के नौटी से यात्रा उच्च हिमालयी क्षेत्र होमकुंड पहुंचती है। 20 दिन में राजजात  280 किमी की यात्रा कई निर्जन पड़ावों से होकर गुजरती है। हर 12वर्ष में आयोजित होने वाली इस यात्रा को हिमालयी महाकुंभ के नाम से भी जानते हैं।राजजात गढवाल-कुमाऊं के सांस्कृतिक मिलन का भी प्रतीक है।जगह-जगह से डोलियां आकर इस यात्रा में शामिल होती हैं।7वीं शताब्दी में गढ़वाल के राजा शालिपाल ने राजधानी चांदपुर गढ़ी से देवी श्रीनंदा को 12वें वर्ष में मायके से कैलास भेजने की परंपरा शुरू की।चैसिंगा खाडू (काले रंग का भेड़) श्रीनंदा राजजात की अगुवाई करता है। मनौती के बाद पैदा हुए चैसिंगा खाडू को ही यात्रा में शामिल किया जाता है। होमकुंड में इस खाडू को पोटली के साथ हिमालय के लिए विदा किया जाता है। इस अवसर पर पूर्व विधानसभा अध्यक्ष एवं विधायक हरबंस कपूर, पूर्व मंत्री एवं विधायक खजान दास, विधायक गणेश जोशी, विधायक विनोद चमोली, विधायक उमेश शर्मा काऊ, विधायक देशराज कर्णवाल, राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रांत प्रचारक युद्धवीर, विधानसभा के सचिव जगदीश चंद, उप सचिव मुकेश सिंघल आदि लोग उपस्थित थे। कार्यक्रम का संचालन भारत चैहान ने किया।

राज्यांश के रूप में 934.78 लाख की स्वीकृति प्रदान की

देहरादून। मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने प्रदेश के 9 शहरी स्थानीय निकायों को ठोस अवशिष्ट प्रबंधन हेतु चतुर्थ वित्त आयोग की संस्तुतियों के आधार पर राज्यांश के रूप में 934.78 लाख की स्वीकृति प्रदान की है। जिन शहरी स्थानीय निकायों को राज्यांस के रूप में धनराशि स्वीकृत की गई है उनमें नगरपालिका परिषद् देवप्रयाग, नगरपालिका कीर्तिनगर, नगरपालिका जोशीमठ, नगरपालिका कपकोट, नगरपालिका बड़कोट, नगरपालिका अगस्तमुनि, नगरपालिका पोखरी, नगरपालिका चमोली तथा नगरपालिका अल्मोड़ा शामिल है।

सभी जनपदों के लिये 13 करोड़ की धनराशि स्वीकृत की

देहरादून। मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने प्रदेश में राज्य आपदा मोचन निधि के मानकों के अधीन आच्छादित न होने वाले प्राकृतिक आपदा से क्षतिग्रस्त परिसंपत्तियों के पुनर्निर्माण एवं मरम्मत कार्यों हेतु सभी जनपदों के लिये 13 करोड़ की धनराशि स्वीकृत की है। इससे प्राकृतिक आपदा से क्षतिग्रस्त परिसंपत्तियों के पुनर्निर्माणध्मरम्मत कार्यों में सुविधा होगी। इसके लिये इस वर्ष के लिये 26 करोड़ की धनराशि प्राविधानित है।

3 करोड़ की सीमा तक के कार्यों के लिये संस्थान के प्राचार्य को अधिकृत किया

देहरादून। मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने सोबन सिंह जीना राजकीय आयुर्विज्ञान एवं शोध संस्थान अल्मोड़ा में कोरोना टेस्टिंग आदि की सुविधाओं के विकास हेतु 03 करोड़ की सीमा तक के कार्यों के लिये संस्थान के प्राचार्य को अधिकृत किये जाने की स्वीकृति प्रदान की है। मुख्यमंत्री ने कहा कि इससे संस्थान को कोरोना के दृष्टिगत बचाव कार्यों के क्रियान्वयन में सुविधा होगी।

 

सभी फुलफिलमेंट सेंटर्स में पैकेजिंग में उपयोग आने वाली 100 फीसदी सिंगल-यूज प्लास्टिक बंद

देहरादून। अमेजन इंडिया ने आज भारत में अपने 50 से ज्यादा फुलफिलमेंट सेंटर्स से पैकेजिंग में उपयोगआने वाली सभी सिंगल-यूज प्लास्टिक को हटाने की घोषणा की है। इस तरह कंपनी ने स्थायित्व पूर्ण विकास की दिशा में अपने प्रयासों में एक महत्वपूर्ण उपलब्धि हासिल की है। सितंबर 2019 में कंपनी ने पर्यावरणीय रूप से टिकाऊ आपूर्ति श्रृंखला बनाने के प्रयास के तहत इस लक्ष्य को  जून 2020 तक की समय सीमा में पूरा करने का संकल्प लिया था।

अमेजन इंडिया ने अपने स्वयं के आपूर्ति नेटवर्क में सिंगल-यूज प्लास्टिक को पूरी तरह से हटाने की दिशा में कई कदम उठाए हैं। इस लक्ष्य को पाने के लिए पहली महत्वपूर्ण उपलब्धि दिसंबर 2019 में हासिल की गई थी, जब कंपनी ने अपनी पैकेजिंग में प्लास्टिक पैकेजिंग सामग्री, जैसे बबल रैप्स और एयर पिलो को पेपर कुशन के साथ प्रतिस्थापित किया था। कंपनी ने इस वर्ष की शुरुआत में 100 फीसदी प्लास्टिक-मुक्त और बायोडिग्रेडेबल पेपर टेप पेश किया, जिसका उपयोग ग्राहक शिपमेंट को सील करने और सुरक्षित ढंग से भेजने के लिए किया जाता है। इसके अलावा, कंपनी ने अन्य सामग्रियों के साथ कस्टमर डिलीवरी के लिए इस्तेमाल होने वाली पतली क्लिंग फिल्मों को भी हटाया है जिनकी प्रकृति सिंगल-यूज प्लास्टिक की नहीं हैं। अमेजन फुलफिलमेंट सेंटर्स से उत्पन्न होने वाली अन्य सभी प्लास्टिक पैकेजिंग सामग्री उपलब्ध संग्रह, अलग करके रखने की व्यवस्था और रीसाइक्लिंग चैनलों के जरिये 100 फीसदी रिसाइकल करने योग्य है। अमेजन इंडिया सीधे ग्राहकों की मांग को पूरा करने वाले अपने विक्रेताओं को भी इस नए बदलाव के बारे में शिक्षित कर रहा है।

कोरोना योद्वाओं पर बनाये गये गीत ‘‘तुमको नमन‘‘ का किया विमोचन

देहरादून। मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने सोमवार को मुख्यमंत्री आवास में रूहान भारद्वाज एवं उनकी टीम द्वारा कोरोना योद्वाओं पर बनाये गये गीत ‘‘तुमको नमन‘‘ का विमोचन किया। यह गीत सुश्री सोनिया जोशी द्वारा लिखा गया। मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र ने कहा कि यह गीत स्वास्थ्य, सुरक्षा, स्वच्छता एवं समाज सेवा करने वाले कोरोना योद्वाओं द्वारा किये जा रहे प्रयासों को गीत के माध्यम से प्रस्तुत करने का सराहनीय प्रयास किया गया है। उन्होंने कहा कि कोरोना के इस संकट में स्वास्थ, पुलिस, स्वच्छता एवं प्रशासन की ओर से पुरे लगन के साथ कार्य किये जा रहे हैं। जन सहयोग से राज्य में कोविड पर काफी नियंत्रण हुआ है। इस अवसर पर मुख्यमंत्री के मीडिया सलाहकार रमेश भट्ट, आईटी सलाहकार रविन्द्र दत्त, तुमको नमन गीत के गायक रूहान भारद्वाज, लेखिका सोनिया जोशी, शिल्पा भट्ट, अरविन्द भारद्वाज आदि उपस्थित थे।

आत्मनिर्भर और सशक्त भारत के निर्माण में सकारात्मक भूमिका निभाने की अपील की

देहरादून। देवभूमि विचार मंच तथा स्वदेशी जागरण मंच के संयुक्त तत्वावधान में आत्मनिर्भर भारत सशक्त भारत विषय के साथ एक राष्ट्रीय संगोष्ठी का आयोजन किया गया कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रुप में राज्य मंत्री स्वतंत्र प्रभार डॉ. धन सिंह रावत, मुख्य वक्ता के रूप में प्रोफेसर श्रीप्रकाश मणि त्रिपाठी कुलपति, इंदिरा गांधी राष्ट्रीय जनजातीय विश्वविद्यालय तथा विशिष्ट वक्ता के रूप में कश्मीरी लाल जी राष्ट्रीय संगठन मंत्री स्वदेशी जागरण मंच उपस्थित रहे। कार्यक्रम को संयोजक ,डॉ दीपक कुमार पाण्डेय ने स्वागत एवं विषय परिचय के साथ प्रारंभ किया तथा भारतीय सामान हमारा अभिमान के डिजिटल सिग्नेचर अभियान में जुड़ने का आह्वान करते हुए स्वदेशी की धारा को मजबूत करते हुए आत्मनिर्भर और सशक्त भारत के निर्माण में सकारात्मक भूमिका निभाने हेतु अपील की। 

धन सिंह ने विषय की सारगर्भित तथा आत्मनिर्भर भारत की दिशा में सरकार द्वारा किये जा रहे  विभिन्न प्रयासों के द्वारा आत्मनिर्भर समाज और राष्ट्र बनाने की बात की।  उन्होंने बताया कि, डेयरी के क्षेत्र में स्वरोजगार को बढ़ावा देने के लिए सरकार डेयरी के लिए 25 प्रतिशत सब्सिडी के साथ कर्ज एवं राज्य सरकार द्वारा उन्नत किस्म के गाय भी देने की बात कही, जिसमें 4000 से ज्यादा लोगों ने आवेदन किया है। मिल्क बूथ के लिए सरकार 2 लाख का ऋण 25 प्रतिशत सब्सिडी के साथ, डेयरी के लिए  4 रुपया प्रति ली प्रोत्साहन भी सरकार दे रही है। उन्होंने राज्य के बीस हजार युवाओं को राज्य सरकार द्वारा स्वरोजगार योजना के तहत मोटरसायकिल उपलब्ध करा कर पर्यटन क्षेत्र से जोड़ने की बात कही। मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना के तहत 05 से 25 लाख तक ऋण, स्वयं सहायता समूह के माध्यम  से महिलाओं के विकास हेतु आर्थिक सहायता भी प्रदान किया जा रहा है। डॉ. रावत ने उत्तराखण्ड के जनजातीय क्षेत्रों के लिए जनजातीय विश्वविद्यालय के क्षेत्रीय केंद्र खोलने हेतु भी माननीय कुलपति जनजातीय विश्वविद्यालय से आग्रह किया।  के  युवाओं कारपोरेट क्षेत्र में  किसानों की आय दोगुनी करने के संदर्भ में भी सरकार के प्रयासों को भी बताया। मुख्य वक्ता के रूप में प्रो. श्री प्रकाश मणि त्रिपाठी, कुलपति, इंदिरा गांधी राष्ट्रीय जनजातीय विश्वविद्यालय, अमरकंटक, म. प्र. ने अपने उद्बोधन में कहा कि, आत्म निर्भर और सशक्त भारत की संकल्पना हमारे  सांस्कृतिक और आर्थिक पक्ष  से जुड़ी हुई है , जिसमें हमारी परंपरागत संस्थाएं और संरचनायें   महत्वपूर्ण हैं। हमारे गांव, देवालय, शिक्षालय और चिकित्सालय इसके महत्वपूर्ण आयाम हैं। उन्होंने कहा कि, जैसे परंपरागत रूप में हमारे गांव में स्थानीय विशिष्टताओं के आधार पर योग्यता और हुनर का सम्मान था, वैसे ही उस योग्यता और हुनर के आधार पर उद्योगों को विकसित करने की आवश्यकता है। उन्होंने आत्मनिर्भर और सशक्त भारत के लिए सम्यक सुरक्षा जिसमें आंतरिक और बाह्य सुरक्षा सम्मिलित हैं  को सुदृढ करने की आवश्यकता पर बल दिया। उन्होंने कहा कि आत्मनिर्भर भारत की संकल्पना के लिए हमें आयतोन्मुखी अर्थव्यवस्था से निर्यातोन्मुखी व्यवस्था की तरफ जाना होगा। उन्होंने इसके लिए माननीय प्रधानमंत्री जी द्वारा बताए गए 9 सीढ़ी और 5 आई  की भी चर्चा की। उन्होंने कहा कि भारत कृषि और ऋषि परंपरा का देश है, इसलिए नवोन्मेष और आर्थिक विकास का मार्ग भी यहां के शिक्षालयों से होकर निकलेगा। उन्होंने ऐसे पूंजी प्रवाह की बात की जो वसुधैव कुटुम्बकम की भावना से लोक कल्याण को बढ़ावा देती हो। इसके साथ ही इसे अवसर के रूप में लेने की बात कही जिसमें बेटियों(महिलाओं की ) की भूमिका महत्वपूर्ण होगी क्योंकि ये केवल दो पीढ़ियों को ही नहीं जोड़ती हैं, बल्कि दो सभ्यताओं को जोड़ती हुई पुरातन और आधुनिकता को भी एक सूत्र में जोड़ती हैं। इस अवसर पर देश के विभिन्न प्रान्तों से बुद्धिजीवी- प्रो. डी. पी. सकलानी, प्रो.  एच. सी. पुरोहित, डॉ ऋचा कंबोज , डॉ. जानकी पंवार, डॉ. कमला चन्याल, डॉ. प्रीतपाल सिंह, डॉ शशि प्रभा, डॉ अनिता चैहान, डॉ अंजलि वर्मा डॉ  देवेश मिश्रा,डॉ. ललित मिश्र, डॉ. भावना सिन्हा, डॉ. आनन्द सिंह, अमिताभ मिश्र, डॉ. आशुतोष, डॉ. हरनाम सिंह आदि उपस्थित रहे ।कार्यक्रम का संचालन आयोजन सचिव डॉ रवि शरण दीक्षित,  तथा धन्यवाद ज्ञापन डॉ चैतन्य भंडारी द्वारा द्वारा किया गया।

भविष्य की जरूरतों के लिए सुरक्षित निवेश बेहद जरूरीः सूर्यकांत शर्मा

देहरादून। एसोसिएशन ऑफ म्यूच्यूअल फंड इन इंडिया के तत्वाधान में  तथा अल्मोड़ा प्रशासन के  साथ संयुक्त रूप से वित्तीय शिक्षा एवं निवेशक जागरूकता द्वारा सशक्तिकरण विषय पर एक वेबिनार का आयोजन किया गया। वेबीनार का उद्घाटन  20 सूत्री कार्यक्रम क्रियान्वयन समिति के उपाध्यक्ष कैबिनेट मंत्री माननीय नरेश बंसल  द्वारा किया गया ।अपने उदबोधन में उन्होंने कहा कि वित्तीय साक्षरता आज के समय में एक समीचीन विषय है। वर्तमान समय हमारे सामने कोरोना कई प्रश्न लेकर आया है ।इस काल मे अपने अस्तित्व को बचाने के साथ साथ वित्तीय सशक्तिकरण भी एक महत्वपूर्ण प्रश्न है। 

कार्यक्रम के आयोजन सचिव रजनीश शाह द्वारा सभी का स्वागत करते हुए कार्यक्रम के विषय में जानकारी देते हुए बताया कि वेबीनार में 7 राज्यों से 350 प्रतिभागियों ने पंजीकरण कराया जिसमें जिला प्रशासन अल्मोड़ा  बैंक  कर्मचारी  तथा आम निवेशक भी प्रतिभागी हैं। वेबीनार के मुख्य वक्ता सूर्यकांत शर्मा मुख्य सलाहकार एसोसिएशन ऑफ म्यूच्यूअल फंड इन इंडिया उत्तरी क्षेत्र तथा पूर्व डी जी एम,सेबी द्वारा अपने वक्तव्य के वर्तमान समय में निवेश के परिदृश्य को प्रस्तुत किया गया।  सबसे पहले अगले 1 वर्ष के लिए अपने मासिक खर्चों के बराबर का पैसा बिल्कुल अलग कर लें तथा साथ ही साथ अगले 1 वर्ष में जो भी आपके सामाजिक एवं पारिवारिक जिम्मेदारियां पूरी करनी है उसके लिए भी पर्याप्त राशि रख लें, तथा इस राशि को आप अपने बचत खाते फिक्स डिपाजिट, लिक्विड फंड शॉर्ट टर्म फंड, अल्ट्रा शॉर्ट टर्म फंड में निवेश कर सकते हैं। इसके बाद अगर आपके पास जो भी शेष राशि रहती है और अगले 3 वर्ष तक इसकी आवश्यकता नहीं है तो इसको आप अच्छे डेट फंड में निवेश कर सकते हैं यदि अगले 5 वर्ष तक आपको इस राशि की आवश्यकता नहीं है तो आप इसे अच्छे लार्ज कैंप फंड अथवा बैलेंस फंड में निवेश कर सकते हैं। 

शर्मा ने म्यूचुअल फंड के बारे में विस्तार से जानकारी दी और बताया कि साधारण निवेशको की हर जरूरत के लिए म्यूच्यूअल उपलब्ध है ।उन्होंने प्रधानमंत्री वय वंदना योजना के विषय में भी जानकारी दी। शर्मा ने प्रश्नोत्तर काल में सभी प्रतिभागियों के प्रश्नों के उत्तर भी दिए। प्रतिभागियों द्वारा अपने फीडबैक में इस प्रकार के विषय को उपयोगी बताते हुए भविष्य में भी इस प्रकार के समसामयिक विषयों पर वेबीनार आयोजित करने की आवश्यकता बताई। कार्यक्रम के अन्य वक्ता श्री कृष्ण मोहन शर्मा रीजनल मैनेजर उत्तराखंड ग्रामीण बैंक गढ़वाल उत्तराखंड द्वारा बैंकिंग फ्रॉड ई बैंकिंग के बारे में विस्तार से बताया गया। कार्यक्रम के अंत में डॉ संजय अग्रवाल द्वारा द्वारा सभी का धन्यवाद ज्ञापित किया गया कार्यक्रम का संचालन असिस्टेंट मैनेजर  आभास द्द्वारा किया गया कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए सुजीत ने महत्वपूर्ण सहयोग किया कार्यक्रम मैं सतपाल सिंह निदेशक आइटीबीपी अल्मोड़ा अल्मोड़ा के विभिन्न बैंकों के शाखा प्रबंधक जिला प्रशासन के अधिकारी आदि प्रमुख रूप से उपस्थित रहे।

पूर्व सीएम हरीश रावत ने किया अनूठा प्रदर्शन, बैलगाड़ी पर सवार होकर पहुंचे मंदिर

देहरादून। पूर्व मुख्यमंत्री एवं कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव हरीश रावत ने आज एक अलग अंदाज में बैलगाड़ी में चढ़कर पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों के विरुद्ध रायपुर शिव मंन्दिर पहुॅचकर पूजा-अर्चना कर केन्द्र सरकार की सुद्धबुद्धि के लिये भोले बाबा के चरणों में प्रार्थना की। प्रातः लगभग 10 बजे पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ओडिनेन्स फैक्ट्री के गेट के निकट पहुॅचकर पहले से तैयार बैल गाड़ी में बैठ गये उनके साथ बैल गाड़ी में ही रायपुर के पूर्व ब्लॉक प्रमुख व कांग्रेस उम्मीदवार रहे प्रभु लाल बहुगुणा सवार हो गये। 

पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत व प्रभुलाल बहुगुणा सहित लगभग सभी कार्यकर्ताओं ने सोशल डिस्टेन्सिंग का पालन करते हुए मुॅह पर मास्क लगा रखे थे। इस अवसर पर बोलते हुए पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने बोलते हुए कहा कि पूरे विश्व में जहॉ कच्चे तेल की कीमतें कम हो रही है वहीं केन्द्र सरकार एक दर्जन से अधिक बार पेट्रोल, ड़ीजल व गैस के दामों को बड़ा चुकी है जो कि परिवहन व्यवस्था, खेती किसानी व आटों इड़स्ट्री के लिये घातक सिद्ध हो रहा है उन्होने आगे कहा कि पेट्रोलियम उत्पदों की कीमतों की बढ़ोत्तरी से आवश्यक वस्तुओं के दाम भी बेताहाशा बढ़ गये है इस कोरोना के सकंट में पहले से ध्वस्त हुई अर्थ व्यवस्था को और चैपट कर दिया है उद्योग धन्धे, खेती किसानी, व्यापार पहले ही मंदी की मार से घातक दौर से गुजर रहे है लगातार हो रही मूल्य वद्धि से आम आदमी की कमर टूट गई है और कहा कि वो भोले बाबा के चरणों में ये प्रार्थना लेकर आये है कि केन्द्र सरकार में बैठे हुए तमाम लोगों को सुबुद्धि प्राप्त हो। उन्होने यह भी कहा कि हमारा देश प्रदेश शीर्घ कोरोना मुक्त हो यह प्रार्थना भी मैनें भोले बाबा से की है। पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने शिव मन्दिर पहुॅचने से पहले बैल गाड़ी में बैठकर ही महाराणा प्रताप चैक का एक चक्कर लगाकार महाराणा प्रताप को अपनी पुष्पांजलि भी अर्पित की। मंहगाई के विरुद्ध लिखे नारे को लेकर कार्यकर्ता आगे आगे चल रहे थे हालाकि कि श्री रावत कार्यकर्ताओं को नारे लगाने से रोक रहे थे लेकिन फिर भी मंहगाई के विरुद्ध के जोरदार नारे लगते रहे। इस अवसर पर उनके साथ प्रभुलाल बहुगुणा के अलावा जोत सिंह बिष्ट, पूरन रावत, आशा मनोरमा डोबरियाल शर्मा, हेमा पुरोहित, कमलेश रमन, पार्षद हकुम सिंह गड़िया, पार्षद अनिल क्षेत्री, राजेश शर्मा, अनिल नेगी, अभय घ्यानी, अजय ड़ोभाल, कविता लिंगवाल, सरिता बिष्ट, ज्योति देवी, सुलेमान अली, संगीता रावत, प्रतिमा शर्मा, सुनीता गुरुंग आदि सैकड़ो की तदात में मुखय रुप से उपस्थित थे।

प्रदेश भर की बहुउद्देशीय सहकारी समितियों (पैक्स) का विशेष आॅडिट किया जायेगाः धन सिंह रावत

देहरादून। प्रदेश भर की बहुउद्देशीय सहकारी समितियों (पैक्स) का विशेष आॅडिट किया जायेगा। इस बात के निर्देश सहकारिता मंत्री डाॅ. धन सिंह रावत ने आज विधानसभा में आयोजित विभागीय समीक्षा बैठक में अधिकारियों को दिये। उन्होंने सहकारिता विभाग के अधिकारियों को स्पष्ट निर्देश दिये कि प्रदेश भर सहकारी समितियों के कम्प्यूटरीकरण से पहले सभी समितियों का पहले विभागीय आॅडिट व तदोपरांत आवश्यकता पड़ने पर विशेष आॅडिट कराया जाय। ताकि समितियों में पादर्शिता से काम हो सके। बैठक में सहकारिता विभाग, रेशम सहकारी फैडरेशन, मत्स्य सहकारी फैडरेशन, कान्ट्रेक्ट फैडरेशन के अध्यक्ष एवं उपाध्यक्ष एवं सहकारी बैंक के उच्च अधिकारियों ने प्रतिभाग किया। 

विभिन्न सहकारी समितियों व फैडरेशनों के अध्यक्षों के सम्मुख चर्चा करते हुए डा. धन सिंह रावत ने कहा कि पिछले डेढ़ दशक से सहकारी समितियों में विशेष आॅडिट नहीं हुआ है। इस दौरान कई समितियों की अनियमितता संबंधी शिकायतें मिल रही है। जिसके मध्यनजर सहकारी समितियों के कम्प्यूटरीकरण से पूर्व आॅडिट किया जाना जरूरी है। ताकि प्रदेश भर की समस्त बहुउद्देशीय समितियों के कामकाज की विस्तरित समीक्षा हो सकेगी तथा सही आंकड़े सामने आयेंगे। जिस पर बैठक में मौजूद समितियों एवं फैडरेशन तथा बैंके के अध्यक्षों ने एकमत होकर सहमति जताई। बैठक में दीन दयाल उपाध्याय कृषि ऋण वितरण की समीक्षा के दौरान अधिकारियों ने बताया कि पूर्व में योजना के तहत कुल रू. 13.50 करोड़ का ऋण किसानों को दिया गया। इस पर सहकारिता मंत्री ने अधिकारियों को निर्देश दिये कि इस योजना का लाभ प्रदेश के अधिक से अधिक किसानों को पहुंचाया जाय। बैठक में एक एकड़ भूमि के एवज में ऋण की धनराशि बढ़ाई जाने पर भी चर्चा की गई। इस संबंध में विभिन्न समितियों के अध्यक्षों ने बताया कि अन्य राष्ट्रीयकृत बैंक एक एकड़ जमीन पर तीन लाख तक का ऋण स्वीकृत कर रहे हैं। जबकि सहकारी बैंकों द्वारा एक एकड़ के एवज में मात्र 32 हजार रूपये ही स्वीकृत कर रहे हैं। जिस कारण किसानों का रूख अन्य बैंकों की ओर अधिक है। भूमि के सापेक्ष ऋण सीमा में वृद्धि को लेकर विभागीय मंत्री ने अधिकारियों को निर्देश दिये कि सभी तथ्यों का अध्ययन करते हुए प्रस्ताव तैयार कर सरकार को अवगत करायें। इसके उपरांत ही इस पर विचार किया जा सकेगा। बैठक में अध्यक्ष, राज्य सहकारी बैक दान सिंह रावत, अध्यक्ष राज्य सहकारी संघ बृजभूषण गैरोला, उपाध्यक्ष राज्य सहकारी बैंक महावीर प्रसाद कुकरेती, उपाध्यक्ष राज्य सहकारी संघ मातबर सिंह रावत, अध्यक्ष उत्तराखंड रेशम फेडरेशन चैधरी अजीत सिंह, उपाध्यक्ष उत्तराखंड रेशम फेडरेशन दयाल सिंह चैहान,अध्यक्ष स्टेट लेबर फैडरेशन जगतराम शर्मा, उपाध्यक्ष अनवर हुसैन, निबंधक सहकारिता बी.एम. मिश्रा, महाप्रबंधक एन.पी.एस ढाका, विभिन्न बैंकों के अध्यक्ष विनोद रावत, सुभाष रमोला, प्रदीप चैधरी, अमित चैहान, अशोक वर्मा सहित विभागीय अधिकारी मौजूद रहे। 

Sunday, 28 June 2020

युवा उद्यमियों को नयी सोच और तरीकों का इस्तेमाल करते हुए वर्तमान में आयी चुनौतियों से निपटना होगाः आरुषि निशंक


-फिक्की फ्लो के उत्तराखंड चैप्टर ने प्रभावशाली नेतृत्व और सफलता का दृष्टिकोण पर आयोजित की राष्ट्रीय वेबिनार


देहरादून। फिक्की फिक्की फ्लो के उत्तराखंड चैप्टर ने प्रभावशाली नेतृत्व और सफलता का दृष्टिकोण विषय पर राष्ट्रीय वेबिनार आयोजित किया । इस वेबिनार की मुख्या अतिथि अंतराष्ट्रीय कथक नृत्यांगना ,फाउंडर स्पर्श गंगा, एनवायरमेंट एक्टिविस्ट, समाज सेविका, फिल्म प्रोडूसर और उद्यमी आरुषि निशंक रही ।


इस वेबिनार चर्चा का मुख्या विषय प्रभावशाली नेतृत्व और सफलता का दृष्टिकोण रहा, जिसमे कि सौ से अधिक महिला उद्यमी तथा विभिन्न क्षेत्रो में काम करने वाली महिलाओं ने भाग लिया । वक्ताओं ने महिलाओं को सशक्त बनाना और उन्हें इन कठिन समय के दौरान नेतृत्व की भूमिका निभाने के लिए प्रेरित करना क्योंकि वे हमारी अर्थव्यवस्था की रीढ़ हैं विषय पर भी अपने विचार रखे । इन्होने इस परिचर्चा में भाग लेने वाली सभी सदस्यों से आग्रह किया कि स्थानीय उत्पादों का प्रयोग करे और उनको ज्यादा से ज्यादा ख़रीदे ताकि स्थानीय किसानो और कारीगरों जो कि विभिन्न प्रकार के स्थानीय उत्पाद बनाते है उनकी बिक्री हो और उनकी आर्थिक स्थिति मजबूत हो सके स्पर्श गंगा कैंपेन में जुड़े उत्तराखंड के पांच लाख से अधिक स्थानीय किसानो के द्वारा किये गए कार्यो और सहयोग की भी चर्चा की गयी । इस अवसर पर, उत्तराखंड चैप्टर के फिक्की फ्लो की अध्यक्ष किरण भट्ट टोडरिआ ने कहा, मुझे बेहद ख़ुशी है कि हमारा फिक्की फ्लो के उत्तराखंड चैप्टर अपने सदस्यों को दैनिक जीवन से जुड़े विभिन्न विषयो पर परिचर्चा करवाता है तथा उन्हें सही सलाह और जानकारियां समय समय पर पहुँचता रहता है । जिससे की वे अपने जीवन को सफल बना सके । आज का विषय प्रभावशाली नेतृत्व और सफलता का दृष्टिकोण है । जिस पर सभी सदस्यों ने परिचर्चा की है मेरा मानना कि पैसे कामना और जीवका चलना तो आसान है पर कुछ अलग से समाज के लिए करना थोड़ा कठिन है । इसलिए सभी सदस्यों के साथ समय समय पर वेबिनार का आयोजन किया जाता है ताकि उनके अंदर आत्मविश्वास और समाज के लिए कुछ करने का जज्बा कायम हो । हमारे संस्थान का उद्देश्य महिलाओं को सशक्त , स्वाबलंबी और आत्मनिर्भर बना है जिसके लिए फिक्की फ्लो के उत्तराखंड चैप्टर का नारा है ‘सशक्त करने की शक्ति’ । इस वेबिनार मुख्य अतिथि  आरुषि निशंक ने कहा मुझे बहुत ख़ुशी हो रही है कि इस वेबिनार का जो विषय है उस पर मैं अपने विचार व्यक्त कर रही हूँ । जबकि पुरे देश में आत्मनिर्भर भारत की बात हो रही है । किसी भी अच्छे नेतृत्व का सबसे बड़ा गुण यह होता है कि नेतृत्व करने वाला तथा उसके साथ काम करने वालो को अपने लक्ष्य तक पहुंचने के लिए सफलता कैसे प्राप्त होती । जिससे कि सभी के जीवन में परिवर्तन आ जाता है और वे अपने लक्ष्यो तक कितनी जल्दी पहुंच सकते है । अब हर भारतीय को इस प्रकार के गुणों को विकसित होगा जो की यह सुनिश्चित कर सके कि इस कोविड 19 माहमारी द्वारा उत्पन चुनौतियां को हरा सके। इस लिए अब यह जरूरी हो जाता है की युवा उद्यमियों को नयी सोच और तरीको का इस्तेमाल करते हुए वर्तमान में आयी चुनोतियो को हरा सके ।
डॉ. नेहा शर्मा, उपाध्यक्षा, फिक्की फ्लो उत्तराखंड चैप्टर, ने चर्चा करते हुए कहा आज के वेबिनार के विषय का मुख्या उद्देश्य महिला उद्यमियों को और मजबूत, आत्मनिर्भर बनाना है जिसके लिए उन्हें कड़ी मेहनत करनी होगी ताकि वे अपने व्यवसाय में उत्तम प्रदर्शन कर सके । हम सभी को पता है उत्तराखंड की महिलाओं के अंदर काफी प्रतिभाएं छुपी है, इसीलिए उत्तराखंड की आर्थिकी में बहुत सहयोग किया है। इस वेबिनार के माध्यम से वे अधिक प्रेरित होंगी और इस कठिन समय पर अपनी मेहनत और प्रतिभा के साथ समाज को ऊपर बढ़ाने में सहायक होगी । वेबिनार में 100 से अधिक सदस्यों ने भाग लिया । सिंगर, कम्पोज़र, एंकर और वॉइस ओवर आर्टिस्ट लिली भट्ट ने इस वेबिनार की मध्यस्थ की। किरण भट्ट टोडरिया, अध्यक्षा फिक्की फ्लो उत्तराखंड चैप्टर, सुश्री कोमल बत्रा, वरिष्ठ उपाध्यक्षा फिक्की फ्लो उत्तराखंड चैप्टर, डॉ. नेहा शर्मा, उपाध्यक्षा, फिक्की फ्लो उत्तराखंड चैप्टर, गौरी सूरी, सेक्रेटरी फिक्की फ्लो उत्तराखंड चैप्टर, तृप्ति बहल, संयुक्त , सचिव फिक्की फ्लो उत्तराखंड चैप्टर,  रूचि जैन, कोषाध्यक्षा, फिक्की फ्लो उत्तराखंड चैप्टर, चारु चैहान संयुक्त कोषाध्यक्षा, फिक्की फ्लो उत्तराखंड चैप्टर और अन्य ने वेबिनार में भाग लिया



गूगल ने नये लाइसेंसिंग प्रोग्राम का ऐलान किया

देहरादून। गूगल ने नये लाइसेंसिंग प्रोग्राम का ऐलान किया है, जिसके तहत न्यूज पब्लिशर्स को खबरों के बदले पैसे दिये जाएंगे। फिलहाल इस प्रोग्राम की शुरुआत ऑस्ट्रेलिया, ब्राजील और जर्मनी में की गई है। इसके तहत गूगल हाई-क्वालिटी कंटेंट के बदले में पब्लिशर्स को पैसे देगी।
इस प्रोग्राम के तहत न्यूज पब्लिशर्स को फायदा होने वाला है क्योंकि अभी कमाई के लिए उनकी 80 फीसदी निर्भरता गूगल विज्ञापन पर ही है, लेकिन इस प्रोग्राम के तहत पब्लिशर्स ज्यादा कमा सकेंगे वहीं लोगों को भी ओरिजिनल कंटेंट ही मिलेगा।
गूगल ने इस प्रोग्राम की घोषणा करते हुए कहा है कि जल्द ही दुनियाभर के पब्लिशर्स इस प्रोग्राम का हिस्सा होंगे। न्यूज पब्लिशर्स दर्जनों देशों से गूगल न्यूज के साथ जुड़े हुए हैं। इस प्रोग्राम के तहत गूगल ऑडियो, वीडियो, फोटो और स्टोरी के लिए पैसे देगी। यह कंटेंट गूगल मोबाइल ऐप पर ही उपलब्ध होगा। बात करें ऑडियो न्यूज की, तो आप गूगल असिस्टेंट के जरिये प्ले न्यूज वॉइस कमांड देकर ऑडियो न्यूज (पॉडकास्ट) सुन सकते हैं। इसके अलावा, पॉडकास्ट के लिए गूगल ने म्यूजिक स्ट्रीमिंग ऐप स्पॉटिफाई से भी साझेदारी की है।


कोरोना वारियर्स का सेवा भाव सराहनीयः संजय गुलाटी


 

-भेल कर्मचारी की कोरोना पीड़ित पत्नी को मिली अस्पताल से छुट्टी

 

हरिद्वार। बीएचईएल उपनगरी के सेक्टर.2 स्थित स्वास्थ्य केंद्र जो कि कोविड हेल्थ सेंटर के रुप में संचालित किया जा रहा है, में भर्ती भेल कर्मचारी बिरेंद्र भगत की पत्नी रमावती को आज पूर्ण रुप से स्वस्थ घोषित करते हुए कोविड हेल्थ सेंटर से छुट्टी दे दी गई । इस अवसर पर बीएचईएल हरिद्वार के कार्यपालक निदेशक (हीप) संजय गुलाटी ने स्वस्थ होकर लौट रहे मरीज का स्वागत किया तथा कोरोना के विरुद्ध निर्णायक लड़ाई में अग्रिम मोर्चे पर डटे चिकित्सकों, पैरामेडिकल स्टाफ तथा सफाई कर्मचारियों को कोरोना वारियर्स  के रूप में सम्मानित किया।

इस अवसर पर अपने सम्बोधन में संजय गुलाटी ने कहा कि ऐसी विषम परिस्थितियों में दिन - रात मरीजों की सेवा में लगे हुए डाक्टर, नर्स आदि का अपने काम के प्रति समर्पण प्रशंसनीय है । उन्होंने कहा कि कोरोना वारियर्स के प्रति आभार एवं सम्मान प्रकट कर हम उनके उत्साह को बनाए रख सकते हैं जिससे संकट की इस घड़ी में उनका मनोबल बना रहे ।  गुलाटी ने सभी कोरोना वारियर्स को स्मृति चिन्ह भेंटकर कोरोना के खिलाफ उनके अथक प्रयासों एवं सेवा भाव की सराहना की । सम्मान पाकर अभिभूत हुए कोरोना वारियर्स ने कहा कि लोगों से मिलने वाला यह प्यार और सम्मान हमें अपनी सारी परेशानियों को भुलाकर समर्पण के साथ सेवा करने के लिए प्रेरित करता है। इस अवसर पर महाप्रबन्धक (अभियांत्रिकी, पीसीआरआई) के बी बत्रा, महाप्रबन्धक (मानव संसाधन एवं नगर प्रशासन, एमएमए बीओई एस के बवेजा , बीएचईएल चिकित्सा विभाग के प्रमुख डा सुरजीत दास तथा बीएचईएल कोविड हेल्थ सेन्टर के नोडल अधिकारी डा आई एम सिंघल सहित विभिन्न चिकित्सकगण, पैरामेडिकल स्टाफ के सदस्य,यूनियन प्रतिनिधि एवं कोरोना वारियर्स आदि उपस्थित थे। 

प्रधानमंत्री स्ट्रीट वेंडर्स आत्मनिर्भर योजना का शीघ्र करें क्रियान्वयन राज्य सरकारः संजय चोपड़ा


 

हरिद्वार। रेडी पटरी हाथ ठेली फेरी टोकरी के (स्ट्रीट वेंडर्स) लघु व्यापारियों के सामूहिक संगठन लघु व्यापार एसोसिएशन के प्रांतीय अध्यक्ष संजय चोपड़ा के नेतृत्व में रेडी पटरी के (स्ट्रीट वेंडर्स) लघु व्यापारियों को जन जागरण संपर्क अभियान के उपरांत मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत, मुख्य सचिव उत्पल कुमार से संयुक्त रूप से मांग की। उत्तराखंड राज्य में रेडी पटरी के (स्ट्रीट वेंडर्स) लघु व्यापारियों को प्रधानमंत्री स्ट्रीट वेंडर्स आत्मनिर्भर योजना के तहत राज्य के सभी नगर निकाय, नगर पालिका, नगर निगम के माध्यम से भारतवर्ष के अन्य राज्यों की तर्ज पर भारत सरकार के दिशा क्रम में उत्तराखंड राज्य के रेडी पटरी के (स्ट्रीट वेंडर्स) लघु व्यापारी जोकि नगर निगमों में पंजीकृत है। उन लघु व्यापारियों को 10-10,000 की अनुदानित ऋण राशि उपलब्ध कराए जाने की मांग को दोहराया ।

इस अवसर पर लघु व्यापार एसोसिएशन के प्रांतीय अध्यक्ष संजय चोपड़ा ने कहा पीएम स्ट्रीट वेंडर्स आत्मनिर्भर निधि के तहत उत्तराखंड राज्य के सभी निकायों द्वारा रेहड़ी पटरी के स्ट्रीट वेंडर लघु व्यापारियों को भारत सरकार में  संरक्षण में 10, 10000 की रिन राशि उपलब्ध कराने के लिए राज्य सरकार को शीघ्र ही कदम उठाने चाहिए। ताकि ग्रामीण क्षेत्र व शहरी क्षेत्र के फुटपाथ का कारोबारी लघु व्यापारी अपना पंजीकरण करा कर नगर निगम नगर पालिका के माध्यम से प्रधानमंत्री स्ट्रीट वेंडर आत्मनिर्भर योजना का लाभ ले सके। उन्होंने यह भी कहा उत्तराखंड राज्य में लगभग 4 से 500000  रेडी पटरी के स्ट्रीट वेंडरों के परिवार हैं। जिनकी जीविका ,करुणा वायरस की वजह से लॉग डॉन अवधि के दौरान काफी प्रभावित हुई है। भारत सरकार के दिशा कर्म में वे राज्य सरकार को संरक्षण में रेडी पटरी के स्ट्रीट बंडर लघु व्यापारियों को आत्मनिर्भर मजबूत किए जाने के लिए उचित कदम उठाने होंगे। इस अवसर पर प्रधानमंत्री स्ट्रीट वेंडर आत्म निर्भर योजना को उत्तराखंड राज्य में क्रियान्वयन किए जाने की मांग करते लघु व्यापार एसोसिएशन के जिला अध्यक्ष भूपेंद्र राजपूत , मनोज मंडल , जय सिंह बिष्ट , फूल सिंह , ओमप्रकाश भाटिया , मनीष शर्मा , प्रभात चैधरी , बिरेंदर सिंह , राजकुमार , एंथनी , हंसराज अरोड़ा , असीम जोशी, रोहित शेट्टी , यामीन अंसारी , तस्लीम अहमद , जय भगवान , धर्मपाल कश्यप आदि प्रमुख रूप से शामिल रहे।

डीजल, पैट्रोल की बढ़ी कीमतों के खिलाफ आम आदमी पार्टी ने प्रदर्शन कर पुतला फूंका    


 

हरिद्वार। आम आदमी पार्टी जिला हरिद्वार द्वारा भगत सिंह चैक पर  डीजल पैट्रोल की प्रतिदिन बढ़ती कीमतों के खिलाफ प्रदर्शन व नारेबाजी करते हुए केंद्र सरकार का पुतला फूंकते हुए पेट्रोल ,डीजल के बढ़ते  दामो पर रोक लगाने की मांग की गई। साथ ही बसों के बढे दामो पर तत्काल प्रभाव से रोक लगाने की भी मांग की गई। पार्टी की जिलाध्यक्ष हेमा भण्डारी ने कहा कि रोज रोज बढ़ रही पेट्रोल डीजल की कीमतों से आम जनमानस बहुत परेशान हैं। कोरोना काल मे हर व्यक्ति आर्थिक रूप से बहुत कमजोर हो चुका है। लोगो के पास कमाई के साधन नही है और प्रतिदिन पेट्रोल डीजल की बढ़ती कीमतों से सभी आवश्यक वस्तुएं महंगी हो गई है। जो कि आम आदमी की पहुंच से बाहर है। जनता का विश्वास डबल इंजन सरकार से समाप्त हो गया है। मोदी ने देश की जनता को झूठ बोलकर उन्हें  ठगने का काम किया है। जनता इनकी मनसा को भली भांति समझ चुकी है। जिला सचिंव अनिल सती ने कहा कि आज विश्व पटल पर पेट्रोल डीजल के दाम काफी गिर गए है। तेल कंपनियों को खरीददार नही मिल रहे। ऐसे समय मे मोदी जी अपने ही देश वासियों को महंगे दामो पर तेल उपलब्ध कराकर उनकी जेबो को काटने का काम कर रहे है। कोरोना संकट काल मे जहाँ युवा बेरोजगार हो गए है। व्यापार चैपट है। उधोग धंधे तालाबंदी की कगार पर है, ऐसे विकट समय पर जी एस टी एवं पेट्रोल डीजल के माध्यम से गरीब जनता को छलने का काम कर रही है। आम आदमी पार्टी  इस प्रदर्शन के माध्यम से केंद्र सरकार से पेट्रोल, डीजल के बढ़ते दामो पर रोक लगाने की मांग करती है। इस अवसर पर जिलाध्यक्ष हेमा भण्डारी, जिला सचिव अनिल सती, जिला प्रवक्ता मनोज दिवेदी,  ओ पी मिश्रा ,  संजू नारंग , रणधीर सिंह, मुकेश देव,  पवन धीमान, संजय मेहता, अनूप मेहता, ललित गुर्जर,, संजीव चैहान, तनुज शर्मा, रोशन तांगड़ी, निम्मी तांगड़ी,, सूरज चंचल, पवन सेठ,विशाल वालिया, मनोज शर्मा, प्रमोद ममगई, शाह अब्बास, बॉबी कश्यप, शशि भूषण नौटियाल,  संजय, विनीत कटारिया, प्रमोद ममगई, ललित चैहान, विवेक भण्डारी, अर्जुन सिंह, यशपालसिंह, मोनू एडवोकेट, अंकित शर्मा, नरेश गर्ग, दीप सिंह, मौजूद रहे।

----------------------------------------------------------

साहिया में नदी किनारे सुरक्षात्मक कार्य करने की मांग

विकासनगर। साहिया बाजार में नव निर्मित पुल के समीप नदी किनारे में सुरक्षात्मक कार्य न होने से व्यापारियों ने दुकानें ढहने की आशंका जताई है। व्यापारियों ने लोनिवि से जल्द पुल के समीप नदी किनारे सुरक्षात्मक कार्य कराने की मांग की है। व्यापार मंडल अध्यक्ष विनोद भसीन, सतपाल, मोहन सिंह आदि ने बताया कि साहिया बाजार में सिंचाई विभाग ने करोड़ों रुपये की लागत से पुल का निर्माण कराया है। पुल का निर्माण कार्य लगभग पूरा भी हो चुका है। लेकिन, पुल के समीप स्थित दुकानों के नीचे नदी में सुरक्षात्मक कार्य नहीं कराए गए हैं। जिससे बरसात के दिनों में दुकानें ढह सकती हैं। इस सम्बंध में लोनिवि के अधिकारियों को कई बार अवगत कराया जा चुका है। लेकिन, मामले में कोई गंभीरता नहीं दिखा रहा है। लोनिवि के ईई डीपी सिंह ने बताया कि ठेकेदार को निर्देशित कर दिया गया है। जल्द पुल के समीप नदी किनारे सुरक्षात्मक कार्य कराए जाएंगे।

त्यूणी क्षेत्र में चार दिन से संचार सेवा ठप

विकासनगर। बीएसएनएल की लचर सेवा के चलते क्षेत्र में चार दिनों से संचार सेवा ठप है। इससे उपभोक्ताओं में निगम प्रबंधन के खिलाफ आक्रोश है। उन्होंने जल्द व्यवस्था ठीक न होने पर आंदोलन की चेतावनी दी है। तहसील क्षेत्र के त्यूणी, हनोल, बागी और रायगी स्थित मोबाइल टॉवर चार दिनों से ठप हैं। इससे सम्बंधित चालीस से अधिक गांवों के मोबाइल उपभोक्ताओं का संचार सम्पर्क एक दूसरे से टूटा हुआ है। उपभोक्ता हरीश कुकरेजा, राम सिंह, कर्म सिंह, कुंवर सिंह, विजय कुमार, सचिन, पवन, सतेन्द्र आदि का कहना है कि क्षेत्र में आए रोज संचार सेवा बाधित होना आम हो चुका है। शिकायत के बावजूद, विभागीय अधिकारी सुनने को तैयार नहीं है। विभाग के डीईटी लाल सिंह नेगी ने बताया कि टॉवरों में आए फॉल्ट को ठीक किया जा रहा है। जल्द संचार सेवा ठीक हो जाएगी।

लोगों को किया जागरूक

विकासनगर। डेंगू और कोरोना संक्रमण से बचाव को नगर पालिका प्रशासन का जागरूकता अभियान जारी है। शनिवार को पालिका टीम ने अध्यक्ष शांति जुवांठा और ईओ बीएल आर्य के नेतृत्व में रसूलपुर में नगरवासियों को जागरूक किया। पालिका अध्यक्ष ने खुद लोगों को डेंगू और कोरोना से बचाव के प्रति जागरूक किया। इस दौरान नगरवासियों को जागरूकता सम्बंधी पम्पलेट भी बांटे गए। अभियान में सभासद शिवांगी बॉबी नौटियाल, पवन कुमार, तारा चंद, सुरेन्द्र, जितेन्द्र सिंह आदि शामिल रहे।

बस्तियों में जमा पानी से डेंगू का खतरा

विकासनगर। नगर पालिका प्रशासन भले ही डेंगू से बचाव के लिए जागरूकता अभियान चला रहा हो, लेकिन नगर क्षेत्र की गलियों, सार्वजनिक स्थलों पर कई जगह पानी जमा हुआ है। जिससे डेंगू का खतरा बना हुआ है। मुस्लिम बस्ती में घनी आबादी के बीच संपर्क मार्ग और खाली पड़ी जमीन पर हर रोज घरों से निकलने वाला पानी जमा रहता है। इसके साथ ही बाबूगढ़ स्थित हाईवे मैदान में भी इन दिनों काफी पानी जमा है। इस मैदान में आसपास की बस्तियों से बच्चे और युवक सुबह शाम खेलने के लिए इकठ्ठा होते हैं। दिनकर विहार में संपर्क मार्गों पर घरों से निकलने वाला पानी हर रोज जमा रहता है। 28 फुटा मार्ग पर बने सार्वजनिक शौचालय के सामने हर रोज पानी जमा रहता है। वहीं पालिका के ईओ भजन लाल आर्य का कहना है कि जिन जगहों पर पानी के निकासी की व्यवस्था नहीं होने के कारण पानी जमा हो रहा है, वहां कीटनाशक का छिड़काव की व्यवस्था की जाएगी।

क्षेत्र का विकास ही मेरा लक्ष्यः प्रेमचन्द अग्रवाल

ऋषिकेष। कृष्णानगर कॉलोनी में विकास कार्यों को लेकर क्षेत्रवासियों ने विस अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल का आभार जताया है। विस अध्यक्ष ने कहा कि क्षेत्र का विकास करना उनकी प्राथमिकता एवं दायित्व है। शनिवार को बैराज स्थित कैंप कार्यालय में कृष्ण नगर कॉलोनी के क्षेत्रवासियों ने पहुंचकर विस अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल का आभार जताया। क्षेत्रवासियों ने कहा कि कृष्णानगर कॉलोनी में विस अध्यक्ष के सहयोग से सड़क, पथप्रकाश, पेयजल व्यवस्था के लिए हैडपंप आदि कई विकास कार्य किए गए हैं। जिससे जनता को कई परेशानियों से राहत मिली है। भाजपा के वीरभद्र मंडल अध्यक्ष अरविंद चैधरी ने कहा कि कृष्णा नगर में सड़क, बिजली एवं पेयजल आपूर्ति बदली है। 10 से अधिक हैंडपंप पर लगाए गए हैं। विस अध्यक्ष ने कहा कि कृष्णानगर में पानी की आपूर्ति के लिए जल्द ही लाइन बिछाई जाएगी। इस दौरान उन्होंने क्षेत्र में 50 स्ट्रीट लाइटें लगाने की घोषणा की। मौके पर भाजपा के वीरभद्र मंडल महामंत्री सुंदरी कंडवाल, रमेशचंद शर्मा, सदानंद यादव, राहुल कुकरेती, सुनील यादव, करण सिंह, विवेक चतुर्वेदी, आरती दुबे, प्रिया ढकाल, सुमित सेटी, निर्मला, दुगा देवी, गीता देवी, लक्ष्मी देवी, देवमणि आदि उपस्थित थे।

सोमवार से सशर्त खुलेगी ऋषिकेश की सब्जी मंडी

ऋषिकेष। कोरोना संक्रमण के चलते 11 दिन से सील थोक फल, सब्जी मंडी सोमवार से सशर्त खुलेगी। करीब 84 आढ़तियों में से प्रत्येक दिन 16 आढ़ती ही कारोबार कर सकेंगे। मंडी समिति प्रशासन का दावा है कि रोस्टर प्रणाली से भी व्यवस्था सुचारू चलेगी। सब्जी, फल की आवक पर्याप्त रहेगी। हरिद्वार रोड स्थित सब्जी और फल के थोक कारोबार कृषि उत्पादन मंडी समिति के सभापति समेत 8 कर्मियों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि के बाद 17 जून को प्रशासन ने मंडी समिति सील कर दी थी। चार दिन पहले सभापति और 7 लोगों की रिपोर्ट कोरोना नेगेटिव आयी है। उपचार के बाद सभी को अस्पताल से भी छुट्टी दे दी गई है। अब मंडी प्रशासन मंडी खोलने की कवायद में जुट गया है। नगर निगम प्रशासन ने मंडी कार्यालय, आढ़त बाजार और परिसर को सेनेटाइज किया। समिति सचिव नंदिनी उनियाल ने बताया कि सोमवार से थोक मंडी सशर्त खोल दी जाएगी। जिला प्रशासन के निर्देश पर एक दिन में 16 आढ़तियों को कारोबार करने की अनुमति दी गई है। उन्होंने बताया कि दिशा निर्देश को लेकर शनिवार को समिति कार्यालय में आढ़तियों के साथ बैठक कर चर्चा की। आढ़तियों ने निर्देश के अनुपालन में सहमति जतायी है। शनिवार, रविवार को बंद रहेगी मंडीकृषि उत्पादन मंडी समिति के खुलने और बंद होने के नियमों में भी बदलाव किया गया। अब कृषि उत्पादन मंडी सप्ताह में सोमवार से खुलेगी।

सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम’ भारतीय अर्थव्यवस्था की रीढ़ः स्वामी चिदानन्द सरस्वती


 

ऋषिकेश। अन्तर्राष्ट्रीय सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम, दिवस के अवसर पर स्वामी चिदानन्द सरस्वती जी महाराज ने कहा कि ‘सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम’, भारतीय अर्थव्यवस्था रीढ़ हैं। सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यमों पर लॉकडाउन का गहरा प्रभाव पड़ा है। कोविड-19 के कारण सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यमों की स्थिति चुनौतीपूर्ण है, इससे निपटने हेतु सभी को मिलकर प्रयास करने की जरूरत है।

भारत के विभिन्न भागों में स्थित अनेक एमएसएमई लगभग 11 करोड़ लोगों को रोजगार उपलब्ध कराते थे लेकिन कोविड - 19 के कारण इस क्षेत्र में संकट उत्पन्न हो गया है। इस क्षेत्र में आय में गिरावट के साथ ये उद्योग अन्य कई समस्याओं से जूझ रहे हैं अब लॉकडाउन के बाद तो कई उद्यमों के अस्तित्व पर खतरा मंडराने लगा है। अभी तीन महीने से अधिक समय तक कारोबार बंद होने की स्थिति में भी उद्यम को बचाए रखना चुनौतीपूर्ण है। इसमें सबसे बड़ी समस्या अधिकांश श्रमिकों के पलायन के कारण उत्पन्न हुई। अब इन उद्योगों को पुनः शुरू कर पाना एक बड़ी चुनौती होगी। सरकार कर में कटौती, रिफंड प्रक्रिया में तेजी के साथ विभिन्न योजनाओं (जैसे- पीएम किसान, जन धन योजना आदि) के माध्यम से ग्रामीण क्षेत्रों में सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यमों को सहायता पहुँचाने हेतु प्रयासरत है। सरकार प्रयास कर रही है कि समाज के विभिन्न वर्गों को रोजगार के माध्यम से आत्मनिर्भर कर खुशहाल जीवन जीने के अवसर प्रदान किये जायें ताकि लोगों का जीवन वापस सामान्य हो सके।

स्वामी जी ने कहा कि देश की अर्थव्यवस्था को मजबूत करने के लिये स्थानीय रोजगार से स्थानीय लोगों को जोड़ना होगा। इससे पलायन रूकेगा और स्थानीय कला एवं संस्कृति, पर्यटन, योग, आयुर्वेद, स्वास्थ्य पर्यटन, हस्तशिल्प आदि को भी बढ़ावा मिलेगा। साथ ही स्थानीय वस्तुओं और संस्कृति की राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर पहचान बनानी होगी। स्वामी जी ने कहा कि स्थानीय स्तर पर बनाये जाने वाले कागज के थैले, बाँस की टोकरियाँ, सेव, खुर्मानी, अखरोट के अनेकों उत्पाद, बुरांश का जूस, गुड़, अचार, पापड़, जैम एवं मसाले आदि को भी इस उद्योग से जोड़कर एक विशेष पहचान देनी होगी इससे ही गांधी जी के “गाँव में बसने वाले भारत” का निर्माण होगा।

स्वामी जी ने देश के युवाओं का आह्वान करते हुये कहा कि अब युवा आत्मनिर्भरता का बूस्टर डोज लेकर आयें, ताकि एक नयी दिशा और नये भारत की ओर बढ़ सकंे। गांव का युवा गांव में रूक कर गावं को सजाये। सरकार ने लगभग 10 करोड़ लोगों के लिये 50000रू प्रति व्यक्ति बिना लोन के राशि देने का जो निर्णय किया है उसका हर उद्योगी व्यक्ति को लाभ उठाना चाहिये। 

सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम’ भारतीय अर्थव्यवस्था की रीढ़ः स्वामी चिदानन्द सरस्वती


 

ऋषिकेश। अन्तर्राष्ट्रीय सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम, दिवस के अवसर पर स्वामी चिदानन्द सरस्वती जी महाराज ने कहा कि ‘सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम’, भारतीय अर्थव्यवस्था रीढ़ हैं। सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यमों पर लॉकडाउन का गहरा प्रभाव पड़ा है। कोविड-19 के कारण सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यमों की स्थिति चुनौतीपूर्ण है, इससे निपटने हेतु सभी को मिलकर प्रयास करने की जरूरत है।

भारत के विभिन्न भागों में स्थित अनेक एमएसएमई लगभग 11 करोड़ लोगों को रोजगार उपलब्ध कराते थे लेकिन कोविड - 19 के कारण इस क्षेत्र में संकट उत्पन्न हो गया है। इस क्षेत्र में आय में गिरावट के साथ ये उद्योग अन्य कई समस्याओं से जूझ रहे हैं अब लॉकडाउन के बाद तो कई उद्यमों के अस्तित्व पर खतरा मंडराने लगा है। अभी तीन महीने से अधिक समय तक कारोबार बंद होने की स्थिति में भी उद्यम को बचाए रखना चुनौतीपूर्ण है। इसमें सबसे बड़ी समस्या अधिकांश श्रमिकों के पलायन के कारण उत्पन्न हुई। अब इन उद्योगों को पुनः शुरू कर पाना एक बड़ी चुनौती होगी। सरकार कर में कटौती, रिफंड प्रक्रिया में तेजी के साथ विभिन्न योजनाओं (जैसे- पीएम किसान, जन धन योजना आदि) के माध्यम से ग्रामीण क्षेत्रों में सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यमों को सहायता पहुँचाने हेतु प्रयासरत है। सरकार प्रयास कर रही है कि समाज के विभिन्न वर्गों को रोजगार के माध्यम से आत्मनिर्भर कर खुशहाल जीवन जीने के अवसर प्रदान किये जायें ताकि लोगों का जीवन वापस सामान्य हो सके।

स्वामी जी ने कहा कि देश की अर्थव्यवस्था को मजबूत करने के लिये स्थानीय रोजगार से स्थानीय लोगों को जोड़ना होगा। इससे पलायन रूकेगा और स्थानीय कला एवं संस्कृति, पर्यटन, योग, आयुर्वेद, स्वास्थ्य पर्यटन, हस्तशिल्प आदि को भी बढ़ावा मिलेगा। साथ ही स्थानीय वस्तुओं और संस्कृति की राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर पहचान बनानी होगी। स्वामी जी ने कहा कि स्थानीय स्तर पर बनाये जाने वाले कागज के थैले, बाँस की टोकरियाँ, सेव, खुर्मानी, अखरोट के अनेकों उत्पाद, बुरांश का जूस, गुड़, अचार, पापड़, जैम एवं मसाले आदि को भी इस उद्योग से जोड़कर एक विशेष पहचान देनी होगी इससे ही गांधी जी के “गाँव में बसने वाले भारत” का निर्माण होगा।

स्वामी जी ने देश के युवाओं का आह्वान करते हुये कहा कि अब युवा आत्मनिर्भरता का बूस्टर डोज लेकर आयें, ताकि एक नयी दिशा और नये भारत की ओर बढ़ सकंे। गांव का युवा गांव में रूक कर गावं को सजाये। सरकार ने लगभग 10 करोड़ लोगों के लिये 50000रू प्रति व्यक्ति बिना लोन के राशि देने का जो निर्णय किया है उसका हर उद्योगी व्यक्ति को लाभ उठाना चाहिये। 

डेंगू-मलेरिया उन्मूलन अभियान का डीएम ने किया निरीक्षण 


 

देहरादून। जिलाधिकारी डाॅ आशीष कुमार श्रीवास्तव ने पथरीबाग क्षेत्र का निरीक्षण कर जनपद में प्रत्येक बुधवार एवं शानिवार को चलाये जा रहे डेंगू-मलेरिया उन्मूलन अभियान का निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान जिलाधिकारी ने पाया कि पथरी बाग स्थित पानी की टंकी के पास में खुले गड्ढों जिनमें कुछ में पानी भरा था, जिस पर  जिलाधिकारी ने जल संस्थान और पेयजल निगम के अधिकारियों को निर्देश दिए की तत्काल इन गड्ढों को ढक दिया जाए। साथ ही कहा कि आसपास के क्षेत्रों में जितने भी गड्डे हैं उनको भर दिया जाए। 

उन्होंने उपजिलाधिकारी सदर को जल संस्थान द्वारा खुले गड्ढों के सम्बन्ध में की जाने वाली सुधारात्मक कार्रवाई का निरीक्षण करते हुए उसकी रिपोर्ट प्रस्तुत करने के निर्देश दिए। इसके अतिरिक्त जिलाधिकारी ने जल संस्थान और पेयजल निगम को निर्देशित किया कि शहर में जहां पर भी निर्माण कार्य के दौरान अथवा किसी भी तरह के ऐसे खुले गड्ढे पाए जाते हैं, जिनमें पानी के भरने और रुकने की संभावना रहती है, को तत्काल भरा जाए और इस संबंध में उपजिलाधिकारी सदर को निर्देशित किया कि जहां जहां पर शहरों में जल संस्थान और जल निगम द्वारा खुले गड्ढे अथवा जलभराव  स्थानों में सुधारात्मक कार्रवाई की जाती है, उसको मौके पर जाकर देख लें और चेक कर लें। जिलाधिकारी के निर्देशों के क्रम में जल संस्थान एवं पेयजल निगम द्वारा पथरीबाग क्षेत्र में खुले गड्डों को भरने तथा उसमें की जाने वाली सुधारात्मक कार्यवाही आज ही प्रारम्भ कर दी गयी।

जिलाधिकारी ने नगर निगम को निर्देशित किया कि पथरी बाग क्षेत्र में स्थित आबादी के साथ-साथ नगर निगम के सभी क्षेत्रों में घर-घर जाकर लोगों के कूलर गमले आस पड़ोस में सामान टूटे-फूटे गमले को चेक कर ले, कहीं पर भी पानी ना रुका हो और ऐसा ना हो, जिससे मच्छरों के पनपने की संभावना बनी रहती है। स्वास्थ्य विभाग को निर्देशित किया कि वे घर-घर जाकर दवाई  का छिड़काव भी करवाएं और लोगों को साफ-सफाई और पानी निकासी के लिए जागरुक भी करें।

निरीक्षण के दौरान अपर जिलाधिकारी (वि/रा) बीर सिंह बुदियाल, उप जिलाधिकारी सदर गोपाल राम बिनवाल, वरिष्ठ स्वास्थ्य अधिकारी नगर निगम डाॅ आर. के सिंह, जिला मलेरिया अधिकारी स्वास्थ्य विभाग, डाॅ सुभाष जोशी, अधिशासी अभियंता विद्युत अनिल मिश्रा, अधिशासी अभियन्ता जल संस्थान दक्षिण मनीष सेमवाल सहित पेयजल निगम के कार्मिक उपस्थित थे।

Featured Post

डीएम ने मोटरमार्ग की स्थिति पर असंतोष जताया

देहरादून। जिलाधिकारी डाॅ आर राजेश कुमार ने अपने स्थलीय निरीक्षण के दौरान आज सर्वे चैक से चूना भट्टा रायपुर तक के मोटरमार्ग की स्थिति पर अस...